ट्रम्प क्यों मोदी के साथ अच्छा बनना चाह रहें है?...


user

Lavlesh

Student

3:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कैटरीना का क्वेश्चन एटम क्यों मोदी के साथ अच्छा बनना चाह रहे हैं आपका कुसुम बहुत अच्छा है तो मेरा यह मानना है कि हर देश पैसा कमाना चाहता है और अमेरिका लाल जी अभी से नहीं वह स्टार्टिंग से ही लाती है अगर पॉलिटिकल भी तो देखें तो इंडिया की जो पापुलेशन है वह 130 करोड़ प्लस है और यहां जो लीड है जो आवश्यकता है यहां के लोगों की वह हमारे देश की मैन्युफैक्चरिंग से पूर्ण नहीं पा रही है सब सब कुछ नहीं मिल पा रही है और हमारे देश के लिए प्रोडक्ट तो वह तुरंत आएंगे भी आते हैं अमेरिका यह सोच रहा है कि यहां पर वह अपना व्यापार को बढ़ाएं सुना होगा कि गुजरात में सबसे बड़ा अमेजॉन कंपनी खुलने जा रहा यह सब यही वजह है अमेरिका चीन सपोर्ट नहीं कर सकता क्योंकि वहां की सरकार नहीं इतना सामान प्रोडक्ट कर रहा है कि उस सपोर्ट करना पड़ा दूसरे देश को देखते हैं वैसा नहीं कि अमेरिका के कुछ प्रोडक्ट चीन में नहीं जाता जाता है बट बहुत कम अधिकतम अधिक देश में तीन ही समान को सपोर्ट करता है इसलिए अमेरिका चाहता है वह अपना कंपनी को या बढ़ाएं उसको फायदा मिल सके दूसरी वजह पॉलीटिकल लीडर यह भी है कि हमारे देश की जापानी प्रधानमंत्री ऐसे ही नरेंद्र मोदी इन वन ऑफ द बेस्ट प्राइम मिनिस्टर अभी तक अभी तक का कोई दुनिया इनके लोहा मान नहीं है ऐसा प्राइम मिनिस्टर में जो सबका साथ सबका विकास है कि चल रहे हैं और पूरी दुनिया इनकी मुरीद है अभी यह हमेशा विकास की बात करते और देश के राष्ट्रपति की तरह के भड़काऊ भाषण यह लड़ाई झगड़े की बात कभी नहीं करते जिससे अमेरिका के राष्ट्रपति करते हैं दक्षिण कोरिया को देख लो आप अगर भाई जी रांची में हो यह हर देश से अपना रिश्ता को मजबूत रखना चाहते हैं इस वजह से भी अमेरिका भारत से दोस्ती बनाना चाहता है और एक रीजन मेरे ख्याल से यह भी है कि हमारी सेना है आर्मी वर्ल्ड के चौथे नंबर पर आती है और अभी के दौर में जो हमारी इंडियन गवर्मेंट है यह सेना के लिए जो जरूरत हथियार है वह खरीद रहे हैं क्योंकि हमारी सेना के पास आधुनिक हथियार होते बहुत कमियां और अमेरिका आधुनिक हथियार बनाता है वह इंडिया में एक्सपोर्ट करना चाहता है इंडिया को देना बेचना चाहता है और भी सीजन है थैंक यू

katrina ka question atom kyon modi ke saath accha banna chah rahe hain aapka kusum bahut accha hai toh mera yah manana hai ki har desh paisa kamana chahta hai aur america laal ji abhi se nahi vaah starting se hi lati hai agar political bhi toh dekhen toh india ki jo population hai vaah 130 crore plus hai aur yahan jo lead hai jo avashyakta hai yahan ke logo ki vaah hamare desh ki manufacturing se purn nahi paa rahi hai sab sab kuch nahi mil paa rahi hai aur hamare desh ke liye product toh vaah turant aayenge bhi aate hain america yah soch raha hai ki yahan par vaah apna vyapar ko badhaye suna hoga ki gujarat me sabse bada amazon company khulne ja raha yah sab yahi wajah hai america china support nahi kar sakta kyonki wahan ki sarkar nahi itna saamaan product kar raha hai ki us support karna pada dusre desh ko dekhte hain waisa nahi ki america ke kuch product china me nahi jata jata hai but bahut kam adhiktam adhik desh me teen hi saman ko support karta hai isliye america chahta hai vaah apna company ko ya badhaye usko fayda mil sake dusri wajah political leader yah bhi hai ki hamare desh ki japani pradhanmantri aise hi narendra modi in van of the best prime minister abhi tak abhi tak ka koi duniya inke loha maan nahi hai aisa prime minister me jo sabka saath sabka vikas hai ki chal rahe hain aur puri duniya inki murid hai abhi yah hamesha vikas ki baat karte aur desh ke rashtrapati ki tarah ke bhadkau bhashan yah ladai jhagde ki baat kabhi nahi karte jisse america ke rashtrapati karte hain dakshin korea ko dekh lo aap agar bhai ji ranchi me ho yah har desh se apna rishta ko majboot rakhna chahte hain is wajah se bhi america bharat se dosti banana chahta hai aur ek reason mere khayal se yah bhi hai ki hamari sena hai army world ke chauthe number par aati hai aur abhi ke daur me jo hamari indian government hai yah sena ke liye jo zarurat hathiyar hai vaah kharid rahe hain kyonki hamari sena ke paas aadhunik hathiyar hote bahut kamiyan aur america aadhunik hathiyar banata hai vaah india me export karna chahta hai india ko dena bechna chahta hai aur bhi season hai thank you

कैटरीना का क्वेश्चन एटम क्यों मोदी के साथ अच्छा बनना चाह रहे हैं आपका कुसुम बहुत अच्छा है

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ट्रंप मोदी के साथ अच्छा बने रहना चाह रहे हैं क्योंकि अमेरिका-भारत भागीदारी का महत्व बढ़ ही रहा है दो दशकों से अमेरिका और भारतीय राजनीतिक स्पेक्ट्रम ने X एडमिशन को स्वीकार किया है कि दुनिया सुरक्षित रहेगी अगर उसकी दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक था दोस्त रहे और यह कि भारत का उदय अमेरिका के सामरिक हित में है अमेरिकी और भारतीय मिलिट्री एक्सरसाइज इस इंटेलिजेंस शेयरिंग डिफेंस सेल्स और को प्रोडक्शन अपॉर्चुनिटी साथी में काउंटर टेररिज्म को ऑपरेशन एक गहरी सामरिक सामरिक साझेदारी की ओर इशारा करते हैं पिछले साल अमेरिका के भारतीय छात्र की गिनती अब तक में सबसे ज्यादा थी दोनों देशों ने अपने इतिहास में एक दूसरे के लिए सबसे ज्यादा वीजा पिछले साल यीशु किए थे और टुडे ट्रेन नंबर भी सबसे ज्यादा थे अमेरिका को सफल होने के लिए भारत की जरूरत है जो कि एशिया में एक लोकतांत्रिक ताकत और जल्दी सबसे अधिक आबादी वाला देश बनने वाला है यह प्रतिबद्धता मजबूत करने के लिए व्हाइट हाउस के लिए एक उपयुक्त समय है और यह स्पष्ट करने के लिए कि भारत का आर्थिक विकास और वैश्विक स्तर पर राजनीतिक और सामाजिक प्रभाव बढ़ाना अमेरिका के लिए भी अच्छा है

trump modi ke saath accha bane rehna chah rahe hain kyonki america bharat bhagidari ka mahatva badh hi raha hai do dashakon se america aur bharatiya raajnitik spectrum ne X admission ko sweekar kiya hai ki duniya surakshit rahegi agar uski do sabse bade loktantrik tha dost rahe aur yah ki bharat ka uday america ke samarik hit mein hai american aur bharatiya miltary exercise is intelligence sharing defence sales aur ko production opportunity sathi mein counter terrorism ko operation ek gehri samarik samarik sajhedari ki aur ishara karte hain pichle saal america ke bharatiya chatra ki ginti ab tak mein sabse zyada thi dono deshon ne apne itihas mein ek dusre ke liye sabse zyada visa pichle saal yeshu kiye the aur today train number bhi sabse zyada the america ko safal hone ke liye bharat ki zarurat hai jo ki asia mein ek loktantrik takat aur jaldi sabse adhik aabadi vala desh banne vala hai yah pratibaddhata majboot karne ke liye white house ke liye ek upyukt samay hai aur yah spasht karne ke liye ki bharat ka aarthik vikas aur vaishvik sthar par raajnitik aur samajik prabhav badhana america ke liye bhi accha hai

ट्रंप मोदी के साथ अच्छा बने रहना चाह रहे हैं क्योंकि अमेरिका-भारत भागीदारी का महत्व बढ़ ही

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  130
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!