हमारे पुराने नेताओं ने ऐसी क्या गलती की थी जो उसके परिणामस्वरूप भारत में इतना भ्रष्टाचार हुआ?...


play
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस सवाल से तो ऐसा लगता है कि जैसे आजकल के जो नेता है वह बड़ी ईमानदारी प्रतिमूर्त है और जो पुराने नेता थे हमारे, वह भ्रष्टाचार को बढ़ाते थे| मैं समझता हूं हकीकत तो बिल्कुल उसके उल्टी है| मैं यह मानता हूं कि जो हमारे पुराने नेता थे, उनके अंदर जो चरित्र था और जो इमानदारी थी, वह आज के नेताओं के अंदर बिल्कुल नहीं है| और आजकल के नेता जो है बहुत ज्यादा भ्रष्ट हैं और बहुत ज्यादा वो गलत कामों में जिस तरीके से संलिप्त रहते हैं| तो इसलिए जो है पुराने नेताओं पर आजकल के भ्रष्टाचार की जो है वह बागडोर सौंपना बहुत ही गलत बात है| पुराने जो स्कैंडल है अगर आप उसका वॉल्यूम देखे तो आज के स्कैंडल के जो वॉल्यूमस उससे बहुत कम है| आजकल जो स्कैंडल हो रहे हैं वह पिछले स्कैंडल के मुकाबले से 1000 गुना ज्यादा है इसलिए यह मैं नहीं मानता कि पुराने नेताओं की गलती की वजह से आज भ्रष्टाचार भारत में पनप रहा है|

is sawal se to aisa lagta hai ki jaise aajkal ke jo neta hai wah baadi imaandaari pratimurt hai aur jo purane neta the hamare wah bhrashtachar ko badhate the main samajhata hoon haqiqat to bilkul uske ulti hai yeh manata hoon ki jo hamare purane neta the unke andar jo charitra tha aur jo imaandari thi wah aaj ke netaon ke andar bilkul nahi hai aur aajkal ke neta jo hai bahut jyada bhrasht hai aur bahut jyada vo galat kaamo chahiye mein jis tarike se sanlipt rehte hai to isliye jo hai purane netaon par aajkal ke bhrashtachar ki jo hai wah bagdor saunpana bahut hi galat baat hai purane jo scandal hai agar aap uska volume dekhe to aaj ke scandal ke jo valyumas usse bahut kum hai aajkal jo scandal ho rahe hai wah pichle scandal ke muqable se 1000 guna jyada hai isliye yeh main nahi manata ki purane netaon ki galti ki wajah se aaj bhrashtachar bharat mein panap raha hai

इस सवाल से तो ऐसा लगता है कि जैसे आजकल के जो नेता है वह बड़ी ईमानदारी प्रतिमूर्त है और जो

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  346
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता कि पुराने नेताओं की गलती की वजह से भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया मुझे लगता है इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि जब किसी दल की सरकार नहीं हो पाती है तो उसे बहुत सारे जनों से हाथ में आना पड़ता है सरकार बनाने के लिए और जब यह ही से की जाती है तो कंप्रोमाइज किया जाता है 2:35 के बीच में किसी को मंत्री बनाया जाए या किसी को एक बड़ा पद दिया जाए तो जब इस तरह की सरकार बनती है जिसमें एक पार्टी को आप स्पष्ट बहुमत नहीं दे पाते तब इस तरह के कांड ज्यादा उभरकर सामने आते हैं जैसे कि मनमोहन सिंह जी की जो दो कल निकली है उसमें से दूसरा काम था उसी ने बनाई जाती थी लेकिन भ्रष्टाचार भी उसमें उतना ही ज्यादा बढ़ता चला गया था क्योंकि निरंकुश शासन करते समय जब आपने किसी ऐसे व्यक्ति को हाथ में बागडोर दे दियो जो उस लायक नहीं है तो भ्रष्टाचार करना उन्होंने शुरू कर दिया मनमोहन सिंह के टाइम पर सबसे बड़ी कमी यही थी कि उन्हें कांग्रेस क्वेश्चन पूरा का पूरा का पूरा उनको सपोर्ट था नहीं देती को पति को जो लोगों ने सपोर्ट दे रहे थे वह लोग खुद भ्रष्टाचार कर रहे थे मध्य प्रदेश इस समय जैसी आप देखिए कि भारत में इस समय मोदी जी की सरकार है BJP की सरकार है तो उसे स्पष्ट बहुमत 282 सीटें अगर सारे के सारे लोगों से सब हटा लेते हैं तब भी वह अकेले अपने दम पर खड़े कर सकते हैं इसलिए BJP और जगह बिजी थी जा रही है पूरा का पूरा सपोर्ट लेकर आ रही है फुल मेजॉरिटी से आ रही है और मुझे उल्टी करने पर 4 साल में सरकार पर एक ही बिस्तर का दाग नहीं लगा तो मुझे लगता है कि गवर्नमेंट हिंदुस्तान में तीसरी पार्टी होने की वजह सबसे बड़ी कमी यही हो जाती है कि आपको मिलकर पार्टी देनी पड़ती है जब मिलकर पार्टी मनाते हैं मिलकर सरकार बनाते हैं तो सबसे बड़ी परेशानी यही आती है कि आप मैं बंटवारा होता है पावर्स गांव पावा का बटवारा होने पर अगर कोई है तो आप उसको रोक नहीं सकते क्योंकि आप रोकेंगे तो आपसे मुझे और टिफिन लेकर चुनाव द्वारा कहानी पढेंगे तो यह सबसे बड़ी कमी है इसको देखिए किस तरह से पूरा किया था तो अच्छा ही होगा धन्यवाद

mujhe nahi lagta ki purane netaon ki galti ki wajah se bhrashtachar itna badh gaya mujhe lagta hai iska sabse bada kaaran yeh hai ki jab kisi dal ki sarkar nahi ho pati hai to use bahut sare jano se hath mein aana padata hai sarkar banane ke liye aur jab yeh hi se ki jati hai to compromise kiya jata hai 2:35 ke beech mein kisi ko mantri banaya jaye ya kisi ko ek bada pad diya jaye to jab is tarah ki sarkar banti hai jisme ek party ko aap spasht bahumat nahi de paate tab is tarah ke kaand jyada ubharakar samane aate hain jaise ki manmohan singh ji ki jo do kal nikli hai usamen chahiye se doosra kaam tha ussi ne banai jati thi lekin bhrashtachar bhi usamen chahiye utana chahiye hi jyada badhta chala gaya tha kyonki nirankush shasan karte samay jab aapne kisi aise vyakti ko hath mein bagdor de diyo jo us layak nahi hai to bhrashtachar karna unhone shuru kar diya manmohan singh ke time par sabse badi kami yahi thi ki unhen chahiye congress question pura ka pura ka pura unko support tha nahi deti ko pati ko jo logo chahiye ne support de rahe the wah log khud bhrashtachar kar rahe the madhya pradesh is samay jaisi aap dekhie chahiye ki bharat mein is samay modi ji ki sarkar hai BJP ki sarkar hai to use spasht bahumat 282 seaten agar sare ke sare logo chahiye se sab hata lete hain tab bhi wah akele apne dum par khade kar sakte hain isliye BJP aur jagah busy thi ja rahi hai pura ka pura support lekar aa rahi hai full mejariti se aa rahi hai aur mujhe ulti karne par 4 saal mein sarkar par ek hi bistar ka daag nahi laga to mujhe lagta hai ki government hindustan mein teesri party hone ki wajah sabse badi kami yahi ho jati hai ki aapko milkar party deni padhti hai jab milkar party manate hain milkar sarkar banate hain to sabse badi pareshani yahi aati hai ki aap main batwara hota hai powers gav pawa ka batwara hone par agar koi hai to aap usko rok nahi sakte kyonki aap rokenge to aapse mujhe aur tiffin lekar chunav dwara kahani padhenge to yeh sabse badi kami hai isko dekhie chahiye kis tarah se pura kiya tha to accha hi hoga dhanyavad

मुझे नहीं लगता कि पुराने नेताओं की गलती की वजह से भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया मुझे लगता है इसक

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लगता कि कुछ हमारे पूरा हमारे देश के पुराने नेताओं ने ऐसा कुछ किया कि जिसकी वजह से हमें इस तरह का भारत में भ्रष्टाचार देखने को भी मिल रहा है उल्टा हम अगर पास में जाकर देखें जो भ्रष्टाचार का जो इतना अभी इतना कॉन्ट्रोवर्सी है यह पहले था ही नहीं यह जो सब चाय काफी क्लियर था और इतनी कॉन्ट्रोवर्सी इतनी लड़ाईयां इतने जो झगड़े नहीं होते थे काफी जो था पहले सिस्टम जो मौत हुआ करता था अगर हम भ्रष्टाचार की बातें कर रहे शायद अभी के जमाने में ही आरजू करंट सिचुएशन से जो तभी भ्रष्टाचार के इतने सारे एजुकेशन केस वगैरह है वह खुल कर आए होंगे अदर वाइज पहले इतने नहीं थे जो सिस्टम तो काफी क्लियर था

lagta ki kuch hamare pura hamare desh ke purane netaon ne aisa kuch kiya ki jiski wajah se hume is tarah ka bharat mein bhrashtachar dekhne ko bhi mil raha hai ulta hum agar paas mein jaakar dekhen jo bhrashtachar ka jo itna abhi itna controversy hai yeh pehle tha hi nahi yeh jo sab chai kaafi clear tha aur itni controversy itni ladaiyan itne jo jhagde nahi hote the kaafi jo tha pehle system jo maut hua karta tha agar hum bhrashtachar ki batein kar rahe shayad abhi ke jamane mein hi aaraju current situation se jo tabhi bhrashtachar ke itne sare education case vagera hai wah khul kar aaye honge other wise pehle itne nahi the jo system to kaafi clear tha

लगता कि कुछ हमारे पूरा हमारे देश के पुराने नेताओं ने ऐसा कुछ किया कि जिसकी वजह से हमें इस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये, जो पुराने नेताओं ने गलती करी थी सबसे ज्यादा वह मुझे यह लगता है कि उन्होंने थोड़ी ढील छूट दे दी थी लोगों को और जो पैसा उन्हें मिलता था देश के भलाई के लिए उन्होंने अपने मतलब के लिए इस्तेमाल करना शुरू कर दिया l एक से दूसरे से, एक दूसरे से, तीसरे से यह चीज फैलती गई और भ्रष्टाचारी से बढ़ता गया l जब लोगों ने देखा कि उनके नेता ऐसे कर रहे तो उसके नीचे के जो कर्मचारी थे उन्होंने भी यह चीज करनी शुरू करी और जो नेता थे वे उन्हें रोक नहीं सके क्योंकि वह खुद भी यह चीज कर रहे थेl तो ऐसे करते-करते यह जो साइकिल है कि बढ़ती गई और लोगों में अंदर भ्रष्टाचार फैलता गया l तो नेताओं का शुरूआत से यह गलती थी कि अगर वह खुद ही सही नहीं हो पाए तो वह दूसरों को क्या सही कर पाते और दूसरों में क्या संशोधन लेकर आ पाते हैं l तो मुझे यह लगता है कि इस चीज की वजह से जो भ्रष्टाचार परिणाम स्वरुप भारत में बहुत ज्यादा बढ़ गया l

dekhiye jo purane netaon ne galti kari thi sabse jyada wah mujhe yeh lagta hai ki unhone thodi dhil chhut de di thi logo chahiye ko aur jo paisa unhen chahiye milta tha desh ke bhalai ke liye unhone apne matlab ke liye istemal karna shuru kar diya l ek se dusre chahiye se ek dusre chahiye se tisare se yeh cheez failati gayi aur bhrashtachaari se badhta gaya l jab logo chahiye ne dekha ki unke neta aise kar rahe to uske niche ke jo karmchari the unhone bhi yeh cheez karni shuru kari aur jo neta the ve unhen chahiye rok nahi sake kyonki wah khud bhi yeh cheez kar rahe the to aise karte karte yeh jo cycle hai ki badhti gayi aur logo chahiye mein andar bhrashtachar failata gaya l to netaon ka shuruat se yeh galti thi ki agar wah khud hi sahi nahi ho paye to wah dusro ko kya sahi kar paate aur dusro mein kya sanshodhan lekar aa paate hain l to mujhe yeh lagta hai ki is cheez ki wajah se jo bhrashtachar parinam swarup bharat mein bahut jyada badh gaya l

देखिये, जो पुराने नेताओं ने गलती करी थी सबसे ज्यादा वह मुझे यह लगता है कि उन्होंने थोड़ी ढ

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user
2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हमारे पुराने नेताओं ने क्या किया क्या नहीं किया हमारे पुराने नेताओं ने अच्छा भी काम किया और गलत लिख दिया और बात चल रही कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध भ्रष्टाचार करें और भ्रष्टाचार जो है वह पुराने नेताओं के समय से आती जा रही है तो मैं बस यही कहूंगा कि पहले जो है सोशल मीडिया नहीं था लोग 112 चैनल वगैरा धरती भी थे तो लोग दूर-दूर से आते थे और उसके टीवी पर अपना इंटरव्यू करा देते तो हम लोग तो पहुंचने ही सपोर्ट देखिए मैं मिथुन की मूवी ऑल तो ठीक है मिथुन की मूवी जो एक डेढ़ साल हो जाती थी तब जाकर हम देखते थे लेकिन अब ऐसा सोशल मीडिया की बुआ और नेट नेट क्यों है इतना बढ़िया आगे आगे आ चुका है कि आज रिलीज मतलब फ्राइडे को रिलीज होती है और हम सैटरडे को Vidmate डाउनलोड कर लेते तू बस यह है कि पुराने नेताओं में अगर वह गलत भी करते थे तो मुझे मालूम नहीं पढ़ पाता था मुझे मालूम नहीं होता था और हम उसका बहिष्कार नहीं कर पाते थे उसका हमको एक्टिवेट नहीं कर पाते थे उस पर कुछ कह नहीं पाते थे इसलिए जो है भारत में इतना करप्शन हो लेकिन आज के नेताओं को सोचनी चाहिए ना कि आज हम जिस तरह से राजनीति कर रहे हैं मान सपोर्टेड हम भ्रष्टाचार कर रहे तो जनता को मालूम होगी मैंने कहा कि मिथुन की मूवी जो आती थी तो मैं एक बेहतर के बाद तक लेकिन आज पद्मावती रिलीज हुई तो मैं सॉरी जुम्मे रात को रिलीज हुई तो मैं जुम्मा को देख लूंगा फ्राइडे को देख लूंगा संडे को देख लूंगा को सोचनी चाहिए कि आप जो है लोगों को सोशल मीडिया पर एक्टिव हो चुका है इसलिए करप्शन करने से पहले नहीं हो अब जो नेता है उसको करप्शन नहीं करना चाहिए और उस पर ध्यान देना

dekhie chahiye hamare purane netaon ne kya kiya kya nahi kiya hamare purane netaon ne accha bhi kaam kiya aur galat likh diya aur baat chal rahi ki bhrashtachar ke viruddha bhrashtachar kare chahiye aur bhrashtachar jo hai wah purane netaon ke samay se aati ja rahi hai to main bus yahi kahunga ki pehle jo hai social media nahi tha log 112 channel vagera dharti bhi the to log dur dur se aate the aur uske tv par apna interview kra dete to hum log to pahuchne hi support dekhie chahiye main mithun ki movie all to theek hai mithun ki movie jo ek dedh saal ho jati thi tab jaakar hum dekhte the lekin ab aisa social media ki buaa aur net net kyu hai itna badhiya aage aage aa chuka hai ki aaj release matlab friday ko release hoti hai aur hum saitarade ko Vidmate download kar lete tu bus yeh hai ki purane netaon mein agar wah galat bhi karte the to mujhe maloom nahi padh pata tha mujhe maloom nahi hota tha aur hum uska bahishkar nahi kar paate the uska hamko activate nahi kar paate the us par kuch keh nahi paate the isliye jo hai bharat mein itna corruption ho lekin aaj ke netaon ko sochani chahiye na ki aaj hum jis tarah se rajneeti kar rahe hain maan supported hum bhrashtachar kar rahe to janta ko maloom hogi maine kaha ki mithun ki movie jo aati thi to main ek behtar ke baad tak lekin aaj padmavati release hui to main sorry jumme raat ko release hui to main jumma ko dekh lunga friday ko dekh lunga sunday ko dekh lunga ko sochani chahiye ki aap jo hai logo chahiye ko social media par active ho chuka hai isliye corruption karne se pehle nahi ho ab jo neta hai usko corruption nahi karna chahiye aur us par dhyan dena

देखिए हमारे पुराने नेताओं ने क्या किया क्या नहीं किया हमारे पुराने नेताओं ने अच्छा भी काम

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!