४५ दिन का बेबी दिन में सोता है और पुरे रात रोते हुये जागती है? ऐसा क्या किया जाए जिससे बेबी दिन में जागे और रात में सोये?...


play
user

Vivek Shukla

Life coach

1:08

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि आपका जो जो क्वेश्चन है कि मां ने 84 दिन का बेबी है और वह दिनभर माने सोता है रात में अक्सर जाकर बार-बार परेशान करता है कि नहीं तो वह बहुत ज्यादा तो नहीं जानता लेकिन क्या है कि बच्चों को अधिक सोने से उनका विरोध बढ़ता है तहसील में बच्चों को सोने देने के लिए उनको ही मालूम केनेथ को खराब नहीं करना चाहिए लेकिन जितना हो सके उसे दिन में कम सोने दी है फिर उसके साथ जैसे आप लोग बैठते हैं उसे माने खिलाने के लिए तरह तरह के काम करती है फिर अपने चेहरे कोई स्पेशल जमाते हैं ऐसे मुंह बच्चा जागता रहता है ऐसे यदि आप उसके साथ थोड़ी टाइम स्पेंड करें या फिर तू एक बारी बारी के घर के प्रत्येक सदस्य उसके साथ थोड़ा थोड़ा समय दे तू ज्यादा सोएगा नहीं इसमें दांत को आबू जागेगा मनीष रात को भी सोएगा उस दिन में आ जाता रहेगा और जहां तक आप कुछ चाहिए कि बच्चे के साथ दिन में थोड़ा थोड़ा टाइम सब दे तो ज्यादा बेहतर होगा और रात के समय बच्चे हैं वह जागेंगे हूं क्योंकि उनके आजमाने किसी भी प्रकार का प्रॉब्लम हो तो जाग जाते हैं उनका इसलिए रात की क्योंकि मच्छर भी बहुत ज्यादा काटते भारत में वह ज्यादा पाए जाते हैं उनको बच्चों का रात का कोई ख्याल नहीं रख पाता दिन भर तो सब देते हैं रात में कोई सिर्फ मां के पास होता है कैसे मुझसे काफी प्रॉब्लम होती है तब से यही होगा कि आप उनके लिए ज्यादा ध्यान दें वह के बाद फ्रेंड

ki aapka jo jo question hai ki maa ne 84 din ka BA by hai aur wah dinbhar maane sota hai raat mein aksar jaakar BA ar BA ar pareshan karta hai ki nahi toh wah BA hut zyada toh nahi jaanta lekin kya hai ki BA cchon ko adhik sone se unka virodh BA dhta hai tehsil mein BA cchon ko sone dene ke liye unko hi maloom kenneth ko kharab nahi karna chahiye lekin jitna ho sake use din mein kam sone di hai phir uske saath jaise aap log BA ithate hai use maane khilane ke liye tarah tarah ke kaam karti hai phir apne chehre koi special jamate hai aise mooh BA ccha jagata rehta hai aise yadi aap uske saath thodi time spend karein ya phir tu ek BA ari BA ari ke ghar ke pratyek sadasya uske saath thoda thoda samay de tu zyada soega nahi ismein dant ko aabu jaagegaa manish raat ko bhi soega us din mein aa jata rahega aur jaha tak aap kuch chahiye ki BA cche ke saath din mein thoda thoda time sab de toh zyada behtar hoga aur raat ke samay BA cche hai wah jagenge hoon kyonki unke aajmane kisi bhi prakar ka problem ho toh jag jaate hai unka isliye raat ki kyonki macchar bhi BA hut zyada katatey bharat mein wah zyada paye jaate hai unko BA cchon ka raat ka koi khayal nahi rakh pata din bhar toh sab dete hai raat mein koi sirf maa ke paas hota hai kaise mujhse kaafi problem hoti hai tab se yahi hoga ki aap unke liye zyada dhyan de wah ke BA ad friend

कि आपका जो जो क्वेश्चन है कि मां ने 84 दिन का बेबी है और वह दिनभर माने सोता है रात में अक्

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  931
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kriti

Volunteer

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो भी छोटे बच्चे होते हैं उन्हें दिन और रात का पता नहीं होता है और अगर हम बात करो देखिए अगर आप उसे दिनभर जगाना चाहते हैं और रात भर चलाना चाहते हैं तो यह थोड़ा पॉसिबल नहीं है क्योंकि जब भी बच्चा सोने की कोशिश करता है मतलब बहुत थक जाता है उसे लगता है कि उसे सोनाक्षी और जो बच्चे होते 10 चौके और अपना जो दिन और रात है उसको बिताते हैं जब भी उन्हें भूख लगती तब वह जाते हैं तो उनके लिए दिन और रात मायने नहीं रखते हैं उनके लिए यह मायने रखता है कि उन्हें कब सोना है कब उन्हें भूख लग रही है तो उन्हें कभी भी भूख लग सकती है अभी भी उन्हें नींद आ सकती तो तब होते ही हैं यदि आप चाहते हैं कि वह रात में सोए हो तो इसके लिए आप कोशिश कर सकते हैं कि दिन में उन्हें जगह सकते हैं उनके साथ खेल सकते हैं जिससे कि वह दिन में थक गए और रात में सोए लेकिन फिर भी बच्चे दोपहर में सोते ही है तो शाम को आप उन्हें उनको जगा सकते हो और उनके साथ खेल सकते हो ताकि वह उसके बाद थक जाएं और पूरी रात सो जा

jo bhi chote BA cche hote hai unhe din aur raat ka pata nahi hota hai aur agar hum BA at karo dekhiye agar aap use dinbhar jagaana chahte hai aur raat bhar chalana chahte hai toh yah thoda possible nahi hai kyonki jab bhi BA ccha sone ki koshish karta hai matlab BA hut thak jata hai use lagta hai ki use sonakshi aur jo BA cche hote 10 choake aur apna jo din aur raat hai usko Bitate hai jab bhi unhe bhukh lagti tab vaah jaate hai toh unke liye din aur raat maayne nahi rakhte hai unke liye yah maayne rakhta hai ki unhe kab sona hai kab unhe bhukh lag rahi hai toh unhe kabhi bhi bhukh lag sakti hai abhi bhi unhe neend aa sakti toh tab hote hi hai yadi aap chahte hai ki vaah raat mein soye ho toh iske liye aap koshish kar sakte hai ki din mein unhe jagah sakte hai unke saath khel sakte hai jisse ki vaah din mein thak gaye aur raat mein soye lekin phir bhi BA cche dopahar mein sote hi hai toh shaam ko aap unhe unko jagah sakte ho aur unke saath khel sakte ho taki vaah uske BA ad thak jaye aur puri raat so ja

जो भी छोटे बच्चे होते हैं उन्हें दिन और रात का पता नहीं होता है और अगर हम बात करो देखिए अग

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!