करनी सेना की धमकियों के कारण प्रसून जोशी जयपुर साहित्य उत्सव से बाहर हो गए। क्या करनी सेना पागल हो चुकी है? क्यों?...


play
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:30

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रसून जोशी जी का जयपुर साहित्य उत्सव में ना जाना करणी सेना का कारण नहीं है, उनका कारण यह है कि वह इस समय एक पद पर विराजमान है और उस पद की गरिमा रखने के लिए उन्हें वहां नहीं जाना चाहिए था| सबसे बड़ी बात यह है कि अगर कोई आदमी अगर आप को रोकता है तो इसका मतलब यह नहीं है कि अगर आप वो चीज़ फॉलो करें, तो उसी व्यक्ति के लिए किया है| करणी सेना तो आपको पता ही है क्या कर रही है लेकिन प्रसून जोशी जी बहुत इंटेलेक्चुअल आदमी है, बुद्धिमान व्यक्ति हैं, उन्हें पता है कि किस जगह जाकर उनसे किस तरह के सवाल पूछे जा सकते हैं? अगर वहां पर जाते जयपुर लिटरेचर में तो उनसे दो सवाल पूछे जाते कि उन्होंने क्यों पास की? पास कर दी तो उसके बाद ऐसा क्यों हो रहा है? या जिस तरह की डिप्लोमेटिक जवाब देने के लिए वह तैयार अभी थे नहीं इसलिए वहां नहीं गए| इंसान कभी न कभी अपनी लाइफ में थर्ड फ्रंट से निकलने की कोशिश करता है, तो प्रसून जोशी जी ने भी यही कोशिश की है| इसमें कोई बड़ी बात नहीं है और ना ही इतनी छोटी सी बात को माइंड करना चाहिए| नहीं गए तो नहीं गए, कोई दिक्कत नहीं है और बाकी जो साहित्यकार है या महान व्यक्ति है, नेता है, अभिनेता है, अच्छे-अच्छे लोग गए हुए वहां पर लिटरेचर में तो उनका भाषण भी काफी इंजॉय करने लायक रहा| तो मुझे लगता नहीं है प्रसून जोशी जी को आप लोगो को इस तरह के बारे में सोचना चाहिए कि करणी सेना से डर गए हैं, ऐसा कुछ नहीं है| हमारे संविधान ने हमें कॉफी राइट्स दे रखे है और वह जिस तरह के पद पर बैठे हैं, वहां चाहे करणी सेना आ जाए, चाहे कोई और नेता आ जाए उन्हें पद से हटाना और उन्हें किसी भी तरह की क्षति पहुंचाना लगभग असंभव है, धन्यवाद|

prasoon joshi ji ka jaipur sahitya utsav mein na jana karni sena ka karan nahi hai unka karan yah hai ki vaah is samay ek pad par viraajamaan hai aur us pad ki garima rakhne ke liye unhe wahan nahi jana chahiye tha sabse badi baat yah hai ki agar koi aadmi agar aap ko rokta hai toh iska matlab yah nahi hai ki agar aap vo cheez follow karen toh usi vyakti ke liye kiya hai karni sena toh aapko pata hi hai kya kar rahi hai lekin prasoon joshi ji bahut intellectual aadmi hai buddhiman vyakti hain unhe pata hai ki kis jagah jaakar unse kis tarah ke sawaal pooche ja sakte hain agar wahan par jaate jaipur literature mein toh unse do sawaal pooche jaate ki unhone kyon paas ki paas kar di toh uske baad aisa kyon ho raha hai ya jis tarah ki diplometik jawab dene ke liye vaah taiyar abhi the nahi isliye wahan nahi gaye insaan kabhi na kabhi apni life mein third front se nikalne ki koshish karta hai toh prasoon joshi ji ne bhi yahi koshish ki hai isme koi badi baat nahi hai aur na hi itni choti si baat ko mind karna chahiye nahi gaye toh nahi gaye koi dikkat nahi hai aur baki jo sahityakaar hai ya mahaan vyakti hai neta hai abhineta hai acche acche log gaye hue wahan par literature mein toh unka bhashan bhi kaafi enjoy karne layak raha toh mujhe lagta nahi hai prasoon joshi ji ko aap logo ko is tarah ke bare mein sochna chahiye ki karni sena se dar gaye hain aisa kuch nahi hai hamare samvidhan ne hamein coffee rights de rakhe hai aur vaah jis tarah ke pad par baithe hain wahan chahen karni sena aa jaaye chahen koi aur neta aa jaaye unhe pad se hatana aur unhe kisi bhi tarah ki kshati pahunchana lagbhag asambhav hai dhanyavad

प्रसून जोशी जी का जयपुर साहित्य उत्सव में ना जाना करणी सेना का कारण नहीं है, उनका कारण यह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  187
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात बिल्कुल सत्य है कि करणी सेना बहुत लोगों को बहुत ही धमकियां दे रही है चाय पद्मावत के रिलीज की वजह से चाहे वह मूवी के एक्टर्स डायरेक्टर और प्रोड्यूसर हो या फिर जॉब प्रसून जोशी जी चौकी सीबीएफसी के हेड है आजकल और उन्होंने इस मूवी को पास करके रिलीज के लिए पास किया है और उन्होंने ने सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट को भी बहुत सराहना दी है इस मूवी के लिए के यहां इस मूवी को पूरे देश में डिलीट करना चाहिए और यह बहुत ही अच्छी मूवी है और जो आप कह रहे हैं कि कटनी से का पागल हो चुकी है तो मेरे हिसाब से जिस दिन से करणी सेना ने इस मूवी के लिए विरोध शुरू किया था और उन्होंने सेट पर जाकर भंसाली के साथ गलत व्यवहार किया था वह सेट की चीजों को तोड़ दिया था काफी कुछ हंगामा भी किया था तो तभी से वह पागल हो चुके हैं और उनको यह बात समझ में नहीं आ पा रही है कि अगर आपने कोई चीज देखी नहीं है आपको किसी चीज के बारे में पता ही नहीं है तो विरोध किस बेसिस पर कर रहे हैं और बेतुकी बात हुई थी आपसे शायद के मतलब पर है शायद की वजह से विरोध कर रहे हैं कि शायद ऐसा है या शायद उसमें कुछ गलत है क्योंकि जब तक आपको कोई चीज का ठोस सबूत है तो विरोध कर रही है तो यह तो आप ही पागल हुए ना क्यों आप ही सोच पर सवाल उठने चाहिए क्या आप ऐसा क्यों कर रहे हैं आपको सब कुछ पता ही नहीं है और अब चाहे जो कि cbse ने मूवी पास कर दिया और यह रिलीज के लिए तैयार हुई तो भंसाली जी ने करनी सेना के चीफ को बुलाकर इनविटेशन दिया मूवी देखने आने के लिए करणी सेना के जो चीज थे उन्होंने इस मूवी को देखा और उन्हें बहुत पसंद है क्योंकि इसमें राजपूतों को बहुत ही अच्छे ढंग से दिखाया गया है उनके जो बरेली है को बहुत अच्छे ढंग से दिखाया गया है तो अब क्या हो गया अब क्या बात हो गई जो आप ने विरोध करना एकदम बंद कर दिया और आप के चीफ ने सभी को अच्छा कहा है तो यह तो बहुत ही पागलपंती की बात है कि आप पहले विरोध कर रहे थे और जब आपको पता चला तो आपने विरोध बंद कर दिया

yah baat bilkul satya hai ki karni sena bahut logo ko bahut hi dhamkiyan de rahi hai chai padmavat ke release ki wajah se chahen vaah movie ke actors director aur produecer ho ya phir job prasoon joshi ji chowki CBFC ke head hai aajkal aur unhone is movie ko paas karke release ke liye paas kiya hai aur unhone ne supreme court ke judgement ko bhi bahut sarahana di hai is movie ke liye ke yahan is movie ko poore desh mein delete karna chahiye aur yah bahut hi achi movie hai aur jo aap keh rahe hain ki katni se ka Pagal ho chuki hai toh mere hisab se jis din se karni sena ne is movie ke liye virodh shuru kiya tha aur unhone set par jaakar bhansali ke saath galat vyavhar kiya tha vaah set ki chijon ko tod diya tha kaafi kuch hungama bhi kiya tha toh tabhi se vaah Pagal ho chuke hain aur unko yah baat samajh mein nahi aa paa rahi hai ki agar aapne koi cheez dekhi nahi hai aapko kisi cheez ke bare mein pata hi nahi hai toh virodh kis basis par kar rahe hain aur betuki baat hui thi aapse shayad ke matlab par hai shayad ki wajah se virodh kar rahe hain ki shayad aisa hai ya shayad usme kuch galat hai kyonki jab tak aapko koi cheez ka thos sabut hai toh virodh kar rahi hai toh yah toh aap hi Pagal hue na kyon aap hi soch par sawaal uthane chahiye kya aap aisa kyon kar rahe hain aapko sab kuch pata hi nahi hai aur ab chahen jo ki cbse ne movie paas kar diya aur yah release ke liye taiyar hui toh bhansali ji ne karni sena ke chief ko bulakar invitation diya movie dekhne aane ke liye karni sena ke jo cheez the unhone is movie ko dekha aur unhe bahut pasand hai kyonki isme rajputo ko bahut hi acche dhang se dikhaya gaya hai unke jo bareilly hai ko bahut acche dhang se dikhaya gaya hai toh ab kya ho gaya ab kya baat ho gayi jo aap ne virodh karna ekdam band kar diya aur aap ke chief ne sabhi ko accha kaha hai toh yah toh bahut hi pagalpanti ki baat hai ki aap pehle virodh kar rahe the aur jab aapko pata chala toh aapne virodh band kar diya

यह बात बिल्कुल सत्य है कि करणी सेना बहुत लोगों को बहुत ही धमकियां दे रही है चाय पद्मावत के

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!