क्या रोजर फेडरर ऑस्ट्रेलियाई ओपन जीतने के लायक है? क्या वह टेनिस के देवता है? क्यों?...


user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए किस प्रकार से रोज अप डाउन स्क्रीन ओपन में खेल रहा है और ऐसा माना जाता तो निश्चित ही कोई शहरी खिलाड़ी है जो कि खेजडी चेहरा पर डाल दीजिए जो गिरे तेरे आंसू मेरी आंखो से निकल ले जा चुके हैं इस कंपटीशन से दुकान आकर पर कैसे लग रहा है कि राज्यघटनेचे ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब दो अच्छे से सेंड कर सकते कि पिछले साल क्यों नहीं जीता था जो काम ना करो तो जिस प्रकार सिंह का फॉर्म चल रहा है जिस प्रकार से ओपन एकदम आराम से हराया तो मुझे लग रहा है उस दिन जीतने की लाइट है कि आई नो व्हाट इज के देवता भी है कि जिस प्रकार से 10 आज इतने सालों से खेलते आ रहे हो क्या गर्म गर्म उनकी उम्र देखे अभी तो अभी 30 बरस के ऊपर है सूरज के ऊपर ही नहीं उनकी उम्र जो है वह अभी लगभग 36 से 36 साल की उम्र में भी आकर हो इतनी कंपटीशन जीत पा रहे हैं जिस प्रकार से उन्होंने सेमी फाइनल राउंड पकवान एंट्री की है और तू खाना कहां पर है उनकी उम्र जो है उनके बारे में नहीं बताती है इतनी उम्र होने के बाद 19046 प्रकार से भी उम्र में खेल रहे हैं क्यों 35 साल की उमर में ऑस्ट्रेलियन ओपन जीता वार्ड नंबर 10 जिला थाना कहां पर है ना सही बात करता है कितनी उम्र कितना मैच जीता और आपने कोई ना कोई बात तो है ही तो मेरे हिसाब से राजा पेट राजा शेरों के जितने के लायक कैसे सही नहीं हुआ टेनिस के देवता भी है

dekhiye kis prakar se roj up down screen open mein khel raha hai aur aisa mana jata toh nishchit hi koi shahri khiladi hai jo ki khejdi chehra par daal dijiye jo gire tere aasu meri aankho se nikal le ja chuke hain is competition se dukaan aakar par kaise lag raha hai ki rajyaghataneche australian open ka khitaab do acche se send kar sakte ki pichle saal kyon nahi jita tha jo kaam na karo toh jis prakar Singh ka form chal raha hai jis prakar se open ekdam aaram se haraya toh mujhe lag raha hai us din jitne ki light hai ki I no what is ke devta bhi hai ki jis prakar se 10 aaj itne salon se khelte aa rahe ho kya garam garam unki umr dekhe abhi toh abhi 30 baras ke upar hai suraj ke upar hi nahi unki umr jo hai vaah abhi lagbhag 36 se 36 saal ki umr mein bhi aakar ho itni competition jeet paa rahe hain jis prakar se unhone semi final round pakvaan entry ki hai aur tu khana kahaan par hai unki umr jo hai unke bare mein nahi batati hai itni umr hone ke baad 19046 prakar se bhi umr mein khel rahe hain kyon 35 saal ki umar mein australian open jita ward number 10 jila thana kahaan par hai na sahi baat karta hai kitni umr kitna match jita aur aapne koi na koi baat toh hai hi toh mere hisab se raja pet raja sheron ke jitne ke layak kaise sahi nahi hua tennis ke devta bhi hai

देखिए किस प्रकार से रोज अप डाउन स्क्रीन ओपन में खेल रहा है और ऐसा माना जाता तो निश्चित ही

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rajsi

Sports Commentator & Reporter

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल लाइक हैं और लाइक तो उनका ऐसे भी साबित होता है कि 19 बार ग्रैंड स्लैम जीत चुके हैं अभी अभी तक और जिस तरह से उन्होंने अपना खेल लगातार लगातार दिखाया है बहुत-बहुत ग्रो कर चुके हैं अगर आप उनके पहले की कहानी जाने दो उनको देखता कहना आसान होगा क्योंकि यह रोजर फेडरर अभी कितने शालीन और जितेश शांत देखते हैं वह पहले ऐसे बिल्कुल भी नहीं थे जब वह हट जाते थे या कोई पॉइंट हार जाते थे इतनी गुस्सा आती थी कि वह लड़की पटक दिया करते थे फेंक दिया करते थे ऑडियंस पर चिल्लाना मीडिया पर चलना नाम बहुत बहुत बुरा हीरोइन का हुआ करता था इतना बुरा कि खिलाड़ियों का झगड़ा हो जाता था ऑडियो तो झगड़ा होता था उनकी के घर वाले बहुत परेशान थे और उनकी खोज के बारे में बात कर ना सके उन्होंने उनको समझा कि यह बहुत बड़े खिलाड़ी बन सकते हैं अगर अपने गुस्से पर अपना एटीट्यूड पर थोड़ा कंट्रोल नहीं आए तो उसके साथ था उनको शांत रखने की कोशिश करते थे और उन्होंने यह बात शेयर भी किसी राजा से कि वह चाहते हैं कि सबसे पहले एक बेहतर इंसान बने फिर वह बेहतर खिलाड़ी बने लेकिन फिर प्रिंट हो गया कार क्लास में उनके कोच की मौत हो गई जिसके बाद राज्य पर काफी ज्यादा परेशान हो गए और उनका वह टिकट और ऊपर आने लग गया तब उन्होंने कसम खाई कि मैं अपने कोच के लिए सबसे पहले एक बेहतर इंसान बनूंगा फिर एक बेहतर खिलाड़ी 210 इसके साथ-साथ प्राप्त करने लग गए अपने एटीट्यूड के ऊपर और फिर वह जो इंसान निकला उसने 19 ग्राम चांदी थे और वह टेनिस का महान खिलाड़ी बन कर के ओबरा ट्रेन में बिल्कुल लायक है वह बिल्कुल ओपन कि नहीं हर 1 ग्राम के बखूबी लायक है अभी तक एक फ्रेंच ओपन का टाइटल के नाम है मैं प्रे करूंगा कि वह अपने आप को साबित करें और फ्रेंच ओपन अबकी बार जरूर जीता

bilkul like hain aur like toh unka aise bhi saabit hota hai ki 19 baar grand slam jeet chuke hain abhi abhi tak aur jis tarah se unhone apna khel lagatar lagatar dikhaya hai bahut bahut grow kar chuke hain agar aap unke pehle ki kahani jaane do unko dekhta kehna aasaan hoga kyonki yah rojer fedrer abhi kitne shaleen aur Jitesh shaant dekhte hain vaah pehle aise bilkul bhi nahi the jab vaah hut jaate the ya koi point haar jaate the itni gussa aati thi ki vaah ladki patak diya karte the fenk diya karte the adiyans par chillana media par chalna naam bahut bahut bura heroine ka hua karta tha itna bura ki khiladiyon ka jhadna ho jata tha audio toh jhadna hota tha unki ke ghar waale bahut pareshan the aur unki khoj ke bare mein baat kar na sake unhone unko samjha ki yah bahut bade khiladi ban sakte hain agar apne gusse par apna attitude par thoda control nahi aaye toh uske saath tha unko shaant rakhne ki koshish karte the aur unhone yah baat share bhi kisi raja se ki vaah chahte hain ki sabse pehle ek behtar insaan bane phir vaah behtar khiladi bane lekin phir print ho gaya car class mein unke coach ki maut ho gayi jiske baad rajya par kaafi zyada pareshan ho gaye aur unka vaah ticket aur upar aane lag gaya tab unhone kasam khai ki main apne coach ke liye sabse pehle ek behtar insaan banunga phir ek behtar khiladi 210 iske saath saath prapt karne lag gaye apne attitude ke upar aur phir vaah jo insaan nikala usne 19 gram chaandi the aur vaah tennis ka mahaan khiladi ban kar ke obra train mein bilkul layak hai vaah bilkul open ki nahi har 1 gram ke bakhubi layak hai abhi tak ek french open ka title ke naam hai prey karunga ki vaah apne aap ko saabit kare aur french open abki baar zaroor jita

बिल्कुल लाइक हैं और लाइक तो उनका ऐसे भी साबित होता है कि 19 बार ग्रैंड स्लैम जीत चुके हैं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
play
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:46

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जरूर मतलब रोजर फेडरर यह ऑस्ट्रेलियन ओपन के देखने के लायक है क्योंकि देखा जाए तो रोजर फेडरर टेनिस के बहुत ही महान खिलाड़ी है वह स्विट्जरलैंड से बिलॉन्ग करते हैं देखा जाए तो बहुत मतलब पूरे वर्ल्ड में और बहुत ज्यादा लोग उनको अपना आइडियल मानते हैं तू मेरे ख्याल से बहुत जरूरी ऑस्ट्रेलिया ओपन देखने के लायक है हालांकि उनके कंपीटीशन में हो या कमरे में हो रहा साल भी उतना ही अच्छा है तो पिछले साल का असली नोट बंद हुए जीता था 2017 का एल्बम रोजर फेडरर को पीछे नहीं समझ सकते कि उन्होंने अब तक 19 ग्राम शिलाजीत है यह कोई छोटी बात नहीं है वह बहुत ही महान टेनिस प्लेयर है उन्होंने एक दिन की हो या फ्रेंडशिप बंधु हॉस्पिटल एंड यू इटालियन ओपन हो इसमें और 12568 1112 तक इन इयर्स में अलग-अलग इयर्स में यह सारी किताब जीते हैं तो मेरे ख्याल से वह बहुत ही अच्छे खिलाड़ी हैं और हां अभी मैंने इतना सारा जो कराओ उससे तो वह टेनिस के देवता ही कहना है जा सकते हैं मतलब उनका फोन बहुत ही अच्छा होता है अगर वह खेलने लगे तो हम भी देखने में दंग रह जाते हैं तो इंग्लिश में टेंस के देवता है और वहां बहुत से ऊपर देखने के लायक है बट फिर भी कभी-कभी ऐसा होता है यह कभी मैच में अगर दो लोग एक अखबार बन के आ जाए तो फिर और क्या डॉक्यूमेंट हम कुछ नहीं कह सकते बट वह जरूर बहुत ही काबिले से खिलाड़ी है

dekhiye zaroor matlab rojer fedrer yah australian open ke dekhne ke layak hai kyonki dekha jaaye toh rojer fedrer tennis ke bahut hi mahaan khiladi hai vaah Switzerland se Belong karte hain dekha jaaye toh bahut matlab poore world mein aur bahut zyada log unko apna ideal maante hain tu mere khayal se bahut zaroori austrailia open dekhne ke layak hai halaki unke kampitishan mein ho ya kamre mein ho raha saal bhi utana hi accha hai toh pichle saal ka asli note band hue jita tha 2017 ka album rojer fedrer ko peeche nahi samajh sakte ki unhone ab tak 19 gram shilajeet hai yah koi choti baat nahi hai vaah bahut hi mahaan tennis player hai unhone ek din ki ho ya friendship bandhu hospital and you italian open ho isme aur 12568 1112 tak in years mein alag alag years mein yah saree kitab jeete hain toh mere khayal se vaah bahut hi acche khiladi hain aur haan abhi maine itna saara jo karao usse toh vaah tennis ke devta hi kehna hai ja sakte hain matlab unka phone bahut hi accha hota hai agar vaah khelne lage toh hum bhi dekhne mein deng reh jaate hain toh english mein tense ke devta hai aur wahan bahut se upar dekhne ke layak hai but phir bhi kabhi kabhi aisa hota hai yah kabhi match mein agar do log ek akhbaar ban ke aa jaaye toh phir aur kya document hum kuch nahi keh sakte but vaah zaroor bahut hi kabile se khiladi hai

देखिए जरूर मतलब रोजर फेडरर यह ऑस्ट्रेलियन ओपन के देखने के लायक है क्योंकि देखा जाए तो रोजर

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!