क्या सही है की हिन्दू धरम एक सॉफ्ट टारगेट है,चा है वह बॉलीवुड हो या पॉलिटिक्स?...


user

Shubham Kumar

Yoga Instructor

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक तरफ देखा जाता हिंदू धर्म में जरूर सॉफ्ट टारगेट है क्या देखेंगे अगर मूवीस में देखा जाए तो ऐसी बहुत सारी मूवीस बनी जिसमें हिंदू धर्म को टारगेट किया जाता है लेकिन के कोई भी ऐसी अभी तक मूवी नहीं देखे होंगे आपने जिसमें एक मुस्लिम धर्म को टारगेट किया जाता है और पॉलिटिक्स भी देखा जाए तो हिंदू को हिंदू को ही टारगेट किया जाता है मजबूर कर दिया जाता है

ek taraf dekha jata hindu dharam mein zaroor soft target hai kya dekhenge agar Movies mein dekha jaye toh aisi bahut saree Movies bani jisme hindu dharam ko target kiya jata hai lekin ke koi bhi aisi abhi tak movie nahi dekhe honge aapne jisme ek muslim dharam ko target kiya jata hai aur politics bhi dekha jaye toh hindu ko hindu ko hi target kiya jata hai majboor kar diya jata hai

एक तरफ देखा जाता हिंदू धर्म में जरूर सॉफ्ट टारगेट है क्या देखेंगे अगर मूवीस में देखा जाए त

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  948
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए कांग्रेस पार्टी ने हमारे हिंदू धर्म को हमेशा से राजनीति का शिकार बनाया है और मुस्लिम वोट बैंक की राजनीति तो शुरू से करते आ रहे हैं लेकिन हिंदू धर्म को टारगेट बनाने के लिए हमारे बॉलीवुड के भी बहुत सारे मुस्लिम समुदाय के एक्टर लोग हैं इन्हें मौलवी जो होते हैं मुस्लिम समुदाय के वह इन्हें बॉलीवुड के एक्टरों को बोलते हैं कि तुम हिंदू लड़कियों से शादी करो तुम्हें देखकर मुस्लिम समुदाय जागरूक होगा और मुसलमान सभी हिंदू लड़कियों से शादी करेंगे तो मुस्लिम मुस्लिमों की जनसंख्या बढ़ेगी उन्हें लव जिहाद का शिकार बनाओ पॉलिटिक्स में भी ऐसा ही रहा है कांग्रेस पार्टी ने हमेशा ही हिंदू मुस्लिम को आपस में लड़ आया है और लव जिहाद नाम के गलत व्यवस्था को कांग्रेस पार्टी ने हमेशा से सपोर्ट किया है कि कांग्रेस पार्टी देखे विषय में विदेशी विचारधारा की पार्टी है फूट डालो और राज करो उसी माध्यम से हमारे देश में उन लोगों ने काफी दिन तक राज किया लेकिन जब से प्रधानमंत्री जी की सरकार बनी है 2014 के बाद तब से हमारे देश के लोग जागरूक हुए हैं लोगों को पता चला है कि अब हमें किसे वोट देना चाहिए कौन हमारे देश हित के लिए कार्य कर सकता है कौन राष्ट्रवादी विचारधारा का है कौन आतंकवादी विचारधारा का है अब 2014 में मोदी लहर थी 2019 के चुनाव में सुनामी आने वाली है लहर को तो यह लोग रोक नहीं पाए सुनामी को रोक पाएंगे नहीं रोक पाएंगे तो आइए हम सभी लोग मिलजुलकर हिंदू मुस्लिम सिख इसाई सभी लोग मिलजुलकर अपना महत्वपूर्ण योगदान भारतीय जनता पार्टी को दें कमल के फूल पर अपना वोट दीजिए ताकि देश समृद्ध हो सके देश शक्तिशाली हो सके देश में प्रेम और सद्भावना की भावना सके धन्यवाद

dekhiye congress party ne hamare hindu dharam ko hamesha se raajneeti ka shikaar banaya hai aur muslim vote bank ki raajneeti toh shuru se karte aa rahe hain lekin hindu dharam ko target banaane ke liye hamare bollywood ke bhi bahut saare muslim samuday ke actor log hain inhen maulavi jo hote hain muslim samuday ke vaah inhen bollywood ke actoron ko bolte hain ki tum hindu ladkiyon se shadi karo tumhe dekhkar muslim samuday jaagruk hoga aur musalman sabhi hindu ladkiyon se shadi karenge toh muslim muslimo ki jansankhya badhegi unhe love jihad ka shikaar banao politics mein bhi aisa hi raha hai congress party ne hamesha hi hindu muslim ko aapas mein lad aaya hai aur love jihad naam ke galat vyavastha ko congress party ne hamesha se support kiya hai ki congress party dekhe vishay mein videshi vichardhara ki party hai foot dalo aur raj karo usi madhyam se hamare desh mein un logon ne kafi din tak raj kiya lekin jab se pradhanmantri ji ki sarkar bani hai 2014 ke baad tab se hamare desh ke log jaagruk hue hain logon ko pata chala hai ki ab hamein kise vote dena chahiye kaun hamare desh hit ke liye karya kar sakta hai kaun rashtrawadi vichardhara ka hai kaun aatankwadi vichardhara ka hai ab 2014 mein modi lahar thi 2019 ke chunav mein tsunami aane waali hai lahar ko toh yah log rok nahi paye tsunami ko rok payenge nahi rok payenge toh aaiye hum sabhi log miljulakar hindu muslim sikh isayi sabhi log miljulakar apna mahatvapurna yogdan bharatiya janta party ko dein kamal ke fool par apna vote dijiye taki desh samriddh ho sake desh shaktishali ho sake desh mein prem aur sadbhavana ki bhavna sake dhanyavad

देखिए कांग्रेस पार्टी ने हमारे हिंदू धर्म को हमेशा से राजनीति का शिकार बनाया है और मुस्लिम

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  671
WhatsApp_icon
play
user

Rahul Bharat

राजनैतिक विश्लेषक

0:00

Likes  77  Dislikes    views  1228
WhatsApp_icon
user

Mehmood Alum

Law Student

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह कहना बिल्कुल भी सही नहीं है कि बॉलीवुड और राजनीति में हिंदू धर्म को टारगेट किया जा रहा है अगर राजनीति की बात की जाए तो देश की सरकार हिंदूवादी पार्टी भाजपा ही चला रही है और हमारे देश के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से लेकर लगभग सभी राज्यों के सीएम और गवर्नर से भी हिंदू ही हैं साथ ही देश की सभी प्रमुख संस्थाओं जैसे न्यायिक संस्थाओं साक्षी को प्रशासनिक क्षमता थी सेना पुलिस और मीडिया में भी अधिकांश था हिंदू ही हैं इसी तरह बालीवुड में भी अधिकतर अभिनेता अभिनेत्रियों निर्माता और निर्देशक भी हिंदू ही हैं फिर भी यह कहना कि हमारे देश में हिंदू धर्म को टारगेट किया जा रहा है तो यह अतिवादी मानसिकता को ही दर्शाता है आज इसी अतिवादी सोच के आधार पर ही बहुत से लोगों को निशाना बनाया जा रहा है और देश के अंदर भय का माहौल खड़ा करने का प्रयास किया जा रहा है

dekhiye yah kehna bilkul bhi sahi nahi hai ki bollywood aur raajneeti mein hindu dharam ko target kiya ja raha hai agar raajneeti ki baat ki jaaye toh desh ki sarkar hinduvaadi party bhajpa hi chala rahi hai aur hamare desh ke pradhanmantri aur rashtrapati se lekar lagbhag sabhi rajyon ke cm aur governor se bhi hindu hi hain saath hi desh ki sabhi pramukh sasthaon jaise nyaayik sasthaon sakshi ko prashaasnik kshamta thi sena police aur media mein bhi adhikaansh tha hindu hi hain isi tarah balivud mein bhi adhiktar abhineta abhinetriyon nirmaata aur nirdeshak bhi hindu hi hain phir bhi yah kehna ki hamare desh mein hindu dharam ko target kiya ja raha hai toh yah ativaadi mansikta ko hi darshaata hai aaj isi ativaadi soch ke aadhaar par hi bahut se logon ko nishana banaya ja raha hai aur desh ke andar bhay ka maahaul khada karne ka prayas kiya ja raha hai

देखिए यह कहना बिल्कुल भी सही नहीं है कि बॉलीवुड और राजनीति में हिंदू धर्म को टारगेट किया ज

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  450
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं इस बात से बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं क्योंकि मुझे लगता है कि हिंदू धर्म एक सॉफ्ट टारगेट कहीं से नहीं है भारत देश में हिंदू धर्म का अत्याधिक होना मुझे लगता है यह बॉलीवुड और पॉलिटिक्स को एक तरह से इनवाइट करता है अगर आप जाकर हॉलीवुड की मूवी देखे तो वहां पर भी आपको पता चलता है कि वह जीसस क्राइस्ट के बारे में बोलते हैं वह लोग कैसा लग धर्म के वाले बोलते हैं क्या चाइनीस मूवी और पूरी मूवी अब देखेंगे तो बहुत धर्म के बारे में बोलते तो ऐसा कुछ है नहीं पॉलिटिक्स में जरूर हिंदू धर्म हो या कोई और धर्म और जाति में जो मर्डर हुआ हिंदू अनुसूचित जातियों में बटा हुआ है तो इसलिए वह जातियों के ज्यादा पॉलिटिक्स करते हैं जातिवाद बहुत ज्यादा फैला हुआ धर्मनिरपेक्षता तो आप को देख सकते हैं दोनों की इच्छा तो है उसमें धर्म का पालन कि हिंदू और मुस्लिम की यह बातें ज्यादा चलती रहती है लेकिन फिर भी मुझे लगता है कि यह केवल और केवल हिंदुस्तान की बात है ही नहीं वह तो इंसान को एक दूसरे से लड़वाकर वोट बैंक की राजनीति करना एक कार्य और बॉलीवुड मुझे लगता है बोलो तो कहीं से कहीं तक नहीं है कोई सॉफ्टवेयर हो तो होता ही नहीं है और ब्लू केवल क्रिएटिविटी पर ध्यान देते हैं उन्हें जोशी ज्यादा क्रिएटिव लगती है जिससे जनता को गलत कनेक्ट कर पाते हैं उस पर ध्यान देते हैं ऐसा कुछ नहीं है कि हिंदू धर्म को एक बॉलीवुड मूवी बना दी और उसमें किसी ईश्वर का अपमान कर दिया कैथोलिक मूवी जो अभी अमेरिकन मूवीस अगर आप देखेंगे तो उसमें बहुत सारे किया जाता है उसमें क्या आप चाइनीस मूवी देखने तुमसे बहुत जो जिंदगी बारे में तो ऐसा मुझे लगता नहीं है मैं आपसे आपसे सहमत नहीं बिल्कुल धन्यवाद

main is baat se bilkul bhi sahmat nahi hoon kyonki mujhe lagta hai ki hindu dharam ek soft target kahin se nahi hai bharat desh mein hindu dharam ka atyadhik hona mujhe lagta hai yah bollywood aur politics ko ek tarah se invite karta hai agar aap jaakar hollywood ki movie dekhe toh wahan par bhi aapko pata chalta hai ki vaah jesus Christ ke bare mein bolte hain vaah log kaisa lag dharam ke waale bolte hain kya Chinese movie aur puri movie ab dekhenge toh bahut dharam ke bare mein bolte toh aisa kuch hai nahi politics mein zaroor hindu dharam ho ya koi aur dharam aur jati mein jo murder hua hindu anusuchit jaatiyo mein bataa hua hai toh isliye vaah jaatiyo ke zyada politics karte hain jaatiwad bahut zyada faila hua dharmanirapekshata toh aap ko dekh sakte hain dono ki iccha toh hai usmein dharam ka palan ki hindu aur muslim ki yah batein zyada chalti rehti hai lekin phir bhi mujhe lagta hai ki yah keval aur keval Hindustan ki baat hai hi nahi vaah toh insaan ko ek dusre se ladavakar vote bank ki raajneeti karna ek karya aur bollywood mujhe lagta hai bolo toh kahin se kahin tak nahi hai koi software ho toh hota hi nahi hai aur blue keval creativity par dhyan dete hain unhe joshi zyada creative lagti hai jisse janta ko galat connect kar paate hain us par dhyan dete hain aisa kuch nahi hai ki hindu dharam ko ek bollywood movie bana di aur usmein kisi ishwar ka apman kar diya catholic movie jo abhi american Movies agar aap dekhenge toh usmein bahut saare kiya jata hai usmein kya aap Chinese movie dekhne tumse bahut jo zindagi bare mein toh aisa mujhe lagta nahi hai main aapse aapse sahmat nahi bilkul dhanyavad

मैं इस बात से बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं क्योंकि मुझे लगता है कि हिंदू धर्म एक सॉफ्ट टारगेट

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  892
WhatsApp_icon
user
1:06
Play

Likes  59  Dislikes    views  1188
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका जो सवाल है कि हिंदू धार्मिक सॉफ्ट टारगेट है या नहीं तो मेरा मानना यह है कि हमारे देश में जो हिंदू है वह सबसे ज्यादा नंबर में है और सबसे ज्यादा जो जनता है वह हिंदू समाज से बिलॉन्ग करती है और हिंदू है वह हम सब लोग सबसे ज्यादा तो आप यह बहुत आम बात हो जाती है कि जो हिंदू लोग होते हैं एक दूसरे के खिलाफ या फिर एक दूसरे के अलग-अलग जाति पर इतना चाहता टिप्पणी करते हैं या फिर इतना ऊंचा नीचा उसको समझते हैं कि जिसकी वजह से और कहीं ना कहीं हिंदू में धार्मिक सॉफ्ट टारगेट बन जाता है बाकी धर्मों के लोगों के लिए यह कहने का किन-किन लोगों ने यह कहा कि इन लोगों ने यह करो और उसके अलावा जो बाकी धर्म के लोग हैं वह थोड़ा माइनॉरिटी में हमारे देश में और वह लोग इस चीज का फायदा इस तरह से उठाते हैं कि वह जब भी कोई बात होती है किसी और की या फिर कोई नई योजना की या फिर किसी भी चीज की तो वह लोग यह चीज़ सब हिंदू धर्म के लोगों पर डाल देते हैं कि इन लोगों ने बनाया है तो यह अपने लिए ही सब कुछ कर रहे हैं और हमें जो हमारा धर्म और हमारे धर्म के लोगों के लिए कुछ नहीं किया जा रहा है देश में उसके अलावा जो आपने कब बॉलीवुड में ऐसा है कि नहीं है तो बॉलीवुड में ज्यादा हिंदू धर्म और बाकी धर्मों में ज्यादा कोई ऐसा फर्क नहीं है और लोग बॉलीवुड में बहुत ही खुले विचारों के हैं और धर्म के आधार पर एक दूसरे में विभाजन नहीं करते और ना ही किसी धर्म के आधार पर किसी दूसरे को टारगेट करके रहते हैं क्योंकि जैसे की हम जानते हैं कि हमारा घर हमारे देश में सबसे ज्यादा हिंदू हैं परंतु बॉलीवुड में जो सबसे पॉपुलर स्टार्स माने जाते हैं वो लोग मुसलमान है जो कि सलमान खान शाहरुख खान और आमिर खान हम तो हमारे देश में हर तरह के धर्म को अपनी अलग महत्व था दी गई है पैसा नहीं है कि एक हिंदू धर्म एक सॉफ्ट टारगेट है तो सिर्फ इसलिए क्योंकि लोग इतने ज्यादा है तो वह कहां कह दिया जाता है कि हिंदू धर्म एक सॉफ्ट टारगेट बन जाता है

aapka jo sawaal hai ki hindu dharmik soft target hai ya nahi toh mera manana yah hai ki hamare desh mein jo hindu hai vaah sabse zyada number mein hai aur sabse zyada jo janta hai vaah hindu samaaj se Belong karti hai aur hindu hai vaah hum sab log sabse zyada toh aap yah bahut aam baat ho jaati hai ki jo hindu log hote hain ek dusre ke khilaf ya phir ek dusre ke alag alag jati par itna chahta tippani karte hain ya phir itna uncha nicha usko samajhte hain ki jiski wajah se aur kahin na kahin hindu mein dharmik soft target ban jata hai baki dharmon ke logon ke liye yah kehne ka kin kin logon ne yah kaha ki in logon ne yah karo aur uske alava jo baki dharam ke log hain vaah thoda minority mein hamare desh mein aur vaah log is cheez ka fayda is tarah se uthate hain ki vaah jab bhi koi baat hoti hai kisi aur ki ya phir koi nayi yojana ki ya phir kisi bhi cheez ki toh vaah log yah cheez sab hindu dharam ke logon par daal dete hain ki in logon ne banaya hai toh yah apne liye hi sab kuch kar rahe hain aur hamein jo hamara dharam aur hamare dharam ke logon ke liye kuch nahi kiya ja raha hai desh mein uske alava jo aapne kab bollywood mein aisa hai ki nahi hai toh bollywood mein zyada hindu dharam aur baki dharmon mein zyada koi aisa fark nahi hai aur log bollywood mein bahut hi khule vicharon ke hain aur dharam ke aadhaar par ek dusre mein vibhajan nahi karte aur na hi kisi dharam ke aadhaar par kisi dusre ko target karke rehte hain kyonki jaise ki hum jante hain ki hamara ghar hamare desh mein sabse zyada hindu hain parantu bollywood mein jo sabse popular stars maane jaate hain vo log musalman hai jo ki salman khan shahrukh khan aur aamir khan hum toh hamare desh mein har tarah ke dharam ko apni alag mahatva tha di gayi hai paisa nahi hai ki ek hindu dharam ek soft target hai toh sirf isliye kyonki log itne zyada hai toh vaah kahaan keh diya jata hai ki hindu dharam ek soft target ban jata hai

आपका जो सवाल है कि हिंदू धार्मिक सॉफ्ट टारगेट है या नहीं तो मेरा मानना यह है कि हमारे देश

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  643
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मेरे ख्याल से ऐसा बिल्कुल नहीं है कि हिंदू धर्म एक सॉफ्ट टारगेट है फिर वह बॉलीवुड के लिए क्यों न हो या पॉलिटिक्स के लिए देखा जाए तो मतलब यह अपने अपने जगह पर है अभी बॉलीवुड जो भी पिक्चर्स निकाल रहे हैं तो वह डिपेंड करता है वह शायरी इन आंखों या सारे घर हो उनके लिए भी टाइम से खा रहा है ना तू सिर्फ हिंदू धर्म में ऐसा काम नहीं कर सकते अलग-अलग स्थानों या फिर अभी अलग-अलग टाइगर जिंदा है धर्मों के रिलेटिव फ्री मूवीस आई है जब हिंदू धर्म 100 फिट ऐसा नहीं कर सकते पॉलिटिक्स में कुछ ना कुछ बोल देता है उसके वजह से भड़क जाते हैं लोग और जगमगाते हैं अगर मैंने यह बात कही जाए तो अभी तो पद्मावत का मैटर हुआ है अभी कहा है कि नेताओं को देर से ढूंढ ली गई है सा राज्य में पद्मावत को लेकर बिल्कुल सही नहीं है सब कर देना चाहिए और बॉलीवुड का टारगेट दीपावली साथ में रहना चाहते थे उसको एक प्रकार नहीं दिखाते हैं तो पॉलिटिक्स को हिंदू धर्म का बहुत बोलते हैं

lekin mere khayal se aisa bilkul nahi hai ki hindu dharam ek soft target hai phir vaah bollywood ke liye kyon na ho ya politics ke liye dekha jaaye toh matlab yah apne apne jagah par hai abhi bollywood jo bhi pictures nikaal rahe hain toh vaah depend karta hai vaah shaayari in aakhon ya saare ghar ho unke liye bhi time se kha raha hai na tu sirf hindu dharam mein aisa kaam nahi kar sakte alag alag sthanon ya phir abhi alag alag tiger zinda hai dharmon ke relative free Movies I hai jab hindu dharam 100 fit aisa nahi kar sakte politics mein kuch na kuch bol deta hai uske wajah se bhadak jaate hain log aur jagamagate hain agar maine yah baat kahi jaaye toh abhi toh padmavat ka matter hua hai abhi kaha hai ki netaon ko der se dhundh li gayi hai sa rajya mein padmavat ko lekar bilkul sahi nahi hai sab kar dena chahiye aur bollywood ka target deepawali saath mein rehna chahte the usko ek prakar nahi dikhate hain toh politics ko hindu dharam ka bahut bolte hain

लेकिन मेरे ख्याल से ऐसा बिल्कुल नहीं है कि हिंदू धर्म एक सॉफ्ट टारगेट है फिर वह बॉलीवुड के

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  736
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी की और हिंदू धर्म जो है अगर वह भी की बात करें तो हां बॉलीवुड के समय में कह सकते हैं बॉलीवुड पिक्चरों को देखे हम कह सकते कि आज तक टारगेट है क्योंकि अपनों को जो सबसे पहली फिल्म नहीं है जो कि हिंदू लोग जो मैंने पोस्ट कर रहे हैं हां या फिर से खिलाफ प्रदर्शन कर रहा है क्या कर रामलीला देखेगा तो खाना कहां पर जो है इंतजार में जाए बॉलीवुड क्लिक सॉफ्ट टारगेट रह चुका है कोई भी अगर ऐसी कोई फिल्म की आपत्तिजनक लगती है हिंदू धर्म को तो लोग जो हमेशा नाउ फिल्म पर प्रश्न उठाते हैं उन्हें बंद करने की मांग करते हैं लेकिन जातिवाद पॉलिटिक्स की आती है तो पॉलिटिक्स में ऐसा नहीं है हम हिंदू धर्म की जो भी आकाश सत्संग आश्रम कैंसर की पिछली कास्ट है उस पर जो हम कह सकते वॉइस ऑफ टारगेट है क्या ऑफ इंसिडेंट हो गया X कोई भी दूसरा गाना चाहिए वह होना में दलितों को मारना हो या फिर जीने का केस हो तो खाना खा पर जो है हिंदू धर्म में जो हैं आप एक सॉफ्टवेयर के जरिए चुका है बॉलीवुड के लिए और पॉलिटिक्स के लिए भी क्योंकि हम कोई भी पिछली सारी अपनी टीचर को गर्म ठेस पहुंचाते हैं या फिर उन्हें ठीक लगता है तो खाना खा कर फिर आने वाले समय में जाए तो देश मुझे बहुत आगे तक बढ़ जाता है तो यह बात सही है कि हिंदू धर्म जो एक शौक था फिर बन चुका है बॉलीवुड की भी आस पास की नदी

modi ki aur hindu dharam jo hai agar vaah bhi ki baat karen toh haan bollywood ke samay mein keh sakte hain bollywood pikcharon ko dekhe hum keh sakte ki aaj tak target hai kyonki apnon ko jo sabse pehli film nahi hai jo ki hindu log jo maine post kar rahe hain haan ya phir se khilaf pradarshan kar raha hai kya kar ramlila dekhega toh khana kahaan par jo hai intejar mein jaaye bollywood click soft target reh chuka hai koi bhi agar aisi koi film ki aapattijanak lagti hai hindu dharam ko toh log jo hamesha now film par prashna uthate hain unhe band karne ki maang karte hain lekin jaatiwad politics ki aati hai toh politics mein aisa nahi hai hum hindu dharam ki jo bhi akash satsang aashram cancer ki pichali caste hai us par jo hum keh sakte voice of target hai kya of incident ho gaya X koi bhi doosra gaana chahiye vaah hona mein dalito ko maarna ho ya phir jeene ka case ho toh khana kha par jo hai hindu dharam mein jo hain aap ek software ke jariye chuka hai bollywood ke liye aur politics ke liye bhi kyonki hum koi bhi pichali saree apni teacher ko garam thes pahunchate hain ya phir unhe theek lagta hai toh khana kha kar phir aane waale samay mein jaaye toh desh mujhe bahut aage tak badh jata hai toh yah baat sahi hai ki hindu dharam jo ek shauk tha phir ban chuka hai bollywood ki bhi aas paas ki nadi

मोदी की और हिंदू धर्म जो है अगर वह भी की बात करें तो हां बॉलीवुड के समय में कह सकते हैं बॉ

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  657
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदू धर्म एक शौक टारगेट है या नहीं मेरे हिसाब से आप अगर देखें तो हमारा देश है हम लोग यहां पर सबसे ज्यादा संख्या कितने लोगों की है तो वह हिंदुओं की है और अगर आप टारगेट की बात करें तो जो हमारे ही धर्म के लोग हैं या फिर को यहां के इस देश के जो लोग हैं चाहे वह बॉलीवुड हो या फिर पॉलिटिक्स एक मुद्दे को जिस मुद्दे को इतना इंपोर्टेंट नहीं देना चाहिए या फिर इतना स्ट्रेस नहीं करना चाहिए तो यहां के लोग हैं वह हिंदू धर्म को एक सॉफ्ट टारगेट बनाते हैं ऐसा नहीं है कि किसी कोई और धर्म टारगेट कर रहा है या कुछ तो खुद ही अगर उस चीज को इतना स्ट्रेस क्या जाएगा कोई भी छोटी मोटी मुद्दा हो या पीछे कोई छोटा बड़ा बात हो जैसे कि आप हाल फिलहाल में देख लीजिए मूवी पद्मावती के लिए इंटरटेनमेंट के पोस्टपेड से बनाई गई है तू हुस्ना जगह से नहीं देखा गया वह काफी कुछ मुद्दा उखड़कर आया बहुत कुछ हुआ और इसको इतना ज्यादा आप पर चिता कर कर कर कर दिया गया कि शायद खुद ही हिंदू धर्म या फिर जो भी है खुद ही खुद को टारगेट बना दिया तो ऐसा नहीं है कि मेरे हिसाब से लोग इसको टारगेट खुद ही खुद के धर्म के लोग इसको एक सॉफ्ट टारगेट की तरह सोसाइटी में दिखा रहे हैं

hindu dharam ek shauk target hai ya nahi mere hisab se aap agar dekhen toh hamara desh hai hum log yahan par sabse zyada sankhya kitne logon ki hai toh vaah hinduon ki hai aur agar aap target ki baat karen toh jo hamare hi dharam ke log hain ya phir ko yahan ke is desh ke jo log hain chahen vaah bollywood ho ya phir politics ek mudde ko jis mudde ko itna important nahi dena chahiye ya phir itna stress nahi karna chahiye toh yahan ke log hain vaah hindu dharam ko ek soft target banate hain aisa nahi hai ki kisi koi aur dharam target kar raha hai ya kuch toh khud hi agar us cheez ko itna stress kya jaega koi bhi choti moti mudda ho ya peeche koi chota bada baat ho jaise ki aap haal filhal mein dekh lijiye movie padmavati ke liye entertainment ke postpaid se banai gayi hai tu husna jagah se nahi dekha gaya vaah kafi kuch mudda ukhadakar aaya bahut kuch hua aur isko itna zyada aap par chita kar kar kar kar diya gaya ki shayad khud hi hindu dharam ya phir jo bhi hai khud hi khud ko target bana diya toh aisa nahi hai ki mere hisab se log isko target khud hi khud ke dharam ke log isko ek soft target ki tarah society mein dikha rahe hain

हिंदू धर्म एक शौक टारगेट है या नहीं मेरे हिसाब से आप अगर देखें तो हमारा देश है हम लोग यहां

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  917
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!