जर्मन के DI (डोमेस्टिक इंटेलिजेंस) के प्रमुख हंस-जॉर्ज ने कहा की ISIS की पत्नियां और बच्चों को भी जिहादियों के रूप में पहचाना जाना चाहिए, इसके बारे में आपका क्या कहना हैं?...


play
user

Nirmal Gupta

M Phil . Sanskrit & Hindi Prof

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर जर्मनी में किसी भी टेररिस्ट ग्रुप के बारे में ऐसा कहा है कि किसी भी टेररिस्ट ग्रुप के मेंबर्स की पत्नियों और बच्चों को भी उस तरह से माना जाना चाहिए तो मेरा ख्याल है यह बिल्कुल ठीक ही कहा है ऐसा ही होना चाहिए अगर किसी कंट्री के प्रेसिडेंट की वजह से उसकी पूरी फैमिली को फर्स्ट फैमिली का दर्जा दिया जाता है ट्रंप की बेटी तक को इतना इंटरनेशनल को आराम मिलता है तो इसी तरह से भारत में प्राइम मिनिस्टर हैं उनकी हम फैमिली को हमेशा प्रेग्नेंट की फैमिली को गर्म देते हैं तो सब देशों में ऐसा ही होता है तो उसी तरह से जो भी टेररिस्ट है उनकी भी पत्नी और बच्चों को उस तरह का ही ट्रीटमेंट मिलना चाहिए यह बिल्कुल ठीक कहा है उन्होंने मेरे हिसाब से इस में कुछ भी गलत नहीं है

agar germany mein kisi bhi terrorist group ke bare mein aisa kaha hai ki kisi bhi terrorist group ke members ki patniyon aur bacchon ko bhi us tarah se mana jana chahiye toh mera khayal hai yah bilkul theek hi kaha hai aisa hi hona chahiye agar kisi country ke president ki wajah se uski puri family ko first family ka darja diya jata hai trump ki beti tak ko itna international ko aaram milta hai toh isi tarah se bharat mein prime minister hain unki hum family ko hamesha pregnant ki family ko garam dete hain toh sab deshon mein aisa hi hota hai toh usi tarah se jo bhi terrorist hai unki bhi patni aur bacchon ko us tarah ka hi treatment milna chahiye yah bilkul theek kaha hai unhone mere hisab se is mein kuch bhi galat nahi hai

अगर जर्मनी में किसी भी टेररिस्ट ग्रुप के बारे में ऐसा कहा है कि किसी भी टेररिस्ट ग्रुप के

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  27
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!