दूरबीन की खोज किसने की थी?...


play
user

Supriya sinha

Yoga Instructor

1:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स दूरबीन कैसे यंत्र का नाम है जिससे हम बहुत दूर की चीज को नजदीक से देख सकते हैं दूरबीन के पहले अविष्कारक के रूप में हंसी को जाना जाता है लिपट से जर्मन का निवासी था जो बहुत ही बढ़िया किस्म के चश्मे बनाता था इसलिए उनके पास अनेकों तरह के लेंस थे एक दिन उन्होंने कुछ लैंसेज को मिलाकर देखा तो जिस वस्तु को वह देख रहा था वह वस्तु 3 गुना पास आ गई थी और वह वस्तु काफी साफ दिख रही थी इस तरह लिपट सी 1608 इसवी में दूरबीन का आविष्कार किया इसके बाद गैलीलियो ने ज्यादा से ज्यादा लेंस का इस्तेमाल कर उसकी एक दूरबीन बनाई जिससे किसी भी वस्तु को 3 गुना नहीं बल्कि 20 से 30 गुना पास देखी जा सकती थी इस तरह दूरबीन यानी माइक्रोस्कोप उच्च किस्म के रूप में बेहतर से बेहतर बनाया गया और वर्तमान में दूरबीन के आविष्कार के बाद बहुत सारी चीजों के बारे में हमें नहीं जानकारियां प्राप्त हुई जैसे सौरमंडल के बारे में जल थल नभ एवं अन्य क्षेत्रों के बारे में इस तरह हम सब के लिए दूरबीन का आविष्कार किस चमत्कार से कम नहीं है थैंक यू सो मच

hello friends doorbeen kaise yantra ka naam hai jisse hum BA hut dur ki cheez ko nazdeek se dekh sakte hai doorbeen ke pehle avishkarak ke roop mein hansi ko jana jata hai LIPAT se german ka niwasi tha jo BA hut hi BA dhiya kism ke chashme BA nata tha isliye unke paas anekon tarah ke lens the ek din unhone kuch lainsej ko milakar dekha toh jis vastu ko vaah dekh raha tha vaah vastu 3 guna paas aa gayi thi aur vaah vastu kaafi saaf dikh rahi thi is tarah LIPAT si 1608 iswi mein doorbeen ka avishkar kiya iske BA ad galileo ne zyada se zyada lens ka istemal kar uski ek doorbeen BA nai jisse kisi bhi vastu ko 3 guna nahi BA lki 20 se 30 guna paas dekhi ja sakti thi is tarah doorbeen yani microscope ucch kism ke roop mein behtar se behtar BA naya gaya aur vartaman mein doorbeen ke avishkar ke BA ad BA hut saree chijon ke BA re mein hamein nahi jankariyan prapt hui jaise saurmandal ke BA re mein jal thal nabh evam anya kshetro ke BA re mein is tarah hum sab ke liye doorbeen ka avishkar kis chamatkar se kam nahi hai thank you so match

हेलो फ्रेंड्स दूरबीन कैसे यंत्र का नाम है जिससे हम बहुत दूर की चीज को नजदीक से देख सकते है

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  80
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rbharti

शिक्षक

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दूरबीन की खोज एंड सिर्फ एससी ने की थी परंतु दूरबीन के विकास में गैलीलियो का सबसे महत्वपूर्ण भूमिका रहा है

doorbeen ki khoj and sirf SC ne ki thi parantu doorbeen ke vikas mein galileo ka sabse mahatvapurna bhumika raha hai

दूरबीन की खोज एंड सिर्फ एससी ने की थी परंतु दूरबीन के विकास में गैलीलियो का सबसे महत्वपूर्

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

Farha Hussain

Community Developer at Vokal

0:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दूरबीन की खोज जेपी लम्हों ने की थी

doorbeen ki khoj jp lamhon ne ki thi

दूरबीन की खोज जेपी लम्हों ने की थी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  239
WhatsApp_icon
user

GEETARAM Goswami

B. A complete

0:00
Play

सितंबर 1608 की 25 तारिक को Lippershey ने दूरबीन का Patent अपने नाम करवाया इसके बाद Galileo के इस दूरबीन के बारे में खबर सुनी जो की किसी भी वास्तु को 3 गुणा पास दिखा सकती है तो उसने भी बिना Lippershey की दूरबीन देखे बिना ही अपनी दूरबीन बनाने की सोची और बनाने लगा , Lippershey की दूरबीन किसी वस्तू को सिर्फ 3 गुणा पास दिखा सकती थी लेकिन Galileo ने उस से ज्यादा लेंस का इस्तेमाल की और एक दूरबीन बनायीं जो किसी वस्तु को 20 से 30 गुणा पास ला सकती थी !

september 1608 ki 25 tarik ko Lippershey ne doorbeen ka Patent apne naam karvaya iske BA ad Galileo ke is doorbeen ke BA re mein khabar suni jo ki kisi bhi vastu ko 3 guna paas dikha sakti hai toh usne bhi bina Lippershey ki doorbeen dekhe bina hi apni doorbeen BA naane ki sochi aur BA naane laga Lippershey ki doorbeen kisi vastu ko sirf 3 guna paas dikha sakti thi lekin Galileo ne us se zyada lens ka istemal ki aur ek doorbeen BA nayi jo kisi vastu ko 20 se 30 guna paas la sakti thi

सितंबर 1608 की 25 तारिक को Lippershey ने दूरबीन का Patent अपने नाम करवाया इसके बाद Galil

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user

Munmun 🌈

Volunteer

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे दुर्बन की जो खोज है वह हंस लिप्पर्शे ने की थी और लीवर सेट चश्मा बनाने वाले थे जो जर्मन राज्य में रहने वाले थे और बहुत ही बढ़िया किस्म के देश में बना देते तो इसी तरह उनके पास उन्हें तरह-तरह के लेंस के 1 दिन कुछ लेंस को आपस में मिलाकर देखा तो उन्होंने पाया कि जिस वस्तु को वह देख रहे हैं वह वस्तु जो 3 गुना पास आ गई थी तो इतना जो है दूरबीन का आविष्कार हुआ और इसके बाद जो है उन्होंने नीदरलैंड की सरकार के लिए भी नेत्री दूरबीन बनाया जो कि दोनों आंखों पर लगा कर देख सकते थे 9 सितंबर 1608 कि 25 तारीख को लिप्पर्शे ने जो दूरबीन का पेटेंट अपने नाम करवाया और उसके बाद गैलीलियो के इस दूरबीन के बारे में खबर सुनी तो जो कि किसी भी वस्तु को 3 गुना पास यह दिखा सकती है तो उसने भी बिना निपजे की दूरबीन देखें अपनी दूरबीन बनाने की सोची और बनाने लगे और लिप्पर्शे की जो दूरबीन है किसी वस्तु को सिर्फ 3 गुना पास दिखा सकती थी लेकिन गैलीलियो ने उससे ज्यादा लेंस का इस्तेमाल किया और एक दूरबीन बनाएं जो किसी वस्तु को 20 से 30 गुना पास ला सकती थी

likhe durban ki jo khoj hai vaah hans lipparshe ne ki thi aur liver set chashma BA naane waale the jo german rajya mein rehne waale the aur BA hut hi BA dhiya kism ke desh mein BA na dete toh isi tarah unke paas unhe tarah tarah ke lens ke 1 din kuch lens ko aapas mein milakar dekha toh unhone paya ki jis vastu ko vaah dekh rahe hai vaah vastu jo 3 guna paas aa gayi thi toh itna jo hai doorbeen ka avishkar hua aur iske BA ad jo hai unhone netherlands ki sarkar ke liye bhi netri doorbeen BA naya jo ki dono aankho par laga kar dekh sakte the 9 september 1608 ki 25 tarikh ko lipparshe ne jo doorbeen ka patent apne naam karvaya aur uske BA ad galileo ke is doorbeen ke BA re mein khabar suni toh jo ki kisi bhi vastu ko 3 guna paas yah dikha sakti hai toh usne bhi bina nipje ki doorbeen dekhen apni doorbeen BA naane ki sochi aur BA naane lage aur lipparshe ki jo doorbeen hai kisi vastu ko sirf 3 guna paas dikha sakti thi lekin galileo ne usse zyada lens ka istemal kiya aur ek doorbeen BA naye jo kisi vastu ko 20 se 30 guna paas la sakti thi

लिखे दुर्बन की जो खोज है वह हंस लिप्पर्शे ने की थी और लीवर सेट चश्मा बनाने वाले थे जो जर्म

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
durbin ki khoj kisne ki ; durbin ki khoj kisne ki thi ; दूरबीन की खोज किसने की ; durbin ka avishkar kisne kiya ; durbeen ki khoj ; दूरबीन की खोज किसने की? ; doorbeen ki khoj kisne ki ; durbeen ki khoj kisne ki ; durbin ki khoj ; durbin ka avishkar kisne kiya tha ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!