दिल्ली का पोल्यूशन लेवेल इतना ज़्यादा क्यों है?...


play
user
1:11

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पोलूशन की बात करें तो दिल्ली एक शहर है और महानगर है और इसी महानगर में इतनी ज्यादा आबादी बढ़ती जा रही है स्टैंड होता जा रहा है जन घनत्व बढ़ता जा रहा है कि दिल्ली शहर को जाने लगा है और यहां भी होगा वहां पर्यावरण सबसे ज्यादा बिगड़ेगा उसका संतुलन वहां पर तेजी से बढ़ता है और दिल्ली में जो उद्योग धंधे कल कारखाने जो लग रहे हैं और आसपास लग रहे हैं आसपास के शहर जैसे नोएडा वगैरह है वह बहुत ज्यादा मतलब उद्योग धंधे की उद्योग लगाने की कतार में सबसे ज्यादा वहां प्रोग्रेस हो रही है और यही प्रोग्रेस हमारे लिए विनाश का कारण बन रही है जो कंट्रोल में करना बहुत जरूरी है लेकिन इस पर नियंत्रण अभी सुंदरता से नहीं लग पा रहा है चाहे वह कांग्रेस की सरकार हो बीजेपी की सरकार हो या आप की सरकार

pollution ki baat karein toh delhi ek sheher hai aur mahanagar hai aur isi mahanagar mein itni zyada aabadi badhti ja rahi hai stand hota ja raha hai jan ghanatva badhta ja raha hai ki delhi sheher ko jaane laga hai aur yahan bhi hoga wahan paryavaran sabse zyada bigadega uska santulan wahan par teji se badhta hai aur delhi mein jo udyog dhande kal karkhane jo lag rahe hai aur aaspass lag rahe hai aaspass ke sheher jaise noida vagera hai wah bahut zyada matlab udyog dhande ki udyog lagane ki katar mein sabse zyada wahan progress ho rahi hai aur yahi progress hamare liye vinash ka kaaran ban rahi hai jo control mein karna bahut zaroori hai lekin is par niyantran abhi sundarta se nahi lag pa raha hai chahe wah congress ki sarkar ho bjp ki sarkar ho ya aap ki sarkar

पोलूशन की बात करें तो दिल्ली एक शहर है और महानगर है और इसी महानगर में इतनी ज्यादा आबादी बढ

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  1002
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली में वाहनों की संख्या बहुत ज्यादा है तथा लोगों की संख्या बहुत ज्यादा है इसी के साथ-साथ वहां से दिल्ली का जो इलाका है बहुत से अन्य दूसरे शहरों से लगा हुआ है जैसे गुड़गांव नोएडा आगरा इसी के साथ साथ तथा दिल्ली खुद ही जो कि काफी बड़ा चित्र बनाता है जहां पर सिर्फ लोगों की आबादी है और कारखाने हैं और लोगों द्वारा पर दूसरा किया जाता जा रहा है और पेड़ों की कटाई हो चुकी है जिससे जो लेबल है पोलूशन का वह निरंतर बढ़ता गया और वह आज बहुत ज्यादा खराब हो चुका है

delhi mein vahanon ki sankhya bahut zyada hai tatha logo ki sankhya bahut zyada hai isi ke saath saath wahan se delhi ka jo ilaka hai bahut se anya dusre shaharon se laga hua hai jaise gurgaon noida agra isi ke saath saath tatha delhi khud hi jo ki kaafi bada chitra banata hai jaha par sirf logo ki aabadi hai aur karkhane hain aur logo dwara par doosra kiya jata ja raha hai aur pedon ki katai ho chuki hai jisse jo lebal hai pollution ka vaah nirantar badhta gaya aur vaah aaj bahut zyada kharab ho chuka hai

दिल्ली में वाहनों की संख्या बहुत ज्यादा है तथा लोगों की संख्या बहुत ज्यादा है इसी के साथ-स

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  360
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!