अच्छा इंसान बनने के लिए मेरे पास कौन से गुण होने चाहिएँ?...


user

Dr. Jitubhai Shah

Friend, Philosopher and Guide

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अच्छा इंसान बनने के लिए सबसे पहला गोंजो जरूरी है मेरे ख्याल से वह ग्रिटीट्यूड का भाव होना चाहिए जीवन में हमको जो कुछ मिला है इसके लिए हम जितना ग्रिटीट्यूड रखेंगे आभार का भाव रखेंगे इतना हम खुश रहेंगे और हमारे जीवन में ज्यादा ज्यादा अच्छी बातें बनेगी किसी का उपकार हम को किसी भी परिस्थिति में नहीं भूलना चाहिए और किसी ने जो हमारे प्रकार किया है वह हमको भूल जाना चाहिए कि घाटी रोड का भाव होना चाहिए दूसरा स्पेलिंग फेस रखना चाहिए किसी को भी अगर छोटी सी भी मदद कर सकते हैं तो मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए प्लीज गो की भावना होनी चाहिए शांत रहना हमको सीखना चाहिए गोवा शिप कभी भी नहीं करनी चाहिए * दृष्टि होनी चाहिए किसी और उनको डफली सेट करें मसीह के जो बुराई है उसके प्रति हमारा ध्यान नहीं होने चाहिए तो ऐसे गुण हम डिवेलप करेंगे तो जरूर अच्छा इंसान बन सकेंगे होता तो हम कैसे उनको किसी को शांति से ध्यान पूर्वक जब किसी को सुनते हैं तो इनका मैंने पढ़ा था कि किसी को भी सुनने को सबसे बड़ी सेवा है आज कोई सुनने वाला नहीं तो फिर किसी को सुनते हैं तो यह बहुत बड़ी सेवा हो सकती है और हम अच्छा इंसान बन सकते हैं थैंक यू

accha insaan banne ke liye sabse pehla gonjo zaroori hai mere khayal se vaah gritityud ka bhav hona chahiye jeevan mein hamko jo kuch mila hai iske liye hum jitna gritityud rakhenge abhar ka bhav rakhenge itna hum khush rahenge aur hamare jeevan mein zyada zyada achi batein banegi kisi ka upkar hum ko kisi bhi paristithi mein nahi bhoolna chahiye aur kisi ne jo hamare prakar kiya hai vaah hamko bhool jana chahiye ki ghati road ka bhav hona chahiye doosra spelling face rakhna chahiye kisi ko bhi agar choti si bhi madad kar sakte hain toh madad karne ke liye hamesha taiyar rehna chahiye please go ki bhavna honi chahiye shaant rehna hamko sikhna chahiye goa ship kabhi bhi nahi karni chahiye drishti honi chahiye kisi aur unko dafli set kare masih ke jo burayi hai uske prati hamara dhyan nahi hone chahiye toh aise gun hum develop karenge toh zaroor accha insaan ban sakenge hota toh hum kaise unko kisi ko shanti se dhyan purvak jab kisi ko sunte hain toh inka maine padha tha ki kisi ko bhi sunne ko sabse badi seva hai aaj koi sunne vala nahi toh phir kisi ko sunte hain toh yah bahut badi seva ho sakti hai aur hum accha insaan ban sakte hain thank you

अच्छा इंसान बनने के लिए सबसे पहला गोंजो जरूरी है मेरे ख्याल से वह ग्रिटीट्यूड का भाव होना

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  398
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!