राज्य सरकार ने क्यों कहा कि जम्मू कश्मीर में हिन्दू माइनॉरिटी नहीं हैं?...


user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ समय पहले सुप्रीम कोर्ट में दायर एक जनहित याचिका में कहा गया था कि जम्मू कश्मीर समेत सांप और राज्य ऐसी है जिनमें लक्ष्यदीप मिजोरम नागालैंड मेघालय अरुणाचल प्रदेश मणिपुर और पंजाब राज्यों में हिंदुओं की जनसंख्या बहुत कम है उन्हें अल्पसंख्यक दर्जा मिले ताकि उन्हें सरकारी सुविधा मिल सके याचिका में अल्पसंख्यक आयोग गठन सीधी बात कही गई थी याचिका के मद्देनजर कोर्ट ने किन राज्यों से अपना पक्ष रखने को कहा था जवाब में जम्मू-कश्मीर सरकार ने कोर्ट में जो हलफनामा पेश किया उसने कहा गया कि सुकी राज्य में अल्पसंख्यक आयोग अधिनियम लागू नहीं है इसलिए राज्य में शिक्षकों की पहचान सरकार केंद्र सरकार ने भी इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट को एक हलफनामा पेश किया जिसमें कहा गया था कि केंद्र सरकार की अल्पसंख्यक विभाग के सचिव और जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव की अगुवाई में 1 पॉइंट कमेटी का गठन किया गया है जो इस मामले पर अपना पक्ष पेश करेगा

kuch samay pehle supreme court mein dayar ek janhit yachika mein kaha gaya tha ki jammu kashmir samet saap aur rajya aisi hai jinmein lakshyadweep mizoram nagaland meghalaya arunachal pradesh manipur aur punjab rajyo mein hinduon ki jansankhya bahut kam hai unhe alpsankhyak darja mile taki unhe sarkari suvidha mil sake yachika mein alpsankhyak aayog gathan seedhi baat kahi gayi thi yachika ke maddenajar court ne kin rajyo se apna paksh rakhne ko kaha tha jawab mein jammu kashmir sarkar ne court mein jo halafanama pesh kiya usne kaha gaya ki suki rajya mein alpsankhyak aayog adhiniyam laagu nahi hai isliye rajya mein shikshakon ki pehchaan sarkar kendra sarkar ne bhi is mudde par supreme court ko ek halafanama pesh kiya jisme kaha gaya tha ki kendra sarkar ki alpsankhyak vibhag ke sachiv aur jammu kashmir ke mukhya sachiv ki aguvaii mein 1 point committee ka gathan kiya gaya hai jo is mamle par apna paksh pesh karega

कुछ समय पहले सुप्रीम कोर्ट में दायर एक जनहित याचिका में कहा गया था कि जम्मू कश्मीर समेत स

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  20
KooApp_icon
WhatsApp_icon
7 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!