अगर एक सवाल है तो आप राहुल गांधी से पूछ सकते हैं, यह क्या होगा?...


user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर मुझे राहुल गांधी जी से कुछ पूछने का मौका मिलेगा तो मैं उनसे पहला सवाल तो यही पूछना चाहूंगी कि तू ही समय समय पर लंबी छुट्टियों के लिए चले जाते हैं यह कहां जाते हो और वहां जाकर क्या करते हैं और इतने लंबे टाइम के लिए एकदम से गायब कैसे हो जाते हैं किसी को पता भी नहीं चलता कि वह कहां चले गए एंड सडनली वह वापस आ जाते हैं दुश्मन से पूछा चाहूंगी कि वह खुद को बोलते हैं कि वह युवाओं के लिए काम करेंगे युवाओं को रिप्रेजेंट करते हैं वह और दूसरी तरफ मोदी जी जो अभी डूबा तो नहीं है बट दिल बहुत सारे जो टेक्नोलॉजी है उनको अच्छे से यूज करके तो दूसरी तरफ राहुल गांधी चाहिए सब कुछ नहीं कर पा रहे हो युवाओं से कनेक्ट कहां कर पा रहे हैं मोदी जी तो कैसे ना कैसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के थ्रू या फिर वीडियो के थ्रू हरे से कनेक्ट करने की कोशिश करते रहो खाने से कुछ नहीं कर पा रहे हैं यही से बाबू से जाऊंगी कि वह क्यों नहीं कर पा रहे हैं और उन्हें कहना चाहूंगी क्यों नहीं करना चाहिए

agar mujhe rahul gandhi ji se kuch poochne ka mauka milega toh main unse pehla sawaal toh yahi poochna chahungi ki tu hi samay samay par lambi chhuttiyon ke liye chale jaate hain yah kahaan jaate ho aur wahan jaakar kya karte hain aur itne lambe time ke liye ekdam se gayab kaise ho jaate hain kisi ko pata bhi nahi chalta ki vaah kahaan chale gaye and suddenly vaah wapas aa jaate hain dushman se poocha chahungi ki vaah khud ko bolte hain ki vaah yuvaon ke liye kaam karenge yuvaon ko represent karte hain vaah aur dusri taraf modi ji jo abhi dooba toh nahi hai but dil bahut saare jo technology hai unko acche se use karke toh dusri taraf rahul gandhi chahiye sab kuch nahi kar paa rahe ho yuvaon se connect kahaan kar paa rahe hain modi ji toh kaise na kaise video conferencing ke through ya phir video ke through hare se connect karne ki koshish karte raho khane se kuch nahi kar paa rahe hain yahi se babu se jaungi ki vaah kyon nahi kar paa rahe hain aur unhe kehna chahungi kyon nahi karna chahiye

अगर मुझे राहुल गांधी जी से कुछ पूछने का मौका मिलेगा तो मैं उनसे पहला सवाल तो यही पूछना चाह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vatsal

Engineering Student

0:42
Play

Likes  2  Dislikes    views  44
WhatsApp_icon
play
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:30

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर एक सवाल जो मैं राहुल गांधी जी से पूछना चाहूंगी तो वह सबसे पहले यही होगा कि वह कटाक्ष की राजनीति क्यों करते हैं मतलब अगर आप एक युद्ध के नेता हे क्या नेता है तो आपको अपने काम को दर्शाना चाहिए ना की दूसरी पार्टी पर कीचड़ उछाल कर उन लोगों को नीचा दिखा कर अपने आप को बड़ा दिन में लानी चाहिए बता देनी चाहिए तो यह कटाक्ष की राजनीति एक कंगना राजनेता को आज की पीढ़ी के अंग राष्ट्रीयता को बिल्कुल भी शोभा नहीं देती और जैसे कि वह कटाक्ष करते रहते हैं कभी प्राइम मिनिस्टर मोदी पर कभी भाजपा के दूसरे लोगों तुम मेरा मानना यही होगा क्या उनको जब भी कोई ध्यान दूसरी पार्टी के लोग अगर कुछ अच्छा काम कर रहे हैं तो उसको बड़ा मतलब बढ़ा देनी चाहिए उस को प्रोत्साहन देना चाहिए ना कि उसके ऊपर कटाक्ष करके उसका मजाक उड़ाना चाहिए और वैसे भी आप उनको पता होना चाहिए कि वह कटाक्ष कर रहे हैं तो कैसे देखा जाए कि अगर उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी जी के लिए कुछ बुरा बोला तो उन्हें पता होना चाहिए कि वह हमारे देश के प्रधानमंत्री हैं और अगर उनके ऊपर कुछ भी कीचड़ उछाला जाएगा तो वह दूसरे देशों के लोगों को भी पता चलेगा कि हमारे देश के लोग कैसे हैं मतलब हम अपने प्राइम मिनिस्टर प्राइम मिनिस्टर का भी सम्मान नहीं कर सकते तो यह बहुत ही गलत चीज दूसरे देशों की नजरों में आती है तो मुझे लगता है राहुल गांधी जी को यह किस कम कर देनी चाहिए मेरा सवाल भी उनसे यही आएगा कि ऐसा क्यों करते हो

agar ek sawaal jo main rahul gandhi ji se poochna chahungi toh vaah sabse pehle yahi hoga ki vaah kataksh ki raajneeti kyon karte hain matlab agar aap ek yudh ke neta hai kya neta hai toh aapko apne kaam ko darshana chahiye na ki dusri party par kichad uchal kar un logo ko nicha dikha kar apne aap ko bada din mein lani chahiye bata deni chahiye toh yah kataksh ki raajneeti ek kangana raajneta ko aaj ki peedhi ke ang rastriyata ko bilkul bhi shobha nahi deti aur jaise ki vaah kataksh karte rehte hain kabhi prime minister modi par kabhi bhajpa ke dusre logo tum mera manana yahi hoga kya unko jab bhi koi dhyan dusri party ke log agar kuch accha kaam kar rahe hain toh usko bada matlab badha deni chahiye us ko protsahan dena chahiye na ki uske upar kataksh karke uska mazak udana chahiye aur waise bhi aap unko pata hona chahiye ki vaah kataksh kar rahe hain toh kaise dekha jaaye ki agar unhone pradhanmantri modi ji ke liye kuch bura bola toh unhe pata hona chahiye ki vaah hamare desh ke pradhanmantri hain aur agar unke upar kuch bhi kichad uchala jaega toh vaah dusre deshon ke logo ko bhi pata chalega ki hamare desh ke log kaise hain matlab hum apne prime minister prime minister ka bhi sammaan nahi kar sakte toh yah bahut hi galat cheez dusre deshon ki nazro mein aati hai toh mujhe lagta hai rahul gandhi ji ko yah kis kam kar deni chahiye mera sawaal bhi unse yahi aayega ki aisa kyon karte ho

अगर एक सवाल जो मैं राहुल गांधी जी से पूछना चाहूंगी तो वह सबसे पहले यही होगा कि वह कटाक्ष क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  24
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!