मुझे कभी कभी अकेले में बहुत रोना आता है,इसके कारण क्या हो सकते है,आज तक मुझे भी पता नहीं चला?...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

3:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको किसी अच्छे साइकोलॉजी के पास जाकर की समस्या पूरी कर आनी चाहिए दूर करनी चाहिए क्योंकि इसमें साइक्लोजिकल का रेट है या तो आपने कुछ ऐसी गलतियां की हैं जिनको आप जमाने से छुपाना चाहते हैं और जो मन ही मन अंदर आपकी आपको परेशान कर रही हैं जिनके खुद ने काटा रहे हैं आपको इसलिए आप और कोई उपाय नहीं शेखर की क्योंकि वह बजट में की गई गलतियां हैं जिनके कारण से आप परेशान हैं हम रोते हैं नंबर है या फिर हो सकता है कि आप डिप्रेशन में हैं इसी बात से लेकर की सेटिंग कंपलेक्सेस ने पीड़ित हैं कि आप उसे वारोली के उसका सलूशन कोई नजर नहीं आता है जबकि ऐसा नहीं है सबसे सॉल्यूशन हैं विक्रांत आपको रखना ही नहीं चाहिए नेगेटिव न्यूज़ आप बिल्कुल ना रखें एक नेगेटिव भी उसके कारण से भिगोना आता है कि शांति पड़ जाते हैं परिणाम स्वरूप उसे संसार के अन्य लोग परिवारी जन रिश्तेदार सामाजिक प्राणी सभी लोग उसे उपेक्षा करने लगते हैं और जब वह मांग चारों ओर देखता है इस कारण भी उसके रोना आता है जबकि यह गलत है जितना हो सके अपॉजिटिव रहिए सभी से मिलकर कई लोगों के बीच मिलकर के रहने का प्रयास करें परिवारी जनों से संबंध बनाएं मधुर भाषी रहे हैं सरल स्वभाव वाले बने छल कपट झूठ की दुनिया से जितनी दूर आप रह सकेंगे उतने आप पॉजिटिव बन सकेंगे उतनी आशावादी बनेगी हर किसी कार्य में आपको दोस्त नहीं ढूंढने चाहिए हर किसी मित्र में भी दोस्त उसकी कमियां ढूंढने का प्रयास मत करो यह नेगेटिव न्यूज़ कहलाते हैं आपको पॉजिटिव रहना है जिस किसी से दूर हो आप उसकी अच्छाइयां ढूंढो आप जिस किसी से विनोद सिर्फ नेगेटिव न्यूज़ वक्त को उसके आशाएं रखो उसके लिए कुछ करो जितना हो सकता है उसकी सहायता करो क्या करो सेवा रखो सेवा के भावों को सहायता के भावों को तो आपको ऑटोमेटिक की दुनिया से सहायता मिलती जाएगी दुनिया आप के नाम नाम को गाएगी दुनिया की दुनिया में आप सजेस्ट कर लेगा खुद जितना आप लोगों से मिलेंगे उनको अपने विचार बताएं कि उनके विचार जाने उतनी ही आपकी झिझक दूर होती जाएगी और यह आपका यह समस्या है इस से भी मुक्ति मिल जाएगी और आपको अपने किसी मित्र से अपनी समस्या के न्यूज़ चाहिए यदि कोई मन में आपके में दोष है या कोई गलती है सीखनी है तो उसे भी अपने दोस्त या माता-पिता से शेयर करो जिससे कि आपका

aapko kisi acche psychology ke paas jaakar ki samasya puri kar aani chahiye dur karni chahiye kyonki ismein saiklojikal ka rate hai ya toh aapne kuch aisi galtiya ki hai jinako aap jamane se chupana chahte hai aur jo man hi man andar aapki aapko pareshan kar rahi hai jinke khud ne kaata rahe hai aapko isliye aap aur koi upay nahi shekhar ki kyonki wah budget mein ki gayi galtiya hai jinke kaaran se aap pareshan hai hum rote hai number hai ya phir ho sakta hai ki aap depression mein hai isi baat se lekar ki setting complexes ne peedit hai ki aap use varoli ke uska salution koi nazar nahi aata hai jabki aisa nahi hai sabse solution hai vikrant aapko rakhna hi nahi chahiye Negative news aap bilkul na rakhen ek Negative bhi uske kaaran se bhigona aata hai ki shanti pad jaate hai parinam swaroop use sansar ke anya log pariwarik jan rishtedar samajik prani sabhi log use upeksha karne lagte hai aur jab wah maang charo aur dekhta hai is kaaran bhi uske rona aata hai jabki yeh galat hai jitna ho sake apajitiv rahiye sabhi se milkar kai logo ke beech milkar ke rehne ka prayas karein pariwarik jano se sambandh banaye madhur bhashi rahe hai saral swabhav wale bane chal kapat jhuth ki duniya se jitni dur aap reh sakenge utne aap positive ban sakenge utani aashavadi banegi har kisi karya mein aapko dost nahi dhundhne chahiye har kisi mitra mein bhi dost uski kamiya dhundhne ka prayas mat karo yeh Negative news kehlate hai aapko positive rehna hai jis kisi se dur ho aap uski achaiya dhundho aap jis kisi se vinod sirf Negative news waqt ko uske ashaen rakho uske liye kuch karo jitna ho sakta hai uski sahayta karo kya karo seva rakho seva ke bhavon ko sahayta ke bhavon ko toh aapko Automatic ki duniya se sahayta milti jayegi duniya aap ke naam naam ko gaegi duniya ki duniya mein aap suggest kar lega khud jitna aap logo se milenge unko apne vichar bataye ki unke vichar jaane utani hi aapki jhijhak dur hoti jayegi aur yeh aapka yeh samasya hai is se bhi mukti mil jayegi aur aapko apne kisi mitra se apni samasya ke news chahiye yadi koi man mein aapke mein dosh hai ya koi galti hai sikhni hai toh use bhi apne dost ya mata pita se share karo jisse ki aapka

आपको किसी अच्छे साइकोलॉजी के पास जाकर की समस्या पूरी कर आनी चाहिए दूर करनी चाहिए क्योंकि इ

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  856
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!