इतिहास में तारीख होना क्यों ज़रूरी है?...


user
1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार बंधु भाइयों आपका सवाल है इतिहास में तारीख होना क्यों जरूरी है यहां बहुत जरूरी है तारीख नहीं रहेगा तो आप इतिहास को जो है समय के दायरे में कैसे बांध बताइए इतिहास में जो है तारीख होना बहुत ही जरूरी होता है जैसे यह जो है घटना कब घटी किसके काल में घटती और उस वक्त शासन भूलकर रात यह सारी बातें हैं तो इतिहास में यह तारीख होना नितांत ही आवश्यक रहता है तारीफ के लिए दो शब्दावली का इस्तेमाल होता है कि ईस्वी में इसको अंग्रेजी में यह भी बोला जाता है इस का फुल फॉर्म होता है आर्मी 2 मिनी और दो और दूसरा है इसवी पूर्व उसको अंग्रेजी में बी सी कहा जाता है पुल पर होता है विचार कर आए तो यह जो है हिस्टोरियन लोग जो है किसी घटना और पक्के को समझने के लिए जो है इस प्रकार के उन चीजों को जो है वह राम आने की डेट और टाइम हो गया जो है फिक्स करते हैं अभी जो वर्तमान में जितने सारे जो वीडियो बन रहे हैं किसी बड़े बड़े नेताओं के ऊपर और बहुत सारे लोगों के ऊपर तो आगे का जो आने वाली जो 200 साल की पुरानी जो आगे वाली जो पूरी होगी वह इतिहास फिल्मों में ही देख लेगी क्योंकि अब तो सब चीज का सीडी बनता है युद्ध भी जो है अब वह देखा जा सकता है सेटेलाइट से तो पूरा देख लेगी लेकिन पुराने जमाने में जो है थोड़ा यह सब बात नहीं था डिफरेंस था इसलिए जो है इतिहासकार उसको जानने समझने और एकता में बांधने के लिए ऐसा करते हैं और इतिहास में जो है डेटिंग देते हैं यह मानव जाति के प्रगति को दर्शाता है धन्यवाद

namaskar bandhu bhaiyo aapka sawaal hai itihas me tarikh hona kyon zaroori hai yahan bahut zaroori hai tarikh nahi rahega toh aap itihas ko jo hai samay ke daayre me kaise bandh bataiye itihas me jo hai tarikh hona bahut hi zaroori hota hai jaise yah jo hai ghatna kab ghati kiske kaal me ghatati aur us waqt shasan bhulkar raat yah saari batein hain toh itihas me yah tarikh hona nitant hi aavashyak rehta hai tareef ke liye do shabdavli ka istemal hota hai ki isvi me isko angrezi me yah bhi bola jata hai is ka full form hota hai army 2 mini aur do aur doosra hai iswi purv usko angrezi me be si kaha jata hai pool par hota hai vichar kar aaye toh yah jo hai historian log jo hai kisi ghatna aur pakke ko samjhne ke liye jo hai is prakar ke un chijon ko jo hai vaah ram aane ki date aur time ho gaya jo hai fix karte hain abhi jo vartaman me jitne saare jo video ban rahe hain kisi bade bade netaon ke upar aur bahut saare logo ke upar toh aage ka jo aane wali jo 200 saal ki purani jo aage wali jo puri hogi vaah itihas filmo me hi dekh legi kyonki ab toh sab cheez ka CD banta hai yudh bhi jo hai ab vaah dekha ja sakta hai satellite se toh pura dekh legi lekin purane jamane me jo hai thoda yah sab baat nahi tha difference tha isliye jo hai itihaaskar usko jaanne samjhne aur ekta me bandhne ke liye aisa karte hain aur itihas me jo hai dating dete hain yah manav jati ke pragati ko darshata hai dhanyavad

नमस्कार बंधु भाइयों आपका सवाल है इतिहास में तारीख होना क्यों जरूरी है यहां बहुत जरूरी है त

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1217
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!