क्या धोनी को बलिदान बैग उतार देना चाहिए?...


play
user
0:56

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धोनी जो अभी बलिदान बैक की उतार देने के बाद कही गई है तो लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है कि धोनी जो अपने भारत देश के आर्मी को सपोर्ट करते हैं इस वजह से वह हाथों में उसकी बलिदान यानी कि जो आर्मी के ऊपर जो सिंबल दिया जाता है वह बलिदान का होता है तो इसलिए वह थल सेना के जो सिंबल है वह गलत भेज दिया गया था कि वह अपनी सेना को रिप्रेजेंट कर सके और भारतीय सेनाओं के परी परी परी प्रजेंट कैसे क्योंकि उन्हें जो चुना गया वह सेना अध्यक्ष के रूप में भी चुना गया है कि वह भारत भारतीय आर्मी को बहुत ज्यादा पसंद करती है इस वजह से उनकी जो ड्रेस है या फिर उनकी जो भी सामान है वह बाय भारतीय आर्मी के यानी इंडियन आर्मी के कपड़ों जैसी दिखती है इससे उनका यह मानना है कि सबसे पहले हमें अपने सैनिकों को सपोर्ट करना चाहिए और फिर उनके बारे में सूचना दें इस वजह से वह सारी चीजें जो सैनिक हो या फिर इंडियन आर्मी की चीजों को वह यूज करते हैं और उन्हें हमेशा रिप्रेजेंट करते हैं

dhoni jo abhi balidaan back ki utar dene ke baad kahi gayi hai toh lekin aisa kuch bhi nahi hai ki dhoni jo apne bharat desh ke army ko support karte hain is wajah se wah hathon mein uski balidaan yani ki jo army ke upar jo symbol diya jata hai wah balidaan ka hota hai toh isliye wah thal sena ke jo symbol hai wah galat bhej diya gaya tha ki wah apni sena ko represent kar sake aur bharatiya senaoon ke pari pari pari present kaise kyonki unhein jo chuna gaya wah sena adhyaksh ke roop mein bhi chuna gaya hai ki wah bharat bharatiya army ko bahut zyada pasand karti hai is wajah se unki jo dress hai ya phir unki jo bhi saamaan hai wah by bharatiya army ke yani indian army ke kapdo jaisi dikhti hai isse unka yeh manana hai ki sabse pehle humein apne sainikon ko support karna chahiye aur phir unke bare mein suchana de is wajah se wah saree cheezen jo sainik ho ya phir indian army ki chijon ko wah use karte hain aur unhein hamesha represent karte hain

धोनी जो अभी बलिदान बैक की उतार देने के बाद कही गई है तो लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है कि धोनी ज

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  468
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!