क्या मार्च में शराब के ठेके दोबारा से राष्ट्रीय राज्यमार्गों पे शुरू हो सकते हैं?...


user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आ देखे मैं नहीं समझती मार्च में जो है वह शराब के ठेके सरकार वापस खोलेगी क्योंकि सरकार ने इतना कड़ा नियम जो है वह लिया था ताकि जो एक्सीडेंट है वह हाईवे पर कम हो और शायद 30 मीटर या 50 मीटर 600 मीटर का शहद रोड डिस्टेंस है वह लिमिट रखा गया है कि उसके अंदर में हाईवे के आसपास नहीं होना चाहिए शराब के ठेके तो यह समझता बिल्कुल सही डिसीजन है के डायलॉग जो होता है वह बातें करके दारू पी के ऊपर एक्सीडेंट जो था वह एक्सीडेंट होने की संभावना बढ़ जाती थी तो यह बिल्कुल सही किया था क्या एक्सीडेंट जो है वह कम से कम हो सके और मेरी समिति की ओर सरकार शुरू करेगी फिर से

aa dekhe main nahi samajhti march mein jo hai vaah sharab ke theke sarkar wapas kholegi kyonki sarkar ne itna kada niyam jo hai vaah liya tha taki jo accident hai vaah highway par kam ho aur shayad 30 meter ya 50 meter 600 meter ka shehed road distance hai vaah limit rakha gaya hai ki uske andar mein highway ke aaspass nahi hona chahiye sharab ke theke toh yah samajhata bilkul sahi decision hai ke dialogue jo hota hai vaah batein karke daaru p ke upar accident jo tha vaah accident hone ki sambhavna badh jaati thi toh yah bilkul sahi kiya tha kya accident jo hai vaah kam se kam ho sake aur meri samiti ki aur sarkar shuru karegi phir se

आ देखे मैं नहीं समझती मार्च में जो है वह शराब के ठेके सरकार वापस खोलेगी क्योंकि सरकार ने इ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:50

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीने नहीं होना चाहिए मेरे ख्याल से तो क्योंकि यह क्वेश्चन काफी अच्छा है लेकिन इसका आंसर मुझे पता है कि जिन जिन जिन तकलीफों से गुजरे राष्ट्रीय राजमार्गों पर शराब पीकर जो एक्सीडेंट हुए उनके जिन-जिन परिवार वालों के अपना अपना सदस्य को है वह तो पूर्ण 23 को पाबंद ही जाएंगे लेकिन कुछ है ऐसे कन्वेंस 24 कोशिश करेंगे लेकिन मेरे ख्याल से तो नहीं क्योंकि सरकार के ऊपर से अधिक वह दौर आएगा ठीक है क्योंकि जो क्लेम मिलेगा राष्ट्रीय राजमार्ग के ऊपर वह हमसे वसूल किया जाएगा हम जनता की सरकार के पास कहां चला है कि वह उस पर बहुत टैक्स वगैरा में उन्होंने तो बढ़ोतरी करके रुपए हमको चुकाना पड़ेगा ठीक है तो नहीं होना चाहिए क्योंकि एक की भलाई के चक्कर में करोड़ों को नहीं मारा जा सकता

jeene nahi hona chahiye mere khayal se toh kyonki yah question kaafi accha hai lekin iska answer mujhe pata hai ki jin jin jin takaleephon se gujare rashtriya raajamaargon par sharab peekar jo accident hue unke jin jin parivar walon ke apna apna sadasya ko hai vaah toh purn 23 ko paband hi jaenge lekin kuch hai aise convence 24 koshish karenge lekin mere khayal se toh nahi kyonki sarkar ke upar se adhik vaah daur aayega theek hai kyonki jo claim milega rashtriya rajmarg ke upar vaah humse vasool kiya jaega hum janta ki sarkar ke paas kahaan chala hai ki vaah us par bahut tax vagera mein unhone toh badhotari karke rupaye hamko chukaana padega theek hai toh nahi hona chahiye kyonki ek ki bhalai ke chakkar mein karodo ko nahi mara ja sakta

जीने नहीं होना चाहिए मेरे ख्याल से तो क्योंकि यह क्वेश्चन काफी अच्छा है लेकिन इसका आंसर मु

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं मुझे नहीं लगता है कि शराब के ठेके फिर से शुरू हो सकते हैं सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार स्टेट हाईवे से 500 मीटर तक और राष्ट्रीय राजमार्गों पर शराब की दुकाने नहीं होंगे हालांकि में 34 समास 2017 तक जो पहले से है वह दुकान है चल पाएंगे सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में यह फैसला लागू होगा लाइसेंस का नवीनीकरण नहीं होगा राजमार्ग के किनारे लगे सभी शराब के विज्ञापन और साइन बोर्ड हटाए जाएंगे हर वर्ष करीब डेढ़ लाख व्यक्ति सड़क दुर्घटना में मारे जाते हैं सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार को पंजाब सरकार की काफी फटकार लगाई इतने हादसे और मौतों के चलते यह संभव नहीं है की दुकानें फिर से चालू हो जाए और होनी भी नहीं चाहिए महिलाओं ने भी शराब बंद करने में भरपूर सहयोग दिया है और सुप्रीम कोर्ट का फैसला सही है

ji nahi mujhe nahi lagta hai ki sharab ke theke phir se shuru ho sakte hain supreme court ke aadesh ke anusaar state highway se 500 meter tak aur rashtriya raajamaargon par sharab ki dukaaney nahi honge halaki mein 34 samaas 2017 tak jo pehle se hai vaah dukaan hai chal payenge sabhi rajyo aur kendra shasit pradesh mein yah faisla laagu hoga license ka naveenikaran nahi hoga rajmarg ke kinare lage sabhi sharab ke vigyapan aur sign board hataye jaenge har varsh kareeb dedh lakh vyakti sadak durghatna mein maare jaate hain supreme court ne is mamle mein kendra sarkar ko punjab sarkar ki kaafi fatkar lagayi itne haadse aur mauton ke chalte yah sambhav nahi hai ki dukanein phir se chaalu ho jaaye aur honi bhi nahi chahiye mahilaon ne bhi sharab band karne mein bharpur sahyog diya hai aur supreme court ka faisla sahi hai

जी नहीं मुझे नहीं लगता है कि शराब के ठेके फिर से शुरू हो सकते हैं सुप्रीम कोर्ट के आदेश के

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!