अगले शहर कौन सा है जिसे दिल्ली जैसे गंभीर प्रदूषण की समस्या का सामना करना पड़ सकता है और क्यों?...


play
user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रदूषण के मामले में ग्वालियर से दिल्ली को भी पीछे कर दिया है ग्वालियर दुनिया का सबसे प्रदूषित दूसरा शहर माना गया है दिल्ली तो ऐसे ही बदनाम हो चुकी है और कई सालों तक बदनाम रही थी लेकिन एक साल पहले डब्ल्यूएचओ की तरफ से दुनिया के प्रदूषित शहरों का अध्ययन करने के लिए 3000 शहरों को शामिल किया गया इन शहरों का अध्ययन करके एक साथ तीन देशों की सूची तैयार की गई इस सूची में दुनिया के 50 सबसे अधिक प्रदूषित शहरों में अकेले भारत के 22 शहर है अगर डॉक्टर की बात करें तो भी कई भारतीय शहर इसमें शामिल हो जाती है दिल्ली तो दुनिया के 11 सबसे प्रदूषित शहर में शामिल है दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर जो बाल है जो कि ईरान में दूसरे नंबर पर ग्वालियर है इलाहाबाद तीसरे स्थान पर हटे पर पटना सातवां छत्तीसगढ़ का रायपुर 12वी लुधियाना इसके बाद कानपुर खन्ना लखनऊ फिरोजाबाद का नाम आता है अब सवाल यह है कि ग्वालियर प्रदूषण में सबसे ऊपर भारतीय शहरों में किस शहर में दरअसल 15 साल पुराने विकल्प आज भी चल रहे हैं इसके अलावा शहर के बीचोबीच खदानें जहां रात दिन खनन का काम होता है और शहर में हर रोज ढाई सौ टन कचरा निकलता है जिसका आधा ही ठिकाने लग पाता है बाकी कचरा इधर-उधर देख रहा होता है एक कारण है ग्वालियर दुनिया का दूसरा सबसे प्रदूषित है

pradushan ke mamle mein gwalior se delhi ko bhi peeche kar diya hai gwalior duniya ka sabse pradushit doosra shehar mana gaya hai delhi toh aise hi badnaam ho chuki hai aur kai salon tak badnaam rahi thi lekin ek saal pehle WHO ki taraf se duniya ke pradushit shaharon ka adhyayan karne ke liye 3000 shaharon ko shaamil kiya gaya in shaharon ka adhyayan karke ek saath teen deshon ki suchi taiyar ki gayi is suchi mein duniya ke 50 sabse adhik pradushit shaharon mein akele bharat ke 22 shehar hai agar doctor ki baat kare toh bhi kai bharatiya shehar isme shaamil ho jaati hai delhi toh duniya ke 11 sabse pradushit shehar mein shaamil hai duniya ka sabse pradushit shehar jo baal hai jo ki iran mein dusre number par gwalior hai allahabad teesre sthan par hate par patna satvaan chattisgarh ka raipur va ludhiyana iske baad kanpur khanna lucknow firozabad ka naam aata hai ab sawaal yah hai ki gwalior pradushan mein sabse upar bharatiya shaharon mein kis shehar mein darasal 15 saal purane vikalp aaj bhi chal rahe hain iske alava shehar ke bichobich khadanen jaha raat din khanan ka kaam hota hai aur shehar mein har roj dhai sau ton kachra nikalta hai jiska aadha hi thikane lag pata hai baki kachra idhar udhar dekh raha hota hai ek karan hai gwalior duniya ka doosra sabse pradushit hai

प्रदूषण के मामले में ग्वालियर से दिल्ली को भी पीछे कर दिया है ग्वालियर दुनिया का सबसे प्रद

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  15
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vatsal

Engineering Student

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी हाल ही में भी सर्वे हुआ देश में सामने आया था कि मुरादाबाद और कानपुर जो है वह एक ऐसे शहर हैं यूपी के दिन में सबसे ज्यादा प्रदूषण हो गाजियाबाद से मुरादाबाद कानपुर गाजियाबाद कुछ ऐसे शहर में जल प्रदूषण काफी मात्रा में ले सकते हैं क्योंकि यहां इंडस्ट्रियल एरिया बनाने की अब जरूरत है उनका हाल भी दिल्ली जैसा होगा जिसमें बाद में कंट्रोल करने के लिए हमें ऐसी चीज़ें लागु करनी पड़ेगी तो उससे बैटरी अभी हालात सुधरे तो सही किया जाए

abhi haal hi mein bhi survey hua desh mein saamne aaya tha ki muradabad aur kanpur jo hai vaah ek aise shehar hai up ke din mein sabse zyada pradushan ho ghaziabad se muradabad kanpur ghaziabad kuch aise shehar mein jal pradushan kaafi matra mein le sakte hai kyonki yahan Industrial area banane ki ab zarurat hai unka haal bhi delhi jaisa hoga jisme baad mein control karne ke liye hamein aisi chize lagu karni padegi toh usse battery abhi haalaat sudhre toh sahi kiya jaaye

अभी हाल ही में भी सर्वे हुआ देश में सामने आया था कि मुरादाबाद और कानपुर जो है वह एक ऐसे शह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मेरे हिसाब से क्लास है जो दिल्ली के जैसे गंभीर प्रदूषण की समस्या का सामना करना पड़ सकता है तो भगवान करे ऐसा ना हो उस से पहले जो प्रदूषण की समस्या है वह चालू हो जाए ताकि वह मुंबई होगा क्योंकि मोबाइल में भी बेहतर डांस ट्रैफिक है और लड़के कम है और लोग बहुत ज्यादा है और गाड़ियां बहुत ज्यादा वहां पर टाइम सेम होते तो मैं समझ गया कि जो है वह मुंबई होगा दिल्ली के बाद

lekin mere hisab se class hai jo delhi ke jaise gambhir pradushan ki samasya ka samana karna pad sakta hai toh bhagwan kare aisa na ho us se pehle jo pradushan ki samasya hai vaah chaalu ho jaaye taki vaah mumbai hoga kyonki mobile mein bhi behtar dance traffic hai aur ladke kam hai aur log bahut zyada hai aur gadiyan bahut zyada wahan par time same hote toh main samajh gaya ki jo hai vaah mumbai hoga delhi ke baad

लेकिन मेरे हिसाब से क्लास है जो दिल्ली के जैसे गंभीर प्रदूषण की समस्या का सामना करना पड़ स

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर मैं अगले शहर की बात करो जिसमें दिल्ली जैसे गंभीर प्रदूषण की समस्या का सामना करना पड़ सकता है वह पटना बिहार क्योंकि 2016 में डब्ल्यूएचओ ने एक सर्वे कराया था भारत में जिसमें उन्होंने मोस्ट पोलूटेड सिटी के बारे में निकाला था दिल्ली के बाद दूसरे नंबर पटना बिहार का था मैं आपको बताऊं पटना एक प्यार की सिटी है और कैपिटल भी है यह कोई इरादा बड़ा इंडस्ट्रियल सिटी नहीं है लेकिन यहां पर मिली जो फंक्शन होता है वो एग्रीकल्चर के नाम से जाना जाता है और यह सेकंड मोस्ट पोलूटेड सिटी सर्वे में आई थी और इसमें जो हम नगर रामपुर पाटेकर की बात करें अगर हम पीएम 2.5 की बात करें तो वहां पर 149 और अगर हम PM ट्रेन की बात करें तो वहां पर 162 हो रही है काफी ज्यादा है और अगर पटना के बाद बात करूं तो सिटी सामने भारत की जो मोस्ट पोलूटेड है ग्वालियर हो गया ठीक है ग्वालियर मध्य प्रदेश रायपुर हो गया छत्तीसगढ़ हो गया और अहमदाबाद हो गए गुजरात का पुरा उत्तर उत्तर प्रदेश कानपुर उत्तर प्रदेश की शादी के बाद आती है पॉलिटिक्स में इस पर कंट्रोल करना चाहिए ऐसी प्रदूषित है पटना अहमदाबाद आने वाली है क्या 223 सालों में दिल्ली के बराबर हो जाएंगी पोलूशन के नाम पर

agar main agle shehar ki baat karo jisme delhi jaise gambhir pradushan ki samasya ka samana karna pad sakta hai vaah patna bihar kyonki 2016 mein WHO ne ek survey karaya tha bharat mein jisme unhone most poluted city ke bare mein nikaala tha delhi ke baad dusre number patna bihar ka tha main aapko bataun patna ek pyar ki city hai aur capital bhi hai yah koi irada bada Industrial city nahi hai lekin yahan par mili jo function hota hai vo agriculture ke naam se jana jata hai aur yah second most poluted city survey mein I thi aur isme jo hum nagar rampur patekar ki baat kare agar hum pm 2 5 ki baat kare toh wahan par 149 aur agar hum PM train ki baat kare toh wahan par 162 ho rahi hai kaafi zyada hai aur agar patna ke baad baat karu toh city saamne bharat ki jo most poluted hai gwalior ho gaya theek hai gwalior madhya pradesh raipur ho gaya chattisgarh ho gaya aur ahmedabad ho gaye gujarat ka pura uttar uttar pradesh kanpur uttar pradesh ki shadi ke baad aati hai politics mein is par control karna chahiye aisi pradushit hai patna ahmedabad aane wali hai kya 223 salon mein delhi ke barabar ho jayegi pollution ke naam par

अगर मैं अगले शहर की बात करो जिसमें दिल्ली जैसे गंभीर प्रदूषण की समस्या का सामना करना पड़ स

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  44
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर दिल्ली शेर जैसी पर गंभीर प्रदूषण के मामले का सामना कर शायद किसी को कम पर शक करना पड़ सकता हूं तो मैं यह कहना चाहूंगा कि वह शेर है मेरे हिसाब से यूपी में आगरा भी हो सकता है लखनऊ हो सकता है या हरियाणा में हो सकता है यह चंडीगढ़ में हो सकता है क्योंकि कारण यह है कि मुख्य कारण वहां पर इन शहरों में जो है प्रदूषण बहुत अत्यधिक है और जो है जुए को यानि जो जूए को एग्जिट रूट जो होना चाहिए निकलने के लिए शहर से वह शायद हो नहीं रहा है क्योंकि चारों तरफ से जब दुआ पैदा होता है और ठंड के मौसम में अगर कमरे के साथ मिल जाए तो उसको स्मार्ट बन जाता है दुआ ठहरता है जिसे प्रदूषण की जो है हालत काफी गंभीर है और इन शहरों में जो है बहुत सारी फैक्ट्रियां अभी है क्या पुराने तरीकों तरीके से चल रही है तो पुराने तौर-तरीके मैंने यह कहना चाहूंगा कि जैसे पुरानी टेक्नोलॉजी के अनुसार है बिना छुए को बिना जो धुआं निकलता है किसी भी फैक्ट्री से उसे बिना ट्रीटमेंट दिए आवारा हवा में छोड़ोगे और बुरी प्रथा है क्या खेत जलाने की जब Facebook जाओ नहीं जमीन उपजाऊ नहीं रहती तो उसके तो को जलाया जाता है और जिस से भी काफी सरहद हुआ पैदा होता है और जो प्रदूषण के मुख्य कारणों में से एक है इन शहरों में तो मेरे हिसाब से यही कहना चाहूंगा कि पंजाब हरियाणा के शहर में खास करके आगरा और यह सब अगले शिकार हो सकता है दिल्ली की जैसे प्रदूषण की समस्या पर

agar delhi sher jaisi par gambhir pradushan ke mamle ka samana kar shayad kisi ko kam par shak karna pad sakta hoon toh main yah kehna chahunga ki vaah sher hai mere hisab se up mein agra bhi ho sakta hai lucknow ho sakta hai ya haryana mein ho sakta hai yah chandigarh mein ho sakta hai kyonki karan yah hai ki mukhya karan wahan par in shaharon mein jo hai pradushan bahut atyadhik hai aur jo hai jue ko yani jo juye ko exit root jo hona chahiye nikalne ke liye shehar se vaah shayad ho nahi raha hai kyonki charo taraf se jab dua paida hota hai aur thand ke mausam mein agar kamre ke saath mil jaaye toh usko smart ban jata hai dua thahrata hai jise pradushan ki jo hai halat kaafi gambhir hai aur in shaharon mein jo hai bahut saree factoriyan abhi hai kya purane trikon tarike se chal rahi hai toh purane taur tarike maine yah kehna chahunga ki jaise purani technology ke anusaar hai bina chuye ko bina jo dhuan nikalta hai kisi bhi factory se use bina treatment diye awaara hawa mein chodoge aur buri pratha hai kya khet jalane ki jab Facebook jao nahi jameen upajau nahi rehti toh uske toh ko jalaya jata hai aur jis se bhi kaafi sarahad hua paida hota hai aur jo pradushan ke mukhya karanon mein se ek hai in shaharon mein toh mere hisab se yahi kehna chahunga ki punjab haryana ke shehar mein khaas karke agra aur yah sab agle shikaar ho sakta hai delhi ki jaise pradushan ki samasya par

अगर दिल्ली शेर जैसी पर गंभीर प्रदूषण के मामले का सामना कर शायद किसी को कम पर शक करना पड़ स

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  12
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें दिल्ली के बाद जो मुझे नींद से लगते हैं जिनके अंदर समस्या आ सकती है वह मुझे लगता है कानपुर और एनसीआर के शेयर हो सकते हैं जैसे कि गुड़गांव इन चेहरों में मुझे समस्या बढ़ती हुई से लगे क्योंकि यहां पर बहुत से कानपुर के अंदर थानवी वगैरा बहुत ज्यादा है और देखा गया है कि उसकी वजह से छुपानी है वहां पर वॉटर पोलूशन वगैरा काफी बढ़ रहा है और जहां तक की बैटरी एनसीआर के तो गुड़गांव की भी जो हुआ है वह दिल्ली से पीछे नहीं रह रही है वहां पर भी पोलूशन की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ती जा रही है कि कि यहां पर जनसंख्या बहुत ज्यादा है ताकि बहुत ज्यादा है और ढंग से सही मात्रा के अंदर लोग पोलूशन को इतना सीरियसली नहीं ले रहे हैं तो पोलूशन बढ़ता जा रहा है और जमीन मेट्रोपॉलिटन सेटिंग है इनके अंदर जो खतरा है यह ज्यादा है अगर हम बाकी सिटी से कम सेट करें तो

dekhen delhi ke baad jo mujhe neend se lagte hain jinke andar samasya aa sakti hai vaah mujhe lagta hai kanpur aur NCR ke share ho sakte hain jaise ki gurgaon in chehron mein mujhe samasya badhti hui se lage kyonki yahan par bahut se kanpur ke andar thanvi vagera bahut zyada hai aur dekha gaya hai ki uski wajah se chhupani hai wahan par water pollution vagera kaafi badh raha hai aur jaha tak ki battery NCR ke toh gurgaon ki bhi jo hua hai vaah delhi se peeche nahi reh rahi hai wahan par bhi pollution ki matra bahut zyada badhti ja rahi hai ki ki yahan par jansankhya bahut zyada hai taki bahut zyada hai aur dhang se sahi matra ke andar log pollution ko itna seriously nahi le rahe hain toh pollution badhta ja raha hai aur jameen metropolitan setting hai inke andar jo khatra hai yah zyada hai agar hum baki city se kam set kare toh

देखें दिल्ली के बाद जो मुझे नींद से लगते हैं जिनके अंदर समस्या आ सकती है वह मुझे लगता है क

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसे कई शहर हैं जिनकी हालत दिल्ली जैसी हो रही है राजस्थान में भिवाड़ी शहर किए टॉप सिटी लेवल्स गुड़गांव से भी ज्यादा आई है इस दिवाली वह भारत की सबसे पहली यूनिवर्सिटी थी नवंबर में मुरादाबाद का एयरपोर्ट सिटी 11510 था अब तक की भारत की किसी भी शहर की सबसे ज्यादा रीडिंग रोहतक भी नवंबर में पूरी तरह से स्मॉग से गिर गया था इतना कि स्कूल के बच्चों को मांस पहन के बाहर निकलना पड़ा

aise kai shehar hain jinki halat delhi jaisi ho rahi hai rajasthan mein bhivari shehar kiye top city levels gurgaon se bhi zyada I hai is diwali vaah bharat ki sabse pehli university thi november mein muradabad ka airport city 11510 tha ab tak ki bharat ki kisi bhi shehar ki sabse zyada reading rohatak bhi november mein puri tarah se smog se gir gaya tha itna ki school ke baccho ko maas pahan ke bahar nikalna pada

ऐसे कई शहर हैं जिनकी हालत दिल्ली जैसी हो रही है राजस्थान में भिवाड़ी शहर किए टॉप सिटी लेवल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
मोस्ट पोलूटेड सिटीज ; मोस्ट पोलूटेड सिटी ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!