क्या कभी नाबालिक को बलत्कार की सजा फाँसी दे गई है कही पर भी।?...


play
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य जी नहीं आज तक जो है वह भारत में नाबालिगों बलात्कार की सजा नहीं हुई है लेकिन जो निर्भया का एक्सीडेंट हुआ था दिल्ली में क्योंकि उसमें एक 16 साल का लड़का भी शामिल था जिसने दारू पीके जो है मदन नशे की हालत में बलात्कार किया था तो वह लड़का तो बच गया लेकिन उसके बाद से जो है वह एक लड़की जो नाबालिक लड़के होते जो 18 साल से नीचे है उनकी जो आज है वह घटा के 16 16 कर दी गई है 15 16 की गई है कि 15 16 की उम्र से ज्यादा वाले जो बच्चे हैं अगर वह बलात्कार कर रहे थे वह भी सजा के पात्र हैं बराबर है जो एक नॉर्मल ले जायेंगे एडल्ट होते हैं तो वह मैं समझता हूं कि अगर फ्यूचर में ऐसा होना तो नहीं चाहिए लेकिन ऐसा कोई भी गए कोई क्राइम करता है * करता है तो जी हां उसको सजा जरुर मिलेगी

aditya ji nahi aaj tak jo hai vaah bharat mein nabaligon balatkar ki saza nahi hui hai lekin jo Nirbhaya ka accident hua tha delhi mein kyonki usme ek 16 saal ka ladka bhi shaamil tha jisne daaru pk jo hai madan nashe ki halat mein balatkar kiya tha toh vaah ladka toh bach gaya lekin uske baad se jo hai vaah ek ladki jo nabalik ladke hote jo 18 saal se niche hai unki jo aaj hai vaah ghata ke 16 16 kar di gayi hai 15 16 ki gayi hai ki 15 16 ki umr se zyada waale jo bacche hain agar vaah balatkar kar rahe the vaah bhi saza ke patra hain barabar hai jo ek normal le jayenge adult hote hain toh vaah main samajhata hoon ki agar future mein aisa hona toh nahi chahiye lekin aisa koi bhi gaye koi crime karta hai karta hai toh ji haan usko saza zaroor milegi

आदित्य जी नहीं आज तक जो है वह भारत में नाबालिगों बलात्कार की सजा नहीं हुई है लेकिन जो निर्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओ मेरी सब से कोई भी नाबालिक हो उसे किसी भी प्रकार की जुर्म के लिए फांसी की सजा नहीं दी गई है वह चाहे बलात्कार हुआ कोई भी पुस्तक फिल्म हो कभी भी कोई भी ना बोले को फांसी की सजा नहीं दे दिया जाती है क्या कर फांसी की सजा देनी हो तो कई सारे विचार लगते हैं जज को जो इस चीज के बारे में बहुत सोचना पड़ता है वह जुर्म की गहराई पर भी देखते हैं और फिर उसके बाद यह डिसिशन लेते हैं की फांसी दे सकते या नहीं दे सकते और जो भी नाबालिक होते हैं उनको तो पास ही नहीं दे सकते क्योंकि नाबालिगों जुवेनाइल कोर्ट जो है वह ध्यान देती हो जब अंदर कोट हमेशा यहीं देखती है कि एक जो भी नाबालिक बच्चे यौन एरिया भेजा जाए उसको इस बारे में बताया जाए कि आपने जो जुल्म किया वह बिल्कुल गलत है और इसमें कौन है पश्चाताप करने की कोशिश करते हैं तो मेरे हिसाब से नहीं कोई भी नाबालिक को बलात्कार की सजा के लिए फांसी नहीं दी गई है

o meri sab se koi bhi nabalik ho use kisi bhi prakar ki jurm ke liye fansi ki saza nahi di gayi hai vaah chahen balatkar hua koi bhi pustak film ho kabhi bhi koi bhi na bole ko fansi ki saza nahi de diya jaati hai kya kar fansi ki saza deni ho toh kai saare vichar lagte hain judge ko jo is cheez ke bare mein bahut sochna padta hai vaah jurm ki gehrai par bhi dekhte hain aur phir uske baad yah decision lete hain ki fansi de sakte ya nahi de sakte aur jo bhi nabalik hote hain unko toh paas hi nahi de sakte kyonki nabaligon juvenail court jo hai vaah dhyan deti ho jab andar coat hamesha yahin dekhti hai ki ek jo bhi nabalik bacche yaun area bheja jaaye usko is bare mein bataya jaaye ki aapne jo zulm kiya vaah bilkul galat hai aur isme kaun hai pashchaataap karne ki koshish karte hain toh mere hisab se nahi koi bhi nabalik ko balatkar ki saza ke liye fansi nahi di gayi hai

ओ मेरी सब से कोई भी नाबालिक हो उसे किसी भी प्रकार की जुर्म के लिए फांसी की सजा नहीं दी गई

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर किसी नाबालिग के द्वारा बलात्कार जैसे संगीन जुर्म होता है तो उसे जो है योजना इन होम में भेजा जाता है वहां पर उसकी जॉय काउंसलिंग की जाती है ऐसा माना जाता है कि नाबालिक जो बच्चे होते हैं उनको इस जीवन का सही अर्थ पता नहीं होता है और यह जो जुर्म से हो जाता है नादानी में होता है जब वह मैनेजर हो जाते हैं आने वाले को जाते हैं तब उन पर अगर यदि तुम बहुत ज्यादा संगीन फोन पर कार्यवाही की जाती है नहीं तो वह तब तक वह जुवेनाइल होम में रहते हैं जहां पर उनकी काउंसलिंग की जाती और उन्हें सीख दी जाती है कि क्या सही है क्या गलत है

agar kisi nabalik ke dwara balatkar jaise sangeen jurm hota hai toh use jo hai yojana in home mein bheja jata hai wahan par uski joy kaunsaling ki jaati hai aisa mana jata hai ki nabalik jo bacche hote hain unko is jeevan ka sahi arth pata nahi hota hai aur yah jo jurm se ho jata hai naadaani mein hota hai jab vaah manager ho jaate hain aane waale ko jaate hain tab un par agar yadi tum bahut zyada sangeen phone par karyavahi ki jaati hai nahi toh vaah tab tak vaah juvenail home mein rehte hain jaha par unki kaunsaling ki jaati aur unhe seekh di jaati hai ki kya sahi hai kya galat hai

अगर किसी नाबालिग के द्वारा बलात्कार जैसे संगीन जुर्म होता है तो उसे जो है योजना इन होम में

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user
1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर किसी नाबालिग लड़के ने किसी लड़की के साथ संगीत जाऊं क्या मैं तो बलात्कार जैसी केस हुए हैं तो हम पूरा का पूरा जिम्मेदार है क्योंकि इसमें ऐसी सोच हो सकती है ऐसा काम करने की हिम्मत आ सकती है तो वह वाली हो ही नहीं सकता वह वाली है उसमें समझ है इसी वजह से की है आज की युवा पीढ़ी जो मोबाइल का ज्यादा उपयोग कर रही है वह हो गई है कहीं आतंकी इंस्पेक्शन होने चाहिए फैमिली फैमिली कैसे बच्चों को करती है पलकों में कुछ कमी रह जाती है मोबाइल का उपयोग किस तरह से करना है उनको पता नहीं चलता और ऐसे जो है वह वीडियो जो करे हैं उनको देखकर वह उत्तेजित हो जाते हैं और ऐसा कर्म काम कर बैठते हैं तो सजा का प्रावधान तो अभी तक छपरा छपरा से नीचे का 18 से नीचे क्या है कि 18 से ऊपर हो तो उनके लिए होता है और मेरा मानना चाहिए कि ऐसे लोगों को कड़ी से कड़ी सजा देनी चाहिए

agar kisi nabalik ladke ne kisi ladki ke saath sangeet jaaun kya main toh balatkar jaisi case hue hain toh hum pura ka pura zimmedar hai kyonki isme aisi soch ho sakti hai aisa kaam karne ki himmat aa sakti hai toh vaah wali ho hi nahi sakta vaah wali hai usme samajh hai isi wajah se ki hai aaj ki yuva peedhi jo mobile ka zyada upyog kar rahi hai vaah ho gayi hai kahin aatanki Inspection hone chahiye family family kaise baccho ko karti hai palakon mein kuch kami reh jaati hai mobile ka upyog kis tarah se karna hai unko pata nahi chalta aur aise jo hai vaah video jo kare hain unko dekhkar vaah uttejit ho jaate hain aur aisa karm kaam kar baithate hain toh saza ka pravadhan toh abhi tak chapra chapra se niche ka 18 se niche kya hai ki 18 se upar ho toh unke liye hota hai aur mera manana chahiye ki aise logo ko kadi se kadi saza deni chahiye

अगर किसी नाबालिग लड़के ने किसी लड़की के साथ संगीत जाऊं क्या मैं तो बलात्कार जैसी केस हुए ह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  55
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
बलत्कार क्या है ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!