राहुल गांधी ने किस वजह से गुजरात सभा में महंगाई कीमत की बात उठाई?...


play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुजरात चुनाव तारीख से स्टार्ट होने वाले हैं अब राहुल गांधी को एजेंसी बोलने के लिए बात करने के लिए उन्हें अपने टॉपिक्स बता रखी है और उसका रखिए अपने वॉइस में अपने खेतों में परेशान बजे से होने का इसमें बोलने की क्या क्या कारोबार करने वाली लोकसभा हो गया गुजरातियों सैलरी के मुद्दे उठाए महंगाई के हिसाब से दुनिया वालों की कीमत के बावजूद भी भारत में पेट्रोल के दाम बढ़ते जा रहे हैं सब्जी शिक्षा है सबसे महंगा भेजो कि मोदी जी महंगाई कम करने की बात करते हैं आप से बोलूं और लेट करती हो मित्रों जो प्राइम मिनिस्टर मोदी है उनके इस निश्चय जो भी 30 तारीख को नहीं दिया था उसकी उन्होंने बोला था कि भारत का जीडीपी जो है वह बढ़ गया है तो उसे उसी से करो नेट करना चाहते हैं दोनों को क्योंकि उनके हिसाब से कोई भी इकनोमिक डेवलपमेंट नहीं हुआ है मिस्टर मोदी की सरकार में तो उन्होंने मुझसे कहा तूने इसको उस चीज से को डिलीट करते हुए इस मुद्दे को

gujarat chunav tarikh se start hone waale hain ab rahul gandhi ko agency bolne ke liye baat karne ke liye unhe apne topics bata rakhi hai aur uska rakhiye apne voice mein apne kheton mein pareshan baje se hone ka isme bolne ki kya kya karobaar karne wali lok sabha ho gaya gujratiyon salary ke mudde uthye mahangai ke hisab se duniya walon ki kimat ke bawajud bhi bharat mein petrol ke daam badhte ja rahe hain sabzi shiksha hai sabse mehnga bhejo ki modi ji mahangai kam karne ki baat karte hain aap se bolu aur late karti ho mitron jo prime minister modi hai unke is nishchay jo bhi 30 tarikh ko nahi diya tha uski unhone bola tha ki bharat ka gdp jo hai vaah badh gaya hai toh use usi se karo net karna chahte hain dono ko kyonki unke hisab se koi bhi economic development nahi hua hai mister modi ki sarkar mein toh unhone mujhse kaha tune isko us cheez se ko delete karte hue is mudde ko

गुजरात चुनाव तारीख से स्टार्ट होने वाले हैं अब राहुल गांधी को एजेंसी बोलने के लिए बात करने

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहुल गांधी ने किस वजह से गुजरात सभा में महंगाई की कीमत महंगाई कीमत की बात उठाई तो मुझे लगता है कि जैसा कि आप को खुद पता है कि गुजरात में अभी इलेक्शन होने वाला है क्या और कहीं ना कहीं गुजरात में कांग्रेस को लग रहा है कि नहीं वह कम बैक जरूर करेगी तो जब भी कभी इलेक्शन होता है तो इस तरह के मुद्दे स्पेशल जॉब का प्राइस राइज का जो शुरू होता है वह हमेशा रेप किया जाता है कि कोई पॉलिटिकल पार्टी हो जब यूपी की गवर्नमेंट टी सेंटर में तो BJP के द्वारा इंडिया के द्वारा इस प्राइस प्राइस को ही बनाया गया था आज गुजरात इलेक्शन में बीजेपी भी गवर्मेंट तो कांग्रेस के द्वारा बनाया जा रहा है तो इसमें मुझे लगता है केवल पॉलिटिकल माइलेज ऑफ़ पोलिटिकल बेनिफिट लेने के लिए इस तरह के शूज को उठाया जाता है कि कल 2 प्राइस लाइक कमेंट शेयर सुबह जो मेन मुझे नहीं लगता कि इतनी जल्दी कंट्रोल में आएगा आज कुछ चीजों पर जरूर कंट्रोल किया जा सकता है लेकिन प्राइस राइज कोई ऐसी चीज़ नहीं है कि एकदम आप चाहो एकदम चीजें जीरो पर हो जाए तो मुझे नहीं लगता लेकिन हां यह जरुर है कि इस जो इन्होंने जो राहुल गांधी जी ने जो उठाया कहीं ना कहीं हमको इस चीज का जरूर बेनिफिट होगा

rahul gandhi ne kis wajah se gujarat sabha mein mahangai ki kimat mahangai kimat ki baat uthayi toh mujhe lagta hai ki jaisa ki aap ko khud pata hai ki gujarat mein abhi election hone vala hai kya aur kahin na kahin gujarat mein congress ko lag raha hai ki nahi vaah kam back zaroor karegi toh jab bhi kabhi election hota hai toh is tarah ke mudde special job ka price rahije ka jo shuru hota hai vaah hamesha rape kiya jata hai ki koi political party ho jab up ki government T center mein toh BJP ke dwara india ke dwara is price price ko hi banaya gaya tha aaj gujarat election mein bjp bhi government toh congress ke dwara banaya ja raha hai toh isme mujhe lagta hai keval political mileage of political benefit lene ke liye is tarah ke shoes ko uthaya jata hai ki kal 2 price like comment share subah jo main mujhe nahi lagta ki itni jaldi control mein aayega aaj kuch chijon par zaroor control kiya ja sakta hai lekin price rahije koi aisi cheez nahi hai ki ekdam aap chaho ekdam cheezen zero par ho jaaye toh mujhe nahi lagta lekin haan yah zaroor hai ki is jo inhone jo rahul gandhi ji ne jo uthaya kahin na kahin hamko is cheez ka zaroor benefit hoga

राहुल गांधी ने किस वजह से गुजरात सभा में महंगाई की कीमत महंगाई कीमत की बात उठाई तो मुझे लग

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  26
WhatsApp_icon
user

Animesh Sapate

UPSC Coach

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अब गुजरात में चुनाव का माहौल है और किसी भी विरोधी पक्ष का यह काम होता है कि वह सरकार के विरोध में बोले अब जबकि गुजरात एक व्यवसाय प्रधान आ जाए और माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का घर भी इसलिए गुजरात के लोगों के मन में इस सरकार से काफी उम्मीदें थी लेकिन नोटबंदी और जीएसटी के कारण व्यापारियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है और उनके मन में हम पर अन्याय हुआ है इसे भावनाएं जोगी कांग्रेस ने इस बात को बखूबी पकड़ा और इसका फायदा उठाने के लिए गुजरात रैली में महंगाई का मुद्दा उपस्थित किया जिससे ज्यादा से ज्यादा व्यापारियों के वोट को अपनी तरफ मोड़ सके थैंक यू

dekhiye ab gujarat mein chunav ka maahaul hai aur kisi bhi virodhi paksh ka yah kaam hota hai ki vaah sarkar ke virodh mein bole ab jabki gujarat ek vyavasaya pradhan aa jaaye aur mananiya pradhanmantri narendra modi ji ka ghar bhi isliye gujarat ke logo ke man mein is sarkar se kaafi ummeeden thi lekin notebandi aur gst ke karan vyapariyon ko kaafi nuksan uthana pada hai aur unke man mein hum par anyay hua hai ise bhaavnaye jogi congress ne is baat ko bakhubi pakada aur iska fayda uthane ke liye gujarat rally mein mahangai ka mudda upasthit kiya jisse zyada se zyada vyapariyon ke vote ko apni taraf mod sake thank you

देखिए अब गुजरात में चुनाव का माहौल है और किसी भी विरोधी पक्ष का यह काम होता है कि वह सरकार

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  26
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!