क्या आपको लगता है कि रेलवे स्टेशन पर सैनिटरी पैड होने से मदद मिलेगी?...


user

Sanjeev Singh

Career Coach for Civil Services and Other Competitive Examinations

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपना स्नेह क्या आपको लगता है कि रेलवे स्टेशन पर सेनेटरी पैड होने से मदद मिलेगी बिल्कुल लगता है क्योंकि कई बार क्योंकि यही जो पीरियड है वह कभी भी आ सकता है और इसके लिए पूर्व में आपको मालूम ही हो ऐसा कोई आवश्यक नहीं है तू ना बाकी जगहों पर तो मार्केट से अवेलेबल है और चीजें बल्ले बल्ले लेकिन स्टेशन जाने के दौरान कभी-कभी लंबी लंबी सेवा करती है ऐसे कठिन समय में बोले आधी आबादी के हेल्थ कॉन्शियस और सेनिटेशन को ध्यान में रखकर एक बड़ा कदम हो सकता है और यह भी चाहिए और इसलिए वैसे लोगों को जो इस पीड़ा से गुजर रहे होते हैं उनको काफी मदद मिलेगी और मैं समझता हूं कि अगर रेलवेज तरह का प्रावधान कर रही है तो यह बहुत ही बहुत ही सराहनीय बहुत ही प्रशंसनीय और वैसे महिलाओं के लिए यह काफी सहायक होती है जो उनके पास इस प्रकार की समस्या से जूझती हैं और आप कल्पना करें कि यदि कोई महिला इस प्रकार के समस्याओं को पेश किया है किसी के जीवन में इस प्रकार की घटना घटी है और ऐसे समय में उसको इस प्रकार की उपलब्धता नहीं हो पाई है उस समय उसको किस प्रकार के पीड़ा दुख और शर्मिंदगी से गुजरना पड़ा हुआ आप कल्पना कर सकते हैं इसलिए मेरा मानना है कि यह निश्चित रूप से होना चाहिए और अगर होता है तो अच्छा है और यह प्रशंसनीय कदम

aap apna sneh kya aapko lagta hai ki railway station par sanitary pad hone se madad milegi bilkul lagta hai kyonki kai baar kyonki yahi jo period hai vaah kabhi bhi aa sakta hai aur iske liye purv me aapko maloom hi ho aisa koi aavashyak nahi hai tu na baki jagaho par toh market se available hai aur cheezen balle balle lekin station jaane ke dauran kabhi kabhi lambi lambi seva karti hai aise kathin samay me bole aadhi aabadi ke health kanshiyas aur seniteshan ko dhyan me rakhakar ek bada kadam ho sakta hai aur yah bhi chahiye aur isliye waise logo ko jo is peeda se gujar rahe hote hain unko kaafi madad milegi aur main samajhata hoon ki agar railways tarah ka pravadhan kar rahi hai toh yah bahut hi bahut hi sarahniya bahut hi prashansaniya aur waise mahilaon ke liye yah kaafi sahayak hoti hai jo unke paas is prakar ki samasya se jujhti hain aur aap kalpana kare ki yadi koi mahila is prakar ke samasyaon ko pesh kiya hai kisi ke jeevan me is prakar ki ghatna ghati hai aur aise samay me usko is prakar ki upalabdhata nahi ho payi hai us samay usko kis prakar ke peeda dukh aur sharmindagi se gujarana pada hua aap kalpana kar sakte hain isliye mera manana hai ki yah nishchit roop se hona chahiye aur agar hota hai toh accha hai aur yah prashansaniya kadam

आप अपना स्नेह क्या आपको लगता है कि रेलवे स्टेशन पर सेनेटरी पैड होने से मदद मिलेगी बिल्कुल

Romanized Version
Likes  233  Dislikes    views  2007
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:19

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी बिल्कुल जैसे कि अभी भोपाल में हुआ 1 जनवरी को ही एक मशीन वहां पर रंगोली रखी गई जो महिलाओं को ₹5 के दाम में दो जने चुनाव केंद्र प्रोवाइड करवाती है और इस मशीन का नाम दिया गया आप ही नारी और उसने इसे अंजली थंक उ ने जो वहां की सीन मोस्ट क्लास पॉल वॉकर है उन्होंने ऐसे इन अ ग्रेट किया मशीन के अंदर 7570 नाम केंद्र की कृपा सिटी है और पहले दिन ही करीबन 600 नाम Kings उसमें से निकाले गए यह बहुत अच्छी बात है देखिए महिलाओं को ऐसे नाम केंद्र की जरूरत ऐसे सैनिक शपथ की जरूरत कभी भी पढ़ सकती है कभी कभी हार नहीं आपके पास होते तो अगर रेलवे स्टेशन PSC से प्रसिद्ध है तो यह महिलाओं के लिए बहुत अच्छा है तू अगर आप एक रेलवे स्टेशन पर प्रोवाइड कराया जाना है तो मेरे साथ कैसे बात करेगी पर भी करना चाहिए ताकि महिलाओं को कोई भी किसी भी तरह की इससे रिलेटेड समस्याएं ना आए मुझे भोपाल का बहुत भोपाल रेलवे स्टेशन का बहुत ही अच्छा स्टेप है

vicky bilkul jaise ki abhi bhopal mein hua 1 january ko hi ek machine wahan par rangoli rakhi gayi jo mahilaon ko Rs ke daam mein do jane chunav kendra provide karwati hai aur is machine ka naam diya gaya aap hi nari aur usne ise anjali thank u ne jo wahan ki seen most class paul walker hai unhone aise in a great kiya machine ke andar 7570 naam kendra ki kripa city hai aur pehle din hi kariban 600 naam Kings usme se nikale gaye yah bahut achi baat hai dekhiye mahilaon ko aise naam kendra ki zarurat aise sainik shapath ki zarurat kabhi bhi padh sakti hai kabhi kabhi haar nahi aapke paas hote toh agar railway station PSC se prasiddh hai toh yah mahilaon ke liye bahut accha hai tu agar aap ek railway station par provide karaya jana hai toh mere saath kaise baat karegi par bhi karna chahiye taki mahilaon ko koi bhi kisi bhi tarah ki isse related samasyaen na aaye mujhe bhopal ka bahut bhopal railway station ka bahut hi accha step hai

विकी बिल्कुल जैसे कि अभी भोपाल में हुआ 1 जनवरी को ही एक मशीन वहां पर रंगोली रखी गई जो महिल

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कादियान दिखने में बिल्कुल समझता हूं कि यह बिल्कुल सही सवाल आपने कहा है क्योंकि अभी जो 26 जनवरी को पैडमैन रिलीज होने वाली है जो लोग जो है वह ज्यादा जागरूक हो रहे हैं पैडमैन के बाजू इस टॉपिक को ज्यादा सीरियसली देखने लगे कि कैसे एक आदमी ने जो है वह औरतों के जो पशु प्रॉब्लम होता है जिसके बारे में वह खुद निष्कासन करना चाहते हैं उनके लिए उन्होंने जो है वह सच है मैं जो मीठी पैसे निकाले और मैं समझ गया रेलवे स्टेशन पर जरूर सेनेटरी पैड होने चाहिए जिससे जो लेडीस को जो प्रॉब्लम होता है उसमें उनको मदद मिलेगा और मैं बिल्कुल सही समय तक यह बिल्कुल सही आईडिया और भेजो सरकार को है मैं तो रेलवे थोड़ी स्कोर अमल करना चाहिए

qadian dikhne mein bilkul samajhata hoon ki yah bilkul sahi sawaal aapne kaha hai kyonki abhi jo 26 january ko padman release hone wali hai jo log jo hai vaah zyada jagruk ho rahe hain padman ke baju is topic ko zyada seriously dekhne lage ki kaise ek aadmi ne jo hai vaah auraton ke jo pashu problem hota hai jiske bare mein vaah khud nishkasan karna chahte hain unke liye unhone jo hai vaah sach hai jo mithi paise nikale aur main samajh gaya railway station par zaroor sanitary pad hone chahiye jisse jo ladies ko jo problem hota hai usme unko madad milega aur main bilkul sahi samay tak yah bilkul sahi idea aur bhejo sarkar ko hai toh railway thodi score amal karna chahiye

कादियान दिखने में बिल्कुल समझता हूं कि यह बिल्कुल सही सवाल आपने कहा है क्योंकि अभी जो 26 ज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोपाल के रेलवे वूमेन वेलफेयर एसोसिएशन ने कुछ ऐसा किया जो कि भारत के कोई भी रेलवे स्टेशन नैनी भोपाल भारत का सबसे पहले से रेलवे स्टेशन जहां से वह लड़कियों के लिए पहली बार स्टेशन पर सेनेटरी नैपकिन डिस्पेंसरी लगा दिया गया है यह चीज भोपाल स्टेशन में लगाई थी क्योंकि भोपाल रेलवे एसोसिएशन का यह मानना है कि जिस प्रकार से भोपाल जंक्शन में महिलाओं की फिक्र रहती है तुमको यह मानना है कि महिलाओं के लिए सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन जरूरी है कि ड्राइविंग करते समय उनकी जरूरत पड़ेगी और अब यह भी ऐसा माना जाता है कि जिस प्रकार से रेलवे स्टेशन पर टिकट काउंटर होता है तो उसी प्रकार से लड़कियों की वेबसाइट नैपकिन जो है उसके भी काउंटर्स होंगे और यह सिर्फ ₹5 में मिलेगा मेरे हिसाब से अन्य रेलवे स्टेशनों को भी नहीं बल्कि भारत की लगभग सा रेलवे स्टेशन पता करने की जरूरत है कि तू हमेशा सच बोलता नहीं है और तूफान रेलवे स्टेशन में जो है इस स्टीरियोटाइप जो कि भारत में चल रहा था उसे तोड़ने की कोशिश की है और महिलाओं को और भी कंप्यूटर पर बनाने की कोशिश की है तो फिर मेरे हिसाब से बिल्कुल सही है क्योंकि आज इस प्रकार से हम देखते हैं महिलाओं पर अत्याचार हो रहे थे वह रहते हो रहते तो मेरे हिसाब से आप महिलाओं को तैयार नहीं करने के लिए महिलाएं अब आराम से और खुशी से एक दूसरे से दूसरी जगह पर आकर कर पाएगी

bhopal ke railway women welfare association ne kuch aisa kiya jo ki bharat ke koi bhi railway station Nanny bhopal bharat ka sabse pehle se railway station jaha se vaah ladkiyon ke liye pehli baar station par sanitary napkin dispensary laga diya gaya hai yah cheez bhopal station mein lagayi thi kyonki bhopal railway association ka yah manana hai ki jis prakar se bhopal junction mein mahilaon ki fikra rehti hai tumko yah manana hai ki mahilaon ke liye sanitary napkin vending machine zaroori hai ki driving karte samay unki zarurat padegi aur ab yah bhi aisa mana jata hai ki jis prakar se railway station par ticket counter hota hai toh usi prakar se ladkiyon ki website napkin jo hai uske bhi counters honge aur yah sirf Rs mein milega mere hisab se anya railway stationo ko bhi nahi balki bharat ki lagbhag sa railway station pata karne ki zarurat hai ki tu hamesha sach bolta nahi hai aur toofan railway station mein jo hai is stereotype jo ki bharat mein chal raha tha use todne ki koshish ki hai aur mahilaon ko aur bhi computer par banane ki koshish ki hai toh phir mere hisab se bilkul sahi hai kyonki aaj is prakar se hum dekhte hain mahilaon par atyachar ho rahe the vaah rehte ho rehte toh mere hisab se aap mahilaon ko taiyar nahi karne ke liye mahilaye ab aaram se aur khushi se ek dusre se dusri jagah par aakar kar payegi

भोपाल के रेलवे वूमेन वेलफेयर एसोसिएशन ने कुछ ऐसा किया जो कि भारत के कोई भी रेलवे स्टेशन नै

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोपाल इस देश का सबसे पहला शहर आ जा के रेलवे स्टेशन पर सैनिटरी पैड की वेल्डिंग मशीन लगाई गई है जिसको महिला महिलाएं और और ₹5 में खरीद सकती है तो यह जो कदम आ भोपाल की सरकार ने लिया है यह बहुत अच्छा कदम लिया है और आज आसपास के पैसेंजर महिलाओं की या फिर जो महिला रेलवे स्टेशन में गुजर रही होंगी या फिर वहां पर काम कर रहे हो मुझे वर्कर्स होंगी उनके लिए बहुत ज्यादा सुविधा और ही बहुत हेल्पफुल स्टेप होगा क्योंकि हम एजेंसी में इसका बहुत जरुरत पड़ेगा तो ही मेरे सब से बहुत एसिडिटी है बहुत अच्छा डिसीजन और स्टेप लिया गया है और इस वेल्डिंग का मशीन को सेट अप करने में भी ज्यादा कॉस्टिंग नहीं बस ₹20000 पूरे सेट अप के लिए लगे तो बहुत किफायती चीज के लिए बहुत नेसेसरी जो एक चीज है जो लगाई गई है पहले यह जो सुविधा है बस एयरपोर्ट में हुआ करती थी एयरपोर्ट के वॉशरूम प्रोग्राम मिला करते थे अब रेलवे स्टेशन में मिला स्टार्ट हो रहा है भोपाल में सबसे पहला स्टेप लिया है कि आगे भी जितने रेलवे स्टेशन है यह डिस्टर्ब किया क्या यह बढ़ता जाएगा दूसरे रेलवे स्टेशन मेरी यह सब को देखने को मिलेगा तो यह बहुत अच्छा अजय लिया है भोपाल की सरकार ने

bhopal is desh ka sabse pehla shehar aa ja ke railway station par sanitary pad ki Welding machine lagayi gayi hai jisko mahila mahilaye aur aur Rs mein kharid sakti hai toh yah jo kadam aa bhopal ki sarkar ne liya hai yah bahut accha kadam liya hai aur aaj aaspass ke passenger mahilaon ki ya phir jo mahila railway station mein gujar rahi hongi ya phir wahan par kaam kar rahe ho mujhe workers hongi unke liye bahut zyada suvidha aur hi bahut helpful step hoga kyonki hum agency mein iska bahut zarurat padega toh hi mere sab se bahut acidity hai bahut accha decision aur step liya gaya hai aur is Welding ka machine ko set up karne mein bhi zyada costing nahi bus Rs poore set up ke liye lage toh bahut kifayati cheez ke liye bahut necessary jo ek cheez hai jo lagayi gayi hai pehle yah jo suvidha hai bus airport mein hua karti thi airport ke washroom program mila karte the ab railway station mein mila start ho raha hai bhopal mein sabse pehla step liya hai ki aage bhi jitne railway station hai yah disturb kiya kya yah badhta jaega dusre railway station meri yah sab ko dekhne ko milega toh yah bahut accha ajay liya hai bhopal ki sarkar ne

भोपाल इस देश का सबसे पहला शहर आ जा के रेलवे स्टेशन पर सैनिटरी पैड की वेल्डिंग मशीन लगाई गई

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  245
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मुझे लगता है कि भारतीय रेलवे स्टेशन पर सेनेटरी पैड होने से महिलाओं को बहुत ही ज्यादा मदद मिलेगी उनके लिए बहुत ही मददगार साबित होंगे इसलिए क्योंकि यह भारतीय रेलवे स्टेशन एक ऐसी जगह है रेलवे स्टेशन जहां पर बहुत से लोग आते जाते रहते हैं बहुत सी महिलाएं भी होती है उसमें और ऐसे बहुत से समय है जहां पर महिलाओं को सेनेटरी पैड की जरुरत पड़ जाती है वहां पर होने के बावजूद और अगर वहां पर सैनी सेनेटरी पैड उपलब्ध कराए जा रहे हैं भोपाल रेलवे स्टेशन पर तो यह बहुत ही अच्छी बात है और बहुत अच्छा कदम है सरकार का स्वच्छता की ओर भी और एक अपनी सोच में बढ़त लाने की ओर भी तो वह मेरे हिसाब से बहुत ही अच्छा कदम है और यह कदम हर जगह खेलना चाहिए और सारे रेलवे स्टेशन पर सेल्फी पर सेनेटरी पैड उपलब्ध करा देना चाहिए

ji haan mujhe lagta hai ki bharatiya railway station par sanitary pad hone se mahilaon ko bahut hi zyada madad milegi unke liye bahut hi madadgaar saabit honge isliye kyonki yah bharatiya railway station ek aisi jagah hai railway station jaha par bahut se log aate jaate rehte hain bahut si mahilaye bhi hoti hai usme aur aise bahut se samay hai jaha par mahilaon ko sanitary pad ki zarurat pad jaati hai wahan par hone ke bawajud aur agar wahan par saini sanitary pad uplabdh karae ja rahe hain bhopal railway station par toh yah bahut hi achi baat hai aur bahut accha kadam hai sarkar ka swachhta ki aur bhi aur ek apni soch mein badhat lane ki aur bhi toh vaah mere hisab se bahut hi accha kadam hai aur yah kadam har jagah khelna chahiye aur saare railway station par selfie par sanitary pad uplabdh kara dena chahiye

जी हां मुझे लगता है कि भारतीय रेलवे स्टेशन पर सेनेटरी पैड होने से महिलाओं को बहुत ही ज्याद

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

0:58
Play

Likes    Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पिछले दिनों में मन वेलफेयर आर्गेनाईजेशन की तरफ से देश में पहली बार नो प्राफिट नॉलेज के कंसेप्ट पर भोपाल जंक्शन पर शांति नैपकिन मशीन लगाई गई है हाय जीने को स्वस्थ भारत के लिए देश में पहली बार ऐसा कदम उठाया गया है अगर यह प्रयास सफल रहती है तो और भी स्टेशन पर इस तरह की मशीन लगाई जाएंगी महिला यात्रियों द्वारा इसका उपयोग किया जा सकेगा आसपास रहने वाली महिलाओं के लिए भी यह मशीनें बहुत उपयोगी रहेंगी इसका उद्घाटन सबसे बुजुर्ग चतुर्थ श्रेणी की महिला कर्मचारी अंजलि ठाकुर ने किया अक्षय कुमार ने ट्विटर पर इसकी तारीफ की है उनकी आने वाली फिल्म पैडमैन इस मुद्दे पर आधारित है हमारे देश के लिए यह एक अच्छी पहल है उम्मीद है इस तरह की मशीन देशभर में लगाई जाएंगी सामाजिक संस्थाएं यह कर सकती हैं उंहें इस नेक काम के लिए बधाई

pichhle dino mein man welfare organisation ki taraf se desh mein pehli baar no prafit knowledge ke concept par bhopal junction par shanti napkin machine lagayi gayi hai hi jeene ko swasthya bharat ke liye desh mein pehli baar aisa kadam uthaya gaya hai agar yah prayas safal rehti hai toh aur bhi station par is tarah ki machine lagayi jayegi mahila yatriyon dwara iska upyog kiya ja sakega aaspass rehne wali mahilaon ke liye bhi yah mashinen bahut upyogi rahegi iska udghatan sabse bujurg chaturth shreni ki mahila karmchari anjali thakur ne kiya akshay kumar ne twitter par iski tareef ki hai unki aane wali film padman is mudde par aadharit hai hamare desh ke liye yah ek achi pahal hai ummid hai is tarah ki machine deshbhar mein lagayi jayegi samajik sansthayen yah kar sakti hain unhen is neck kaam ke liye badhai

पिछले दिनों में मन वेलफेयर आर्गेनाईजेशन की तरफ से देश में पहली बार नो प्राफिट नॉलेज के कंस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य सुरक्षा जी बिल्कुल यह बहुत अच्छा इनिशिएटिव है कि रेलवे स्टेशन पर शांति पाठ का मशीन होना जैसे अभी बताया गया है कि भोपाल में भी मतलब वेलफेयर एसोसिएशन रेलवे का है तो उन्होंने ऐसा इनिशिएटिव लिया है उस एंट्री पास मशीन वहां पर लगाया है जिससे मतलब महिलाओं को आसानी रेलवे स्टेशन से देखा जाए तो उन्हें मदद मिलेगी हमेशा वह अपने साथ शादी करोगी ऐसा नहीं होता कभी कभी इमरजेंसी आ जाती है कभी-कभी महिलाएं भूल जाती है और मतलब बहुत कुछ बातें हो सकती है तो मेरे ख्याल से इससे उन्हें मदद जरूर मिलेगी और सिर्फ मतलब भारत के जो मेन मेन रेलवे स्टेशन से तो वहां पर ऐसा होना ही चाहिए जैसा भी मुंबई में बोलो तो लोग कल वहां पर कितनी सारी चलती है कितने सारे लोग वहां पर ट्रैवल करते हैं तो वह हर एक जगह पर वहां पर होनी ही चाहिए और इस से महिलाओं को बहुत ज्यादा मदद मिलेगी

aditya suraksha ji bilkul yah bahut accha innitiative hai ki railway station par shanti path ka machine hona jaise abhi bataya gaya hai ki bhopal mein bhi matlab welfare association railway ka hai toh unhone aisa innitiative liya hai us entry paas machine wahan par lagaya hai jisse matlab mahilaon ko aasani railway station se dekha jaaye toh unhe madad milegi hamesha vaah apne saath shadi karogi aisa nahi hota kabhi kabhi emergency aa jaati hai kabhi kabhi mahilaye bhool jaati hai aur matlab bahut kuch batein ho sakti hai toh mere khayal se isse unhe madad zaroor milegi aur sirf matlab bharat ke jo main main railway station se toh wahan par aisa hona hi chahiye jaisa bhi mumbai mein bolo toh log kal wahan par kitni saree chalti hai kitne saare log wahan par travel karte hain toh vaah har ek jagah par wahan par honi hi chahiye aur is se mahilaon ko bahut zyada madad milegi

आदित्य सुरक्षा जी बिल्कुल यह बहुत अच्छा इनिशिएटिव है कि रेलवे स्टेशन पर शांति पाठ का मशीन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें शांति बाद एक ऐसा आइटम वो क्या है जो आंख फ्री में फ्री में मिलना चाहिए गवर्मेंट से चुकी यह कोई लग्जरी आइटम नहीं है यह मैसेज सिटी है दिलों के लिए महिलाओं के लिए रेलवे स्टेशन पर मिलेगा तो बहुत ज्यादा ही रहेगी क्योंकि लेडीज को पीरियड कभी भी हो सकती है ठीक है ज्यादा तक हम लोग प्यार करते हैं लेडीस लोग प्यार करते हैं बट फिर भी कभी ट्रांसलेशन पर भी कुछ मिस्टेक हो जाती है कि कभी जल्दी आ जाती है तो अगर वह पढ़ नहीं रहे हमारे पास तो ऑफिस में वही कंधार इस मैंट हो जाता है लेडीस लोग के लिए और अगर सभी रेलवे स्टेशन पैसे वालों की जगह है जहां पर अगर रहेगा भी हमारे बीच में रहेगा और इंपॉसिबल है इंडियन रेलवे स्टेशन में क्या बुक हो लो वह निकालो और कहां चेंज करो तो अगर रेलवे स्टेशन में वह मिलेगा तो वही अवेलेबिलिटी वह बहुत ही आसानी से इफेक्टिव ली यूज कर पाएंगे

dekhen shanti baad ek aisa item vo kya hai jo aankh free mein free mein milna chahiye government se chuki yah koi luxury item nahi hai yah massage city hai dilon ke liye mahilaon ke liye railway station par milega toh bahut zyada hi rahegi kyonki ladies ko period kabhi bhi ho sakti hai theek hai zyada tak hum log pyar karte hain ladies log pyar karte hain but phir bhi kabhi translation par bhi kuch mistake ho jaati hai ki kabhi jaldi aa jaati hai toh agar vaah padh nahi rahe hamare paas toh office mein wahi kandhaar is maint ho jata hai ladies log ke liye aur agar sabhi railway station paise walon ki jagah hai jaha par agar rahega bhi hamare beech mein rahega aur Impossible hai indian railway station mein kya book ho lo vaah nikalo aur kahaan change karo toh agar railway station mein vaah milega toh wahi avelebiliti vaah bahut hi aasani se effective li use kar payenge

देखें शांति बाद एक ऐसा आइटम वो क्या है जो आंख फ्री में फ्री में मिलना चाहिए गवर्मेंट से चु

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नए साल के मौके पर भोपाल रेलवे स्टेशन पर रेलवे ने महिला यात्रियों को एक बहुत ही अच्छा सौगात दिया यह सौगात उनके स्वास्थ्य और स्वच्छता से जुड़ा हुआ है रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 1 पर महिला यात्रियों के लिए बनी महिला प्रतीक्षालय के सामने सेनेटरी नैपकिन का डिस्पेंसर लगाया गया है और महिला यात्री इसमें ₹5 का सिक्का डालकर दो सेनेटरी नैपकिन ले सकती है तू और इस तरह की सुविधा मेरे मुताबिक तो हर एक रेलवे स्टेशन पर होना चाहिए चाहे वह रेलवे स्टेशन छोटा हो या फिर बड़ा अगर इस तरह की सैनिटरी नैपकिंस के डिस्पेंसर लगा दिए जाएंगे तो किसी भी महिला को इस तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा अगर उनके पास सैनिटरी नैपकिन पहले से नहीं है तो आप तो यह रेलवे का एक बहुत ही अच्छा कदम है और मेरे मुताबिक का इसे सराहना चाहिए और अन्य जगहों पर भी जल्द से जल्द इस सुविधा को शुरू करना चाहिए

naye saal ke mauke par bhopal railway station par railway ne mahila yatriyon ko ek bahut hi accha saugat diya yah saugat unke swasthya aur swachhta se jinko hua hai railway station ke platform number 1 par mahila yatriyon ke liye bani mahila pratikshalay ke saamne sanitary napkin ka dispensers lagaya gaya hai aur mahila yatri isme Rs ka sikka dalkar do sanitary napkin le sakti hai tu aur is tarah ki suvidha mere mutabik toh har ek railway station par hona chahiye chahen vaah railway station chota ho ya phir bada agar is tarah ki sanitary naipakins ke dispensers laga diye jaenge toh kisi bhi mahila ko is tarah ki pareshani ka samana nahi karna padega agar unke paas sanitary napkin pehle se nahi hai toh aap toh yah railway ka ek bahut hi accha kadam hai aur mere mutabik ka ise sarahana chahiye aur anya jagaho par bhi jald se jald is suvidha ko shuru karna chahiye

नए साल के मौके पर भोपाल रेलवे स्टेशन पर रेलवे ने महिला यात्रियों को एक बहुत ही अच्छा सौगात

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!