पत्रकार बनने के लिए आपको कैसे प्रेरणा मिली?...


user

Mamta Kumari

Journalist.news Editor

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पत्रकार बनने के लिए मैंने सोचा भी नहीं था पर कुछ वक्त और हालात ऐसे बन गए कि मैं इससे लाइन में जुड़ गई मैं भी सुन लाइन में खड़ी हो गई स्ट्रगल के लिए एक का नाम तो मैं ले नहीं सकती कि किस से प्रेरणा मिली मुझे कोई ऐसा लक्ष्य चाहिए था जो मुझे दुनिया के लिए कुछ मदद जो मैं दुनिया के लिए कुछ मदद कर सकूं हालांकि अभी तक मैंने बहुत से न्यूज़ एंकर को प्रकट करते देखा था सुना भी था जिससे मैंने बहुत कुछ सीखा

patrakar banne ke liye maine socha bhi nahi tha par kuch waqt aur haalaat aise ban gaye ki main isse line mein jud gayi main bhi sun line mein khadi ho gayi struggle ke liye ek ka naam toh main le nahi sakti ki kis se prerna mili mujhe koi aisa lakshya chahiye tha jo mujhe duniya ke liye kuch madad jo main duniya ke liye kuch madad kar sakun halaki abhi tak maine bahut se news anchor ko prakat karte dekha tha suna bhi tha jisse maine bahut kuch seekha

पत्रकार बनने के लिए मैंने सोचा भी नहीं था पर कुछ वक्त और हालात ऐसे बन गए कि मैं इससे लाइन

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  196
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!