क्या आपको लगता है कि रेलवे स्टेशन पर सैनिटरी पैड होने से मदद मिलेगी?...


user

Sanjeev Singh

Career Coach for Civil Services and Other Competitive Examinations

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपना स्नेह क्या आपको लगता है कि रेलवे स्टेशन पर सेनेटरी पैड होने से मदद मिलेगी बिल्कुल लगता है क्योंकि कई बार क्योंकि यही जो पीरियड है वह कभी भी आ सकता है और इसके लिए पूर्व में आपको मालूम ही हो ऐसा कोई आवश्यक नहीं है तू ना बाकी जगहों पर तो मार्केट से अवेलेबल है और चीजें बल्ले बल्ले लेकिन स्टेशन जाने के दौरान कभी-कभी लंबी लंबी सेवा करती है ऐसे कठिन समय में बोले आधी आबादी के हेल्थ कॉन्शियस और सेनिटेशन को ध्यान में रखकर एक बड़ा कदम हो सकता है और यह भी चाहिए और इसलिए वैसे लोगों को जो इस पीड़ा से गुजर रहे होते हैं उनको काफी मदद मिलेगी और मैं समझता हूं कि अगर रेलवेज तरह का प्रावधान कर रही है तो यह बहुत ही बहुत ही सराहनीय बहुत ही प्रशंसनीय और वैसे महिलाओं के लिए यह काफी सहायक होती है जो उनके पास इस प्रकार की समस्या से जूझती हैं और आप कल्पना करें कि यदि कोई महिला इस प्रकार के समस्याओं को पेश किया है किसी के जीवन में इस प्रकार की घटना घटी है और ऐसे समय में उसको इस प्रकार की उपलब्धता नहीं हो पाई है उस समय उसको किस प्रकार के पीड़ा दुख और शर्मिंदगी से गुजरना पड़ा हुआ आप कल्पना कर सकते हैं इसलिए मेरा मानना है कि यह निश्चित रूप से होना चाहिए और अगर होता है तो अच्छा है और यह प्रशंसनीय कदम

aap apna sneh kya aapko lagta hai ki railway station par sanitary pad hone se madad milegi bilkul lagta hai kyonki kai baar kyonki yahi jo period hai vaah kabhi bhi aa sakta hai aur iske liye purv me aapko maloom hi ho aisa koi aavashyak nahi hai tu na baki jagaho par toh market se available hai aur cheezen balle balle lekin station jaane ke dauran kabhi kabhi lambi lambi seva karti hai aise kathin samay me bole aadhi aabadi ke health kanshiyas aur seniteshan ko dhyan me rakhakar ek bada kadam ho sakta hai aur yah bhi chahiye aur isliye waise logo ko jo is peeda se gujar rahe hote hain unko kaafi madad milegi aur main samajhata hoon ki agar railways tarah ka pravadhan kar rahi hai toh yah bahut hi bahut hi sarahniya bahut hi prashansaniya aur waise mahilaon ke liye yah kaafi sahayak hoti hai jo unke paas is prakar ki samasya se jujhti hain aur aap kalpana kare ki yadi koi mahila is prakar ke samasyaon ko pesh kiya hai kisi ke jeevan me is prakar ki ghatna ghati hai aur aise samay me usko is prakar ki upalabdhata nahi ho payi hai us samay usko kis prakar ke peeda dukh aur sharmindagi se gujarana pada hua aap kalpana kar sakte hain isliye mera manana hai ki yah nishchit roop se hona chahiye aur agar hota hai toh accha hai aur yah prashansaniya kadam

आप अपना स्नेह क्या आपको लगता है कि रेलवे स्टेशन पर सेनेटरी पैड होने से मदद मिलेगी बिल्कुल

Romanized Version
Likes  233  Dislikes    views  2008
KooApp_icon
WhatsApp_icon
11 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!