भारतीय वन सेवा में मेडिकल टेस्ट में कितने रिजेक्ट होते हैं? इसका सामान्य कारण क्या हैं?...


play
user

KANHAIYA LAL SHARMA

Asstt. Conservator of Forests

0:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिकल है उसे बहुत से कम लोग होते हैं

medical hai use bahut se kam log hote hain

मेडिकल है उसे बहुत से कम लोग होते हैं

Romanized Version
Likes  669  Dislikes    views  3142
WhatsApp_icon
26 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
3:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय वन सेवा में सिलेक्शन होने के लिए यह आवश्यक है क्योंकि आप जिस जॉब को जॉइन करने जा रहे हैं उसका डिमांड ऐसा है कि आपको काफी अलवर के साथ-साथ आपके मस्तिष्क के द्वारा किए जाने वाले कार्यों के साथ-साथ शारीरिक कार्य भी बहुत करने पड़ते हैं जिससे हम सभी जानते हैं कि वनों की सुरक्षा आप मात्र टेबल ऑफिस में बैठकर टेबल पर बैठे कंप्यूटर के सहारे ही सुनिश्चित नहीं कर सकते हैं उसके लिए 1 क्षेत्रों में भी आपको जाना पड़ेगा जंगल का कष्ट करना पड़ेगा और भी तरीके के शारीरिक श्रम भी आपको हो सकता है कि करने पर यही कारण है कि जब भारतीय वन सेवा के चयन की प्रक्रिया होती है तो उसमें एक आयाम शारीरिक फिजिकल फिटनेस का भी रखा जाता है फिजिकल फिटनेस के लिए जनरल 4 घंटे का समय दिया जाता है जिसमें आपसे अपेक्षा की जाती है कि आप 25 किलोमीटर का 4 घंटे के समय में आपको 25 किलोमीटर की दूरी तय करनी होती है 25 किलोमीटर चलना पड़ता है यह बहुत कम तो नहीं है लेकिन बहुत तमिल बहुत ज्यादा तो नहीं है लेकिन बहुत कम भी नहीं इसके लिए निश्चित रूप से थोड़ा बहुत फिजिकल फिटनेस क्या हो सकता होती है और हम सभी जानते हैं कि आज का जो युग है जिसमें प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी में लोग इतने मशगूल हो जाते हैं कि दिन-रात बैठकर पढ़ाई पढ़ाई और सिर्फ पढ़ाई होती है घर से बाहर कैंडिडेट कौन है इसका आकलन कैसे किया जाता है कितने घंटे पढ़ाई का सर्वेक्षण की तो बात हटा दें बल्कि बाहर भी निकलना लोग समझते हैं कि गुनाह है जब हम प्रिपरेशन कर रहे होते हैं मात्र पढ़ाई कर ही ज्यादा फोकस ताकि गलत है लेकिन शारीरिक प्रशिक्षण का 1 तारीख का जो एग्जाम होता है और हम जानते हैं कि अब आप अगर एक्सीडेंट रीलाइफ हो जिसमें आप बस टेबल पर बैठ कर पढ़ाई पढ़ाई कर पढ़ाई कर रहे हैं तो कई बार ऐसा हो जाता है कि पढ़ने के चक्कर में अगर कोई साल कुल परीक्षार्थी प्रतियोगी अगर 2 साल से तैयारी कर रहा है या 1 साल से तैयारी कर रहा है और 1 साल तक उसने कोई भी फिजिकल ऐसा कार्य नहीं किया सुबह मॉर्निंग वॉक पर नहीं जाता जोगिंग नहीं करता और अचानक दिन 1 पॉइंट मॉर्निंग अगर शुक्रिया जाएगी वहीं 4 घंटे में 25 किलोमीटर चल लो उसके लिए दिक्कत हो जाती है और यही कारण है कि और एग्जाम में आई एफ एस सी एग्जाम के प्रश्न कि तू जब उनसे अचानक एक देश का दिया जाता है कि आप 25 किलोमीटर का पैदल चलें इसके लिए पूर्व से को तैयार नहीं होते

bharatiya van seva mein selection hone ke liye yah aavashyak hai kyonki aap jis job ko join karne ja rahe hai uska demand aisa hai ki aapko kaafi alwar ke saath saath aapke mastishk ke dwara kiye jaane waale karyo ke saath saath sharirik karya bhi bahut karne padte hai jisse hum sabhi jante hai ki vano ki suraksha aap matra table office mein baithkar table par baithe computer ke sahare hi sunishchit nahi kar sakte hai uske liye 1 kshetro mein bhi aapko jana padega jungle ka kasht karna padega aur bhi tarike ke sharirik shram bhi aapko ho sakta hai ki karne par yahi karan hai ki jab bharatiya van seva ke chayan ki prakriya hoti hai toh usme ek aayam sharirik physical fitness ka bhi rakha jata hai physical fitness ke liye general 4 ghante ka samay diya jata hai jisme aapse apeksha ki jaati hai ki aap 25 kilometre ka 4 ghante ke samay mein aapko 25 kilometre ki doori tay karni hoti hai 25 kilometre chalna padta hai yah bahut kam toh nahi hai lekin bahut tamil bahut zyada toh nahi hai lekin bahut kam bhi nahi iske liye nishchit roop se thoda bahut physical fitness kya ho sakta hoti hai aur hum sabhi jante hai ki aaj ka jo yug hai jisme pratiyogita parikshao ki taiyari mein log itne mashagul ho jaate hai ki din raat baithkar padhai padhai aur sirf padhai hoti hai ghar se bahar candidate kaun hai iska aakalan kaise kiya jata hai kitne ghante padhai ka sarvekshan ki toh baat hata de balki bahar bhi nikalna log samajhte hai ki gunah hai jab hum preparation kar rahe hote hai matra padhai kar hi zyada focus taki galat hai lekin sharirik prashikshan ka 1 tarikh ka jo exam hota hai aur hum jante hai ki ab aap agar accident rilaif ho jisme aap bus table par baith kar padhai padhai kar padhai kar rahe hai toh kai baar aisa ho jata hai ki padhne ke chakkar mein agar koi saal kul pariksharthi pratiyogi agar 2 saal se taiyari kar raha hai ya 1 saal se taiyari kar raha hai aur 1 saal tak usne koi bhi physical aisa karya nahi kiya subah morning walk par nahi jata jogging nahi karta aur achanak din 1 point morning agar shukriya jayegi wahi 4 ghante mein 25 kilometre chal lo uske liye dikkat ho jaati hai aur yahi karan hai ki aur exam mein I f s si exam ke prashna ki tu jab unse achanak ek desh ka diya jata hai ki aap 25 kilometre ka paidal chalen iske liye purv se ko taiyar nahi hote

भारतीय वन सेवा में सिलेक्शन होने के लिए यह आवश्यक है क्योंकि आप जिस जॉब को जॉइन करने जा रह

Romanized Version
Likes  120  Dislikes    views  1393
WhatsApp_icon
user
0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंडियन फॉरेन सर्विस में आपको एंट्री के लिए 5 किलोमीटर्स का एक वॉकिंग टेस्ट पास करना होता है और उसके लिए 4 घंटे की समयावधि आपको दी जाती है आज लगता है कि वह किसी भी दिन काफी सारे स्टूडेंट के साथ में ऐसा होता है कि पहले अटेम्प्ट में उनको 4 घंटे का वह समय मेरे वह 25 किलोमीटर का पूरा करना मैं करने में दिक्कत होती है मिनट से कोई 15 मिनट से उसके अंदर रह जाता है आपके लिए अच्छा है यदि आप एक ऐसा सच करंट हैं तो आप थोड़ा सा पर वाकिंग टेस्ट है उससे कुछ दिन पहले इटली महीना पहले आप अपना वाकिंग का प्रेक्टिस करें ताकि आपको समय अवधि के अंदर 4 घंटे के अंदर वह वर्क इंटेक्स आप आराम से करता है थैंक यू

indian foreign service mein aapko entry ke liye 5 kilometers ka ek walking test paas karna hota hai aur uske liye 4 ghante ki samayawadhi aapko di jaati hai aaj lagta hai ki vaah kisi bhi din kaafi saare student ke saath mein aisa hota hai ki pehle attempt mein unko 4 ghante ka vaah samay mere vaah 25 kilometre ka pura karna main karne mein dikkat hoti hai minute se koi 15 minute se uske andar reh jata hai aapke liye accha hai yadi aap ek aisa sach current hain toh aap thoda sa par Walking test hai usse kuch din pehle italy mahina pehle aap apna Walking ka practice kare taki aapko samay awadhi ke andar 4 ghante ke andar vaah work intex aap aaram se karta hai thank you

इंडियन फॉरेन सर्विस में आपको एंट्री के लिए 5 किलोमीटर्स का एक वॉकिंग टेस्ट पास करना होता ह

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  209
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar IFS

Additional Principal Chief Conservator of Forests, Haryana

3:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस तरह की बंसी वाला नहीं है उसमें फिजिकली फिट होना बहुत जरूरी है क्योंकि जैसे कि शिवानी एक ही खाली आप एक कमरे में बैठ के जो है सारा का सारा नियंत्रण कर लोगे फाइलों के काम करोगे फायदे होते क्योंकि आपका जो शुरुआती जो होता है उसमें आपको फिर वही काम करना होता है आपको काफी सारे बजे डॉक्टर एरिया में हिमाचल में है यहां पे तो आप को तीन-तीन घंटे पहाड़ों पर भी चढ़ना होता है तो इसीलिए ऐसी सोच के लिए बेसिकली मेडिकल टेस्ट में भी रखा है कि 25 किलोमीटर का जो है आपको 4 घंटे में पूरा करना होता है तो इसे लेकर वह है कि एक आदमी ही जाए और यह भी मानना है कि जो उस फिजिकली फिट हो गया उसका जब मन के सेट कर दे उसका 2 फिट रहेगा तो जितने भी कैंडिडेट है जो सोच रहे हैं आना चाहते हैं तो उनको एक फिटनेस लेकर तो बहुत जरूरी है आज की डेट में जो नरेशन आ रही है ना तो उसमें हम लोग का शायद बचपन में रहता है कि पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान दो खाली पढ़ाई करो और रोज गेम्स भेजो है वह थोड़ा सा कम हो गया है कि ओवरऑल डेवलपमेंट होना चाहिए जिसमें कि आपका नियमित रूप से आप जो है कोई गेम्स भी खेलेंगे फिजिकल फिटनेस के लिए करेंगे अतः लेंगे ठीक है घूमेंगे तो यह चीजें धीरे-धीरे जहां पर मेट्रोपॉलिटन सिटीज में जो लोग रहते हैं उनको यह मौका पूरा मिलता नहीं है क्या तो लोग चुनाव में व्यस्त हैं दूसरा है कि काफी सारा समय जो है मोबाइल पर सोशल मीडिया पर हमारा बहुत सारी चीजें भेज देना अगर आपका एक तरह का एक साइक्लोपीडिया की तरह गूगल आपको कोई चीज ढूंढनी है तो आप उसको ढूंढ सकते आपके पास एक आंसर सोशल मीडिया पर ज्यादा व्यस्त रहना आपका टाइम का भेज देना चुपचाप बैठे पर आपका माइंड जो है गलत चीजों पर जाता है अगर आप उससे कुछ सीख सकें कि दोनों ही चीज हैं अगर आप कस्टमर से करोगे तो लोट आफ नॉलेज ऑल सोंग आफ कुमार तरीके सलूशन आपको इसमें मिल सकता है ठीक है लेकिन अगर आप की आदत हो गई है कि कोई करना है कभी किस को मैसेज कर रहा है फिर जवाब देना यार ऐसे लोगों से हम जुड़े हुए रहते हैं जिनसे शायद अब आधे साल में भी नहीं मिलते हैं एक बार तो उसमें मुझे लगता है कि इनसे थोड़ा सा दूर आ जाए ताकि आपके पास जिनमें 24 घंटे ही होते हैं उसमें आपको सोना भी है काम भी करना है तो यूनिट प्लान और टाइम के हिसाब से करें और उसमें अपने ही फिजिकल हेल्थ के लिए कुछ टाइम देना बहुत जरूरी है क्योंकि के शुरू में नहीं पता लगता लेकिन धीरे-धीरे जैसे आप मैंने सेट करो ओल्ड तो आपको पता लगेगा कि आपका फिल्म मुश्किल हो जाएंगे आपका स्वास्थ्य अच्छा नहीं रहेगा तो आप जो है मानसिक रूप से भी अच्छा नहीं तो आप उसमें जो कंट्रीब्यूट्स करना चाहते हो किसी भी जॉब में वह आप नहीं कर पाओगे तो मैं यह नहीं कहूंगा और उसके लिए बट इन जनरल आप किसी भी सर्विस के लिए आप जाएंगे तो आपका अच्छा पास तो बहुत जरूरी है तो मेक ए टेबलेट कि आप क्यों है मॉर्निंग में या इवनिंग में जब भी आपको वक्त मिलता है कुछ समय जो है बयान के लिए निकालें और अपना फिजिकली फिट रह चुके फर्स्ट तो सर्टेन ढूंढने में है क्या मेडिकल टेस्ट का पेशेंट है और उसमें आपको बोले दल को आप को पार करना है वह फिजिकल फिटनेस सिखाना है ठीक है तो बेहतर है कि आप शुरू से आपको जो टेस्ट हैं आप उनको अपना कल आकर देख लिया जा सकता है तो सारी की सारी चीजें ठीक हो सकती है ऐसा कुछ नहीं ठीक नहीं हो सकती स्टैंडर्ड आपके बढ़ सकते हैं बशर्ते कि आप उसके लिए अभी से ही कोशिश करें और और अच्छा स्वास्थ्य दे कल से जीवन पर आप कुछ भी करेंगे उसके लिए आपके लिए हमेशा पैदा करें

dekhiye is tarah ki bansi vala nahi hai usme physically fit hona bahut zaroori hai kyonki jaise ki shivani ek hi khaali aap ek kamre mein baith ke jo hai saara ka saara niyantran kar loge filon ke kaam karoge fayde hote kyonki aapka jo shuruati jo hota hai usme aapko phir wahi kaam karna hota hai aapko kaafi saare baje doctor area mein himachal mein hai yahan pe toh aap ko teen teen ghante pahadon par bhi chadhna hota hai toh isliye aisi soch ke liye basically medical test mein bhi rakha hai ki 25 kilometre ka jo hai aapko 4 ghante mein pura karna hota hai toh ise lekar vaah hai ki ek aadmi hi jaaye aur yah bhi manana hai ki jo us physically fit ho gaya uska jab man ke set kar de uska 2 fit rahega toh jitne bhi candidate hai jo soch rahe hain aana chahte hain toh unko ek fitness lekar toh bahut zaroori hai aaj ki date mein jo narration aa rahi hai na toh usme hum log ka shayad bachpan mein rehta hai ki padhai par zyada dhyan do khaali padhai karo aur roj games bhejo hai vaah thoda sa kam ho gaya hai ki overall development hona chahiye jisme ki aapka niyamit roop se aap jo hai koi games bhi khelenge physical fitness ke liye karenge atah lenge theek hai ghumenga toh yah cheezen dhire dhire jaha par metropolitan cities mein jo log rehte hain unko yah mauka pura milta nahi hai kya toh log chunav mein vyast hain doosra hai ki kaafi saara samay jo hai mobile par social media par hamara bahut saree cheezen bhej dena agar aapka ek tarah ka ek saiklopidiya ki tarah google aapko koi cheez dhundni hai toh aap usko dhundh sakte aapke paas ek answer social media par zyada vyast rehna aapka time ka bhej dena chupchap baithe par aapka mind jo hai galat chijon par jata hai agar aap usse kuch seekh sake ki dono hi cheez hain agar aap customer se karoge toh lot of knowledge all song of kumar tarike salution aapko isme mil sakta hai theek hai lekin agar aap ki aadat ho gayi hai ki koi karna hai kabhi kis ko massage kar raha hai phir jawab dena yaar aise logo se hum jude hue rehte hain jinse shayad ab aadhe saal mein bhi nahi milte hain ek baar toh usme mujhe lagta hai ki inse thoda sa dur aa jaaye taki aapke paas jinmein 24 ghante hi hote hain usme aapko sona bhi hai kaam bhi karna hai toh unit plan aur time ke hisab se kare aur usme apne hi physical health ke liye kuch time dena bahut zaroori hai kyonki ke shuru mein nahi pata lagta lekin dhire dhire jaise aap maine set karo old toh aapko pata lagega ki aapka film mushkil ho jaenge aapka swasthya accha nahi rahega toh aap jo hai mansik roop se bhi accha nahi toh aap usme jo contributes karna chahte ho kisi bhi job mein vaah aap nahi kar paoge toh main yah nahi kahunga aur uske liye but in general aap kisi bhi service ke liye aap jaenge toh aapka accha paas toh bahut zaroori hai toh make a tablet ki aap kyon hai morning mein ya evening mein jab bhi aapko waqt milta hai kuch samay jo hai bayan ke liye nikale aur apna physically fit reh chuke first toh certain dhundhne mein hai kya medical test ka patient hai aur usme aapko bole dal ko aap ko par karna hai vaah physical fitness sikhaana hai theek hai toh behtar hai ki aap shuru se aapko jo test hain aap unko apna kal aakar dekh liya ja sakta hai toh saree ki saree cheezen theek ho sakti hai aisa kuch nahi theek nahi ho sakti standard aapke badh sakte hain basharte ki aap uske liye abhi se hi koshish kare aur aur accha swasthya de kal se jeevan par aap kuch bhi karenge uske liye aapke liye hamesha paida karen

देखिए इस तरह की बंसी वाला नहीं है उसमें फिजिकली फिट होना बहुत जरूरी है क्योंकि जैसे कि शिव

Romanized Version
Likes  119  Dislikes    views  1153
WhatsApp_icon
user

Mahabir P Sharma

IFS Officer

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शारीरिक संतुलन चाहिए तो इसके लिए हेल्प हेल्प में जो लोग विदाउट बैकग्राउंड से आते हैं या सोच के साथ रिएक्शन का और जो लोग सिर्फ और सिर्फ सूरत से गोरखपुर जंक्शन

sharirik santulan chahiye toh iske liye help help mein jo log without background se aate hain ya soch ke saath reaction ka aur jo log sirf aur sirf surat se gorakhpur junction

शारीरिक संतुलन चाहिए तो इसके लिए हेल्प हेल्प में जो लोग विदाउट बैकग्राउंड से आते हैं या सो

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1478
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

न्यू मेडिकल कोई बहुत तक नहीं होता है फैसला हो सकता है कि कोई उसके बारे में गलत बता रहा हूं इसमें 5 किलोमीटर पैदल चलना होता है 4 घंटे में और बाकी जो बड़ी के नाम से हाइट और अभिनेता छुड़ाई शुभ होता है कि मेडिकल हो जाता है जो बच्चे चलते फिरते रहते हो पर लेते मेडिकल स्टाफ नहीं होता बिल्कुल अगर कोई गाना मेडिकल में ज्यादा शर्ट में तो मीट समस्याओं पर अब बताना

new medical koi bahut tak nahi hota hai faisla ho sakta hai ki koi uske bare mein galat bata raha hoon isme 5 kilometre paidal chalna hota hai 4 ghante mein aur baki jo badi ke naam se height aur abhineta chhudai shubha hota hai ki medical ho jata hai jo bacche chalte phirte rehte ho par lete medical staff nahi hota bilkul agar koi gaana medical mein zyada shirt mein toh meat samasyaon par ab bataana

न्यू मेडिकल कोई बहुत तक नहीं होता है फैसला हो सकता है कि कोई उसके बारे में गलत बता रहा हूं

Romanized Version
Likes  93  Dislikes    views  1212
WhatsApp_icon
user
0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो नहीं वहां पर दोनों लटके जाएंगे आपके आईडी वह पूरा नहीं दिया 4 घंटे का छोड़कर जाएंगे जाता है उसमें जो सुधारने का मौका नहीं मिलता है उससे पहले से पता है तो उसको मौका मिल जाएगा

jo nahi wahan par dono latke jaenge aapke id vaah pura nahi diya 4 ghante ka chhodkar jaenge jata hai usme jo sudhaarne ka mauka nahi milta hai usse pehle se pata hai toh usko mauka mil jaega

जो नहीं वहां पर दोनों लटके जाएंगे आपके आईडी वह पूरा नहीं दिया 4 घंटे का छोड़कर जाएंगे जाता

Romanized Version
Likes  128  Dislikes    views  2802
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैंने अभी बताता हूं एक सर्जिकल चैट मेडिकल टेस्ट होता है जो अटल चौक में उसका वीडियो में होना चाहिए और 4 घंटे में 25 किलोमीटर का जोगी ना कुछ भी करना पड़ता है कि मैं ठीक है रंगोली की रिलायंस के लिए जांच की बात है 4 घंटे में 25 किलोमीटर 10 किलोमीटर मतदान से इटावा के किलोमीटर अगर आधे घंटे में हम लोग करते हैं तो चल देते हैं ना तुमसे करता उसमें कोई दिक्कत नहीं है मेडिकल की जहां तक बात है मेडिकल में लोग हो सकते हैं जिसमें मेडिकल में खो जाते हैं और जो है फ्लैट फुट नहीं होना चाहिए बारे में जानकारी रखे तो उसको दे नहीं होगा निराशा नहीं होगी बाद में और

maine abhi batata hoon ek surgical chat medical test hota hai jo atal chauk mein uska video mein hona chahiye aur 4 ghante mein 25 kilometre ka jogi na kuch bhi karna padta hai ki main theek hai rangoli ki reliance ke liye jaanch ki baat hai 4 ghante mein 25 kilometre 10 kilometre matdan se itawa ke kilometre agar aadhe ghante mein hum log karte hain toh chal dete hain na tumse karta usme koi dikkat nahi hai medical ki jaha tak baat hai medical mein log ho sakte hain jisme medical mein kho jaate hain aur jo hai flat feet nahi hona chahiye bare mein jaankari rakhe toh usko de nahi hoga nirasha nahi hogi baad mein aur

मैंने अभी बताता हूं एक सर्जिकल चैट मेडिकल टेस्ट होता है जो अटल चौक में उसका वीडियो में होन

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  1549
WhatsApp_icon
user

Shri Chiranjiv Chaudhary IFS

Commissioner of Horticulture and Ex-Officio Secretary to Govt., of AP

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिकल टेस्ट क्रिकेट का काम नहीं होता है जबकि फॉरेस्ट सर्विस में जो है एक 25 किलोमीटर का वॉकिंग टेस्ट होता है ताकि रिक्वायरमेंट्स आईपीएल टिकट में बांदा से होते हैं अदर देवी 25 किलोमीटर का वर्ग को 4 घंटे में पूरा करता है रिकॉर्डिंग करके 9 तारीख को जंगल में घूमने उसने कभी कभी जरूरत पड़ जाता है लोग पैकिंग करने का भी और टेंशन से जाता है शुरू से ही से 25 किलोमीटर दूर है मां का पचरा सारे लड़के लड़कियों को करना पड़ता है

medical test cricket ka kaam nahi hota hai jabki forest service mein jo hai ek 25 kilometre ka walking test hota hai taki requirements IPL ticket mein banda se hote hain other devi 25 kilometre ka varg ko 4 ghante mein pura karta hai recording karke 9 tarikh ko jungle mein ghoomne usne kabhi kabhi zarurat pad jata hai log packing karne ka bhi aur tension se jata hai shuru se hi se 25 kilometre dur hai maa ka pachara saare ladke ladkiyon ko karna padta hai

मेडिकल टेस्ट क्रिकेट का काम नहीं होता है जबकि फॉरेस्ट सर्विस में जो है एक 25 किलोमीटर का व

Romanized Version
Likes  95  Dislikes    views  1159
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिकल टेस्ट में तो ऐसा कुछ है नहीं मेडिकल टेस्ट में भी नहीं होना चाहिए फ्लैट फुट में होना चाहिए और आईजी कहना के सिक्स बाय सिक्स हो जाने के लिए और कलर ब्लाइंड नहीं होना चाहिए यह मेन है भाई प्रॉब्लम नहीं कहते हैं मेडिकल प्रॉब्लम और फिजिकल मैं आपको है इन 4 अवर्स 25 किलोमीटर यह टू वर्क इन फोर्स देसी द फिजिकल टेस्ट बुकलेट प्लेटफॉर्म एग्जाम

medical test mein toh aisa kuch hai nahi medical test mein bhi nahi hona chahiye flat feet mein hona chahiye aur IG kehna ke six bye six ho jaane ke liye aur color blind nahi hona chahiye yah main hai bhai problem nahi kehte hain medical problem aur physical main aapko hai in 4 hours 25 kilometre yah to work in force desi the physical test booklet platform exam

मेडिकल टेस्ट में तो ऐसा कुछ है नहीं मेडिकल टेस्ट में भी नहीं होना चाहिए फ्लैट फुट में होना

Romanized Version
Likes  158  Dislikes    views  2614
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेजर हेल्थ इश्यूज है कैसे जब हम लोग जब मेडिकल का जब हम लोग का मेडिकल टेस्ट होता है तो हमेशा फैमिली ही देखी जाती है क्योंकि यह जब थोड़ा सा थोड़ा चाहिए जो है थोड़ा सा होता है कि मतलब आपकी जो आपको जंगलों में काम करना है या फिर आपको मेरी पहाड़ों के ऊपर काम करना है तो मैसेज करते हैं आप का स्टैमिना कितना है उस पर तरह-तरह की टेस्ट होते हैं जैसे आप क्या यूरिन का टेस्ट हुआ ब्लड का टेस्ट हुआ किसी को कोई नहीं होना चाहिए पहली बात यह है एंड दूसरी चीज जो मैंने नोट की है अंडरवियर हम लोग उसको बहुत लाइक ली लेते हैं लेकिन मैंने कुछ नहीं देखा मिनिमम पर पार्टी की जीत से ऊपर होना चाहिए रिजेक्ट किया मतलब जब आप होते तो आप हफ्ते में दो बार मेडिकल लब टेस्ट होता है 2 महीने का समय दिया जाता है उसमें भी नहीं होंगे तो ऐसे तो कोई मतलब इतना दिक्कत नहीं हम लोग का एक वाकिंग टेस्ट होता है जिसमें 3 घंटे में 14 किलोमीटर से आपको चलना होता है अगर आप वह कर सकती हो लेकिन यह भी नहीं कि आप बहुत ही ज्यादा ओवर बिफोर एंड आफ्टर भी ना पाऊं तो यह दो चीज बहुत इंपॉर्टेंट है मतलब बॉडी वेट को कंट्रोल में रखना बाकी फैमिली तो मैसेज करती है तू समझ स्टैंड मतलब

major health issues hai kaise jab hum log jab medical ka jab hum log ka medical test hota hai toh hamesha family hi dekhi jaati hai kyonki yah jab thoda sa thoda chahiye jo hai thoda sa hota hai ki matlab aapki jo aapko jungalon mein kaam karna hai ya phir aapko meri pahadon ke upar kaam karna hai toh massage karte hain aap ka stamina kitna hai us par tarah tarah ki test hote hain jaise aap kya urine ka test hua blood ka test hua kisi ko koi nahi hona chahiye pehli baat yah hai and dusri cheez jo maine note ki hai Underwear hum log usko bahut like li lete hain lekin maine kuch nahi dekha minimum par party ki jeet se upar hona chahiye reject kiya matlab jab aap hote toh aap hafte mein do baar medical leba test hota hai 2 mahine ka samay diya jata hai usme bhi nahi honge toh aise toh koi matlab itna dikkat nahi hum log ka ek Walking test hota hai jisme 3 ghante mein 14 kilometre se aapko chalna hota hai agar aap vaah kar sakti ho lekin yah bhi nahi ki aap bahut hi zyada over before and after bhi na paun toh yah do cheez bahut important hai matlab body wait ko control mein rakhna baki family toh massage karti hai tu samajh stand matlab

मेजर हेल्थ इश्यूज है कैसे जब हम लोग जब मेडिकल का जब हम लोग का मेडिकल टेस्ट होता है तो हमेश

Romanized Version
Likes  142  Dislikes    views  2132
WhatsApp_icon
user

Shailendra K. Singh IFS

APCCS, Chattisgarh

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसका कारण है मेडिकल रिजेक्शन में कि आपको स्वस्थ होना चाहिए क्योंकि जंगल में आपको चलना पड़ता है अलग अलग रहता ही रहते हैं तब ट्रेन है नाले है उसको थोड़ा चाहिए इसलिए मेडिकल टेस्ट में जो नाम से मुखड़े फिक्स किए हैं

iska karan hai medical rejection mein ki aapko swasth hona chahiye kyonki jungle mein aapko chalna padta hai alag alag rehta hi rehte hain tab train hai naale hai usko thoda chahiye isliye medical test mein jo naam se mukhde fix kiye hain

इसका कारण है मेडिकल रिजेक्शन में कि आपको स्वस्थ होना चाहिए क्योंकि जंगल में आपको चलना पड़त

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  877
WhatsApp_icon
user
2:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिकल विकास फॉरेस्ट ऑफिसर मींस सम टाइम्स अरे फ़्यू डेज जंगल में जाता है जंगल में जंगल में भी पेड़ों की चीजें होती है आईडेंटिफाई करें जो जो एड्रेस ऑफ द पड़ गए थे ना जैसे कोई छोटी सी जंगल में पैदा हुआ हो उसे दूर करें उसके लिए अपना एक्वायर के वर्षगांठ है जो अपना देश को बचा के रखे और जंगल में घूमना तो सम टाइम्स किलोमीटर होता है इसीलिए आदमी को फिजिकल फिटनेस होना बहुत जरूरी है नंबर वन फिजिकल फिटनेस होने के लिए जो मापदंड जो भारत सरकार ने दिया है वह बिल्कुल सही है क्योंकि जब आदमी दिन के हिसाब से ठीक है आदमी परंतु फिजिक्स नहीं है तो वह आदमी काम नहीं कर पाया चल नहीं पाएगा इसलिए दूसरा मैच में है कि कल मिर्जा की नई फैक्ट्री सेंड विश्व विश्व कम तूने कौन सा पेड़ है कैसा है यह सब देखना है तो इसीलिए तो फिजिकल फिटनेस लेकर कार्ड बैलेंस है जो बिल्कुल सही है वह होना भी चाहिए इसका बहुत महत्व है क्योंकि एक बार आप आदमी जंगल में जाएगा तो आपने को अपने आप को संभालना भी बहुत जरूरी है जनरलिज्म शहर के बाहर गांव से बाहर सब कुछ बाहर रह रहा है तो आदमी को अपना आपको स्टैमिना स्टैंड बनाने का आवश्यकता भी है इसलिए थोड़ा सा आदमी अपना आपको महसूस करता है ठीक हूं मैं तंदुरुस्त हुई आदमी जंगल में घूमने का क्षमता रखता है इसलिए शायद भारत सरकार ने यह बना रखा है और मैं फिजिकली फील्ड में देखता हूं यह जरूरी आवश्यकता भी है जरूरी भी है ताकि आप मनोबल

medical vikas forest officer means some times are fyu days jungle mein jata hai jungle mein jungle mein bhi pedon ki cheezen hoti hai aidentifai kare jo jo address of the pad gaye the na jaise koi choti si jungle mein paida hua ho use dur kare uske liye apna acquire ke varshganth hai jo apna desh ko bacha ke rakhe aur jungle mein ghumana toh some times kilometre hota hai isliye aadmi ko physical fitness hona bahut zaroori hai number van physical fitness hone ke liye jo maapdand jo bharat sarkar ne diya hai vaah bilkul sahi hai kyonki jab aadmi din ke hisab se theek hai aadmi parantu physics nahi hai toh vaah aadmi kaam nahi kar paya chal nahi payega isliye doosra match mein hai ki kal mirza ki nayi factory send vishwa vishwa kam tune kaun sa ped hai kaisa hai yah sab dekhna hai toh isliye toh physical fitness lekar card balance hai jo bilkul sahi hai vaah hona bhi chahiye iska bahut mahatva hai kyonki ek baar aap aadmi jungle mein jaega toh aapne ko apne aap ko sambhaalna bhi bahut zaroori hai janaralijm shehar ke bahar gaon se bahar sab kuch bahar reh raha hai toh aadmi ko apna aapko stamina stand banane ka avashyakta bhi hai isliye thoda sa aadmi apna aapko mehsus karta hai theek hoon main tandurust hui aadmi jungle mein ghoomne ka kshamta rakhta hai isliye shayad bharat sarkar ne yah bana rakha hai aur main physically field mein dekhta hoon yah zaroori avashyakta bhi hai zaroori bhi hai taki aap manobal

मेडिकल विकास फॉरेस्ट ऑफिसर मींस सम टाइम्स अरे फ़्यू डेज जंगल में जाता है जंगल में जंगल में

Romanized Version
Likes  89  Dislikes    views  1215
WhatsApp_icon
user
0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिजिकल मतलब एक ही है आपको 25 किलोमीटर चलना है 4 घंटे में

physical matlab ek hi hai aapko 25 kilometre chalna hai 4 ghante mein

फिजिकल मतलब एक ही है आपको 25 किलोमीटर चलना है 4 घंटे में

Romanized Version
Likes  122  Dislikes    views  1558
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऑफिसर ऑफिसर 4 किलोमीटर अश्विन ज्यादा जरूरी है फॉरेस्ट के अंदर कितने दिनों से आते हैं या तो कभी आपसे भी गलत नहीं किया होता है तो 25 किलोमीटर 4 घंटे में नहीं चल पाते नहीं होता है या वह नहीं करते इसके अलावा मेडिकल एडमिशन नहीं है कि जितना क्यों नहीं है प्लांट को आर्मी स्टेशन के अंदर की प्रॉब्लम हो सकती है आज मैच है और कितना पर्सेंट होना चाहिए कि वह लोग बहुत नजर है कितने कितने पर्सेंट होना चाहिए

officer officer 4 kilometre ashwin zyada zaroori hai forest ke andar kitne dino se aate hain ya toh kabhi aapse bhi galat nahi kiya hota hai toh 25 kilometre 4 ghante mein nahi chal paate nahi hota hai ya vaah nahi karte iske alava medical admission nahi hai ki jitna kyon nahi hai plant ko army station ke andar ki problem ho sakti hai aaj match hai aur kitna percent hona chahiye ki vaah log bahut nazar hai kitne kitne percent hona chahiye

ऑफिसर ऑफिसर 4 किलोमीटर अश्विन ज्यादा जरूरी है फॉरेस्ट के अंदर कितने दिनों से आते हैं या तो

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  1480
WhatsApp_icon
user

Dr. K. Subramaniam IFS

Director General & PCCF

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एचडी परीक्षण होते हैं तो सामान्य देखा जाता है कि भारतीय वन सेवा के अधिकारियों को कलरब्लाइंड नहीं होना चाहिए उनके अंदर अंदर दूसरी चीज होनी चाहिए और उसके लिए जो उनके लिए क्या अपेक्षा की जाती है कि महिला हमारे अभ्यर्थी होते हैं उनकी जाति कि वह 4 घंटे में 14 किलोमीटर की दूरी तय कर पायेगी और करनी में शारीरिक माप के बीच मात्र शारीरिक मापदंड में कमी होती है

hd parikshan hote hain toh samanya dekha jata hai ki bharatiya van seva ke adhikaariyo ko colorblind nahi hona chahiye unke andar andar dusri cheez honi chahiye aur uske liye jo unke liye kya apeksha ki jaati hai ki mahila hamare abhyarthi hote hain unki jati ki vaah 4 ghante mein 14 kilometre ki doori tay kar payegi aur karni mein sharirik map ke beech matra sharirik maapdand mein kami hoti hai

एचडी परीक्षण होते हैं तो सामान्य देखा जाता है कि भारतीय वन सेवा के अधिकारियों को कलरब्लाइं

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  896
WhatsApp_icon
user

Y K Sahu IFS

IFS Officer

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय वन सेवा के अधिकारी हैं उनसे यह अपेक्षा की जाती है और उनके जो ड्यूटी हैं उसका पार्टी ने 1 क्षेत्रों में दुर्गम क्षेत्रों में पैदल जाना पड़ता है और इसके लिए जो अधिकारी हैं उनका फिजिकली फिट होना बहुत आवश्यक है यदि कोई भारतीय वन सेवा का अधिकारी फिजिकली फिट नहीं है तो वह वन क्षेत्र में जानी पाएगा दुर्गम क्षेत्रों में जानी पाएगा और जो भूत के कर्तव्य हैं सेवा के उसको वह पूर्ण नहीं कर सकता इस कारण भारतीय वन सेवा के इलेक्शन में कुछ फिजिकल मापदंड बने गए हैं जिन पर उनको पूर्ण करना होता है उन मापदंडों में प्रमुख रूप से कैंडिडेट की हाइट और चेस्ट मेजरमेंट यह हैं इसके अलावा जो प्यार की है उसको कलरब्लाइंड नहीं होना चाहिए तो प्रमुख रूप से यह है और फिजिकल उसकी जो एंडोरेंस है अभी टेस्ट होता है जिसने वॉकिंग टेस्ट है यह कामुक रूप है

bharatiya van seva ke adhikari hain unse yah apeksha ki jaati hai aur unke jo duty hain uska party ne 1 kshetro mein durgam kshetro mein paidal jana padta hai aur iske liye jo adhikari hain unka physically fit hona bahut aavashyak hai yadi koi bharatiya van seva ka adhikari physically fit nahi hai toh vaah van kshetra mein jani payega durgam kshetro mein jani payega aur jo bhoot ke kartavya hain seva ke usko vaah purn nahi kar sakta is karan bharatiya van seva ke election mein kuch physical maapdand bane gaye hain jin par unko purn karna hota hai un mapdandon mein pramukh roop se candidate ki height aur chest measurement yah hain iske alava jo pyar ki hai usko colorblind nahi hona chahiye toh pramukh roop se yah hai aur physical uski jo endorens hai abhi test hota hai jisne walking test hai yah kaamuk roop hai

भारतीय वन सेवा के अधिकारी हैं उनसे यह अपेक्षा की जाती है और उनके जो ड्यूटी हैं उसका पार्टी

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1472
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पैरामीटर जैसे की हाइट हाइट कंस्ट्रेंट्स है अगर किसी का काम है तो उसको नहीं लेंगे दूसरा चीज है कि देश में जॉब करने के लिए फिटनेस लेवल रखते ही नहीं रखते आपके बॉडी फंक्शन शो ऑल पार्ट्स इन गरीब लोगों को कभी भी कितना भी पैदल भी चलना है पहाड़ चढ़ना है बहुत ज्यादा काम करना पड़ता है और दूसरा है कि उसमें किसी का फोटो है तो भेजना नागिन कलर फ्लाइंग जट्ट ऑल शो

parameter jaise ki height height kanstrents hai agar kisi ka kaam hai toh usko nahi lenge doosra cheez hai ki desh mein job karne ke liye fitness level rakhte hi nahi rakhte aapke body function show all parts in garib logo ko kabhi bhi kitna bhi paidal bhi chalna hai pahad chadhna hai bahut zyada kaam karna padta hai aur doosra hai ki usme kisi ka photo hai toh bhejna nagin color flying jatt all show

पैरामीटर जैसे की हाइट हाइट कंस्ट्रेंट्स है अगर किसी का काम है तो उसको नहीं लेंगे दूसरा चीज

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1469
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पांडे सर्विस फील्ड की सर्विस है जिसमें काफी आपको पैदल चलता रहता है तो फिर कल है कि इंपॉर्टेंट है उसमें और अगर कोई मेडिकली अनफिट होता है तो उसकी अपनी चीज काली स्टेटस है वह तो ही कैमल डिस्प्ले और जो रनिंग का टेस्ट है दरिया में पैदल चलना पड़ता है होने का जहां तक है कि बिल्कुल अगर बाकी नहीं है हैबिट नहीं है चलने की 1 दिन में फिर वह जिस दिन टेस्ट होता है उस दिन में आ जाते हैं नार्मल नार्मल होती है इसको करने की जरूरत नहीं जी सर के ऊपर कमाल किया हो पहले से ही सूअर रहेंगे ब्रीथिंग कंट्रोल हेलीकॉप्टर

pandey service field ki service hai jisme kaafi aapko paidal chalta rehta hai toh phir kal hai ki important hai usme aur agar koi medically unfit hota hai toh uski apni cheez kali status hai vaah toh hi Camel display aur jo running ka test hai dariya mein paidal chalna padta hai hone ka jaha tak hai ki bilkul agar baki nahi hai habit nahi hai chalne ki 1 din mein phir vaah jis din test hota hai us din mein aa jaate hain normal normal hoti hai isko karne ki zarurat nahi ji sir ke upar kamaal kiya ho pehle se hi suar rahenge breathing control helicopter

पांडे सर्विस फील्ड की सर्विस है जिसमें काफी आपको पैदल चलता रहता है तो फिर कल है कि इंपॉर्ट

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  152
WhatsApp_icon
user

Rajendra Huda

District Conservator of Forests

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिकल सर्विस सेंटर मेडिकल टेस्ट नार्मल नार्मल हाई 23 तारीख के डेट पर रहे हो इसी टाइम फ्रॉम राजस्थान फॉरेस्ट सर्विस इन राजस्थान फॉरेस्ट तो 5 किलोमीटर

medical service center medical test normal normal high 23 tarikh ke date par rahe ho isi time from rajasthan forest service in rajasthan forest toh 5 kilometre

मेडिकल सर्विस सेंटर मेडिकल टेस्ट नार्मल नार्मल हाई 23 तारीख के डेट पर रहे हो इसी टाइम फ्रॉ

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  1444
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होटल की जो मेडिकल टेस्ट होता है उसकी दो तीन चीजों के बहुत ज्यादा ध्यान देते हैं एक लड़की का मोती और धोखा नहीं होना चाहिए नाइट ब्लाइंडनेस बिल्कुल नहीं करते हैं नाइट ब्लाइंडनेस और आयुष जैसे 87.5 है उससे कम नहीं होना चाहिए और उसे कम है तो फिर वह बिल्कुल लेते हैं और और फिजिकल टेस्ट के लिए 5 किलोमीटर से यह बहुत ज्यादा गरीब एक छोरे ने तुम्हें कहूं कि थोड़े बहुत वक्त से पहले ही बहुत मुश्किल नहीं अगर रिटर्न के बाद के साथ-साथ बोलो एक्टिविटी चलाते रखें उससे भी से निजात पाना थोड़ा मुश्किल है जो पहले से ही तय कर ले कि हां अगर कोई प्रॉब्लम है तो एग्जाम नहीं दे तो बहुत होते हैं

hotel ki jo medical test hota hai uski do teen chijon ke bahut zyada dhyan dete hai ek ladki ka moti aur dhokha nahi hona chahiye night blindness bilkul nahi karte hai night blindness aur ayush jaise 87 5 hai usse kam nahi hona chahiye aur use kam hai toh phir vaah bilkul lete hai aur aur physical test ke liye 5 kilometre se yah bahut zyada garib ek chhoray ne tumhe kahun ki thode bahut waqt se pehle hi bahut mushkil nahi agar return ke baad ke saath saath bolo activity chalte rakhen usse bhi se nijat paana thoda mushkil hai jo pehle se hi tay kar le ki haan agar koi problem hai toh exam nahi de toh bahut hote hain

होटल की जो मेडिकल टेस्ट होता है उसकी दो तीन चीजों के बहुत ज्यादा ध्यान देते हैं एक लड़की क

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय वन सेवा में अकेले मिनिमम फिजिकल स्टैंडर्ड तय किए गए हैं कुछ मानक तय किए गए हैं और उसके अनुरूप जो मुख्य रूप से जो रहते हैं रिजेक्शन के वह एक तो हाइट और चेस्ट का स्नेह और रहता है किस चीज का टेंशन ना का 5 सेंटीमीटर से ज्यादा होना चाहिए और दूसरा एक के सृजन रहता है कि आपका एक फिजिकल एंडोरेंस टेस्ट होता है 4 घंटे में 25 किलोमीटर का उसने बात करना होता है तो काफी जो शहरी क्षेत्रों से जो लोग आते हैं उनका उतना इंश्योरेंस नहीं रहता है तो उसमें जैसे भी इस फिजिकल एंडोरेंस में काफी लड़के असफल होते हैं

bharatiya van seva mein akele minimum physical standard tay kiye gaye hain kuch maanak tay kiye gaye hain aur uske anurup jo mukhya roop se jo rehte hain rejection ke vaah ek toh height aur chest ka sneh aur rehta hai kis cheez ka tension na ka 5 centimetre se zyada hona chahiye aur doosra ek ke srijan rehta hai ki aapka ek physical endorens test hota hai 4 ghante mein 25 kilometre ka usne baat karna hota hai toh kaafi jo shahri kshetro se jo log aate hain unka utana insurance nahi rehta hai toh usme jaise bhi is physical endorens mein kaafi ladke asafal hote hain

भारतीय वन सेवा में अकेले मिनिमम फिजिकल स्टैंडर्ड तय किए गए हैं कुछ मानक तय किए गए हैं और उ

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1465
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सारे कैंडीडेट्स मेडिकल टेस्ट में लिखे जाते हैं भारतीय वन सेवा के चयन प्रक्रिया में तो उसमें वैसे तो मैं बहुत सुंदर वीडियो है यह उसको 25 किलोमीटर की पैदल चलना होता 4 घंटे में किसी भी आदमी को और किसी लेगी को 15 किलोमीटर 4 घंटे में अगर एक सामान्य सामान्य व्यक्ति है जो कि सामान्य है वही आराम से कर सकता है और थोड़ी की प्रैक्टिस करेगा तो और आराम से कर सकता है बड़ा कारण है उसके हैं भाई के

bahut saare kaindidets medical test mein likhe jaate hain bharatiya van seva ke chayan prakriya mein toh usme waise toh main bahut sundar video hai yah usko 25 kilometre ki paidal chalna hota 4 ghante mein kisi bhi aadmi ko aur kisi legi ko 15 kilometre 4 ghante mein agar ek samanya samanya vyakti hai jo ki samanya hai wahi aaram se kar sakta hai aur thodi ki practice karega toh aur aaram se kar sakta hai bada karan hai uske hain bhai ke

बहुत सारे कैंडीडेट्स मेडिकल टेस्ट में लिखे जाते हैं भारतीय वन सेवा के चयन प्रक्रिया में तो

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1465
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं यदि फिजिकल फिजिकल हम लोगों का है फिजिकल या तो उसमें है कि आपको 4 घंटे में 25 किलोमीटर वाकिंग करना है यही फिजिकल टेस्ट है तो उसमें यदि आप एक बार सेल करते हैं तो आपको फिर एक दोबारा मौका दिया जाएगा 1 सेकंड चांस भी आपको दिया जाए लेकिन यदि आप सेकंड चांस में भी फेल करेंगे तो फिर आपको सर्विस में नहीं लिया जाए और मेडिकल एग्जाम का जहां तक प्रश्न है तो मेडिकल एग्जाम में यदि आप कलरब्लाइंड हो तो आपको नहीं लिया जाए लेकिन यदि बाकी चीज में कोई गड़बड़ी है तो खिल के लिए मेडिकल बोर्ड बैठती है और मेडिकल बोर्ड साइट करती है कि हां या कैंडिडेट इस सर्विस के लिए सूटेबल है या नहीं

main yadi physical physical hum logo ka hai physical ya toh usme hai ki aapko 4 ghante mein 25 kilometre Walking karna hai yahi physical test hai toh usme yadi aap ek baar cell karte hain toh aapko phir ek dobara mauka diya jaega 1 second chance bhi aapko diya jaaye lekin yadi aap second chance mein bhi fail karenge toh phir aapko service mein nahi liya jaaye aur medical exam ka jaha tak prashna hai toh medical exam mein yadi aap colorblind ho toh aapko nahi liya jaaye lekin yadi baki cheez mein koi gadbadi hai toh khil ke liye medical board baithati hai aur medical board site karti hai ki haan ya candidate is service ke liye suitable hai ya nahi

मैं यदि फिजिकल फिजिकल हम लोगों का है फिजिकल या तो उसमें है कि आपको 4 घंटे में 25 किलोमीटर

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user

Shri Vijay Kumar Sinha IFS

Retired Principal Chief Conservator of Forests

2:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिकल हेयर स्टाइल्स कर दो प्रकार का होता है यह केमिकल करते हैं 2 साल रेगुलर मेडिकल टेस्ट किसी भी एग्जाम में होता है उसका मेडिकल किया जाता है फिजिकल टेस्ट में दौड़ने की परीक्षा होती मैं उसको 4 घंटे में 25 किलोमीटर दौड़ना पड़ता है और फीमेल स्कोर 4 घंटे में 16 किलोमीटर दौड़ना पड़ता है जो दौड़ने का टेस्ट होता है या गर्मी के मौसम में होता है दिल्ली में होता है पैसों में होता है तो उस समय गर्मी में दौड़ना कुछ और कठिन काम हो जाता है इसलिए इस फिजिकल टेस्ट के लिए मैं दुआ करूंगा कि लोग एक दो बार चार बार जिसको भी जो अच्छा लगे दौड़ के देख लेना चाहिए क्योंकि ऑफिस में क्वालीफाई नहीं कर मौका फिर दिया जाता है लेकिन वास्तव में आप शरीर से कमजोर हैं तो यह पूरा कर पाना काफी कठिन काम हो जाता है इसका कोई मीडिया नहीं है कुछ कर उनके हो जाए यह नहीं हो पाता इसी तरह मेडिकल होता है चाहे वह सिविल का हो चाहे कहो चाहे राम कहो कॉमन टेस्ट हां कुछ-कुछ जॉब के लिए उसमें उसमें यह होता है कि अगर आपको वह बीमारी है तो आप ही उसमें नहीं आ सकते जिसमें एक होता है एक होता है कलर ब्लाइंडनेस कलर ब्लाइंडनेस का खुद ही किसी आंख के डॉक्टर के पास जाकर चेक कर सकते हैं कि मुझे कलर ब्लाइंडनेस है या नहीं आप एक नॉर्मल अपने लाइफ एक्सपीरियंस यह नहीं जान सकते कि मैं कलर ब्लाइंड हो या नहीं दूसरी एक चीज होती है दिन में अक्सर हंसते नहीं है लेकिन वह जानना जरूरी है कि आपके सीने की गोलाई जो है वह 32 और कम से कम सीना 2 इंच और खुलना चाहिए तो यह भी प्रैक्टिस से आपका अगर हीरोइन में नहीं दिया जाता है ज्यादातर लोग मेडिकल और फिर से रनिंग के भूले भटके

medical hair styles kar do prakar ka hota hai yah chemical karte hain 2 saal regular medical test kisi bhi exam mein hota hai uska medical kiya jata hai physical test mein daudne ki pariksha hoti main usko 4 ghante mein 25 kilometre daudana padta hai aur female score 4 ghante mein 16 kilometre daudana padta hai jo daudne ka test hota hai ya garmi ke mausam mein hota hai delhi mein hota hai paison mein hota hai toh us samay garmi mein daudana kuch aur kathin kaam ho jata hai isliye is physical test ke liye main dua karunga ki log ek do baar char baar jisko bhi jo accha lage daudh ke dekh lena chahiye kyonki office mein qualify nahi kar mauka phir diya jata hai lekin vaastav mein aap sharir se kamjor hain toh yah pura kar paana kaafi kathin kaam ho jata hai iska koi media nahi hai kuch kar unke ho jaaye yah nahi ho pata isi tarah medical hota hai chahen vaah civil ka ho chahen kaho chahen ram kaho common test haan kuch kuch job ke liye usme usmein yah hota hai ki agar aapko vaah bimari hai toh aap hi usme nahi aa sakte jisme ek hota hai ek hota hai color blindness color blindness ka khud hi kisi aankh ke doctor ke paas jaakar check kar sakte hain ki mujhe color blindness hai ya nahi aap ek normal apne life experience yah nahi jaan sakte ki main color blind ho ya nahi dusri ek cheez hoti hai din mein aksar hansate nahi hai lekin vaah janana zaroori hai ki aapke seene ki golai jo hai vaah 32 aur kam se kam seena 2 inch aur khulana chahiye toh yah bhi practice se aapka agar heroine mein nahi diya jata hai jyadatar log medical aur phir se running ke bhule bhatke

मेडिकल हेयर स्टाइल्स कर दो प्रकार का होता है यह केमिकल करते हैं 2 साल रेगुलर मेडिकल टेस्ट

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  332
WhatsApp_icon
user

Shirish Chandra Agrawal IFS

Retired Principal Chief Conservator of Forests

2:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फॉरेस्ट की फ्रंट स्क्रीन के लक्षण को विश करने के लिए आवश्यकता जो रहती है वह जल्दी बॉडी होती है क्योंकि जंगल के अंदर चलने के लिए पैदल चलने के लिए यह स्पष्ट होना जरूरी है तो पीना बहुत जरूरी है एक जंगल में एक शॉट इट इस को ऐड कर दें और पैदल चलने के लिए और उसके अलावा कामाख्या गाड़ी ले जाने के लिए और पिंटू के बाद सेक्स करें सेक्सी निकल सकता कि कल बॉडी परफेक्शन मौसम की जानकारी में बहुत ज्यादा रिट्रेक्शन के क्वेश्चन 2 किलो 1 किलो मीटर की उनको एक बार चांस दिया जाता है लेकिन दीपक जो हमारे लंदन

forrest ki front screen ke lakshan ko wish karne ke liye avashyakta jo rehti hai vaah jaldi body hoti hai kyonki jungle ke andar chalne ke liye paidal chalne ke liye yah spasht hona zaroori hai toh peena bahut zaroori hai ek jungle mein ek shot it is ko aid kar de aur paidal chalne ke liye aur uske alava kamakhya gaadi le jaane ke liye aur pintu ke baad sex kare sexy nikal sakta ki kal body parafekshan mausam ki jaankari mein bahut zyada ritrekshan ke question 2 kilo 1 kilo meter ki unko ek baar chance diya jata hai lekin deepak jo hamare london

फॉरेस्ट की फ्रंट स्क्रीन के लक्षण को विश करने के लिए आवश्यकता जो रहती है वह जल्दी बॉडी होत

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  333
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
आईडेंटिफाई द सॉन्ग ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!