चीन में भारतीय राजदूत कहते हैं कि भारत और चीन प्रतिद्वंद्वियों नहीं हैं। क्या आपको लगता है कि भारत बहुत राजनयिक है? क्यूं?...


play
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह भारतीय कूटनीति का एक अच्छा उदाहरण है कि चीन के चीन में भारतीय राजदूत कह रहे हैं कि भारत और चीन प्रतिनिधि नहीं है साथ ही साथ चीन भी कभी स्पष्ट रूप से या नहीं कहेगा की मशीन जो है वह भारत के प्रथम अधिकृत प्रतिनिधि है और भारत से हमेशा आगे निकलने की कोशिश करता रहता है अपने हितों की रक्षा के लिए चीन कुछ भी करेगा इस तरह के स्टेटमेंट जरूर आते हैं लेकिन कभी भी यह नहीं कहेगा कि हमें भारत से परेशानी है क्योंकि जो कि भारत उनका सबसे बड़ा मार्केट दुनिया में दूसरी बात यह है अगर भारत इस तरह से बिहेव नहीं करेगा तो भारत को भी कुछ एसेंशियल चीजें वहां से प्राप्त होती है जैसे कि फार्मिक दवाइयां जो दवाई यहां पर आपको यहां पर सरकारी महकमों सिंपल सा मार्केट है वहां पर दवाई खरीदने जाएंगे अगर वह चाइनीस नहीं होगी अगर सिंपल दवाई होगी यहां पर आपको ₹50 की मिलेगी लेकिन वह इंपोर्ट करने के बाद चाइनीस दवाइयां को ₹10 की पड़ती है तो इसमें कोई गलत नहीं है अगर चीन ने चीन की दवाई पर बैन लगा दिया तो दवाइयां भी आना बंद हो जाएंगी इसके अलावा टेक्सटाइल इंडस्ट्री पूरी की पूरी चाइना पर डिपेंडेंट है आपके घर में मार्बल लगते हैं 99% चांस है कि वह चाइना से आया हूं क्योंकि इंडिया कंपनी बनाती नहीं है मोनोपोली है चाइना से ही आती है मोबाइल फोन जो आप यूज़ कर रहे हैं 90 परसेंट चांस है को चाइनिज हो गया कोरियन हो तो हमारी कॉल मी फोन पर भेज दें और उनकी कॉल मी हमारे में भेज दें क्योंकि रोमन हमारी हंसी आता है तुम चाइना भारत पर चीन तो है लेकिन कह नहीं सकती देखी हमारी और आपकी समझदारी है कभी किसी का राष्ट्रपति ने कहा कि चाइनीज माल मत खरीदो या प्रधानमंत्री का एहसास मत खरीदो हमारी आपकी समझदारी है कि हमें कुछ समझता हूं कि हमें प्रायोरिटी 20 पर किस चीज को खरीदना है किसी को रिजल्ट करना है इसके लिए दंगे होंगे करने की आवश्यकता नहीं है या फिर कोई विरोध प्रश्न नहीं आ सकता नहीं आप खुद मत खरीदिए दूसरों को प्रेरित कीजिए क्या मैं चाइनीस बनाने चीज नहीं खरीदनी है चाइनीस मोबाइल नहीं खरीदनी चाहिए लैपटॉप खरीदनी है यह सुनकर ज्यादा मना पाया मैं दवाइयों खरीदनी है या हमें और चीजें खरीदनी लेकिन हम यह चीज नहीं खरीदेंगे जरूरी नहीं है थैंक यू

yah bharatiya kootneeti ka ek accha udaharan hai ki china ke china mein bharatiya rajdut keh rahe hai ki bharat aur china pratinidhi nahi hai saath hi saath china bhi kabhi spasht roop se ya nahi kahega ki machine jo hai vaah bharat ke pratham adhikrit pratinidhi hai aur bharat se hamesha aage nikalne ki koshish karta rehta hai apne hiton ki raksha ke liye china kuch bhi karega is tarah ke statement zaroor aate hai lekin kabhi bhi yah nahi kahega ki hamein bharat se pareshani hai kyonki jo ki bharat unka sabse bada market duniya mein dusri baat yah hai agar bharat is tarah se behave nahi karega toh bharat ko bhi kuch esenshiyal cheezen wahan se prapt hoti hai jaise ki formic davaiyan jo dawai yahan par aapko yahan par sarkari mahkamon simple sa market hai wahan par dawai kharidne jaenge agar vaah Chinese nahi hogi agar simple dawai hogi yahan par aapko Rs ki milegi lekin vaah import karne ke baad Chinese davaiyan ko Rs ki padti hai toh isme koi galat nahi hai agar china ne china ki dawai par ban laga diya toh davaiyan bhi aana band ho jayegi iske alava textile industry puri ki puri china par dependent hai aapke ghar mein marble lagte hai 99 chance hai ki vaah china se aaya hoon kyonki india company banati nahi hai monopoly hai china se hi aati hai mobile phone jo aap use kar rahe hai 90 percent chance hai ko chainij ho gaya korean ho toh hamari call me phone par bhej de aur unki call me hamare mein bhej de kyonki roman hamari hansi aata hai tum china bharat par china toh hai lekin keh nahi sakti dekhi hamari aur aapki samajhdari hai kabhi kisi ka rashtrapati ne kaha ki chinese maal mat kharido ya pradhanmantri ka ehsaas mat kharido hamari aapki samajhdari hai ki hamein kuch samajhata hoon ki hamein priority 20 par kis cheez ko kharidna hai kisi ko result karna hai iske liye dange honge karne ki avashyakta nahi hai ya phir koi virodh prashna nahi aa sakta nahi aap khud mat kharidiye dusro ko prerit kijiye kya main Chinese banane cheez nahi kharidani hai Chinese mobile nahi kharidani chahiye laptop kharidani hai yah sunkar zyada mana paya main dawaiyo kharidani hai ya hamein aur cheezen kharidani lekin hum yah cheez nahi khareedenge zaroori nahi hai thank you

यह भारतीय कूटनीति का एक अच्छा उदाहरण है कि चीन के चीन में भारतीय राजदूत कह रहे हैं कि भारत

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  241
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!