कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को गुजरात में जीतने के लिए महत्वपूर्ण क्यों हैं?...


user

Vatsal

Engineering Student

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए गुजरात का चुनाव केवल कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए ही जरूरी नहीं है जितना यह चुनाव देखा जाए तो बहुत ही लोगों के लिए जरूरी है जितना चाहे वह बीजेपी पार्टी उसके लिए जीतना जरूरी है 22 साल से को राज्य कर रही है उनकी साख की बात है कि वह 22 साल के बाद फिर से क्या केंद्र में सरकार बनने के बाद क्या जनता जॉन सेना को हुई जिसकी वैसे गुजरात में यदि वह आती है तो उसके लिए BJP के लिए जरूरी है नरेंद्र मोदी के लिए चुनाव बहुत जरूरी है क्योंकि वह चीफ मिनिस्टर रहे हैं तीन बार से गुजरात के तो वह जब तक रहे अगर वह जीती या उनके जाने के बाद हार जाती है तो यह बहुत दुख की बात होगी कांग्रेस पार्टी के लिए बहुत जरूरी चुनाव है क्योंकि उन्होंने चुनाव के लिए बहुत मेहनत की हो ने बहुत मौका मिला है चुनाव में जीतने का तो इसके लिए बहुत इंपॉर्टेंट चुनाव गुजरात कांग्रेस पार्टी के लिए राहुल गांधी के लिए खास तौर पर सबसे ज्यादा जरुरी राहुल गांधी ने मेहनत बहुत किसके नाम है और उसके बाद अभी को हाल ही में अध्यक्ष बने हैं अपनी पार्टी के अध्यक्ष बने हैं अगर वह जीतते हैं तो उनकी बहुत ऊंचा कद हो जाएगा और यदि वह हारते हैं तो ऐसी कोई चोर कांग्रेस पार्टी हार रही है हर जगह तो उसे उनके मनोबल को नुकसान पहुंचेगा और हिम्मत टूटे कि उनकी आगे के चुनावों के लिए एक ऐसा असर है इतना बड़ा नहीं बना पाए तो आगे चलकर दिखा दो

dekhiye gujarat ka chunav keval congress party ke adhyaksh rahul gandhi ke liye hi zaroori nahi hai jitna yah chunav dekha jaaye toh bahut hi logo ke liye zaroori hai jitna chahen vaah bjp party uske liye jeetna zaroori hai 22 saal se ko rajya kar rahi hai unki saakh ki baat hai ki vaah 22 saal ke baad phir se kya kendra mein sarkar banne ke baad kya janta john sena ko hui jiski waise gujarat mein yadi vaah aati hai toh uske liye BJP ke liye zaroori hai narendra modi ke liye chunav bahut zaroori hai kyonki vaah chief minister rahe hain teen baar se gujarat ke toh vaah jab tak rahe agar vaah jeeti ya unke jaane ke baad haar jaati hai toh yah bahut dukh ki baat hogi congress party ke liye bahut zaroori chunav hai kyonki unhone chunav ke liye bahut mehnat ki ho ne bahut mauka mila hai chunav mein jitne ka toh iske liye bahut important chunav gujarat congress party ke liye rahul gandhi ke liye khaas taur par sabse zyada zaroori rahul gandhi ne mehnat bahut kiske naam hai aur uske baad abhi ko haal hi mein adhyaksh bane hain apni party ke adhyaksh bane hain agar vaah jitte hain toh unki bahut uncha kad ho jaega aur yadi vaah harte hain toh aisi koi chor congress party haar rahi hai har jagah toh use unke manobal ko nuksan pahunchaega aur himmat tute ki unki aage ke chunavon ke liye ek aisa asar hai itna bada nahi bana paye toh aage chalkar dikha do

देखिए गुजरात का चुनाव केवल कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए ही जरूरी नहीं है

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह जो कांग्रेस अरे हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव जो हो रहे हैं वह राहुल गांधी के कांग्रेस प्रेजिडेंट तुरंत बनने के बाद हो रहे हैं तो राहुल गांधी के ने इस पर काफी सारी भाषण दिए है आका बहुत से बहुत अच्छी टाइपिंग की है इलेक्शन की जिसके जिसे लोग देखने भी आए हैं अभी यह सवाल यह उठता है कि अभी उतनी मोटे भी हासिल करता है कि नहीं अब राहुल गांधी का यह इलेक्शन जो है प्रेसिडेंट बनने के बाद सबसे पहले इलेक्शन है और अगर अगर वह हार गई है इलेक्शन तो बहुत ज्यादा प्रभाव अच्छा नहीं पड़ेगा और शायद कॉन्ग्रेस पूरी तरह से हर स्टेट में हार सकती है भारत में तो यह काफी सदस्यों इलेक्शन है अगर राहुल गांधी के लिए कि वह अपना प्रभाव दिखाता है कि वह प्रेसिडेंट बने तो कांग्रेस पार्टी का कुछ भला हो पाया इस तरह से

yah jo congress are himachal pradesh ke vidhan sabha chunav jo ho rahe hain vaah rahul gandhi ke congress president turant banne ke baad ho rahe hain toh rahul gandhi ke ne is par kaafi saree bhashan diye hai aaka bahut se bahut achi typing ki hai election ki jiske jise log dekhne bhi aaye hain abhi yah sawaal yah uthata hai ki abhi utani mote bhi hasil karta hai ki nahi ab rahul gandhi ka yah election jo hai president banne ke baad sabse pehle election hai aur agar agar vaah haar gayi hai election toh bahut zyada prabhav accha nahi padega aur shayad congress puri tarah se har state mein haar sakti hai bharat mein toh yah kaafi sadasyon election hai agar rahul gandhi ke liye ki vaah apna prabhav dikhaata hai ki vaah president bane toh congress party ka kuch bhala ho paya is tarah se

यह जो कांग्रेस अरे हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव जो हो रहे हैं वह राहुल गांधी के कांग्रे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का गुजरात में जीता महत्वपूर्ण इसलिए है कि कांग्रेस के अध्यक्ष बनने के लिए गुणकारी पहला इलेक्शन है जिसके लिए उन्होंने अपनी पूरी जान झोक दी रेलिया प्रेस कॉन्फ्रेंस से ज्यादा लोगों से कनेक्ट होने के लिए मेल जोड़ने के लिए बात करने के लिए तो यह मैटर नहीं करता है और मैं सोचा कि यह इंपोर्टेंट है अभी क्योंकि यह उनका जो पिक्चर है वह भी चैट करता है आने वाले 2019 लोक सभा इलेक्शन के लिए

mere congress adhyaksh rahul gandhi ka gujarat mein jita mahatvapurna isliye hai ki congress ke adhyaksh banne ke liye gunkari pehla election hai jiske liye unhone apni puri jaan jhok di relia press conference se zyada logo se connect hone ke liye male jodne ke liye baat karne ke liye toh yah matter nahi karta hai aur main socha ki yah important hai abhi kyonki yah unka jo picture hai vaah bhi chat karta hai aane waale 2019 lok sabha election ke liye

मेरे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का गुजरात में जीता महत्वपूर्ण इसलिए है कि कांग्रेस के अध

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो दोस्त मैं आपको बताऊं गुजरात में जो इलेक्शन है वह कांग्रेस राहुल गांधी के एसिड बनने के तुरंत बाद हो रहा है तू प्रेसिडेंट बनने के बाद गुजरात में राहुल गांधी ने बहुत सारी गालियां भी की है ठीक है लोग उनको सुनने आए भी हैं अब देखते है अब देखना यह होगा कि जो लोग भीड़ आई थी क्या वह वोट में कन्वर्ट हो रही है नहीं हो रही है दूसरी चीज क्या है क्या आप जो इलेक्शन लड़ा जा रहा है वह राहुल गांधी के नेतृत्व में लड़ा जा रहा है ठीक है क्योंकि वह कांग्रेस के अध्यक्ष है अगर वह जीतते हैं तो डेफिनेटली कांग्रेस को बहुत बड़ा फायदा होगा राहुल गांधी की पॉपुलर टीवी पड़ेगी लेकिन अगर वह हार्डवेयर तो फर्स्ट इलेक्शन प्रेसिडेंट बनने का पहला इलेक्शन बाहर जाएंगे केसे मोराल भूत तो नहीं होगा बहुत ज्यादा डाउन हो जाएगा क्योंकि मूसली स्टेट में कांग्रेसी गवर्मेंट जा चुकी है ठीक है हिमाचल में तो जिस तरह से सर्वे दिखा रहा है तो वहां भी जाइ रही है गुजरात में जिस तरह से सर्वे दिखा रहे हैं वहां आ नहीं रही है तो तू जो चुप रह जाएंगे यह आपका पंजाब और दूसरा आपका का नाटक दो बड़े स्टेट रह जाएंगे कांग्रेस के बाद अगर वह सारे कांग्रेस ने तो स्टेट हरी लिए तो मैं बस इतना कहूंगा राहुल गांधी का पूरा भेज दें आपका कांग्रेस राहुल गांधी और कांग्रेस दोनों के बीच गुजरात इलेक्शन पर ही अगर अच्छा परफॉर्म करते हैं तो डेफिनेटली फायदा होगा नहीं तो हम करते हैं तो एक धब्बा जरूर लगेगा

dekho dost main aapko bataun gujarat mein jo election hai vaah congress rahul gandhi ke acid banne ke turant baad ho raha hai tu president banne ke baad gujarat mein rahul gandhi ne bahut saree galiya bhi ki hai theek hai log unko sunne aaye bhi hain ab dekhte hai ab dekhna yah hoga ki jo log bheed I thi kya vaah vote mein convert ho rahi hai nahi ho rahi hai dusri cheez kya hai kya aap jo election lada ja raha hai vaah rahul gandhi ke netritva mein lada ja raha hai theek hai kyonki vaah congress ke adhyaksh hai agar vaah jitte hain toh definetli congress ko bahut bada fayda hoga rahul gandhi ki popular TV padegi lekin agar vaah Hardware toh first election president banne ka pehla election bahar jaenge kaise morale bhoot toh nahi hoga bahut zyada down ho jaega kyonki muesli state mein congressi government ja chuki hai theek hai himachal mein toh jis tarah se survey dikha raha hai toh wahan bhi jai rahi hai gujarat mein jis tarah se survey dikha rahe hain wahan aa nahi rahi hai toh tu jo chup reh jaenge yah aapka punjab aur doosra aapka ka natak do bade state reh jaenge congress ke baad agar vaah saare congress ne toh state hari liye toh main bus itna kahunga rahul gandhi ka pura bhej de aapka congress rahul gandhi aur congress dono ke beech gujarat election par hi agar accha perform karte hain toh definetli fayda hoga nahi toh hum karte hain toh ek dhabba zaroor lagega

देखो दोस्त मैं आपको बताऊं गुजरात में जो इलेक्शन है वह कांग्रेस राहुल गांधी के एसिड बनने के

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  34
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने के बाद गुजरात और लक्षण उनकी पहली व्याख्यान है तो उनके लिए बहुत ज्यादा जरूरी है जितना उन्होंने बहुत ज्यादा मेहनत की है इस इलेक्शन के लिए बहुत सारी रैलियां की है तू ही बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई किया करो जी जाते हैं केवल उनके लिए ही नहीं उनकी पूरी पार्टी के लिए यह बहुत ज्यादा जरूरी है यह जीत

rahul gandhi ke adhyaksh banne ke baad gujarat aur lakshan unki pehli vyakhyan hai toh unke liye bahut zyada zaroori hai jitna unhone bahut zyada mehnat ki hai is election ke liye bahut saree railiyan ki hai tu hi bahut mahatvapurna bhumika nibhaai kiya karo ji jaate hain keval unke liye hi nahi unki puri party ke liye yah bahut zyada zaroori hai yah jeet

राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने के बाद गुजरात और लक्षण उनकी पहली व्याख्यान है तो उनके लिए बहुत

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कांग्रेस के अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी जी का यह पहला इलेक्शन है और इससे इलेक्शन में उन्होंने गुजरात में कई रैली इंटरव्यूज किए जिसको सुनने के लिए कई सारे लोग भी आए थे इतने मेहनत के बाद अगर वह जीते तो उनको और उनके पार्टी यानी कांग्रेस पार्टी के लिए एक गर्व की बात होगी इससे राहुल गांधी जी का हौसला और भी मजबूत होगा आगे बढ़ने के लिए यह गुजरात की जीत उनके लिए बहुत ही बड़ी जीत होगी

congress ke adhyaksh banne ke baad rahul gandhi ji ka yah pehla election hai aur isse election mein unhone gujarat mein kai rally interviewers kiye jisko sunne ke liye kai saare log bhi aaye the itne mehnat ke baad agar vaah jeete toh unko aur unke party yani congress party ke liye ek garv ki baat hogi isse rahul gandhi ji ka hausla aur bhi majboot hoga aage badhne ke liye yah gujarat ki jeet unke liye bahut hi badi jeet hogi

कांग्रेस के अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी जी का यह पहला इलेक्शन है और इससे इलेक्शन में उ

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user

Neha S

UPSC कोच

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ समझ में ऐसा माना जाता है माना गया है कि जो WhatsApp से नहीं उनकी क्रिटिक्स का कि उन्होंने अपनी पॉलिटिकल कार्य में बहुत भीड देखी है इसकी वजह से गुजरात जितना वह प्रशिक्षण को चेंज कर देगा जो कि उनके बारे में बना रखी है वह बहुत ही अच्छी है उन्होंने इमेज अपने क्रिकेट करियर पर नियुक्त आर में आए हैं इससे गुजरात इलेक्शन में उन्होंने बहुत सारी कंपनी अच्छे से के प्रसिद्ध कंपनी की LED बंद कर आए हैं लोगों को प्रसन्न किया उसने बहुत अच्छे से लीडरशिप क्वालिटीज हो रही है तो यह बहुत अच्छी नींद के रुप में लोग कर रहे हैं उनकी कांग्रेस ने किया जितना जरूरी इसलिए भी है क्योंकि वह जो उनकी पार्टी में क्यों टूट पड़ी है उनकी पार्टी में जो प्रॉब्लम आ रही है उसको भी दूर करेंगे और सबसे बड़ी बात है कि गुजरात को एक मोदी की लहर चल रही है मोदी जी का अल्टरनेटर मिल जाएगा लोकसभा 21 मूवी प्वाइंट आलोक संलक्षण के लिए भी यह सब चीजें हेल्प

kuch samajh mein aisa mana jata hai mana gaya hai ki jo WhatsApp se nahi unki critics ka ki unhone apni political karya mein bahut bhid dekhi hai iski wajah se gujarat jitna vaah prashikshan ko change kar dega jo ki unke bare mein bana rakhi hai vaah bahut hi achi hai unhone image apne cricket career par niyukt R mein aaye hain isse gujarat election mein unhone bahut saree company acche se ke prasiddh company ki LED band kar aaye hain logo ko prasann kiya usne bahut acche se leadership kwalitij ho rahi hai toh yah bahut achi neend ke roop mein log kar rahe hain unki congress ne kiya jitna zaroori isliye bhi hai kyonki vaah jo unki party mein kyon toot padi hai unki party mein jo problem aa rahi hai usko bhi dur karenge aur sabse badi baat hai ki gujarat ko ek modi ki lahar chal rahi hai modi ji ka alternator mil jaega lok sabha 21 movie point alok sanlakshan ke liye bhi yah sab cheezen help

कुछ समझ में ऐसा माना जाता है माना गया है कि जो WhatsApp से नहीं उनकी क्रिटिक्स का कि उन्हो

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
play
user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कांग्रेस पार्टी आजकल राजनीतिक हास्य पर चली गई है पूरे देश में महज 6 राज्यों में कांग्रेस का शासन है उसमें भी हिमाचल प्रदेश में अभी अभी चुनाव हुए हैं और इसका कांग्रेस के हाथों से जाना लगभग तय माना जा रहा है वहीं गुजरात का चुनाव प्रचार अभियान राहुल गांधी के नेतृत्व में हुआ और हिमाचल की तुलना में गुजरात को कांग्रेस से कहीं ज्यादा महत्व दिया चुनाव खत्म होने से पहले राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष के रुप में चुन लिए गए 16 दिसंबर को उन की ताजपोशी होनी है और 18 दिसंबर को चुनाव के नतीजे आने हैं ऐसे गुजरात चुनाव का नतीजा उनके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है इसके अलावा सत्ता पक्ष राहुल गांधी को बहुत ही हल्के में लेता रहा है का मखौल उड़ाया जाता रहा हे कि गुजरात चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने तमाम आलोचनाओं को दरकिनार करते हुए कांग्रेस के नेता के रूप में एक हद तक परिपक्वता का प्रमाण दिया है पर चुनाव नतीजा खासकर गुजरात का नतीजा उनके राजनीतिक भविष्य के लिए मायने रखिएगा कह सकते हैं का राजनीतिक भविष्य गुजरात नतीजे से तारों का

congress party aajkal raajnitik hasya par chali gayi hai poore desh mein mahaj 6 rajyo mein congress ka shasan hai usme bhi himachal pradesh mein abhi abhi chunav hue hai aur iska congress ke hathon se jana lagbhag tay mana ja raha hai wahi gujarat ka chunav prachar abhiyan rahul gandhi ke netritva mein hua aur himachal ki tulna mein gujarat ko congress se kahin zyada mahatva diya chunav khatam hone se pehle rahul gandhi congress adhyaksh ke roop mein chun liye gaye 16 december ko un ki tajposhi honi hai aur 18 december ko chunav ke natije aane hai aise gujarat chunav ka natija unke liye bahut hi mahatvapurna ho jata hai iske alava satta paksh rahul gandhi ko bahut hi halke mein leta raha hai ka makhaul udaya jata raha hai ki gujarat chunav ke dauran rahul gandhi ne tamaam aalochanaon ko darakinar karte hue congress ke neta ke roop mein ek had tak paripakvata ka pramaan diya hai par chunav natija khaskar gujarat ka natija unke raajnitik bhavishya ke liye maayne rakhiega keh sakte hai ka raajnitik bhavishya gujarat natije se taaron ka

कांग्रेस पार्टी आजकल राजनीतिक हास्य पर चली गई है पूरे देश में महज 6 राज्यों में कांग्रेस क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैथिली में काफी लेट हो इस क्वेश्चन का आंसर देने के लिए बट आई है वह सदस्य बन एडवाइस वाला है क्या है व्हाट अबाउट गुजरात में जितने के लिए क्यों महत्वपूर्ण था राहुल गांधी को बिकॉज़ दे अगर देखा जाए तो जब राहुल गांधी अध्यक्ष बने जब राहुल गांधी कांग्रेस के प्रश्न बैंक मैनेजर को कांग्रेस को रिप्रेजेंट करना स्टार्ट किया उसके तुरंत बाद गुजरात इलेक्शन तो उनके अंदर पूरा इलेक्शन कंट्रोल हुआ था अगर गुजरात में मतलब अभी तो हार गई है कांग्रेस BJP जीत गई है लेकिन अगर कांग्रेस जीती रहती तो वह पूरा श्रेय जाता राहुल गांधी को अगर वह उनके लिए एक माइलस्टोन कहा जाता था आफ्टर द वे ऑफ मोदी सरकार तो अगर गुजरात में जीत जाती कांग्रेस तो पूरा श्रेय जाता राहुल गांधी को Plus अभी पूरा कंट्रोल जो था वह राहुल गांधी के अंदर था गुजरात इलेक्शन में उन्हें काफी सारी चैंपियंस की काफी सारी मेहनत की है फिर भी उन्होंने टक्कर दो काफी अच्छी थी है बीजेपी को फिर भी हार 2 गए बट बट अभी तक तो काफी अच्छा फायदा होता अभी उनके पास जैसे कि अभी उनके पास तीन स्टेट से भी सीख ली जीतने के लिए एक था गुजरात एक था हिमाचल और तीसरा चाचा स्टेटस सॉरी सॉरी सॉरी गुजरात और हिमाचल अभी बच्चे हे दोस्त पंजाब और कर्नाटक अगर यह दोनों स्टेट गुजरात कांग्रेस अपनी सरकारी आती है तो कह सकते हैं कि एक लिस्ट कुछ तो है कांग्रेस के पास ताकि वह अपना अपना अपना प्रदर्शन कर सके अपने काम पर न कर सके अपना काम कर सके ताकी लोगों में विश्वास जान सके और उसे बिल्ली कांग्रेस हो सकता है वापस आए

maithali mein kaafi late ho is question ka answer dene ke liye but I hai vaah sadasya ban advice vala hai kya hai what about gujarat mein jitne ke liye kyon mahatvapurna tha rahul gandhi ko because de agar dekha jaaye toh jab rahul gandhi adhyaksh bane jab rahul gandhi congress ke prashna bank manager ko congress ko represent karna start kiya uske turant baad gujarat election toh unke andar pura election control hua tha agar gujarat mein matlab abhi toh haar gayi hai congress BJP jeet gayi hai lekin agar congress jeeti rehti toh vaah pura shrey jata rahul gandhi ko agar vaah unke liye ek milestone kaha jata tha after the ve of modi sarkar toh agar gujarat mein jeet jaati congress toh pura shrey jata rahul gandhi ko Plus abhi pura control jo tha vaah rahul gandhi ke andar tha gujarat election mein unhe kaafi saree champions ki kaafi saree mehnat ki hai phir bhi unhone takkar do kaafi achi thi hai bjp ko phir bhi haar 2 gaye but but abhi tak toh kaafi accha fayda hota abhi unke paas jaise ki abhi unke paas teen state se bhi seekh li jitne ke liye ek tha gujarat ek tha himachal aur teesra chacha status sorry sorry sorry gujarat aur himachal abhi bacche hai dost punjab aur karnataka agar yah dono state gujarat congress apni sarkari aati hai toh keh sakte hain ki ek list kuch toh hai congress ke paas taki vaah apna apna apna pradarshan kar sake apne kaam par na kar sake apna kaam kar sake taaki logo mein vishwas jaan sake aur use billi congress ho sakta hai wapas aaye

मैथिली में काफी लेट हो इस क्वेश्चन का आंसर देने के लिए बट आई है वह सदस्य बन एडवाइस वाला है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  6
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!