राम मंदिर के मुद्दे को सुलझाने का शांतिपूर्ण और निष्पक्ष तरीका क्या होगा?...


play
user
0:32

Likes  184  Dislikes    views  2340
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK श्याम मंदिर एक बहुत ही पुराना मुद्दा है और यह मुद्दा चली क्या था कि अयोध्या में जहां पर बाबरी मस्जिद बनी है वह माना जाता है कि भगवान राम का जन्म स्थान है तो हिंदू चाहते हैं कि वहां पर एक मंदिर बनाया जाए तो यह मुद्दा बहुत बड़ा हो चुका है और उसको स्कूल जाने की आखिरी दो तीन तरीके जितना मैंने पढ़ा है उसमें जो सबसे पहली बात तो मुझे जो सामने आई है वही है जो शिया बोर्ड है शिया वक्फ बोर्ड उन्होंने खुद बोला की बहुत सारी पार्टी से डिस्कशन के बाद उन्होंने यह प्रपोजल बनाया है कि राम मंदिर बना दिया जाए अयोध्या में और जो मस्जिद है उसे लखनऊ में बनाया जाए यह सैयद वसीम ने कहा था सैयद वसीम रिजवी ने जो कि चेयरमैन है शिया वक्फ बोर्ड के जो खुद ही तैयार है इस चीज के लिए तो फिर तो उससे शांति बनी रहेगी और फायदा भी बना रहेगा और जो और दूसरा एक ऑप्शन है वही है कि उन्होंने खुद ही जोशी अवार्ड है उन्होंने खुद ही कहा था 2017 में अगस्त में कि जो मस्जिद है उसे इस जगह से चोरी डिस्प्यूट जाने से थोड़ा सा दूर दूर बनवा दिया जाए जो मुस्लिम 2 मिनट रोड एरिया है वहां पर और भी बहुत सारे सलूशन सा है कि जैसे यहां पर मंदिर और मस्जिद दोनों बना दी जाए ताकि भाईचारा भी बना रहे और लोगों को लोगों की जो धार्मिक और जो फीलिंग्स को हर्ट बिना हूं

PK shyam mandir ek bahut hi purana mudda hai aur yah mudda chali kya tha ki ayodhya mein jaha par babri masjid bani hai vaah mana jata hai ki bhagwan ram ka janam sthan hai toh hindu chahte hain ki wahan par ek mandir banaya jaaye toh yah mudda bahut bada ho chuka hai aur usko school jaane ki aakhiri do teen tarike jitna maine padha hai usme jo sabse pehli baat toh mujhe jo saamne I hai wahi hai jo shiya board hai shiya vakkaf board unhone khud bola ki bahut saree party se discussion ke baad unhone yah proposal banaya hai ki ram mandir bana diya jaaye ayodhya mein aur jo masjid hai use lucknow mein banaya jaaye yah saiyed wasim ne kaha tha saiyed wasim rizvi ne jo ki chairman hai shiya vakkaf board ke jo khud hi taiyar hai is cheez ke liye toh phir toh usse shanti bani rahegi aur fayda bhi bana rahega aur jo aur doosra ek option hai wahi hai ki unhone khud hi joshi award hai unhone khud hi kaha tha 2017 mein august mein ki jo masjid hai use is jagah se chori dispute jaane se thoda sa dur dur banwa diya jaaye jo muslim 2 minute road area hai wahan par aur bhi bahut saare salution sa hai ki jaise yahan par mandir aur masjid dono bana di jaaye taki bhaichara bhi bana rahe aur logo ko logo ki jo dharmik aur jo feelings ko heart bina hoon

PK श्याम मंदिर एक बहुत ही पुराना मुद्दा है और यह मुद्दा चली क्या था कि अयोध्या में जहां पर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
user

Gunjan

Junior Volunteer

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी अरे राम मंदिर का जो मुद्दा है यह तो बहुत ही कसता जा रहा है क्योंकि एक बार जो पार्टी है वह सिर्फ अपने मतलब के लिए राम मंदिर के मुद्दे को उठाती हो जब इलेक्शन आने वाला होता है यह मुद्दा सामने आ जाता है उसके बाद उस पर कोई शिकवा कोई कार्यवाही नहीं होती है तो सुप्रीम कोर्ट के पास भी बहुत सारी ऑलरेडी के जैसे तो वह भी ट्राई करें कि वह जल्द से जल्द इस चीज को शॉर्टकट पर यह तो कहना बहुत मुश्किल होगा कि इस पर जो नींद में है वह कब तक आ पाएगा

haan ji are ram mandir ka jo mudda hai yah toh bahut hi kasuta ja raha hai kyonki ek baar jo party hai vaah sirf apne matlab ke liye ram mandir ke mudde ko uthaati ho jab election aane vala hota hai yah mudda saamne aa jata hai uske baad us par koi shikwa koi karyavahi nahi hoti hai toh supreme court ke paas bhi bahut saree already ke jaise toh vaah bhi try kare ki vaah jald se jald is cheez ko shortcut par yah toh kehna bahut mushkil hoga ki is par jo neend mein hai vaah kab tak aa payega

हां जी अरे राम मंदिर का जो मुद्दा है यह तो बहुत ही कसता जा रहा है क्योंकि एक बार जो पार्टी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी की सुप्रीम कोर्ट जो है राम मंदिर मुद्दे पर जाएं अपनी सुनवाई पूरी महीने में देखा और सुप्रीम कोर्ट 9 जनवरी तक का समय दिया है कि वह आउट ऑफ कोर्ट सेटलमेंट करें और का नाका पर सरकार और जितने भी धर्म हुआ आसन का सदस्य है वह भी इस चीज का विचार कर रहे क्या ऑटोमेटिक ऑफिस फिल्म देख सकते हैं श्री श्री रविशंकर जो है वह दोनों ही रिलीजन के लोगों से मिलकर इस बात की चर्चा कर रहे है अगर राम मंदिर मुद्दे को जरुर जाने का शांति भवन उस्ताद तरीका जानना होगा तो वह तो हो सकता है या तो फिर उस जगह पर हम एक मंदिर बना है और एक मस्जिद बनाईं से दोनों ही धर्म के लोग जब हमेशा खुश रहे और ज्यादा मत भेजनी होगी या तो फिर हम ऐसा कर सकते हैं कि उस जगह पर यात्रा मंदिर बनाई जाती बनाएंगे दूसरे धर्म पर जहां पर उनका मस्जिद या मंदिर नहीं बनेगा होने हम बता दें कि हमारा चीज जो है वह ज्यादा जरूरी है और अब तो कोर्ट सेटलमेंट कर लिया इस बात का उन्हें बताएं कि जो जरूरत है और किस दिन की ज्यादा जरूरत है अगर प्यार से जानती चक्र में बताएंगे तो का नाका पर शांतिपूर्ण तरीके से यह हो जाएगा और सुबह नहीं आज ना सके उतना अगर हम लोगों को प्यार से आपके दोनों ही धर्म के लोगों प्यार से इसे समझाए कि जरूरी नहीं है इसका कारण है जो भी है वह दूसरे धर्म को ठेस पहुंचाना हो तो खाना खाकर गर्म ऐसा शांतिपूर्वक तरीके की बात करेंगे तो मुझे आप से मतलब समझने का सबसे शांतिपूर्ण तरीका होगा

modi ki supreme court jo hai ram mandir mudde par jayen apni sunvai puri mahine mein dekha aur supreme court 9 january tak ka samay diya hai ki vaah out of court settlement kare aur ka naka par sarkar aur jitne bhi dharm hua aasan ka sadasya hai vaah bhi is cheez ka vichar kar rahe kya Automatic office film dekh sakte hain shri shri ravishankar jo hai vaah dono hi religion ke logo se milkar is baat ki charcha kar rahe hai agar ram mandir mudde ko zaroor jaane ka shanti bhawan ustad tarika janana hoga toh vaah toh ho sakta hai ya toh phir us jagah par hum ek mandir bana hai aur ek masjid banain se dono hi dharm ke log jab hamesha khush rahe aur zyada mat bhejni hogi ya toh phir hum aisa kar sakte hain ki us jagah par yatra mandir banai jaati banayenge dusre dharm par jaha par unka masjid ya mandir nahi banega hone hum bata de ki hamara cheez jo hai vaah zyada zaroori hai aur ab toh court settlement kar liya is baat ka unhe bataye ki jo zarurat hai aur kis din ki zyada zarurat hai agar pyar se jaanti chakra mein batayenge toh ka naka par shantipurna tarike se yah ho jaega aur subah nahi aaj na sake utana agar hum logo ko pyar se aapke dono hi dharm ke logo pyar se ise samjhaye ki zaroori nahi hai iska karan hai jo bhi hai vaah dusre dharm ko thes pahunchana ho toh khana khakar garam aisa shantipurvak tarike ki baat karenge toh mujhe aap se matlab samjhne ka sabse shantipurna tarika hoga

मोदी की सुप्रीम कोर्ट जो है राम मंदिर मुद्दे पर जाएं अपनी सुनवाई पूरी महीने में देखा और सु

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  191
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!