भारत की जनसँख्या हर साल बढ़ रही है, इसे नियंत्रित करने के लिए कोई सख्त कानून क्यों नहीं है?...


user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:30
Play

Likes  129  Dislikes    views  2868
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:31

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो बनाना चाहिए लेकिन हमारे देश की जो राजनीति है वोटों की और नेताओं को और उल्टी सीधी चीजें उसे सोचना चाहिए उचित नहीं है अगर सरकार का बीजेपी का काम में कोई भी सरकार अगर कराए सो करें उस पर पाबंदी लग सकती है क्या उनके सामने एक नहीं अनेकों कार्य करके आए हैं इसके वजह से शायद आने वाले अगले 5 वर्षों में से किसके मोदी जी विचार कर सकें

dekho banana chahiye lekin hamare desh ki jo rajneeti hai voton ki aur netaon ko aur ulti sidhi cheezen use sochna chahiye uchit nahi hai agar sarkar ka bjp ka kaam mein koi bhi sarkar agar karae so karein us par pabandi lag sakti hai kya unke saamne ek nahi anekon karya karke aaye hain iske wajah se shayad aane wale agle 5 varshon mein se kiske modi ji vichar kar sakein

देखो बनाना चाहिए लेकिन हमारे देश की जो राजनीति है वोटों की और नेताओं को और उल्टी सीधी चीजे

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  506
WhatsApp_icon
user

Rajesh Rishi

Indian Politician

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी कानून से ज्यादा शिक्षा माधुरी दीक्षित के बारे में सोचने लगेंगे कानून कानून का पालन नहीं हो पाता अपने आप समझ लेगा कि मेरे को क्या करना चाहिए मुझे अच्छी जिंदगी जीने के लिए क्या करना चाहिए बहुत जरूरी है शिक्षा को घर घर पहुंचाना हर जगह पहुंचाना अच्छी राष्ट्रीय अध्यक्ष

kisi kanoon se zyada shiksha madhuri dixit ke bare mein sochne lagenge kanoon kanoon ka palan nahi ho pata apne aap samajh lega ki mere ko kya karna chahiye mujhe acchi zindagi jeene ke liye kya karna chahiye bahut zaroori hai shiksha ko ghar ghar pahunchana har jagah pahunchana acchi rashtriya adhyaksh

किसी कानून से ज्यादा शिक्षा माधुरी दीक्षित के बारे में सोचने लगेंगे कानून कानून का पालन नह

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  561
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत के भ्रष्ट गंदी राजनीति राजनीति इस समस्या में कोई सलूशन नहीं होने देती है क्योंकि जब एक सभी यहां के राजनीतिज्ञ हैं वोटों की खातिर उनका पक्ष लेते थे और भारत की जो समस्या है कि वह जनसंख्या बढ़ रही है उसको रोकने के लिए उसके बारे में कोई विचार नहीं कर रहे हैं यह लोग ना यह उन को देश की उन्नति से कोई मतलब है ना जनसंख्या की बढ़ती हुई समस्या को प्रसन्न करने के बारे में विचार करते हैं क्योंकि मैन कारण यह है कि धर्म और जाति की राजनीति की जा रही है इस समय नंबर धर्म और जाति की राजनीति देख रहे हैं हिंदुओं के लिए कुछ और लोग हैं और सलमान के बीच बचाव लोग हैं इस प्रकार से जब तक ही नहीं मिलेगा तब तक जनसंख्या वृद्धि की समस्या पर कोई सलूशन नहीं हो सकता है यह गंदी राजनीति को कभी सॉन्ग नहीं होने देंगे तो अपने स्वार्थ में डूबे हुए हैं इसलिए जब किस को एक बहुत बड़ी आवश्यकता है कि हमारे देश में एक नियम हो एक संविधान हो एक ही लो चलना चाहिए यह नहीं किस जाति के लिए अलग जाति के लिए लगे इस धर्म के लिए लगे इसके लिए यह सप्ताह कैसा होता रहेगा उत्तर जनसंख्या वृद्धि की समस्या कदापि संभव उपाय जिस दिन यह एक नियम लागू कर देंगे एक संविधान को लागू कर देंगे वह दर्शकों से की जनसंख्या की वृद्धि की समस्या मिट जाएगी जिसके कारण हमारा देश के चढ़ता जा रहा है नित्य प्रति कुछ होता जा रहा है

bharat ke bhrasht gandi raajneeti raajneeti is samasya mein koi salution nahi hone deti hai kyonki jab ek sabhi yahan ke rajanitigya hain voton ki khatir unka paksh lete the aur bharat ki jo samasya hai ki vaah jansankhya badh rahi hai usko rokne ke liye uske bare mein koi vichar nahi kar rahe hain yah log na yah un ko desh ki unnati se koi matlab hai na jansankhya ki badhti hui samasya ko prasann karne ke bare mein vichar karte hain kyonki man karan yah hai ki dharam aur jati ki raajneeti ki ja rahi hai is samay number dharam aur jati ki raajneeti dekh rahe hain hinduon ke liye kuch aur log hain aur salman ke beech bachav log hain is prakar se jab tak hi nahi milega tab tak jansankhya vriddhi ki samasya par koi salution nahi ho sakta hai yah gandi raajneeti ko kabhi song nahi hone denge toh apne swartha mein doobe hue hain isliye jab kis ko ek bahut badi avashyakta hai ki hamare desh mein ek niyam ho ek samvidhan ho ek hi lo chalna chahiye yah nahi kis jati ke liye alag jati ke liye lage is dharam ke liye lage iske liye yah saptah kaisa hota rahega uttar jansankhya vriddhi ki samasya kadapi sambhav upay jis din yah ek niyam laagu kar denge ek samvidhan ko laagu kar denge vaah darshakon se ki jansankhya ki vriddhi ki samasya mit jayegi jiske karan hamara desh ke chadhta ja raha hai nitya prati kuch hota ja raha hai

भारत के भ्रष्ट गंदी राजनीति राजनीति इस समस्या में कोई सलूशन नहीं होने देती है क्योंकि जब ए

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  315
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी भारत की जनसंख्या हर साल बढ़ रही है बिल्कुल सही बात कही आपने लगातार बढ़ रही है भारत में दूसरे नंबर पर है जनसंख्या के हिसाब से पूरी दुनिया में चाइना पहले पर है यह कहा जाता है कि यदि कंट्रोल नहीं किया गया भारत में जनसंख्या के ऊपर 2050 तक जो है भारत जो है वह पहले नंबर पर होगा कई लोग इससे बड़ा गर्व महसूस करते हैं कि भारत में पहले नंबर पर जनसंख्या के लिहाज से 20 11 13 14 में नंबर वन पर हो सकता है लेकिन यह भारत देश के लिए बिलकुल अच्छी चीज नहीं है क्योंकि जब जनसंख्या बढ़ती है तो बहुत ज्यादा प्रॉब्लम का सामना करना पड़ता है जितना भी रिसोर्सेज हमारे देश में गोल्ड लिमिटेड है उसकी ग्रोथ नहीं हो रही है तो वही रिसोर्सेज अगर बढ़ती हुई जनसंख्या इस्तेमाल कर दी रिसोर्सेज इंसान आम आदमी को कब मिलेगा और जल्दी खत्म होने की संभावना है और कुल मिलाकर भी बहुत ज्यादा प्रॉब्लम क्रिएट जनसंख्या पड़ेगी तो उस उनके लिए मकान बनेंगे मकान बनेंगे कहां से पेड़ों को काट के जंगलों को काटकर नदियां सूखी पड़ी है कुल मिलाकर बहुत ही इस देश को नुकसान का सामना करना पड़ रहा है इसके लिए कोई भी कानून नहीं है वह चाइना में कानून आया था भारत में कोई इस प्रकार का कानून नहीं है कोई भी जाना कितने भी अपने परिवार को विकसित कर रहा है इसलिए अवेयरनेस की कमी है तो फिर नहीं बनानी चाहिए इसके क्या फायदे क्या नुकसान है और जिससे कि वह जनसंख्या में नियंत्रण

hindi bharat ki jansankhya har saal badh rahi hai bilkul sahi baat kahi aapne lagatar badh rahi hai bharat mein dusre number par hai jansankhya ke hisab se puri duniya mein china pehle par hai yah kaha jata hai ki yadi control nahi kiya gaya bharat mein jansankhya ke upar 2050 tak jo hai bharat jo hai vaah pehle number par hoga kai log isse bada garv mahsus karte hain ki bharat mein pehle number par jansankhya ke lihaj se 20 11 13 14 mein number van par ho sakta hai lekin yah bharat desh ke liye bilkul achi cheez nahi hai kyonki jab jansankhya badhti hai toh bahut zyada problem ka samana karna padta hai jitna bhi resources hamare desh mein gold limited hai uski growth nahi ho rahi hai toh wahi resources agar badhti hui jansankhya istemal kar di resources insaan aam aadmi ko kab milega aur jaldi khatam hone ki sambhavna hai aur kul milakar bhi bahut zyada problem create jansankhya padegi toh us unke liye makan banenge makan banenge kahaan se pedon ko kaat ke jungalon ko katkar nadiyan sukhi padi hai kul milakar bahut hi is desh ko nuksan ka samana karna pad raha hai iske liye koi bhi kanoon nahi hai vaah china mein kanoon aaya tha bharat mein koi is prakar ka kanoon nahi hai koi bhi jana kitne bhi apne parivar ko viksit kar raha hai isliye awareness ki kami hai toh phir nahi banani chahiye iske kya fayde kya nuksan hai aur jisse ki vaah jansankhya mein niyantran

हिंदी भारत की जनसंख्या हर साल बढ़ रही है बिल्कुल सही बात कही आपने लगातार बढ़ रही है भारत म

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!