ज़िंदगी में जीने के कैसे तरीके होते हैं वह कैसे जीना चाहिए?...


user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

2:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी में जीने के लिए कैसे तरीके होते हैं वह कैसे जीना चाहिए जिंदगी को जीने के लिए अच्छा तरीका भी है और बुरा कभी है अपराधी बन कर भी जिंदगी जी जाती है और किसी का खड़ा करके सेवन करते जिंदगी बनकर जिंदगी जी सकते हैं और निस्वार्थ होकर भी जिंदगी जी सकता यह तो आप पर डिपेंड करता है क्या आप किस तरीके की जिंदगी जीना चाहते हैं क्योंकि हर एक को अपना अपना स्टाइल अच्छा लगता है लुटेरे हैं उनको उसी में मजा आ रहा है पर मेरे हिसाब से बस जिंदगी बिल्कुल अपने लिए ही दूसरों के लिए नहीं समाज के लिए ही नहीं खुद अपने लिए बेकार है नर्क है क्योंकि आप कितनी देर के अंत में ऐसे लोगों के जो जगह है वह जेल है जेल की सलाखें तो क्या करेंगे तो जिंदगी जीने तो जिंदगी में चैन जीने के लिए अच्छा पॉजिटिव अपना तेरी जिसमें आप भी खुश रहे हैं दूसरे भी खुश रहे हैं जिसमें आपका भी भला हो दूसरा कर दो मर जाते मीठा बोलो प्रेम से बोलो प्रेम से बात करें तो आप भी कुछ दूसरे भी कुछ क्रोध नहीं करो तो आप भी खुश दूसरे भी कुछ चिंता नहीं करो तो आप भी खुश आपका जीवन भी खुश आप भी काम में बरकत होगी इतनी करो किसी से किसी की रेखा को छोटे करने की कोशिश नहीं करो तो आप भी खुश होती कर अपनी रेखा बढ़ाने की कोशिश करो जितने भी मन के विकार है रुको जीत सकते हो एक अच्छी समझ के उसे टेस्ट में पॉजिटिव दृष्टिकोण से पॉजिटिव इरादों से जिंदगी के अच्छी बनाता

zindagi me jeene ke liye kaise tarike hote hain vaah kaise jeena chahiye zindagi ko jeene ke liye accha tarika bhi hai aur bura kabhi hai apradhi ban kar bhi zindagi ji jaati hai aur kisi ka khada karke seven karte zindagi bankar zindagi ji sakte hain aur niswarth hokar bhi zindagi ji sakta yah toh aap par depend karta hai kya aap kis tarike ki zindagi jeena chahte hain kyonki har ek ko apna apna style accha lagta hai lutere hain unko usi me maza aa raha hai par mere hisab se bus zindagi bilkul apne liye hi dusro ke liye nahi samaj ke liye hi nahi khud apne liye bekar hai nark hai kyonki aap kitni der ke ant me aise logo ke jo jagah hai vaah jail hai jail ki salaakhen toh kya karenge toh zindagi jeene toh zindagi me chain jeene ke liye accha positive apna teri jisme aap bhi khush rahe hain dusre bhi khush rahe hain jisme aapka bhi bhala ho doosra kar do mar jaate meetha bolo prem se bolo prem se baat kare toh aap bhi kuch dusre bhi kuch krodh nahi karo toh aap bhi khush dusre bhi kuch chinta nahi karo toh aap bhi khush aapka jeevan bhi khush aap bhi kaam me barkat hogi itni karo kisi se kisi ki rekha ko chote karne ki koshish nahi karo toh aap bhi khush hoti kar apni rekha badhane ki koshish karo jitne bhi man ke vikar hai ruko jeet sakte ho ek achi samajh ke use test me positive drishtikon se positive iradon se zindagi ke achi banata

जिंदगी में जीने के लिए कैसे तरीके होते हैं वह कैसे जीना चाहिए जिंदगी को जीने के लिए अच्छा

Romanized Version
Likes  806  Dislikes    views  11525
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!