जातिवाद करने वालों को कैसी सज़ा मिलनी चाहिए?...


play
user

Rahul Bharat

राजनैतिक विश्लेषक

1:41

Likes  82  Dislikes    views  1524
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Neha S

UPSC कोच

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह जातिवाद करने वाले को कैसे सजा मिलनी चाहिए बाकी जो मुद्दा है बहुत बड़ा है क्योंकि जातिवाद के लाना बहुत सारे तरीके से जातिवाद को चलाया जा सकता और रेलो के नाते भी है इसके लिए जुकाम होने से क्या सजा रखी हुई है वह जेल है और साथ में उनके अमाउंट कितना अमाउंट तुम पे करना पड़ेगा अब शुरू है कितना फॉलो करते हैं मेरा पॉइंट यहां पर यह है यह है कि हमें जागरुक होकर भी पता करना चाहिए कि कोई भी चीज क्योंकि हम कोई भी चीज ऐसे लोगों के सामने ना हो जाए जो जातिवाद को बढ़ावा दें क्योंकि जाते वक्त आप कहां पर किस तरीके से सर्दी हम नहीं कह सकते तो लोगों को बहुत ही सोच समझकर बात करनी चाहिए वह चाहे किसी भी कास्ट से बिलॉन्ग को बिलॉन्ग करते हैं क्योंकि और मनीष देने से अच्छा पनिशमेंट गवर्मेंट देती है बट बैटर के हम खुद से रोकथाम

dekhiye yah jaatiwad karne waale ko kaise saza milani chahiye baki jo mudda hai bahut bada hai kyonki jaatiwad ke lana bahut saare tarike se jaatiwad ko chalaya ja sakta aur relo ke naate bhi hai iske liye zukam hone se kya saza rakhi hui hai vaah jail hai aur saath mein unke amount kitna amount tum pe karna padega ab shuru hai kitna follow karte hain mera point yahan par yah hai yah hai ki hamein jagruk hokar bhi pata karna chahiye ki koi bhi cheez kyonki hum koi bhi cheez aise logo ke saamne na ho jaaye jo jaatiwad ko badhawa de kyonki jaate waqt aap kahaan par kis tarike se sardi hum nahi keh sakte toh logo ko bahut hi soch samajhkar baat karni chahiye vaah chahen kisi bhi caste se Belong ko Belong karte hain kyonki aur manish dene se accha punishment government deti hai but better ke hum khud se roktham

देखिए यह जातिवाद करने वाले को कैसे सजा मिलनी चाहिए बाकी जो मुद्दा है बहुत बड़ा है क्योंकि

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  198
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाय गाइस आपने क्वेश्चन किया कि जातिवाद करने वालों की सजा मिलनी चाहिए भाई जातिवाद हमारे ख्याल से तू कहीं आजकल होता नहीं है अगर आपको लगता भी होता है तो इससे पहले भी मैं एक वीडियो में कह चुका हूं भाई जातिवाद जो है वह केवल रह गया है गरीबी अमीरी का अगर आपके साथ कभी ऐसा लगा हो कभी अफजल लगा होगी अब जातिवाद किया जा रहा है तो भैया एक बार अपने कार्य में आप सफल हो जाएगा एक अच्छी लगती पंजाबी गायक मैं तो जानता हूं गरीब है चाहे आप कैसे हैं आप अभी जाएंगे तो आपके साथ जातिवाद होगा गरीबी अमीरी का ना कि आप किस कास्ट के हैं कास्ट को लेकर तो रूरल एरिया कुछ हो चुका है कि अब जातिवाद नहीं मानता है सब कुछ सामान है और जातिवाद जातिवाद का रह गया भैया को केवल आपकी अमीरी गरीबी का अमीर बन जाएगा आपसे कोई कभी जाती पूछेगा

hi guys aapne question kiya ki jaatiwad karne walon ki saza milani chahiye bhai jaatiwad hamare khayal se tu kahin aajkal hota nahi hai agar aapko lagta bhi hota hai toh isse pehle bhi main ek video mein keh chuka hoon bhai jaatiwad jo hai vaah keval reh gaya hai garibi amiri ka agar aapke saath kabhi aisa laga ho kabhi afzal laga hogi ab jaatiwad kiya ja raha hai toh bhaiya ek baar apne karya mein aap safal ho jaega ek achi lagti punjabi gayak main toh jaanta hoon garib hai chahen aap kaise hain aap abhi jaenge toh aapke saath jaatiwad hoga garibi amiri ka na ki aap kis caste ke hain caste ko lekar toh rural area kuch ho chuka hai ki ab jaatiwad nahi manata hai sab kuch saamaan hai aur jaatiwad jaatiwad ka reh gaya bhaiya ko keval aapki amiri garibi ka amir ban jaega aapse koi kabhi jaati puchhega

हाय गाइस आपने क्वेश्चन किया कि जातिवाद करने वालों की सजा मिलनी चाहिए भाई जातिवाद हमारे ख्य

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user

Manish

Political Columnist

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातिवाद करने वाले को एक कठिन से कठिन सजा देनी चाहिए लेकिन सिर्फ कानून बनाने से वह समस्या का समाधान हो जाएगा ऐसा नहीं है हमारे पास बहुत सी कानून है जैसे कि दहेज प्रथा दहेज प्रथा के लिए कड़ा कानून है लेकिन हम यह नहीं कह सकते कि तेज प्रताप पूरी तरह से हमारे समाज से जा चुकी है ऐसा नहीं है कि कभी भी लोग दहेज को प्रोत्साहित करते हैं लेकिन उसको वह प्लीज़ सपोर्ट नहीं करते लेकिन अंदर ही अंदर दहेज प्रथा अभी भी हमारे समाज में पूरी तरह से है जातिवाद जातिवाद एक बहुत बड़ी समस्या है क्योंकि हमारी रूढ़िवादी सोच सोच को आगे बढ़ाता है वह सब उसको चेंज चेंज करने की बहुत बड़ी जरूरत है जो कि मुझसे कि वो रानी चेंज लाने के लिए हम को लोगों की सोच को बदलना होगा लोगों को जागरुक करना होगा जब तक हम यह नहीं करेंगे तो हमें कानून लाने से हम ही चाहेंगे कि जातिवाद चले जाएगा ऐसा नहीं होगा 21 सालों से चली आ रही है बहुत बड़ी समस्या है इसका समाधान सिर्फ कानून से नहीं होगा हमें समाज के साथ उठना बैठना होगा हमें समाज के साथ उसको बहस करना होगा जिसके कारण हम एक एक एक कमेंट पॉइंट पर आ सकें एक SIM अभी मैं आ सके कि यह दहेज यह जातिवाद अपने हमारे समाज के लिए हमारे भविष्य के लिए अच्छा नहीं है हम इसको चेंज करना चाहिए हम सब एक हैं हम हम जिस देश के नागरिक हैं हम एक हम इस देश के आम नागरिक हैं सारे एक समान हम सब को एक समान से देखना चाहिए जातिवाद से हम आगे नहीं बढ़ सकते हमें इस देश को आगे बढ़ाना है तो हमें सब को एक साथ चलकर साथ लेकर चलना होगा हमको सबको एक एक कफ़न पार्क में चलना होगा जिसके कारण हम देश देश को आगे बढ़ाएं

jaatiwad karne waale ko ek kathin se kathin saza deni chahiye lekin sirf kanoon banane se vaah samasya ka samadhan ho jaega aisa nahi hai hamare paas bahut si kanoon hai jaise ki dahej pratha dahej pratha ke liye kada kanoon hai lekin hum yah nahi keh sakte ki tez pratap puri tarah se hamare samaj se ja chuki hai aisa nahi hai ki kabhi bhi log dahej ko protsahit karte hai lekin usko vaah please support nahi karte lekin andar hi andar dahej pratha abhi bhi hamare samaj mein puri tarah se hai jaatiwad jaatiwad ek bahut baadi samasya hai kyonki hamari rudhivadi soch soch ko aage badhata hai vaah sab usko change change karne ki bahut baadi zarurat hai jo ki mujhse ki vo rani change lane ke liye hum ko logo ki soch ko badalna hoga logo ko jagruk karna hoga jab tak hum yah nahi karenge toh hamein kanoon lane se hum hi chahenge ki jaatiwad chale jaega aisa nahi hoga 21 salon se chali aa rahi hai bahut baadi samasya hai iska samadhan sirf kanoon se nahi hoga hamein samaj ke saath uthna baithana hoga hamein samaj ke saath usko bahas karna hoga jiske karan hum ek ek ek comment point par aa sake ek SIM abhi main aa sake ki yah dahej yah jaatiwad apne hamare samaj ke liye hamare bhavishya ke liye accha nahi hai hum isko change karna chahiye hum sab ek hai hum hum jis desh ke nagarik hai hum ek hum is desh ke aam nagarik hai saare ek saman hum sab ko ek saman se dekhna chahiye jaatiwad se hum aage nahi badh sakte hamein is desh ko aage badhana hai toh hamein sab ko ek saath chalkar saath lekar chalna hoga hamko sabko ek ek kafan park mein chalna hoga jiske karan hum desh desh ko aage badhayen

जातिवाद करने वाले को एक कठिन से कठिन सजा देनी चाहिए लेकिन सिर्फ कानून बनाने से वह समस्या क

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से जो भी हो और लोग जाते बात करते सबसे पहले तुम क्यों की नौकरी से निकाल देना चाहिए और उनमें जीमेल में कम से कम 2 से 20 साल तक लेना चाहिए कि जातिवाद से देश में हिंसा फेसिअल देश में एकता बनी नहीं रहती है तो मेरे सबसे करना चाहिए अगर कोई भी अंग राजनेताओं या फिर पॉलिटिशियन जातिवाद करता है तो मैं वह पार्टी से निकाल देना चाहिए और उन पर सबसे सत्य कड़ी से कड़ी कार्रवाई करके उन्हें बड़ी सजा मिलनी चाहिए

mere hisab se jo bhi ho aur log jaate baat karte sabse pehle tum kyon ki naukri se nikaal dena chahiye aur unmen gmail mein kam se kam 2 se 20 saal tak lena chahiye ki jaatiwad se desh mein hinsa facial desh mein ekta bani nahi rehti hai toh mere sabse karna chahiye agar koi bhi ang rajnetao ya phir politician jaatiwad karta hai toh main vaah party se nikaal dena chahiye aur un par sabse satya kadi se kadi karyawahi karke unhe badi saza milani chahiye

मेरे हिसाब से जो भी हो और लोग जाते बात करते सबसे पहले तुम क्यों की नौकरी से निकाल देना चाह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी जैसा की हम लोग जानते हैं हमारे देश के अंदर जातिवाद की समस्या आज की नहीं है हजारों साल पहले से ही यह जातिवाद की समस्या चली आ रही है आज भी हम उस स्तर पर नहीं पहुंच पाए कि हम अपने समाज को जातिवाद से बाहर निकाल सके आज भी हमारा समाज जातिवाद की वीडियो में झगड़ा हुआ है जिस तरह से हम अगर रिमोट एरिया में जाते हैं गांव में जाते तू वहां जिंदगी का सिस्टम में बहुत ज्यादा पसंद करता है हालांकि शहरों में जब हम लोग करते तो उसमें काफी कमी आई है तो मुझे लगता है कि आज हमारे देश में सबसे ज्यादा किसी चीज की जरूरत है वह दो चीजों की एक तो पापुलेशन कंट्रोल दूसरे जातिवाद को खत्म करना मुझे लगता है कि सरकार को जातिवाद को खत्म करने के लिए सख्त से सख्त कदम उठाने चाहिए ऐसे व्यक्ति जो जातिवाद को बढ़ावा देते हैं उनके खिलाफ एक कानून ला कर सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए ताकि हमारे देश के अंदर किसी भी व्यक्ति के साथ कोई भी विधवा बना हो सके

vicky jaisa ki hum log jante hain hamare desh ke andar jaatiwad ki samasya aaj ki nahi hai hazaro saal pehle se hi yah jaatiwad ki samasya chali aa rahi hai aaj bhi hum us sthar par nahi pohch paye ki hum apne samaj ko jaatiwad se bahar nikaal sake aaj bhi hamara samaj jaatiwad ki video mein jhadna hua hai jis tarah se hum agar remote area mein jaate hain gaon mein jaate tu wahan zindagi ka system mein bahut zyada pasand karta hai halaki shaharon mein jab hum log karte toh usme kaafi kami I hai toh mujhe lagta hai ki aaj hamare desh mein sabse zyada kisi cheez ki zarurat hai vaah do chijon ki ek toh population control dusre jaatiwad ko khatam karna mujhe lagta hai ki sarkar ko jaatiwad ko khatam karne ke liye sakht se sakht kadam uthane chahiye aise vyakti jo jaatiwad ko badhawa dete hain unke khilaf ek kanoon la kar sakht se sakht saza di jani chahiye taki hamare desh ke andar kisi bhi vyakti ke saath koi bhi vidva bana ho sake

विकी जैसा की हम लोग जानते हैं हमारे देश के अंदर जातिवाद की समस्या आज की नहीं है हजारों साल

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  206
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातिवाद करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए क्योंकि सबसे पहली बात तो यह है किसी भी इंसान को कोई हक नहीं है कि वह दूसरे इंसान को नीचा दिखाए उसकी जाति की वजह से | जो लोग ऐसा करते हैं उन लोग को या फिर कारावास की सजा मिलनी चाहिए या फिर ज्यादा से ज्यादा जुर्माना लगना चाहिए ताकि उनको इक सबक मिले और वह यह सब करने की हिम्मत फिर से ना करें

jaatiwad karne walon ko kadi se kadi saza milani chahiye kyonki sabse pehli baat toh yah hai kisi bhi insaan ko koi haq nahi hai ki vaah dusre insaan ko nicha dekhiye uski jati ki wajah se jo log aisa karte hain un log ko ya phir karavas ki saza milani chahiye ya phir zyada se zyada jurmana lagna chahiye taki unko ek sabak mile aur vaah yah sab karne ki himmat phir se na karen

जातिवाद करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए क्योंकि सबसे पहली बात तो यह है किसी भी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  198
WhatsApp_icon
user

Bari khan

Practicing journalist

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी बिल्कुल बहुत ही ज्यादा कठिन सजा देनी चाहिए इन को कैसे बा मशक्कत के आगे जाकर क्योंकि इस तरह से जो लोग जातिवाद के नाम पर लोगों को जो असामाजिकता फ़ैलाने की कोशिश करते हैं उससे बहुत सारी परेशानी हमारे देश में आते हैं जो हर देश की तरक्की मूल की जो तरक्की है वह लोग जाते हैं लोग अपने आप में लगने लगते हैं और जो मुद्दे हैं उनसे बात होने की बजाए धर्म पर बात करने लगती है और उससे जो आसपास का सौहार्द वाला माहौल में आता है वह भी चला जाता है तो मेरे ख्याल से इस तरह के लोगों को बहुत ही कड़ी सजा देनी चाहिए ताकि सबक मिले और कोई और ऐसा न करें

vicky bilkul bahut hi zyada kathin saza deni chahiye in ko kaise ba mashakkat ke aage jaakar kyonki is tarah se jo log jaatiwad ke naam par logo ko jo asamajikta failane ki koshish karte hain usse bahut saree pareshani hamare desh mein aate hain jo har desh ki tarakki mul ki jo tarakki hai vaah log jaate hain log apne aap mein lagne lagte hain aur jo mudde hain unse baat hone ki bajaye dharm par baat karne lagti hai aur usse jo aaspass ka sauhaard vala maahaul mein aata hai vaah bhi chala jata hai toh mere khayal se is tarah ke logo ko bahut hi kadi saza deni chahiye taki sabak mile aur koi aur aisa na karen

विकी बिल्कुल बहुत ही ज्यादा कठिन सजा देनी चाहिए इन को कैसे बा मशक्कत के आगे जाकर क्योंकि इ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!