क्या मुकेश अम्बानी का अपने भाई अनिल अम्बानी से RCom कि संपत्ति खरीदना एक उचित व्यावसायिक निर्णय है?...


play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकिरण क्या हुआ सबसे पहले यह समझना जरूरी है मैसेज में क्या है की न्यूज़ में जो आ रहा है वह भेजो पता चला है उसे तो यह है कि जो आर का काम की जो संपत्तियों के मोनेटाइजेशन की जो प्रक्रिया अर्थ उनके करदाताओं के लिए आवश्यक तो उसकी प्रक्रिया को चलाने के लिए जिन्होंने उनके जो कर जाता था उन्होंने क्या किया कि SBI कैपिटल मार्केट किया उसको दो चरणों की बोली प्रक्रिया की सफल होने के बाद दो प्रतियों में बोली थी जिसके पास जो भी जाता के रूप में रिलायंस जियो तो इसमें प्रॉब्लम क्या है आपकी एक कंपनी परिषद परिसंपत्तियों को रणनीतिक प्रवृत्ति है बेसिकली एक घर से दूसरे घर में गए रिश्ते चाहे जैसे भी हो लेकिन अंबानी प्रॉपर्टी है वह अंबानी के पास नहीं इस जगह से जाकर दूसरी जगह पर हो कि बाहर हो सकता है कि उन दोनों भाइयों के बीच में इंटरनल नहीं कोई म्यूच्यूअल अंडरस्टैंडिंग हुई हुई म्यूच्यूअल कोई चीज हुआ उसके बारे में भी मैं नहीं पता वह मैं आगे जाकर पता चलेगा

vikiran kya hua sabse pehle yah samajhna zaroori hai massage mein kya hai ki news mein jo aa raha hai vaah bhejo pata chala hai use toh yah hai ki jo rss ka kaam ki jo sampattiyon ke monetaijeshan ki jo prakriya arth unke kardataon ke liye aavashyak toh uski prakriya ko chalane ke liye jinhone unke jo kar jata tha unhone kya kiya ki SBI capital market kiya usko do charanon ki boli prakriya ki safal hone ke baad do pratiyon mein boli thi jiske paas jo bhi jata ke roop mein reliance jio toh isme problem kya hai aapki ek company parishad parisampattiyon ko rannitik pravritti hai basically ek ghar se dusre ghar mein gaye rishte chahen jaise bhi ho lekin ambani property hai vaah ambani ke paas nahi is jagah se jaakar dusri jagah par ho ki bahar ho sakta hai ki un dono bhaiyon ke beech mein internal nahi koi mutual understanding hui hui mutual koi cheez hua uske bare mein bhi main nahi pata vaah main aage jaakar pata chalega

विकिरण क्या हुआ सबसे पहले यह समझना जरूरी है मैसेज में क्या है की न्यूज़ में जो आ रहा है वह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे नहीं लगता कि इस तरह का काम वाम मुकेश अंबानी जी को करना चाहिए था हालांकि हम लोग जान जाएंगे आज जो रिलेशन मुकेश अंबानी अनिल अंबानी के बीच में वह उतनी अच्छी नहीं है जहां से 600 साल पहले हुआ करते थे तुम दोनों में हर चीज का बटवारा हो गया उसके बाद से फैमिली के देश है उतने कॉर्डियल नहीं रहे तो मुझे लगता है कि हालांकि मुकेश अंबानी जिस देश के सबसे सबसे अमीर व्यक्ति में से आते हैं तो और आजकल अनिल अंबानी उस लेवल पर नहीं है तो मुझे लगता है कि एक भाई होने के नाते उनको भाई की हेल्प करनी चाहिए ना कि उनकी प्रॉपर्टी को खरीदना चाहिए

lekin mujhe nahi lagta ki is tarah ka kaam vam mukesh ambani ji ko karna chahiye tha halanki hum log jaan jaenge aaj jo relation mukesh ambani anil ambani ke beech mein vaah utani achi nahi hai jahan se 600 saal pehle hua karte the tum dono mein har cheez ka batwara ho gaya uske baad se family ke desh hai utne kardiyal nahi rahe toh mujhe lagta hai ki halanki mukesh ambani jis desh ke sabse sabse amir vyakti mein se aate hain toh aur aajkal anil ambani us level par nahi hai toh mujhe lagta hai ki ek bhai hone ke naate unko bhai ki help karni chahiye na ki unki property ko kharidna chahiye

लेकिन मुझे नहीं लगता कि इस तरह का काम वाम मुकेश अंबानी जी को करना चाहिए था हालांकि हम लोग

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  202
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अनिल अंबानी जी के ऊपर अभी फोटो 5000 करोड़ रुपीस का डेट है उनके ऊपर और अब जब मुकेश अंबानी ने जो उनका रिलायंस कम्युनिकेशन का जो पैसे से वह खरीद ली है तो उनके ऊपर से 6000 करोड़ टैक्स मुझे नहीं लगता कि इसमें कुछ गलत है क्योंकि मुकेश अंबानी ने यह जो खरीदा है बिजनेस में प्रॉफिट प्रक्रिया के तहत ही खरीदा है बोली लगाई गई उन्होंने ज्यादा बोली उन्होंने दी ज्यादा पैसे उन्होंने दिया तूने वह वापस ले लिया और मुझे नहीं लगता कि बिजनेस में यह सारे रिश्ते वगैरा देखने चाहिए मेरे हिसाब से क्योंकि अगर आप बजट में बाबू को जाएंगे तो हम तरस नहीं चला पाएंगे और दूसरी यह बात भी है कि यह जो कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन है एक मोबाइल से दूसरे अंबानी के पास ही गई है तो यह बसंत शामली के अंदर ही है और रियल वजह क्या है किसी की यादों में अभी पता भी नहीं है अभी हमें सिर्फ इतना ही पता है कि उन्होंने को बसेस खरीदा है और अनिल अंबानी ने भेजो और अनिल अंबानी ने खुद कहा है कि उनका जो फ़र्ज़ है वह बहुत अपसेट 6000 करोड़ रह जाएगा जो पहले फोटो 5000 45000 करोड़ था तो मुझे नहीं लगता कि इसमें कुछ गलत है कि मुकेश अंबानी ने खरीदा हां मैं जरूर आउंगी की शक हो सकता था कि वह बिना भी उनकी वैसे ही हेल्प कर देते तो ज्यादा अच्छा होता क्योंकि उनके भाई हैं बट कुछ समय से उनके रिश्ते अच्छे नहीं है आप सिर्फ से तो अगर उन्होंने अब ऐसे भी अगर अगर मुकेश अंबानी नहीं होते तो अनिल अंबानी किसी को यह भेजते ही अपना जो भी कर के लिए तो अगर कोई और हो तो उसे अच्छा वह मुकेश अंबानी हूं तो मुझे तो इसमें कुछ गलत लगता नहीं है

dekhiye anil ambani ji ke upar abhi photo 5000 crore rupees ka date hai unke upar aur ab jab mukesh ambani ne jo unka reliance communication ka jo paise se vaah kharid li hai toh unke upar se 6000 crore tax mujhe nahi lagta ki isme kuch galat hai kyonki mukesh ambani ne yah jo kharida hai business mein profit prakriya ke tahat hi kharida hai boli lagayi gayi unhone zyada boli unhone di zyada paise unhone diya tune vaah wapas le liya aur mujhe nahi lagta ki business mein yah saare rishte vagaira dekhne chahiye mere hisab se kyonki agar aap budget mein babu ko jaenge toh hum taras nahi chala payenge aur dusri yah baat bhi hai ki yah jo company reliance communication hai ek mobile se dusre ambani ke paas hi gayi hai toh yah basant shamili ke andar hi hai aur real wajah kya hai kisi ki yaadon mein abhi pata bhi nahi hai abhi hamein sirf itna hi pata hai ki unhone ko buses kharida hai aur anil ambani ne bhejo aur anil ambani ne khud kaha hai ki unka jo farz hai vaah bahut upset 6000 crore reh jaega jo pehle photo 5000 45000 crore tha toh mujhe nahi lagta ki isme kuch galat hai ki mukesh ambani ne kharida haan main zaroor aungi ki shak ho sakta tha ki vaah bina bhi unki waise hi help kar dete toh zyada accha hota kyonki unke bhai hain but kuch samay se unke rishte acche nahi hai aap sirf se toh agar unhone ab aise bhi agar agar mukesh ambani nahi hote toh anil ambani kisi ko yah bhejate hi apna jo bhi kar ke liye toh agar koi aur ho toh use accha vaah mukesh ambani hoon toh mujhe toh isme kuch galat lagta nahi hai

देखिए अनिल अंबानी जी के ऊपर अभी फोटो 5000 करोड़ रुपीस का डेट है उनके ऊपर और अब जब मुकेश अं

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस दिल से जियो मार्केट का नंबर वन प्लेयर नहीं बन जाएगा इससे जिओ को कुछ कॉटेज में फायदा होगा पर एयरटेल और वोडाफोन आईडिया के कुछ की एरियास जैसे स्पेक्ट्रम होल्डिंग सब्सक्राइबर बेस में जिओ फिर भी पीछे रह जाएगा यह अपने अन्य प्रतिनिधियों की तुलना में जियो को एक हानिकारक स्थिति में डालता है लेकिन रिलायंस जिओ 15 करोड़ के करीब 1 सब्सक्राइबर बेस के साथ भारत में सबसे तेजी से बढ़ रही टेलीकॉम कंपनी है इस दिल के जरिए रिलायंस को पोरबंदर स्पेक्ट्रम और 4330 टेलीकॉम टॉवर्स और देशभर में फाइबर ऑप्टिक नेटवर्क तक मिल जाएगी जैसे जैसे टेक्नोलॉजी 5जी और सेठ जी की तरफ बढ़ रही है वैसे-वैसे हायर ऑप्टिकल फाइबर फुटप्रिंट की महत्वपूर्णता भी बढ़ रही है हालांकि अभी जियो सेवर की तरह लग रहा है इस दिल से जियो की खुद की भी टेलीकॉम सेक्टर में पोजीशन मजबूत हो रही है तो मुझे लगता है कि यह निर्णय उचित व्यवस्था एक निर्णय है

dekhiye is dil se jio market ka number van player nahi ban jaega isse jio ko kuch cottage mein fayda hoga par airtel aur vodafone idea ke kuch ki eriyas jaise spectrum holding subscriber base mein jio phir bhi peeche reh jaega yah apne anya pratinidhiyo ki tulna mein jio ko ek haanikarak sthiti mein dalta hai lekin reliance jio 15 crore ke kareeb 1 subscriber base ke saath bharat mein sabse teji se badh rahi telecom company hai is dil ke jariye reliance ko porbandar spectrum aur 4330 telecom towers aur deshbhar mein fiber Optic network tak mil jayegi jaise jaise technology ji aur seth ji ki taraf badh rahi hai waise waise hire optical fiber futaprint ki mahatwapurnata bhi badh rahi hai halanki abhi jio sevar ki tarah lag raha hai is dil se jio ki khud ki bhi telecom sector mein position mazboot ho rahi hai toh mujhe lagta hai ki yah nirnay uchit vyavastha ek nirnay hai

देखिए इस दिल से जियो मार्केट का नंबर वन प्लेयर नहीं बन जाएगा इससे जिओ को कुछ कॉटेज में फाय

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
anil ambani ki sampatti ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!