क्या जो लोग बेरोज़गार हो गए हैं उनका जिम्मेदार वह खुद ही है?...


user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां दिखे ऐसा नहीं है कि जो लोग बेरोजगार है जी को जॉब नहीं मिल रही नौकरी मिल रही है उनका जो जिम्मेदार है वही को ठहराया जाए क्योंकि कहीं ना कहीं हमारे एजुकेशन सिस्टम की भी यह गलती है क्योंकि मैं समझता की इंडस्ट्री भारत में जो है वह बहुत तेजी से पिछले 10 सालों में 20 साल में बड़ी है जो आईटी इंडस्ट्री और बाकी जितने भी इंडस्ट्री द रियल स्टेट हुआ आईटी सेक्टर हुआ यार अभी से बिल्ला सेक्टर हुआ इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर हुआ यह बहुत ही तेजी से बढ़ी है और मैं समय तो यू स्पीड से जो है हमारे एजुकेशन सिस्टम नहीं बन पाया क्योंकि ऐसे कंपनियों को कहा है जो है वह इंडस्ट्री रेडी लोक होते हैं और हमारे एजुकेशन सिस्टम मैं नहीं समझता कि जो 20 साल पहले एजुकेशन सिस्टम 33 साल पहले वही आज भी है वही सिलेबस वही चीजें हमको पढ़ाई जाती है जो लेटेस्ट टेक्नोलॉजी में लिस्ट स्टैंडिंग में इंडस्ट्री में चल रही है वह नहीं पढ़ाई जाती है और क्यों की कंपनियों को जो है वह इंडस्ट्री दिल्ली लोग चाहिए तो वह हमारी कॉलेजेस नहीं दे पाती हो उतना स्किल डेवलपमेंट कर पार्क यह क्योंकि कुछ क्वेश्चन शार्ट उच्च चैप्टर जो है वह हमको रखने के लिए दे दी जाए और कहा जाता है इनमें से क्वेश्चन अगर आप रख लीजिए उसको चेंज करना चाहिए और जो लोग हैं लोगों की बेरोजगारी कम होगी

haan dikhe aisa nahi hai ki jo log berozgaar hai ji ko job nahi mil rahi naukri mil rahi hai unka jo zimmedar hai wahi ko thehraya jaaye kyonki kahin na kahin hamare education system ki bhi yah galti hai kyonki main samajhata ki industry bharat mein jo hai vaah bahut teji se pichle 10 salon mein 20 saal mein baadi hai jo it industry aur baki jitne bhi industry the real state hua it sector hua yaar abhi se billa sector hua electronics sector hua yah bahut hi teji se badhi hai aur main samay toh you speed se jo hai hamare education system nahi ban paya kyonki aise companion ko kaha hai jo hai vaah industry ready lok hote hai aur hamare education system main nahi samajhata ki jo 20 saal pehle education system 33 saal pehle wahi aaj bhi hai wahi syllabus wahi cheezen hamko padhai jaati hai jo latest technology mein list standing mein industry mein chal rahi hai vaah nahi padhai jaati hai aur kyon ki companion ko jo hai vaah industry delhi log chahiye toh vaah hamari colleges nahi de pati ho utana skill development kar park yah kyonki kuch question shaart ucch chapter jo hai vaah hamko rakhne ke liye de di jaaye aur kaha jata hai inme se question agar aap rakh lijiye usko change karna chahiye aur jo log hai logo ki berojgari kam hogi

हां दिखे ऐसा नहीं है कि जो लोग बेरोजगार है जी को जॉब नहीं मिल रही नौकरी मिल रही है उनका जो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  163
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!