जब अरेंज्ड मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता हमेशा लड़ कौन में पैसे और लड़कियों में सुंदरता को क्यों देखते हैं?...


user

DR. MANISH

MULTI TASKER & DR.M.D (A.M.), B-PHARMA, PGDM-M

3:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो यह बड़ा सवाल बेशकीमती सवाल है तो फिर अब अरेंज मैरिज की बात आती है तो माता-पिता लड़के में उसके पैसे लड़की में सुंदरता क्यों देखते हैं कारण पहली बात अगर मैं तुम्हें ध्यान से समझाना चाहूंगा तो बड़े ध्यान से समझना पड़ेगा क्योंकि अगर हम बात करें लड़की वाले की तो जो मेरी जानकारी के अनुसार पहले लड़की वाले लड़के को देखते हैं या पसंद करते हैं जब उनको लड़के की चाय जन्म कुंडली मिलाना है सबका शारीरिक रंग रूप है पारिवारिक बैकग्राउंड है फैमिली बैकग्राउंड है उसकी जॉब है बिजनेस है नौकरी है क्या है जब वह समझ में आ जाते उसे घर परिवार उसकी बहनों का परिवार से ताऊ चाचा मामा का परिवार तो उस लड़के के परिवार को को को इनवाइट करते हैं अपनी लड़की को देखने के लिए जुगनू प्रोसीजर हिंदुस्तान में ज्यादातर चलता है उसमें कोई बिचौलिया भी हो सकता है रिश्तेदारी का अखबार के जरिए मेट्रोमोनी के जरिए ही रिश्ते मिलते हैं सबसे पहली ख्वाइश होती लड़की वाले की होती है क्यों लड़के वाले में क्या देखता है वह देखना लड़के वाला पैसा अच्छा हो लड़के के पास लड़के की जॉब अच्छी हो लड़का कद काठी में अच्छा हो सुंदर हो छोटी फैमिली हो और कहीं जगह दर सुनने में आया है कि या तो सांस तंगी हो गए हरिया फोटो टंगी हुए यानी के यादों सास अच्छी हो और यह उसकी फोटो में हार चढ़ा लड़की वाला लड़की वाला कोई भी मुझे तुम में से यह बता दो कि कोई भी लड़की वाला किसी गरीब सभी लड़की को बयां ना चाहेगा नगीना लड़की वाला उसे कचहरी में 5000000 रुपए दहेज लगाऊंगा 1500000 लगाऊंगा मोटरसाइकिल कार लूंगा तुम लोग कहते क्यों क्यों मांगता है लड़की वाला क्यों देखता है इंजीनियर को डॉक्टर को प्रोफेसर को सॉफ्टवेयर कंपनी में अच्छी नौकरी करने वाले को क्यों देखता है वह किसी चपरासी से ड्राइवर से ही सफाई कर्मचारी से किसी कोटी के अंदर काम करने वाले स्टाफ से यही पोछा लगाने वाले स्टाफ से वंचित छोटे-मोटे अरे करे गरीब से लेबर मजदूर से भी लड़की शादी क्यों नहीं करता जब वह अच्छी चीज लड़के में ढूंढता है तो लड़के वाला जब अच्छी लड़की ढूंढता है सुंदर लेकर घूमता है ऐसी लड़की ढूंढता है जो सुंदर हो देखने में अच्छी हो उसमें किसकी गलती है तो लड़की वाले को भी पहले समझना पड़ेगा नहीं गरीब लड़का भी बेरोजगार लड़का भी इंसान है इसकी भी शरीर की आवश्यकता है इसके मंकी मांगे हैं इस बेरोजगार से लड़कियों से शादी नहीं करता ना ऐसे ही सुंदर लड़की से लड़का भी नहीं करता ताली एक हाथ से नहीं बजती ताली दोनों हाथ से बजती है धन्यवाद जय हिंद जय भारत

dekho yah bada sawaal beshkimati sawaal hai toh phir ab arrange marriage ki baat aati hai toh mata pita ladke me uske paise ladki me sundarta kyon dekhte hain karan pehli baat agar main tumhe dhyan se samajhana chahunga toh bade dhyan se samajhna padega kyonki agar hum baat kare ladki waale ki toh jo meri jaankari ke anusaar pehle ladki waale ladke ko dekhte hain ya pasand karte hain jab unko ladke ki chai janam kundali milana hai sabka sharirik rang roop hai parivarik background hai family background hai uski job hai business hai naukri hai kya hai jab vaah samajh me aa jaate use ghar parivar uski bahnon ka parivar se taau chacha mama ka parivar toh us ladke ke parivar ko ko ko invite karte hain apni ladki ko dekhne ke liye jugnoo procedure Hindustan me jyadatar chalta hai usme koi bichaulia bhi ho sakta hai rishtedaari ka akhbaar ke jariye metromoni ke jariye hi rishte milte hain sabse pehli khwaish hoti ladki waale ki hoti hai kyon ladke waale me kya dekhta hai vaah dekhna ladke vala paisa accha ho ladke ke paas ladke ki job achi ho ladka kad kathi me accha ho sundar ho choti family ho aur kahin jagah dar sunne me aaya hai ki ya toh saans tangi ho gaye hariya photo tangi hue yani ke yaadon saas achi ho aur yah uski photo me haar chadha ladki vala ladki vala koi bhi mujhe tum me se yah bata do ki koi bhi ladki vala kisi garib sabhi ladki ko bayaan na chahega nagina ladki vala use kachahari me 5000000 rupaye dahej lagaunga 1500000 lagaunga motorcycle car lunga tum log kehte kyon kyon mangta hai ladki vala kyon dekhta hai engineer ko doctor ko professor ko software company me achi naukri karne waale ko kyon dekhta hai vaah kisi chaprasi se driver se hi safaai karmchari se kisi koti ke andar kaam karne waale staff se yahi pocha lagane waale staff se vanchit chote mote are kare garib se labour majdur se bhi ladki shaadi kyon nahi karta jab vaah achi cheez ladke me dhundhta hai toh ladke vala jab achi ladki dhundhta hai sundar lekar ghoomta hai aisi ladki dhundhta hai jo sundar ho dekhne me achi ho usme kiski galti hai toh ladki waale ko bhi pehle samajhna padega nahi garib ladka bhi berozgaar ladka bhi insaan hai iski bhi sharir ki avashyakta hai iske monkey mange hain is berozgaar se ladkiyon se shaadi nahi karta na aise hi sundar ladki se ladka bhi nahi karta tali ek hath se nahi bajati tali dono hath se bajati hai dhanyavad jai hind jai bharat

देखो यह बड़ा सवाल बेशकीमती सवाल है तो फिर अब अरेंज मैरिज की बात आती है तो माता-पिता लड़के

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
22 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Harsh Goyal

Chemical Engineer

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जबरीन मैरिज की बात आती है तो बाकी माता पिता नीशा लड़कों में पैसे और लड़कियों में सुंदरता को क्यों देखते हैं अरेंज मैरिज में माता-पिता कास्ट को देखते हैं गोत्र को देखते हैं बच्चे की पढ़ाई को देखते हैं कितने भाई हैं कितनी बहन है परिवार में और कौन-कौन है कहां के रहने वाले हैं कुंडली भी मिलाई जाती है दोनों के कितने गुण मिलते हैं यह सभी बातें लिखी जाती हैं हां यह बात अवश्य है कि काफी सारी चीजों की लड़कियों की सुंदरता भारी हो जाती है और इसी प्रकार लड़की की इनकम इनकम भी कई बातों में भारी हो जाती है धन्यवाद

jabrin marriage ki baat aati hai toh baki mata pita nisha ladko me paise aur ladkiyon me sundarta ko kyon dekhte hain arrange marriage me mata pita caste ko dekhte hain gotra ko dekhte hain bacche ki padhai ko dekhte hain kitne bhai hain kitni behen hai parivar me aur kaun kaun hai kaha ke rehne waale hain kundali bhi milai jaati hai dono ke kitne gun milte hain yah sabhi batein likhi jaati hain haan yah baat avashya hai ki kaafi saari chijon ki ladkiyon ki sundarta bhari ho jaati hai aur isi prakar ladki ki income income bhi kai baaton me bhari ho jaati hai dhanyavad

जबरीन मैरिज की बात आती है तो बाकी माता पिता नीशा लड़कों में पैसे और लड़कियों में सुंदरता क

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  425
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:07
Play

Likes  140  Dislikes    views  4789
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

2:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

या वाराही अरेंज मैरिज की बात आती है तो बाहर थी जो माता-पिता हमेशा लड़के लड़के में पैसे और लड़कियों में सुंदरता को देखते एक अरेंज मैरिज की बात होती है वह पैसों के लिए का ध्यान रखते हैं और लड़कियों में सुंदरता को जाना संभव है यह जो बातें हैं आपकी सही है लेकिन अभी हो रहा है जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जा रही है चाहे लड़का हो अथवा लड़की हो तो कई अन्य प्रकार की समस्याएं हो रही है विवाह में देरी होना भी एक सामाजिक समस्या बन गया है जिससे कि ना तो उचित लड़के मिल पा रहे हैं और ना ही उचित लड़कियां मिल पा रही है ऐसी स्थिति में और लड़कियों की भी अब समाजों में कमी होने लगी है लड़कों की संख्या अधिक हो रही है लड़कियों की कम कम संख्या कम हो रही है यह भी एक समस्या है इसलिए अब वह स्थिति नहीं है कि हर लड़का हर लड़के के नवाब पैसों की मांग करें और लड़कियों के लिए सुंदरता की मांग करें अब वह स्थितियां नहीं रही है उसने छुट्टियों में भी बदलाव आने लगे हैं

ya warahi arrange marriage ki baat aati hai toh bahar thi jo mata pita hamesha ladke ladke me paise aur ladkiyon me sundarta ko dekhte ek arrange marriage ki baat hoti hai vaah paison ke liye ka dhyan rakhte hain aur ladkiyon me sundarta ko jana sambhav hai yah jo batein hain aapki sahi hai lekin abhi ho raha hai jaise jaise umar badhti ja rahi hai chahen ladka ho athva ladki ho toh kai anya prakar ki samasyaen ho rahi hai vivah me deri hona bhi ek samajik samasya ban gaya hai jisse ki na toh uchit ladke mil paa rahe hain aur na hi uchit ladkiya mil paa rahi hai aisi sthiti me aur ladkiyon ki bhi ab Samajon me kami hone lagi hai ladko ki sankhya adhik ho rahi hai ladkiyon ki kam kam sankhya kam ho rahi hai yah bhi ek samasya hai isliye ab vaah sthiti nahi hai ki har ladka har ladke ke nawab paison ki maang kare aur ladkiyon ke liye sundarta ki maang kare ab vaah sthitiyan nahi rahi hai usne chhuttiyon me bhi badlav aane lage hain

या वाराही अरेंज मैरिज की बात आती है तो बाहर थी जो माता-पिता हमेशा लड़के लड़के में पैसे और

Romanized Version
Likes  197  Dislikes    views  1239
WhatsApp_icon
user

Dr Anil Shalwa

Life Coach, Past Life Regression Therapist

2:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब अरेंज मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता हमेशा लड़कों में पैसे और लड़कियों में सुंदरता को क्यों देखते हैं बिल्कुल सही करते हैं डेफिनेटली यह होना चाहिए क्योंकि जिस तरीके से हमारा जो सोशल संस्था में इंडिया में पैसे अरेंज मैरिज के धर्म बात करें तो यह देखना चाहिए क्योंकि यह प्रकृति देखने के ऊपर है प्रकृति आने की मेल की प्रकृति कैसी है पुरुष की प्रकृति कैसी है उसकी ईमेल की प्रकृति कैसी है तो इंडियन कल्चर के हम बात करें तो एक फैमिली में लड़के को जो है वह घर का मुखिया माना जाता है अगर वह फोर्स आफ वार्निंग है वह घर पैसे कमाता है तो घर सारा चलाता है तो डेफिनेटली उसको अच्छा अंक आना जरूरी है अगर लड़का अच्छा नहीं कमाता होगा तो माता-पिता किसको देगी की लड़की की जांच शादी कर रहे हैं वह लड़की की जरूरत नहीं पूरा कर पाएगा उसकी जो भी जरूरत है उनके लिए पैसा नहीं कमा पाएगा तो वह एक अच्छा लड़का नहीं है शादी के लिए तो यह उस सिस्टम की बात कर रहा हूं मुझे सिस्टम अरेंज मैरिज हम करते हैं लड़का घर का मुखिया है वह कमाने जा भाई जो फैमिली संभालती है उसको बहुत अच्छा खाना जरूरी है दूसरों के लिए हैं जो अरेंज मैरिज करते हैं इंडिया में उस किसको मानते हैं अब आई लड़कियों की बात की लड़कियों में सुंदरता क्यों देखा जाता है तो डेफिनेट लिए भी बहुत सही है क्योंकि एक रिलेशन को बनाकर रखने के लिए बहुत अच्छा रिलेशन होने के लिए यह चीज भी मैटर करती है कि आप दोनों एक दूसरे की तरफ अट्रेक्ट होते हैं या नहीं होते हैं तो यह वाली चीज लड़के के पिता माता पिता किशोर करते हैं कि लड़की सुंदर हो ताकि एक अट्रैक्शन बना रहे हैं दोनों के बीच में एक लव क्रिएट हो दोनों एक दूसरे की पसंद बने रहे हमेशा तो अच्छी तरह चलता रहेगा शादी की शुरू में यही होता है कि लड़के को लड़की पसंद नहीं है देखने में लेकिन किसी तरह से जबरदस्ती शादी की जाती है तो एक टाइम के बाद यह हो सकता है कि यह वाली पुलिंग क्रिएट हो जाए कि भाई मेरी गलत शादी हो गई है या लड़की कैसे लड़के शादी कर दी जाती जो अच्छा काम आता नहीं है तो बाद में जो चैलेंज एस आएंगे फाइनेंसर उसकी लाइफ में तो लड़की है सोच सकती है कि लड़का मेरे लिए सूटेबल हैंडसम बंदा नहीं है स्मार्ट बंदा नहीं है जो मेरे लिए इतना कमा सके कि मेरी लाइफ खराब हो सकता है तो ट्रेडिशनल फैमिली गरम बात करें पुराने कल्चर की बात करें तो यह बिल्कुल सही है यह देखा जाए कि वह लड़का कितना कमाता है उसकी क्या कैपेबिलिटी है वाकई में क्या वह अपनी फैमिली को चला पाएगा और लड़कियों में यह देखा जा सकता है धांडे पर्सेंट में यही बोलूंगा कि सिर्फ सुंदरता ही देखी जाए बर्थडे कंपोनेंट है जो देखा जाता है और इसमें कोई बुराई नहीं है तो मेरे हिसाब से यह इंडियन सिस्टम कल्चर कन्वेंशनल फैमिली जिस तरीके से हमारे तो चला रहा है संस्कृति में उसके हिसाब से यह सही है थैंक यू

jab arrange marriage ki baat aati hai toh bharatiya mata pita hamesha ladko mein paise aur ladkiyon mein sundarta ko kyon dekhte hain bilkul sahi karte hain definetli yah hona chahiye kyonki jis tarike se hamara jo social sanstha mein india mein paise arrange marriage ke dharam baat karen toh yah dekhna chahiye kyonki yah prakriti dekhne ke upar hai prakriti aane ki male ki prakriti kaisi hai purush ki prakriti kaisi hai uski email ki prakriti kaisi hai toh indian culture ke hum baat karen toh ek family mein ladke ko jo hai vaah ghar ka mukhiya mana jata hai agar vaah force of warning hai vaah ghar paise kamata hai toh ghar saara chalata hai toh definetli usko accha ank aana zaroori hai agar ladka accha nahi kamata hoga toh mata pita kisko degi ki ladki ki jaanch shadi kar rahe hain vaah ladki ki zaroorat nahi pura kar payega uski jo bhi zaroorat hai unke liye paisa nahi kama payega toh vaah ek accha ladka nahi hai shadi ke liye toh yah us system ki baat kar raha hoon mujhe system arrange marriage hum karte hain ladka ghar ka mukhiya hai vaah kamane ja bhai jo family sambhaalati hai usko bahut accha khana zaroori hai dusron ke liye hain jo arrange marriage karte hain india mein us kisko maante hain ab I ladkiyon ki baat ki ladkiyon mein sundarta kyon dekha jata hai toh definet liye bhi bahut sahi hai kyonki ek relation ko banakar rakhne ke liye bahut accha relation hone ke liye yah cheez bhi matter karti hai ki aap dono ek dusre ki taraf atrekt hote hain ya nahi hote hain toh yah waali cheez ladke ke pita mata pita kishore karte hain ki ladki sundar ho taki ek attraction bana rahe hain dono ke beech mein ek love create ho dono ek dusre ki pasand bane rahe hamesha toh achi tarah chalta rahega shadi ki shuru mein yahi hota hai ki ladke ko ladki pasand nahi hai dekhne mein lekin kisi tarah se jabardasti shadi ki jaati hai toh ek time ke baad yah ho sakta hai ki yah waali puling create ho jaaye ki bhai meri galat shadi ho gayi hai ya ladki kaise ladke shadi kar di jaati jo accha kaam aata nahi hai toh baad mein jo challenge s aayenge financer uski life mein toh ladki hai soch sakti hai ki ladka mere liye suitable handsome banda nahi hai smart banda nahi hai jo mere liye itna kama sake ki meri life kharaab ho sakta hai toh traditional family garam baat karen purane culture ki baat karen toh yah bilkul sahi hai yah dekha jaaye ki vaah ladka kitna kamata hai uski kya capability hai vaakai mein kya vaah apni family ko chala payega aur ladkiyon mein yah dekha ja sakta hai dhande percent mein yahi boloonga ki sirf sundarta hi dekhi jaaye birthday kamponent hai jo dekha jata hai aur isme koi burayi nahi hai toh mere hisab se yah indian system culture conventional family jis tarike se hamare toh chala raha hai sanskriti mein uske hisab se yah sahi hai thank you

जब अरेंज मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता हमेशा लड़कों में पैसे और लड़कियों में सुं

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  75
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

Likes  5  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Isu Vasava

PASTOR in CHURCH.

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब अरेंज मैरिज की बात आती है तो हर मां-बाप लड़कों में पैसे इसलिए देखते हैं क्योंकि उनको मालूम है अगर पैसे होंगे सभी जगहों का जो मेन चीज होता है ना वह पैसा कम होता आप चाहे कैसे भी कहोगे मैं मैं अपने लवर को बहुत ही प्यार करता हूं या करती हूं लेकिन आप बगैर शादी करोगे और पैसे की कमी आया भी आ गए ना तो आप जिसे प्यार करते थे ना वही आपका पति या पत्नी होने के बावजूद भी पैसे की वजह से आपका झगड़ा शुरू हो जाएगा इसलिए हर मां-बाप जानते हैं कि अगर लड़के के पास पैसे हो तो मैं भी बैठी रहने की तरह रह गई उसको कोई कमी नहीं होगी इसलिए वह पैसे वाले लड़के को ढूंढते हैं और लड़के वाले इसलिए लड़की सुंदर लड़की को देखते हैं क्योंकि वह लोग चाहते हैं कि उनके बेटे के लिए कोई सुंदर लड़की हो और जो दिखने में सुंदर हो ताकि उनकी बोल सुंदर लड़की उनकी घर की शोभा बन बन जाए

jab arrange marriage ki baat aati hai toh har maa baap ladko me paise isliye dekhte hain kyonki unko maloom hai agar paise honge sabhi jagaho ka jo main cheez hota hai na vaah paisa kam hota aap chahen kaise bhi kahoge main main apne lover ko bahut hi pyar karta hoon ya karti hoon lekin aap bagair shaadi karoge aur paise ki kami aaya bhi aa gaye na toh aap jise pyar karte the na wahi aapka pati ya patni hone ke bawajud bhi paise ki wajah se aapka jhagda shuru ho jaega isliye har maa baap jante hain ki agar ladke ke paas paise ho toh main bhi baithi rehne ki tarah reh gayi usko koi kami nahi hogi isliye vaah paise waale ladke ko dhoondhate hain aur ladke waale isliye ladki sundar ladki ko dekhte hain kyonki vaah log chahte hain ki unke bete ke liye koi sundar ladki ho aur jo dikhne me sundar ho taki unki bol sundar ladki unki ghar ki shobha ban ban jaaye

जब अरेंज मैरिज की बात आती है तो हर मां-बाप लड़कों में पैसे इसलिए देखते हैं क्योंकि उनको मा

Romanized Version
Likes  192  Dislikes    views  1590
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो गुड मॉर्निंग में हो संदीप योग शिक्षक बात करते हैं आपसे प्रश्न कि आपका प्रश्न है जो अरेंज मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता हमेशा लड़कों ने पैसे और लड़कियों की सुंदरता देखते हैं इसका जवाब आपको तभी मिलेगा जब आप माता पिता की जगह सोच कर देखिए हर माता-पिता यही चाहता है कि उसकी लड़की ऐसे घर जहां उसे पैसों की कमी ना हो अगर पैसों की कमी नहीं होगी तो उसका जीवन समृद्ध और खुश होगा अगेन हर माता-पिता भी यही चाहेंगे कि उसके लड़के की शादी है लड़की से होगी बहुत सुंदर तो नॉर्मल चीजें नहीं है जो हर माता-पिता शायद अपने बच्चों के लिए सोचते हैं और सोचना भी चाहिए कुछ गलत तो है ही नहीं इसमें थैंक यू सो मच जय श्री राम

hello good morning me ho sandeep yog shikshak baat karte hain aapse prashna ki aapka prashna hai jo arrange marriage ki baat aati hai toh bharatiya mata pita hamesha ladko ne paise aur ladkiyon ki sundarta dekhte hain iska jawab aapko tabhi milega jab aap mata pita ki jagah soch kar dekhiye har mata pita yahi chahta hai ki uski ladki aise ghar jaha use paison ki kami na ho agar paison ki kami nahi hogi toh uska jeevan samriddh aur khush hoga again har mata pita bhi yahi chahenge ki uske ladke ki shaadi hai ladki se hogi bahut sundar toh normal cheezen nahi hai jo har mata pita shayad apne baccho ke liye sochte hain aur sochna bhi chahiye kuch galat toh hai hi nahi isme thank you so match jai shri ram

हेलो गुड मॉर्निंग में हो संदीप योग शिक्षक बात करते हैं आपसे प्रश्न कि आपका प्रश्न है जो अर

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1575
WhatsApp_icon
user

MRI

Retired Executive (PSU), Electrical Engineer, AUTHOR, हिंदी भषा में चार पुस्तकें प्रकाशित. जल्द ही तीन और प्रकाशित होने वाली हैं ।

2:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जैसे समाज बंधा हुआ है हमारे भारतीय सभ्यता में लड़के का काम घर का पति का और बच्चों का पालन पोषण है उसके लिए आवश्यक पैसे जुटाना लड़के का काम माना गया है आज अभी तक अभी बदल रहा है यह बात और है फिर भी यह तो नहीं बदला है भरण पोषण के लिए जो पैसे खर्च करने पड़ते हैं बाहर का जो काम करना होता है वह पुलिस की जिम्मेदारी मानी गई है और लड़कियों की खासियत है सुंदरता उनकी बाबू है सुंदरता उनके नंबर का कविता विनम्रता शालीनता उसके अलावा देखने में समझाते गुण हैं उनका कोई नौकरी कर रही है तो हाथ बदलना चाहिए जब लड़की कम आती है तो लड़का कुछ कम भी कमा लेता होगा तो कोई तकलीफ नहीं है दोनों मिलकर परिवार चलाने के हाथ में होना चाहिए जितना ज्यादा परिवार के ऊपर चला गया है अभी किधर से तो अच्छी बात है सामंजस्य बैठाना मिल जुल कर रहना यह क्वालिटी जरूर देखनी चाहिए दोनों में पड़ा जितने भी राज्य क्वेश्चन आया है वह कल मैं भी ब्लड ग्रुप चेक करते हैं लड़का लड़की का ब्लड ग्रुप में आरएच नेगेटिव है तो वह यह ध्यान रखें कि दूसरे का ब्लड ग्रुप चेक कराएं और आर एस निखिल की होने पर ही शादी करें अन्यथा प्रेगनेंसी में बहुत ज्यादा प्रॉब्लम आती है इसका पोस्टिक इसका नेगेटिव नहीं जाता कोई फर्क नहीं पड़ता दोनों का दोनों का नहीं रहा और देखने के लिए जरूर ही उस पर दूसरे पाटन का आदेश ग्रुप चेक करा कर नेगेटिव होगा तभी साथ चलना चाहिए शादी के लिए आभार दीजिए वरना आप मुसीबत मोल रहे हैं यह जान देंगे

likhe jaise samaj bandha hua hai hamare bharatiya sabhyata me ladke ka kaam ghar ka pati ka aur baccho ka palan poshan hai uske liye aavashyak paise jutana ladke ka kaam mana gaya hai aaj abhi tak abhi badal raha hai yah baat aur hai phir bhi yah toh nahi badla hai bharan poshan ke liye jo paise kharch karne padate hain bahar ka jo kaam karna hota hai vaah police ki jimmedari maani gayi hai aur ladkiyon ki khasiyat hai sundarta unki babu hai sundarta unke number ka kavita vinamrata shalinata uske alava dekhne me smajhate gun hain unka koi naukri kar rahi hai toh hath badalna chahiye jab ladki kam aati hai toh ladka kuch kam bhi kama leta hoga toh koi takleef nahi hai dono milkar parivar chalane ke hath me hona chahiye jitna zyada parivar ke upar chala gaya hai abhi kidhar se toh achi baat hai samanjasya baithana mil jul kar rehna yah quality zaroor dekhni chahiye dono me pada jitne bhi rajya question aaya hai vaah kal main bhi blood group check karte hain ladka ladki ka blood group me rh Negative hai toh vaah yah dhyan rakhen ki dusre ka blood group check karaye aur R S nikhil ki hone par hi shaadi kare anyatha pregnancy me bahut zyada problem aati hai iska paustik iska Negative nahi jata koi fark nahi padta dono ka dono ka nahi raha aur dekhne ke liye zaroor hi us par dusre patan ka aadesh group check kara kar Negative hoga tabhi saath chalna chahiye shaadi ke liye abhar dijiye varna aap musibat mole rahe hain yah jaan denge

लिखे जैसे समाज बंधा हुआ है हमारे भारतीय सभ्यता में लड़के का काम घर का पति का और बच्चों का

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  753
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेंटालिटी है लड़का के साथ समाज में बादाम न करना पड़े आप चाहते हैं कि सुंदर है उसका फिगर अच्छा है लेकिन लड़की में क्या खूबसूरती है वह मन की सुंदरता है यह तन की सुंदरता है वह तो शादी के बाद मालूम पड़ता है कि सुंदरता लड़की बिना कोई काम करना चाहते हैं और वह पढ़ाई 2 डिग्री दिखाई गई थी वह फर्जी डिग्री लोग धोखा खा जाते हैं लड़कियों को आप बहुत खाली सुंदरता से ही नाचेंगे तन की सुंदरता सुंदरता को देखकर कि विवाह के बाद तो लड़का हो या लड़की ओपन किस्सा अपने हाथ से गलती होती है जल संचयन किस को समझ नहीं पड़ता फूल और बाद में पता एड्रेस और लड़की में बहुत ही अच्छा लिखा होना चाहिए और गुण होने चाहिए क्योंकि शादी के बाद भी पूरी इंडस्ट्री इंडस्ट्री के लड़कों में जो ठंड है लेकिन उनको खर्च करने नहीं आता अगर निर्णय लेने की शक्ति ध्यान रखना

mentalaity hai ladka ke saath samaaj mein badam na karna pade aap chahte hain ki sundar hai uska figure accha hai lekin ladki mein kya khoobsoorti hai vaah man ki sundarta hai yah tan ki sundarta hai vaah toh shadi ke baad maloom padta hai ki sundarta ladki bina koi kaam karna chahte hain aur vaah padhai 2 degree dikhai gayi thi vaah farjee degree log dhokha kha jaate hain ladkiyon ko aap bahut khaali sundarta se hi nachenge tan ki sundarta sundarta ko dekhkar ki vivah ke baad toh ladka ho ya ladki open kissa apne hath se galti hoti hai jal sanchayan kis ko samajh nahi padta fool aur baad mein pata address aur ladki mein bahut hi accha likha hona chahiye aur gun hone chahiye kyonki shadi ke baad bhi puri industry industry ke ladko mein jo thand hai lekin unko kharch karne nahi aata agar nirnay lene ki shakti dhyan rakhna

मेंटालिटी है लड़का के साथ समाज में बादाम न करना पड़े आप चाहते हैं कि सुंदर है उसका फिगर अच

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  1378
WhatsApp_icon
play
user

Bhuvi Jain

Engineer, Educator, Writer

1:51

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदिकाल से अरेंज मैरिज का सिलसिला चला आ रहा है जिसका बेसिक प्रमाणित किया है कि तकरीबन एक जैसे फैमिली उसके बच्चे का आपस में मेल ठीक-ठाक हो जाएगा इसमें यह भी सोचा जाता है कि क्योंकि लड़की अमूमन अपना घर छोड़कर लड़के के परिवार के साथ अपना घर बस आती है लड़की के पैरंट्स यू एक्सपेक्ट करते हैं कि लड़के की फैमिली में कम से कम उनके जितना कंफरटेबल लाइफ तो मिली जाना चाहिए उनकी बेटी को इतना ही नहीं ज्यादातर यह एक्सपेक्टेशन होता है कि आज लड़के की आमदनी तथा फ्यूचर प्रोस्पेक्ट उनकी बेटी की खुशहाल फ्यूचर पॉइंट शेयर करेगा मैं इस सोच से सहमत नहीं हूं परंतु यह अनुभव है कि आमतौर पर एक्सपेक्टेशन ऐसी ही है अरेंज मैरिज का लड़का सेटल होना चाहिए सुंदर क्यों हो लड़की सुंदर इसलिए हो क्योंकि ताकि बच्चे खूबसूरत पैदा हूं मैं उनके कहते मैन के एक्स वाई क्रोमोसोम्स होते हैं और विमान के एक्स एक्स मतलब दो एक्स क्रोमोसोम होते हैं शायद हमारे पूर्वजों को कई ओपिनियन होगा कि मां के साइड के जींस से बच्चों की जो लोग हैं वह ज्यादा होती है इसलिए लोकसभा के तरफ से हो जाएंगे शायद लड़कियां अरेंज मैरिज में स्टेबिलिटी ज्यादा ढूंढती है शक्ल का इतना इंपोर्टेंट नहीं देती और समय बीतने पर शकील का तो सब भली जाएगा सेट होना ज्यादा इंपॉर्टेंट माना जाएगा इसलिए अरेंज मैरिज में लड़के की तरफ से चली थी ढूंढते हैं और लड़की की तरफ से लुक्स

aadikaal se arrange marriage ka silsila chala aa raha hai jiska basic pramanit kiya hai ki takareeban ek jaise family uske bacche ka aapas mein male theek thak ho jaega isme yah bhi socha jata hai ki kyonki ladki amuman apna ghar chhodkar ladke ke parivar ke saath apna ghar bus aati hai ladki ke Parents you expect karte hain ki ladke ki family mein kam se kam unke jitna kamfaratebal life toh mili jana chahiye unki beti ko itna hi nahi jyadatar yah expectation hota hai ki aaj ladke ki aamdani tatha future prospekt unki beti ki khushahal future point share karega main is soch se sahmat nahi hoon parantu yah anubhav hai ki aamtaur par expectation aisi hi hai arrange marriage ka ladka settle hona chahiye sundar kyon ho ladki sundar isliye ho kyonki taki bacche khoobsurat paida hoon main unke kehte man ke x why chromosomes hote hain aur Vimaan ke x x matlab do x chromosome hote hain shayad hamare purvajon ko kai opinion hoga ki maa ke side ke jeans se bacchon ki jo log hain vaah zyada hoti hai isliye lok sabha ke taraf se ho jaenge shayad ladkiyan arrange marriage mein stability zyada dhundhti hai shakl ka itna important nahi deti aur samay beetane par shakeel ka toh sab bhali jaega set hona zyada important mana jaega isliye arrange marriage mein ladke ki taraf se chali thi dhoondhate hain aur ladki ki taraf se looks

आदिकाल से अरेंज मैरिज का सिलसिला चला आ रहा है जिसका बेसिक प्रमाणित किया है कि तकरीबन एक जै

Romanized Version
Likes  969  Dislikes    views  12442
WhatsApp_icon
user

Ankit Gusain

Business Owner (MD,Himalayan), IIM Kashipur, Cambridge University, Civil Services Aspirant

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह कटु सत्य कटु सत्य मतलब है सत्य है यह बहुत ही हार्ड जो कि मानना पड़ेगा हमें भी और आपको भी सोसाइटी के चलती है ठीक है हम आप क्या सोचते हैं से बढ़नी पड़ता है अगर एक मन की बात होती है तो जाहिर सी बात है मैं चाहे जैसे भी देखता हूं लेकिन मुझे बीवी सुंदर चाहिए और बीवी चाहे कैसी भी दिखती हो कितनी सुंदर हो उसे पति चाहिए पैसे वाला क्या वह इतनी अच्छी सुनाओ जो भी पैसा सोसाइटी में स्टेटस बनाता है और सुंदरता उस स्टेटस को फॉलो करवाती है मतलब मैं अमीर हूं तो मुझे लड़की चाहिए सुंदर लेकिन मुझे हजारों ऐसे लोगों से मिलना जुलना हमसे उठना बैठना है जो मेरे स्टेटस क्यों होंगे तो जाहिर सी बात है अमीरा सुंदरता को देखिए आप हाथ में हटा के चलती है हमेशा तो सुंदर है जाहिर सी बात है ठीक है इसीलिए जो होती है कि हमारे मां-बाप हमारे लिए सुंदर लड़कियां तो पैसे वाला आदमी बनने की कोशिश करते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि यही जिंदगी के मायने चलती है लड़कों को सुंदरता चाहिए ठीक है दिल को पैसा चाहिए क्योंकि पैसा को मेंटेन करता है और सुंदरता जब आपके पास भगवान ने आपको दे ही है तो लड़कियां और मां-बाप सोचते हैं कि चुनर का फायदा उठाया जाए और अच्छी से अच्छी जगह जाया जाए वैसे तो यह बहुत ही गलत थे सोसायटी के हमारी थिंकिंग है ऐसा होना नहीं चाहिए काबिले देखी जानी चाहिए लेकिन अफसोस होता नहीं

dekhiye yah katu satya katu satya matlab hai satya hai yah bahut hi hard jo ki manana padega hamein bhi aur aapko bhi society ke chalti hai theek hai hum aap kya sochte hain se badhani padta hai agar ek man ki baat hoti hai toh jaahir si baat hai main chahen jaise bhi dekhta hoon lekin mujhe biwi sundar chahiye aur biwi chahen kaisi bhi dikhti ho kitni sundar ho use pati chahiye paise vala kya vaah itni achi sunao jo bhi paisa society me status banata hai aur sundarta us status ko follow karwati hai matlab main amir hoon toh mujhe ladki chahiye sundar lekin mujhe hazaro aise logo se milna julana humse uthna baithana hai jo mere status kyon honge toh jaahir si baat hai amira sundarta ko dekhiye aap hath me hata ke chalti hai hamesha toh sundar hai jaahir si baat hai theek hai isliye jo hoti hai ki hamare maa baap hamare liye sundar ladkiya toh paise vala aadmi banne ki koshish karte hain kyonki unhe lagta hai ki yahi zindagi ke maayne chalti hai ladko ko sundarta chahiye theek hai dil ko paisa chahiye kyonki paisa ko maintain karta hai aur sundarta jab aapke paas bhagwan ne aapko de hi hai toh ladkiya aur maa baap sochte hain ki chunar ka fayda uthaya jaaye aur achi se achi jagah jaya jaaye waise toh yah bahut hi galat the sociaty ke hamari thinking hai aisa hona nahi chahiye kabile dekhi jani chahiye lekin afasos hota nahi

देखिए यह कटु सत्य कटु सत्य मतलब है सत्य है यह बहुत ही हार्ड जो कि मानना पड़ेगा हमें भी और

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  19  Dislikes    views  342
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिव्या अरेंज मैरिज है तो आप सेलेक्ट करके ठीक है अब टाइम हो तो लॉन्ग टर्म बेनिफिशियल हो तो लॉन्ग टर्म बेनिफिशियल क्या होता है लड़की सुंदर होनी चाहिए लड़की के पास पैसा नहीं है देखते हैं और कुछ लड़कों में देखते हैं कि वह कितना समझदार है कितना जिम्मेदार है टेंशन लेने की जरूरत नहीं आता लोग वैल्युएबल चीजों को देखते हैं ठीक-ठाक है सब अपनी-अपनी सोच है

divya arrange marriage hai toh aap select karke theek hai ab time ho toh long term benifishiyal ho toh long term benifishiyal kya hota hai ladki sundar honi chahiye ladki ke paas paisa nahi hai dekhte hain aur kuch ladko me dekhte hain ki vaah kitna samajhdar hai kitna zimmedar hai tension lene ki zarurat nahi aata log vailyuebal chijon ko dekhte hain theek thak hai sab apni apni soch hai

दिव्या अरेंज मैरिज है तो आप सेलेक्ट करके ठीक है अब टाइम हो तो लॉन्ग टर्म बेनिफिशियल हो तो

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

Mohit Patel

Engineer

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात सही है वक्त हर परिवार हमेशा के लिए सही नहीं है कुछ परिवार ऐसे भी होते हैं जिनकी लड़कियां अच्छी होती हैं पैसे वाले होते हैं वह लड़कों को भी देखते हैं कि वह कितना सुंदर है क्या करता है उसमें क्या खूबी है क्या उनकी लड़कियां के लिए वह सही है और कुछ घर ऐसे भी होते हैं जहां पर लड़कियां सुंदर तो होती हैं वर्ड वह गरीब परिवार से बिलॉन्ग करते हैं उनकी यहां इतना पैसा नहीं होता तो वह चाहते हैं लड़की वाले सुंदर ना देखें और यदि वह अच्छा कमाता है उसका अच्छा परिवार है जॉब करता है तो वह अपनी लड़की की शादी उसकी लड़की की खुशी के लिए कर देते हैं यह सब मावा माता-पिता अपनी लड़का लड़कियों की खुशी ही देखते हैं तू अपने अनुसार यह कर लेते हैं और कुछ जगहों पर इसको एक बिजनेस के तौर पर भी देखा जा रहा है भारतीयों में यह सही नहीं है बट मेरा यही मानना है थैंक यू

yah baat sahi hai waqt har parivar hamesha ke liye sahi nahi hai kuch parivar aise bhi hote hain jinki ladkiya achi hoti hain paise waale hote hain vaah ladko ko bhi dekhte hain ki vaah kitna sundar hai kya karta hai usme kya khoobi hai kya unki ladkiya ke liye vaah sahi hai aur kuch ghar aise bhi hote hain jaha par ladkiya sundar toh hoti hain word vaah garib parivar se Belong karte hain unki yahan itna paisa nahi hota toh vaah chahte hain ladki waale sundar na dekhen aur yadi vaah accha kamata hai uska accha parivar hai job karta hai toh vaah apni ladki ki shaadi uski ladki ki khushi ke liye kar dete hain yah sab mava mata pita apni ladka ladkiyon ki khushi hi dekhte hain tu apne anusaar yah kar lete hain aur kuch jagaho par isko ek business ke taur par bhi dekha ja raha hai bharatiyon me yah sahi nahi hai but mera yahi manana hai thank you

यह बात सही है वक्त हर परिवार हमेशा के लिए सही नहीं है कुछ परिवार ऐसे भी होते हैं जिनकी लड़

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user

Adarsh

Singer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्लीज अरेंज मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता लड़कों में पैसा होना जरूरी है ऐसा ही सोचते हैं ठीक है आधे से ज्यादा भारतीय जो होते हैं वह देखी चलो प्यार है तो चलो कर लो शादी कोई बात नहीं पर हमारी भारती की जो आदत है वह कभी नहीं बदलती वह कभी यह नहीं सोचते कि इनकम वक्त बदलेगा सोचते हैं कि जो अभी है उनके पास हमेशा होगा ठीक है इसलिए यह यह प्रथा चली आ रही

please arrange marriage ki baat aati hai toh bharatiya mata pita ladko me paisa hona zaroori hai aisa hi sochte hain theek hai aadhe se zyada bharatiya jo hote hain vaah dekhi chalo pyar hai toh chalo kar lo shaadi koi baat nahi par hamari bharati ki jo aadat hai vaah kabhi nahi badalti vaah kabhi yah nahi sochte ki income waqt badlega sochte hain ki jo abhi hai unke paas hamesha hoga theek hai isliye yah yah pratha chali aa rahi

प्लीज अरेंज मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता लड़कों में पैसा होना जरूरी है ऐसा ही स

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
user
1:45
Play

Likes  28  Dislikes    views  404
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब अरेंज मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता लड़कों में पैसे नहीं देखते हैं लड़कों में हुनर देखते हैं कि लड़का काम करेगा या नहीं या अभी तो नहीं है या कहीं इसके गलत आचरण तो नहीं है वह मेहनती है या नहीं है तो लड़के में कभी पैसे नहीं देखा जाता है उसका हुनर देखा जाता है यह गलत मानसिकता है कि लोग बाग कैसे देखते हैं और लड़कियों में सुंदरता उसके रूप से नहीं देखी जाती है उसके कामों से उसके आचरण में सुंदरता देखी जाती है ना कि उसके रूप की सुंदरता देख रूप की सुंदरता तो गुण वस्तुएं अगर व्यक्ति सुंदर होता है अपने कर्मों से अपने आचरण से अपने किए हुए काम से अगर कोई बहुत अच्छा सुंदर हो और अगर उसके कर्म खराब हो तो उसकी सुंदरता का कोई मोल नहीं उसकी सुंदरता बेकार है

jab arrange marriage ki baat aati hai toh bharatiya mata pita ladko me paise nahi dekhte hain ladko me hunar dekhte hain ki ladka kaam karega ya nahi ya abhi toh nahi hai ya kahin iske galat aacharan toh nahi hai vaah mehanati hai ya nahi hai toh ladke me kabhi paise nahi dekha jata hai uska hunar dekha jata hai yah galat mansikta hai ki log bagh kaise dekhte hain aur ladkiyon me sundarta uske roop se nahi dekhi jaati hai uske kaamo se uske aacharan me sundarta dekhi jaati hai na ki uske roop ki sundarta dekh roop ki sundarta toh gun vastuyen agar vyakti sundar hota hai apne karmon se apne aacharan se apne kiye hue kaam se agar koi bahut accha sundar ho aur agar uske karm kharab ho toh uski sundarta ka koi mole nahi uski sundarta bekar hai

जब अरेंज मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता लड़कों में पैसे नहीं देखते हैं लड़कों में

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

Sachin

Dancer

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जनता पार्टी के भारतीय लड़कों से कैसे पैसे देखकर के पास चाहिए चलना चाहिए लिखना आजकल की लड़की जो कि हम उसके माता-पिता हैं दूसरी लड़की के पास पैसा देखना चाहते हैं कि हमारी लड़की को कोई दुख तकलीफ ना हो बढ़िया सा घर चारपाई चारपाई गाड़ी और हमारी बिटिया के झूमे ऐसे नहीं अभी अपनी बेटी को कोई अपने लड़के को यह नहीं चाहता है कि लड़की को तुम्हारी लड़की दुख दुखी दुखी रहे इसलिए मेरे पास पैसे और लड़के लड़के वाले होते हैं वह सोच एक जैसी लड़की मिलती है तो कहीं जाते हैं तो वह बोलते हैं अरे आपकी बेटी कैसी है आपकी आपकी बहू ऐसी आपकी वह वैसी इसलिए लड़कियों की सुंदर चाकू देखते हैं और उनके गुणों को भी देखते हमारी हमारी भारतीय संस्कृति में भी लिखा है गुनौर सुंदरता दोनों को देखकर ही शादी करते हैं

janta party ke bharatiya ladko se kaise paise dekhkar ke paas chahiye chalna chahiye likhna aajkal ki ladki jo ki hum uske mata pita hain dusri ladki ke paas paisa dekhna chahte hain ki hamari ladki ko koi dukh takleef na ho badhiya sa ghar charapai charapai gaadi aur hamari bitiya ke jhoome aise nahi abhi apni beti ko koi apne ladke ko yah nahi chahta hai ki ladki ko tumhari ladki dukh dukhi dukhi rahe isliye mere paas paise aur ladke ladke waale hote hain vaah soch ek jaisi ladki milti hai toh kahin jaate hain toh vaah bolte hain are aapki beti kaisi hai aapki aapki bahu aisi aapki vaah vaisi isliye ladkiyon ki sundar chaku dekhte hain aur unke gunon ko bhi dekhte hamari hamari bharatiya sanskriti me bhi likha hai gunour sundarta dono ko dekhkar hi shaadi karte hain

जनता पार्टी के भारतीय लड़कों से कैसे पैसे देखकर के पास चाहिए चलना चाहिए लिखना आजकल की लड़क

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user

Smita

Teacher

2:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब अरेंज मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता हमेशा लड़कों में पैसे और लड़कियों में सुंदरता देखते हैं आप मेरी यह मान्यता है और मेरे ख्याल से हर भारतीय माता-पिता की यही मान्यता होगी के लड़कों पैसों की वजह से पैसों की वजह से परिवारिक अशांति फैलती है अगर लड़कों के पास पैसे होंगे तो वह हमारी लड़की के हर ख्वाहिशों को पूरा करेंगे और लड़कियों में सुंदरता इससे लिखी जाती है आफ्टर मैरिज मैरिज लड़के कुछ सालों के बाद जब लड़कियां अपने में बिजी हो जाती है मां बन जाती है और घर के कामों में कार्यों में व्यस्त हो जाती है उन पर ध्यान नहीं देती उस वक्त उनके भटकने के ज्यादा चांसेस होते हैं तो अगर लड़की सुंदर हो तो वह कुछ हद तक उनसे आकर्षित रहते हैं और वह जो संबंध होता है उनके बीच वह कभी खत्म नहीं होता है और एक बात और यह सही भी है कि अगर आप पैसे से परिपूर्ण है तो आप अपनी वाइफ का ख्याल अच्छे से रखेंगे और अगर आपकी वाइफ सुंदर है तो आपको कहीं और जाने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी तो दोनों में तालमेल बिठाने के लिए माता-पिता का यह मान्यता होता है कि लड़कों में पैसे और जब हम बहु लाए तो सुंदर होनी चाहिए परंतु आज के समय में यह मान्यता कुछ हद तक समाप्त होते जा रही है आज के समय में मेरी अमानत है और बहुत सारे ऐसे बुद्ध जीवो की भी माने तो यही होगी कि लड़के के पास पैसा हो ना हो जीवन चलाने योग किस को छोड़ कर ज्यादा पैसा नहीं होगा तो भी चलेगा और लड़कियों में भी दोनों में समझदारी आपसी समझ होना बहुत ज्यादा जरूरी है पहले की बात और थी परंतु अब आजकल जमाना है उसके बाद समझ पर ही रिश्ते संबंध रिश्ते जुड़े हुए रहते हैं अगर आपकी समझदारी है तो रिश्ते आखिर तक निभाए जा सकते हैं चाहे लड़के के पास पैसों की कमी हो या लड़की सुंदर हो या ना

jab arrange marriage ki baat aati hai toh bharatiya mata pita hamesha ladko me paise aur ladkiyon me sundarta dekhte hain aap meri yah manyata hai aur mere khayal se har bharatiya mata pita ki yahi manyata hogi ke ladko paison ki wajah se paison ki wajah se pariwarik ashanti failati hai agar ladko ke paas paise honge toh vaah hamari ladki ke har khwahishon ko pura karenge aur ladkiyon me sundarta isse likhi jaati hai after marriage marriage ladke kuch salon ke baad jab ladkiya apne me busy ho jaati hai maa ban jaati hai aur ghar ke kaamo me karyo me vyast ho jaati hai un par dhyan nahi deti us waqt unke bhatakne ke zyada chances hote hain toh agar ladki sundar ho toh vaah kuch had tak unse aakarshit rehte hain aur vaah jo sambandh hota hai unke beech vaah kabhi khatam nahi hota hai aur ek baat aur yah sahi bhi hai ki agar aap paise se paripurna hai toh aap apni wife ka khayal acche se rakhenge aur agar aapki wife sundar hai toh aapko kahin aur jaane ki zarurat hi nahi padegi toh dono me talmel bitane ke liye mata pita ka yah manyata hota hai ki ladko me paise aur jab hum bahu laye toh sundar honi chahiye parantu aaj ke samay me yah manyata kuch had tak samapt hote ja rahi hai aaj ke samay me meri amanat hai aur bahut saare aise buddha jeevo ki bhi maane toh yahi hogi ki ladke ke paas paisa ho na ho jeevan chalane yog kis ko chhod kar zyada paisa nahi hoga toh bhi chalega aur ladkiyon me bhi dono me samajhdari aapasi samajh hona bahut zyada zaroori hai pehle ki baat aur thi parantu ab aajkal jamana hai uske baad samajh par hi rishte sambandh rishte jude hue rehte hain agar aapki samajhdari hai toh rishte aakhir tak nibhaye ja sakte hain chahen ladke ke paas paison ki kami ho ya ladki sundar ho ya na

जब अरेंज मैरिज की बात आती है तो भारतीय माता-पिता हमेशा लड़कों में पैसे और लड़कियों में सुं

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  218
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  3  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको उससे भी ज्यादा प्यार करना चाहिए उसके उनके अच्छे वाले से भी ज्यादा इससे उनका शेर चलता हुआ आपके हस्बैंड का से भी ज्यादा खून का प्यार देना चाहिए क्योंकि प्यार ही प्यार को तोड़ता है मोहब्बत ही मोहब्बत को काटता है उसका सही जवाब क्योंकि लोहा लोहा कोई करता है या नहीं लोहा सोना को नहीं करता है लोहा लोहे के काम मेरा जवाब बस यही ख्वाहिश

aapko usse bhi zyada pyar karna chahiye uske unke acche waale se bhi zyada isse unka sher chalta hua aapke husband ka se bhi zyada khoon ka pyar dena chahiye kyonki pyar hi pyar ko todta hai mohabbat hi mohabbat ko katata hai uska sahi jawab kyonki loha loha koi karta hai ya nahi loha sona ko nahi karta hai loha lohe ke kaam mera jawab bus yahi khwaahish

आपको उससे भी ज्यादा प्यार करना चाहिए उसके उनके अच्छे वाले से भी ज्यादा इससे उनका शेर चलता

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!