क्या बाबा साहब एक अच्छे नेता थे या नहीं?...


play
user

M S Aditya Pandit

Entrepreneur | Politician

0:45

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाबासाहेब एक अच्छे नेता थे या नहीं यह तो कहना मुझे मुश्किल है मेरे लिए लेकिन इतना जानता हो जरूर कह सकता कि वह एक अच्छे व्यक्ति थे वह इंसानियत के मसीहा थे ना कि किसी कम्युनिटी के लेकिन लोगों ने उन्हें एक दलित पढ़ो कम्युनिटी में डालकर सिर्फ उनका ही वह किया जो कि दलित के नाम पर उस समय जितने लोगों को सताया जा रहा तो सभी को सभी लोगों के लिए हमारी कैसी है उन्हें किसी धर्म जाति या दलित करके बुलाने चर्चा के तौर पर देखे पानी से रमेश का सम्मान करना चाहिए

babasaheb ek acche neta the ya nahi yeh toh kehna mujhe mushkil hai mere liye lekin itna jaanta ho zaroor keh sakta ki wah ek acche vyakti the wah insaniyat ke masiha the na ki kisi community ke lekin logo ne unhein ek dalit padho community mein dalkar sirf unka hi wah kiya jo ki dalit ke naam par us samay jitne logo ko sataaya ja raha toh sabhi ko sabhi logo ke liye hamari kaisi hai unhein kisi dharm jati ya dalit karke bulane charcha ke taur par dekhe pani se ramesh ka sammaan karna chahiye

बाबासाहेब एक अच्छे नेता थे या नहीं यह तो कहना मुझे मुश्किल है मेरे लिए लेकिन इतना जानता हो

Romanized Version
Likes  151  Dislikes    views  1996
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kumar

Social Worker

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे खराब नेता देश के बर्बाद करने वाला नेता देश के विभाजन में संविधान को गलत तरीके से प्रस्तुत करने वाला संविधान खराब हो लिखने वाला आज उसी का ना झेल रहा है सब कोई

sabse kharab neta desh ke barbad karne vala neta desh ke vibhajan mein samvidhan ko galat tarike se prastut karne vala samvidhan kharab ho likhne vala aaj usi ka na jhel raha hai sab koi

सबसे खराब नेता देश के बर्बाद करने वाला नेता देश के विभाजन में संविधान को गलत तरीके से प्रस

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  355
WhatsApp_icon
user

VIPspk

Lecturer (CHB), Competitive

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या बाबा साहब एक अच्छे नेता थी या नहीं देखिए इसमें कोई भी दो मत नहीं है कि बाबा साहब एक बहुत ही अच्छे लीडर थे ग्रेट लीडर थे जातक इंडियन फ्रीडम की बात करें या स्वतंत्र सेनानी की बात करें तो बाबा साहब एक ऐसे लीडर रहे हैं कि जो कभी भी देश की पतंजलि की लड़ाई में कभी जेल नहीं गए उन्होंने उस समाज के लिए काम किया जिस समाज को कोई भी एक दर्जा नहीं था जिनकी हालत जानवरों से भी बदतर थी अभी भी है उस समाज के लिए उन्होंने काम किया है देखिए अगर हम बाबा साहब के पूरे जीवन काल का और उनके पूरे वर्क का स्टडी करते तो हमें पता चलता है कि बाबा साहब ने किसी भी एक पर्टिकुलर समाज के लिए कभी काम नहीं किया उन्होंने उस लोगों के लिए काम किया थी जिनको समाज में कोई वैल्यू नहीं थी बाबा साहब ने उस समाज को उनके जीने के लिए जो भी राइट्स जरूरी है वह हासिल करके दिए तो इसमें कोई भी दो मत नहीं है कि बाबा साहब एक अच्छे लीडर थे या नहीं वह हमेशा ही असली रहे उनकी सोच उस जमाने से 100 साल से भी आगे थी उनके विचार आप भी उतनी ही पर डिग्री लागू लागू है उनके जीवन में बहुत सी ऐसी प्रोजेक्ट्स हुई है जो तत्कालीन गवर्नमेंट ने पॉसिबल नहीं थी कि उन्होंने कम से कम समय में हो पूरी कर दिए उन्होंने इतना अच्छा बनाया है लेकिन तब भी कहा था कि अगर कंफ्यूज कि कितना भी अच्छा हो लेकिन उसे आदर्श चलाने वाले अगर सही नहीं है तो कॉन्पिटिशन कुछ भी काम का नहीं थैंक यू

kya baba saheb ek acche neta thi ya nahi dekhiye isme koi bhi do mat nahi hai ki baba saheb ek bahut hi acche leader the great leader the jatak indian freedom ki baat kare ya swatantra senani ki baat kare toh baba saheb ek aise leader rahe hain ki jo kabhi bhi desh ki patanjali ki ladai mein kabhi jail nahi gaye unhone us samaj ke liye kaam kiya jis samaj ko koi bhi ek darja nahi tha jinki halat jaanvaro se bhi badataar thi abhi bhi hai us samaj ke liye unhone kaam kiya hai dekhiye agar hum baba saheb ke poore jeevan kaal ka aur unke poore work ka study karte toh hamein pata chalta hai ki baba saheb ne kisi bhi ek particular samaj ke liye kabhi kaam nahi kiya unhone us logo ke liye kaam kiya thi jinako samaj mein koi value nahi thi baba saheb ne us samaj ko unke jeene ke liye jo bhi rights zaroori hai vaah hasil karke diye toh isme koi bhi do mat nahi hai ki baba saheb ek acche leader the ya nahi vaah hamesha hi asli rahe unki soch us jamane se 100 saal se bhi aage thi unke vichar aap bhi utani hi par degree laagu laagu hai unke jeevan mein bahut si aisi projects hui hai jo tatkalin government ne possible nahi thi ki unhone kam se kam samay mein ho puri kar diye unhone itna accha banaya hai lekin tab bhi kaha tha ki agar confuse ki kitna bhi accha ho lekin use adarsh chalane waale agar sahi nahi hai toh competition kuch bhi kaam ka nahi thank you

क्या बाबा साहब एक अच्छे नेता थी या नहीं देखिए इसमें कोई भी दो मत नहीं है कि बाबा साहब एक ब

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  355
WhatsApp_icon
user

Roshan Prasad Jaiswal

Junior Volunteer

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाबा साहेब की अगर यदि हम बात करें तो वह बहुत ही अच्छे नेता थे और वह दलितों के नेता थे जिन्होंने दलितों को इस समाज में अपनी जगह बनाने के लिए उनको काफी आश्वासन भी दिया था और उनके लिए जो है बहुत सारे उनके लिए लॉ कांस्टिट्यूशन उनके लिए बनाए गए हैं और इसमें उन को समान अधिकार देने का आह्वान किया गया है जिस हिसाब से एक जनरल कास्ट के या फिर जिस हिसाब से एक जनरल कास्ट को सारी व्यवस्था होती है उस तरह से उनको ज्यादा व्यवस्था यहां पर दी गई है और उनके लिए बहुत सारे से कोटा बहुत सारे कोटा वगैरा के बारे में भी बहुत सारे चर्चित बातें की गई है और उनके लिए काफी फैसिलिटी उनके लिए दिया गया है ताकि वह भी इस समाज में अच्छे से जी सके कुल का जी सके और उन्हें किसी पर किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो प्रिय

baba saheb ki agar yadi hum baat kare toh vaah bahut hi acche neta the aur vaah dalito ke neta the jinhone dalito ko is samaj mein apni jagah banne liye unko kaafi ashwasan bhi diya tha aur unke liye jo hai bahut saare unke liye law constitution unke liye banaye gaye hain aur isme un ko saman adhikaar dene ka aahvaan kiya gaya hai jis hisab se ek general caste ke ya phir jis hisab se ek general caste ko saree vyavastha hoti hai us tarah se unko zyada vyavastha yahan par di gayi hai aur unke liye bahut saare se quota bahut saare quota vagera ke bare mein bhi bahut saare charchit batein ki gayi hai aur unke liye kaafi facility unke liye diya gaya hai taki vaah bhi is samaj mein acche se ji sake kul ka ji sake aur unhe kisi par kisi bhi prakar ki dikkat na ho priya

बाबा साहेब की अगर यदि हम बात करें तो वह बहुत ही अच्छे नेता थे और वह दलितों के नेता थे जिन्

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  725
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!