महिलाओं के खिलाफ होने वाली घटनाओं की संख्या को कम करने के लिए सरकार क्या करेगी?...


user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:26
Play

Likes  105  Dislikes    views  2107
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vatsal

Engineering Student

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीके बोले महिलाओं के खिलाफ जो भी घटनाएं हो रही हैं तो उसमें सरकार तो अपना काम कर रही है जो वह धीमी गति सद्गति आई है वह हमेशा वोटों की राजनीति वोटों के समय जो होती है वह होती है या अभी कोई काम नहीं चल रहा है तू महिलाओं के खिलाफ जो हो रही घटना बढ़ती जा रही है इनकी संख्या कम करने का सबसे पहला चीज जो करनी थी वो अवेयरनेस अवेयरनेस या नहीं हमें अपनी दूसरी के अपने अंदर की थिंकिंग सुधारनी चाहिए लोगों को इसके प्रति जागरुक करना चाहिए केवल यहां पर सवाल डालने से या इन बातों को शेयर करने से सोशल मीडिया पर उस पर डिस्कशन करने से कुछ नहीं होगा हम एक पहल करनी पड़ेगी हमें लोगों के अंदर जागरूकता लाने पड़ेगी लोगों को समझाना पड़ेगा यह बिल्कुल गलत कदम है और उनकी सोच बदलने का प्रयास करना चाहिए जो कि ऑफिस में बदलना इतना आसान नहीं है तो खुद में पहले हमें सुधारना चाहिए तब हम किसी सरकार को घेरा से उम्मीद करें क्योंकि हमारी गलती है तो चैन सरकार भी कोई का फैसला ले ले ये तरीके के लोग होते हैं वह हमें सुधरने वाले नहीं हैं दूसरी जी सरकार के लिए बिलकुल यदि आप बात करें तो जो भी इस में दोषी पाए जाते हैं उनके साथ इतनी कठोर कार्रवाई होनी चाहिए कि कोई भी इंसान ही सब करने से पहले 10 बार सोच है उसका शरीर कांपने लगे इश्क करने से पहले तो ठीक सही समय रहते हुए जल्दी से कार्रवाई होनी चाहिए बजाय की कोई भी केस जब हुआ है उसके 10 साल बाद यदि कोई रिजल्ट आता है कारवाई तो उसे कोई अंदाजा नहीं निकलता तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए और बहुत अच्छी होनी चाहिए

pk bole mahilaon ke khilaf jo bhi ghatnayen ho rahi hain toh usmein sarkar toh apna kaam kar rahi hai jo vaah dheemi gati sadgati I hai vaah hamesha voton ki raajneeti voton ke samay jo hoti hai vaah hoti hai ya abhi koi kaam nahi chal raha hai tu mahilaon ke khilaf jo ho rahi ghatna badhti ja rahi hai inki sankhya kam karne ka sabse pehla cheez jo karni thi vo awareness awareness ya nahi hamein apni dusri ke apne andar ki thinking sudharni chahiye logon ko iske prati jagruk karna chahiye keval yahan par sawaal dalne se ya in baaton ko share karne se social media par us par discussion karne se kuch nahi hoga hum ek pahal karni padegi hamein logon ke andar jagrukta lane padegi logon ko samajhana padega yah bilkul galat kadam hai aur unki soch badalne ka prayas karna chahiye jo ki office mein badalna itna aasaan nahi hai toh khud mein pehle hamein sudharna chahiye tab hum kisi sarkar ko ghera se ummid karen kyonki hamari galti hai toh chain sarkar bhi koi ka faisla le le ye tarike ke log hote hain vaah hamein sudharne waale nahi hain dusri ji sarkar ke liye bilkul yadi aap baat karen toh jo bhi is mein doshi paye jaate hain unke saath itni kathor karyawahi honi chahiye ki koi bhi insaan hi sab karne se pehle 10 baar soch hai uska sharir kaanpane lage ishq karne se pehle toh theek sahi samay rehte hue jaldi se karyawahi honi chahiye bajay ki koi bhi case jab hua hai uske 10 saal baad yadi koi result aata hai karwai toh use koi andaja nahi nikalta turant karyawahi honi chahiye aur bahut achi honi chahiye

पीके बोले महिलाओं के खिलाफ जो भी घटनाएं हो रही हैं तो उसमें सरकार तो अपना काम कर रही है जो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
play
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:60

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

1 महिलाओं के खिलाफ होने वाली घटनाओं की संख्या कम करने के लिए मैं समस्याओं की सरकार जो है वह कड़े से कड़ा कानून लाइक यू के लोगों लोगों में डर तभी मिलेगा जब बाबा पहले कानून खड़ा होगा तो फिर तो फिर लोग कहेंगे कुछ भी करने से पहले सोच ने से पहले भी की थी उनको इतनी सजा मिलने वाली उनके उनके साथ ट्रीटमेंट बहुत बुरा होगा और पुलिस को जो है वह क्विक एक्शन लेना चाहिए और जगह-जगह पर पॉइंट चेक को सपने बना सकते हैं जहां पर गाड़ियों की चेकिंग तो नहीं लेकिन हां गाड़ी को कंट्रोल कर सकते हैं और आप जहां पर भी कोई एक्सीडेंट हो तो वहां पर मतलब तुरंत पहुंच जाए बिना किसी उसके तो उसके लिए तो होते हैं कुछ रिश्ते में पुलिस की टीम होती है जहां पर घटना हो जाए तो वहां पर तुरंत पहुंचने के लिए लेकिन मैं सोचा कि उसको और एक्टिव और उसको उसकी ताजा जो है वह बड़ा नहीं चाहिए तो महिलाओं के खिलाफ कोलकाता होते हैं वह थोड़ी कम होंगे

1 mahilaon ke khilaf hone waali ghatnaon ki sankhya kam karne ke liye main samasyaon ki sarkar jo hai vaah kade se kada kanoon like you ke logon logon mein dar tabhi milega jab baba pehle kanoon khada hoga toh phir toh phir log kahenge kuch bhi karne se pehle soch ne se pehle bhi ki thi unko itni saza milne waali unke unke saath treatment bahut bura hoga aur police ko jo hai vaah quick action lena chahiye aur jagah jagah par point check ko sapne bana sakte hain jahan par gadiyon ki checking toh nahi lekin haan gaadi ko control kar sakte hain aur aap jahan par bhi koi accident ho toh wahan par matlab turant pahunch jaaye bina kisi uske toh uske liye toh hote hain kuch rishte mein police ki team hoti hai jahan par ghatna ho jaaye toh wahan par turant pahuchne ke liye lekin main socha ki usko aur active aur usko uski taaza jo hai vaah bada nahi chahiye toh mahilaon ke khilaf kolkata hote hain vaah thodi kam honge

1 महिलाओं के खिलाफ होने वाली घटनाओं की संख्या कम करने के लिए मैं समस्याओं की सरकार जो है व

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  34
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!