क्या रूस से चेचेन्या आतंकवाद समाप्त हो गया है?...


play
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

1:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उत्तम सरकार की गाड़ी रुक रुक प्रयासों के कारण पिछले कई वर्षों में रोष में शांति रही लेकिन पिछले दिनों आतंकी धमाकों से एक बार फिर रोशनी आतंकवाद का खतरा बढ़ गया है आज विश्व का शायद ही कोई ऐसा देश है जो आतंकवाद के कहर से बचा हुआ है पिछले कई वर्षों से राजनीति में कई आंदोलन अति दक्षिणपंथी से अति वामपंथी तक ने आतंकवाद को महत्वपूर्ण हथियार के रूप में उपयोग में लिया है शक्तिशाली देशों के स्वार्थों ने भी इसे वैश्विक विभीषिका बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है लेकिन अत्याधुनिक तकनीकी की सरल पहुंचने आतंक को मानवता के सामने एक खतरे के रुप में ला खड़ा किया है हाल ही आतंकी हमलों को रूस में बड़े आतंकी की वापसी के रूप में देखा जा रहा है जिससे 1991 से 2004 तक रूस को लहूलुहान किया था 99 मन में चेचन राष्ट्रपति को हटाने चेचन्या का स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में मान्यता देने की बात की थी जिसे तत्कालीन राष्ट्रपति बारिश ने यह कहकर ठुकरा दिया कि सोवियत संघ में अन्य कई राज्यों की तरह चेचन्या अलग राज्य नहीं था असल में बारिश यह जानते थे कि अगर सोचे चंद लोगों की मांग मान ली जाए तो और भी कई क्षेत्र स्वतंत्रता की मांग उठाने लगेंगे इसके अलावा चेचन्या में तेल उत्पादन की कई बड़ी योजनाएं उस वक्त चल रही थी राष्ट्रवादी नेता जो खरीदा यह के नेतृत्व में चेचन्या ने नवंबर 1991 में स्वतंत्रता की एकतरफा घोषणा कर दी इसी के साथ रूस वचन राष्ट्रवादी गुटों के माध्यम से एक अंतहीन हिंसक संघर्ष शुरू हो गया अभी के आतंकवादी घटनाएं भी उसी सिलसिले की कड़ी मानी जा रही है

uttam sarkar ki gaadi ruk ruk prayaso ke karan pichle kai varshon mein rosh mein shanti rahi lekin pichle dino aatanki dhamaakon se ek baar phir roshni aatankwad ka khatra badh gaya hai aaj vishwa ka shayad hi koi aisa desh hai jo aatankwad ke kahar se bacha hua hai pichle kai varshon se raajneeti mein kai andolan ati dakshinapanthi se ati vampanthi tak ne aatankwad ko mahatvapurna hathiyar ke roop mein upyog mein liya hai shaktishali deshon ke swarthon ne bhi ise vaishvik vibheeshika banane mein mahatvapurna bhumika nibhaai hai lekin atyadhunik takniki ki saral pahuchne aatank ko manavta ke saamne ek khatre ke roop mein la khada kiya hai haal hi aatanki hamlo ko rus mein bade aatanki ki wapsi ke roop mein dekha ja raha hai jisse 1991 se 2004 tak rus ko lahuluhan kiya tha 99 man mein chechen rashtrapati ko hatane chechanya ka swatantra rashtra ke roop mein manyata dene ki baat ki thi jise tatkalin rashtrapati barish ne yah kehkar thukara diya ki soviet sangh mein anya kai rajyo ki tarah chechanya alag rajya nahi tha asal mein barish yah jante the ki agar soche chand logo ki maang maan li jaaye toh aur bhi kai kshetra swatantrata ki maang uthane lagenge iske alava chechanya mein tel utpadan ki kai baadi yojanaye us waqt chal rahi thi rashtrawadi neta jo kharida yah ke netritva mein chechanya ne november 1991 mein swatantrata ki ektarfa ghoshana kar di isi ke saath rus vachan rashtrawadi guton ke madhyam se ek antahin hinsak sangharsh shuru ho gaya abhi ke aatankwadi ghatnaye bhi usi silsile ki kadi maani ja rahi hai

उत्तम सरकार की गाड़ी रुक रुक प्रयासों के कारण पिछले कई वर्षों में रोष में शांति रही लेकिन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!