68 साल पुराने अयोध्या केस की निर्णायक सुनवाई आज से सुप्रीम कोर्ट में होगी शुरू, आपको क्या लगता है की सुप्रीम कोर्ट क्या निर्णय ले सकती है?...


user
Play

Likes  47  Dislikes    views  1612
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:24

Likes  230  Dislikes    views  2560
WhatsApp_icon
user

Ghanshyamvan

मंदिर सेवा

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिर कोर्ट ने अपना फैसला राम मंदिर का निर्माण होगा उसके लिए समिति बनाई जा चुकी है खाने वाला है

phir court ne apna faisla ram mandir ka nirmaan hoga uske liye samiti banai ja chuki hai khane vala hai

फिर कोर्ट ने अपना फैसला राम मंदिर का निर्माण होगा उसके लिए समिति बनाई जा चुकी है खाने वाला

Romanized Version
Likes  94  Dislikes    views  2341
WhatsApp_icon
user
2:42
Play

Likes  74  Dislikes    views  1475
WhatsApp_icon
play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल देखे जो अयोध्या का मौत आ रहा है वह स्टार्टिंग से ही हॉटस्पॉट रहा है हमेशा इसमें जैसे जैसे गवर्नमेंट चेंज होती है इस ग्रुप में सब देख उठाया जाता है और उसको बुलाया जाता है उसको पॉलिटिकल रुप दिया जाता है कोई कंफ्यूजन नहीं निकलता है कभी भी नहीं निकला है और बहुत सारे लोग आपस में लड़की ही खत्म हो जाते हैं तो अभी से यह कह देना क्योंकि आज जो जो डिसिशन आया है वह 3 जजों की बेंच में सुप्रीम कोर्ट की ने बोला है कि तभी एक लेक्चर इसका कारण शेयरिंग करेंगे ओवर द डे स्पीच को आयोजित साइंटिफिक नेम की जा रही है हिंदुओं के द्वारा भी और मुस्लिम के द्वारा भी ठीक है तो अब यह डिसिशन लेने यह डिसिशन UP कितने टाइम पर कॉल किया तब 2 महीने की छुट्टी पर गया है तब तक बीच में क्लास नहीं कह सकते सुप्रीम कोर्ट का डिसिशन करेगा उनकी स्टैंड में क्या क्या चेंजेस को देखते हैं और क्या नहीं देते तो इससे पहले कहना बहुत मुश्किल है

bill dekhe jo ayodhya ka maut aa raha hai vaah starting se hi hotspot raha hai hamesha isme jaise jaise government change hoti hai is group mein sab dekh uthaya jata hai aur usko bulaya jata hai usko political roop diya jata hai koi confusion nahi nikalta hai kabhi bhi nahi nikala hai aur bahut saare log aapas mein ladki hi khatam ho jaate hain toh abhi se yah keh dena kyonki aaj jo jo decision aaya hai vaah 3 judgon ki bench mein supreme court ki ne bola hai ki tabhi ek lecture iska karan sharing karenge over the day speech ko ayojit scientific name ki ja rahi hai hinduon ke dwara bhi aur muslim ke dwara bhi theek hai toh ab yah decision lene yah decision UP kitne time par call kiya tab 2 mahine ki chhutti par gaya hai tab tak beech mein class nahi keh sakte supreme court ka decision karega unki stand mein kya kya changes ko dekhte hain aur kya nahi dete toh isse pehle kehna bahut mushkil hai

बिल देखे जो अयोध्या का मौत आ रहा है वह स्टार्टिंग से ही हॉटस्पॉट रहा है हमेशा इसमें जैसे ज

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  49
WhatsApp_icon
user
0:15
Play

Likes  1  Dislikes    views  24
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या केस जो कि काफी लंबे अरसे से पेंडिंग रहा है और काफी बारिश की सुनवाई भी हो चुकी है बहुत ही पेचीदा मामला है और इसकी शुरुआत हुई थी सोलहवीं सदी में जब बाबर ने वहां पर एक मंदिर जोकि स्थाई रूप से था वहां पर उधर एक मस्जिद बना दिया था और वहां पर बहुत लोगों की आस्था से जुड़े हुए हिंदुओं की भी और मुस्लिमों की भी तो उस वक्त से काफी सारे दंगे फसाद भी हुए हैं कोशिश में हैं और पिछले 30 सालों की अगर बात की जाए तो बहुत लोगों की जानें दी गई हैं लेकिन यह मामला जब भी कोर्ट में पेश हुआ है तो काफी भूख लगी है से सुनवाई में और दोनों ही पक्षों ने अपनी राय दी है अपने तर्क पेश किए हैं और अभी मामला जो है सुप्रीम कोर्ट में आ गया है इसकी एक सुनवाई जो है आज हुई है और एक सुनवाई जो है आगे के लिए काफी टाल दी गई है जो फरवरी में होगी और जब भी नई सरकार आई है उसने कुछ कोशिश की है पूरी केसे एक पॉलिटिकल आ जल्दी आ जाए और एयरपोर्ट जाने से उसके जाए जो भी सही नहीं है लेकिन जहां तक मुझे लगता है सुप्रीम कोर्ट पूरी तरह धर्मनिरपेक्ष होकर दोनों पक्षियों की बातों को ध्यान में रखते हुए SBI अपना एक बढ़िया नैना देवी जो दोनों ही पक्षों के लिए बेहतर होगा और इसको हमेशा हमेशा के लिए खत्म कर देगी यह जो दंगे हो रहे हैं यह रुक जाएंगे मुझे ऐसा ही लगता है धन्यवाद

ayodhya case jo ki kaafi lambe arase se pending raha hai aur kaafi barish ki sunvai bhi ho chuki hai bahut hi pechida maamla hai aur iski shuruat hui thi solahavin sadi mein jab babar ne wahan par ek mandir joki sthai roop se tha wahan par udhar ek masjid bana diya tha aur wahan par bahut logo ki astha se jude hue hinduon ki bhi aur muslimo ki bhi toh us waqt se kaafi saare dange fasad bhi hue hain koshish mein hain aur pichle 30 salon ki agar baat ki jaaye toh bahut logo ki jaane di gayi hain lekin yah maamla jab bhi court mein pesh hua hai toh kaafi bhukh lagi hai se sunvai mein aur dono hi pakshon ne apni rai di hai apne tark pesh kiye hain aur abhi maamla jo hai supreme court mein aa gaya hai iski ek sunvai jo hai aaj hui hai aur ek sunvai jo hai aage ke liye kaafi tal di gayi hai jo february mein hogi aur jab bhi nayi sarkar I hai usne kuch koshish ki hai puri kaise ek political aa jaldi aa jaaye aur airport jaane se uske jaaye jo bhi sahi nahi hai lekin jaha tak mujhe lagta hai supreme court puri tarah dharmanirapeksh hokar dono pakshiyo ki baaton ko dhyan mein rakhte hue SBI apna ek badhiya naina devi jo dono hi pakshon ke liye behtar hoga aur isko hamesha hamesha ke liye khatam kar degi yah jo dange ho rahe hain yah ruk jaenge mujhe aisa hi lagta hai dhanyavad

अयोध्या केस जो कि काफी लंबे अरसे से पेंडिंग रहा है और काफी बारिश की सुनवाई भी हो चुकी है ब

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  18
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

68 साल पुराने जो अयोध्या केस की सुनवाई सुनवाई आज सुप्रीम कोर्ट में शुरू होगी आपने बिल्कुल सही कहा बिल्कुल शुरू हो गई और इसमें सुप्रीम कोर्ट में डिसीजन में दे दिया है जैसा कि आपको पता है कि जो सुन्नी वक्फ बोर्ड के जो वकील है कपिल सिब्बल जो कांग्रेस के मिनट लीडर है उन्होंने कुछ दली नदी दलीलें दी थी सुप्रीम कोर्ट के अंदर उस दलितों की रिकॉर्डिंग सुप्रीम कोर्ट ने इसकी जो सुनवाई है वह फरवरी 2017 तक सॉरी सर फरवरी 2018 तक के लिए डाल दिया है ठीक है उनका यह कहना था कि जो शिशु को इसलिए अभी बंद किया जाए इसकी कार्रवाई आगे ना की जाए ताकि कुछ पार्टी स्कूल से पॉलिटिकल माइलेज मिला है तो इस चीज पर चर्चा करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अभी फिलहाल इस की सुनवाई को टाल दिया है फरवरी में इसकी सहारा सुनवाई स्टार्ट होगी देखते हैं इस में क्या निर्णय आता है लेकिन मुझे लगता है जो भी सुप्रीम कोर्ट निर्णय लेगा वह सब को मारना हो क्योंकि सुप्रीम कोर्ट सबसे अपेक्स बॉडी है हर व्यक्ति सुप्रीम कोर्ट में विश्वास करता हाल पॉलिटिकल पार्टी सुप्रीम कोर्ट विश्वास करती है लेकिन कहीं ना कहीं मुझे भी लगता है कि सुप्रीम कोर्ट को लोगों की भावनाओं का ख्याल रखना होगा ठीक है

68 saal purane jo ayodhya case ki sunvai sunvai aaj supreme court mein shuru hogi aapne bilkul sahi kaha bilkul shuru ho gayi aur isme supreme court mein decision mein de diya hai jaisa ki aapko pata hai ki jo sunni vakkaf board ke jo vakil hai kapil sibbal jo congress ke minute leader hai unhone kuch dali nadi dalilen di thi supreme court ke andar us dalito ki recording supreme court ne iski jo sunvai hai vaah february 2017 tak sorry sir february 2018 tak ke liye daal diya hai theek hai unka yah kehna tha ki jo shishu ko isliye abhi band kiya jaaye iski karyawahi aage na ki jaaye taki kuch party school se political mileage mila hai toh is cheez par charcha karte hue supreme court ne abhi filhal is ki sunvai ko tal diya hai february mein iski sahara sunvai start hogi dekhte hain is mein kya nirnay aata hai lekin mujhe lagta hai jo bhi supreme court nirnay lega vaah sab ko marna ho kyonki supreme court sabse apeks body hai har vyakti supreme court mein vishwas karta haal political party supreme court vishwas karti hai lekin kahin na kahin mujhe bhi lagta hai ki supreme court ko logo ki bhavnao ka khayal rakhna hoga theek hai

68 साल पुराने जो अयोध्या केस की सुनवाई सुनवाई आज सुप्रीम कोर्ट में शुरू होगी आपने बिल्कुल

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  45
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या केस की न्यायालय सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में शुरू हो गई है हरदेव जी यह सबको पता है BJP सरकार बहुत समय से राम मंदिर का किस्सा टोपे उठाती है हर चुनाव में जनता का वोट लेने के लिए लेकिन आज तक नहीं बन पाया क्योंकि सुप्रीम कोर्ट में इसकी चीज है सुप्रीम कोर्ट के लिए भी यह कर पाना क्या अयोध्या में राम मंदिर बनेगा या बाबरी मस्जिद बनेगी बेहद मुश्किल होगा क्योंकि जहां बौद्ध धर्म की जाती है और किसी भी एक धर्म पक्ष को आहत करना बहुत ही मुश्किल स्थिति होती है लेकिन क्योंकि यह न्यायिक व्यवस्था है तो यहां इमोशन से काम नहीं चलता है सच्चाई है क्या अयोध्या में राम मंदिर ही बनना चाहिए राम जी का उसमें पूरा इतिहास है जन्म हुआ था तो इसको हम नहीं भुला सकते और इसलिए सुप्रीम कोर्ट को यह निर्णय लेना पड़ेगा कि वहां पर जो भी फैसला उनके हिसाब से हो लेकिन निर्णय इस बार आएगा हर हालत में आए

ayodhya case ki nyayalaya sunvai supreme court mein shuru ho gayi hai hardev ji yah sabko pata hai BJP sarkar bahut samay se ram mandir ka kissa tope uthaati hai har chunav mein janta ka vote lene ke liye lekin aaj tak nahi ban paya kyonki supreme court mein iski cheez hai supreme court ke liye bhi yah kar paana kya ayodhya mein ram mandir banega ya babri masjid banegi behad mushkil hoga kyonki jaha Baudh dharm ki jaati hai aur kisi bhi ek dharm paksh ko aahat karna bahut hi mushkil sthiti hoti hai lekin kyonki yah nyayik vyavastha hai toh yahan emotion se kaam nahi chalta hai sacchai hai kya ayodhya mein ram mandir hi banna chahiye ram ji ka usme pura itihas hai janam hua tha toh isko hum nahi bhula sakte aur isliye supreme court ko yah nirnay lena padega ki wahan par jo bhi faisla unke hisab se ho lekin nirnay is baar aayega har halat mein aaye

अयोध्या केस की न्यायालय सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में शुरू हो गई है हरदेव जी यह सबको पता है BJP

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!