लोग योग क्यों करते हैं?...


user

Vikas Soni

Yoga Trainer

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने सवाल बहुत ही अच्छा किया है कि लोग योग क्यों करते हैं वास्तविक बात बताओ कि 10 में से 3 लोग अपनी स्वेच्छा से आत्म शांति के लिए और अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए अपने मन को शांत करने के लिए योग करते हैं बाकी तो सब लोग हैं 10 में से वह जब तक योग नहीं करते तब तक उन्हें कोई डॉक्टर यह एवरी कमेंट ना करें क्योंकि अधिकतर लोगों को योग में रुचि नहीं होती क्योंकि उनको कुछ एक्टिव चीज चाहिए होती है जिससे उनका ब्लड फ्लो फास्ट हो उनकी हार्ट बीट फास्ट हो तो योग एक बहुत ही धैर्य का धैर्य की सदाएं डिस्को करने के लिए होना बहुत जरूरी है योग ही एकमात्र ऐसी साधना है जिसके अंतर्गत हम सिस्टमैटिक अपने आंतरिक अंगों पर आंतरिक अंगों पर कार्य करता है योगी एक मात्र साधन है जो हमारे शरीर को शरीर के आंतरिक अंगों में रक्त का संचार करते हुए संपूर्ण आंतरिक अंगों को ऊर्जा प्रदान करता है

aapne sawaal bahut hi accha kiya hai ki log yog kyon karte hain vastavik baat batao ki 10 me se 3 log apni swachcha se aatm shanti ke liye aur apni rog pratirodhak kshamta badhane ke liye apne man ko shaant karne ke liye yog karte hain baki toh sab log hain 10 me se vaah jab tak yog nahi karte tab tak unhe koi doctor yah every comment na kare kyonki adhiktar logo ko yog me ruchi nahi hoti kyonki unko kuch active cheez chahiye hoti hai jisse unka blood flow fast ho unki heart beat fast ho toh yog ek bahut hi dhairya ka dhairya ki sadaen disco karne ke liye hona bahut zaroori hai yog hi ekmatra aisi sadhna hai jiske antargat hum systematic apne aantarik angon par aantarik angon par karya karta hai yogi ek matra sadhan hai jo hamare sharir ko sharir ke aantarik angon me rakt ka sanchar karte hue sampurna aantarik angon ko urja pradan karta hai

आपने सवाल बहुत ही अच्छा किया है कि लोग योग क्यों करते हैं वास्तविक बात बताओ कि 10 में से 3

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  1241
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

loveena bhatt

Yoga Trainer,fashion Designer & social Worker

0:27
Play

Likes  80  Dislikes    views  1299
WhatsApp_icon
user

Dr Pradeep Singh Shaktawat

Asst. Prof. (CS) | Alternative Healing Therapiest

0:44
Play

Likes  5  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user

Rekha Agarwal

Yoga Teacher

1:59
Play

Likes  78  Dislikes    views  753
WhatsApp_icon
user

Neelam Chauhan

Yoga Teacher

1:15
Play

Likes  9  Dislikes    views  153
WhatsApp_icon
user

Vijay Sharma

Yoga Trainer (P.G.D.Y.)

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग योग इसलिए करते हैं जिससे कि फिजिकली मेंटली स्पेशल सॉन्ग और आईडी बन जाएगी शोल्ड नॉट बे हेल्दी फूड विकीपीडिया राजस्थान बीएफ

yog yog isliye karte hain jisse ki physically mentally special song aur id ban jayegi sold not be healthy food vikipidiya rajasthan bf

योग योग इसलिए करते हैं जिससे कि फिजिकली मेंटली स्पेशल सॉन्ग और आईडी बन जाएगी शोल्ड नॉट बे

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
user

Kailash Babu

Yoga Trainer

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप पूछना चाहते हैं कि हमें योग क्यों करना चाहिए हमें योग अभ्यास करना चाहिए क्योंकि योग से मरे संपूर्ण शरीर का विकास होता है इसमें स्थूल शरीर जो हम देख रहे हैं सूक्ष्म शरीर इसको देख नहीं सकते और एक होते अति सूक्ष्म शरीर जिसको हम सोच भी नहीं सकते इसको हम अध्यात्मिक शरीर भी बोलते हैं इन तीनों शरीर का विकास में योग के माध्यम से ही कर सकते हैं इसका दूसरा उपाय इस संसार के अंदर नहीं है हम अपने स्थूल शरीर को जिस शरीर को हम देख रहे हैं उसके लिए बहुत सारी मशीन जिम एक्सेसरीज बहुत सारे ऊपर में इस दुनिया में मौजूद है लेकिन अच्छी बात है अपनी बॉडी को बिल्डिंग करना अपनी बॉडी को बनाना मसल्स को मजबूत करना लेकिन उसके साथ हम लोगों को चाहिए कि हम अपने सूक्ष्म शरीर पर भी काम करें हमारे शरीर के अंदर प्रकृति ने सोने की छोटी-छोटी सूक्ष्म गाड़ियां दिए जिनके बारे में सही सोच भी नहीं सकता और उनकी खोज में लगा हुआ है हमें चाहिए हम अपनी भारत की संस्कृति योग का अभ्यास करें और उन सूखना प्राण वायु का प्रभाव ब्लड का संचार करें जिससे कि हमारे जीवन चिरंजीवी हो स्वस्थ हो और हमारा जीवन लंबा हो तो आप योग अभ्यास प्रतिदिन कीजिए और इस भारत की प्राचीनतम संस्कृति का लाभ उठाइए और देखिए आप कितना स्पष्ट और स्वस्थ हो जाते हैं

aap poochna chahte hain ki hamein yog kyon karna chahiye hamein yog abhyas karna chahiye kyonki yog se mare sampurna sharir ka vikas hota hai isme sthool sharir jo hum dekh rahe hain sukshm sharir isko dekh nahi sakte aur ek hote ati sukshm sharir jisko hum soch bhi nahi sakte isko hum adhyatmik sharir bhi bolte hain in tatvo sharir ka vikas me yog ke madhyam se hi kar sakte hain iska doosra upay is sansar ke andar nahi hai hum apne sthool sharir ko jis sharir ko hum dekh rahe hain uske liye bahut saari machine gym accessories bahut saare upar me is duniya me maujud hai lekin achi baat hai apni body ko building karna apni body ko banana muscles ko majboot karna lekin uske saath hum logo ko chahiye ki hum apne sukshm sharir par bhi kaam kare hamare sharir ke andar prakriti ne sone ki choti choti sukshm gadiyan diye jinke bare me sahi soch bhi nahi sakta aur unki khoj me laga hua hai hamein chahiye hum apni bharat ki sanskriti yog ka abhyas kare aur un sukhana praan vayu ka prabhav blood ka sanchar kare jisse ki hamare jeevan chiranjivi ho swasth ho aur hamara jeevan lamba ho toh aap yog abhyas pratidin kijiye aur is bharat ki prachintam sanskriti ka labh uthaiye aur dekhiye aap kitna spasht aur swasth ho jaate hain

आप पूछना चाहते हैं कि हमें योग क्यों करना चाहिए हमें योग अभ्यास करना चाहिए क्योंकि योग से

Romanized Version
Likes  52  Dislikes    views  731
WhatsApp_icon
user

Priyanka Bhatele

Yoga Trainer

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूछने के लोग योग क्यों करते हैं आज के समय में लोग ज्यादा अपनी हेल्थ को लेकर हो चुके हैं वह स्वस्थ रहना चाहते हैं यदि बनाना चाहते हैं रूप से मुक्त रहना चाहते हैं और लंबे समय तक जीवित रहना चाहते हैं इसीलिए सरल उपयोग करते हैं

poochne ke log yog kyon karte hain aaj ke samay me log zyada apni health ko lekar ho chuke hain vaah swasth rehna chahte hain yadi banana chahte hain roop se mukt rehna chahte hain aur lambe samay tak jeevit rehna chahte hain isliye saral upyog karte hain

पूछने के लोग योग क्यों करते हैं आज के समय में लोग ज्यादा अपनी हेल्थ को लेकर हो चुके हैं वह

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  330
WhatsApp_icon
user

Norang sharma

Social Worker

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों कल पर सुन रही मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज का सवाल है लोग योग क्यों करते हैं तो दोस्तों हम सभी जानते हैं कि योग हमेशा से भारत की प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य हिस्सा रहा है योग करने से हमें शारीरिक व मानसिक अनेक फायदे होते हैं यह हम पंच तत्वों से बनी इंसान को प्रकृति से जोड़ता है दोस्तों नियमित योग करने से हमारे शरीर के सभी अंग सुचारू रूप से और सही तरीके से अपना काम करते हैं योग के जरिए शरीर के अलग-अलग हिस्सों को फायदा मिलता है रोग में शरीर के हर छोटे से छोटे अंग का व्यायाम या एक्सरसाइज होती है आपका शरीर फ्लैक्सिबल बनता है इसके अलावा इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं है इससे आपको फायदा ही होगा इससे कोई नुकसान आपको नहीं होता इसके अलावा योग आपको तन के अलावा मंकी भी शांति देता है मानसिक रूप से भी आप को मजबूत बनाता है योग के कई आसन बनियान आपके विचारों को नियंत्रित कर संतुलित कर देते हैं जिससे आपका मन शांत रहने लगता है और आपके अंदर की नेगेटिविटी भी खत्म हो जाती है धन्यवाद

namaskar doston kal par sun rahi mere sabhi buddhijeevi shrotaon ko mera pyar bhara namaskar aaj ka sawaal hai log yog kyon karte hain toh doston hum sabhi jante hain ki yog hamesha se bharat ki prachin parampara ka ek amuly hissa raha hai yog karne se hamein sharirik va mansik anek fayde hote hain yah hum punch tatvon se bani insaan ko prakriti se Jodta hai doston niyamit yog karne se hamare sharir ke sabhi ang sucharu roop se aur sahi tarike se apna kaam karte hain yog ke jariye sharir ke alag alag hisson ko fayda milta hai rog me sharir ke har chote se chote ang ka vyayam ya exercise hoti hai aapka sharir flaiksibal banta hai iske alava iske koi side effect nahi hai isse aapko fayda hi hoga isse koi nuksan aapko nahi hota iske alava yog aapko tan ke alava monkey bhi shanti deta hai mansik roop se bhi aap ko majboot banata hai yog ke kai aasan BUNIYAN aapke vicharon ko niyantrit kar santulit kar dete hain jisse aapka man shaant rehne lagta hai aur aapke andar ki negativity bhi khatam ho jaati hai dhanyavad

नमस्कार दोस्तों कल पर सुन रही मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज का

Romanized Version
Likes  105  Dislikes    views  2071
WhatsApp_icon
user

Pradeep Solanki

Corporate Yoga Consultant

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोग अध्यात्मिक मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए योग करते हैं लोग आपको जीवन जीने की कला सिखाता है जन्म से लेकर मृत्यु तक आपको कैसे रहना योग एक दर्शन है जो आपको समाज में रहना आपके पर्स अलका याज्ञनिक खुद के लिए क्या कर रहे हैं दूसरों के लिए क्या करना है वह पूरा का पूरा योग सिखाता है संपूर्ण जीवन जीने की कला है

log adhyatmik mansik aur sharirik roop se swasth rehne ke liye yog karte hain log aapko jeevan jeene ki kala sikhata hai janam se lekar mrityu tak aapko kaise rehna yog ek darshan hai jo aapko samaj me rehna aapke purse alka yagyanik khud ke liye kya kar rahe hain dusro ke liye kya karna hai vaah pura ka pura yog sikhata hai sampurna jeevan jeene ki kala hai

लोग अध्यात्मिक मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए योग करते हैं लोग आपको जीवन जीने

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
user
4:03
Play

Likes  25  Dislikes    views  338
WhatsApp_icon
user

Dr. Reeta Gupta

Founder & Director - Yoga Miracle Sansthan

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सारे लोगों के दिन की शुरुआत योग प्राणायाम ध्यान के द्वारा होती है यह उनके दिनचर्या का अहम हिस्सा होता है योग करने से शरीर तो स्वस्थ रहता ही है हमारा मन और मस्तिष्क में स्वस्थ रहता है हम दिन भर खुद को ऊर्जावान महसूस करते हैं शरीर लचीला रहता है हमारा वजन नियंत्रित रहता है हम अपने रोजमर्रा के काम में ऊर्जा और समझ के साथ कर पाते हैं योग करने से अनेक बीमारियों से बचा जा सकता है प्रत्येक मनुष्य को योग को अपने जीवन का अहम हिस्सा बनाना चाहिए जिससे खूबसूरत शान और निरोगी जीवन जी सकें धन्यवाद

bahut saare logo ke din ki shuruat yog pranayaam dhyan ke dwara hoti hai yah unke dincharya ka aham hissa hota hai yog karne se sharir toh swasthya rehta hi hai hamara man aur mastishk mein swasthya rehta hai hum din bhar khud ko urjavan mehsus karte hain sharir lachila rehta hai hamara wajan niyantrit rehta hai hum apne rozmarra ke kaam mein urja aur samajh ke saath kar paate hain yog karne se anek bimariyon se bacha ja sakta hai pratyek manushya ko yog ko apne jeevan ka aham hissa banana chahiye jisse khoobsurat shan aur nirogee jeevan ji sake dhanyavad

बहुत सारे लोगों के दिन की शुरुआत योग प्राणायाम ध्यान के द्वारा होती है यह उनके दिनचर्या का

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  494
WhatsApp_icon
user

Dharmendra Kumar

Yoga Instructor/ Dietitian

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोग योगी क्यों करते हैं आप भी तो लोगों में आते हो आपको एक कसम से पूछ रहे हो इसका क्या मतलब है आई डोंट नो पता नहीं आप क्या करते हो लोग तो असली योग करते हैं आपको छोड़कर कि वह स्वस्थ रहें खुश रहें मस्त रहें लेकिन आपका क्वेश्चन सही बड़े जबरदस्त दिमाग में उठाया करते हैं योग करने से स्वस्थ रहेंगे रहेंगे क्यों करना चाहिए पता है कि वह कर रहा है इसलिए दुनिया में ओपीडी कर रही है वह बना रहा है मैं क्यों क्वेश्चन तो अच्छा है लेकिन लोग इसलिए करते हैं मेरा मानना है कि वह शरीर में कोई बीमारी है तो बीमारी को लेकर आते हैं कहीं जाकर आ गए ठीक हो जाएंगे बोलो डरता है किसी भी काम का घर का कोई भी और कोई ऐसी बीमार है उसको लगता है कि तब तक मैं ट्राई कर लिया है ऐसी कोई बीमारी हो कोई प्रॉब्लम हो मेंटली है तो उसको ठीक करने आते हैं स्टूडेंट पढ़ाई को देखते हुए करते हैं कुछ तो योग के प्रभाव से आए हो क्या भाव है मन में उस भाव को देखते हुए ही हो गुलाब जरा देगा

log yogi kyon karte hain aap bhi toh logo mein aate ho aapko ek kasam se puch rahe ho iska kya matlab hai I dont no pata nahi aap kya karte ho log toh asli yog karte hain aapko chhodkar ki vaah swasthya rahein khush rahein mast rahein lekin aapka question sahi bade jabardast dimag mein uthaya karte hain yog karne se swasthya rahenge rahenge kyon karna chahiye pata hai ki vaah kar raha hai isliye duniya mein OPD kar rahi hai vaah bana raha hai kyon question toh accha hai lekin log isliye karte hain mera manana hai ki vaah sharir mein koi bimari hai toh bimari ko lekar aate hain kahin jaakar aa gaye theek ho jaenge bolo darta hai kisi bhi kaam ka ghar ka koi bhi aur koi aisi bimar hai usko lagta hai ki tab tak main try kar liya hai aisi koi bimari ho koi problem ho mentally hai toh usko theek karne aate hain student padhai ko dekhte hue karte hain kuch toh yog ke prabhav se aaye ho kya bhav hai man mein us bhav ko dekhte hue hi ho gulab zara dega

लोग योगी क्यों करते हैं आप भी तो लोगों में आते हो आपको एक कसम से पूछ रहे हो इसका क्या मतलब

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  204
WhatsApp_icon
user

xyz

nothing

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है लोग योग क्यों करते हैं लेकिन पहले तो लोग योग इसलिए करते थे पहले के मतलब कुछ साल पहले 10 साल 15 साल पहले उनको अगर सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस है लंबर स्पॉन्डिलाइटिस है यह कोई बीमारी है तो विरोध किया करते थे और आज भी वैसा ही है लेकिन आज थोड़ा सा और चेंजेज आए हैं जैसे कि जिनको मोटापा कम करना है तो योग करने आते हैं जिनको डिप्रेशन की दिक्कत है हम स्वीटी है तनाव है वे लोग योग कर रहे हैं जो गलत है उनको अपनी फीमेल प्रॉब्लम बहुत बढ़ गई है मेडिकल साइंस में इलाज कराते हैं और तरह से इलाज कराते उनको कोई फायदा नहीं होता है लेकिन जब वह लोग करते हैं तो उनके हार्मोन बैलेंस हो जाते हैं दोनों बीमारियों से दूर रहने के लिए योग करते हैं ना कि कोई स्क्रिप्चर नागिन के लिए या ईश्वर की प्राप्ति के लिए इंडिया में खासतौर 95% लोग सिर्फ हेल्थ के लिए योग करते हैं और फॉरेन कंट्री में तनाव जाता है तो वह तनाव को दूर करने के लिए योग करते हैं और अब तो थोड़ा सा दर्द भरी है तो लोग प्रिवेंशन के लिए भी योग करते हैं बच्चे की बीमारियां ना हो हम हिंदी रहे यंग रहे और बीमारियों से दूर रहे इसलिए लोग योग करते हैं धन्यवाद

prashna hai log yog kyon karte hain lekin pehle toh log yog isliye karte the pehle ke matlab kuch saal pehle 10 saal 15 saal pehle unko agar cervical spondylitis hai lumber spondylitis hai yah koi bimari hai toh virodh kiya karte the aur aaj bhi waisa hi hai lekin aaj thoda sa aur changes aaye hain jaise ki jinako motapa kam karna hai toh yog karne aate hain jinako depression ki dikkat hai hum sweety hai tanaav hai ve log yog kar rahe hain jo galat hai unko apni female problem bahut badh gayi hai medical science mein ilaj karate hain aur tarah se ilaj karate unko koi fayda nahi hota hai lekin jab vaah log karte hain toh unke hormone balance ho jaate hain dono bimariyon se dur rehne ke liye yog karte hain na ki koi scripture nagin ke liye ya ishwar ki prapti ke liye india mein khaasataur 95 log sirf health ke liye yog karte hain aur foreign country mein tanaav jata hai toh vaah tanaav ko dur karne ke liye yog karte hain aur ab toh thoda sa dard bhari hai toh log prevention ke liye bhi yog karte hain bacche ki bimariyan na ho hum hindi rahe young rahe aur bimariyon se dur rahe isliye log yog karte hain dhanyavad

प्रश्न है लोग योग क्यों करते हैं लेकिन पहले तो लोग योग इसलिए करते थे पहले के मतलब कुछ साल

Romanized Version
Likes  95  Dislikes    views  1539
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम देखिए बहुत अच्छा प्रश्न है हम लोग क्यों करते हैं असल में योग जो है हमारे शरीर को हमारे मन को हमारी बुद्धि को पूर्ण रूप से शुद्ध करने का एक बहुत ही सुंदर आप उसको कह सकते हैं साधन है इस साधन को अपना करके हम अपने मन की बुद्धि और शरीर की शुद्धि कर सकते हैं जैसे वात और पित्त और कफ किस भी कर सकते हैं अर्थात उनके विकारों को दूर कर सकते हैं अर्थात हम अपने जीवन को पूर्ण स्वस्थ बना सकते हैं और जैसा कि हमारे ऋषि-मुनियों ने हमारे बुजुर्गों ने कहा है कि सबसे बड़ा सुख निरोगी काया अर्थात हम योग करके अपने शरीर को निरोगी बना सकते अपने आकार को सुंदर सुडोल बना सकते हैं और इसलिए क्योंकि देखिए आज के जमाने में श्रम करना बड़ा मुश्किल हो गया है कहीं भी आना जाना है तो लोग वाहन का उपयोग कर ले रहे हैं कार से चले जा रहे हैं मोटरसाइकिल से चले जा रहे हैं और बच्चों को देखे तो बचपन से ही खेलने कूदने में उनको ना तो रुचि है और ना ही उनके पास समय है मोबाइल में व्यस्त रहते हैं टीवी में व्यस्त रहते हैं सिनेमा में व्यस्त रहते हैं और इसलिए जो भी वह लोग खाते हैं जो भोजन करते हैं उसको पचाने में भी उन्हें कठिनाई होती है और वह भोजन जो है 95 करके फैट में तब्दील हो जाता है वही जो है मैं की अधिकता शरीर में हो जाती है और आलसी हो जाते हैं और इस प्रकार से जब हम योग करते हैं तो हमारे प्रकार का वर्कआउट भी हो जाता है अर्थात श्रम भी होता है अपने भोजन को अच्छे से पचा पचा पाते हैं अर्थात हमारे शरीर के जो सिस्टम हैं डाइजेस्टिव सिस्टम ऑपरेटिंग सिस्टम में जितने सिस्टम है यह भी सारे के सारे स्वस्थ हो जाते हैं फिट हो जाते हैं और इस प्रकार से हम योग करके एक हेल्थी जीवन जीते हुए सुख पूर्वक जीवन जीते हुए पूर्वक जीवन जीते हुए मोक्ष को प्राप्त होते हैं

om dekhiye bahut accha prashna hai hum log kyon karte hain asal mein yog jo hai hamare sharir ko hamare man ko hamari buddhi ko purn roop se shudh karne ka ek bahut hi sundar aap usko keh sakte hain sadhan hai is sadhan ko apna karke hum apne man ki buddhi aur sharir ki shudhi kar sakte hain jaise vaat aur pitt aur cough kis bhi kar sakte hain arthat unke vikaron ko dur kar sakte hain arthat hum apne jeevan ko purn swasthya bana sakte hain aur jaisa ki hamare rishi muniyon ne hamare bujurgon ne kaha hai ki sabse bada sukh nirogee kaaya arthat hum yog karke apne sharir ko nirogee bana sakte apne aakaar ko sundar sudol bana sakte hain aur isliye kyonki dekhiye aaj ke jamane mein shram karna bada mushkil ho gaya hai kahin bhi aana jana hai toh log vaahan ka upyog kar le rahe hain car se chale ja rahe hain motorcycle se chale ja rahe hain aur baccho ko dekhe toh bachpan se hi khelne koodne mein unko na toh ruchi hai aur na hi unke paas samay hai mobile mein vyast rehte hain TV mein vyast rehte hain cinema mein vyast rehte hain aur isliye jo bhi vaah log khate hain jo bhojan karte hain usko pachane mein bhi unhe kathinai hoti hai aur vaah bhojan jo hai 95 karke fat mein tabdil ho jata hai wahi jo hai ki adhikata sharir mein ho jaati hai aur aalsi ho jaate hain aur is prakar se jab hum yog karte hain toh hamare prakar ka workout bhi ho jata hai arthat shram bhi hota hai apne bhojan ko acche se pacha pacha paate hain arthat hamare sharir ke jo system hain digestive system operating system mein jitne system hai yah bhi saare ke saare swasthya ho jaate hain fit ho jaate hain aur is prakar se hum yog karke ek healthy jeevan jeete hue sukh purvak jeevan jeete hue purvak jeevan jeete hue moksha ko prapt hote hain

ओम देखिए बहुत अच्छा प्रश्न है हम लोग क्यों करते हैं असल में योग जो है हमारे शरीर को हमारे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Awanish Kumar

Yoga Instructor

2:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग क्यों करते हैं इसका जवाब हम लोग दे दो धरा में लेते हैं वह दुधारा योग कि नहीं वह दुधारा अपनी अपनी इस रूप में की एक हमारे व्यक्तित्व का वह पहले होता है जो दिखता है खुली आंखों से देखता है और एक हमारे व्यक्तित्व का वह पालू होता है जो खुली आंखों से नहीं देखता है और योग उन दोनों चीजों के लिए जो दिखता है और जो नहीं देख पाता है उन दोनों के समुंदर विकास के लिए हम योग करते हैं यदि एक लाइन में जवाब दिया जाए तुम योग करते हैं खुद को जानने के लिए हम योग करते हैं अपने बिखराव को समेटने के लिए बांधने के लिए हम योग करते हैं अपने अपने जीवन को अपनी आंखों से या फिर अपने हिसाब से परिभाषित करने के लिए हम योग करते हैं अपने आप को मजबूत करने के लिए हम योग करते हैं इसलिए कि हम उसे फूल को समझ सके उस और जिन को समझ सके जहां से हम अपने आप को निकाले हैं हम अपनी उस यात्रा को समझ सके इस यात्रा में हम अनंत जन्मों से चल रहे हैं हम लोग इसलिए करते हैं कि हम अपने वजूद को समझ सके हम यह शरीर इतना खूबसूरत शरीर की मिला है उसके उद्देश्य को हम समझ सके और जो शरीर मिला है वह शरीर सुगठित हो स्वस्थ और रोग रहित हो इसलिए हम लोग करते हैं मतलब पूरी बात को समझाइश करें योग इसलिए करते हैं कि हमारा फिजिकल बॉडी हमारा जो शरीर है जो बाहे शरीफ है वह दुरुस्त हो और जो हमारा अंदर का संसार है वह भी निखर जाए अमूमन क्या होता है कि लोग बाहर के शरीर पर अधिक फोकस करते हैं अपने बाहरी शेर को आईना खूब दिखाते हैं लेकिन भीतर वाले क्वाइन आदि खाने में हनु परहेज करते हैं योग दोनों शरीर को आईना दिखाता है ना ही से फाइनली खाता है जहां कहीं भी लगता है कि यहां पर कुछ जरूरत है उस जगह पर वह फोकस करता है उसकी कमियों को दूर करता है और हमें निखार करके एक श्रेष्ठ व्यक्तित्व का मालिक बनाता है

yog kyon karte hain iska jawab hum log de do dhara mein lete hain vaah dudhara yog ki nahi vaah dudhara apni apni is roop mein ki ek hamare vyaktitva ka vaah pehle hota hai jo dikhta hai khuli aankho se dekhta hai aur ek hamare vyaktitva ka vaah palu hota hai jo khuli aankho se nahi dekhta hai aur yog un dono chijon ke liye jo dikhta hai aur jo nahi dekh pata hai un dono ke samundar vikas ke liye hum yog karte hain yadi ek line mein jawab diya jaaye tum yog karte hain khud ko jaanne ke liye hum yog karte hain apne bikhraav ko sametane ke liye bandhne ke liye hum yog karte hain apne apne jeevan ko apni aankho se ya phir apne hisab se paribhashit karne ke liye hum yog karte hain apne aap ko majboot karne ke liye hum yog karte hain isliye ki hum use fool ko samajh sake us aur jin ko samajh sake jaha se hum apne aap ko nikale hain hum apni us yatra ko samajh sake is yatra mein hum anant janmon se chal rahe hain hum log isliye karte hain ki hum apne wajood ko samajh sake hum yah sharir itna khoobsurat sharir ki mila hai uske uddeshya ko hum samajh sake aur jo sharir mila hai vaah sharir sugthit ho swasthya aur rog rahit ho isliye hum log karte hain matlab puri baat ko samajhaish kare yog isliye karte hain ki hamara physical body hamara jo sharir hai jo bahe sharif hai vaah durast ho aur jo hamara andar ka sansar hai vaah bhi nikhar jaaye amuman kya hota hai ki log bahar ke sharir par adhik focus karte hain apne bahri sher ko aaina khoob dikhate hain lekin bheetar waale kwain aadi khane mein hanu parhej karte hain yog dono sharir ko aaina dikhaata hai na hi se finally khaata hai jaha kahin bhi lagta hai ki yahan par kuch zarurat hai us jagah par vaah focus karta hai uski kamiyon ko dur karta hai aur hamein nikhaar karke ek shreshtha vyaktitva ka malik banata hai

योग क्यों करते हैं इसका जवाब हम लोग दे दो धरा में लेते हैं वह दुधारा योग कि नहीं वह दुधारा

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  448
WhatsApp_icon
user

Yograjguru ji

Yoga Trainer

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार योग साधकों सवाल यह है लोग योग क्यों करते हैं लोग योग क्यों करते हैं इसका सही जवाब है कि लोग अपने शारीरिक मानसिक रूप से स्वस्थ होने के लिए या आध्यात्मिक सुख शांति पाने के लिए योग का अभ्यास लोग करते हैं योग से कई प्रकार की बीमारियां ठीक होती है शरीर पूरी तरह स्वस्थ होता है एक सुख और आनंद का अनुभव होता है इसी प्रकार लोग योग का अभ्यास करते हैं

namaskar yog sadhakon sawaal yah hai log yog kyon karte hain log yog kyon karte hain iska sahi jawab hai ki log apne sharirik mansik roop se swasth hone ke liye ya aadhyatmik sukh shanti paane ke liye yog ka abhyas log karte hain yog se kai prakar ki bimariyan theek hoti hai sharir puri tarah swasth hota hai ek sukh aur anand ka anubhav hota hai isi prakar log yog ka abhyas karte hain

नमस्कार योग साधकों सवाल यह है लोग योग क्यों करते हैं लोग योग क्यों करते हैं इसका सही जवा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
user

Abhijeet Soni

Yoga Instructor & Software Developer

2:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं बिजी सोनी आप पूछ रहे हैं लोग योग जो करते हैं अच्छा सवाल है यह लोग योग इसलिए करते हैं क्योंकि हजारों सालों पहले किसी ने हमारी ही संस्कृति में कुछ अपने अरंडी करके रिसर्च डेवलपमेंट करके कुछ बहुत ही सिद्ध किए हुए उपाय बताए थे लोग वाकई महान थे और उन्होंने अपने जीवन का जो भी शान निकालो ना बिल्कुल सही निकाला था और कहीं ना कहीं बात जो आप पूछना चाह रहे हैं मैं समझ रहा हूं तो आप प्राणायाम और योगासन की बात कर रहा है लेकिन जिन्होंने बताया था उन्होंने उसके बहुत बार बताया था और वह जवाब था इस परमात्मा क्लास परमात्मा के अंश का जो मेरे भी शरीर में विराजमान है आपके शरीर में उसका मिलन उस परम पूज्य परमात्मा से कराने के लिए तो उन्होंने बताया था 8 स्टेप नियम आसन प्राणायाम प्रत्याहार ध्यान धारणा समाधि सबके कुछ-कुछ अपने-अपने मतलब है तो लेकिन आज के समय में जो लोग कर रहे हैं या फिर आप पूछना चाह रहे हैं कहीं ना कहीं प्राणायाम और योगासन की बात कर रहे हैं तो लोग स्वस्थ होने के लिए कर रहे हैं लोगों को उतना जागरूकता नहीं है उस आत्मा से परमात्मा का मिलन का उस अष्टांग योग का जिसका यह दोनों अंशु और लोग ग्रसित भैया काफी बीमारियों से प्रदूषण तो लोग इनके माध्यम से एक स्वस्थ जीवन जीना चाह रहे हैं बीमारी युक्त बीमारी मुक्त जीवन जीना जा रहे हैं और इस भागदौड़ वाली जीवन में भी शक्ति की जरूरत होती है ताकि अपना बेस्ट परफॉर्म कर सके जो भी फील्ड में जो लोग काम कर रहे हैं अपने-अपने फ्रिज में तो उसे मेंटेन करने के लिए नशीले बनकर तो यही कुछ कारण है योग करने के धन्यवाद

namaskar main busy sony aap puch rahe hain log yog jo karte hain accha sawaal hai yah log yog isliye karte hain kyonki hazaro salon pehle kisi ne hamari hi sanskriti mein kuch apne arandee karke research development karke kuch bahut hi siddh kiye hue upay bataye the log vaakai mahaan the aur unhone apne jeevan ka jo bhi shan nikalo na bilkul sahi nikaala tha aur kahin na kahin baat jo aap poochna chah rahe hain main samajh raha hoon toh aap pranayaam aur yogasan ki baat kar raha hai lekin jinhone bataya tha unhone uske bahut baar bataya tha aur vaah jawab tha is paramatma class paramatma ke ansh ka jo mere bhi sharir mein viraajamaan hai aapke sharir mein uska milan us param PUJYA paramatma se karane ke liye toh unhone bataya tha 8 step niyam aasan pranayaam pratyahar dhyan dharana samadhi sabke kuch kuch apne apne matlab hai toh lekin aaj ke samay mein jo log kar rahe hain ya phir aap poochna chah rahe hain kahin na kahin pranayaam aur yogasan ki baat kar rahe hain toh log swasthya hone ke liye kar rahe hain logo ko utana jagrukta nahi hai us aatma se paramatma ka milan ka us ashtanga yog ka jiska yah dono anshu aur log grasit bhaiya kaafi bimariyon se pradushan toh log inke madhyam se ek swasthya jeevan jeena chah rahe hain bimari yukt bimari mukt jeevan jeena ja rahe hain aur is bhagdaud wali jeevan mein bhi shakti ki zarurat hoti hai taki apna best perform kar sake jo bhi field mein jo log kaam kar rahe hain apne apne fridge mein toh use maintain karne ke liye nasheele bankar toh yahi kuch karan hai yog karne ke dhanyavad

नमस्कार मैं बिजी सोनी आप पूछ रहे हैं लोग योग जो करते हैं अच्छा सवाल है यह लोग योग इसलिए कर

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  173
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लॉन्ग योग करने के बड़े रीजन है कुछ लोग इसको शारीरिक के फायदे के लिए करते हैं कुछ लोग इसको करने के बाद अपनी मानसिक शांति के फायदे के लिए करते हैं कुछ लोग इसको अध्यात्म का रास्ता क्या कहते हैं समझते हैं आपके ऊपर निर्भर करता है योग तो बहुत कुछ देता है युक्ति आप शरीर शुद्धि भी कर सकते हैं आपको शारीरिक मानसिक शांति के साथ-साथ यह आपको अध्यात्मिक स्तर भी तक भी पहुंचा सकता है आपका स्पिरिचुअल लेवल तक ले आ सकता है आपके ऊपर डिपेंड करता है सर क्या उपयोग कैसे करना चाहते

long yog karne ke bade reason hai kuch log isko sharirik ke fayde ke liye karte hain kuch log isko karne ke baad apni mansik shanti ke fayde ke liye karte hain kuch log isko adhyaatm ka rasta kya kehte hain samajhte hain aapke upar nirbhar karta hai yog toh bahut kuch deta hai yukti aap sharir shudhi bhi kar sakte hain aapko sharirik mansik shanti ke saath saath yah aapko adhyatmik sthar bhi tak bhi pohcha sakta hai aapka Spiritual level tak le aa sakta hai aapke upar depend karta hai sir kya upyog kaise karna chahte

लॉन्ग योग करने के बड़े रीजन है कुछ लोग इसको शारीरिक के फायदे के लिए करते हैं कुछ लोग इसको

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  820
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पर्सनल लोग योग क्यों करते हैं क्वेश्चन अच्छा है आपका आप जानते हैं आजकल बहुत समस्याएं हैं किसी को शुगर ब्लड प्रेशर थायराइड जोड़ों के दर्द घुटनों के दर्द लोग दवा खा खा कर परेशान हो गए हैं दवाओं के लिए डॉक्टरों के चक्कर लगा लगा कर परेशान हो गए हैं लाखों करोड़ो हजारों रुपए इन रोगों में भाग चुके हैं उसके बाद भी उन्हें लाभ नहीं मिलता फिर उन्हें बहुत देर से समझ आती है या तो कोई उन्हें सजेस्ट करता है या टीवी या शुभ सोशल मीडिया के माध्यम से समझ में आती है कि हमें योग करना चाहिए योग करने से हमारा शरीर स्वस्थ रहेगा मन स्वस्थ रहेगा हम दवाइयां खाने से बच पाएंगे हमें जहर से बच पाएंगे तब कहीं जाकर उसकी बुद्धि काम करती है फिर वह योग में आता है तो लोग इसलिए युवकों करते हैं कि हम शरीर को स्वस्थ रखा जा सके मनो बुद्धि को स्वस्थ रख सके दवाइयों से बच सकें और डॉक्टरों के चक्रों से बच सकें इसलिए वह लोग को करते हैं देखिए योग आप घर बैठे कर सकते हैं कहीं जाने की आवश्यकता नहीं और अब तो मैंने अपना एक युटुब चैनल जो है बनाया है योगगुरु अमित अग्रवाल के नाम से प्रोफाइल में लिंक दिया है आप चैनल को सब्सक्राइब करिए घर बैठे योग सीखिए हर युवक को हर आसन को हर रोग को सिस्टमैटिक तरीके से बताया गया है उसके अकॉर्डिंग आसन भी बताए गए हैं तो आप उसको सीख सकते हैं आज की दिनचर्या में योग बहुत ही महत्वपूर्ण है और लोगों ने इस चीज को समझा है पहले डॉक्टर सजेस्ट नहीं करते थे योग के लिए आज मैं देख रहा हूं काफी रॉकी मेरे पास आते हैं जो स्पेशली डॉक्टर के रिकमन डेट पर आते हैं डॉक्टर कहते हैं कि योग करिए तब आपकी दवाई कम होंगी या आप और तमाम परेशानियों से बच सकते हैं हरि ओम

aapka personal log yog kyon karte hai question accha hai aapka aap jante hai aajkal bahut samasyaen hai kisi ko sugar blood pressure thyroid jodo ke dard ghutno ke dard log dawa kha kha kar pareshan ho gaye hai dawaon ke liye doctoron ke chakkar laga laga kar pareshan ho gaye hai laakhon croredo hazaro rupaye in rogo mein bhag chuke hai uske baad bhi unhe labh nahi milta phir unhe bahut der se samajh aati hai ya toh koi unhe suggest karta hai ya TV ya shubha social media ke madhyam se samajh mein aati hai ki hamein yog karna chahiye yog karne se hamara sharir swasthya rahega man swasthya rahega hum davaiyan khane se bach payenge hamein zehar se bach payenge tab kahin jaakar uski buddhi kaam karti hai phir vaah yog mein aata hai toh log isliye yuvakon karte hai ki hum sharir ko swasthya rakha ja sake mano buddhi ko swasthya rakh sake dawaiyo se bach sake aur doctoron ke chakron se bach sake isliye vaah log ko karte hai dekhiye yog aap ghar baithe kar sakte hai kahin jaane ki avashyakta nahi aur ab toh maine apna ek yutub channel jo hai banaya hai yogguru amit agrawal ke naam se profile mein link diya hai aap channel ko subscribe kariye ghar baithe yog sikhiye har yuvak ko har aasan ko har rog ko systematic tarike se bataya gaya hai uske according aasan bhi bataye gaye hai toh aap usko seekh sakte hai aaj ki dincharya mein yog bahut hi mahatvapurna hai aur logo ne is cheez ko samjha hai pehle doctor suggest nahi karte the yog ke liye aaj main dekh raha hoon kaafi rocky mere paas aate hai jo speshli doctor ke rikaman date par aate hai doctor kehte hai ki yog kariye tab aapki dawai kam hongi ya aap aur tamaam pareshaniyo se bach sakte hai hari om

आपका पर्सनल लोग योग क्यों करते हैं क्वेश्चन अच्छा है आपका आप जानते हैं आजकल बहुत समस्याएं

Romanized Version
Likes  118  Dislikes    views  1683
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मेरे दोस्त मैं हूं आपका दोस्त आपका फ्रेंड विश यू दोस्त मेरे मित्र मेरे भाई आप ने प्रश्न किया है कि लोग क्यों करते हैं मगर आप से पूछने लगे कि लोग खाना क्यों खाते हैं आप कहेंगे वेरी सिंपल जीने के लिए खाते हैं और हां यही आपके प्रश्न का उत्तर है योग लोग श्री कर दें ताकि अच्छी तरह जी सके बिना बीमार हुए जी सके स्वस्थ होकर जी सके निजी सके क्योंकि जो रोज करते रहते हमेशा निरोग योग करते रहें स्वस्थ रहें और योग करना है आपको जानना है योग सीखना है तो मेरा युटुब चैनल है वहां पर जाएंगे तो आपको बहुत ही जाएंगी और मेरी बहन है आप मुझसे संपर्क कर सकते हैं मेरा मोबाइल नंबर भी वहां पर है अब सब कुछ है यार ऑनलाइन तो मैं आपके साथ होता है और जो करते हैं योग करते हैं हम रहते हैं जो करते हैं वह बिना थकान के बिना टेंशन के पूरा कर लेते हैं

namaskar mere dost main hoon aapka dost aapka friend wish you dost mere mitra mere bhai aap ne prashna kiya hai ki log kyon karte hain magar aap se poochne lage ki log khana kyon khate hain aap kahenge very simple jeene ke liye khate hain aur haan yahi aapke prashna ka uttar hai yog log shri kar de taki achi tarah ji sake bina bimar hue ji sake swasthya hokar ji sake niji sake kyonki jo roj karte rehte hamesha nirog yog karte rahein swasthya rahein aur yog karna hai aapko janana hai yog sikhna hai toh mera yutub channel hai wahan par jaenge toh aapko bahut hi jayegi aur meri behen hai aap mujhse sampark kar sakte hain mera mobile number bhi wahan par hai ab sab kuch hai yaar online toh main aapke saath hota hai aur jo karte hain yog karte hain hum rehte hain jo karte hain vaah bina thakan ke bina tension ke pura kar lete hain

नमस्कार मेरे दोस्त मैं हूं आपका दोस्त आपका फ्रेंड विश यू दोस्त मेरे मित्र मेरे भाई आप ने प

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  421
WhatsApp_icon
user

Bhanu Bahuguna

Yoga Trainer

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए निरोग रखने के लिए अपनी बॉडी में फ्लैक्सिबिलिटी के लिए यानी शरीर में लचीलापन बनाए रखने के लिए और शरीर की इम्युनिटी पावर जाने की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए योग का अभ्यास किया जाता है इससे शरीर में कई तरह से कई तरह की बीमारियां होती है उनसे लड़ने की शक्ति जतिन रोग प्रतिरोधक क्षमता जाता है उसे बढ़ाया जाता है और भी कई अन्य तरह की बीमारियां होती है शरीर में से छुटकारा पाने के लिए स्वस्थ रहने के लिए 103 शरीर के लिए स्वस्थ जीवन शैली के लिए लोगों को अपनाया जाता है योगाभ्यास किया जाता है

apne sharir ko swasthya rakhne ke liye nirog rakhne ke liye apni body mein flaiksibiliti ke liye yani sharir mein lachilapan banaye rakhne ke liye aur sharir ki immunity power jaane ki rog pratirodhak kshamta ko badhane ke liye yog ka abhyas kiya jata hai isse sharir mein kai tarah se kai tarah ki bimariyan hoti hai unse ladane ki shakti jatin rog pratirodhak kshamta jata hai use badhaya jata hai aur bhi kai anya tarah ki bimariyan hoti hai sharir mein se chhutkara paane ke liye swasthya rehne ke liye 103 sharir ke liye swasthya jeevan shaili ke liye logo ko apnaya jata hai yogabhayas kiya jata hai

अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए निरोग रखने के लिए अपनी बॉडी में फ्लैक्सिबिलिटी के लिए यानी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  130
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोग योग क्यों करते हैं यह बहुत ही अच्छा प्रश्न किया है कि योग क्यों करते हैं तो आज का जो समय है वो बहुत ही निराशावादी है बहुत ही गवा दी है और आदमी बहुत ही तनावग्रस्त है तो आज जो वर्तमान समय में अगर आप योग करते हैं तो आपको शारीरिक रूप से स्वस्थ रहेंगे मानसिक रूप से स्वस्थ रहेंगे बौद्धिक रूप से स्वस्थ रहें तो जो लोग भी योगाभ्यास करते हैं वह अपने आप को फिट रखने के लिए शारीरिक रूप से मानसिक रूप से बहुत धूप से करते हैं योग और योग करना चाहिए अगर हम लोग नियमित करते हैं तो हमें बहुत सारी बीमारियों से छुटकारा भी मिलता है मानसिक बीमारी से छुटकारा मिलता है और हम भावात्मक रूप से मजबूत होते हैं और बहुत सारे आने वाली बीमारियों से भी हम बच सकते हैं अगर हम नहीं बचेगा अभ्यास कर रहे हैं तो

log yog kyon karte hain yah bahut hi accha prashna kiya hai ki yog kyon karte hain toh aaj ka jo samay hai vo bahut hi nirashavaadi hai bahut hi gawa di hai aur aadmi bahut hi tanaavgrast hai toh aaj jo vartaman samay mein agar aap yog karte hain toh aapko sharirik roop se swasthya rahenge mansik roop se swasthya rahenge baudhik roop se swasthya rahein toh jo log bhi yogabhayas karte hain vaah apne aap ko fit rakhne ke liye sharirik roop se mansik roop se bahut dhoop se karte hain yog aur yog karna chahiye agar hum log niyamit karte hain toh hamein bahut saree bimariyon se chhutkara bhi milta hai mansik bimari se chhutkara milta hai aur hum bhavatmak roop se majboot hote hain aur bahut saare aane wali bimariyon se bhi hum bach sakte hain agar hum nahi bachega abhyas kar rahe hain toh

लोग योग क्यों करते हैं यह बहुत ही अच्छा प्रश्न किया है कि योग क्यों करते हैं तो आज का जो

Romanized Version
Likes  138  Dislikes    views  1932
WhatsApp_icon
user

Yogacharya Bindu Rani

Yoga Instructor Yog Teacher Yogacharya=yogdham Yog Center In Meerut, 19 Years Experience,yoga Classes At Home Yoga, Mediation Classes, Aerobic Classes ,yoga Classes For Ladies, Power Yoga Classes, Pilates Yoga Classes, Yoga Classes For Children's, Yoga Classes For Pregnant Women, आयुर्वेदाचार्य, नैचुरोपैथी

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम सुप्रभात प्रत्येक मनुष्य क्यों करता है वह 100% ने शरीर में प्राणों की ऊर्जा का संचार करता है और सकारात्मक ऊर्जा को भरता है सकारात्मक ऊर्जा को बहने से औरत का अशुभ प्रभाव होने से महेश एवं स्वस्थ रहता है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति योगाभ्यास कथाएं योग के अभ्यास करने से प्रत्येक मनुष्य स्वस्थ रहता है इसलिए प्रत्येक प्राणी को प्राण जिनमें संख्याओं के योग का अभ्यास करना चाहिए ओके अभ्यास करने से एक मैसेज स्वस्थ रहता है इसलिए जो भी लोग जो कहते हैं वह अपने इस मानसिक शारीरिक आत्मिक स्वास्थ्य के लिए योग करते हैं पंचकोशी को स्वस्थ रखने के लिए पंचकोश पंच के सुख को दूर करने के लिए पंच को प्यार हो जा कसम से रहने के लिए योग का अभ्यास किया जाता है सत्य धातुओं को बलिष्ठ करने के लिए योग का अभ्यास किया जाता है और पूरे संपूर्ण शरीर को 72 नारियों को स्वस्थ करने के लिए योगाभ्यास किया जाता है मानसिक हाशमी और शारीरिक स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए और स्वास्थ्य पानी के लिए योग का अभ्यास किया जाता है जो अति आवश्यक है

om suprabhat pratyek manushya kyon karta hai vaah 100 ne sharir mein pranon ki urja ka sanchar karta hai aur sakaratmak urja ko bharta hai sakaratmak urja ko behne se aurat ka ashubh prabhav hone se mahesh evam swasth rehta hai isliye pratyek vyakti yogabhayas kathaen yog ke abhyas karne se pratyek manushya swasth rehta hai isliye pratyek prani ko praan jinmein sankhyao ke yog ka abhyas karna chahiye ok abhyas karne se ek massage swasth rehta hai isliye jo bhi log jo kehte hain vaah apne is mansik sharirik atmik swasthya ke liye yog karte hain panchakoshi ko swasth rakhne ke liye panchakosh punch ke sukh ko dur karne ke liye punch ko pyar ho ja kasam se rehne ke liye yog ka abhyas kiya jata hai satya dhatuon ko balishth karne ke liye yog ka abhyas kiya jata hai aur poore sampurna sharir ko 72 nariyon ko swasth karne ke liye yogabhayas kiya jata hai mansik hashmi aur sharirik swasthya ko badhane ke liye aur swasthya paani ke liye yog ka abhyas kiya jata hai jo ati aavashyak hai

ओम सुप्रभात प्रत्येक मनुष्य क्यों करता है वह 100% ने शरीर में प्राणों की ऊर्जा का संचार कर

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  480
WhatsApp_icon
user

Saroj Kumar Ksheti

Yoga Instructor/Practitioner

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोग योग क्यों करते हैं यह प्रश्न तो उन लोगों को पूछिए आप जो लोग योग करते हैं अच्छे से बता पाएंगे कि वह योग क्यों करते हैं क्योंकि यह करना ना करना प्रत्येक के सापेक्ष में अलग अलग अलग से हो सकता है उनका अलग-अलग इरादे हो सकते हैं योग करने की या अलग-अलग कारण हो सकता है तो ऐसा कोई योग का कोई सार्वजनिक कारण हम नहीं निकाल सकते कि इस वजह से ही उपयोग करते हैं कोई इसी लक्ष्य को लेकर आया होगा किस लिए कर रहा होगा मैं किसी और लक्ष्य के लिए करता हूं किसी का आध्यात्मिक लक्ष्य होगा किसी का लॉकेट लक्ष्य होगा किसी का शारीरिक लाभ के लिए कोई करता होगा उसी कारण होते योग करने की

log yog kyon karte hain yah prashna toh un logo ko puchiye aap jo log yog karte hain acche se bata payenge ki vaah yog kyon karte hain kyonki yah karna na karna pratyek ke sapeksh mein alag alag alag se ho sakta hai unka alag alag Irade ho sakte hain yog karne ki ya alag alag karan ho sakta hai toh aisa koi yog ka koi sarvajanik karan hum nahi nikaal sakte ki is wajah se hi upyog karte hain koi isi lakshya ko lekar aaya hoga kis liye kar raha hoga main kisi aur lakshya ke liye karta hoon kisi ka aadhyatmik lakshya hoga kisi ka locate lakshya hoga kisi ka sharirik labh ke liye koi karta hoga usi karan hote yog karne ki

लोग योग क्यों करते हैं यह प्रश्न तो उन लोगों को पूछिए आप जो लोग योग करते हैं अच्छे से बता

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
user

Khetshi V Maithia

Yoga Instructor

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योगा नमस्कार मन की शांति के लिए योगा करना पड़ता है और तन की फिटनेस के लिए योगा बनता है बोली की फिटनेस के लिए भी होगा अगर जरूरी है बहुत योगा रोज करना चाहिए योगा ऐसे लाइफ लाइफ लाइफ में कुछ नहीं किया 125 मिनट जब भी टाइम मिले 1 दिन पूरा दिन में 24 घंटे में 1235 10:15 मिनट जितना मिले तब योगा करना आपका फर्ज है फर्ज उसका नाम जिंदगी है थैंक यू

yoga namaskar man ki shanti ke liye yoga karna padta hai aur tan ki fitness ke liye yoga banta hai boli ki fitness ke liye bhi hoga agar zaroori hai bahut yoga roj karna chahiye yoga aise life life life mein kuch nahi kiya 125 minute jab bhi time mile 1 din pura din mein 24 ghante mein 1235 10 15 minute jitna mile tab yoga karna aapka farz hai farz uska naam zindagi hai thank you

योगा नमस्कार मन की शांति के लिए योगा करना पड़ता है और तन की फिटनेस के लिए योगा बनता है बोल

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  354
WhatsApp_icon
user

Surya Regmi

Yoga Instructor

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका पटना है लोग योग क्यों करते हैं लोग योग इसीलिए करते हैं जीवन में स्वस्थ रहें और अपने जीवन शैली को बेहतर तरीके से अपने आप को बीमारियों से गिरा हुआ ना देखें खुशी के लिए सौहार्द जीवन जीने के लिए यूज किया जाता है

namaskar aapka patna hai log yog kyon karte hain log yog isliye karte hain jeevan mein swasth rahein aur apne jeevan shaili ko behtar tarike se apne aap ko bimariyon se gira hua na dekhen khushi ke liye sauhaard jeevan jeene ke liye use kiya jata hai

नमस्कार आपका पटना है लोग योग क्यों करते हैं लोग योग इसीलिए करते हैं जीवन में स्वस्थ रहें औ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
user

Acharya Vivekaditya(Guru shree)

Spiritual Guru, Educationist,Wellness & Yoga Expert, Founder Of Pavitram Meditation yoga Retreat , Founder :Karmyoga International , Founder Secy ,STSJ Degree College

1:06
Play

Likes    Dislikes    views  23
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां तक आपका क्वेश्चन है योग क्यों करते हैं तो देखिए योग शारीरिक स्वच्छता मानसिक एवं बौद्धिक स्वच्छता के लिए योग किया जाता है दूसरी बात योग से हमारे मन वचन और कर्म में काफी परिवर्तन होता है पहली बार शारीरिक आरोग्यता पर लाल होती है और हमें तनाव से मुक्ति मिलती हैं धन्यवाद

jahan tak aapka question hai yog kyon karte hain toh dekhiye yog sharirik swachhta mansik evam baudhik swachhta ke liye yog kiya jata hai dusri baat yog se hamare man vachan aur karm mein kaafi parivartan hota hai pehli baar sharirik arogyata par laal hoti hai aur hamein tanaav se mukti milti hain dhanyavad

जहां तक आपका क्वेश्चन है योग क्यों करते हैं तो देखिए योग शारीरिक स्वच्छता मानसिक एवं बौद्ध

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  1068
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिजोलिया माध्यमिक मानसिक और आध्यात्मिक रास्ते हैं उनको सशक्ति के साथ-साथ उनके मस्तिष्क को और अशांति का जनक को प्राप्त करने में सहयोग करती है और योगी कालूपुर दिनभर ऊर्जा का अनुभव करता है और हर कार्य को वास्तविकता से कर पाता है सीटी मारे सैया जी भागवत बनता है और हमारा जो गणतंत्र है और हमारा जो मंत्र राजू भाऊ को गया और हमारा जो संतान के आगे आगे आगे उसको बहुत दिक्कत सकता है और एक बात होती है कि पहला सुख निरोगी काया स्वस्थ है तो निश्चित रूप से हम जीवन के सभी सुखों को अनुभव कर सकते हैं उनका जोर तोहार भाऊजी सकते हमारा आश्वस्त नहीं है तो हम किसी भी सुख की अनुभूति प्राप्त नहीं कर सकते हैं तो यूं ही एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा हम अपने शरीर को कैसे स्वस्थ रह सकते हैं खुश रखे और योग्य व्यक्ति अपनी खुशी की औरत है कि अगर हमें अमर होना है अगर हमें सरकार देखना है तो योगी के समाज द्वारा डॉट कॉम पर संपर्क कर सकते हैं जो लोग जयपुर में है और जोक्स जाते हैं आप हमारे योग केंद्रों के निर्माण में

bijoliya madhyamik mansik aur aadhyatmik raste hain unko sashakti ke saath saath unke mastishk ko aur ashanti ka janak ko prapt karne mein sahyog karti hai aur yogi kalupur dinbhar urja ka anubhav karta hai aur har karya ko vastavikta se kar pata hai city maare saiya ji bhagwat banta hai aur hamara jo gantantra hai aur hamara jo mantra raju bhau ko gaya aur hamara jo santan ke aage aage aage usko bahut dikkat sakta hai aur ek baat hoti hai ki pehla sukh nirogee kaaya swasthya hai toh nishchit roop se hum jeevan ke sabhi sukho ko anubhav kar sakte hain unka jor tohar bhauji sakte hamara aashvast nahi hai toh hum kisi bhi sukh ki anubhuti prapt nahi kar sakte hain toh yun hi ek aisa madhyam hai jiske dwara hum apne sharir ko kaise swasthya reh sakte hain khush rakhe aur yogya vyakti apni khushi ki aurat hai ki agar hamein amar hona hai agar hamein sarkar dekhna hai toh yogi ke samaj dwara dot com par sampark kar sakte hain jo log jaipur mein hai aur jokes jaate hain aap hamare yog kendron ke nirmaan mein

बिजोलिया माध्यमिक मानसिक और आध्यात्मिक रास्ते हैं उनको सशक्ति के साथ-साथ उनके मस्तिष्क को

Romanized Version
Likes  155  Dislikes    views  2217
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!