क्या आपकी कोई फिलोसोफी है जिस पर आप जीते हैं?...


user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उत्तर प्रदेश के आज की कोई फिलॉस्फी है जिस पर आप जीते हैं यस माय फिलोसोफी इज दैट आई एम सिंपल एंड अपोलो द पॉप सिंपल लिविंग एंड हाई थिंकिंग नंबर वन नंबर दो नॉट लीव एंड अदर नंबर 3 द गॉड इमेजेस लाइव टू अटेंड द स्टेट ऑफ इलाइट फुलनेस एंड ब्लेस्ड ऑलवेज ऑलवेज को टर्न ऑन द करंट वेदर अबाउट व्हाट हैपेंड इन द पास्ट एंड व्हाट इज गोइंग टू द फ्यूचर ऑफ माय लाइफ इवेंट लिविंग एंड बीपी

uttar pradesh ke aaj ki koi philosophy hai jis par aap jeete hain Yes my philosophy is that I M simple and appolo the pop simple living and high thinking number van number do not leave and other number 3 the god images live to attend the state of ilait fullness and blessed always always ko turn on the current Weather about what happened in the past and what is going to the future of my life event living and BP

उत्तर प्रदेश के आज की कोई फिलॉस्फी है जिस पर आप जीते हैं यस माय फिलोसोफी इज दैट आई एम सिंप

Romanized Version
Likes  286  Dislikes    views  3201
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rohil Kabir

banker & Proffessor (Career Counsellor)

4:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कभी किसी जानवर को जीते हुए देखे हो नहीं देखे हो तो आप कभी देखना कोई भी जानवर हो कोई भी पशु हो कोई भी पक्षी हो उसको कभी ऑब्जेक्ट करना जीतेंगे अभी तुमने देखा है कि कोई जानवर सुबह उठा उसके बाद वह किसी लक्ष्य में लग गया किसी लक्ष्य को तय कर लिया उसका पीछे भागने लगा किसी पक्षी को पक्षी को किसी पशु को दिखे हो नहीं यह जो लक्ष्य है ना बस केवल इंसान तय करता है फिर तुम यह देखने की कोशिश करो कि ज्यादा खुश कौन रहता है कोई पशु पक्षी ज्यादा खुश रहते हैं या कोई इंसान इंसान हमेशा परेशान रहता है दुखी रहता है परेशान रहता है और कोई जानवर को देख लो पशु पक्षी को देख लो उसको हमेशा ना कभी तुम टेंशन में देखोगे ना कोई परेशानी देखोगे ना कोई चिंता में देखोगे फिर उसको किसी लक्ष्य को प्राप्त नहीं करना है सुबह अपना जिंदगी को जीता है जो अच्छा लगता है वह किया जहां जाने का मन किया वहां चल गया जो खाने का मन किया वह खा लिया जहां मन किया ओढ़ लिया जहां मन किया चल दिया रात हो या सो गया सुबह फिर वही चिंता मुक्त फुल मस्त जिंदगी तो ऐसे ही बोलो ठीक है लक्ष्य के पीछे मत भागो जो जिंदगी जो जीवन अभी है जो जीवन मिल गया है बस उसी को अच्छे से जियो मस्ती में जियो क्या मिल सकता है उसको पानी के लिए क्या करना होगा कैसे टाइप करना होगा कौन सा रास्ता चुना जाए कठिन रास्ता चुना जाए तब कठिन लक्ष्य प्राप्त हुआ नहीं जो जिंदगी है वही है तुम्हारा हासिल वह हासिल हो गया तुमने जन्म ले लिया तुमने हासिल कर लिया ठीक है अपना जिंदगी को जियो आनंदपुर अच्छे से जिओ दुनिया में बहुत कुछ है करने के लिए और बहुत सारा चीज बिना पैसे के बिना पैसा का किया जा सकता है ऐसा नहीं है कि लाइफ में पैसा कमाना ही लक्ष्य और पैसा चाहिए खुशी मिल सकता है ऐसा कुछ भी नहीं है ठीक है तो लाइफ हो कहने का मतलब है जीना सीखो अभी कोई जीव जंतु और पशु पक्षी और जानवर स्काला इसको देखो और दर्द करो तो तुम बहुत कुछ लिखोगे की जिंदगी को कैसे जिया जाए अपने आप को खुश रखने के लिए अपना विचार को कैसा रखा जाए जानवर से सीख सकते हो तुम जो बोलता है ना आदमी और जानवर हो जानवर ऐसा कुछ नहीं है जानवर से भी तुम जिंदगी जीने का तरीका सपना जिंदगी जो मिल गया उस में खुश है उसी को जी रहे हैं जब जो करने में अच्छा लगता है वह करता है तो उसी तरह से जिंदगी जियो जो मिला है बस में खुश रहो जब जब जब मन करे करने का उसे करो आनंद की प्राप्ति करो जीवन में खुश रह नहीं तो लक्ष्य तुम्हारा थैंक यू

kabhi kisi janwar ko jeete hue dekhe ho nahi dekhe ho toh aap kabhi dekhna koi bhi janwar ho koi bhi pashu ho koi bhi pakshi ho usko kabhi object karna jitenge abhi tumne dekha hai ki koi janwar subah utha uske baad vaah kisi lakshya me lag gaya kisi lakshya ko tay kar liya uska peeche bhagne laga kisi pakshi ko pakshi ko kisi pashu ko dikhe ho nahi yah jo lakshya hai na bus keval insaan tay karta hai phir tum yah dekhne ki koshish karo ki zyada khush kaun rehta hai koi pashu pakshi zyada khush rehte hain ya koi insaan insaan hamesha pareshan rehta hai dukhi rehta hai pareshan rehta hai aur koi janwar ko dekh lo pashu pakshi ko dekh lo usko hamesha na kabhi tum tension me dekhoge na koi pareshani dekhoge na koi chinta me dekhoge phir usko kisi lakshya ko prapt nahi karna hai subah apna zindagi ko jita hai jo accha lagta hai vaah kiya jaha jaane ka man kiya wahan chal gaya jo khane ka man kiya vaah kha liya jaha man kiya odh liya jaha man kiya chal diya raat ho ya so gaya subah phir wahi chinta mukt full mast zindagi toh aise hi bolo theek hai lakshya ke peeche mat bhago jo zindagi jo jeevan abhi hai jo jeevan mil gaya hai bus usi ko acche se jio masti me jio kya mil sakta hai usko paani ke liye kya karna hoga kaise type karna hoga kaun sa rasta chuna jaaye kathin rasta chuna jaaye tab kathin lakshya prapt hua nahi jo zindagi hai wahi hai tumhara hasil vaah hasil ho gaya tumne janam le liya tumne hasil kar liya theek hai apna zindagi ko jio anandpur acche se jio duniya me bahut kuch hai karne ke liye aur bahut saara cheez bina paise ke bina paisa ka kiya ja sakta hai aisa nahi hai ki life me paisa kamana hi lakshya aur paisa chahiye khushi mil sakta hai aisa kuch bhi nahi hai theek hai toh life ho kehne ka matlab hai jeena sikho abhi koi jeev jantu aur pashu pakshi aur janwar scala isko dekho aur dard karo toh tum bahut kuch likhoge ki zindagi ko kaise jiya jaaye apne aap ko khush rakhne ke liye apna vichar ko kaisa rakha jaaye janwar se seekh sakte ho tum jo bolta hai na aadmi aur janwar ho janwar aisa kuch nahi hai janwar se bhi tum zindagi jeene ka tarika sapna zindagi jo mil gaya us me khush hai usi ko ji rahe hain jab jo karne me accha lagta hai vaah karta hai toh usi tarah se zindagi jio jo mila hai bus me khush raho jab jab jab man kare karne ka use karo anand ki prapti karo jeevan me khush reh nahi toh lakshya tumhara thank you

कभी किसी जानवर को जीते हुए देखे हो नहीं देखे हो तो आप कभी देखना कोई भी जानवर हो कोई भी पशु

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user

Bhupendra Chugh

Business Owner

8:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिलॉसफी विचारधारा यह जीवन जीने का उद्देश्य आप इसे किसी भी रूप में ले लो जीवन जीने का उद्देश्य होता है आपके सामने आपके जीवन का लक्ष्य आप किस लक्ष्य की तरफ बढ़ रहे हो आप क्या करना चाहते हो आप क्या कर रहे हो और आप क्या करना चाहते हो आप उस लाइन पर आगे बढ़ रहे हो या नहीं बढ़ रहा है और मेरे जो जीवन का उद्देश्य है या मेरी जो फिलॉस्फी है मैं बकायदा उस रास्ते पर चल रहा हूं उस रास्ते पर आगे बढ़ा रहा हूं और मैं बहुत खुश हूं अपने जीवन में आनंद में हूं और मोटी सी एक बात बताऊं आपको कि ख़ुशी पैसों से नहीं खरीदी जा सकती खुशी हमारे अंदर होती है हमारे मन में होती है हमारे अंदर होती है बाहर की दुनिया में खुशी है ना वह हासिल की जा सकती है बाहर की दुनिया तो एक मोह माया का जाल एक पर्दा है आंखों के आगे ओके आंखें हमारी बंदे हमें नजर क्या आएगा हम जो बाहर की दुनिया है यह एक सपना है दो हमें बंद आंखों में नजर आ रहा है सब गलत है सब झूठ है सब दिखावा है सब दिखावा है कहीं कुछ नहीं आप अगर यह सोचो कि भी मैं यह चीज मिल जाए मैं पास इतना पैसा हो जाएगा मेरे को यह चीज आ जाएगी मेरे को वह चीज मिल जाएगी मेरे को खुशी हो जाएगी मैं बड़ा खुश हो जाऊंगा ऐसा कुछ नहीं होने वाला आप कहो रुपए इकट्ठा कर लो अरबों रुपए इकट्ठा कर लो आपको मैं खुश हो जाऊंगा आप खुश नहीं हो सकते जब तक आप ईश्वर को प्राप्त नहीं कर सकते दबाव ईश्वर को प्राप्त कर लोगे तभी आप खुश हो सकते हैं ईश्वर को कैसे प्राप्त किया जाए कैसे ऊपर पहुंचा जाए कैसे उसको याद किया जाए कैसे हम उसको ध्यान लगाएं कैसे हमारी वह मनोकामना पूर्ण करें कैसे हमारे को वह दर्शन दे इन सब का आंसर मैंने अपनी वीडियो में अपलोड कर रखा है ऑलरेडी पहले से ही और लोगों ने जो मुझसे पूछा है मैंने सबको बताया हुआ है आप मुझे फॉलो करो अपोलो व बोलोगे आप फॉलो करोगे मेरे बहुत वीडियो है उसमें जितने भी वीडियो हैं उसमें आपके सवाल का जवाब आपको मिल जाएगा और भी आपके मन में बहुत सवाल होंगे उनसे संबंधित जवाब भी और लोगों की भी हैं उनको भी मैंने दिए हुए हैं उन सवालों के जवाब भी आपको मिल जाएंगे और इसके अलावा कोई और सवाल भी आप पूछोगे तो उस सवाल का भी जवाब दूंगा आपको उसके लिए आप मुझे फॉलो करो मेन बात आपकी वही है जो मैंने आपको बताई है कि खुशी बाहर नहीं हमारे अंदर है क्योंकि हमारे अंदर ईश्वर बैठा हुआ है जो हमारा इंतजार कर रहा है कि कब हम उसके पास जाएंगे हम भटक रहे हैं बाहर हम ढूंढ रहे हैं बाहर क्या मैं बाहर मिल जाएगा सब कुछ खुशी बाहर मिल जाएगी बाहर कहीं कुछ नहीं है बाहर कोई खुशी नहीं है खुशी हमारे अंदर है हमारे अंदर जो ईश्वर विद्यमान है हमें वहां पहुंचना उस तक पहुंचना जब आप उस तक पहुंच जाओगे तो आपका संसार खुशियों से भर जाएगा आप एक रोटी भी खा लोगे ना तो भी आप खुश रहोगे आपके पास कुछ चीज नहीं भी होगा ना तब भी आप खुश रहो खुशी की कोई सीमा नहीं होती अनंत सुख अनंत खुशियां सब हमारे अंदर मौजूद जहां हमारी आत्मा विराजमान है ईश्वर विराजमान है ओ मेरी क्लास की यही है जिसके बलबूते मैं जीता हूं मुझे पैसों से मुंह नहीं है पैरों से प्यार होने बिल्कुल नहीं मैं एक रोटी खा कर भी जिंदा रह सकता हूं मैं दूसरों के लिए सोचता हूं कि मैं किसी के लिए क्या कर सकता हूं किसी की क्या मदद मैं कर सकता हूं इसे रोते हुए बच्चे को मैं कैसे फंसा हूं किसी गरीब के लिए मैं क्या कर सकता हूं यह मेरी दोस्ती जब मेरी सोच ऐसी ही है तो जो ईश्वर देखेगा अपने आप तो अपने आप ही देगा मुझे मांगने की जरूरत नहीं है ईश्वर मुझे यह चाहिए मुझे वह चाहिए मुझे कुछ जरूरत नहीं है तो कहता हूं मुझे तो तू चाहिए बस तू मेरे पास आ जा अगर वह मेरे पास आ जाएगा तो मुझे किसी चीज की क्या कमी है मुझे जो पैसों से ही मोनी है पहली बात तो पैसे उतने बहुत हैं अपनी में आदमी गृहस्ती चला सके गृहस्ती चलनी चाहिए आप अपने कर्म करते रहो आप अपने फर्ज को पूरा कर दो जो आपके फोन में अपने मां-बाप के प्रति अपने पति पत्नी के प्रति अपने बच्चों के प्रति जो आपके पर है आप उन फलों को पूरा करोगे ईश्वर आपको इतना देगा जो आपकी गृहस्ती चला सके आप गृहस्थी चलाने के लायक जितने पैसे हो उस में खुश रहो ज्यादा की कामना मत करो क्योंकि ज्यादा अति हर चीज की बुरी मेरे को फॉलो करो आप देखोगे जो मैंने वीडियो अपलोड कर रखे हैं आपको अपने आप पता चल जाएगा मैं क्या सोचता हूं मेरे मन के क्या विचार हैं किस तरीके से मैं अलग हो क्या मैं सोचता हूं कैसे करता हूं वह दुनिया पैसे के पीछे भाग रही है का कोई फायदा नही आप मुझे फॉलो करो आपको मेरी और वीडियो मिलेंगी उसमें आपको आपके हर सवाल का जवाब उसको मिल जाएगा जैसे आप ईश्वर को प्राप्त कर सकते हैं

philosophy vichardhara yah jeevan jeene ka uddeshya aap ise kisi bhi roop me le lo jeevan jeene ka uddeshya hota hai aapke saamne aapke jeevan ka lakshya aap kis lakshya ki taraf badh rahe ho aap kya karna chahte ho aap kya kar rahe ho aur aap kya karna chahte ho aap us line par aage badh rahe ho ya nahi badh raha hai aur mere jo jeevan ka uddeshya hai ya meri jo philosophy hai main bakayada us raste par chal raha hoon us raste par aage badha raha hoon aur main bahut khush hoon apne jeevan me anand me hoon aur moti si ek baat bataun aapko ki khushi paison se nahi kharidi ja sakti khushi hamare andar hoti hai hamare man me hoti hai hamare andar hoti hai bahar ki duniya me khushi hai na vaah hasil ki ja sakti hai bahar ki duniya toh ek moh maya ka jaal ek parda hai aakhon ke aage ok aankhen hamari bande hamein nazar kya aayega hum jo bahar ki duniya hai yah ek sapna hai do hamein band aakhon me nazar aa raha hai sab galat hai sab jhuth hai sab dikhawa hai sab dikhawa hai kahin kuch nahi aap agar yah socho ki bhi main yah cheez mil jaaye main paas itna paisa ho jaega mere ko yah cheez aa jayegi mere ko vaah cheez mil jayegi mere ko khushi ho jayegi main bada khush ho jaunga aisa kuch nahi hone vala aap kaho rupaye ikattha kar lo araboon rupaye ikattha kar lo aapko main khush ho jaunga aap khush nahi ho sakte jab tak aap ishwar ko prapt nahi kar sakte dabaav ishwar ko prapt kar loge tabhi aap khush ho sakte hain ishwar ko kaise prapt kiya jaaye kaise upar pohcha jaaye kaise usko yaad kiya jaaye kaise hum usko dhyan lagaye kaise hamari vaah manokamana purn kare kaise hamare ko vaah darshan de in sab ka answer maine apni video me upload kar rakha hai already pehle se hi aur logo ne jo mujhse poocha hai maine sabko bataya hua hai aap mujhe follow karo appolo va bologe aap follow karoge mere bahut video hai usme jitne bhi video hain usme aapke sawaal ka jawab aapko mil jaega aur bhi aapke man me bahut sawaal honge unse sambandhit jawab bhi aur logo ki bhi hain unko bhi maine diye hue hain un sawalon ke jawab bhi aapko mil jaenge aur iske alava koi aur sawaal bhi aap puchoge toh us sawaal ka bhi jawab dunga aapko uske liye aap mujhe follow karo main baat aapki wahi hai jo maine aapko batai hai ki khushi bahar nahi hamare andar hai kyonki hamare andar ishwar baitha hua hai jo hamara intejar kar raha hai ki kab hum uske paas jaenge hum bhatak rahe hain bahar hum dhundh rahe hain bahar kya main bahar mil jaega sab kuch khushi bahar mil jayegi bahar kahin kuch nahi hai bahar koi khushi nahi hai khushi hamare andar hai hamare andar jo ishwar vidyaman hai hamein wahan pahunchana us tak pahunchana jab aap us tak pohch jaoge toh aapka sansar khushiyon se bhar jaega aap ek roti bhi kha loge na toh bhi aap khush rahoge aapke paas kuch cheez nahi bhi hoga na tab bhi aap khush raho khushi ki koi seema nahi hoti anant sukh anant khushiya sab hamare andar maujud jaha hamari aatma viraajamaan hai ishwar viraajamaan hai O meri class ki yahi hai jiske balbute main jita hoon mujhe paison se mooh nahi hai pairon se pyar hone bilkul nahi main ek roti kha kar bhi zinda reh sakta hoon main dusro ke liye sochta hoon ki main kisi ke liye kya kar sakta hoon kisi ki kya madad main kar sakta hoon ise rote hue bacche ko main kaise fansa hoon kisi garib ke liye main kya kar sakta hoon yah meri dosti jab meri soch aisi hi hai toh jo ishwar dekhega apne aap toh apne aap hi dega mujhe mangne ki zarurat nahi hai ishwar mujhe yah chahiye mujhe vaah chahiye mujhe kuch zarurat nahi hai toh kahata hoon mujhe toh tu chahiye bus tu mere paas aa ja agar vaah mere paas aa jaega toh mujhe kisi cheez ki kya kami hai mujhe jo paison se hi moni hai pehli baat toh paise utne bahut hain apni me aadmi grihasti chala sake grihasti chalni chahiye aap apne karm karte raho aap apne farz ko pura kar do jo aapke phone me apne maa baap ke prati apne pati patni ke prati apne baccho ke prati jo aapke par hai aap un falon ko pura karoge ishwar aapko itna dega jo aapki grihasti chala sake aap grihasthi chalane ke layak jitne paise ho us me khush raho zyada ki kamna mat karo kyonki zyada ati har cheez ki buri mere ko follow karo aap dekhoge jo maine video upload kar rakhe hain aapko apne aap pata chal jaega main kya sochta hoon mere man ke kya vichar hain kis tarike se main alag ho kya main sochta hoon kaise karta hoon vaah duniya paise ke peeche bhag rahi hai ka koi fayda nahi aap mujhe follow karo aapko meri aur video milegi usme aapko aapke har sawaal ka jawab usko mil jaega jaise aap ishwar ko prapt kar sakte hain

फिलॉसफी विचारधारा यह जीवन जीने का उद्देश्य आप इसे किसी भी रूप में ले लो जीवन जीने का उद

Romanized Version
Likes  116  Dislikes    views  1237
WhatsApp_icon
user

S. M. Jha

Social Worker

4:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन का एकमात्र फिलासफी है जो महात्मा कबीर के शब्दों में यूं है कबीरा जब पैदा हुए जग हंसे हम रोए ऐसी करनी कर चलो हम हंसे जग रोए आप देखेंगे कि किसी के घर में जब कोई संतान पैदा होता है तो रोता हुआ लेकिन घर के लोग मुस्कुराते हैं हंसते हैं संतान को पाकर कालांतर में वही संतान यदि महान कार्य करके दुनिया से रुखसत होता है वह तो मुस्कुराता हुआ चला जाता है लेकिन उसके पीछे पूरा समाज आंसू बहाता है अब आप ऐसे समझने का प्रयास करें आपने दिवंगत लोगों को देखा होगा मरे हुए व्यक्तियों को अब आप एक बार गौर से देखने का प्रयास करेंगे एक लाख में लगभग 99999 व्यक्ति मृत्यु के बाद यदि आप उनके चेहरे पर गौर करें तो दोनों आंखों से आंसू की दो धारियां निकलती हुई दिखेंगी एक लाख में एक व्यक्ति ऐसा होता है जिनकी मृत्यु के बाद यदि आप उसके चेहरे को देखें तो आपको लगेगा कि अभी भी वह खिल खिला रहा है मुस्कुरा रहा है आप संसार में आ जाएंगे एक व्यक्ति मारा ही नहीं है अब ऐसा क्यों हुआ कबीर दास जी ने तो 4000 साल पहले इस चीज को लिखा था 400 साल पहले लेकिन आज मॉडर्न टेक्नोलॉजी और जो विज्ञान का विकास हुआ है इस चीज में भी इसे अप्रूव कर दिया है क्योंकि जब मनुष्य का अंतिम समय आता है तो मनुष्य के जीवन के सारे घटनाओं को क्लिप के रूप में फ्लैशबैक में ले जाकर दिखाया जाता है वेदों में लिखा गया है जनमत मर्द दूसरा दुख हुई मतलब जन्म के समय भी दूसरा पीड़ा होता है और मृत्यु के समय भी दूसरा पीड़ा होता है अब यदि किसी व्यक्ति को जिन्होंने जीवन में नेक काम किए हैं अच्छे काम किए हैं दूसरे के जीवन में खुशियां बांटी है दूसरे के आंसू पूछे हैं ऐसे लोग को जमीन के कृत्य दिखाए जाएंगे अपने कृत्यों को देख कर वह खुश हो जाएंगे और खुशी के पराकाष्ठा पर जब वे अपने आपको पाएंगे तो मृत्यु की पीड़ा जो है वह कम हो जाएगी और वह मुस्कुराते हुए दुनिया से रुखसत हो जाएंगे दूसरी तरफ जिस व्यक्ति ने कुछ सोच पाल कर दूसरों को तकलीफ दिया हो दूसरों की आंखों को आंसू दिया हो दूसरों के जीवन को दर्द दिया हो दूसरों के जीवन में छल कपट से परेशानियां खड़ी की हो इन लोगों को जब इनके जीवन का कृत्य दिखाया जाएगा इन कृतियों को देख कर उसे पीड़ा होगी एक तरफ मृत्यु की पीड़ा और एक तरफ कृतियों के देखने की पीड़ा दोनों ही पीड़ा से वह इतना अकरांत हो जाएगा कि उनके आंखों से आंसू निकल पड़ेंगे इसीलिए गांव जवार में कहावत है करणी देखा जाए मरने के समय अर्थात मृत्यु के बाद व्यक्ति का कर्म और कुकर्म दोनों अस्पष्टता परिलक्षित हो जाता है जो अच्छे लोग होते हैं वह दुनिया से मुस्कुराते हुए रुखसत होते हैं जो बुरे लोग होते हैं वह दुनिया से आंसू बहाते हुए विकसित होते हैं इसलिए मेरी फिलासफी यही है कि मैं जहां तक मेरी क्षमता है उस क्षमता के मुताबिक मैं लोगों के लिए मुस्कुराने का कारण दोनों किसी के आंसू का कारण मैं ना बनो मैं लोगों के जीवन में उत्थान का कारण बनो किसी के पतन का कारण बिल्कुल ना बंद मैं लोगों के चेहरे पर मुस्कुराहट लाने का कारण बनो किसी की आंख में आंसू लाने का कारण बिल्कुल ना बनो मैं किसी को भोजन कराने का कारण बनो किसी का भोजन करने का कारण कभी ना बनो इसलिए मैंने पहले ही कहा कि मेरे जीवन की फिलासफी है कविराज जब पैदा हुए जग हंसे हम रोए ऐसी करनी कर चलो हम हंसे जग रोए बहुत-बहुत धन्यवाद

mere jeevan ka ekmatra filasafi hai jo mahatma kabir ke shabdon me yun hai kabira jab paida hue jag hanse hum ROYE aisi karni kar chalo hum hanse jag ROYE aap dekhenge ki kisi ke ghar me jab koi santan paida hota hai toh rota hua lekin ghar ke log muskurate hain hansate hain santan ko pakar kalantar me wahi santan yadi mahaan karya karke duniya se rukhasat hota hai vaah toh muskurata hua chala jata hai lekin uske peeche pura samaj aasu bahata hai ab aap aise samjhne ka prayas kare aapne divangat logo ko dekha hoga mare hue vyaktiyon ko ab aap ek baar gaur se dekhne ka prayas karenge ek lakh me lagbhag 99999 vyakti mrityu ke baad yadi aap unke chehre par gaur kare toh dono aakhon se aasu ki do dhariyan nikalti hui dikhengee ek lakh me ek vyakti aisa hota hai jinki mrityu ke baad yadi aap uske chehre ko dekhen toh aapko lagega ki abhi bhi vaah khil khila raha hai muskura raha hai aap sansar me aa jaenge ek vyakti mara hi nahi hai ab aisa kyon hua kabir das ji ne toh 4000 saal pehle is cheez ko likha tha 400 saal pehle lekin aaj modern technology aur jo vigyan ka vikas hua hai is cheez me bhi ise apoorav kar diya hai kyonki jab manushya ka antim samay aata hai toh manushya ke jeevan ke saare ghatnaon ko clip ke roop me flashback me le jaakar dikhaya jata hai vedo me likha gaya hai janmat mard doosra dukh hui matlab janam ke samay bhi doosra peeda hota hai aur mrityu ke samay bhi doosra peeda hota hai ab yadi kisi vyakti ko jinhone jeevan me neck kaam kiye hain acche kaam kiye hain dusre ke jeevan me khushiya banti hai dusre ke aasu pooche hain aise log ko jameen ke kritya dekhiye jaenge apne krityon ko dekh kar vaah khush ho jaenge aur khushi ke parakashtha par jab ve apne aapko payenge toh mrityu ki peeda jo hai vaah kam ho jayegi aur vaah muskurate hue duniya se rukhasat ho jaenge dusri taraf jis vyakti ne kuch soch pal kar dusro ko takleef diya ho dusro ki aakhon ko aasu diya ho dusro ke jeevan ko dard diya ho dusro ke jeevan me chhal kapat se pareshaniya khadi ki ho in logo ko jab inke jeevan ka kritya dikhaya jaega in kritiyon ko dekh kar use peeda hogi ek taraf mrityu ki peeda aur ek taraf kritiyon ke dekhne ki peeda dono hi peeda se vaah itna akarant ho jaega ki unke aakhon se aasu nikal padenge isliye gaon javar me kahaavat hai karni dekha jaaye marne ke samay arthat mrityu ke baad vyakti ka karm aur kukarm dono aspashtata parilakshit ho jata hai jo acche log hote hain vaah duniya se muskurate hue rukhasat hote hain jo bure log hote hain vaah duniya se aasu bahate hue viksit hote hain isliye meri filasafi yahi hai ki main jaha tak meri kshamta hai us kshamta ke mutabik main logo ke liye muskurane ka karan dono kisi ke aasu ka karan main na bano main logo ke jeevan me utthan ka karan bano kisi ke patan ka karan bilkul na band main logo ke chehre par muskurahat lane ka karan bano kisi ki aankh me aasu lane ka karan bilkul na bano main kisi ko bhojan karane ka karan bano kisi ka bhojan karne ka karan kabhi na bano isliye maine pehle hi kaha ki mere jeevan ki filasafi hai kaviraj jab paida hue jag hanse hum ROYE aisi karni kar chalo hum hanse jag ROYE bahut bahut dhanyavad

मेरे जीवन का एकमात्र फिलासफी है जो महात्मा कबीर के शब्दों में यूं है कबीरा जब पैदा हुए जग

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user

Dr.Mitali Jha

Psychologist

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन की सबसे बड़ी फिलासफी या मेरा दर्शन यह है कि कभी भी अपने आप को बांधकर मत रखिए जो भी आपके मन में आए बोल दीजिए उसे इतना टाइट मत पकडे कि वह आपके लिए दर्द बन जाए बोल दीजिए बाहर निकलिए छोड़ दीजिए फर्स्ट एक्सप्रेस एक्सप्रेस से निवेदन है जब भी कभी दुख में हो सुख में हूं परेशानी में हूं घमंड में हूं कोशिश कीजिए उसे डिफाइन करने की कोशिश कीजिए उससे बाहर निकलने की और कोशिश कीजिए उसे छोड़ देने की जीवन बहुत आसान हो जाता है ऐसा मेरा मानना है तो मेरे लाइफ का फिलासफी तो है ना

mere jeevan ki sabse badi filasafi ya mera darshan yah hai ki kabhi bhi apne aap ko bandhkar mat rakhiye jo bhi aapke man me aaye bol dijiye use itna tight mat pakade ki vaah aapke liye dard ban jaaye bol dijiye bahar nikliye chhod dijiye first express express se nivedan hai jab bhi kabhi dukh me ho sukh me hoon pareshani me hoon ghamand me hoon koshish kijiye use define karne ki koshish kijiye usse bahar nikalne ki aur koshish kijiye use chhod dene ki jeevan bahut aasaan ho jata hai aisa mera manana hai toh mere life ka filasafi toh hai na

मेरे जीवन की सबसे बड़ी फिलासफी या मेरा दर्शन यह है कि कभी भी अपने आप को बांधकर मत रखिए जो

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  534
WhatsApp_icon
user

M H Warsi

Motivational Speaker, Teachers' Trainer, Voice Over Artist, Youtuber, Photographer, Video-Grapher, Mimicry Artist

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निकी आपने मुझसे क्वेश्चन किया है क्या आपकी कोई हेलो सती है जिस पर आप जीते हैं सब एक ही मित्र ऐसा है हर इंसान की फिलॉसफी अलग-अलग होती है मेरी अपनी पर्सनल प्लस की है जियो और जीने दो बहुत साधारण सी बात है कि खुद बिजी हो और दूसरों को भी जीने दो जितना हो सके किसी तरीके की कोई भी ऐसी घटना जो घटित हो सकती है उससे बचने की कोशिश करो लेकिन जब सामने वाला व्यक्ति आपको एक हद से ज्यादा बताना शुरू कर दे तो उसका फिर जवाब देना भी जरूरी बनता है लेकिन नॉर्मल बात यही है सच बात यही है कि जियो और जीने दो यानी कि खुद बिजी हो और दूसरों को भी अच्छे

niki aapne mujhse question kiya hai kya aapki koi hello sati hai jis par aap jeete hain sab ek hi mitra aisa hai har insaan ki philosophy alag alag hoti hai meri apni personal plus ki hai jio aur jeene do bahut sadhaaran si baat hai ki khud busy ho aur dusro ko bhi jeene do jitna ho sake kisi tarike ki koi bhi aisi ghatna jo ghatit ho sakti hai usse bachne ki koshish karo lekin jab saamne vala vyakti aapko ek had se zyada batana shuru kar de toh uska phir jawab dena bhi zaroori banta hai lekin normal baat yahi hai sach baat yahi hai ki jio aur jeene do yani ki khud busy ho aur dusro ko bhi acche

निकी आपने मुझसे क्वेश्चन किया है क्या आपकी कोई हेलो सती है जिस पर आप जीते हैं सब एक ही मित

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  94
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वॉच एचएस क्वेश्चन क्या आपकी कोई फिलोसॉफिए जिस पर अब जीते कर भला हो भला जियो और जीने दो सिंपल से खुश रहो और खुश रहो

watch HS question kya aapki koi filosafiye jis par ab jeete kar bhala ho bhala jio aur jeene do simple se khush raho aur khush raho

वॉच एचएस क्वेश्चन क्या आपकी कोई फिलोसॉफिए जिस पर अब जीते कर भला हो भला जियो और जीने दो सिं

Romanized Version
Likes  314  Dislikes    views  4499
WhatsApp_icon
user

आचार्य प्रशांत

IIT-IIM Alumnus, Ex Civil Services Officer, Mystic

6:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तू बता दिया ऐसा यादव जी गलत विचार नहीं करना अब तुम्हें जरा भी जागृति नहीं चाहिए क्या मिल गया है सुबह 7:30 बजे बिल्कुल हल्का कर लो दर्शन तो उसमें जो कुछ है सब आदर्श आदर्श नौकरी होगी आदर्श कन्या होगी याद होगा दर्शन होगा दर्शन होगा कहां आवश्यकता है तुम्हारे चैतन्य निर्णय की सर कहां हो सकता है कि तो मार कॉल करके भी हो अब तुम्हें आंख नहीं आदर्श काफी है करोगे क्या आदर्श का ससुरा ने तुम्हें पूछा कि आदर्श सवाल कौन सा होता है और जवाब ही नहीं दूंगा जब तक आदर्श सवाल नहीं आएगा और जवाब चाहिए तुम इतनी बातें पूछते हो जिसमें से 99% बकवास होती हैं मैंने कभी कहा कि आदर्श प्रश्न पूछो पर तुम्हें आदर्श जीवन चाहिए जो है जैसा है यही है देखो इसे समझो इसे और पार निकल जाओ इसके आदर्श की प्रतीक्षा में रह गए तो प्रतीक्षा मात्र मिलेगी और उससे भी ज्यादा खतरनाक होगा अगर आदर्श मिल गया इधर तो मुर्दा हो गए आदर्श वादियों से ज्यादा मुर्दा कोई नहीं होता यह आदर्श आदर्श समझते हो ना एक नमूना मन में था और उसके अनुसार कुछ तैयार कर दिया गया इसका पहले से ही एक आदर्श नमूना किसी के मन में था कलाकार में कुछ नमूने के अनुसार यह तैयार कर दिया कि आदर्श बाबा बख्तर 1 घंटे पहले की मन में एक आदर्श नमूना होता है लड़की को ऐसा तैयार करेंगे लड़का तैयार हो जाते हो क्या तुमने होते हैं जहां पर यह सब पढ़ाया जाता है आदर्श राजू आदर्श ललिता और आदर्श राजू को बता दिया जाता है कि आदर्श लड़की ललिता जैसी होती है राजू क्या हो गया आदर्श कुर्सी पर आदर्श तक चल चल मुर्दा सकते हो किसी तरीके से आगे बढ़ना है यहां से ही साथ टूटेगी प्रसाद छूटेगी अभी तेरे ऊपर क्यों किया है उसने ए का नियंत्रण है अव्यवस्था है एक अराजकता है तू बड़ी सुंदर पूरी नहीं हो सकता है क्या जमीन पर ही है कुछ बातों से वो भी सीमित है आदर्श माने लेकिन फिर भी टीम के पास इससे ज्यादा आजादी आदर्शवादी मत बन जाना क्यों चाहिए आदर्श जब ट्रिपल तुम्हारे पास बहुत है जब तुम देख सकते हो समझ सकते हो तो उसके सहारे जी होना आदर्शों का सहारा क्यों चाहिए गाड़ी चलाते हो तो आंख से चलाते हो इस बात से चलाते हो आदर्श मनी स्मृति से जीना गाड़ी कैसे चलाते हो अमिताभ ने जो होगा उसको तत्काल समुचित उत्तर देंगे कि मुझे पहले ही पता है कि अब 3 मिनट और 6 सेकेंड बाद मुझे मुड़ जाना है अरे जीवन है उसमें कभी भी कुछ भी हो सकता है आदर्श कैसे काम आएंगे भारत एक ही चीज काम आती है विशुद्ध चिंतला संपूर्ण होश

tu bata diya aisa yadav ji galat vichar nahi karna ab tumhe zara bhi jagriti nahi chahiye kya mil gaya hai subah 7 30 baje bilkul halka kar lo darshan toh usmein jo kuch hai sab adarsh adarsh naukri hogi adarsh kanya hogi yaad hoga darshan hoga darshan hoga kahaan avashyakta hai tumhare chaitanya nirnay ki sir kahaan ho sakta hai ki toh maar call karke bhi ho ab tumhe aankh nahi adarsh kafi hai karoge kya adarsh ka sasura ne tumhe poocha ki adarsh sawaal kaun sa hota hai aur jawab hi nahi dunga jab tak adarsh sawaal nahi aayega aur jawab chahiye tum itni batein poochhte ho jisme se 99 bakwas hoti hain maine kabhi kaha ki adarsh prashna pucho par tumhe adarsh jeevan chahiye jo hai jaisa hai yahi hai dekho ise samjho ise aur par nikal jao iske adarsh ki pratiksha mein reh gaye toh pratiksha matra milegi aur usse bhi zyada khataranaak hoga agar adarsh mil gaya idhar toh murda ho gaye adarsh vadiyon se zyada murda koi nahi hota yah adarsh adarsh samajhte ho na ek namuna man mein tha aur uske anusaar kuch taiyar kar diya gaya iska pehle se hi ek adarsh namuna kisi ke man mein tha kalakar mein kuch namune ke anusaar yah taiyar kar diya ki adarsh baba bakhtar 1 ghante pehle ki man mein ek adarsh namuna hota hai ladki ko aisa taiyar karenge ladka taiyar ho jaate ho kya tumne hote hain jahan par yah sab padhaya jata hai adarsh raju adarsh lalita aur adarsh raju ko bata diya jata hai ki adarsh ladki lalita jaisi hoti hai raju kya ho gaya adarsh kursi par adarsh tak chal chal murda sakte ho kisi tarike se aage badhana hai yahan se hi saath tutegi prasad chutegi abhi tere upar kyon kiya hai usne a ka niyantran hai avyayvastha hai ek arajkata hai tu badi sundar puri nahi ho sakta hai kya jameen par hi hai kuch baaton se vo bhi simit hai adarsh maane lekin phir bhi team ke paas isse zyada azadi aadarshvaadi mat ban jana kyon chahiye adarsh jab triple tumhare paas bahut hai jab tum dekh sakte ho samajh sakte ho toh uske sahare ji hona aadarshon ka sahara kyon chahiye gaadi chalte ho toh aankh se chalte ho is baat se chalte ho adarsh money smriti se jeena gaadi kaise chalte ho amitabh ne jo hoga usko tatkal samuchit uttar denge ki mujhe pehle hi pata hai ki ab 3 minute aur 6 second baad mujhe mud jana hai arre jeevan hai usmein kabhi bhi kuch bhi ho sakta hai adarsh kaise kaam aayenge bharat ek hi cheez kaam aati hai vishudh chintala sampurna hosh

तू बता दिया ऐसा यादव जी गलत विचार नहीं करना अब तुम्हें जरा भी जागृति नहीं चाहिए क्या मिल ग

Romanized Version
Likes  616  Dislikes    views  5082
WhatsApp_icon
user

Porshia Chawla Ban

Psychologist

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सिंपल कैलाशपति है मेरी डोंट हेल्प पीपल एनेबल पेपर लोगों की मदद मत करो उन्हें सक्षम बनाओ ऐसा बनाओ नहीं कि वह आगे खुद अपनी मदद हमेशा कर पाए और औरों को और आगे मदद करें

bahut simple kailashpati hai meri dont help pipal enable paper logon ki madad mat karo unhe saksham banao aisa banao nahi ki vaah aage khud apni madad hamesha kar paye aur auron ko aur aage madad karen

बहुत सिंपल कैलाशपति है मेरी डोंट हेल्प पीपल एनेबल पेपर लोगों की मदद मत करो उन्हें सक्षम बन

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  2486
WhatsApp_icon
user

Niraj Devani

PHILOSOPHER

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मेरी एक ही पी लो सुखी है अगर मैं पर्सनली अपनी बात करूं तो जिंदगी मिली है भाई जी लो बिंदास जी लो अभी क्या है अभी कम पैसे कम पैसों में जितने आप मौज कर सकते हैं खुश रह सकते हैं हेलो कल ज्यादा पैसे आएंगे तो उसमें खुश रह लो अगर आपके पास आज जो काम है वह काम करके खुश रह लो अगर आपको आज काम नहीं है तो जो पूरा दिन है उसमें आपको पसंद के काम करके खुश रह लो जो भी करो पूरा दिन उसमें आपको खुशी मिली और दूसरी एक बात खास ख्याल रखना है कि दूसरों को परेशान करके वह खुशी नहीं मिली चाहिए दूसरे खुश ना हो तो अलग बात है लेकिन दूसरे परेशान तो नहीं हो ना कभी भी हमारे से तो इस तरह से हर हाल में खुश रहना पॉजिटिव रहना जो भी आपके पास वक्त है उसका आप जिस में खुश रहते हो ऐसी एक्टिव किस करके उसमें अच्छा अच्छी तरह से रहना बस यही होनी चाहिए जिंदगी में तो इसी तरह से जीता हूं कि जितना हो सके दूसरों को हेल्प करता हूं अच्छी बातें कहता हूं अच्छी सोच है अच्छे काम करता हूं और अपने शौक पूरे करता हूं जो कमाता हूं उसको थोड़ी अच्छी तरह से स्पेंड करता हूं सब को खुश रखने की कोशिश करता हूं बस यही है

dekhiye meri ek hi p lo sukhi hai agar main personally apni baat karun toh zindagi mili hai bhai ji lo bindas ji lo abhi kya hai abhi kam paise kam paison mein jitne aap mauj kar sakte hain khush reh sakte hain hello kal zyada paise aayenge toh usmein khush reh lo agar aapke paas aaj jo kaam hai vaah kaam karke khush reh lo agar aapko aaj kaam nahi hai toh jo pura din hai usmein aapko pasand ke kaam karke khush reh lo jo bhi karo pura din usmein aapko khushi mili aur dusri ek baat khas khayal rakhna hai ki dusron ko pareshan karke vaah khushi nahi mili chahiye dusre khush na ho toh alag baat hai lekin dusre pareshan toh nahi ho na kabhi bhi hamare se toh is tarah se har haal mein khush rehna positive rehna jo bhi aapke paas waqt hai uska aap jis mein khush rehte ho aisi active kis karke usmein accha achi tarah se rehna bus yahi honi chahiye zindagi mein toh isi tarah se jita hoon ki jitna ho sake dusron ko help karta hoon achi batein kahata hoon achi soch hai acche kaam karta hoon aur apne shauk poore karta hoon jo kamata hoon usko thodi achi tarah se spend karta hoon sab ko khush rakhne ki koshish karta hoon bus yahi hai

देखिए मेरी एक ही पी लो सुखी है अगर मैं पर्सनली अपनी बात करूं तो जिंदगी मिली है भाई जी लो

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  640
WhatsApp_icon
user

Ruchi Garg

Counsellor and Psychologist(Gold MEDALIST)

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मेरी यह फिलॉसफी है कि मैं अगर लोगों की तारीफ नहीं करती तो मेरी पूरी कोशिश यह रहती है कि मैं किसी को भी दुख ना पहुंचा हूं मेरा कोई भी करना ऐसा ना हो जिससे किसी को दुख पहुंचे अगर वह सामने वाले ने मुझे कोई हाल ही नहीं तो चाहिए मैं और कोशिश करती हूं कि किसी की निंदा और ना करूं या कम से कम करो गुड लक

ji haan meri yah philosophy hai ki main agar logon ki tareef nahi karti toh meri puri koshish yah rehti hai ki main kisi ko bhi dukh na pahuncha hoon mera koi bhi karna aisa na ho jisse kisi ko dukh pahuche agar vaah saamne waale ne mujhe koi haal hi nahi toh chahiye main aur koshish karti hoon ki kisi ki ninda aur na karun ya kam se kam karo good luck

जी हां मेरी यह फिलॉसफी है कि मैं अगर लोगों की तारीफ नहीं करती तो मेरी पूरी कोशिश यह रहती ह

Romanized Version
Likes  958  Dislikes    views  11340
WhatsApp_icon
user

Pushpdeep Kaur Bimrah

Spoken English Trainer

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी तो फिलॉस्फी यह है कि सबके साथ प्यार से रहिए सब को प्यार करिए सबके इज्जत करिए भनेको आपसे छोटे हैं या बड़े हैं अगर हम रिस्पेक्ट देंगे तो हमें रिस्पेक्ट मिलेगी प्यार देंगे तो प्यार मिलेगा तो नफरत के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए अपने मन के अंदर अपने जीवन के अंदर तो अगर हम यह फिलॉस्फी ना ले सब लोग तो शायद यह लड़ाई झगड़े जो इतने हो रहे हैं फैमिलीज में मरी सोसाइटी में कंट्रीज में तो यह सब अपने आप बंद हो जाएंगे तो प्राय टो फॉलो थिस फिलासफी इट विल बवंडर ओके थैंक यू

meri toh philosophy yah hai ki sabke saath pyar se rahiye sab ko pyar kariye sabke izzat kariye bhaneko aapse chhote hain ya bade hain agar hum respect denge toh hamein respect milegi pyar denge toh pyar milega toh nafrat ke liye koi jagah nahi honi chahiye apne man ke andar apne jeevan ke andar toh agar hum yah philosophy na le sab log toh shayad yah ladai jhagde jo itne ho rahe hain faimilij mein mari society mein countries mein toh yah sab apne aap band ho jaenge toh paraya toe follow this filasafi it will bavandar ok thank you

मेरी तो फिलॉस्फी यह है कि सबके साथ प्यार से रहिए सब को प्यार करिए सबके इज्जत करिए भनेको आप

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  1437
WhatsApp_icon
user

Karan Janwa

Automobile Engineer

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम हमेशा इस बात का ध्यान रखते हैं कि हमारी वजह से किसी को कोई कष्ट ना पहुंचे हम समस्त विश्व का कल्याण चाहते हैं सर क्योंकि शकीरा सर्वे संतु निरामया सर्वे भद्राणि पश्यंतु मां कश्चित् भागवत सभी सखियों के सभी कल्याण देखें सभी का भला हो कोई रोकी ना हो

hum hamesha is baat ka dhyan rakhte hain ki hamari wajah se kisi ko koi kasht na pahuche hum samast vishwa ka kalyan chahte hain sir kyonki shakira survey santu niramaya survey bhadrani pashyantu maa kashchit bhagwat sabhi sakhiyon ke sabhi kalyan dekhen sabhi ka bhala ho koi roi na ho

हम हमेशा इस बात का ध्यान रखते हैं कि हमारी वजह से किसी को कोई कष्ट ना पहुंचे हम समस्त विश्

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  28
WhatsApp_icon
user

Monika Sharma

Psychologist

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो जीवन जीने की फिलॉसफी के बारे में पूछ रहे हैं कि आपके जीवन की क्या फिलॉस्फी है तो मेरे हिसाब से मुझे जो काफी अपील करता है कोट है जियो और जीने दो कि हमें शांति से रहना चाहिए अपनी लाइफ में प्रोग्रेस करना चाहिए अपनी एजुकेशन में फोकस करना चाहिए अपने करियर में अपनी फैमिली लाइफ से अपने रिलेशनशिप पर फोकस करना चाहिए अपनी पर्सनल ग्रुप पर इन अब्रॉड जो होती है हर एक इंसान कितनी पर्सनल इनर सेल्फ होता है उसके ऊपर उसे लगातार काम करना चाहिए और ऐसा ही उसको दूसरों को भी करने देना चाहिए तो शांति से जीवन जीना और शांति से दूसरों को जीवन जीने देना मैं बहुत विश्वास करती हूं तुम जियो और जीने दो और खुश रहो शांति स्वतंत्रता से

hello jeevan jeene ki philosophy ke bare mein poochh rahe hain ki aapke jeevan ki kya philosophy hai toh mere hisab se mujhe jo kafi appeal karta hai coat hai jio aur jeene do ki hamein shanti se rehna chahiye apni life mein progress karna chahiye apni education mein focus karna chahiye apne career mein apni family life se apne Relationship par focus karna chahiye apni personal group par in abroad jo hoti hai har ek insaan kitni personal inner self hota hai uske upar use lagatar kaam karna chahiye aur aisa hi usko dusron ko bhi karne dena chahiye toh shanti se jeevan jeena aur shanti se dusron ko jeevan jeene dena main bahut vishwas karti hoon tum jio aur jeene do aur khush raho shanti swatatrata se

हेलो जीवन जीने की फिलॉसफी के बारे में पूछ रहे हैं कि आपके जीवन की क्या फिलॉस्फी है तो मेरे

Romanized Version
Likes  253  Dislikes    views  2762
WhatsApp_icon
user

Satyam Khandelwal

Career Counselor

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपकी लाइफ और कुछ तरीके से आप जी बी काइंड एंड हेल्प करें जो कि मैंने एक मूवी दुई सीखा था और आपके करीब हम डरते नहीं है घबराते नहीं खरीद रखते हैं लेकिन दूसरों को कमजोर ओके ऊपर आप हमेशा उनकी सिंपैथेटिक नजरिए से देखते हैं काम में आती है तो आप कर सकते हो करने से आप डरे नहीं आपको लगता है बीपी

aapki life aur kuch tarike se aap ji be chahinde and help karen jo ki maine ek movie dui seekha tha aur aapke kareeb hum darte nahi hai ghabarate nahi kharid rakhte hain lekin dusron ko kamjor ok upar aap hamesha unki simpaithetik nazariye se dekhte hain kaam mein aati hai toh aap kar sakte ho karne se aap dare nahi aapko lagta hai BP

आपकी लाइफ और कुछ तरीके से आप जी बी काइंड एंड हेल्प करें जो कि मैंने एक मूवी दुई सीखा था और

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  1071
WhatsApp_icon
user
2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स मेरी एक बहुत ही ऐसी है जिस पर मैं जिंदगी जीता हूं जिसके अंदर तीन बातें आती है सबसे पहले अनकंडीशनल लव इनकी हर इंसान को तहे दिल से प्यार करो रिस्पेक्ट से रहो प्यार से रहो क्योंकि जो चीज हम देते हैं वही हमें लूट के मिलती है इसलिए मेरा जो पहला पॉइंट टेबल अनकंडीशनल लव इसमें कोई कंडीशन ना हो हर एक इंसान से प्यार से रहो प्यार करो और दूसरी बात है दूसरा पॉइंटे फ़र्गों ने सेंड किया कर किसी से आपका मनमुटाव हो भी जाता है क्या कोई आपको हर्ट कर देता है तो उसको भी माफ कर दो और हो सके तो आप ही माफी मांग लो यह मेरी एक फिलोसोफी है कि दिल में दिमाग में कोई बोझ ना रखें हर किसी को माफ करने के कर भावना हमारे पास होगी तो हम फ्री हो कर भी सकते हैं हमारे ऊपर कोई मर्डर नहीं होगा और ना गुस्सा आक्रोश आक्रोश लेके हम जिंदगी जीने से दूसरा पॉइंट मेरा फर्जी होने और तीसरा और इंपोर्टेंट है जी रोहिणी में लेवल लेने की इस दुनिया में मेरा कोई दुश्मन नहीं क्योंकि आपका जो व्यवहार है और आपके जो तोड़ तरीके हैं आपका जो बोलने का तरीका है उसी से आपकी दोस्त और आपके दुश्मन बनते हैं तो हमेशा आपके व्यवहार पर आपके बोलने का जो अंदाज है वह इस तरह से रखिए की दुश्मनी पैदा ना हो और सबसे दोस्ताना बनाए रखें प्यार से रहे बस यही मेरी जिंदगी है कुछ अच्छा करेंगे तो अच्छा होगा और कुछ बुरा करेंगे तो बुरा हो जैसी करनी वैसी भरनी

hello friends meri ek bahut hi aisi hai jis par main zindagi jita hoon jiske andar teen batein aati hai sabse pehle unconditional love inki har insaan ko tahe dil se pyar karo respect se raho pyar se raho kyonki jo cheez hum dete hain wahi hamein loot ke milti hai isliye mera jo pehla point table unconditional love isme koi condition na ho har ek insaan se pyar se raho pyar karo aur dusri baat hai doosra painte fargon ne send kiya kar kisi se aapka manmutaav ho bhi jata hai kya koi aapko heart kar deta hai toh usko bhi maaf kar do aur ho sake toh aap hi maafi maang lo yah meri ek philosophy hai ki dil mein dimag mein koi bojh na rakhen har kisi ko maaf karne ke kar bhavna hamare paas hogi toh hum free ho kar bhi sakte hain hamare upar koi murder nahi hoga aur na gussa aakrosh aakrosh leke hum zindagi jeene se doosra point mera farjee hone aur teesra aur important hai ji rohini mein level lene ki is duniya mein mera koi dushman nahi kyonki aapka jo vyavhar hai aur aapke jo tod tarike hain aapka jo bolne ka tarika hai usi se aapki dost aur aapke dushman bante hain toh hamesha aapke vyavhar par aapke bolne ka jo andaaz hai vaah is tarah se rakhiye ki dushmani paida na ho aur sabse dostana banaye rakhen pyar se rahe bus yahi meri zindagi hai kuch accha karenge toh accha hoga aur kuch bura karenge toh bura ho jaisi karni vaisi bharani

हेलो फ्रेंड्स मेरी एक बहुत ही ऐसी है जिस पर मैं जिंदगी जीता हूं जिसके अंदर तीन बातें आती ह

Romanized Version
Likes  94  Dislikes    views  1321
WhatsApp_icon
user

महेश दुबे

कवि साहित्यकार

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप ने सवाल किया है कि क्या आपकी कोई फिलॉसफी है जिस पर आप जीते हैं बिल्कुल मेरी एक ही फिलॉसफी है कि मेरे द्वारा किसी भी व्यक्ति को कष्ट न पहुंचे जहां तक हो सके मैं लोगों को आनंद देने का सुख देने का प्रयास करूं अगर मुझसे वह नहीं हो पा रहा है तो कम से कम में किसी को दुख ना दूं जहां तक हो सके लोगों को खुशी देने का प्रयास करो यही मेरी फिलासफी है

aap ne sawaal kiya hai ki kya aapki koi philosophy hai jis par aap jeete hain bilkul meri ek hi philosophy hai ki mere dwara kisi bhi vyakti ko kasht na pahuche jahan tak ho sake main logon ko anand dene ka sukh dene ka prayas karun agar mujhse vaah nahi ho paa raha hai toh kam se kam mein kisi ko dukh na doon jahan tak ho sake logon ko khushi dene ka prayas karo yahi meri filasafi hai

आप ने सवाल किया है कि क्या आपकी कोई फिलॉसफी है जिस पर आप जीते हैं बिल्कुल मेरी एक ही फिलॉस

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  1058
WhatsApp_icon
user

Kankan Sarmah

Psychologist

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या आपकी कोई फिलॉसफी है जिस पर आप जीते हैं बिल्कुल मैं हमेशा यही मानता हूं कि यह जो संसार है प्रकृति है प्रकृति हमें सब कुछ देते हैं और हमें भी प्रकृति के साथ ही जीना जरूरी होता है अगर हम प्रकृति के खिलाफ जाएंगे तो हम ज्यादा दिन नहीं टिक पाएंगे सूर्य से हमें रोशनी मिलता है और वही बस ने हमें ऊर्जा देती है तो सूर्य को हम हमें प्रणाम करना चाहिए पेड़ पौधों का हम हमें बचाना चाहिए जहां से हमें ऑक्सीजन मिलता है पानी को हम गंदा ना करके उनको साफ सुथरा रखना चाहिए कि हम लोग पानी पीते हैं तो यह जो मैंने फिलॉसफी है यह फिलॉसफी में अभी नहीं हूं मैं बचपन से इस को फॉलो करता हूं मैं प्रकृति से प्रेम करता हूं और पपीते हमने बहुत कुछ सिखाते भी है और सिखों को हमें समझना जरूरी है उन लोग उन सिखों को हमें एनालिसिस करना जरूरी है जब हम पपीते के आधार पर चलेंगे तो हम अपने जीवन में भी सफलता हासिल करेंगे धन्यवाद

aapka prashna hai kya aapki koi philosophy hai jis par aap jeete hain bilkul main hamesha yahi manata hoon ki yah jo sansar hai prakriti hai prakriti hamein sab kuch dete hain aur hamein bhi prakriti ke saath hi jeena zaroori hota hai agar hum prakriti ke khilaf jaenge toh hum zyada din nahi tick payenge surya se hamein roshni milta hai aur wahi bus ne hamein urja deti hai toh surya ko hum hamein pranam karna chahiye ped paudho ka hum hamein bachaana chahiye jahan se hamein oxygen milta hai paani ko hum ganda na karke unko saaf suthara rakhna chahiye ki hum log paani peete hain toh yah jo maine philosophy hai yah philosophy mein abhi nahi hoon main bachpan se is ko follow karta hoon main prakriti se prem karta hoon aur papite humne bahut kuch sikhaate bhi hai aur Sikhon ko hamein samajhna zaroori hai un log un Sikhon ko hamein analysis karna zaroori hai jab hum papite ke aadhaar par chalenge toh hum apne jeevan mein bhi safalta hasil karenge dhanyavad

आपका प्रश्न है क्या आपकी कोई फिलॉसफी है जिस पर आप जीते हैं बिल्कुल मैं हमेशा यही मानता हूं

Romanized Version
Likes  179  Dislikes    views  2244
WhatsApp_icon
user

Greeshma Nataraj

Psychology Counseling, Life Coach, NLP, Cognitive Behavioral Therapist, Motivational Speaker, Handwriting Signature Analyst.

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड इवनिंग माय डियर फ्रेंड की आवाज माय फिलोसोफी ऑफ लाइफ ऑन व्हिच आई एम लीविंग फॉर मी देखिए लाइफ इज द प्रोसेस ऑफ ग्रोइंग और प्रोसेस एंड एजिंग आल्सो नाउ व्हाट्स एजिंग इयर्स जिंदगी में शायद नहीं करने हैं लेकिन एक प्रॉपर तरीके से ग्रो होना है क्योंकि हमारी उम्र तो बढ़ती जाएगी लेकिन खुद को कितनी अच्छी तरह से हम इंसान बना सकते हैं कितनी अच्छी तरह से हम ग्रो कर सकते हैं डिफिकल्ट सिचुएशंस में भी इस पर मैं बिलीव करती हूं एंड एवरी टाइम ई बिलीव फोन वॉइस डिसीजंस एंड लॉकिंग द चैलेंज इज विद वॉइस एंड मेच्योरिटी कितने भी डिफिकल्ट सिचुएशन जाए आई बिलीव इन ग्रोइंग सिचुएशंस नॉट ओनली लिविंग लाइफ लिविंग लाइफ तो हर कोई जीता है लेकिन अगर तुम ग्रो होगे लाइफ में ऑल द सरकमस्टेंसस भले वह फिर अच्छे हो बुरे उसी को जिंदगी कहते हैं यह मेरी फिलॉसफी है तो जियो बढ़ो और जीने दो आई थिंक दैट माय फिलोसोफी एंड लीविंग माय लाइफ विदाउट फीट थैंक यू

good evening my dear friend ki awaaz my philosophy of life on which I imei leaving for me dekhiye life is the process of growing aur process and ageing aalso now whats ageing years zindagi mein shayad nahi karne hain lekin ek proper tarike se grow hona hai kyonki hamari umr toh badhti jayegi lekin khud ko kitni achi tarah se hum insaan bana sakte hain kitni achi tarah se hum grow kar sakte hain difficult sichueshans mein bhi is par main believe karti hoon and every time ee believe phone voice disijans and locking the challenge is with voice and maturity kitne bhi difficult situation jaaye I believe in growing sichueshans not only living life living life toh har koi jita hai lekin agar tum grow hoge life mein all the sarakamastensas bhale vaah phir acche ho bure usi ko zindagi kehte hain yah meri philosophy hai toh jio badho aur jeene do I think that my philosophy and leaving my life without feet thank you

गुड इवनिंग माय डियर फ्रेंड की आवाज माय फिलोसोफी ऑफ लाइफ ऑन व्हिच आई एम लीविंग फॉर मी देखिए

Romanized Version
Likes  226  Dislikes    views  3234
WhatsApp_icon
user

Dr. Guddy Kumari

UPSC Coach / Ph.d

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आपकी कोई फिलोस्टिका जिस पर आपको 10 सबके जीवन में खुशी होती है जिस को फॉलो करता है कैसे बताऊं तुम मेरे जीवन में कभी हाउसेस करते रहना चाहिए वह भी 17

kya aapki koi filostika jis par aapko 10 sabke jeevan mein khushi hoti hai jis ko follow karta hai kaise bataun tum mere jeevan mein kabhi houses karte rehna chahiye vaah bhi 17

क्या आपकी कोई फिलोस्टिका जिस पर आपको 10 सबके जीवन में खुशी होती है जिस को फॉलो करता है कैस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user

Mausam Babbar and, Dr. Rishu Singh

Managing Directors - Risham IAS Academy

8:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां बिल्कुल बहुत ही महत्वपूर्ण सवाल है देखिए कि क्या कोई फिलासफी है जिस पर आपने पूछा है कि आप जीते हैं तो मैं आपको इस बारे में देखिए बताना चाहूंगा कुछ चीज में आपको क्लियर करना चाहूंगा कि इंस्टिट्यूट में हमारा इंस्टिट्यूट है आईएस का मैं वहां पर आ मैनेजिंग डायरेक्टर हूं तो मैं आपको एक चीज के लिए बताना चाहूंगा कि देखिए हमने अजीत सोच से यह इंस्टिट्यूट को कायम किया है या इसको बनाया है यूपीएससी के लिए आईएएस और आईपीएस के लिए तो देखिए मैंने पहले भी एक सवाल में देखकर जिसमें ऑन लक्ष्य के बारे में उन्होंने पूछा है कि हमारी जिंदगी का जो लक्ष्य है वह क्या होना चाहिए तो देखिए सवाल थोड़ा सा उसी के ऊपर थोड़ा सा मैच होता है तो मैं आपको अपनी फिलॉसफी के बारे में जरूर बताना चाहूंगा देखिए कि दरअसल अगर हम चला सके की बात करते हैं तो देखिए अपने आप में एक बहुत बड़ा मैडम या एक बहुत बड़ा रियाल हो जाता है जिसमें आप अपनी पूरी सोच को डाल सकते हैं आप निर्धारित कर सकते हैं तो मैं इस बारे में देखिए आपको अगर शुरुआत से इस चीज के लिए बताऊं कि एक इंसान को हमेशा अपनी फिलॉसफी के ऊपर कैसे ध्यान रखना है तो सबसे पहले तू अगर आपका लक्ष्य क्लियर है आपको अपना मोटिव क्लियर है अगर मैं बात करूं कि मैं टीचर हूं और मुझे इस चीज के लिए आगे रहना है कि जो मैं पढ़ा रहा हूं अगर मेरे उस फील्ड में देखिए मेरे बराबर का कोई नहीं है यह मेरे आस-पास कोई नहीं तुम मुझे यह नहीं सोचना चाहिए देखें क्योंकि जो सक्सेस के बारे में हमेशा बात कही जाती है वह जो सक्सेस है वह हमेशा देखिए एक प्रशन की अपनी है अगर मैं बात करूं कि देखिए जो मैं कल था और अगर मैं आज उससे बेहतरीन हूं तो मेरे लिए यही सक्सेस है मेरे लिए यही डिवॉल्वमेंट है और मुझे लगता है कि अगर आपकी जिंदगी की फिलॉसफी इस बात पर टिकी है क्या कर आपको हमेशा ग्रुप करते रहना है और आपको कभी भी मैं यह नहीं कहूंगा कि आप को देखे संतुष्ट नहीं होना चाहिए क्योंकि हम अगर मैं बात करूं तो देखी मैटेरियलिस्टिक वर्ल्ड में रहते हैं मैटेरियलिस्टिक डेवलपमेंट में रहते हैं जहां पर चीजों के लिए या साजो सामान के लिए हम बहुत ज्यादा भागते हैं तो इस चीज में देखकर मैं आपको बताऊं कि अगर एक आदमी देखिए इस चीज से संतुष्ट नहीं होगा वैसे तो देख कर फिर उसको कभी खुशी हासिल नहीं होगी या वह कभी भी हैप्पी नहीं होगा पर देखिए मैं अपने मोटो के बारे में आपको जरूर बताना चाहूंगा कि जो मेरी फिलासफी के साथ चलता है अगर देखी मुझे इस बारे में सोचना है कि जो मेरे आइडियल हैं या जो भी दोस्त हैं या जिन एक्स एक्स के ऊपर देखिए हम काम कर रहे हैं तो अगर मुझे उन्हें सिक्स को लेकर उन्हें सिक्स को ध्यान में रखकर देखिए आगे हिंदुस्तान के आने वाले कल के लिए मुझे ऐसे ब्यूरोक्रेट तैयार करने हैं तो देखे उसके लिए मेहनत करनी पड़ेगी और उसके लिए काम करना भी बहुत जरूरी है मनी माइंडेड एप्रोच होना ही देखिए सब कुछ नहीं है अगर हम बहुत ही ज्यादा एक पॉजिटिव इनिशिएटिव लेकर चलते हैं अपनी जिंदगी में हर कोई अगर मैं बात करूं अगर मैं टीचर हूं तू देख कर मेरे सामने जितने भी यूपीएससी के कैंडिडेट हैं तो हम बहुत ही इंसेंट इंडिया की जोरू प्रैक्टिसेज हैं मैं बार-बार अपने आंसर में देखे यह बात करता हूं कि मुझे बहुत अच्छा लगता है अगर आप एक टीचर हैं और अगर मैं टीचर हूं तो देखिए मैं रोल मॉडल का काम कर रहा है जो मेरे सामने आकर देखिए बच्चे हैं तो वह अगर को देखिए फॉलो कर रहे हैं इस चीज को रेशमिया लेडी को फॉलो कर रहे हैं और जो हम बहुत ज्यादा प्रमोट करवाते हैं विजडम को फॉलो कर रहे हैं एक्सीलेंस को फॉलो कर रहे हैं लर्निंग को फॉलो कर रहे हैं जिसमें की बिल्डिंग और राइटिंग दोनों चीजें आती हैं तो मुझे यह लगता है कि देखिए अगर आप इन्हीं सोच को हमेशा फॉलो करेंगे आप नासिर दिखे जिंदगी में बहुत ऊंचाइयों पर जाएंगे आप सेटिस्फाई भी रहेंगे खुद से क्योंकि आप ब्रो करते रहेंगे जैसे मैंने कहा कि देखिए जो हमारा एक मोटो है जो हमारी एक फिलॉसफी अगर हम दे हमेशा दूसरों को ही देखते रहेंगे कि कौन क्या कर रहा है या कौन क्या नहीं कर रहा है आपको देखना भी है मैं यह नहीं कहूंगा आप दिखे नहीं आप देखिए पर अगर आप देखिए उनसे कुछ देखकर सीख रहे हैं और अगर आप उन जैसा बनना चाहते हैं अगर कोई पॉजिटिव चीज है देख के सामने वाले प्रथम में तो मैं जरूर चाहूंगा कि आप वह चीज का उठाइए क्योंकि किसी चीज में ही तरक्की है इसी चीज में ही ग्रोथ है कि अगर आप किसी दूसरे पर्सन को देख भी रहे हैं तो आप उससे कुछ सीख लीजिए और अपनी बॉडी में और अपने लाइफ में और अपने दिल में और दिमाग में और अपनी सोल में उस चीज को एडिट कर लीजिए तो मेरी देखी फिलासफी यही कहती है कि अगर मेरा मोटो बहुत ज्यादा क्लियर है अगर मैं अपने सक्सेस के मोटो के ऊपर बहुत ज्यादा सरटेन हूं मुझे पता है कि मेरा दिल मेरा दिमाग जो मेरी सोल है जो मेरी आत्मा किस काम में लगती है और जिस काम में मैं बहुत अच्छा हूं तो अगर मैं वह काम करूं अपना पॉजिटिव जो मेरा मोटो है जो पॉजिटिव मेरा गूगल है उसको मैं अगर सुप्रीम मानकी उस चीज पर काम कर चला जाऊंगा तो जैसे मैंने कहा कि देखिए आप सेटिस्फाइड भी फील करेंगे आप हर पिछले दिन से अगले दिन कुछ ज्यादा ग्रुप ही करेंगे पर जैसे मैंने कहा कि देखिए अगर आप अपना लक्ष्य को अपने मोटो को सुप्रीम बना लेते हैं इसके लिए अपने मोटो के ऊपर देखिए काम करना बहुत जरूरी है हर पर्सन का अलग हो सकता है और मुझे लगता है कि अगर मैं टीचर हूं तो मैं आपको आपकी अपनी फिल आ सकी बता रहा हूं आप अगर सुनने वाले देखिए एक स्टूडेंट है तो आप की फिलॉसफी यह होनी चाहिए मैं आपको बताऊं कि अगर आप स्टूडेंट है तो स्टूडेंट की लाइफ में भी देखिए जो आइडियल है या फिर जो आपके ही तो है उसे भी होने चाहिए आप हमेशा रीड करने के लिए काम करें आप हमेशा राइट करें आप हमेशा लर्निंग के लिए आगे बढ़ते चले जाएं अगर आप देखिए जिंदगी में सेटिस्फाइड हो जाते हैं अपनी लर्निंग से तो यकीन मानिए आप ग्रो नहीं कर पाएंगे और फिर हो सकता है आप जिंदगी में फ्रस्ट्रेटेड फ्री करें आप ही रिट्रीटेड तेल करें मुझे यह लगता है कि अगर आप एक जिंदगी में फर्स्ट लेट हो रहे हैं या इरिटेट हो रहे हैं या गुस्सा कर रहे हैं या आप तो जल्दी में है या ईगो वाली कोई भी बात हो रही है तो देखिए एथिक्स में यूपीएससी के gs4 में अंसारी वैल्यू स्कोर इन सारे इमोशंस को हमने नेगेटिव एथिक्स का नाम दिया है और यह सब नेगेटिव इमोशंस का पाठ है तो मुझे लगता है कि देखिए अगर आप इन चीजों से बाहर निकल कर आना चाहते हैं आप पॉजिटिव इमोशंस में हमेशा डिलीट करें आप एबंडेंस में मिली करें आप हमेशा हिस एक्जिस्टेंस के साथ जीने की आरजू मेरा जिंदगी का लक्ष्य है जो मेरा मोटिव है वह मेरे समाज को बेहतरीन बनाने के लिए है मेरा हर एक कदम अगर आप अपने लिए बोले कि समाज को बेहतरीन बनाने के लिए होगा तो यकीन मानिए जो भी कुदरत की देखिए नेचुरल फोर्सेस है जो उसके पावर है वह आपके लक्ष्य के साथ जुड़ जाती है और आपको आपके लक्ष्य की तरफ बहुत आगे चलते लेकर चले जाती है तो मुझे यह लगता है कि अगर आपकी यह फिलॉसफी बन जाती है जहां पर आप दूसरों का भला करने का ही अपने आपको बहुत ज्यादा सुप्रीम मानते हैं साथ-साथ ग्रुप भी कीजिए मैं यह नहीं कहूंगा कि देखिए आप मेटेरियल डिवेलपमेंट में यकीन ना कीजिए कि आप ऐसे मत कमाई है आप अपनी जिंदगी को बेहतरीन ना बनाइए नहीं बिल्कुल भी नहीं आप अपनी जिंदगी को बेहतरीन बनाई अगर उसमें आपको पैसे की जरूरत पड़ती है तो बिल्कुल आपको वह पैसा कमाना भी चाहिए और जो उसके तरीके हैं जो उसके तौर तरीके हैं मुझे लगता है वह बहुत सही होना चाहिए आप कोई भी ऐसा काम कर रहे हैं आप स्टूडेंट हैं आप यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं तो देखिए आपको यह तो पता ही होना चाहिए कि जब आप एग्जाम क्लियर कर जाएंगे तो देखिए आपको पावर अथॉरिटी मनी की कोई ऐसा प्रॉब्लम नहीं आने वाली है पर देखिए सबसे बड़ा मोटो आपका यही बन जाता है उस टाइम पर जवाब सिविल सर्वेंट बन जाते हैं तो आपकी फिलासफी भैया बन जानी चाहिए कि आप लोगों की जिंदगियों का एक हिस्सा बने आप उनकी कहानियों का एक हिस्सा बने और आप हमेशा उनके लिए अगर देखे काम करते रहेंगे आप उसके प्रयत्न करते रहेंगे तो आप अपनी फिलॉसफी को बहुत ज्यादा अच्छे से देंगे भी जैसे कि हम एक कोर्ट को जानते हैं कि देखिए वह लोग मत बनिए जो जिंदगी को काट रहे हैं अब वह अब वह लोग बनी है जो एक-एक दिन को देखिए बहुत खुशी से जी रहे हैं और जब आपको अगले दिन का बहुत बेसब्री से इंतजार हो कि अगले दिन जब मुझे उठना है या जब मुझे लोगों से मिलना है या घर में टीचर हूं तो मैं बात करूं कि जब मुझे क्लास में जाना है तो मुझे कुछ नया मैसेज लेकर जाना है मुझे नहीं ऊर्जा के साथ जाना है मुझे नहीं पहुंचती बेटी के साथ लेकिन मैंने अपनी जिंदगी में इन सारे ही तो उसको अपना ही है आप अपने आप सारे आइडियल स्कोर जो भी आपके नेगेटिव इमोशंस हैं आप उन्हें दूर कीजिए आफ नेशनलिटी में बिल्ली कीजिए सिस्टम में बिल्ली कीजिए एक्सीलेंस में बिलीव कीजिए रीडिंग और राइटिंग हमेशा करते रहिए तो यकीन मानिए अभिन्न दगी में बहुत आगे जाएंगे और आप अपना फोटो जो है आपका जो आपका लक्ष्य है उसको जरूर आ सकते हैं

ji haan bilkul bahut hi mahatvapurna sawaal hai dekhiye ki kya koi filasafi hai jis par aapne poocha hai ki aap jeete hain toh main aapko is bare mein dekhiye bataana chahunga kuch cheez mein aapko clear karna chahunga ki institute mein hamara institute hai ias ka main wahan par aa managing director hoon toh main aapko ek cheez ke liye bataana chahunga ki dekhiye humne ajit soch se yah institute ko kayam kiya hai ya isko banaya hai upsc ke liye IAS aur ips ke liye toh dekhiye maine pehle bhi ek sawaal mein dekhkar jisme on lakshya ke bare mein unhone poocha hai ki hamari zindagi ka jo lakshya hai vaah kya hona chahiye toh dekhiye sawaal thoda sa usi ke upar thoda sa match hota hai toh main aapko apni philosophy ke bare mein zaroor bataana chahunga dekhiye ki darasal agar hum chala sake ki baat karte hain toh dekhiye apne aap mein ek bahut bada madam ya ek bahut bada riyaal ho jata hai jisme aap apni puri soch ko daal sakte hain aap nirdharit kar sakte hain toh main is bare mein dekhiye aapko agar shuruaat se is cheez ke liye bataun ki ek insaan ko hamesha apni philosophy ke upar kaise dhyan rakhna hai toh sabse pehle tu agar aapka lakshya clear hai aapko apna motive clear hai agar main baat karun ki main teacher hoon aur mujhe is cheez ke liye aage rehna hai ki jo main padha raha hoon agar mere us field mein dekhiye mere barabar ka koi nahi hai yah mere aas paas koi nahi tum mujhe yah nahi sochna chahiye dekhen kyonki jo success ke bare mein hamesha baat kahi jaati hai vaah jo success hai vaah hamesha dekhiye ek prashan ki apni hai agar main baat karun ki dekhiye jo main kal tha aur agar main aaj usse behtareen hoon toh mere liye yahi success hai mere liye yahi divalwament hai aur mujhe lagta hai ki agar aapki zindagi ki philosophy is baat par tiki hai kya kar aapko hamesha group karte rehna hai aur aapko kabhi bhi main yah nahi kahunga ki aap ko dekhe santusht nahi hona chahiye kyonki hum agar main baat karun toh dekhi materialistic world mein rehte hain materialistic development mein rehte hain jahan par chijon ke liye ya sajo saamaan ke liye hum bahut zyada bhagte hain toh is cheez mein dekhkar main aapko bataun ki agar ek aadmi dekhiye is cheez se santusht nahi hoga waise toh dekh kar phir usko kabhi khushi hasil nahi hogi ya vaah kabhi bhi happy nahi hoga par dekhiye main apne moto ke bare mein aapko zaroor bataana chahunga ki jo meri filasafi ke saath chalta hai agar dekhi mujhe is bare mein sochna hai ki jo mere ideal hain ya jo bhi dost hain ya jin x x ke upar dekhiye hum kaam kar rahe hain toh agar mujhe unhe six ko lekar unhe six ko dhyan mein rakhakar dekhiye aage Hindustan ke aane waale kal ke liye mujhe aise Bureaucrat taiyar karne hain toh dekhe uske liye mehnat karni padegi aur uske liye kaam karna bhi bahut zaroori hai money minded approach hona hi dekhiye sab kuch nahi hai agar hum bahut hi zyada ek positive innitiative lekar chalte hain apni zindagi mein har koi agar main baat karun agar main teacher hoon tu dekh kar mere saamne jitne bhi upsc ke candidate hain toh hum bahut hi insent india ki joru practices hain main baar baar apne answer mein dekhe yah baat karta hoon ki mujhe bahut accha lagta hai agar aap ek teacher hain aur agar main teacher hoon toh dekhiye main roll model ka kaam kar raha hai jo mere saamne aakar dekhiye bacche hain toh vaah agar ko dekhiye follow kar rahe hain is cheez ko reshmiya lady ko follow kar rahe hain aur jo hum bahut zyada promote karwaate hain wisdom ko follow kar rahe hain excellence ko follow kar rahe hain learning ko follow kar rahe hain jisme ki building aur writing dono cheezen aati hain toh mujhe yah lagta hai ki dekhiye agar aap inhin soch ko hamesha follow karenge aap nasira dikhen zindagi mein bahut unchaiyon par jaenge aap satisfy bhi rahenge khud se kyonki aap bro karte rahenge jaise maine kaha ki dekhiye jo hamara ek moto hai jo hamari ek philosophy agar hum de hamesha dusron ko hi dekhte rahenge ki kaun kya kar raha hai ya kaun kya nahi kar raha hai aapko dekhna bhi hai main yah nahi kahunga aap dikhen nahi aap dekhiye par agar aap dekhiye unse kuch dekhkar seekh rahe hain aur agar aap un jaisa banna chahte hain agar koi positive cheez hai dekh ke saamne waale pratham mein toh main zaroor chahunga ki aap vaah cheez ka uthaiye kyonki kisi cheez mein hi tarakki hai isi cheez mein hi growth hai ki agar aap kisi dusre person ko dekh bhi rahe hain toh aap usse kuch seekh lijiye aur apni body mein aur apne life mein aur apne dil mein aur dimag mein aur apni soul mein us cheez ko edit kar lijiye toh meri dekhi filasafi yahi kehti hai ki agar mera moto bahut zyada clear hai agar main apne success ke moto ke upar bahut zyada cretan hoon mujhe pata hai ki mera dil mera dimag jo meri soul hai jo meri aatma kis kaam mein lagti hai aur jis kaam mein main bahut accha hoon toh agar main vaah kaam karun apna positive jo mera moto hai jo positive mera google hai usko main agar supreme manki us cheez par kaam kar chala jaunga toh jaise maine kaha ki dekhiye aap setisfaid bhi feel karenge aap har pichhle din se agle din kuch zyada group hi karenge par jaise maine kaha ki dekhiye agar aap apna lakshya ko apne moto ko supreme bana lete hain iske liye apne moto ke upar dekhiye kaam karna bahut zaroori hai har person ka alag ho sakta hai aur mujhe lagta hai ki agar main teacher hoon toh main aapko aapki apni fill aa saki bata raha hoon aap agar sunane waale dekhiye ek student hai toh aap ki philosophy yah honi chahiye main aapko bataun ki agar aap student hai toh student ki life mein bhi dekhiye jo ideal hai ya phir jo aapke hi toh hai use bhi hone chahiye aap hamesha read karne ke liye kaam karen aap hamesha right karen aap hamesha learning ke liye aage badhte chale jayen agar aap dekhiye zindagi mein setisfaid ho jaate hain apni learning se toh yakin maniye aap grow nahi kar payenge aur phir ho sakta hai aap zindagi mein frustrated free karen aap hi ritrited tel karen mujhe yah lagta hai ki agar aap ek zindagi mein first let ho rahe hain ya irritate ho rahe hain ya gussa kar rahe hain ya aap toh jaldi mein hai ya ego waali koi bhi baat ho rahi hai toh dekhiye ethics mein upsc ke gs4 mein ansari value score in saare emotional ko humne Negative ethics ka naam diya hai aur yah sab Negative emotional ka path hai toh mujhe lagta hai ki dekhiye agar aap in chijon se bahar nikal kar aana chahte hain aap positive emotional mein hamesha delete karen aap ebandens mein mili karen aap hamesha hiss ekjistens ke saath jeene ki aaraju mera zindagi ka lakshya hai jo mera motive hai vaah mere samaaj ko behtareen banaane ke liye hai mera har ek kadam agar aap apne liye bole ki samaaj ko behtareen banaane ke liye hoga toh yakin maniye jo bhi kudrat ki dekhiye natural forces hai jo uske power hai vaah aapke lakshya ke saath jud jaati hai aur aapko aapke lakshya ki taraf bahut aage chalte lekar chale jaati hai toh mujhe yah lagta hai ki agar aapki yah philosophy ban jaati hai jahan par aap dusron ka bhala karne ka hi apne aapko bahut zyada supreme maante hain saath saath group bhi kijiye main yah nahi kahunga ki dekhiye aap material divelapament mein yakin na kijiye ki aap aise mat kamai hai aap apni zindagi ko behtareen na banaiye nahi bilkul bhi nahi aap apni zindagi ko behtareen banai agar usmein aapko paise ki zaroorat padti hai toh bilkul aapko vaah paisa kamana bhi chahiye aur jo uske tarike hain jo uske taur tarike hain mujhe lagta hai vaah bahut sahi hona chahiye aap koi bhi aisa kaam kar rahe hain aap student hain aap upsc ki taiyari kar rahe hain toh dekhiye aapko yah toh pata hi hona chahiye ki jab aap exam clear kar jaenge toh dekhiye aapko power authority money ki koi aisa problem nahi aane waali hai par dekhiye sabse bada moto aapka yahi ban jata hai us time par jawab civil servant ban jaate hain toh aapki filasafi bhaiya ban jani chahiye ki aap logon ki jindagiyon ka ek hissa bane aap unki kahaniyan ka ek hissa bane aur aap hamesha unke liye agar dekhe kaam karte rahenge aap uske prayatn karte rahenge toh aap apni philosophy ko bahut zyada acche se denge bhi jaise ki hum ek court ko jante hain ki dekhiye vaah log mat baniye jo zindagi ko kaat rahe hain ab vaah ab vaah log bani hai jo ek ek din ko dekhiye bahut khushi se ji rahe hain aur jab aapko agle din ka bahut besabri se intejar ho ki agle din jab mujhe uthana hai ya jab mujhe logon se milna hai ya ghar mein teacher hoon toh main baat karun ki jab mujhe class mein jana hai toh mujhe kuch naya massage lekar jana hai mujhe nahi urja ke saath jana hai mujhe nahi pahunchati beti ke saath lekin maine apni zindagi mein in saare hi toh usko apna hi hai aap apne aap saare ideal score jo bhi aapke Negative emotional hain aap unhe dur kijiye of nationality mein billi kijiye system mein billi kijiye excellence mein believe kijiye reading aur writing hamesha karte rahiye toh yakin maniye abhinn dagi mein bahut aage jaenge aur aap apna photo jo hai aapka jo aapka lakshya hai usko zaroor aa sakte hain

जी हां बिल्कुल बहुत ही महत्वपूर्ण सवाल है देखिए कि क्या कोई फिलासफी है जिस पर आपने पूछा है

Romanized Version
Likes  168  Dislikes    views  3724
WhatsApp_icon
user

Suman Chaudhary

Principal Govt Sr.Sec.school (Raj.)

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप का सवाल है कि क्या आपकी कोई फिलॉस्फी है जिस पर आप जीते हैं जी हां बिलकुल हर इंसान की अपनी एक जीवन जीने की फिलॉस्फी होती है और मेरी भी है तो मेरी जीवन जीने की फिलॉस्फी यही है कि मैं हर नेगेटिव चीज में से पॉजिटिविटी निकाल ही लेती हूं पॉजिटिव थिंकिंग मेरे जीवन की फिलॉसफी है कितनी भी हार्ड सिचुएशन लाइफ में आ जाए कितनी भी प्रॉब्लम से आ जाए लेकिन मैं अपनी पॉजिटिविटी के बल पर बलबूते पर मैं उस नेगेटिव सिचुएशन से निकलकर और अपने आप को खुद की बनाई लेती हूं और कंडीशन फिर उसी हिसाब से मेरे कोडिंग हो ही जाती है तो मेरे जीवन की सबसे बड़ी फिलॉस्फी यही है जिसके आधार पर मैंने अपना जीवन जिया है अब तक का और आगे भी मैं तब तक मैं के अंतिम पास तक मेरी पॉजिटिविटी मेरी लाइफ की फिलॉस्फी

aap ka sawaal hai ki kya aapki koi philosophy hai jis par aap jeete hain ji haan bilkul har insaan ki apni ek jeevan jeene ki philosophy hoti hai aur meri bhi hai toh meri jeevan jeene ki philosophy yahi hai ki main har Negative cheez mein se positivity nikaal hi leti hoon positive thinking mere jeevan ki philosophy hai kitni bhi hard situation life mein aa jaaye kitni bhi problem se aa jaaye lekin main apni positivity ke bal par balbute par main us Negative situation se nikalkar aur apne aap ko khud ki banai leti hoon aur condition phir usi hisab se mere coding ho hi jaati hai toh mere jeevan ki sabse badi philosophy yahi hai jiske aadhaar par maine apna jeevan jiya hai ab tak ka aur aage bhi main tab tak main ke antim paas tak meri positivity meri life ki philosophy

आप का सवाल है कि क्या आपकी कोई फिलॉस्फी है जिस पर आप जीते हैं जी हां बिलकुल हर इंसान की अप

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user

Dr HITESH KUMAR PATEL

Consultant Psychologist

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां जीवन जीने के लिए फिलोसोफी होनी बहुत जरूरी होती है फिलोसोफी को काफी कुछ लोगों ने अलग-अलग डिफाइन क्या मतलब उसके मतलब को अलग-अलग बताया हुआ है मैं मेरी फिलोसोफी मांगा तो मैं बताऊंगा कि हां इंसान होने के नाते हम आज जी लेते हो इतना काफी नहीं है बच्चा हमारा जो जीवन है उसको बहुत ही महत्वपूर्ण समझते हुए अच्छे से जीना चाहिए और सबसे बड़ी फिलोसोफी यह है कि यह जीवन हमको मिला हुआ है तो कहां से मिला कैसे मिला कैसे चल रहा है हम खाना खाते हैं कुछ अलग कलर का उसका लाल ही बन जा रहा है तो यह सारी चीजों के पीछे कोई ना कोई देवी आध्यात्मिक शक्ति जोड़ी है जिसको लोगों ने भगवान ईश्वर अल्लाह ऐसा नाम दिया हुआ है सो मैं इतना मानता हूं कि हमारे से ऊपर कोई है और बस उसी को हम थैंक्यू बोलते जाएंगे और बस ऊपर है मतलब वह भगवान है तो मंदिर में है जीसस है तो चर्च में है अल्लाह है तो मस्जिद में है सा हमारे आजू-बाजू में जो लोग हैं उनको भी उन्हीं ने बताया बनाया हुआ है एनर्जी जो होती है लाइक जो पवन चल रहा है हवा चल रही है आज चलेगी यह सारी चीज ओजस्वी कौशल उसी की वजह से शो लाइव जीने के लिए वह फिलोसॉफिज है कि लाइफ को एंजॉय करना है अच्छे से जीना है तो सब लोगों को ग्रिटीट्यूड फ्री करवाना मतलब कि सब लोगों को थैंक यू बोलना बहुत जरूरी होता है थैंक यू

ji haan jeevan jeene ke liye philosophy honi bahut zaroori hoti hai philosophy ko kafi kuch logon ne alag alag define kya matlab uske matlab ko alag alag bataya hua hai main meri philosophy manga toh main bataunga ki haan insaan hone ke naate hum aaj ji lete ho itna kafi nahi hai baccha hamara jo jeevan hai usko bahut hi mahatvapurna samajhte hue acche se jeena chahiye aur sabse badi philosophy yah hai ki yah jeevan hamko mila hua hai toh kahaan se mila kaise mila kaise chal raha hai hum khana khate hain kuch alag color ka uska lal hi ban ja raha hai toh yah saree chijon ke peeche koi na koi devi aadhyatmik shakti jodi hai jisko logon ne bhagwan ishwar allah aisa naam diya hua hai so main itna manata hoon ki hamare se upar koi hai aur bus usi ko hum thainkyu bolte jaenge aur bus upar hai matlab vaah bhagwan hai toh mandir mein hai jesus hai toh church mein hai allah hai toh masjid mein hai sa hamare aju baju mein jo log hain unko bhi unhin ne bataya banaya hua hai energy jo hoti hai like jo pawan chal raha hai hawa chal rahi hai aaj chalegi yah saree cheez ojaswi kaushal usi ki wajah se show live jeene ke liye vaah filosafij hai ki life ko enjoy karna hai acche se jeena hai toh sab logon ko gritityud free karwana matlab ki sab logon ko thank you bolna bahut zaroori hota hai thank you

जी हां जीवन जीने के लिए फिलोसोफी होनी बहुत जरूरी होती है फिलोसोफी को काफी कुछ लोगों ने अलग

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  1986
WhatsApp_icon
user

Deepshikha

Counselling Psychologist

0:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन में सबसे अहम है खुद से ईमानदारी और सच्चाई और इसी के आधार पर मैं अपना जीवन जीती हूं

mere jeevan mein sabse aham hai khud se imaandaari aur sacchai aur isi ke aadhaar par main apna jeevan jeeti hoon

मेरे जीवन में सबसे अहम है खुद से ईमानदारी और सच्चाई और इसी के आधार पर मैं अपना जीवन जीती ह

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  277
WhatsApp_icon
play
user

साकेत कुमार

Senior Software Developer

7:14

Likes    Dislikes    views  1675
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

4:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका कृष्ण बड़ा राज्य के लिए कि आपकी क्या खिलाया कोई ऐसी प्लस पे चित्र सीटें जीतने के लिए स्टडी चाहिए प्लानिंग चाहिए एक दृष्टिकोण चाहिए कि नजरिया चाहिए आपके पास है तो सब जानने के बावजूद भी आप सफलता प्राप्त कर लेते हैं सबसे पहले लक्ष्य बनाइए कि मुझे इस चीज में शामिल होना है और इसको हासिल करना है तू चीज चीज उसी के आधार पर योजना बनाई है मैटर इकट्ठा कीजिए और उसके बाद उनको प्रॉपर तैयारी कीजिए लोक सुनाइए रिवीजन कीजिए क्वेश्चन आंसर कीजिए फिर रिवाइज कीजिए और उसको अपने अध्यापक से या किसी जन शिक्षक कराइए और जहां गलती हो वहां रिमूव कीजिए कि सिस्टम करेंगे आपको बहुत तकलीफ होगी लेकिन जब आप सफलता प्राप्त कर लेंगे तो वह कठोर परिश्रम को तकलीफ आपके जीवन का मार्गदर्शक बन जाएगी मैं आपको बताता हूं मैं 10th क्लास में पढ़ता था मैथमेटिक्स के सभी पार्ट का मुझे बहुत इंटरेस्ट जब मैं बहुत अच्छी तरह से उनके एक्सरसाइज करता था हर कंसेप्ट को क्लियर करता था आनंद आता था अलजेब्रा जानती तो मेरा प्रिय विषय टो मैनपुरी डिस्टेंस आईटी लुक बड़ा चर्च इमेज को दौड़ दौड़ के करता था लेकिन मेरी भी कमजोरी थी मिट्टी से में उड़ाता ईमान बैठा हुआ था जो मेरे अंदर शर्मिंदगी शर्मिला पंजीयक जिसने पैदा कर रखी थी और मैं काफी समय तक उस बंदे के साथ उस बेईमान व्यक्ति के साथ जो तारा मैंने यह निर्णय कर लिया कि हमारे सर जो हैं मुझसे सेंट परसेंट मार्च की उम्मीद करते हैं अगर मैं इस तरह की नाली का परिचय दूंगा तुम्हारे विद्यालय का नाम का क्या होगा हमारे सर की इमेज का क्या होगा मेरे माता-पिता की छांव का क्या होगा और मेरे अपने साथ जाओ तुम्हें की मानी करना नहीं मैं ऐसा नहीं कर सकता मैं किसी कीमत पर भी मानी नहीं कर सकता मैं बेईमान नहीं बन सकता और मन ने तुरंत एक जट्ट बीमार आदमी को मेरे शरीर से निकाल के फेंक दिया और मैंने प्रण किया यह वाचक की माता जी बताइए माता जी विसर्जन महीना भी नहीं रहे क्या अनिल पेपर के और तुम्हें अंदर दिसंबर 24 नंबर की तेरे नाम एंट्री नहीं आती जो तुरंत किसी पुरानी दुकान पर थे आप पुरानी टोटा राइटर की बुक सुनाओ एकता में जंपर का वह दूसरी किताब में प्रॉब्लम था जो दूसरी किताब में प्रॉब्लम था वह चीज सी किताब में एग्जाम पर था मैंने निरंतर 24 से 25 दिन अभ्यास किया और हर क्वेश्चन हर एग्जांपल चंदा हर एंगल से समझाता एंड साइन थीटा कोस थीटा साइन स्क्वायर थीटा प्लस कौस स्क्वायर थीटा कैसे बना क्यों बना इंसानों को फोन किया एंग्लो की वैल्यू निकाल नीचे की हाइट एंड डिस्टेंस के प्रॉब्लम से मुझे प्रूफ करना सीखा जो से ना डरता था काम था लेकिन जैसी मैंने झटके से अपने अंदर से बीमार व्यक्ति को निकाल बाहर खड़ा किया मेरी लेट इतना लेट कैसे हो गई जैसे अन्य मैच में टैक्सी मेरी फ्रॉम वेयर सेंट परसेंट मार्क्स मैथमेटिक्स में लेके आया आपने कहा ना कि आपकी क्या प्लॉट पर जिस पर आपकी थे तो अपने आप से फैसला करो कि आपकी गलती क्यों कर रहे हो और वह गलती आप कर रहे हो समान ही नहीं उठता कि आप से गलती हो देखें सिद्धांत बंटी आपके राष्ट्रीय साल हो जाएंगे और आप भी जैसे ही होंगे

aapka krishna bada rajya ke liye ki aapki kya khilaya koi aisi plus pe chitra seaten jitne ke liye study chahiye planning chahiye ek drishtikon chahiye ki najariya chahiye aapke paas hai toh sab jaanne ke bawajud bhi aap safalta prapt kar lete hain sabse pehle lakshya banaiye ki mujhe is cheez mein shaamil hona hai aur isko hasil karna hai tu cheez cheez usi ke aadhaar par yojana banai hai matter ikattha kijiye aur uske baad unko proper taiyari kijiye lok sunaiye revision kijiye question answer kijiye phir revise kijiye aur usko apne adhyapak se ya kisi jan shikshak karaiye aur jahan galti ho wahan remove kijiye ki system karenge aapko bahut takleef hogi lekin jab aap safalta prapt kar lenge toh vaah kathor parishram ko takleef aapke jeevan ka margadarshak ban jayegi main aapko batata hoon main 10th class mein padhata tha mathematics ke sabhi part ka mujhe bahut interest jab main bahut achi tarah se unke exercise karta tha har concept ko clear karta tha anand aata tha algebra jaanti toh mera priya vishay toe mainpuri distance it look bada church image ko daudh daudh ke karta tha lekin meri bhi kamzori thi mitti se mein udata iman baitha hua tha jo mere andar sharmindagi sharmila panjiyak jisne paida kar rakhi thi aur main kafi samay tak us bande ke saath us beiimaan vyakti ke saath jo tara maine yah nirnay kar liya ki hamare sir jo hain mujhse sent percent march ki ummid karte hain agar main is tarah ki nali ka parichay dunga tumhare vidyalaya ka naam ka kya hoga hamare sir ki image ka kya hoga mere mata pita ki chanv ka kya hoga aur mere apne saath jao tumhe ki maani karna nahi main aisa nahi kar sakta main kisi kimat par bhi maani nahi kar sakta main beiimaan nahi ban sakta aur man ne turant ek jatt bimar aadmi ko mere sharir se nikaal ke fenk diya aur maine pran kiya yah vachak ki mata ji bataiye mata ji visarjan mahina bhi nahi rahe kya anil paper ke aur tumhe andar december 24 number ki tere naam entry nahi aati jo turant kisi purani dukaan par the aap purani totta writer ki book sunao ekta mein jumper ka vaah dusri kitab mein problem tha jo dusri kitab mein problem tha vaah cheez si kitab mein exam par tha maine nirantar 24 se 25 din abhyas kiya aur har question har example chanda har Angle se samajhaata and sign theta kos theta sign square theta plus cos square theta kaise bana kyon bana insanon ko phone kiya Anglo ki value nikaal neeche ki height and distance ke problem se mujhe proof karna seekha jo se na darta tha kaam tha lekin jaisi maine jhatake se apne andar se bimar vyakti ko nikaal bahar khada kiya meri let itna let kaise ho gayi jaise anya match mein taxi meri from where sent percent marks mathematics mein leke aaya aapne kaha na ki aapki kya plot par jis par aapki the toh apne aap se faisla karo ki aapki galti kyon kar rahe ho aur vaah galti aap kar rahe ho saman hi nahi uthata ki aap se galti ho dekhen siddhant bunty aapke rashtriya saal ho jaenge aur aap bhi jaise hi honge

आपका कृष्ण बड़ा राज्य के लिए कि आपकी क्या खिलाया कोई ऐसी प्लस पे चित्र सीटें जीतने के लिए

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  1099
WhatsApp_icon
user

Subhash Kartik

NLP PerformanceCOACH

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर इंसान की दोस्ती होती है अगर आप मुझसे पूछे मेरी भी हर हर लाइफ के दायरे में अलग-अलग फिलॉसफी में रखता हूं लेकिन वह की लाइफ में कभी कंपटीशन के पीछे मत भाग्य आपको लगेगा कि आप की फिल्में बहुत लोग बहुत आगे जा रहे हैं बहुत सफलता पा रहे हैं और आपको उससे टेंशन हो रही है आपको लग रहा है कि यार मैं वहां नहीं जा पाऊंगा उससे रिलेशनशिप खराब हो रही है उस इंसान के साथ और आपको भी लग रहा है कि आप नहीं जा पाओगे तो कंपीटीशन एक ऐसी चीज है ना जो इंसान को नीचे गिरा तो क्यों कंपटीशन करें ताकि जाना है ना कुछ भी आप कर रहे हो ना उस बारे में सारी जानकारियां रखें और अपना बेस्ट दे हमेशा ध्यान रखिएगा जो कंपटीशन पब्लिक करते हैं वह अपना बेस्ट नहीं देते जो बेस्ट लेते हैं उनको फर्क नहीं पड़ता कि कौन कहां पर है ऊपर करते रहते हैं करते रहते हैं घर पर अरे जिन्होंने अपनी जो डिजाइन की काबिलियत है वह काबिलियत से उन्हें हर वह चीज मिलता है जो जिनके बहुत दार होते हैं जो कंपटीशन इन ह्यूमन 2 ईयर बेस्ट चेस्ट 2 ईयर बेस्ट

har insaan ki dosti hoti hai agar aap mujhse pooche meri bhi har har life ke daayre mein alag alag philosophy mein rakhta hoon lekin vaah ki life mein kabhi competition ke peeche mat bhagya aapko lagega ki aap ki filme bahut log bahut aage ja rahe hain bahut safalta paa rahe hain aur aapko usse tension ho rahi hai aapko lag raha hai ki yaar main wahan nahi ja paunga usse Relationship kharaab ho rahi hai us insaan ke saath aur aapko bhi lag raha hai ki aap nahi ja paoge toh kampitishan ek aisi cheez hai na jo insaan ko neeche gira toh kyon competition karen taki jana hai na kuch bhi aap kar rahe ho na us bare mein saree jankariyan rakhen aur apna best de hamesha dhyan rakhiega jo competition public karte hain vaah apna best nahi dete jo best lete hain unko fark nahi padta ki kaun kahaan par hai upar karte rehte hain karte rehte hain ghar par arre jinhone apni jo design ki kabiliyat hai vaah kabiliyat se unhe har vaah cheez milta hai jo jinke bahut daar hote hain jo competition in human 2 year best chest 2 year best

हर इंसान की दोस्ती होती है अगर आप मुझसे पूछे मेरी भी हर हर लाइफ के दायरे में अलग-अलग फिलॉस

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  455
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

2:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यहां तक की खबर क्वेश्चन है क्या आपको आपकी कोई फिलासफी है जिस पर आपकी बहन देखिए मेरे जीवन और सिर्फ यही है कि मैं किसी भी चीज से किसी भी विषय वस्तु से मेरी आ सकती नहीं है ना मैं दुख में घबराता हूं नमन सुख में काफी अनकार करता हूं या खुशी मनाता हूं और बचपन से मैं जिसे स्थिति में इलाहा पैसे रहे थोड़ी मैं उसी स्थिति में नहा पैसे ना रहे तो भी मैं उसी स्थिति में रहा था इसलिए कमियां और कमी का अनुभव मेरे जीवन मैं इसलिए किसी भी चीज का नहीं रहा इसलिए कि अगर हम संपन्न है तो भी हमें खुशी है अगर मेरे जीवन में कभी कमी को भी मैं उतना ही खुश हूं क्योंकि यह चीज सिर्फ और सिर्फ योग योग के द्वारा ही प्राप्त की जा सकती है क्योंकि बहुत सारे ऐसे व्यक्ति हैं जो कि जब आप इस संबंध आ जाती है तो उनमें अंकारा जाता है मैंने अंदर कभी उस टाइप का मेरे जीवन में अनुभव नहीं रहा कि आज मेरी स्थिति खराब है तो मैं समय से चुपके रहा हूं आज तक मैंने इर्द-गिर्द मेरे पास प्रवेश मेरे आस-पास रहने वाला पीस किसी भी व्यक्ति को आज तक पता ना चला मैं कब किस पोजीशन में हूं तो प्रत्येक व्यक्ति को इस तरह ही रहना चाहिए यहां तक फिलासफी का सिद्धांत है जो हुआ बोल रहे हैं भैया जी वेलकम जी वेलकम स्वागतम विवेक मेरा सिद्धांत है जब वो तो सिक्सजी सुख से जीवन सुख में जियो चाहे घर जा कर के भी ही क्यों न पीना पड़े तो भी पी लो लेकिन हमेशा खुशी में रहो तो यह सिद्धांत मेरा बचपन से इजाजत सुखम जिला मुख्य स्वागतम पर यह क्लब मेरे जीवन का आधार है इनकी में कमी में हूं तो मैं मायूस होकर बैठे रहो और पैसे हैं तुम्हें कहा कि खुशियां मनाओ एमएलसी धान पर मेरे जीवन का कभी नहीं रहा मैंने

yahan tak ki khabar question hai kya aapko aapki koi filasafi hai jis par aapki behen dekhiye mere jeevan aur sirf yahi hai ki main kisi bhi cheez se kisi bhi vishay vastu se meri aa sakti nahi hai na main dukh mein ghabarata hoon naman sukh mein kafi anakar karta hoon ya khushi manata hoon aur bachpan se main jise sthiti mein ilaha paise rahe thodi main usi sthiti mein naha paise na rahe toh bhi main usi sthiti mein raha tha isliye kamiyan aur kami ka anubhav mere jeevan main isliye kisi bhi cheez ka nahi raha isliye ki agar hum sanpann hai toh bhi hamein khushi hai agar mere jeevan mein kabhi kami ko bhi main utana hi khush hoon kyonki yah cheez sirf aur sirf yog yog ke dwara hi prapt ki ja sakti hai kyonki bahut saare aise vyakti hain jo ki jab aap is sambandh aa jaati hai toh unmen ankara jata hai maine andar kabhi us type ka mere jeevan mein anubhav nahi raha ki aaj meri sthiti kharaab hai toh main samay se chupake raha hoon aaj tak maine ird gird mere paas pravesh mere aas paas rehne vala peace kisi bhi vyakti ko aaj tak pata na chala main kab kis position mein hoon toh pratyek vyakti ko is tarah hi rehna chahiye yahan tak filasafi ka siddhant hai jo hua bol rahe hain bhaiya ji welcome ji welcome swagatam vivek mera siddhant hai jab vo toh siksaji sukh se jeevan sukh mein jio chahen ghar ja kar ke bhi hi kyon na peena pade toh bhi p lo lekin hamesha khushi mein raho toh yah siddhant mera bachpan se ijajat sukham jila mukhya swagatam par yah club mere jeevan ka aadhaar hai inki mein kami mein hoon toh main maayus hokar baithe raho aur paise hain tumhe kaha ki khushiyan manao MLC dhaan par mere jeevan ka kabhi nahi raha maine

यहां तक की खबर क्वेश्चन है क्या आपको आपकी कोई फिलासफी है जिस पर आपकी बहन देखिए मेरे जीवन औ

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  904
WhatsApp_icon
user

M S Aditya Pandit

Entrepreneur | Politician

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर इंसान की कोई न कोई लड़की से होती हुई है वह फिल्म मेरे हिंदुस्तान की सेवा की दुनिया यह मेरा किलो सिटी है कि यह कैसे कैसे करना है इंसानियत को प्राथमिकता देना है ना की जाति धर्म का क्या प्रयोग तकलीफ होगा

har insaan ki koi na koi ladki se hoti hui hai vaah film mere Hindustan ki seva ki duniya yah mera kilo city hai ki yah kaise kaise karna hai insaniyat ko prathamikta dena hai na ki jati dharam ka kya prayog takleef hoga

हर इंसान की कोई न कोई लड़की से होती हुई है वह फिल्म मेरे हिंदुस्तान की सेवा की दुनिया यह म

Romanized Version
Likes  215  Dislikes    views  3213
WhatsApp_icon
user

Ved prakash Mishra

Journalist Dainik jagran { Naidunia}

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप जिंदगी में कोई भी कार्य करते हैं चाहे वह अच्छा हो या बुरा उसका परिणाम इसी जीवन में पड़ता है यदि आप किसी साथ छुहारे बर्ताव करते हैं तो यह जान लीजिए क्यों अच्छा व्यवहार इसी जीवन में आपके पास लोकसभा आएगा यदि आज आप किस तरह करते हैं तो उसका फल किया कोई सी भी बने मिलना है इसमें अलग-अलग धर्म है लेकिन सबसे बड़ा धर्म इंसानियत है

aap zindagi mein koi bhi karya karte hain chahen vaah accha ho ya bura uska parinam isi jeevan mein padta hai yadi aap kisi saath chhuhaare bartaav karte hain toh yah jaan lijiye kyon accha vyavhar isi jeevan mein aapke paas lok sabha aayega yadi aaj aap kis tarah karte hain toh uska fal kiya koi si bhi bane milna hai isme alag alag dharam hai lekin sabse bada dharam insaniyat hai

आप जिंदगी में कोई भी कार्य करते हैं चाहे वह अच्छा हो या बुरा उसका परिणाम इसी जीवन में पड़त

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  760
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
तिरपाल x ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!