राहुल गांधी ने रैलियों में मोदी और बीजेपी को विकास के मुद्दे पर एक सवाल उठाया, लेकिन क्यों मोदी और बीजेपी चुप र है और उनके जवाब क्यों नहीं दिए?...


play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी जब किसी पार्टी की कंपनी होती है चाहे वह कितनी अच्छी हो चाहे वो आंखों यूनिवर्सिटी इलेक्शन हो तो एक दूसरे की कमियों को बताया जाता है एक दूसरे की खामियों को उजागर किया जाता है और अपनी पॉजिटिविटी को अपनी अच्छाइयों को बढ़ा चढ़ाकर बताते तो यही चीज हो रही है कंपनी गोरिया लक्षण होने वाले हैं दोनों ही पार्टी एक दूसरे के बारे में बता रही है कह रही है तू मेरे ख्याल से नहीं लगता है कि मुझसे मोदी को हर एक बात का जवाब देना चाहिए क्या किया है गुजरात में वह इतने टाइम से गुजरात में काम कर रहे हैं लोगों को दिख रहा है लोगों ने उसको इनिशिएटिव लेकर उसको बोला भी है इंसान शतावरी तुम इस शब्द को जवाब नहीं देते नहीं लेते नेशंस को दूसरी चीज भारतीय जनता पार्टी के मुखपत्र सुधांशु त्रिवेदी जी उन्होंने इसका जवाब दिया है राहुल गांधी जी को करप्शन था चारों तरफ गुजरात में उनके रनिंग टाइम पर तो इसे जब घर के किसी एक मेंबर ने पार्टी की सेवा में जवाब दे दिया है तो दूसरा बार बोलना बनता नहीं है क्या कुछ जवाब नहीं देते हैं

vicky jab kisi party ki company hoti hai chahen vaah kitni achi ho chahen vo aankho university election ho toh ek dusre ki kamiyon ko bataya jata hai ek dusre ki khamiyon ko ujagar kiya jata hai aur apni positivity ko apni acchhaiyon ko badha chadhakar batatey toh yahi cheez ho rahi hai company goriya lakshan hone waale hain dono hi party ek dusre ke bare mein bata rahi hai keh rahi hai tu mere khayal se nahi lagta hai ki mujhse modi ko har ek baat ka jawab dena chahiye kya kiya hai gujarat mein vaah itne time se gujarat mein kaam kar rahe hain logo ko dikh raha hai logo ne usko innitiative lekar usko bola bhi hai insaan shataavari tum is shabd ko jawab nahi dete nahi lete nations ko dusri cheez bharatiya janta party ke mukhapatra sudhanshu trivedi ji unhone iska jawab diya hai rahul gandhi ji ko corruption tha charo taraf gujarat mein unke running time par toh ise jab ghar ke kisi ek member ne party ki seva mein jawab de diya hai toh doosra baar bolna banta nahi hai kya kuch jawab nahi dete hain

विकी जब किसी पार्टी की कंपनी होती है चाहे वह कितनी अच्छी हो चाहे वो आंखों यूनिवर्सिटी इलेक

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  42
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दरअसल वाइब्रेंट गुजरात में तो गुजरात बसता है एक शहर का और दूसरा गांव का जब गुजरात के विकास की बात की जाती है या विकास मॉडल की बात की जाती है तब शहद की बात की जाती है शहर का विकास मोदी के केंद्र भी चले जाने के बाद भी हो रहा है बुलेट ट्रेन और सी प्लेन के रूप में पर जहां तक गुजरात के गांव का सवाल है तो गांव में अभी विकास का चेहरा नहीं देखा है किसान आंदोलन और आत्महत्या कर रहे हैं दलित आदिवासी इलाकों में न्यूनतम नागरिक सुविधा व जान माल की सुरक्षा नहीं है अल्पसंख्यकों का तो अलग से समस्या है ही कुल मिलाकर गांव के लिए आर्थिक विकास तो दूर की बातें गली मोहल्ले में पेयजल की किल्लत है 15 दिनों में एक बार पानी आता है सरदार सरोवर बांध बना पर इसका बड़ा लाभ उद्योगों को मिल रहा है विस्थापितों को उचित पुनर्वास तक नहीं मिला 2014 में चुनाव विकास के मुद्दे पर गुजरात मॉडल पर लड़ा गया था लेकिन गुजरात चुनाव में अब उस गुजरात मॉडल का जिक्र तक नहीं है क्योंकि गुजरात में विकास की पोल खुल चुकी है उस मुद्दे पर मुंह खोल कर अपना वोट कमाने का कोई शौक नहीं पता इसलिए मोदी और उनकी पार्टी ने चुप रहना ही बेहतर समझा

darasal vibrant gujarat mein toh gujarat basta hai ek shehar ka aur doosra gaon ka jab gujarat ke vikas ki baat ki jaati hai ya vikas model ki baat ki jaati hai tab shehed ki baat ki jaati hai shehar ka vikas modi ke kendra bhi chale jaane ke baad bhi ho raha hai bullet train aur si plane ke roop mein par jaha tak gujarat ke gaon ka sawaal hai toh gaon mein abhi vikas ka chehra nahi dekha hai kisan andolan aur atmahatya kar rahe hai dalit adiwasi ilako mein ninuntam nagarik suvidha va jaan maal ki suraksha nahi hai alpsankhyako ka toh alag se samasya hai hi kul milakar gaon ke liye aarthik vikas toh dur ki batein gali mohalle mein paijaal ki killat hai 15 dino mein ek baar paani aata hai sardar sarovar bandh bana par iska bada labh udhyogo ko mil raha hai visthapiton ko uchit punarvaas tak nahi mila 2014 mein chunav vikas ke mudde par gujarat model par lada gaya tha lekin gujarat chunav mein ab us gujarat model ka jikarr tak nahi hai kyonki gujarat mein vikas ki pole khul chuki hai us mudde par mooh khol kar apna vote kamane ka koi shauk nahi pata isliye modi aur unki party ne chup rehna hi behtar samjha

दरअसल वाइब्रेंट गुजरात में तो गुजरात बसता है एक शहर का और दूसरा गांव का जब गुजरात के विकास

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  9
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दीपावली लीजिए जैसा कि आपको पता है कि गुजरात के अंदर इलेक्शन है ठीक है तो इलेक्शन के अंदर इस तरह के मुद्दों को आना एक आम बात होती है यह तो किसी भी इलेक्शन की कॉमेडी

deepawali lijiye jaisa ki aapko pata hai ki gujarat ke andar election hai theek hai toh election ke andar is tarah ke muddon ko aana ek aam baat hoti hai yah toh kisi bhi election ki comedy

दीपावली लीजिए जैसा कि आपको पता है कि गुजरात के अंदर इलेक्शन है ठीक है तो इलेक्शन के अंदर इ

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  40
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब इलेक्शन आने वाला है दोनों ही पार्टी एक दूसरे के बुराइयां निकालेंगे अपनी अच्छाईयां दिखाएंगे मोदीजी की बुराइयां निकाली और उन को नीचा दिखाने की कोशिश की पर मोदी जी को जरूरी नहीं लगा उनको उत्तर देना उन्हें लगा कि हम उत्तर नहीं हम काम से दिखाते हैं हम खाली बातों के नहीं हम करके दिखाते हैं

ab election aane vala hai dono hi party ek dusre ke buraiyan nikalenge apni acchaiyan dikhayenge modiji ki buraiyan nikali aur un ko nicha dikhane ki koshish ki par modi ji ko zaroori nahi laga unko uttar dena unhe laga ki hum uttar nahi hum kaam se dikhate hain hum khaali baaton ke nahi hum karke dikhate hain

अब इलेक्शन आने वाला है दोनों ही पार्टी एक दूसरे के बुराइयां निकालेंगे अपनी अच्छाईयां दिखाए

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  9
WhatsApp_icon
user

S

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कल मैं बहुत सारी बातें कही जाती रही है हमेशा से चुनाव के दौरान के सब होता है आम बात है राहुल गांधी कांग्रेस के उपाध्यक्ष हैं और कांग्रेस पार्टी डिस्को विपक्ष की पार्टी कभी दर्जा हासिल नहीं है उन्होंने इतना खराब प्रदर्शन किया था पिछले चुनावों में तो वैसे मैं किस खासियत से वह या उनके चाहने वाली एक्सपेक्ट करते हैं कि उनकी हर एक बात पर कलेक्शन आएगा देश के प्रधानमंत्री की तरफ से यह बात मेरे पल्ले कहीं ना कहीं नहीं पढ़ते हो मैं चाहूंगा इस देश के नागरिक होने के नाते के प्रधानमंत्री इसकी जगह कहीं बेहतर कामों पर अपना ध्यान लगाएं और देश को प्रगति के पथ पर ले जाएं

kal main bahut saree batein kahi jaati rahi hai hamesha se chunav ke dauran ke sab hota hai aam baat hai rahul gandhi congress ke upadhyaksh hai aur congress party disco vipaksh ki party kabhi darja hasil nahi hai unhone itna kharab pradarshan kiya tha pichle chunavon mein toh waise main kis khasiyat se vaah ya unke chahne wali expect karte hai ki unki har ek baat par collection aayega desh ke pradhanmantri ki taraf se yah baat mere palle kahin na kahin nahi padhte ho main chahunga is desh ke nagarik hone ke naate ke pradhanmantri iski jagah kahin behtar kaamo par apna dhyan lagaye aur desh ko pragati ke path par le jayen

कल मैं बहुत सारी बातें कही जाती रही है हमेशा से चुनाव के दौरान के सब होता है आम बात है राह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब भी भी कोई इलेक्शन होता है और पोलिंग पार्टियां एक दूसरे को नीचा करने की कोशिश करते हैं राहुल गांधी ने भी यही किया है आपको पता है कि गुजरात में इलेक्शन होने वाले हैं विकास के मुद्दे पर सवाल उठा कर राहुल गांधी ने ट्राई किया है कि देश के सामने मोदी जी को भी नीचे आकर करें पर देश की जनता जानती है कि किसने कितना किया जनता को मोदी जी का काम दिख रहा है उनको कुछ साबित करने की जरूरत नहीं है शायद शायद यही सोचते हुए मोदी जी चुप रहे और कोई भी जवाब नहीं दिया

jab bhi bhi koi election hota hai aur polling partyian ek dusre ko nicha karne ki koshish karte hain rahul gandhi ne bhi yahi kiya hai aapko pata hai ki gujarat mein election hone waale hain vikas ke mudde par sawaal utha kar rahul gandhi ne try kiya hai ki desh ke saamne modi ji ko bhi niche aakar kare par desh ki janta jaanti hai ki kisne kitna kiya janta ko modi ji ka kaam dikh raha hai unko kuch saabit karne ki zarurat nahi hai shayad shayad yahi sochte hue modi ji chup rahe aur koi bhi jawab nahi diya

जब भी भी कोई इलेक्शन होता है और पोलिंग पार्टियां एक दूसरे को नीचा करने की कोशिश करते हैं र

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  12
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ललित जी आपको तो पता ही होगा कि 12 में जब इलेक्शन होते हैं तो इलेक्शन के दौरान जो कंपनी होती है उसमें एक पार्टी का काम ही होता है दूसरी पार्टी की पढ़ाई करना और अपनी अच्छाई करना आपको तो पता ही होगा अभी गुजरात में इलेक्शन जाने वाले हैं और ऐसी इलेक्शंस की कंपनी हो रही है ऐसी एक कैंपेनिंग में कांग्रेस के कुछ समर्थकों हैं और पार्ट पार्टी कर्मचारियों ने 12:00 बजे BJP के कुछ पार्टी लोगों के मुद्दे उठाए और बोला उन्होंने विकास के हेतु क्या क्या किया है तो मुझे नहीं लगता है कि बीजेपी और मोदी जी को हर बात का जवाब देना जरूरी है क्योंकि उनका काम और उनका विकास पूजा तो पहले ही अच्छा लगता है और भारत की सेक्टर में लगता है तो मुझे लगता है कि हर बात का जवाब देना जरुरी है यह तो पार्टी का नार्मल प्रोसीजर है सही बात पर भी उस पर उठाना और उसके खिलाफ खड़े होने इलेक्शंस के दौरान तो मुझे लगता है कि मोदी जी ने अगर उस विकास के लिए अगर आंसर नहीं दिया तो कुछ गलत किया तो बस यही बोलना चाहता हूं मैं

lalit ji aapko toh pata hi hoga ki 12 mein jab election hote hain toh election ke dauran jo company hoti hai usme ek party ka kaam hi hota hai dusri party ki padhai karna aur apni acchai karna aapko toh pata hi hoga abhi gujarat mein election jaane waale hain aur aisi elections ki company ho rahi hai aisi ek campaigning mein congress ke kuch samarthakon hain aur part party karmachariyon ne 12 00 baje BJP ke kuch party logo ke mudde uthye aur bola unhone vikas ke hetu kya kya kiya hai toh mujhe nahi lagta hai ki bjp aur modi ji ko har baat ka jawab dena zaroori hai kyonki unka kaam aur unka vikas puja toh pehle hi accha lagta hai aur bharat ki sector mein lagta hai toh mujhe lagta hai ki har baat ka jawab dena zaroori hai yah toh party ka normal procedure hai sahi baat par bhi us par uthana aur uske khilaf khade hone elections ke dauran toh mujhe lagta hai ki modi ji ne agar us vikas ke liye agar answer nahi diya toh kuch galat kiya toh bus yahi bolna chahta hoon main

ललित जी आपको तो पता ही होगा कि 12 में जब इलेक्शन होते हैं तो इलेक्शन के दौरान जो कंपनी होत

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  18
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!