क्या बीजेपी सरकार के बाद SC,ST,OBC पर अत्याचार नहीं बढ़े है?...


play
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी सर मुझे ऐसा बिल्कुल भी नहीं लगता है कि भाजपा सरकार आने के बाद SC ST OBC पर अत्याचार बढ़े हैं भाजपा सरकार ने जब से सत्ता में आई है उन्होंने कई सारे डिवीजन नहीं है उन्होंने एक भी ऐसा डिसीजन नहीं लिया जो कि SC ST OBC के विरोध हो तो मुझे कहीं नहीं लगता है यह जो बस बातें और की अत्याचार पढ़ाई सिर्फ पोजीशन पार्टी और कुछ लोग हैं उन लोगों ने बनाई है और वह भी अफवाह फैलाते हैं जैसे आपको पता है अभी गुजरात में इलेक्शन से तो जो अपोजिशन पार्टी के से कांग्रेस हो गई और 12 पार्टी और चाहिए उन्होंने ऐसा बोला कि आपको बता एक दलित दलित पर अत्याचार हुआ था और आंदोलन हुआ था कि उन पर जो गाय की चर्बी की स्किन निकालने का ऐसा कुछ मामला हुआ था तो उस पर भी ऐसा क्वेश्चन उठाएगा कि बीजेपी दलितों के पेपर में नहीं है लेकिन मुझे जान ऐसा कुछ भी नहीं है और जो कि जिन जिन लोगों ने उन दलित को मारा था पिटाई लगाई थी वह एक गौ रक्षक के ग्रुप से जुड़े हुए थे तुम मुझे नहीं लगता कि bjp का इस से कोई नाता था यह सब लोगों की बात है फैलाई हुई और उन्होंने कभी ऐसा कोई डिसीजन नहीं लिया ऐसा कोई भड़काऊ कमेंट नहीं डाला है जिससे रोज बढ़ाओ और वह प्रपोज करते हुए SC ST OBC का वह सारे धर्मों के लिए कॉमन काम कर रहे हैं यह बस अपोजिशन पार्टी का काम है और जो भारत के कुछ लोग हैं जो दंगा फैलाना चाहते हैं और ऐसी बातें करना चाहते हैं थैंक यू

vicky sir mujhe aisa bilkul bhi nahi lagta hai ki bhajpa sarkar aane ke BA ad SC ST OBC par atyachar BA dhe hai bhajpa sarkar ne jab se satta mein I hai unhone kai saare division nahi hai unhone ek bhi aisa decision nahi liya jo ki SC ST OBC ke virodh ho toh mujhe kahin nahi lagta hai yah jo bus BA tein aur ki atyachar padhai sirf position party aur kuch log hai un logo ne BA nai hai aur vaah bhi afavah failate hai jaise aapko pata hai abhi gujarat mein election se toh jo opposition party ke se congress ho gayi aur 12 party aur chahiye unhone aisa bola ki aapko BA ta ek dalit dalit par atyachar hua tha aur andolan hua tha ki un par jo gaay ki charbi ki skin nikalne ka aisa kuch maamla hua tha toh us par bhi aisa question uthayega ki bjp dalito ke paper mein nahi hai lekin mujhe jaan aisa kuch bhi nahi hai aur jo ki jin jin logo ne un dalit ko mara tha pitai lagayi thi vaah ek gau rakshak ke group se jude hue the tum mujhe nahi lagta ki bjp ka is se koi nataa tha yah sab logo ki BA at hai failai hui aur unhone kabhi aisa koi decision nahi liya aisa koi bhadkau comment nahi dala hai jisse roj BA dhao aur vaah propose karte hue SC ST OBC ka vaah saare dharmon ke liye common kaam kar rahe hai yah bus opposition party ka kaam hai aur jo bharat ke kuch log hai jo danga faillana chahte hai aur aisi BA tein karna chahte hai thank you

विकी सर मुझे ऐसा बिल्कुल भी नहीं लगता है कि भाजपा सरकार आने के बाद SC ST OBC पर अत्याचार ब

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  189
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं ऐसा नहीं है बल्कि अनुसूचित जाति और जनजाति के सदस्यों के खिलाफ होने वाले उत्पीड़न के मामलों में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने मुआवजे की रकम बढ़ाने की अधिसूचना जारी कर दी है नए कानून के अनुसार ऐसी और ST के खिलाफ मामलों के लिए अलग से कोर्ट बनाने का भी प्रावधान है चार्जशीट दाखिल करने के बाद 2 महीने के अंदर यह कोर्ट सुनवाई पूरी कर लेंगे BJP सरकार ने ऐसी और SC ST OBC के खिलाफ ऐसा कोई कदम नहीं उठाए हैं ना ही कभी किसी नेता ने इसकी इनके लिए कुछ कहा या किया है

ji nahi aisa nahi hai BA lki anusuchit jati aur janjaati ke sadasyon ke khilaf hone waale utpidan ke mamlon mein samajik nyay evam adhikarita mantralay ne muawaje ki rakam BA dhane ki adhisuchana jaari kar di hai naye kanoon ke anusaar aisi aur ST ke khilaf mamlon ke liye alag se court BA naane ka bhi pravadhan hai chargesheet dakhil karne ke BA ad 2 mahine ke andar yah court sunvai puri kar lenge BJP sarkar ne aisi aur SC ST OBC ke khilaf aisa koi kadam nahi uthye hai na hi kabhi kisi neta ne iski inke liye kuch kaha ya kiya hai

जी नहीं ऐसा नहीं है बल्कि अनुसूचित जाति और जनजाति के सदस्यों के खिलाफ होने वाले उत्पीड़न क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!