दाऊद पाकिस्तान में छिपा है तो हमारी रॉ एजेंसी उसे पकड़ पाने में क्यों असफल है?...


user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पाकिस्तान अपने आप में एक अलग स्वतंत्र देश है और हमारी एजेंसी वहां जाकर काम नहीं कर सकते हैं पाकिस्तान सरकार हमारी एजेंसी स्कोर वह लव नहीं करती है कि वहां जाकर वह पूछ-ताछ करें क्या वहां जाकर वह दाऊद की खोज करें और अगर जासूस हमारी एजेंसियों के जासूस वहां जाते हैं खोजकर भी ले कि दाऊद अब्राहिम यहां पर छिपा हुआ है तो उसके बावजूद भी हम उस पर कार्यवाही कैसे करेंगे क्योंकि पाकिस्तान की सीमा के भीतर जो भी कार्रवाई होगा जो भी अन्याय होगा आया जो भी पुलिस और जुडिशल सिस्टम एक्शन लेगा वह पाकिस्तान के कानून के हिसाब से लेगा और पाकिस्तान के कानून के हिसाब से वह मुजरिम नहीं होगा क्योंकि वह जो इंडिया में कर रहा था उसमें तो पाकिस्तान की इस है रही है तो वह हमारी जांच एजेंसियां वहां पर जाकर दाऊद इब्राहिम कुछ भी नुकसान नहीं कर पाएंगे

pakistan apne aap mein ek alag swatantra desh hai aur hamari agency wahan jaakar kaam nahi kar sakte hain pakistan sarkar hamari agency score vaah love nahi karti hai ki wahan jaakar vaah poochh tach kare kya wahan jaakar vaah dawood ki khoj kare aur agar jaasoos hamari Agencyon ke jaasoos wahan jaate hain khojkar bhi le ki dawood abrahim yahan par chhipa hua hai toh uske bawajud bhi hum us par karyavahi kaise karenge kyonki pakistan ki seema ke bheetar jo bhi karyawahi hoga jo bhi anyay hoga aaya jo bhi police aur judicial system action lega vaah pakistan ke kanoon ke hisab se lega aur pakistan ke kanoon ke hisab se vaah mujarim nahi hoga kyonki vaah jo india mein kar raha tha usme toh pakistan ki is hai rahi hai toh vaah hamari jaanch Agenciyan wahan par jaakar dawood ibrahim kuch bhi nuksan nahi kar payenge

पाकिस्तान अपने आप में एक अलग स्वतंत्र देश है और हमारी एजेंसी वहां जाकर काम नहीं कर सकते है

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  215
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे दोस्त मुझे लगता है कि हमारे देश की कोई भी एजेंसी हो चाहे वह CBI हो चाहे जो हो जाए ऑडियो हमें किसी भी हमारे देश की जो भी एजेंसी हैं उनकी विश्वसनीयता पर प्रशासन से लगाने का हमें कोई अधिकार नहीं है जिस तरह से आपने कहा के असफल हो रही है क्या वह स्कूलों मुझे नहीं लगता बिल्कुल असफल हो रही है बिल्कुल जबलपुर मिलेगा मुझे लगता है कि हमेशा वह काम करती अगर हमारे देश की इंटरनेट से काम नहीं करेंगे तो मुझे लगता है कि हमारे देश में जो टेरेसा टाइप होते हैं जो लगभग ना के बराबर हो गए अगर मैं जम्मू कश्मीर को छोड़ दूं तो मुझे लगता है कि अगर इंटेलिजेंस एजेंसीज प्रॉपर इनपुट नहीं देती तो मुझे लगता है कि हमारे देश में तो बहुत ज्यादा टेरेसा टाइप होते लेकिन कहीं नहीं हो अच्छे सेवर करें इसीलिए आज हम बहुत से अपील करते तो मुझे लगता है कि हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि असफल हो रही है लेकिन हां जरूर बिल्कुल अगर ऐसा होगा तो हमारे देश की एजेंसी जरूर दाऊद को पकड़ कर लाएंगे

dekhe dost mujhe lagta hai ki hamare desh ki koi bhi agency ho chahen vaah CBI ho chahen jo ho jaaye audio hamein kisi bhi hamare desh ki jo bhi agency hain unki visvasaniyata par prashasan se lagane ka hamein koi adhikaar nahi hai jis tarah se aapne kaha ke asafal ho rahi hai kya vaah schoolon mujhe nahi lagta bilkul asafal ho rahi hai bilkul jabalpur milega mujhe lagta hai ki hamesha vaah kaam karti agar hamare desh ki internet se kaam nahi karenge toh mujhe lagta hai ki hamare desh mein jo teresa type hote hain jo lagbhag na ke barabar ho gaye agar main jammu kashmir ko chod doon toh mujhe lagta hai ki agar intelligence agencies proper input nahi deti toh mujhe lagta hai ki hamare desh mein toh bahut zyada teresa type hote lekin kahin nahi ho acche sevar kare isliye aaj hum bahut se appeal karte toh mujhe lagta hai ki hamein yah nahi bhoolna chahiye ki asafal ho rahi hai lekin haan zaroor bilkul agar aisa hoga toh hamare desh ki agency zaroor dawood ko pakad kar layenge

देखे दोस्त मुझे लगता है कि हमारे देश की कोई भी एजेंसी हो चाहे वह CBI हो चाहे जो हो जाए ऑडि

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!