अयोध्या केस के मामले में हिन्दू-मुस्लिम की बहस शुरू क्यों हुई?...


play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या+विवाद+जो+है+भारत+के+हिंदू+और+मुस्लिम+समुदाय+के+बीच+का+तनाव+का+एक+बहुत+बड़ा+होता+रहा+है+और+देश+की+राजनीति+को+एक+लंबे+समय+से+प्रभावित+करता+चला+रहा+है+अगर+हम+सूत्रों+की+माने+ने+पढ़ाई+क्यों+की+पांच+नदियों+में+से+यह+दिल+केस+हुआ+है+और+समय-समय+पर+उसके+यहां+पर+चेंज+होते+नहीं+माना+जाता+है+रमेश+जी+न्यूज+पेपर+में+बताया+गया+है+कि+15+मिनट+1528+में+अयोध्या+में+कैसे+स्थल+पर+एक+मस्जिद+का+निर्माण+किया+गया+था+जिसे+कुछ+हिंदू+मराठी+पिक्चर+राम+का+जन्म+स्थल+मानते+हैं+समझा+जाता+है+कि+मुगल+सम्राट+बाबर+ने+मस्जिद+बनवाई+थी+जिस+कारण+इसे+बाबरी+मस्जिद+के+नाम+से+जाना+जाता+है+पहली+बार+स्थल+के+पास+सांप्रदायिक+दंगे+हुए+थे+क्योंकि+उनका+भविष्य+उन्हें+यहां+पर+दारु+के+बारे+में+जानती+और+दोनों+अलग-अलग+जगह+पूजा+करते+थे+लेकिन+उतार+तोड़+दी+गई+थी

ayodhya vivaad jo hai bharat ke hindu aur muslim samuday ke beech ka tanaav ka ek bahut bada hota raha hai aur desh ki raajneeti ko ek lambe samay se prabhavit karta chala raha hai agar hum sootron ki maane ne padhai kyon ki paanch nadiyon mein se yah dil case hua hai aur samay samay par uske yahan par change hote nahi mana jata hai ramesh ji news paper mein bataya gaya hai ki 15 minute 1528 mein ayodhya mein kaise sthal par ek masjid ka nirmaan kiya gaya tha jise kuch hindu marathi picture ram ka janam sthal maante hain samjha jata hai ki mughal samrat babar ne masjid banwaai thi jis karan ise babari masjid ke naam se jana jata hai pehli baar sthal ke paas sampradayik dange hue the kyonki unka bhavishya unhe yahan par daaru ke bare mein jaanti aur dono alag alag jagah puja karte the lekin utar tod di gayi thi

अयोध्या+विवाद+जो+है+भारत+के+हिंदू+और+मुस्लिम+समुदाय+के+बीच+का+तनाव+का+एक+बहुत+बड़ा+होता+रह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  44
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाबरी मस्जिद जो इशू है वह काफी पुराना है जब बाबर ने 1528 में बाबरी मस्जिद का निर्माण किया था ठीक है तब से यह से चलाएं अच्छा उस टाइम जो आर के लॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया है आर के लॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने जो भी सफर किया उसके कोडिंग जहां वह मस्जिद बनाई गई वहां पहले मंदिर था यानी उस मंदिर को तोड़कर उस मस्जिद का निर्माण किया गया तू यही जो पॉइंट है वही डिस्प्यूट की सबसे बड़ी बजे है यह जो चला रहा है इससे बहुत ज्यादा पोलिटिकल बेनिफिट मिला बहुत सारे पार्टी स्कोर पॉलिटिकल बेनिफिट मिला पॉलिटिशन का पॉलिटिकल करियर भी इसी बीच में बना हुआ है दूसरा क्या है कि इस मैसेज को डराने के लिए सोमनाथ यात्रा स्टार्ट की गई थी आडवाणी जी के द्वारा और 6 दिसंबर 1992 को इसको इंग्लिश कर दिया गया था कारसेवकों के द्वारा उसके बाद से यह मैटर आप का शुक्र कोर्ट में है 2012 में हाईकोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई भी की थी दो-तीन जगह स्कूटर लैंड को डिस्ट्रीब्यूट कर दिया गया था एक अखाड़ा परिषद को द्विवेदी एक सुन्नी वक्फ बोर्ड को वश में दिया गया था उसके बाद इस मैटर को सुप्रीम कोर्ट में डाल दिया गया था अब सुप्रीम कोर्ट में इस मैटर की सुनवाई चल रही है हां कल ही डिसीजन है जिसमें जो सुन्नी वक्त बोर्ड के जो वकील है कपिल सिब्बल उनका कहना है कि इस की जो शर्म आई है उसको लगभग 2019 तक टाल दिया जाए उन्हे Sky नोनी जूस की वजह बताइए मुझे बताइए किस से बहुत ज्यादा पार्टी स्कोर पॉलिटिकल माइलेज मिलना है तो इस चीज को आप पुष्प ऑन कर दीजिए लेकिन हुआ क्या कि जो सुप्रीम कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट ने इसकी जो सुनवाई फरवरी 10 फरवरी 2009 तक टाल दिया फरवरी 2019 के बाद फिर

babari masjid jo issue hai vaah kafi purana hai jab babar ne 1528 mein babari masjid ka nirmaan kiya tha theek hai tab se yah se chalaye accha us time jo rss ke logical survey of india hai rss ke logical survey of india ne jo bhi safar kiya uske coding jahan vaah masjid banai gayi wahan pehle mandir tha yani us mandir ko todkar us masjid ka nirmaan kiya gaya tu yahi jo point hai wahi dispute ki sabse badi baje hai yah jo chala raha hai isse bahut zyada political benefit mila bahut saare party score political benefit mila politician ka political career bhi isi beech mein bana hua hai doosra kya hai ki is massage ko darane ke liye somnath yatra start ki gayi thi advani ji ke dwara aur 6 december 1992 ko isko english kar diya gaya tha karsevakon ke dwara uske baad se yah matter aap ka shukra court mein hai 2012 mein highcourt ne allahabad highcourt mein sunvai bhi ki thi do teen jagah scooter land ko distribyut kar diya gaya tha ek akhada parishad ko dwivedi ek sunni vakkaf board ko vash mein diya gaya tha uske baad is matter ko supreme court mein daal diya gaya tha ab supreme court mein is matter ki sunvai chal rahi hai haan kal hi decision hai jisme jo sunni waqt board ke jo vakil hai kapil sibbal unka kehna hai ki is ki jo sharm I hai usko lagbhag 2019 tak tal diya jaaye unhe Sky noni juice ki wajah bataiye mujhe bataiye kis se bahut zyada party score political mileage milna hai toh is cheez ko aap pushp on kar dijiye lekin hua kya ki jo supreme court ne supreme court ne iski jo sunvai february 10 february 2009 tak tal diya february 2019 ke baad phir

बाबरी मस्जिद जो इशू है वह काफी पुराना है जब बाबर ने 1528 में बाबरी मस्जिद का निर्माण किया

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हमें पूरा मामला देखे तो अयोध्या में बाबर के जमाने से मस्जिद आ रहा था वह कई सारे लोगों को मानना यह था कि वह राम जन्म भूमि है और वह फिल्मी को बाबर ने तोड़ा है और वहां पर वह तोड़कर मस्जिद बनाया गया है और भारत के आजादी के 2 साल बाद 1949 में वह मस्जिद में राम भगवान की मूर्तियां अचानक से लगा दी गई कुछ लोगों द्वारा और 1950 में फरीदाबाद के सिविल कोर्ट में यह एक फाइल सूट वीजा पर गोपाल समाज विरासत ने यह बताया कि वहां पर हमें राम पूजा कर देनी देनी चाहिए और उसके बाद 1959 में निर्मोही अखाड़ा ने यह वापस से यह कहा कि वहां पर मंदिर बनना चाहिए और वहां पर ही हमें पूरा मंदिर बनेगा या मस्जिद नहीं रहना चाहिए जो कि 1961 में वापस से सूफी और सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने बताया कि वहां पर मस्जिद है और यह किस चलता रहा और 1986 में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट का जजमेंट आया था कि वह साइड जो है हिंदू युवा पर हिंदू आ कर दो क्या कर सकते हैं wapin दुआ कि अपनी प्रार्थनाएं कर सकते हैं और 1992 में बाबरी मस्जिद को वापस से थोड़ा क्या करते वक्त क्या कर सकते जो हिंदुत्व लोग थे उन्होंने तोड़ा गया और 2 FIR भी दर्ज कराई गई थी एल के आडवाणी के खिलाफ और मुरली मनोहर जोशी के खिलाफ और उसके बाद से 1993 में गवाह सरकार ने वह पूरी एरिया वीडियो पूरा राम जन्मभूमि आम के सदुपयोग मस्जिद ले लिया और यह इसके लिए सुप्रीम कोर्ट की मांग करी थी और उसके बाद सीबीआई ने चार्जशीट फाइल करी थी कि कौन है और कौन सी तारीख की आधार पर आडवाणी जी और मनोहर लाल मोहन जोशी के खिलाफ केस दर्ज हुआ था और तब से लेकर अब तक की एक-एक चढ़ता ही आ रहा है और यह माना जाता है फेब्रुअरी में इसका डिसीजन आएगा

agar hamein pura maamla dekhe toh ayodhya mein babar ke jamaane se masjid aa raha tha vaah kai saare logon ko manana yah tha ki vaah ram janam bhoomi hai aur vaah filmy ko babar ne toda hai aur wahan par vaah todkar masjid banaya gaya hai aur bharat ke azadi ke 2 saal baad 1949 mein vaah masjid mein ram bhagwan ki murtiya achanak se laga di gayi kuch logon dwara aur 1950 mein faridabad ke civil court mein yah ek file suit visa par gopal samaaj virasat ne yah bataya ki wahan par hamein ram puja kar deni deni chahiye aur uske baad 1959 mein nirmohi akhada ne yah wapas se yah kaha ki wahan par mandir banna chahiye aur wahan par hi hamein pura mandir banega ya masjid nahi rehna chahiye jo ki 1961 mein wapas se sufi aur central vakkaf board ne bataya ki wahan par masjid hai aur yah kis chalta raha aur 1986 mein district court ka judgement aaya tha ki vaah side jo hai hindu yuva par hindu aa kar do kya kar sakte hain wapin dua ki apni prarthanaen kar sakte hain aur 1992 mein babari masjid ko wapas se thoda kya karte waqt kya kar sakte jo hindutv log the unhone toda gaya aur 2 FIR bhi darj karai gayi thi el ke advani ke khilaf aur murli manohar joshi ke khilaf aur uske baad se 1993 mein gavah sarkar ne vaah puri area video pura ram janmbhoomi aam ke sadupyog masjid le liya aur yah iske liye supreme court ki maang kari thi aur uske baad cbi ne chargesheet file kari thi ki kaun hai aur kaun si tarikh ki aadhaar par advani ji aur manohar lal mohan joshi ke khilaf case darj hua tha aur tab se lekar ab tak ki ek ek chadhta hi aa raha hai aur yah mana jata hai february mein iska decision aayega

अगर हमें पूरा मामला देखे तो अयोध्या में बाबर के जमाने से मस्जिद आ रहा था वह कई सारे लोगों

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

Likes    Dislikes    views  31
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!