पूरे ब्रह्मांड का आकाशगंगा का अंतिम शिरा कहाँ है?...


play
user

Ankit Raj

Startups

0:09

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूरे ब्रह्मांड का कोई अंतिम नासिरा नहीं है क्योंकि यह ब्रह्मांड जो है वह हमेशा ही या फैलते रहता है

poore brahmaand ka koi antim nasira nahi hai kyonki yah brahmaand jo hai vaah hamesha hi ya failate rehta hai

पूरे ब्रह्मांड का कोई अंतिम नासिरा नहीं है क्योंकि यह ब्रह्मांड जो है वह हमेशा ही या फैलते

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूरे ब्रह्मांड की जो आकाशगंगा है आकाश गंगा का अंतिम शिरा कहां है सवाल तो काफी इंटरेस्टिंग है लेकिन इसका आंसर तो सटिस्फी नहीं करेगा क्योंकि जो यूनिवर्सिटी ब्रह्मांड है वह नहीं उसका कोई सेंटर है ना ही उसकी कोई एंड है नहीं उसका कोई है वह बढ़ता ही रहता है बढ़ता ही रहता है कोई सीमा नहीं है उसकी उसकी नहीं कोई बाउंड्री बाउंड्री है जिसके उसे जहां तक वह कंट्रोल हो सके ऐसा कुछ नहीं है वह कंट्रोल बढ़ता ही रहता है उनके पास आकाशगंगा है जो है यानी कि जो मिल्की वे जैसे इंग्लिश में कहते हैं जोश हमारी जो Galaxy है उसे आकाशगंगा कहते हैं वैसे कई सारी हजारों Galaxy से पूरे ब्रहमांड में और आज तक ऐसे नहीं बोल सकते हैं कि उसकी सीमा कहां है क्योंकि हम जिससे हम रिचार्ज कर सकते वह एक छोटा सा प्राणी है और धरती पृथ्वी आप उधर से पता लगाना कोई किसी सीमा का जो पूरे ब्रम्हांड में पूरे आकाशगंगा को हो तो वह काफी मुश्किल होगा काफी रिसर्च हो रही है काफी रिसर्च की है लेकिन कोई एंड नहीं है यूनिवर्स का कोई अंत नहीं है

poore brahmaand ki jo akashganga hai akash ganga ka antim shira kahaan hai sawaal toh kaafi interesting hai lekin iska answer toh satisfi nahi karega kyonki jo university brahmaand hai vaah nahi uska koi center hai na hi uski koi and hai nahi uska koi hai vaah badhta hi rehta hai badhta hi rehta hai koi seema nahi hai uski uski nahi koi boundary boundary hai jiske use jaha tak vaah control ho sake aisa kuch nahi hai vaah control badhta hi rehta hai unke paas akashganga hai jo hai yani ki jo milki ve jaise english mein kehte hain josh hamari jo Galaxy hai use akashganga kehte hain waise kai saree hazaro Galaxy se poore brahamand mein aur aaj tak aise nahi bol sakte hain ki uski seema kahaan hai kyonki hum jisse hum recharge kar sakte vaah ek chota sa prani hai aur dharti prithvi aap udhar se pata lagana koi kisi seema ka jo poore bramhand mein poore akashganga ko ho toh vaah kaafi mushkil hoga kaafi research ho rahi hai kaafi research ki hai lekin koi and nahi hai Universe ka koi ant nahi hai

पूरे ब्रह्मांड की जो आकाशगंगा है आकाश गंगा का अंतिम शिरा कहां है सवाल तो काफी इंटरेस्टिंग

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  192
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!