आकृति की परिभाषा दीजिए, इसकी आवश्यकता बताइए एवं इसके आवश्यक तत्व बताइए?...


play
user

shekhar11

Volunteer

1:08

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अकृत जिसे इंग्लिश में टॉर्च कहते हैं देखिए यह एक ऐसे दोषपूर्ण कार्य होते हैं जो संविदा के उल्लंघन से संबंधित ना हो और ना ही अपराधी को अब कृत का प्रयोग कानून में किसी ऐसे कार अथवा छाती के अर्थ में होता है जिसकी अपने निश्चित विशेषताएं होती है मुख्य विशेषता यह है कि उसका प्रतिकार शादी पूर्ण के द्वारा संभव होता था कारावास भेजने की आवश्यकता ना देखा जाए तो अगर इनकी विशेषताए की बात की जाए आवश्यक तत्व की बात किया था प्रीत किसी व्यक्ति के अधिकार का अतिक्रमण अथवा उसके प्रति किसी अन्य व्यक्ति के कर्तव्य क्या उल्लंघन है इसका प्रतिकार व्यवहारवाद द्वारा हो सकता है देखा जाए तो अब कृत और अपराध में काफी अंतर होते हैं तथा अपराध के सिद्धांत एवं प्रक्रिया दोनों में अंतर है प्रीत छतिया कर्तव्य का वह लंदन है इसका संबंध व्यक्ति से होता है और वह व्यक्ति अब कारों द्वारा शादीपुर का अधिकारी होता है लेकिन अपराध लोग कर्तव्य का उल्लंघन समझा जाता है और इसके लिए समाज अखबार आज अपराधी को दंड देते हैं

akrut jise english mein torch kehte hain dekhie yeh ek aise doshpurna karya hote hain jo samvida ke ullanghan se sambandhit na ho aur na hi apradhi ko ab trit ka prayog kanoon mein kisi aise car athva chhati ke arth mein hota hai jiski apne nishchit visheshtayen hoti hai mukhya visheshata yeh hai ki uska pratikar shadi poorn ke dwara sambhav hota tha karavas bhejne ki avashyakta na dekha jaye toh agar inki visheshtaye ki baat ki jaye aavashyak tatva ki baat kiya tha preet kisi vyakti ke adhikaar ka atikraman athva uske prati kisi anya vyakti ke kartavya kya ullanghan hai iska pratikar vyavaharvad dwara ho sakta hai dekha jaye toh ab trit aur apradh mein kaafi antar hote hain tatha apradh ke siddhant evam prakriya dono mein antar hai preet chatiya kartavya ka wah london hai iska sambandh vyakti se hota hai aur wah vyakti ab kaaron dwara shadipur ka adhikari hota hai lekin apradh log kartavya ka ullanghan samjha jata hai aur iske liye samaj akhbaar aaj apradhi ko dand dete hain

अकृत जिसे इंग्लिश में टॉर्च कहते हैं देखिए यह एक ऐसे दोषपूर्ण कार्य होते हैं जो संविदा के

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  17
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
avashyakta ki paribhasha ; paribhasha dijiye ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!