मेरे पिता हर कुछ दिनों में नशे में घर आते हैं और हम सभी पर चिल्लाते हैं - मेरी माँ, मेरा भाई और मुझ पर। मेरे दादाजी भी उन्हें नहीं रोकते। अगले दिन, वह माफी माँगते हैं और हम सभी को बाहर ले जाते हैं। झे समझ नहीं आ रहा है कि वह ऐसा क्यों करते हैं।मेरी माँ भी इस विषय पर बात नहीं करती हैं?...


user

Rajesh Kumar Pandey

Career Counsellor

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेलापुर स्टेशन अटेंशन है एक परिवार की जिम्मेदारी संभालता है उसको रात में नींद नहीं आती है और मैं तो सोचता है तो उम्मीद के लिए थोड़ा सा लोडिंग कर लेते हैं सोने के लिए यह लोग नहीं करेंगे उनको अपने परिवार की चिंता होती है तो तू नहीं समझ पाते हैं वह आपका टेंशन है आप सो जा रहा है मगर आप उनका सहारा बन जाएंगे तो वह दिन करना छोड़ देंगे बस पलटी कर एक अच्छे इंसान बन जाएंगे तो रिकॉर्डिंग करना क्योंकि उनके टेंशन खत्म हो जाएगा पिता पिता होते हैं वह थोड़ा सा उनकी गलत हरकतों को नजरअंदाज करें लग्नाचे गाने गाते हैं बचपन का प्यार देखेंगे

belapur station attention hai ek parivar ki jimmedari sambhalata hai usko raat me neend nahi aati hai aur main toh sochta hai toh ummid ke liye thoda sa loading kar lete hain sone ke liye yah log nahi karenge unko apne parivar ki chinta hoti hai toh tu nahi samajh paate hain vaah aapka tension hai aap so ja raha hai magar aap unka sahara ban jaenge toh vaah din karna chhod denge bus palati kar ek acche insaan ban jaenge toh recording karna kyonki unke tension khatam ho jaega pita pita hote hain vaah thoda sa unki galat harkaton ko najarandaj kare lagnache gaane gaate hain bachpan ka pyar dekhenge

बेलापुर स्टेशन अटेंशन है एक परिवार की जिम्मेदारी संभालता है उसको रात में नींद नहीं आती है

Romanized Version
Likes  212  Dislikes    views  1852
WhatsApp_icon
26 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा पिताजी कि आजकल आगे से बिगड़ गई झगड़ा करते हैं कुछ अगले दिन माफी मांगते हैं परिवार के अंतर्गत कुछ नहीं बोलते हैं देखो यह उनकी झलक है अगर इसको घर वालों ने समय रहते नहीं रोका नहीं काबू में करने की कोशिश की वह निश्चिंत होकर इस क्रिया को पूरे मन और चमचे करेंगे जो कि परिवार के लिए घातक होगी हो सकता है दादा जी इतनी नहीं रुकते कि वह आपके दादा जी का अपमान करने आपके पिताजी जवाब क्या क्योंकि भाई पर मुझ पर और महाप्रज्ञा के झगड़ा करते हैं तो वह जरूर दादा जी को भी अगर कोई करे उनका अपमान होगा इसलिए वह कुछ नहीं करते लेकिन एक चीज और है अगले हो बच्चों को बोलकर परिवार को भागे जाते हैं शाम को फिर वही मना करते हैं तो माता की सोच के नहीं बोलती हैं किस करने से कोई फायदा नहीं है यूट्यूब नहीं है अगर की शांति जाती है लेकिन वह भूल गई है वह गलत चीज को सारा खेलेंगे जो एक उनकी नेगी की बहुत बड़ी भूल साबित होगी निर्गुण चाहिए और आपको भी बेटा धूप में चाहिए क्योंकि अभी आपको थोड़ा दूर करने में तकलीफ होगी लेकिन शायद आपका प्रयास एक बहुत बड़ी आने वाली है बुरे सोनू को बचा लिया

aapne kaha pitaji ki aajkal aage se bigad gayi jhagda karte hain kuch agle din maafi mangate hain parivar ke antargat kuch nahi bolte hain dekho yah unki jhalak hai agar isko ghar walon ne samay rehte nahi roka nahi kabu me karne ki koshish ki vaah nishchint hokar is kriya ko poore man aur chamchen karenge jo ki parivar ke liye ghatak hogi ho sakta hai dada ji itni nahi rukte ki vaah aapke dada ji ka apman karne aapke pitaji jawab kya kyonki bhai par mujhse par aur mahapragya ke jhagda karte hain toh vaah zaroor dada ji ko bhi agar koi kare unka apman hoga isliye vaah kuch nahi karte lekin ek cheez aur hai agle ho baccho ko bolkar parivar ko bhaage jaate hain shaam ko phir wahi mana karte hain toh mata ki soch ke nahi bolti hain kis karne se koi fayda nahi hai youtube nahi hai agar ki shanti jaati hai lekin vaah bhool gayi hai vaah galat cheez ko saara khelenge jo ek unki negi ki bahut badi bhool saabit hogi nirgun chahiye aur aapko bhi beta dhoop me chahiye kyonki abhi aapko thoda dur karne me takleef hogi lekin shayad aapka prayas ek bahut badi aane wali hai bure sonu ko bacha liya

आपने कहा पिताजी कि आजकल आगे से बिगड़ गई झगड़ा करते हैं कुछ अगले दिन माफी मांगते हैं परिवार

Romanized Version
Likes  415  Dislikes    views  5559
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:24
Play

Likes  172  Dislikes    views  4647
WhatsApp_icon
user

Jitendra Singh

Social Worker

7:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस विषय में आपने प्रश्न जो किया है कि आपके पिताजी नशा करके कुछ कुछ दिनों में घर आते हैं मुझे लगता है कि यह किसी इंसान की जन्मजात कमी नहीं होती यह उनके स्वयं के जो है संगति का असर है जैसी संगति पाएंगे वैसा ही बन पाएंगे संगति बदलने से बदल जाती है उनका मन नकारात्मक की तरफ चला है उन्होंने संगति ऐसे ही लोगों की की है देखिए मैं एक उदाहरण आपसे देता हूं कि बांस की लकड़ी जब मीठी चॉकलेट की संगति करती है तो वह उस मिठाई मीठी चॉकलेट के भाव में तोल में जाती है उसका तो नॉर्मल बांस की लकड़ी का मूर्ति मीठी चॉकलेट जितना ही हो जाता है दूसरा उदाहरण मैं आपको और देता हूं यह संगति का असर है और संगति अच्छी होगी तो उसके संस्कार अच्छे होंगे संगति खराब होगी उसके संस्कार खराब होंगे इसमें मैं और क्या कहूं एक छोटी सी कहानी सुनाता एक जगह पर एक गुबरैला के गोबर में खून रहता है और एक भंवरा जो फूल पर मर जाता है दोनों की दोस्ती हो गई उस दोस्ती को उन्होंने बहुत अच्छे तरीके से बनाया और निभाने की कसम खाई परंतु गोरेला तो गंदगी में रहता था एक दिन को बहलाने अपने दोस्त भवरे को अपने यहां बुलाया परंतु जो फूल पर मन रहने वाला था उसको वह दुर्गा दाई और वह ज्यादा देर वहां नहीं रुक सका और उसने उससे कहा कि मित्र आप कल मेरे यहां जरूर आना मैं आपका इंतजार करूंगा इस बात को सुनकर के वह अपने पत्नी सहित भोले के यहां पहुंच गया रात को चांद दिन में पहुंचा और भंवरे ने उसको और उसके परिवार को अपने चमन में फूल में बैठाया और कहा कि जितना भी हो सकता है आप रस का आनंद लीजिए सुगंध का आनंद लीजिए और दिन छिपने से पहले आप आ जाइए परंतु उसका साथ में उसका जब परिवार था वह तो आ गया परंतु गुबरैला मदहोश होकर के संजय दत्त उतारा गया और फूल शाम होते ही बंद हो गया वह फूल के अंदर बंद हो गया और अगले दिन सुबेरे माली ने तोड़ लिया फुल को जब माली ने फूल ले जाकर के मंदिर में दिए तो वह फूल मंदिर में चढ़ाए गए फिर उन फूलों को सूर्यनारायण निकलने के साथ ही उठा कर कर के सामने गंगा जी में बहा दिया गया और फिर गंगा जी की लहरें लगी और वह फूल खिल गया तो उधर भंवरा रात भर परेशान रहा का परिवार परेशान रहा कि गुबरैला कहां रह गया है सुबह से ने जब देखा कि गुबरैला फूल पर पेठा गंगाजी मित्रता जा रहा है तो उसने उसको देख कर के कहार हम वारदात पर चिंतित तो आप चले घर चले उसने कहा नहीं भाई मुझे नहीं पता था कि संगति का असर इतना बड़ा होता है मैं अब यहां से नहीं जाने वाला हूं और उसने एक श्लोक कहा उसने कहा कि उसने एक जो है दवा कहा और उसने कहा कि मैं संगत तेरी आया और चढ़ा महेश केसी अब तो भैया मुझको बहने से गंगा के बीचो-बीच मेरा तात्पर्य आपसे है विसंगति अगर बदल जाए तो हमारी जो कार्य प्रणाली है वह करता बदल जाती है आपके पिताजी की संगति बदलने की जरूरत है आपके पिताजी को अपने याद दोस्तों को बदलने की जरूरत है अच्छी संगति करनी चाहिए मैं उनको यही सलाह दूंगा आप भी अपने पिताजी को हो सके तो जवाब दो सुनवाइए गा बताइएगा कि आप अपनी संगति बदलेंगे तो आप बदल जाएंगे और एक मिसाल बच्चों के लिए बन जाएंगे इसी के साथ देश हित में आप काम करेंगे न कि आप नशे की लत में काम करेंगे रही आपकी माता जी की और दादाजी की बात उनकी व्यवस्था होगी कोई पत्नी कोई पिता यह नहीं चाहता है मेरा बेटा मेरे कुल का नाम बदनाम करे कोई पत्नी यह नहीं चाहती है कि मेरा पति नशे का आदी मुझे नहीं लगता कि उनका दोस्त उनकी कोई मजबूरी होगी वह अपनी मजबूरी को निकाल रहे हैं समय आने पर वह सोच रहे हैं जो समय कट जाए वह अच्छा है वह घर में कलह झगड़ा नहीं चाहते होंगे इसीलिए उनकी मजबूरी है दादाजी बुजुर्ग हो चुके हैं वह क्या कर सकते हैं इसीलिए उन लोगों की आप इस चीज को ध्यान ना दें उनकी मजबूरी सोचते हुए आप अपनी संगति को सुंदर बनाएं अपने बहन भाइयों की संगति पर ध्यान रखें और अच्छी संगति घर में उत्पन्न करें घर में आप अपने धर्म आप अपने जीने की पद्धति के अनुसार आप अपने घर में पूजा पाठ करें जो भी उसमें आप जीते हैं उसमें आप स्वतंत्र होकर के घर का माहौल बदले जब तक का माहौल बदलेगा तो आपके पिताजी संभवत जरूर बदल जाएंगे ऐसा मेरा मानना है मैंने बहुत को बदलते देखा है आप निराश ना हो ताश ना हो और इस उपयोग को करेंगे तो मुझे पूर्ण आशा है कि आप के पिताजी अपनी इस संगति को छोड़कर जरूर आपके साथ में लगकर आपका कंधे से कंधा मिलाकर आपके घर को एक को जीवन परिवार बनाएंगे धन्यवाद

is vishay me aapne prashna jo kiya hai ki aapke pitaji nasha karke kuch kuch dino me ghar aate hain mujhe lagta hai ki yah kisi insaan ki janmajat kami nahi hoti yah unke swayam ke jo hai sangati ka asar hai jaisi sangati payenge waisa hi ban payenge sangati badalne se badal jaati hai unka man nakaratmak ki taraf chala hai unhone sangati aise hi logo ki ki hai dekhiye main ek udaharan aapse deta hoon ki bans ki lakdi jab mithi chocolate ki sangati karti hai toh vaah us mithai mithi chocolate ke bhav me tol me jaati hai uska toh normal bans ki lakdi ka murti mithi chocolate jitna hi ho jata hai doosra udaharan main aapko aur deta hoon yah sangati ka asar hai aur sangati achi hogi toh uske sanskar acche honge sangati kharab hogi uske sanskar kharab honge isme main aur kya kahun ek choti si kahani sunata ek jagah par ek gubraila ke gobar me khoon rehta hai aur ek bhanwara jo fool par mar jata hai dono ki dosti ho gayi us dosti ko unhone bahut acche tarike se banaya aur nibhane ki kasam khai parantu gorela toh gandagi me rehta tha ek din ko bahlane apne dost bhavare ko apne yahan bulaya parantu jo fool par man rehne vala tha usko vaah durga dai aur vaah zyada der wahan nahi ruk saka aur usne usse kaha ki mitra aap kal mere yahan zaroor aana main aapka intejar karunga is baat ko sunkar ke vaah apne patni sahit bhole ke yahan pohch gaya raat ko chand din me pohcha aur bhanware ne usko aur uske parivar ko apne chaman me fool me baithaya aur kaha ki jitna bhi ho sakta hai aap ras ka anand lijiye sugandh ka anand lijiye aur din chipne se pehle aap aa jaiye parantu uska saath me uska jab parivar tha vaah toh aa gaya parantu gubraila madhosh hokar ke sanjay dutt utara gaya aur fool shaam hote hi band ho gaya vaah fool ke andar band ho gaya aur agle din subere maali ne tod liya full ko jab maali ne fool le jaakar ke mandir me diye toh vaah fool mandir me chadhae gaye phir un fulo ko suryanarayan nikalne ke saath hi utha kar kar ke saamne ganga ji me baha diya gaya aur phir ganga ji ki laharen lagi aur vaah fool khil gaya toh udhar bhanwara raat bhar pareshan raha ka parivar pareshan raha ki gubraila kaha reh gaya hai subah se ne jab dekha ki gubraila fool par petha gangaji mitrata ja raha hai toh usne usko dekh kar ke kahar hum vaardaat par chintit toh aap chale ghar chale usne kaha nahi bhai mujhe nahi pata tha ki sangati ka asar itna bada hota hai main ab yahan se nahi jaane vala hoon aur usne ek shlok kaha usne kaha ki usne ek jo hai dawa kaha aur usne kaha ki main sangat teri aaya aur chadha mahesh kaisi ab toh bhaiya mujhko behne se ganga ke beechon beech mera tatparya aapse hai visangati agar badal jaaye toh hamari jo karya pranali hai vaah karta badal jaati hai aapke pitaji ki sangati badalne ki zarurat hai aapke pitaji ko apne yaad doston ko badalne ki zarurat hai achi sangati karni chahiye main unko yahi salah dunga aap bhi apne pitaji ko ho sake toh jawab do sunvaiye jaayega bataiega ki aap apni sangati badalenge toh aap badal jaenge aur ek misal baccho ke liye ban jaenge isi ke saath desh hit me aap kaam karenge na ki aap nashe ki lat me kaam karenge rahi aapki mata ji ki aur dadaji ki baat unki vyavastha hogi koi patni koi pita yah nahi chahta hai mera beta mere kul ka naam badnaam kare koi patni yah nahi chahti hai ki mera pati nashe ka adi mujhe nahi lagta ki unka dost unki koi majburi hogi vaah apni majburi ko nikaal rahe hain samay aane par vaah soch rahe hain jo samay cut jaaye vaah accha hai vaah ghar me kalah jhagda nahi chahte honge isliye unki majburi hai dadaji bujurg ho chuke hain vaah kya kar sakte hain isliye un logo ki aap is cheez ko dhyan na de unki majburi sochte hue aap apni sangati ko sundar banaye apne behen bhaiyo ki sangati par dhyan rakhen aur achi sangati ghar me utpann kare ghar me aap apne dharm aap apne jeene ki paddhatee ke anusaar aap apne ghar me puja path kare jo bhi usme aap jeete hain usme aap swatantra hokar ke ghar ka maahaul badle jab tak ka maahaul badlega toh aapke pitaji sambhavat zaroor badal jaenge aisa mera manana hai maine bahut ko badalte dekha hai aap nirash na ho tash na ho aur is upyog ko karenge toh mujhe purn asha hai ki aap ke pitaji apni is sangati ko chhodkar zaroor aapke saath me lagkar aapka kandhe se kandha milakar aapke ghar ko ek ko jeevan parivar banayenge dhanyavad

इस विषय में आपने प्रश्न जो किया है कि आपके पिताजी नशा करके कुछ कुछ दिनों में घर आते हैं म

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  109
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

3:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपके फादर शराब के आदी हो चुके हैं और आपके दादा जी को तो पता ही है कि यह शराब छोड़ने वाला नहीं है आपकी माता जी को भी पर कि कितना भी समझा दूंगी उनको समझ में नहीं आएगा आप इससे बहुत परेशान हो कोई भी परेशान हो गया क्यों गार्जियन शराब पीकर आते हैं समाज में बुराई होती है कहीं गिर जाते हैं फिर उठा कर लेकर आओ तो इसके लिए आपको कुछ करना होगा अपने पापा के पास जाइए बोलिए पापा आप ऐसा क्यों करते हो आप शराब पीते हो मम्मी भी परेशान हम लोग भी परेशान दादाजी भी परेशान अब परेशान क्यों करते हो शराब अगर आप पीते तो इसको कम करो थोड़ा सा पीकर सो जाओ चुपचाप नहीं तो मैं घर में नहीं रहूंगा अगर आप अकेले लड़के हो तो उनको चैलेंज करिए कि मैं घर और में नहीं रहूंगा मैं छोड़ छोड़ दूंगा घर परिवार तो उन्हें लगेगा कि आप मेरा एक ही बेटा है और एक घर से चला जाएगा कुछ कर लेगा तो दिक्कत हो जाएगी तूने समझ में आएगा और बोलिए कि शराब पीने के बाद आपको माफी नहीं मांगना है और माफ हम लोग करेंगे भी नहीं आपको शराब पीना ही नहीं है अगर आप पर आपके बिना जिंदा नहीं रह सकते हो तो चुपचाप रात में आप थोड़ा सा कीजिए सो जाइए कोई कुछ नहीं बोलेगा नहीं तो गवर्नमेंट का भी कुछ इंस्ट्रक्शन आया है पुलिस तुरंत जेल में डाल देगी उज्जैन में डाल देगी तो फिर मैं भी परेशान हूं लूंगा माता पिता दादा जी सब लोग परेशान होंगे आपके पिताजी बुजुर्गों चुके हैं वह भी बेचारे परेशान होंगे और आप जेल हो जाओगे तो हो सकता है कोई दुर्घटना हो जाए घर में किसी को हर्ट अटैक आ जा कुछ हो जाए तो परेशानी बढ़ जाएगी तो इस तरीके से आप समझाइए उनके मानसिक विचार को आप बदलने का प्रयास करिए अगर आपका कन्वेंस पावर अच्छा होगा उनके दिल में जाकर आपकी बात चोट करेगी तो उनका विचार बदलेगा अ प्रॉब्लम बताइए समस्या बताइए बोलिए मैं मर जाऊंगा वरना मत बोलो बोलिए मैं घर परिवार पद छोड़कर भाग जाऊंगा अगर आपने एक बार भी शराब पिया तो शराब पी के गाली देते हुए गिरते हुए करा पाए तो मैं उसी दिन अगले दिन घर छोड़ दूंगा तो उन्हें लगेगा कि नहीं यार मुझे सब नहीं कर तो बताएंगे कि बेटा मैं बहुत आती रोज चुका हूं मैं इसके बिना नहीं रह सकता तो आप बोलो कि थोड़ा सा पीकर सो जाए करिए कोई दिक्कत नहीं है उससे हम लोग नाराज नहीं होंगे चुपचाप अपने घर रहिए अपना काम करिए और दुनियादारी से कोई मतलब मत रखें धन्यवाद

dekhiye aapke father sharab ke adi ho chuke hain aur aapke dada ji ko toh pata hi hai ki yah sharab chodne vala nahi hai aapki mata ji ko bhi par ki kitna bhi samjha dungi unko samajh me nahi aayega aap isse bahut pareshan ho koi bhi pareshan ho gaya kyon guardian sharab peekar aate hain samaj me burayi hoti hai kahin gir jaate hain phir utha kar lekar aao toh iske liye aapko kuch karna hoga apne papa ke paas jaiye bolie papa aap aisa kyon karte ho aap sharab peete ho mummy bhi pareshan hum log bhi pareshan dadaji bhi pareshan ab pareshan kyon karte ho sharab agar aap peete toh isko kam karo thoda sa peekar so jao chupchap nahi toh main ghar me nahi rahunga agar aap akele ladke ho toh unko challenge kariye ki main ghar aur me nahi rahunga main chhod chhod dunga ghar parivar toh unhe lagega ki aap mera ek hi beta hai aur ek ghar se chala jaega kuch kar lega toh dikkat ho jayegi tune samajh me aayega aur bolie ki sharab peene ke baad aapko maafi nahi maangna hai aur maaf hum log karenge bhi nahi aapko sharab peena hi nahi hai agar aap par aapke bina zinda nahi reh sakte ho toh chupchap raat me aap thoda sa kijiye so jaiye koi kuch nahi bolega nahi toh government ka bhi kuch instruction aaya hai police turant jail me daal degi ujjain me daal degi toh phir main bhi pareshan hoon lunga mata pita dada ji sab log pareshan honge aapke pitaji bujurgon chuke hain vaah bhi bechare pareshan honge aur aap jail ho jaoge toh ho sakta hai koi durghatna ho jaaye ghar me kisi ko heart attack aa ja kuch ho jaaye toh pareshani badh jayegi toh is tarike se aap samjhaiye unke mansik vichar ko aap badalne ka prayas kariye agar aapka convence power accha hoga unke dil me jaakar aapki baat chot karegi toh unka vichar badlega a problem bataiye samasya bataiye bolie main mar jaunga varna mat bolo bolie main ghar parivar pad chhodkar bhag jaunga agar aapne ek baar bhi sharab piya toh sharab p ke gaali dete hue girte hue kara paye toh main usi din agle din ghar chhod dunga toh unhe lagega ki nahi yaar mujhe sab nahi kar toh batayenge ki beta main bahut aati roj chuka hoon main iske bina nahi reh sakta toh aap bolo ki thoda sa peekar so jaaye kariye koi dikkat nahi hai usse hum log naaraj nahi honge chupchap apne ghar rahiye apna kaam kariye aur duniyaadaari se koi matlab mat rakhen dhanyavad

देखिए आपके फादर शराब के आदी हो चुके हैं और आपके दादा जी को तो पता ही है कि यह शराब छोड़ने

Romanized Version
Likes  392  Dislikes    views  6112
WhatsApp_icon
user

bhaand's Theatre and Acting Classes

Acting And drama Coach Casting director Drama Director

2:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके पिताजी यह हर दिन नशे में आते हैं और आप सभी पर चिल्लाते हैं आपका भाई आपकी मां आप पर और आपके दादा जी की उन्हें कुछ नहीं बोलते अगले दिन वह माफी मांग लेते हैं सब सही हो जाता है और कोई कुछ नहीं बोलता देखिए शुरुआत किसी ना किसी को करना पड़ेगी घर में एक न एक को शुरुआत करना पड़ेगी पूछना होगा कारण पता करने होंगे जब तक कारण का पता नहीं कर पाओगे तब तक आप ऐसे ही सुनते रहेंगे दूसरा तरीका यह है कि आवाज उठाइए चाहे पिता हो चाहे दादा हो चाहे मां हो बापू भाइयों कोई भी हो जब आप जुल्म सहते हैं तो आप जुल्म करने वाले जैसे ही बन जाता है क्योंकि आप भी उतना ही जुर्म कर रहे हैं दूर मुझसे है कि आप आवाज उठाइए या फिर वह जिस तरह से चिल्ला चोट कर रहे हैं उतनी ही ऊंची आवाज आप सभी लोगों को करना होगी क्योंकि सब लोग एक साथ चिल्लाई ने तो दोबारा वह इस तरह की हरकत नहीं करेंगे कारण कुछ भी हो लेकिन आप सभी लोगों को एक साथ खड़े होना पड़ेगा क्योंकि यहां पर आपका भाई है आपकी मां है आपका आप खुद को अब तीन लोग तीनों जब एक साथ सीखेंगे चलाएंगे तो उनकी आवाज भी नहीं हो जाएगी उस वक्त उन्हें समझ में आएगा कि मेरी आवाज से भी ऊंची इनकी आवाज क्योंकि जब गलत की आवाज ऊंची हो तो उस आवास के बराबर आपको आवाज़ करना होती है आप ट्राई कीजिए सब ठीक हो जाएगा लेकिन इससे पहले आप अपने पिता को समझिए कि वह ऐसा क्यों कर रहे हैं कोशिश कीजिए उन उनकी गतिविधियों पर ध्यान रखने का किन लोगों से मिलते हैं क्या बातें होती है उनकी किस तरह का व्यवहार है लोगों के साथ कहीं ऐसा तो नहीं कि कोई मानसिक परेशानी हो उनको तो

aapke pitaji yah har din nashe me aate hain aur aap sabhi par chillate hain aapka bhai aapki maa aap par aur aapke dada ji ki unhe kuch nahi bolte agle din vaah maafi maang lete hain sab sahi ho jata hai aur koi kuch nahi bolta dekhiye shuruat kisi na kisi ko karna padegi ghar me ek na ek ko shuruat karna padegi poochna hoga karan pata karne honge jab tak karan ka pata nahi kar paoge tab tak aap aise hi sunte rahenge doosra tarika yah hai ki awaaz uthaiye chahen pita ho chahen dada ho chahen maa ho bapu bhaiyo koi bhi ho jab aap zulm sahate hain toh aap zulm karne waale jaise hi ban jata hai kyonki aap bhi utana hi jurm kar rahe hain dur mujhse hai ki aap awaaz uthaiye ya phir vaah jis tarah se chilla chot kar rahe hain utani hi unchi awaaz aap sabhi logo ko karna hogi kyonki sab log ek saath chillai ne toh dobara vaah is tarah ki harkat nahi karenge karan kuch bhi ho lekin aap sabhi logo ko ek saath khade hona padega kyonki yahan par aapka bhai hai aapki maa hai aapka aap khud ko ab teen log tatvo jab ek saath sikhenge chalayenge toh unki awaaz bhi nahi ho jayegi us waqt unhe samajh me aayega ki meri awaaz se bhi unchi inki awaaz kyonki jab galat ki awaaz unchi ho toh us aawas ke barabar aapko awaz karna hoti hai aap try kijiye sab theek ho jaega lekin isse pehle aap apne pita ko samjhiye ki vaah aisa kyon kar rahe hain koshish kijiye un unki gatividhiyon par dhyan rakhne ka kin logo se milte hain kya batein hoti hai unki kis tarah ka vyavhar hai logo ke saath kahin aisa toh nahi ki koi mansik pareshani ho unko toh

आपके पिताजी यह हर दिन नशे में आते हैं और आप सभी पर चिल्लाते हैं आपका भाई आपकी मां आप पर औ

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  244
WhatsApp_icon
user

Kalusingh Solanki

lic of india

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपको आपके पिताजी जब नशे में हो तब उनसे प्रेम से बात करना है क्योंकि उस समय अगर कब कुछ भी बात करेंगे तो उल्टा सीधा ही बोलेंगे और सही करेंगे लेकिन जब वह बिना नशे में हो बिना पिए हम तो भूखे पेट के बाद कीजिए उनको इमोशनल कीजिए इमोशनल शब्द एक ऐसा शब्द है जो बहुत प्रभावकारी होता है आप उनको पूरा परिवार खेर के बैठ जाइए और प्रेम से बात करते करते करते उनको इमोशनल कर दीजिए मेरा दावा है तो नहा नहीं करेंगे आपको सिर्फ समझाते आना चाहिए उनको इमोशनल करते हैं ना चाहिए चाहे तो आप रहो है तो वह भी सकते हैं उनके साथ आप चाय जैसा प्रेम प्रेम व्यवहार कर सकते हैं आप निश्चित मान के चलिए कि जब भी वे रहेंगे और प्रेम से और करेंगे और जब नहीं पिए रहेंगे और आप बार-बार निवेदन करते रहेंगे तो निश्चित हो नहीं समझ में आएगा और आपकी परेशानी खत्म हो जाएगी

dekhiye aapko aapke pitaji jab nashe me ho tab unse prem se baat karna hai kyonki us samay agar kab kuch bhi baat karenge toh ulta seedha hi bolenge aur sahi karenge lekin jab vaah bina nashe me ho bina piye hum toh bhukhe pet ke baad kijiye unko emotional kijiye emotional shabd ek aisa shabd hai jo bahut prabhavkari hota hai aap unko pura parivar kher ke baith jaiye aur prem se baat karte karte karte unko emotional kar dijiye mera daawa hai toh naha nahi karenge aapko sirf smajhate aana chahiye unko emotional karte hain na chahiye chahen toh aap raho hai toh vaah bhi sakte hain unke saath aap chai jaisa prem prem vyavhar kar sakte hain aap nishchit maan ke chaliye ki jab bhi ve rahenge aur prem se aur karenge aur jab nahi piye rahenge aur aap baar baar nivedan karte rahenge toh nishchit ho nahi samajh me aayega aur aapki pareshani khatam ho jayegi

देखिए आपको आपके पिताजी जब नशे में हो तब उनसे प्रेम से बात करना है क्योंकि उस समय अगर कब कु

Romanized Version
Likes  144  Dislikes    views  1822
WhatsApp_icon
play
user

Ashok Clinic

Sexologist

1:11

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी देखिए आपके पिताजी नशे की हालत में अपनी सेहत और घर को खराब कर रहे हैं नशे की काफी अधीन हो चुके हैं इसलिए ऐसा हो रहा है आपको जरूरत है अभी सुबह जब वह माफी मांगते हैं जैसी बातें करते हैं तो कहीं भी तबीयत का ख्याल रखिए और आपकी मदद की जरूरत है तो किसी डॉक्टर के पास आप लेकर जाएं या निरीक्षण के लिए नशा छुड़वाने के लिए प्रत्येक काम करता है तो फिर उनको उनको समझा देंगे भी थोड़ी दवाई भी देंगे जिसके कारण का मन बदलेगा उर्मिला की पूरी भूख लगेगी नशा करने को दिल नहीं करेगा उनको सहारा मिलेगा और सुबह शाम थोड़ा समय उनके साथ बताइए तो कुछ दिनों में धीरे-धीरे यह काम ठीक हो सकता है पैसे के दिनों के आदमी एक पागलपन किया जाता है रात को वह भाषा बन जाता है सुबह अधिकारी होता है इसलिए परिवार वालों को उनकी हमदर्दी की जरूरत है जो लोग सामने होती हमसे झगड़ा होता है जो लोग झुक जाते हैं बोलते नहीं उनसे झगड़ा नहीं होता ऐसी हालत के घर में चल रही है

ji dekhiye aapke pitaji nashe ki halat mein apni sehat aur ghar ko kharab kar rahe hai nashe ki kaafi adheen ho chuke hai isliye aisa ho raha hai aapko zarurat hai abhi subah jab vaah maafi mangate hai jaisi batein karte hai toh kahin bhi tabiyat ka khayal rakhiye aur aapki madad ki zarurat hai toh kisi doctor ke paas aap lekar jayen ya nirikshan ke liye nasha chhudvane ke liye pratyek kaam karta hai toh phir unko unko samjha denge bhi thodi dawai bhi denge jiske karan ka man badlega urmila ki puri bhukh lagegi nasha karne ko dil nahi karega unko sahara milega aur subah shaam thoda samay unke saath bataye toh kuch dino mein dhire dhire yah kaam theek ho sakta hai paise ke dino ke aadmi ek pagalpan kiya jata hai raat ko vaah bhasha ban jata hai subah adhikari hota hai isliye parivar walon ko unki humdardi ki zarurat hai jo log saamne hoti humse jhagda hota hai jo log jhuk jaate hai bolte nahi unse jhagda nahi hota aisi halat ke ghar mein chal rahi hai

जी देखिए आपके पिताजी नशे की हालत में अपनी सेहत और घर को खराब कर रहे हैं नशे की काफी अधीन ह

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  4652
WhatsApp_icon
user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

4:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो बहुत ही दुख की बात है कि अगर बच्ची ने लिखा है कि उनके पिता जो हर कुछ दिनों में नशे में घर आते हैं और सब पर चलाते हैं और उस पर उसकी मां पर और भाई पर और उनके जो फादर है वह कुछ कहते नहीं है इसका मतलब है शायद यह शादी के पहले भी चल रहा हो अगर नशे में है और उनके पिताजी कुछ कह नहीं रहे दादाजी तो मतलब यह समस्या पहले से रही होगी शायद और वह कोशिश करके तंग आ गए होंगे उनको पता नहीं क्या करना चाहिए इसलिए चुप रहते हैं शायद हर कुछ दिन मतलब शायद बाहर कहीं काम कर रहे हैं दूसरे शहर या गांव में और यह लोग अकेले रह रहे हैं शायद तो हो सकता है वह काम का फ्रस्ट्रेशन हो पैसे की तंगी हो रिस्पांसिबिलिटी हो या फिर दूसरी औरत हो कोई बीमारी हो कुछ भी हो सकता है कारण नॉर्मल इस तरह शराब पीकर जो लोग बिहेव करते हैं राशनली और गुस्से में वायलेंट से मारपीट करते हैं तंग करते हैं और अगले सुबह सब ठीक हो जाता है वही भूल जाते हैं कि उनका किया कराया जो इतनी जल्दी नहीं मिटता है एस्पेशली छोटे बच्चों के दिमाग पर तो इस वायलेंस के पीछे शायद कोई हिस्ट्री है कोई पास है कोई अतीत है जो जाना बहुत जरूरी है शायद उनके पिताजी जो है ना कि दादाजी उनसे बात करके देखना चाहिए कि यह कब से चल रहा है और यह रोका क्यों नहीं गया और रुका क्यों नहीं रहते जब शादी हो चुकी है बच्चे भी हैं तो कोई निर्णय लेना उतना आसान नहीं है बंगाल आपको यह चाहिए कि जब वह शराब पीकर आए तो इन बच्चों को एक सुरक्षित जगह पर रख देना चाहिए ताकि मारपीट वगैरह कुछ ना हो और बच्चे सुरक्षित रहे और पत्नी थी क्योंकि शराब पीने के बाद हाथ उठता है या क्या करते हैं यह उनको भी नहीं पता होता तो ऐसे टाइम पर अपना अपने आप को सुरक्षित रखना बहुत इंपॉर्टेंट होता है सेफ्टी इज वेरी इंपॉर्टेंट अब सब ठीक हो जाता है और उनका मूड अच्छा है तो पत्नी को चाहिए कि वह अकेले में क्या प्रॉब्लम है क्या कारण है जिसके वजह से इतना स्टेशन को शराब पीकर आकर इस तरह की हरकत करते हैं हो सकता है कि उनको बता देंगे पैसे की तंगी हो हेल्थ ठीक ना हो परेशन हो कोई दूसरी औरत हो सर क्या रेंस के बीच में यह पता लगाना बहुत जरूरी है अगर पत्नी को डर लगता है या फिर इंटरेस्ट नहीं है फिर वह भी कुछ नहीं बोलती तो इसका मतलब यह है कि या तो इस बारे में वह लो पहले कोशिश कर चुके हैं कुछ नहीं हुआ है यह पर धमकाया गया हो या फिर उनका रवैया ही ऐसा है और वह कोशिश करके थक गए लेकिन जो भी हो बच्चे हैं नादान है यह काफी उनके मानसिक संतुलन पर फिट होता है इसलिए शायद मैं कुछ बोलते नहीं अब कुछ बोलेगी तो मारपीट भी शुरू हो सकता है शायद इसलिए चुपचाप रहती है ताकि इससे और ज्यादा ना बिगड़े मामला चुप रहेंगे तो चलाएंगे और जाकर सो जाएंगे सुबह से फिर से नार्मल हो जाएगा अगर कुछ पूछेंगे बात करेंगे तो मारपीट अगर शुरू हुआ तो पता नहीं वह कहां तक जा सकता है सर इसी डर से वह दादा जी और माता जी माता जी जो है वह कुछ बोलती नहीं है लेकिन जो भी हो दादा जी को चाहिए वह और जो पत्नी है वह दोनों मिलकर इनसे बात कर सके और देखें कुछ होता है तो ठीक है अगर कुछ नहीं होता है तो तेरे सुरक्षा इस वेरी इंपॉर्टेंट जब वो चेहरा पर कर आते हैं तो बच्चा जो पत्नी और बच्चे हैं उनको तो स्पेशली सेफ्टी देखना चाहिए सुरक्षित जगह पर जाकर रहना चाहिए ताकि मामला देख लेना हाथापाई अगर कहीं होगी तो कुछ भी हो सकता है तो दर्द भरी तो आप लोग बात करके कोई सलूशन निकाले और बच्चों के लिए अच्छा नहीं है पर आजकल सिचुएशन काफी जगह हम देख रहे हैं कि सब कुछ खुल्लम-खुल्ला हो रहा है बच्चों से मां को बेटे होना चाहिए कि पिताजी ऐसे हैं और हो सकता है कोई कारण हो तो कुछ बच्चे छोटे होते हैं कुछ और मच्छर भी हो जाते हैं बहुत जल्दी प्रॉब्लम की वजह से तो उनको भी समझा ना बरजोरी क्योंकि एक बार डर बैठ गया बच्चों के दिमाग में यह देखकर तो बॉर्डर लाइफ लोंग रहता है और डर रहता है तो फिर जैसे कि यह गुस्सा लग रही है जो भी है जो इधर चाइल्ड हम कहते हैं इन हेर चाइल्ड हीलिंग जो लोग बड़े होने के बाद जो भी लेकिन लोग जाते हैं और चाइल्ड का जो हॉट होता है वह जिंदगी भर रहता है इसलिए बचपन में कोई हुई बातों को भुला ना बहुत मुश्किल है बड़े होने के बाद तो बचपन में जो प्रॉब्लम चाहते हैं वह बचपन में ही अगर हम सॉल्व कर लेते हैं तो एडल्ट जब बनते हैं तो युवा जब से जाता है तो उसने प्रॉब्लम्स नहीं रहते मेंटली फिट इस वेरी इंपॉर्टेंट की माता जी जो हैं वह बच्चों से बात करें और उनके डर को शांत करें विश यू ऑल द बेस्ट फॉर काउंसलिंग प्लीज कनेक्ट ऑन कविता पानी M.Com थैंक यू

yah toh bahut hi dukh ki baat hai ki agar bachi ne likha hai ki unke pita jo har kuch dino mein nashe mein ghar aate hai aur sab par chalte hai aur us par uski maa par aur bhai par aur unke jo father hai vaah kuch kehte nahi hai iska matlab hai shayad yah shadi ke pehle bhi chal raha ho agar nashe mein hai aur unke pitaji kuch keh nahi rahe dadaji toh matlab yah samasya pehle se rahi hogi shayad aur vaah koshish karke tang aa gaye honge unko pata nahi kya karna chahiye isliye chup rehte hai shayad har kuch din matlab shayad bahar kahin kaam kar rahe hai dusre shehar ya gaon mein aur yah log akele reh rahe hai shayad toh ho sakta hai vaah kaam ka frustration ho paise ki tangi ho responsibility ho ya phir dusri aurat ho koi bimari ho kuch bhi ho sakta hai karan normal is tarah sharab peekar jo log behave karte hai rashanali aur gusse mein vaylent se maar peet karte hai tang karte hai aur agle subah sab theek ho jata hai wahi bhool jaate hai ki unka kiya raya jo itni jaldi nahi mitta hai especially chote baccho ke dimag par toh is violence ke peeche shayad koi history hai koi paas hai koi ateet hai jo jana bahut zaroori hai shayad unke pitaji jo hai na ki dadaji unse baat karke dekhna chahiye ki yah kab se chal raha hai aur yah roka kyon nahi gaya aur ruka kyon nahi rehte jab shadi ho chuki hai bacche bhi hai toh koi nirnay lena utana aasaan nahi hai bengal aapko yah chahiye ki jab vaah sharab peekar aaye toh in baccho ko ek surakshit jagah par rakh dena chahiye taki maar peet vagera kuch na ho aur bacche surakshit rahe aur patni thi kyonki sharab peene ke baad hath uthata hai ya kya karte hai yah unko bhi nahi pata hota toh aise time par apna apne aap ko surakshit rakhna bahut important hota hai safety is very important ab sab theek ho jata hai aur unka mood accha hai toh patni ko chahiye ki vaah akele mein kya problem hai kya karan hai jiske wajah se itna station ko sharab peekar aakar is tarah ki harkat karte hai ho sakta hai ki unko bata denge paise ki tangi ho health theek na ho pareshan ho koi dusri aurat ho sir kya reigns ke beech mein yah pata lagana bahut zaroori hai agar patni ko dar lagta hai ya phir interest nahi hai phir vaah bhi kuch nahi bolti toh iska matlab yah hai ki ya toh is bare mein vaah lo pehle koshish kar chuke hai kuch nahi hua hai yah par dhamkaya gaya ho ya phir unka ravaiya hi aisa hai aur vaah koshish karke thak gaye lekin jo bhi ho bacche hai nadan hai yah kaafi unke mansik santulan par fit hota hai isliye shayad main kuch bolte nahi ab kuch bolegi toh maar peet bhi shuru ho sakta hai shayad isliye chupchap rehti hai taki isse aur zyada na bigade maamla chup rahenge toh chalayenge aur jaakar so jaenge subah se phir se normal ho jaega agar kuch puchenge baat karenge toh maar peet agar shuru hua toh pata nahi vaah kahaan tak ja sakta hai sir isi dar se vaah dada ji aur mata ji mata ji jo hai vaah kuch bolti nahi hai lekin jo bhi ho dada ji ko chahiye vaah aur jo patni hai vaah dono milkar inse baat kar sake aur dekhen kuch hota hai toh theek hai agar kuch nahi hota hai toh tere suraksha is very important jab vo chehra par kar aate hai toh baccha jo patni aur bacche hai unko toh speshli safety dekhna chahiye surakshit jagah par jaakar rehna chahiye taki maamla dekh lena hathapai agar kahin hogi toh kuch bhi ho sakta hai toh dard bhari toh aap log baat karke koi salution nikale aur baccho ke liye accha nahi hai par aajkal situation kaafi jagah hum dekh rahe hai ki sab kuch khullam khulla ho raha hai baccho se maa ko bete hona chahiye ki pitaji aise hai aur ho sakta hai koi karan ho toh kuch bacche chote hote hai kuch aur macchar bhi ho jaate hai bahut jaldi problem ki wajah se toh unko bhi samjha na barjori kyonki ek baar dar baith gaya baccho ke dimag mein yah dekhkar toh border life long rehta hai aur dar rehta hai toh phir jaise ki yah gussa lag rahi hai jo bhi hai jo idhar child hum kehte hai in hare child healing jo log bade hone ke baad jo bhi lekin log jaate hai aur child ka jo hot hota hai vaah zindagi bhar rehta hai isliye bachpan mein koi hui baaton ko bhula na bahut mushkil hai bade hone ke baad toh bachpan mein jo problem chahte hai vaah bachpan mein hi agar hum solve kar lete hai toh adult jab bante hai toh yuva jab se jata hai toh usne problems nahi rehte mentally fit is very important ki mata ji jo hai vaah baccho se baat kare aur unke dar ko shaant kare wish you all the best for kaunsaling please connect on kavita paani M Com thank you

यह तो बहुत ही दुख की बात है कि अगर बच्ची ने लिखा है कि उनके पिता जो हर कुछ दिनों में नशे म

Romanized Version
Likes  948  Dislikes    views  11849
WhatsApp_icon
user

Trainer Yogi Yogendra

Motivational Speaker || Career Coach || Business Coach || Marketing & Management Expert's

2:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स में योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर कोच और कॉरपोरेट ट्रेनर आज हम जिस क्वेश्चन पर बात करने वाले हैं माय डियर फ्रेंड्स वह है कि मेरे पिता खुद हर कुछ दिनों में नशे में कराते हैं और हम सभी पर चिल्लाते हैं मेरी मां मेरा भाई और मुझ पर मेरे दादाजी भी उन्हें नहीं रोकते अगले दिन वह सब से माफी भी मांगते हैं ऐसा क्या सकते कि मैं एक चीज आपको बताना चाहूंगा कि नशा कुछ भी कर ले इंसान लेकिन नशे में उसको सब कुछ याद होता है कि यह कौन है मेरी बीवी कौन है मेरे बच्चे कौन है मेरे पिता कौन है सब कुछ याद होता है तो मैं एक चीज आपको बताना चाहूंगा कि वह जो है नशे की हालत में नहीं कर रहे वह जानबूझकर ऐसा करने की कोशिश कर रहे हैं बस लोगों को यह दिखाना चाहते आपको यह दिखाना चाहते हैं कि मैं सिर्फ नशे की हालत में था आपके सामने करता हूं वरना मैं आपके लिए अच्छा हूं तुम्हें एक ही चीज आपको बताना चाहूंगा या तो उनके दिमाग में आप से रिलेटेड डिप्रेशन तनाव है या फिर जो है उनको किसी और बात की टेंशन है तो आप उनसे अच्छे से बैठ कर बात करें और उनको समझाने की कोशिश करें उनसे अच्छे से बैठ कर आप बात करेंगी आपको क्या प्रॉब्लम है ना पापा किस क्या प्रॉब्लम की वजह से हम आप के सोल्यूशन के लिए मतलब उनको लगना चाहिए कि मेरे लिए यह लोग कुछ भी कर सकते हैं अगर आप ऐसा करने में उनके आप बिलीव कर पाए और ऐसा करने के लिए उनको मजबूर कर पाए सब बताने के लिए मजबूर पर गाए मतलब उनको दिल को अगर आप जीत पाए किसी भी तरीके से तो मैं आपसे एक ही बात बोलना चाहूंगा कि मैं आपसे कंफर्म बता देता हूं कि आपके सामने वह रो रो कर वह सारी बातें बताएंगे और सबसे बड़ी बात यह है ना कि उनका नशा करना तब भी उनका छूट जाएगा क्योंकि जब आदमी डिप्रेशन में होता है तनाव में होता है ना तो भी यह सारी चीजें करता है तो मैं कंफर्म यह बताना चाहूंगा कि उनको बहुत बड़ी कोई टेंशन है जिसकी वजह से वह सब कुछ ऐसा कर रहे हैं और उनके साथ ऐसा हो रहा है तो आप उनकी हेल्प करने की कोशिश करें और मैं मानता हूं कि आपके साथ गलत हो रहा है लेकिन वह बहुत बड़े डिप्रेशन या टेंशन में हो सकते हैं तो इस वजह से वह उन चीजों को संभाल नहीं पा रहे और मैं अगर आप ज्यादा इस टॉपिक पर जब बात करना चाहते हैं ज्यादा अच्छे से टॉपिक को पर डिस्कशन करना चाहते हैं तो मुझे कॉल कर सकते हैं मेरा कांटेक्ट नंबर है 7618 0537 पर बात कर सकते हैं जय हिंद जय भारत

hello friends mein yogendra sharma Motivational speaker Career coach aur corporate trainer aaj hum jis question par baat karne waale hai my dear friends vaah hai ki mere pita khud har kuch dino mein nashe mein karate hai aur hum sabhi par chillate hai meri maa mera bhai aur mujhse par mere dadaji bhi unhe nahi rokte agle din vaah sab se maafi bhi mangate hai aisa kya sakte ki main ek cheez aapko batana chahunga ki nasha kuch bhi kar le insaan lekin nashe mein usko sab kuch yaad hota hai ki yah kaun hai meri biwi kaun hai mere bacche kaun hai mere pita kaun hai sab kuch yaad hota hai toh main ek cheez aapko batana chahunga ki vaah jo hai nashe ki halat mein nahi kar rahe vaah janbujhkar aisa karne ki koshish kar rahe hai bus logo ko yah dikhana chahte aapko yah dikhana chahte hai ki main sirf nashe ki halat mein tha aapke saamne karta hoon varna main aapke liye accha hoon tumhe ek hi cheez aapko batana chahunga ya toh unke dimag mein aap se related depression tanaav hai ya phir jo hai unko kisi aur baat ki tension hai toh aap unse acche se baith kar baat kare aur unko samjhane ki koshish kare unse acche se baith kar aap baat karengi aapko kya problem hai na papa kis kya problem ki wajah se hum aap ke solution ke liye matlab unko lagna chahiye ki mere liye yah log kuch bhi kar sakte hai agar aap aisa karne mein unke aap believe kar paye aur aisa karne ke liye unko majboor kar paye sab batane ke liye majboor par gaayen matlab unko dil ko agar aap jeet paye kisi bhi tarike se toh main aapse ek hi baat bolna chahunga ki main aapse confirm bata deta hoon ki aapke saamne vaah ro ro kar vaah saari batein batayenge aur sabse baadi baat yah hai na ki unka nasha karna tab bhi unka chhut jaega kyonki jab aadmi depression mein hota hai tanaav mein hota hai na toh bhi yah saari cheezen karta hai toh main confirm yah batana chahunga ki unko bahut baadi koi tension hai jiski wajah se vaah sab kuch aisa kar rahe hai aur unke saath aisa ho raha hai toh aap unki help karne ki koshish kare aur main maanta hoon ki aapke saath galat ho raha hai lekin vaah bahut bade depression ya tension mein ho sakte hai toh is wajah se vaah un chijon ko sambhaal nahi paa rahe aur main agar aap zyada is topic par jab baat karna chahte hai zyada acche se topic ko par discussion karna chahte hai toh mujhe call kar sakte hai mera Contact number hai 7618 0537 par baat kar sakte hai jai hind jai bharat

हेलो फ्रेंड्स में योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर कोच और कॉरपोरेट ट्रेनर आज हम जिस

Romanized Version
Likes  311  Dislikes    views  3072
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

3:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटे तुम्हारी मां पिता पापा जी दारू पीते हैं नशा करते हैं यह बड़ा दुर्भाग्य का विषय है बाकी मेरा मन नहीं है बेटे की उम्र संगति से लगा है आप याद करें या तो स्टूडेंट लाइफ से होने लगी होगी दारु पिया था या फिर सर्विस लग जाने के बाद कुसंगति उन्होंने ज्वाइन किए संतति कारिणी यदुकुल लग जाते हैं 10 है दारू है सबको सन्मति के कारण है और यह भी पक्की बात मान के चलो बच्चे के ट्रक से दारू है जितने भी नशे के सादरी स्वास्थ्य को हानि पहुंचाते ही है लेकिन घर की बर्बादी कभी कारण होते हैं जितने भी आप आप देखेंगे रेप केस जी के मर्डर केस से की बैटिंग के देखिए मांग की जबकि आप सारी खुशियों के पीछे अस्सी परसेंट जो हाथ होता है वह दारू का होता है दारू के कारण ही एक्सीडेंट ज्यादा होते हैं एक्सीड मैं रोड एक्सीडेंट बेबी मेन कारण दारू दारू सारी गंदगी की जड़ है अब उनका जो भी है वैसा होता है क्योंकि साइक्लोजिकल बात है यह शराब पीने के बाद आदमी जो होता है उसका कंट्रोल जो होता है बिल्कुल माइंड से आ जाता है तो उसमें होता है और उस समय तो यदि तुम मुझसे यह कह दो कि तुम अमेरिका को खरीद लो तो वह उसको के दारू के नशे में कह दे का काम भी कर लूंगा लेकिन सुबह ना मॉर्निंग दारू बन जाता जब हाथी सुबह पड़ जाता है तो वह नसीब हो जाता है उसे होश आ जाता है सारे संसार का कि मैं क्या हूं इसलिए बच्चों को सके जितना हो सके उन्हें समझाने का प्रयास करो समझाइए पापा जी दारू मत दीजिए इससे हमारे घर की आर्थिक स्थिति बर्बाद हो जाएगी हम लोग बर्बादी की ओर चले जाएंगे और यह उस दिन हो सकता है कि कोई अंधेरी कर डालें रोड एक्सीडेंट हो सकता है यहां किसी का झगड़े अधिक कर सकते हैं दारू के बाद में झगड़े आदि ज्यादा करते हैं लोग दादाजी इसलिए भी कहते हैं क्योंकि बेटा बुढ़ापे का समय है और आज की औलाद है जो है वह रास्ता भी जीने तथा चारों से ही ने संस्कारों से रहित है हो सकता है बड़े बुजुर्गों की कोई और मानता है जो संस्कारी घरों के बच्चे हैं ब्रिजरूफ बड़े बड़े बुजुर्गों का आदर करते हैं और वे क्योंकि कोई भी माता-पिता नहीं चाहता कि उसकी संतान दारूबाज जो इस तरह से तक शादी का सेवन करे न शिवाजी करें लेकिन दुर्भाग्यवश कलयुग का है यह इस कलयुग में भजनों की कोई नहीं मानता है जबकि वह माता-पिता बच्चे कितने परेशान होते होंगे हमारे दादा को पूछिए उनका दिल कितना रोता होगा जिस खानदान में कोई दारु नहीं पीता है और वहां चंपा ने उस उन्नति के कारण जब दारु पीने लग जाए ट्रक का सेवन करें उस पर बात की परिवार की बर्बादी होती है जब बड़े बुजुर्ग अपनी आंखों से देखते हैं तो का दिल होता है क्योंकि एक परिवार को पता नहीं वह परिवार को बताने में मानवता बहुत समय खर्च होता है बहुत परिश्रम लगता है और बहुत धन भी खर्च होता है घर बनाने में पूरी जिंदगी गुजर जाती है और कर को बर्बाद करने में कुछ एक्शन लगते हैं और उनमें नसीबा जी भी है दारू बाजी भी है तो अपने पिता को आप समझाना रिक्वेस्ट फॉर लाइकिंग देश है तो निश्चित रूप से समझ जाएंगे मैं ऐसी आशा करता

bete tumhari maa pita papa ji daaru peete hain nasha karte hain yah bada durbhagya ka vishay hai baki mera man nahi hai bete ki umar sangati se laga hai aap yaad kare ya toh student life se hone lagi hogi daaru piya tha ya phir service lag jaane ke baad kusangati unhone join kiye santati karini yadukul lag jaate hain 10 hai daaru hai sabko sanmati ke karan hai aur yah bhi pakki baat maan ke chalo bacche ke truck se daaru hai jitne bhi nashe ke sadri swasthya ko hani pahunchate hi hai lekin ghar ki barbadi kabhi karan hote hain jitne bhi aap aap dekhenge rape case ji ke murder case se ki batting ke dekhiye maang ki jabki aap saari khushiyon ke peeche assi percent jo hath hota hai vaah daaru ka hota hai daaru ke karan hi accident zyada hote hain eksid main road accident baby main karan daaru daaru saari gandagi ki jad hai ab unka jo bhi hai waisa hota hai kyonki saiklojikal baat hai yah sharab peene ke baad aadmi jo hota hai uska control jo hota hai bilkul mind se aa jata hai toh usme hota hai aur us samay toh yadi tum mujhse yah keh do ki tum america ko kharid lo toh vaah usko ke daaru ke nashe me keh de ka kaam bhi kar lunga lekin subah na morning daaru ban jata jab haathi subah pad jata hai toh vaah nasib ho jata hai use hosh aa jata hai saare sansar ka ki main kya hoon isliye baccho ko sake jitna ho sake unhe samjhane ka prayas karo samjhaiye papa ji daaru mat dijiye isse hamare ghar ki aarthik sthiti barbad ho jayegi hum log barbadi ki aur chale jaenge aur yah us din ho sakta hai ki koi andheri kar Daalein road accident ho sakta hai yahan kisi ka jhagde adhik kar sakte hain daaru ke baad me jhagde aadi zyada karte hain log dadaji isliye bhi kehte hain kyonki beta budhape ka samay hai aur aaj ki aulad hai jo hai vaah rasta bhi jeene tatha charo se hi ne sanskaron se rahit hai ho sakta hai bade bujurgon ki koi aur maanta hai jo sanskari gharon ke bacche hain brijaruf bade bade bujurgon ka aadar karte hain aur ve kyonki koi bhi mata pita nahi chahta ki uski santan darubaj jo is tarah se tak shaadi ka seven kare na shivaji kare lekin durbhaagyavash kalyug ka hai yah is kalyug me bhajanon ki koi nahi maanta hai jabki vaah mata pita bacche kitne pareshan hote honge hamare dada ko puchiye unka dil kitna rota hoga jis khandan me koi daaru nahi pita hai aur wahan champa ne us unnati ke karan jab daaru peene lag jaaye truck ka seven kare us par baat ki parivar ki barbadi hoti hai jab bade bujurg apni aakhon se dekhte hain toh ka dil hota hai kyonki ek parivar ko pata nahi vaah parivar ko batane me manavta bahut samay kharch hota hai bahut parishram lagta hai aur bahut dhan bhi kharch hota hai ghar banane me puri zindagi gujar jaati hai aur kar ko barbad karne me kuch action lagte hain aur unmen nasiba ji bhi hai daaru baazi bhi hai toh apne pita ko aap samajhana request for liking desh hai toh nishchit roop se samajh jaenge main aisi asha karta

बेटे तुम्हारी मां पिता पापा जी दारू पीते हैं नशा करते हैं यह बड़ा दुर्भाग्य का विषय है बाक

Romanized Version
Likes  255  Dislikes    views  2399
WhatsApp_icon
user
5:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्री होता है क्या जो नशा है नशा बहुत ही बुरा लगता है और यह अच्छे अच्छे इंसान को खराब बना देता है एक्चुअली में रियल लाइफ में तो हीरो होता है लेकिन यही नशा बना देता है तो आप पहले आप उस बात को समझने की कोशिश करो वह बंदा को नहीं समझ पा रहा है तभी ऐसा करना आप फिल्म ले रहे हो उसकी उसके बारे में समझ रही बताना से मैं वैसे करता है उसको एहसास नहीं होता इस बात के कारण बहुत सारे हो सकते कि वह ऐसा करता है उसकी पिछली लास्ट की लाइफ ऐसा नहीं है कि इसका मतलब है कि वह गलत लाइफ में कुछ हुआ होगा जो दारू पीने के बाद उसको ज्यादा ही याद ज्यादा ही तंग करता होगा जयदेव इसलिए बार उसका हाय हो जाता है तो वह फ्रस्ट्रेशन दारू के नशे में आप लोगों के निकलते कि आप लोग उसके फ्रस्ट्रेशन निकालने का एकदम बढ़िया आप लोग उसका इलाज कर देते हो आप के जरिए दवाई ढूंढ लेते हैं अपने दिमाग का आपके ऊपर सारे तालाब को निकाल देता है आपको रिलैक्स हो जाता है दारू पीके उन्हीं चीजों को याद कर नहीं निकाले या किसी से नहीं बोलेगा तो इंसान पागल हो सकता है यूं समझो कि वह जो कर रहा है बताओ गलत नहीं कर रहा है अपनी जगह बहुत सही कर रहा है अपने आपको क्या कर रहा है आपके अपने आप अपने दिमाग को अपने आप को बचाव कर रहा है आप दवाई ग्रुप में आप लोगों को पागल होने की वजह से निकालकर आपसे अच्छी बात अब इनको संभालने के लिए सीधी सी बात है कि आप दिन में जब अच्छे रहते हैं तब उनकी परिस्थितियों को समझने की कोशिश करो अपने घरवालों को बोलो सब के पीछे अगर आप ने सवाल पूछा तो जाट की बातें क्या आपको ज्यादा फिकर होगी उनकी तो आप सब से मैं चुप करो सब से पूछो उसने कुछ कहीं न कहीं से कुछ न कुछ सुराग निकलेगा मां-बाप से फैमिली से की एवं सब से पूछो और उसको लिखो और उस पर काम करना चालू करो अगर आप इतना अच्छा सोचते हो आप कदम उठाना चाहिए आगे बढ़ कर आना चाहिए और इनकी दिक्कत को दूर करना चाहिए देखो कुछ बीमारियां होती है इसे आप यह नहीं बोल सकती क्योंकि कैसे हुई बहुत सारे कारण होते बीमारी होने के कारण हो सकता है इसका इलाज भी है लेकिन जरूरत है उन लोगों की जो इसका इलाज कर सके जो इनके बारे में सोच सके इसका इलाज घर मिल लो आप के लोग हैं वही लोग कर सकते हैं लेकिन वह लोग क्या करें कि वह लोग इसको इग्नोर कर रहे हैं चैट कर रहे हैं या इतना इंटरेस्ट नहीं ले रहे अगर आप ले रहे हो तो आप इस चीज को कॉल करो और उनके भीतर भीतर के सवाल को निकालो उनके अंदर क्या सवाल चलता है और क्यों पीते हैं उस टाइम पीने के बाद क्या होता है बंदा पास्ट में चला जाता है और पास्ट की बातें कोई कोई चीज है कोई घर का तकलीफ को बहुत सारी बातें थी जिंदगी में आप तो आज आए हो आज से पहले 20 साल होने में गुजारे पल भी साल में क्या-क्या हुआ होगा क्या क्या परिस्थितियां आई होंगी मदरसे भी बात करो जब भी ना पिए रहते हैं और एक दिन उनको घर में भी लाओ बैठा कर फिर देखो कि उसके बाद वह क्या करते हैं उनकी एक चीज को नोट पर भी आप नहीं पिलाओ पिलाओ हो तो पिएंगे कैसे आकर भी चला करो घर में ही पिला इसमें आप फादर मदर को यह बोलो कि यह चीज हटा दे अगर उनको बचाना चाहते हैं शर्म हटा दें कि मेरे सामने फीका मेरे सामने निकलेगा यह घर में बैठाकर पिलाना चालू कर दो बाहर निकल आए घर में पीना चालू कर देंगे पहले आपके सामने आ जाएंगे और हमेशा नोट करते रहो कि वह पीने के बाद बोलते क्या है किस टाइपिंग कर लेते हैं इस टाइप से बोलते हैं क्या बोलते हैं आपके समझ में आ जाएगा कि नहीं कहानी चाय पिलाने का रखो द धर्मी उनको पीने की आदत डालो बाहर ना जाने दो बाहर में पता नहीं क्या होता है वह कैसे लोग होते हैं कि आप स्टेशन हो जाता होगा पीने के बाद किससे झगड़ा हो जाता होगा उसका फल स्टेशन आप पर निकालते होंगे यह सब देखने बातें जीजा जहां पर आप लोगों को सबको आप मैं बोलता हूं आपके घर में जितने भी लोग हैं उनको या ऑडियो सुनाएं और सब को मिलने की कोशिश करना चाहिए अगर उनके बारे में अच्छा सोचते हो तो आ जाइए घर के लोग अच्छा ही सोचते होंगे तो बी पॉजिटिव और यह चीज के लिए और करिए और सब को एक साथ बैठकर इस पर मंथन करना पड़ेगा छोटी बात नहीं है आप का आदमी है आप लोग ही संभाल सकते हो आप बैठे हो जो भी हो उनके आप अच्छा पहल कर रहे हो अच्छी बात है कितना सोच रहे हो और उन और घर के और मेंबर है उनको भी बोलो ऐसे सोचे और सबसे पहले कौन इनको पी लो उनकी सारी खामियां अच्छाइयां बुराइयां लिखना चालू कर दो सारी बातें सामने आ जाएगी और जो मैंने बोला कि घर घर में पिलाने का डालो घर में शुरू करो पक्का कुछ न कुछ बदलाव आएगा और आगे बढ़ाने में आने वाला टाइम बिल्कुल ही अच्छा होगा आपकी जो पापा है जो भी है बहुत अच्छे हैं क्योंकि आप खुद ही बोल रहे हो बस दारू की प्रॉब्लम है और दारू की प्रॉब्लम ऐसे में दारू पीनी है कुछ और की है जो कोई और टेंशन है जो दिमाग में घंटी बजाता है और वह घंटी के इशारे पर दारू पी लेते

shri hota hai kya jo nasha hai nasha bahut hi bura lagta hai aur yah acche acche insaan ko kharab bana deta hai actually me real life me toh hero hota hai lekin yahi nasha bana deta hai toh aap pehle aap us baat ko samjhne ki koshish karo vaah banda ko nahi samajh paa raha hai tabhi aisa karna aap film le rahe ho uski uske bare me samajh rahi batana se main waise karta hai usko ehsaas nahi hota is baat ke karan bahut saare ho sakte ki vaah aisa karta hai uski pichali last ki life aisa nahi hai ki iska matlab hai ki vaah galat life me kuch hua hoga jo daaru peene ke baad usko zyada hi yaad zyada hi tang karta hoga jaidev isliye baar uska hi ho jata hai toh vaah frustration daaru ke nashe me aap logo ke nikalte ki aap log uske frustration nikalne ka ekdam badhiya aap log uska ilaj kar dete ho aap ke jariye dawai dhundh lete hain apne dimag ka aapke upar saare taalab ko nikaal deta hai aapko relax ho jata hai daaru pk unhi chijon ko yaad kar nahi nikale ya kisi se nahi bolega toh insaan Pagal ho sakta hai yun samjho ki vaah jo kar raha hai batao galat nahi kar raha hai apni jagah bahut sahi kar raha hai apne aapko kya kar raha hai aapke apne aap apne dimag ko apne aap ko bachav kar raha hai aap dawai group me aap logo ko Pagal hone ki wajah se nikalakar aapse achi baat ab inko sambhalne ke liye seedhi si baat hai ki aap din me jab acche rehte hain tab unki paristhitiyon ko samjhne ki koshish karo apne gharwaalon ko bolo sab ke peeche agar aap ne sawaal poocha toh jaat ki batein kya aapko zyada fikar hogi unki toh aap sab se main chup karo sab se pucho usne kuch kahin na kahin se kuch na kuch surag niklega maa baap se family se ki evam sab se pucho aur usko likho aur us par kaam karna chaalu karo agar aap itna accha sochte ho aap kadam uthana chahiye aage badh kar aana chahiye aur inki dikkat ko dur karna chahiye dekho kuch bimariyan hoti hai ise aap yah nahi bol sakti kyonki kaise hui bahut saare karan hote bimari hone ke karan ho sakta hai iska ilaj bhi hai lekin zarurat hai un logo ki jo iska ilaj kar sake jo inke bare me soch sake iska ilaj ghar mil lo aap ke log hain wahi log kar sakte hain lekin vaah log kya kare ki vaah log isko ignore kar rahe hain chat kar rahe hain ya itna interest nahi le rahe agar aap le rahe ho toh aap is cheez ko call karo aur unke bheetar bheetar ke sawaal ko nikalo unke andar kya sawaal chalta hai aur kyon peete hain us time peene ke baad kya hota hai banda past me chala jata hai aur past ki batein koi koi cheez hai koi ghar ka takleef ko bahut saari batein thi zindagi me aap toh aaj aaye ho aaj se pehle 20 saal hone me gujare pal bhi saal me kya kya hua hoga kya kya paristhiyaann I hongi madarse bhi baat karo jab bhi na piye rehte hain aur ek din unko ghar me bhi laao baitha kar phir dekho ki uske baad vaah kya karte hain unki ek cheez ko note par bhi aap nahi pilao pilao ho toh piyenge kaise aakar bhi chala karo ghar me hi pila isme aap father mother ko yah bolo ki yah cheez hata de agar unko bachaana chahte hain sharm hata de ki mere saamne fika mere saamne niklega yah ghar me baithakar pilaana chaalu kar do bahar nikal aaye ghar me peena chaalu kar denge pehle aapke saamne aa jaenge aur hamesha note karte raho ki vaah peene ke baad bolte kya hai kis typing kar lete hain is type se bolte hain kya bolte hain aapke samajh me aa jaega ki nahi kahani chai pilane ka rakho the dharami unko peene ki aadat dalo bahar na jaane do bahar me pata nahi kya hota hai vaah kaise log hote hain ki aap station ho jata hoga peene ke baad kisse jhagda ho jata hoga uska fal station aap par nikalate honge yah sab dekhne batein jija jaha par aap logo ko sabko aap main bolta hoon aapke ghar me jitne bhi log hain unko ya audio sunaen aur sab ko milne ki koshish karna chahiye agar unke bare me accha sochte ho toh aa jaiye ghar ke log accha hi sochte honge toh be positive aur yah cheez ke liye aur kariye aur sab ko ek saath baithkar is par manthan karna padega choti baat nahi hai aap ka aadmi hai aap log hi sambhaal sakte ho aap baithe ho jo bhi ho unke aap accha pahal kar rahe ho achi baat hai kitna soch rahe ho aur un aur ghar ke aur member hai unko bhi bolo aise soche aur sabse pehle kaun inko p lo unki saari khamiyan achaiya buraiyan likhna chaalu kar do saari batein saamne aa jayegi aur jo maine bola ki ghar ghar me pilane ka dalo ghar me shuru karo pakka kuch na kuch badlav aayega aur aage badhane me aane vala time bilkul hi accha hoga aapki jo papa hai jo bhi hai bahut acche hain kyonki aap khud hi bol rahe ho bus daaru ki problem hai aur daaru ki problem aise me daaru peeni hai kuch aur ki hai jo koi aur tension hai jo dimag me ghanti bajata hai aur vaah ghanti ke ishare par daaru p lete

श्री होता है क्या जो नशा है नशा बहुत ही बुरा लगता है और यह अच्छे अच्छे इंसान को खराब बना द

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेंड हो सकता है आपके पिताजी किसी बात को लेकर बहुत ज्यादा टेंशन रखते हो क्योंकि अक्सर माना जाता है कि जो शराब पीने वाले लोग होते जिनके मन में कुछ ज्यादा टेंशन होती है वह लोग पीते हैं या फिर इन्हें लत लग जाती है वह 1 इंच है कि आपकी बात है जो प्रॉब्लम है आप की स्थापना तो मुझे ऐसा लग रहा है कि आपके पिताजी की जोना माइंड में कुछ प्रॉब्लम है नहीं टेंशन है कुछ आपको पहले कोशिश करनी है उनकी टेंशन क्या है पहले उसकी टेंशन पूछो कि पापा जी मतलब अपने साथ बैठे हैं पूछे पापा क्या बात है आप मुझे बता नहीं सकता हम तुम्हारे बाप बेटे ने एक दोस्त की तरह आप अपने पापा से पूछा उनकी प्रॉब्लम को सॉल्व करना फिर पार्टी बनती है फ्रेंड से बाबा उम्मीद करते हैं कि आप साथ छोड़ देंगे इस तरह का भी है वर्क नहीं रखेंगे

send ho sakta hai aapke pitaji kisi baat ko lekar bahut zyada tension rakhte ho kyonki aksar mana jata hai ki jo sharab peene waale log hote jinke man me kuch zyada tension hoti hai vaah log peete hain ya phir inhen lat lag jaati hai vaah 1 inch hai ki aapki baat hai jo problem hai aap ki sthapna toh mujhe aisa lag raha hai ki aapke pitaji ki joanna mind me kuch problem hai nahi tension hai kuch aapko pehle koshish karni hai unki tension kya hai pehle uski tension pucho ki papa ji matlab apne saath baithe hain pooche papa kya baat hai aap mujhe bata nahi sakta hum tumhare baap bete ne ek dost ki tarah aap apne papa se poocha unki problem ko solve karna phir party banti hai friend se baba ummid karte hain ki aap saath chhod denge is tarah ka bhi hai work nahi rakhenge

सेंड हो सकता है आपके पिताजी किसी बात को लेकर बहुत ज्यादा टेंशन रखते हो क्योंकि अक्सर माना

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user

Mohd Amjad Khan

Bill Collectorate In Nagar Palica &Human Rights President

0:41
Play

Likes  4  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
user
0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके पिताजी को शराब की लत है इसलिए उनकी लत ऐसे आसानी से नहीं छूटेगी आप अब जब वह नशे की हालत में ना हो तो उन्हें समझा सकते हैं कि आप कम शराब पिए और अपने ही शराब पी है जितने आप आप ले सकते हैं इससे आपके और आपके परिवार को बड़ा पैदा हो सकता है

aapke pitaji ko sharab ki lat hai isliye unki lat aise aasani se nahi chutegi aap ab jab vaah nashe ki halat me na ho toh unhe samjha sakte hain ki aap kam sharab piye aur apne hi sharab p hai jitne aap aap le sakte hain isse aapke aur aapke parivar ko bada paida ho sakta hai

आपके पिताजी को शराब की लत है इसलिए उनकी लत ऐसे आसानी से नहीं छूटेगी आप अब जब वह नशे की हाल

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जरूरी नहीं कि ऐसा करने के पीछे के कारणों की आदत भी हो सकते हैं और आदमी कहां से पड़ी इस टीबी हॉस्पिटल बुरी संगत ने कभी शराब पीने वालों की संगत में जाएंगे तो शराब पीनी शुरु कर देंगे पर एक बार यह गंदी आते हैं जो है एक बार शुरू हो जाए तो छूट भी नहीं है बड़ी विल पावर होती है आप लोगों को सब कुछ चाहिए तो तुम्हारी माता जी का फोटो में बच्चों को भी चाहिए कि मिलकर उनकी इच्छाशक्ति उनकी बेल पावर बैंक है क्या आपने छोड़नी है मजबूर करें उनको भाव कर दे इमोशनल अपील करें

zaroori nahi ki aisa karne ke peeche ke karanon ki aadat bhi ho sakte hain aur aadmi kaha se padi is TB hospital buri sangat ne kabhi sharab peene walon ki sangat me jaenge toh sharab peeni shuru kar denge par ek baar yah gandi aate hain jo hai ek baar shuru ho jaaye toh chhut bhi nahi hai badi will power hoti hai aap logo ko sab kuch chahiye toh tumhari mata ji ka photo me baccho ko bhi chahiye ki milkar unki ichchhaashakti unki bell power bank hai kya aapne chhodni hai majboor kare unko bhav kar de emotional appeal kare

जरूरी नहीं कि ऐसा करने के पीछे के कारणों की आदत भी हो सकते हैं और आदमी कहां से पड़ी इस टीब

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
user

G.K.Mishra

As A Student Of B. Com

2:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड मॉर्निंग माय डियर फ्रेंड मैं ज्ञानी मिश्र आप लोगों की सेवा में एक बार फिर हाजिर हो जैसा किया कई प्रश्न है कि मेरे पिताजी कुछ और नशे वगैरह करके घर पर रहते हैं और घर पर रहने वाले समस्त लोगों को चिल्लाते हैं मैं तो डांटते हैं और अपने पिताजी अर्थात आप लोगों के दादाजी की बात भी नहीं मानते हो माता जी आपके उनको नहीं रोकते फोन पर आता हूं कि अगर आपके पिताजी का नशा वगैरह सब कर रहे हैं तुमको रुक गया तुमको ऐसे बातों से उनको देखिए कहा था ना कि डंडे की मार हो सत्र की मार से ज्यादा वाडी की मार प्रभाव करता है तू जो शब्द की मार होती है वह काफी हद तक दिल तक वह ठेस पहुंचाती है तो आप उनको देखे पीता तो है पिता को ऐसे शब्दों से प्रयोग करना उनके सामने ही शब्दों का प्रयोग करना उचित तो है नहीं लेकिन जूही सिचुएशन सिचुएशन के हिसाब से उचित है जब वह ऐसा कर क्या है 1 शब्दों से प्रेरित करिए कि आप एक एग्जांपल में देता हूं जैसे कि आप लोग की भी शादी होगी अगर हो गई है तो ठीक है नहीं तो कोई बात नहीं होगी उनको इस बात का एहसास करें कि आपका परिवार है आपके परिवार में भी लड़की है बच्चे हैं सब का शादी विवाह होना बाकी है अक्सर ऐसी कंडीशन में लोग जो शादी करते हैं तो उनका रिश्ता काफी ज्यादा बिगड़ता है लोग बनाने नहीं देते हैं क्योंकि सीधे बोलेंगे कि आप कभी-कभी आशा करते हैं यह करते हैं वह करते हैं सिर्फ आप नहीं बोलोगे अगल बगल वाले बोल देंगे संपर्क में रहेंगे तो आप उनको ही तरह से बातों से अवगत कराइए और डॉक्टर से परामर्श लीजिए इससे अधिक में आपकी मदद नहीं कर सकता जितनी भी जानकारी या पीछे बैठा था आप उनको इस तरह से काम करिए एक बार तो कुछ भी नहीं और हमारे बातों का भी ध्यान दीजिए नमस्कार मैं गंज में स्टाक लोक सेवा में तत्पर तैयार है जय हिंद जय भारत

good morning my dear friend main gyani mishra aap logo ki seva me ek baar phir haazir ho jaisa kiya kai prashna hai ki mere pitaji kuch aur nashe vagera karke ghar par rehte hain aur ghar par rehne waale samast logo ko chillate hain main toh dantate hain aur apne pitaji arthat aap logo ke dadaji ki baat bhi nahi maante ho mata ji aapke unko nahi rokte phone par aata hoon ki agar aapke pitaji ka nasha vagera sab kar rahe hain tumko ruk gaya tumko aise baaton se unko dekhiye kaha tha na ki dande ki maar ho satra ki maar se zyada wadi ki maar prabhav karta hai tu jo shabd ki maar hoti hai vaah kaafi had tak dil tak vaah thes pahunchati hai toh aap unko dekhe pita toh hai pita ko aise shabdon se prayog karna unke saamne hi shabdon ka prayog karna uchit toh hai nahi lekin juhi situation situation ke hisab se uchit hai jab vaah aisa kar kya hai 1 shabdon se prerit kariye ki aap ek example me deta hoon jaise ki aap log ki bhi shaadi hogi agar ho gayi hai toh theek hai nahi toh koi baat nahi hogi unko is baat ka ehsaas kare ki aapka parivar hai aapke parivar me bhi ladki hai bacche hain sab ka shaadi vivah hona baki hai aksar aisi condition me log jo shaadi karte hain toh unka rishta kaafi zyada bigadta hai log banane nahi dete hain kyonki sidhe bolenge ki aap kabhi kabhi asha karte hain yah karte hain vaah karte hain sirf aap nahi bologe agal bagal waale bol denge sampark me rahenge toh aap unko hi tarah se baaton se avgat karaiye aur doctor se paramarsh lijiye isse adhik me aapki madad nahi kar sakta jitni bhi jaankari ya peeche baitha tha aap unko is tarah se kaam kariye ek baar toh kuch bhi nahi aur hamare baaton ka bhi dhyan dijiye namaskar main ganj me stak lok seva me tatpar taiyar hai jai hind jai bharat

गुड मॉर्निंग माय डियर फ्रेंड मैं ज्ञानी मिश्र आप लोगों की सेवा में एक बार फिर हाजिर हो जैस

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
user
4:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपके सवाल से जाहिर हो जाता है कि नशा जो एकादशी अब वह लोग जो नशा करते हैं और वह शेर जिम में नशा अलाउड है या नहीं है यह जाने उसके बारे में आपके सवाल सही हुआ कि आप के दादाजी हैं आपके पिता भाई हैं आपकी मां भी हैं भाई भी है और पिताजी जो कुछ करते हैं नशे में करते हैं कोई एडिट हो चुके हैं जो नशे में ना रहे थे तुमको एहसास होता है तो फिर आप लोगों को खुश करने की जरूरत समझते हैं अब आप के दादाजी भी कुछ अपनी मजबूरी समझते होंगे अरे करते होंगे वह बच्चे नशे में होता है तो वह तो मोरारजी देसाई हमारे प्राइम मिनिस्टर थे तुझे हो इसके बाद शराब से खाना क्यों अपना पेशाब जय हो पीते थे उसको वह करके प्रोसेस के तहत लेकिन इसके बाद कल आपसे कौन से किसी ने पूछा कि मैं ऐसी क्या बात है उन्होंने अपने गांव में देखा था एक आदमी नशा करके अपनी बहन के साथ गलत करना चाहता तो उस दिन से मैंने गांठ बांध लिया कि मैं नशा बहुत बुरी चीज है उस आदमी को तमीज नहीं है एक तरफ तो बहन जो है वो भाई के हाथ की कलाई पर राखी बांधी है क्यों उसकी हिफाजत करेगा वह राखी को स्वस्थ रखता है जब तक तुम खुद ही ना गिर जाए और वह जाए वही भाई बहन के साथ करना चाहिए जो लोग करते हैं जिन कराना मैंने जिस मैदान में जिस धर्म में जो सोसाइटी में ही अलाउड है उन लोगों को सोचना चाहिए इसको बंद करना चाहिए अब रहा क्या आप हम को कैसे समझाएं जब वो ठीक हालत में हो तो आप हमसे बात कीजिए बड़ों से ज्यादा छोटों की बातें समझ में आती है और लोगों को वोट भी करते हैं लोग इंस्पायरिंग आप उनसे कहिए कि पिताजी आप क्या कर रहे हैं हमारे दादा जी भी हैं गांव के पिताजी भी हैं मेरी माता जी भी हैं आपकी बीवी हम लोग भी हैं तो हम सभी तो आप ही पर हैं कि दादा दादी बूढ़े हो गए तो आपने भी हुआ है आखिर इतने मां तो है ही हैं हम लोग भी हैं तो आप ही क्या कर रहे हैं और फिर जब आप ही करके आते हैं और आप ठीक हो जाते हैं तब एहसास होता है एहसास होता है तो फिर आप ऐसा क्यों करते हैं कि आप को शर्मिंदा होना पड़े एक काम करिए है क्या आप और आपके भाई हैं आप लोग वैसे ही उच्चतम इसके साथ ही ढंग से हो कीजिए और आपकी माता जी हमसे बात करें आप उनसे कहिए कि देखिए हमारे बच्चे फर्ज बनता है हमारे बड़े भी हैं बच्चे भी हैं कि उनकी भी देख रहे थे जिनकी भी देख रहे थे और हम भी ऐसा करेंगे तो क्या होगा उनकी मजबूरी है ऐसा हुआ क्यों आपके पिताजी दादाजी ने क्यों होने दिया तो अभी तो अलग कहानियां है क्रिकेट हो चुके हैं तो आपके घर का माहौल खराब रहेगा इसलिए एडिक्शन ऐसी चीज है कि आदमी अपने आप से मजबूर हो जाता है और चाहते हुए भी नहीं छोड़ सकता इसके लिए बहुत डिटरमिनेशन यादव कोई ऐसा आदमी हो जो उनको मजबूर करे सिखाएं या फिर एक बार अपने आप से अमित जोगी मैं नहीं करूंगा लेकिन कोई मुश्किल नहीं है जब आप करना चाहे उसके लिए डिटरमिनेशन सब लोग सो जाइए और अब दोबारा बताइएगा कि इसका कोई असर हो रहा है कि नहीं

dekhiye aapke sawaal se jaahir ho jata hai ki nasha jo ekadashi ab vaah log jo nasha karte hain aur vaah sher gym me nasha allowed hai ya nahi hai yah jaane uske bare me aapke sawaal sahi hua ki aap ke dadaji hain aapke pita bhai hain aapki maa bhi hain bhai bhi hai aur pitaji jo kuch karte hain nashe me karte hain koi edit ho chuke hain jo nashe me na rahe the tumko ehsaas hota hai toh phir aap logo ko khush karne ki zarurat samajhte hain ab aap ke dadaji bhi kuch apni majburi samajhte honge are karte honge vaah bacche nashe me hota hai toh vaah toh morarji desai hamare prime minister the tujhe ho iske baad sharab se khana kyon apna peshab jai ho peete the usko vaah karke process ke tahat lekin iske baad kal aapse kaun se kisi ne poocha ki main aisi kya baat hai unhone apne gaon me dekha tha ek aadmi nasha karke apni behen ke saath galat karna chahta toh us din se maine ganth bandh liya ki main nasha bahut buri cheez hai us aadmi ko tamij nahi hai ek taraf toh behen jo hai vo bhai ke hath ki kalaai par rakhi bandhi hai kyon uski hifajat karega vaah rakhi ko swasth rakhta hai jab tak tum khud hi na gir jaaye aur vaah jaaye wahi bhai behen ke saath karna chahiye jo log karte hain jin krana maine jis maidan me jis dharm me jo society me hi allowed hai un logo ko sochna chahiye isko band karna chahiye ab raha kya aap hum ko kaise samjhaye jab vo theek halat me ho toh aap humse baat kijiye badon se zyada choton ki batein samajh me aati hai aur logo ko vote bhi karte hain log inspiring aap unse kahiye ki pitaji aap kya kar rahe hain hamare dada ji bhi hain gaon ke pitaji bhi hain meri mata ji bhi hain aapki biwi hum log bhi hain toh hum sabhi toh aap hi par hain ki dada dadi budhe ho gaye toh aapne bhi hua hai aakhir itne maa toh hai hi hain hum log bhi hain toh aap hi kya kar rahe hain aur phir jab aap hi karke aate hain aur aap theek ho jaate hain tab ehsaas hota hai ehsaas hota hai toh phir aap aisa kyon karte hain ki aap ko sharminda hona pade ek kaam kariye hai kya aap aur aapke bhai hain aap log waise hi ucchatam iske saath hi dhang se ho kijiye aur aapki mata ji humse baat kare aap unse kahiye ki dekhiye hamare bacche farz banta hai hamare bade bhi hain bacche bhi hain ki unki bhi dekh rahe the jinki bhi dekh rahe the aur hum bhi aisa karenge toh kya hoga unki majburi hai aisa hua kyon aapke pitaji dadaji ne kyon hone diya toh abhi toh alag kahaniya hai cricket ho chuke hain toh aapke ghar ka maahaul kharab rahega isliye addiction aisi cheez hai ki aadmi apne aap se majboor ho jata hai aur chahte hue bhi nahi chhod sakta iske liye bahut ditaramineshan yadav koi aisa aadmi ho jo unko majboor kare sikhaye ya phir ek baar apne aap se amit jogi main nahi karunga lekin koi mushkil nahi hai jab aap karna chahen uske liye ditaramineshan sab log so jaiye aur ab dobara bataiega ki iska koi asar ho raha hai ki nahi

देखिए आपके सवाल से जाहिर हो जाता है कि नशा जो एकादशी अब वह लोग जो नशा करते हैं और वह शेर

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
user

Purushottam Choudhary

ब्राह्मण Next IAS institute गार्ड

2:15
Play

Likes  89  Dislikes    views  1830
WhatsApp_icon
user
1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई समस्या है कि आपके पिता हरदोई दिन में घर आते हैं तो देखो या तो आपके पिताजी को कौन सी प्रॉब्लम है या फिर भी दारू के सिद्ध कीजिए कि वह छूटे रही वह छोड़ना चाहते लेकिन झूठ नहीं दे तो इसका एक सलूशन है कि एक तो अपने पिता से बैठकर बातचीत कीजिए या फिर उनके बारे में इंफॉर्मेशन निकाली है कि उन्हें ऐसी क्या समस्या है कि वह ड्रिंक कर देगा या फिर आपने कोई अच्छे से डॉक्टर को दिखाइए या फिर हो सकता है यह कभी-कभी घर की टेंशन है तनाव यह किसी चिंता के कारण ऐसा हो तो इंसान 150 कि समय से कुछ होता रहता है कहीं ना कहीं तो यह भी एक मुद्दा काफी गंभीर समस्या है तो आप इसे पेट के पिता के साथ में मां भी पूरी फैमिली मिलकर इस के बारे में बात कीजिए विचार विमर्श कीजिए हमको बताइए हमको क्या समस्याएं जानने की कोशिश कीजिए और अगर कोई प्रॉब्लम ना है तो हो सकता है उन्हें लत लग गई उनकी कोशिश करें या फिर यही है बिजी गंभीर समस्या है बात बात करके ही सॉल्व हो सकती है इसके अलावा दारु पीने वालों का कोई सलूशन नहीं है दोस्त

koi samasya hai ki aapke pita hardoi din me ghar aate hain toh dekho ya toh aapke pitaji ko kaun si problem hai ya phir bhi daaru ke siddh kijiye ki vaah chhoote rahi vaah chhodna chahte lekin jhuth nahi de toh iska ek salution hai ki ek toh apne pita se baithkar batchit kijiye ya phir unke bare me information nikali hai ki unhe aisi kya samasya hai ki vaah drink kar dega ya phir aapne koi acche se doctor ko dikhaiye ya phir ho sakta hai yah kabhi kabhi ghar ki tension hai tanaav yah kisi chinta ke karan aisa ho toh insaan 150 ki samay se kuch hota rehta hai kahin na kahin toh yah bhi ek mudda kaafi gambhir samasya hai toh aap ise pet ke pita ke saath me maa bhi puri family milkar is ke bare me baat kijiye vichar vimarsh kijiye hamko bataiye hamko kya samasyaen jaanne ki koshish kijiye aur agar koi problem na hai toh ho sakta hai unhe lat lag gayi unki koshish kare ya phir yahi hai busy gambhir samasya hai baat baat karke hi solve ho sakti hai iske alava daaru peene walon ka koi salution nahi hai dost

कोई समस्या है कि आपके पिता हरदोई दिन में घर आते हैं तो देखो या तो आपके पिताजी को कौन सी प्

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user

Aman Diwaker..

Business Owner

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए ऐसी कंडीशन अक्सर लोगों के साथ होती है जो नशा करता है उसके साथ यही होता है शाम को पीकर आना घर में झगड़ा करना सुबह जब उतर जाती है उसके बाद घरवालों से माफी मांगना और इससे घरवाले फैमिली वाले परेशान होते हैं तो मैं आपको गिराए देता हूं एक मेडिसिन आती है डाई जोन के नाम से ओके हर मेडिकल स्टोर पर अवेलेबल है वह उसका नाम है डाई जोन ठीक है तो आप उसे ला सकते हो और जब भी आपके पापा जी खाना खाते हैं सुबह शाम सुबह शाम आपको वह देनी है एक गोली सुबह एक जंगली शाम को वह भी खाने में मिलाकर सब्जी में आपके लाकर दे सकते हो ठीक है जिससे उनको पता ना चले और जैसे ही वह दवाई अपना असर करेगी वैसे ही आपको आपके पापा जी ने जो भी है उनको और फर्क लगेगा और उन्हें उल्टियां होंगी कि आप परेशान मत होना उन्हें बेचैनी होगी थोड़ा सा दिक्कत होगी लेकिन कोई दिक्कत वाली बात नहीं है फिर मैं अपने आप मन नहीं होगा जा यह काफी टाइम तक 5 महीने का कोर्स होता है उसे आप पूरा कराइए ठीक है ऑल द बेस्ट ट्राई करके देखिए थैंक यू

dekhiye aisi condition aksar logo ke saath hoti hai jo nasha karta hai uske saath yahi hota hai shaam ko peekar aana ghar me jhagda karna subah jab utar jaati hai uske baad gharwaalon se maafi maangna aur isse gharwale family waale pareshan hote hain toh main aapko giraye deta hoon ek medicine aati hai dye zone ke naam se ok har medical store par available hai vaah uska naam hai dye zone theek hai toh aap use la sakte ho aur jab bhi aapke papa ji khana khate hain subah shaam subah shaam aapko vaah deni hai ek goli subah ek jungli shaam ko vaah bhi khane me milakar sabzi me aapke lakar de sakte ho theek hai jisse unko pata na chale aur jaise hi vaah dawai apna asar karegi waise hi aapko aapke papa ji ne jo bhi hai unko aur fark lagega aur unhe ultiyan hongi ki aap pareshan mat hona unhe bechaini hogi thoda sa dikkat hogi lekin koi dikkat wali baat nahi hai phir main apne aap man nahi hoga ja yah kaafi time tak 5 mahine ka course hota hai use aap pura karaiye theek hai all the best try karke dekhiye thank you

देखिए ऐसी कंडीशन अक्सर लोगों के साथ होती है जो नशा करता है उसके साथ यही होता है शाम को पीक

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ दिनों से आपका पिताजी नशा करके आते हैं और आपके ऊपर चिल्लाते हैं आप लोगों को परेशान भी करते हैं आपका पिताजी कहां से नशा करके आते हैं उस चीज के लिए पहले पता कीजिए वह कहां जाते हैं और क्या नशा करके आते हो और ए कितना साल से हो रहा है अगर शादी से पहले हैं जब आप लोग नहीं थे आपके मम्मी से शादी बहुत से पहले से हैं तो उनका संगत अच्छा नहीं होगा तो तो फिर अभी किसी का नहीं सुनेंगे कुछ इंसान ऐसे हैं जो उनकी बात मानते हैं उनसे उनके मीटिंग करवाइए घर पर बुलाकर उनसे बात कराइए और उनको बुलाइए क्या इनको भेजिए उनके पास यह बात करेंगे तो कुछ सामने ऐसा इनके कुछ रखना होगा उनके पास जो फिर वह धीरे धीरे धीरे जो चीज को जिस टाइम उनका पीने का टाइम है उस टाइम उनको बिजी रखा जाए उसका हमको कोई काम बता दिया जाए तब हो सकता है यह चीजों में चेंज है बाकी घर वाले का तो मानना चाहिए अब क्यों नहीं मानते हैं यह तो आपका पिताजी को मालूम होगा इसीलिए उनका टाइम शेड्यूल बना दिए डिस्टर्ब हो पी के आते हैं उस टाइम उनको कुछ काम बता दिया जाए अपने दादा दादी है जो भी घर के बुजुर्ग लोग हैं उनसे उनका बात कराइए या किसी ऐसे इंसान का बाद जो मानते होंगे उनको बहुत ज्यादा मानते हैं उनसे उनका जो है सलाह मशवरा कर आओगे फिर उस टाइम को चेंज कराना है तो धीरे-धीरे हो सकता हूं छोड़ दें क्योंकि दूसरे दिन जब वह अच्छा रहते हैं तो यह हो सकता है कुछ उनका माइंड में उनका जो दोस्तों कर रहे हैं उनको डाल लेते आऊंगा तो नहीं जी तुम ऐसा करके जाओगे तो ठीक रहोगे ऐसा नहीं करोगे तो ठीक नहीं रहोगे तो हो सकता है वह चेंज हो जाए

kuch dino se aapka pitaji nasha karke aate hain aur aapke upar chillate hain aap logo ko pareshan bhi karte hain aapka pitaji kaha se nasha karke aate hain us cheez ke liye pehle pata kijiye vaah kaha jaate hain aur kya nasha karke aate ho aur a kitna saal se ho raha hai agar shaadi se pehle hain jab aap log nahi the aapke mummy se shaadi bahut se pehle se hain toh unka sangat accha nahi hoga toh toh phir abhi kisi ka nahi sunenge kuch insaan aise hain jo unki baat maante hain unse unke meeting karavaiye ghar par bulakar unse baat karaiye aur unko bulaiye kya inko bhejiye unke paas yah baat karenge toh kuch saamne aisa inke kuch rakhna hoga unke paas jo phir vaah dhire dhire dhire jo cheez ko jis time unka peene ka time hai us time unko busy rakha jaaye uska hamko koi kaam bata diya jaaye tab ho sakta hai yah chijon me change hai baki ghar waale ka toh manana chahiye ab kyon nahi maante hain yah toh aapka pitaji ko maloom hoga isliye unka time schedule bana diye disturb ho p ke aate hain us time unko kuch kaam bata diya jaaye apne dada dadi hai jo bhi ghar ke bujurg log hain unse unka baat karaiye ya kisi aise insaan ka baad jo maante honge unko bahut zyada maante hain unse unka jo hai salah mashwara kar aaoge phir us time ko change krana hai toh dhire dhire ho sakta hoon chhod de kyonki dusre din jab vaah accha rehte hain toh yah ho sakta hai kuch unka mind me unka jo doston kar rahe hain unko daal lete aaunga toh nahi ji tum aisa karke jaoge toh theek rahoge aisa nahi karoge toh theek nahi rahoge toh ho sakta hai vaah change ho jaaye

कुछ दिनों से आपका पिताजी नशा करके आते हैं और आपके ऊपर चिल्लाते हैं आप लोगों को परेशान भी क

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
user

Abdullah Qureshi

Assistant Professor

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार जी देखिए आप इस समस्या से बिल्कुल भी परेशान ना हो सबसे पहले जो है आप यह जानने की कोशिश करें के पिताजी का बाहर जो है वह किन लोगों के साथ उठना बैठना पसंद थी उनकी अभी समय क्या है कि लोगों के साथ बैठते हैं कंपनियों की कौन सी है दूसरी बात यह कि क्या उनके ऊपर भी समय कोई मुसीबत है कोई आर्थिक परेशानी है कोई कर्जा ले रखा है कोई अंदर अंदर वह परेशान हो रहे हो यह सब बात जाने की कोशिश करो कोई अच्छे साइकेट्रिस्ट जो है उनको कंसल कराओ घर का माहौल इस प्रकार रखो के वहां पर ज्यादा से ज्यादा समय बीता है उन्हें ज्यादा ज्यादा सहानुभूति दो प्रेम और करुणा का भाव दिखाओ और आप लोग सब उनके साथ जुड़े और उन पर जो है जब वह चिल्लाते और ईश्वर से करते तो उनको आप लोग इस तरह से बात हुई है और लगता है कि नहीं वह ज्यादा डोमेस्टिक वायलेंस कर रहे हो किसी के समझाने के बाद भी समझ रहे हो फिर से बड़ों का सहायता लोग बड़े भी नहीं मानते फिर आप जो है कोई कार्रवाई कर सकते हो धन्यवाद

namaskar ji dekhiye aap is samasya se bilkul bhi pareshan na ho sabse pehle jo hai aap yah jaanne ki koshish kare ke pitaji ka bahar jo hai vaah kin logo ke saath uthna baithana pasand thi unki abhi samay kya hai ki logo ke saath baithate hain companion ki kaun si hai dusri baat yah ki kya unke upar bhi samay koi musibat hai koi aarthik pareshani hai koi karja le rakha hai koi andar andar vaah pareshan ho rahe ho yah sab baat jaane ki koshish karo koi acche psychiatrist jo hai unko kansal karao ghar ka maahaul is prakar rakho ke wahan par zyada se zyada samay bita hai unhe zyada zyada sahanubhuti do prem aur corona ka bhav dikhaao aur aap log sab unke saath jude aur un par jo hai jab vaah chillate aur ishwar se karte toh unko aap log is tarah se baat hui hai aur lagta hai ki nahi vaah zyada domestic violence kar rahe ho kisi ke samjhane ke baad bhi samajh rahe ho phir se badon ka sahayta log bade bhi nahi maante phir aap jo hai koi karyawahi kar sakte ho dhanyavad

नमस्कार जी देखिए आप इस समस्या से बिल्कुल भी परेशान ना हो सबसे पहले जो है आप यह जानने की को

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
user

Ganpat Lal Parste

Career Counselor

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा यही सही सलाह है कि आप जब नशे में ना हो तब उसको शक्ति लोग बैठकर से इसके बारे में जानकारी दें जानकारी के साथ-साथ इसके लाभ हानि क्या है इसका दुष्परिणाम क्या हो सकते हैं इसके बारे में आप सभी लोग मिलकर बात करें कि नशे में व्यक्ति किसी की बात को नहीं सुनता नहीं बे सोचने समझने की क्षमता भी खो देता है इसलिए मेरा यही सलाह है आप जब वह नशे में ना हो तब सभी लोग बैठ के उसके साथ बात करें और उनकी जितने भी दोस्त आ रही है किसी भी इनके बारे में बात करें कि नशा एक ऐसा चीज है जो नशा लग जाता है नशा लगने के बाद व्यक्ति का समाज को देता है और नशे के आदी हो जाता है एक बार आप नशे में ना हो वह व्यक्ति उससे एक सभी लोग बैठकर उसके बारे में चर्चा करें और समझाएं एक सलूशन है कि आपको समझा देते हैं

mera yahi sahi salah hai ki aap jab nashe mein na ho tab usko shakti log baithkar se iske bare mein jaankari de jaankari ke saath saath iske labh hani kya hai iska dushparinaam kya ho sakte hain iske bare mein aap sabhi log milkar baat kare ki nashe mein vyakti kisi ki baat ko nahi sunta nahi be sochne samjhne ki kshamta bhi kho deta hai isliye mera yahi salah hai aap jab vaah nashe mein na ho tab sabhi log baith ke uske saath baat kare aur unki jitne bhi dost aa rahi hai kisi bhi inke bare mein baat kare ki nasha ek aisa cheez hai jo nasha lag jata hai nasha lagne ke baad vyakti ka samaj ko deta hai aur nashe ke adi ho jata hai ek baar aap nashe mein na ho vaah vyakti usse ek sabhi log baithkar uske bare mein charcha kare aur samjhayen ek salution hai ki aapko samjha dete hain

मेरा यही सही सलाह है कि आप जब नशे में ना हो तब उसको शक्ति लोग बैठकर से इसके बारे में जानका

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user
0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन सबसे पहले तो आप अपने पिताजी को समझाइए अगर नहीं मान रहा तुमको जो है ना जैसे के घर एकदम उनके नशे की लत की आदत पड़ गई हो जो कि कभी छूटने लगा हो तो घर से बाहर निकलने दीजिए उनको जी चीज जरूरत हो आप जाकर अगर आपको घर में बने हैं तो आप भी जा कर ला सकते हैं फिर अपने आप छोटे भाई को बोल सकते हैं वह जाकर लेकर आ सकता हूं लगभग 2 महीने बाद में को कहीं मत भेजिए तो पढ़िए हो सके आदत कुछ कम हो जाए लेकिन हमको दे दीजिए तो आपको ऐसे तो उसमें फायदा साबित होगा और उसको जो है वह बात सत्य को आगे भी माफी मांग तन को पछतावा होता लेकिन उनको दिमाग में तनाव नहीं है इसलिए

lekin sabse pehle toh aap apne pitaji ko samjhaiye agar nahi maan raha tumko jo hai na jaise ke ghar ekdam unke nashe ki lat ki aadat pad gayi ho jo ki kabhi chutney laga ho toh ghar se bahar nikalne dijiye unko ji cheez zarurat ho aap jaakar agar aapko ghar me bane hain toh aap bhi ja kar la sakte hain phir apne aap chote bhai ko bol sakte hain vaah jaakar lekar aa sakta hoon lagbhag 2 mahine baad me ko kahin mat bhejiye toh padhiye ho sake aadat kuch kam ho jaaye lekin hamko de dijiye toh aapko aise toh usme fayda saabit hoga aur usko jo hai vaah baat satya ko aage bhi maafi maang tan ko pachtava hota lekin unko dimag me tanaav nahi hai isliye

लेकिन सबसे पहले तो आप अपने पिताजी को समझाइए अगर नहीं मान रहा तुमको जो है ना जैसे के घर एकद

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पापा को किसी पेंटर से कुंडली दिखाओ क्या कोई नकारात्मक उड़ता उसको सकती है अगर शेती है तो उसको हैप्पी रोतन से उसकी पूजा करवाओ

papa ko kisi painter se kundali dikhaao kya koi nakaratmak udta usko sakti hai agar sheti hai toh usko happy rotan se uski puja karwao

पापा को किसी पेंटर से कुंडली दिखाओ क्या कोई नकारात्मक उड़ता उसको सकती है अगर शेती है तो उस

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  53
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!