क्या मोदी जी की वजह से लोकतंत्र खतरे में है?...


play
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

200 दिन आप जितने भी चैनल से चाहे वो टीवी चैनल ओं सोशल मीडिया चैनलों यूट्यूब चैनल हो जो भी कुछ हो अगर यह सारे आप देखना सुनना बंद कर देंगे तो आपको लोकतंत्र का अभी भी खतरे में नहीं दिखेगा होता क्या है कि कुछ लोग अपने स्वार्थ के लिए इसको ऐसा पेश करते हैं कि लोकतंत्र खतरे में मुझे बताइए आज सुबह जब आप उठ के ब्रेड अंडा लेने चले गए दुकान पर तो आपको कुछ खतरा महसूस हुआ आप जब ऑफिस जा रहे हैं कोई खतरा महसूस हुआ ऑफिस में या बिजनेस नहीं कली के साथ इधर पार्टनर के साथ इधर उसके साथ कोई भी लेनदेन पर कहीं पर भी कोई खतरा महसूस हो रहा है आप घर सुरक्षित आ गया आपका बच्चा स्कूल चला गया आपका मत आपके माता-पिता हॉस्पिटल चले गए और आगे कहीं कोई खतरा महसूस हो रहा है यह कौन से खतरे की बात करें यह सब लोग अपने निजी स्वार्थ या इनको प्रयोग किया जाता है कि आप ऐसा कुछ स्टेटमेंट दे क्योंकि आप एक हस्ती है और जब एक हस्ती ऐसा स्टेटमेंट दे लोग उसको फॉलो करते हैं यह हमारी गलती है कि हम ऐसे लोगों को बढ़ावा देते हैं हमें ऐसे लोगों को और इनकी कथनी को बॉयकॉट करना चाहिए दिखे भारत ही एक ऐसा देश है देश है जिस में इतनी सारी रिलीजन संप्रदाय धर्म में विश्वास करने वाले लोग हैं कोई किसी पर मानता है किसी की किसी में आस्था है सब कुछ चल रहा है सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा है सवा सौ करोड़ लोग एक साथ रहना अलग अलग संप्रदाय के यह कोई मामूली बात नहीं है आप बाहर के मुल्कों में देख लीजिए वहां पर एक ही घर में एक ही रिलीज ने फिर भी वहां पर हमारे मरी है इंडिया में ऐसा कोई दिक्कत वाली बात नहीं है हां थोड़ी बहुत छुटपुट घटनाएं इधर-उधर जाति को लेकर लिंचिंग को लेकर वह किस लिए होती अधूरी इंफॉर्मेशन के कारण होती है आज सभ्यता के कारण होती है शिष्टाचार में कमी ना होने के कारण दिए संस्कारों के कारण होती है यह थोड़ी कुछ दिक्कतें हैं अथवा इस लोकतंत्र कोई खतरे में नहीं है सब ठीक-ठाक है आप मस्त हो जाए अपने काम पर ध्यान दीजिए तत्सत

200 din aap jitne bhi channel se chahe vo TV channel yuvaon social media channelon youtube channel ho jo bhi kuch ho agar yeh saare aap dekhna sunana band kar denge toh aapko loktantra ka abhi bhi khatre mein nahi dikhega hota kya hai ki kuch log apne swarth ke liye isko aisa pesh karte hain ki loktantra khatre mein mujhe bataye aaj subah jab aap uth ke bread anda lene chale gaye dukaan par toh aapko kuch khatra mehsus hua aap jab office ja rahe hain koi khatra mehsus hua office mein ya business nahi kalee ke saath idhar partner ke saath idhar uske saath koi bhi lenden par kahin par bhi koi khatra mehsus ho raha hai aap ghar surakshit aa gaya aapka baccha school chala gaya aapka mat aapke mata pita hospital chale gaye aur aage kahin koi khatra mehsus ho raha hai yeh kaunsi khatre ki baat karein yeh sab log apne niji swarth ya inko prayog kiya jata hai ki aap aisa kuch statement de kyonki aap ek hasti hai aur jab ek hasti aisa statement de log usko follow karte hain yeh hamari galti hai ki hum aise logo ko badhawa dete hain humein aise logo ko aur inki kathni ko baykat karna chahiye dikhe bharat hi ek aisa desh hai desh hai jis mein itni saree religion sampraday dharm mein vishwas karne wale log hain koi kisi par manata hai kisi ki kisi mein astha hai sab kuch chal raha hai sab kuch theek thak chal raha hai sava sau crore log ek saath rehna alag alag sampraday ke yeh koi mamuli baat nahi hai aap bahar ke mulko mein dekh lijiye wahan par ek hi ghar mein ek hi release ne phir bhi wahan par hamare mari hai india mein aisa koi dikkat wali baat nahi hai haan thodi bahut chutput ghatnaye idhar udhar jati ko lekar linching ko lekar wah kis liye hoti adhuri information ke kaaran hoti hai aaj sabhyata ke kaaran hoti hai shishtachar mein kami na hone ke kaaran diye sanskaron ke kaaran hoti hai yeh thodi kuch dikkaten hain athva is loktantra koi khatre mein nahi hai sab theek thak hai aap mast ho jaye apne kaam par dhyan dijiye tatsat

200 दिन आप जितने भी चैनल से चाहे वो टीवी चैनल ओं सोशल मीडिया चैनलों यूट्यूब चैनल हो जो भी

Romanized Version
Likes  537  Dislikes    views  6625
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vedachary Pathak Singrauli

सनातन सुरक्षा परिषद् संस्थापक

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह जो राजनीति कार लोग हैं इसे नए शब्दों को कहां से ढूंढ कर लाते हैं लोकतंत्र खतरे में है मुसलमान खतरे में है हिंदुत्व खतरे में है हाय हो जाएगा हो रहा है हो गए हैं ऐसा कुछ नहीं है किसी की आंखें न जाने से कोई खतरे में नहीं है कानून है कानून सब संभाल लेगा अनाचार अत्याचार होगा इस मैटर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाया जाएगा इतनी बड़ी दुनिया को चलाने के लिए एक देश को चलाने के लिए के कानून होता है कानून के जरिए देश चल रहा है देश चलता रहेगा कैसे आने में आने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा लोग कहते हैं ऐशा प्रधानमंत्री की ना था ना है ना होगा ऐसा कुछ नहीं है पंडित जवाहरलाल नेहरू थे उसमें भी यही सेंटेंस दूर आ जाता था जब लाल बहादुर शास्त्री जी थे तब भी कहा जाता था चंद्रशेखर जी थे तब यही कहा जाता था इंदिरा गांधी थी तब भी यही कहा जाता था अटलजी थे तब भी यही कहा जाता था तो यह वर्तमान राजनीति को पर कब्जा करने के लिए वर्तमान सरकार बनाने के लिए सरकार हथियाने के लिए इन सब शब्दों को ढूंढ करके और जब किसी बड़ी हस्ती के मुंह से यह शब्द निकलते हैं तुम सही मानते हैं धन्यवाद

dekhiye yah jo raajneeti car log hain ise naye shabdon ko kahaan se dhundh kar laate hain loktantra khatre mein hai musalman khatre mein hai hindutv khatre mein hai hi ho jaega ho raha hai ho gaye hain aisa kuch nahi hai kisi ki aankhen na jaane se koi khatre mein nahi hai kanoon hai kanoon sab sambhaal lega anachar atyachar hoga is matter ko antararashtriya sthar par pahunchaya jaega itni badi duniya ko chalane ke liye ek desh ko chalane ke liye ke kanoon hota hai kanoon ke jariye desh chal raha hai desh chalta rahega kaise aane mein aane se koi fark nahi padega log kehte hain aisha pradhanmantri ki na tha na hai na hoga aisa kuch nahi hai pandit jawaharlal nehru the usme bhi yahi sentence dur aa jata tha jab laal bahadur shastri ji the tab bhi kaha jata tha chandrashekhar ji the tab yahi kaha jata tha indira gandhi thi tab bhi yahi kaha jata tha atalji the tab bhi yahi kaha jata tha toh yah vartaman raajneeti ko par kabza karne ke liye vartaman sarkar banane ke liye sarkar hathiyane ke liye in sab shabdon ko dhundh karke aur jab kisi badi hasti ke mooh se yah shabd nikalte hain tum sahi maante hain dhanyavad

देखिए यह जो राजनीति कार लोग हैं इसे नए शब्दों को कहां से ढूंढ कर लाते हैं लोकतंत्र खतरे मे

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  358
WhatsApp_icon
user

yatender singh

software Engineer

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी जी की वैसे लोकतंत्र खतरे में है ऐसा नहीं है यह गलत स्टेटमेंट है बजा यह है कि लोकतंत्र का मतलब है जनता के द्वारा जनता के लिए जनता द्वारा शासन ठीक है जिसे जनता चुनती है अप्रत्यक्ष रूप से अप्रत्यक्ष रूप से अपने नेता को अब बात यह है कि मोदी जी की वैसे खतरे में यह कहा जा रहा है और यह बहुत सी जगह जगह क्वेश्चन उठा भी है लेकिन ऐसा नहीं हो कि हमारा कोई भी नहीं था सही वह जनता ही चुनती है और जनता आप कभी भी देख लीजिएगा चाहे किसी भी समय कोई बहुत बहुत बड़े नेता हुए हैं लोगों ने एक्सेप्ट किया है वह उस समय की डिमांड थी इस समय डिमांड थी कि कोई ऐसा प्रसन्न हो जो सब पर अपनी बात जनता से रख सके तो मोदी जी की छवि वैसी ही है तो इसलिए उन्हें चुना गया आप लोग भी कहते हैं कि उनकी उनकी वजह से लोग अपनी बात ही रख पाते हैं वह केवल अपनी अपनी बात रखते हैं और एक तरफ हो जाते हैं चुनाव उनकी वजह से कॉल सुनी नहीं जा रही है किसी की लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि अगर ऐसा होता तो वह चुने जाते तो लोकतंत्र खतरे में कैसा हो गया और जनता जब तक किसी नेता को चुनौती नहीं है जब तक वह अपने उसमें आता नहीं है शासन में आता नहीं है और अगर जब भी खतरा हुआ लोकतंत्र तो अविश्वास प्रस्ताव इस टाइप की चीजें होती हैं जिससे कि जो जितनी भी संसद को भंग की जा सकती है तो ऐसा जब भी होगा जब भी महसूस होगा तो उस वजह से उचित हट जाएगी तो इसका जवाब है मोदी जी मोदी की वजह से लोग तन खतरे में नहीं है थैंक यू

modi ji ki waise loktantra khatre mein hai aisa nahi hai yah galat statement hai baja yah hai ki loktantra ka matlab hai janta ke dwara janta ke liye janta dwara shasan theek hai jise janta chunati hai apratyaksh roop se apratyaksh roop se apne neta ko ab baat yah hai ki modi ji ki waise khatre mein yah kaha ja raha hai aur yah bahut si jagah jagah question utha bhi hai lekin aisa nahi ho ki hamara koi bhi nahi tha sahi vaah janta hi chunati hai aur janta aap kabhi bhi dekh lijiega chahen kisi bhi samay koi bahut bahut bade neta hue hain logo ne except kiya hai vaah us samay ki demand thi is samay demand thi ki koi aisa prasann ho jo sab par apni baat janta se rakh sake toh modi ji ki chhavi vaisi hi hai toh isliye unhe chuna gaya aap log bhi kehte hain ki unki unki wajah se log apni baat hi rakh paate hain vaah keval apni apni baat rakhte hain aur ek taraf ho jaate hain chunav unki wajah se call suni nahi ja rahi hai kisi ki lekin aisa nahi hai kyonki agar aisa hota toh vaah chune jaate toh loktantra khatre mein kaisa ho gaya aur janta jab tak kisi neta ko chunauti nahi hai jab tak vaah apne usme aata nahi hai shasan mein aata nahi hai aur agar jab bhi khatra hua loktantra toh avishvaas prastaav is type ki cheezen hoti hain jisse ki jo jitni bhi sansad ko bhang ki ja sakti hai toh aisa jab bhi hoga jab bhi mehsus hoga toh us wajah se uchit hut jayegi toh iska jawab hai modi ji modi ki wajah se log tan khatre mein nahi hai thank you

मोदी जी की वैसे लोकतंत्र खतरे में है ऐसा नहीं है यह गलत स्टेटमेंट है बजा यह है कि लोकतंत्र

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  361
WhatsApp_icon
user

Raj Kiran Sharma Bhartiya

LifeCoach MotivationalSpeaker

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या मोदी जी की वजह से लोकतंत्र खतरे में है जी नहीं मैं ऐसा बिल्कुल भी नहीं मानता कि मोदी जी की वजह से यह सवाल आजकल बिजी कल ही तो खा रहे हैं भाजपा से है मोदी जी पर भाजपा यकीनन लोग मानते हैं कि वह संघ से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से निकला हुआ पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का जो गठन हुआ था हुआ था सबसे पहले सभी धर्मों के लोगों को मिलता है जो आजकल धर्म के नाम पर चल रहा है अगर आप की बात करें तो आपको भाजपा का बता दिया जाता है की बात करते हैं या गलत है नहीं हिंदू इस देश का बहुसंख्यक है और जब से यह सभ्यता चली आ रही है सिंधु सभ्यता तब से हिंदू ही हुआ करते थे इस देश के लोग खुले तौर पर राजनीति राजनीति राजनीति का समर्थन करने का मतलब

kya modi ji ki wajah se loktantra khatre mein hai ji nahi main aisa bilkul bhi nahi manata ki modi ji ki wajah se yah sawaal aajkal busy kal hi toh kha rahe hain bhajpa se hai modi ji par bhajpa yakinan log maante hain ki vaah sangh se rashtriya swayamsevak sangh se nikala hua party aur rashtriya swayamsevak sangh ka jo gathan hua tha hua tha sabse pehle sabhi dharmon ke logo ko milta hai jo aajkal dharm ke naam par chal raha hai agar aap ki baat kare toh aapko bhajpa ka bata diya jata hai ki baat karte hain ya galat hai nahi hindu is desh ka bahusankhyak hai aur jab se yah sabhyata chali aa rahi hai sindhu sabhyata tab se hindu hi hua karte the is desh ke log khule taur par raajneeti raajneeti raajneeti ka samarthan karne ka matlab

क्या मोदी जी की वजह से लोकतंत्र खतरे में है जी नहीं मैं ऐसा बिल्कुल भी नहीं मानता कि मोदी

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  362
WhatsApp_icon
user
1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह कहना सीधा-सीधा की मोदी जी की वजह से लोकतंत्र खतरे में है और मोदी जी की सरकार में हरे कॉन्स्टिट्यूशन की जो अपनी एक भूमिका जो कॉन्स्टिट्यूशन की एजेंसी है मन की जस जोड़ी चली है और इलेक्शन कमीशन है आरटीआई को मोदी सरकार ने कमजोर कर दिया कि आ गई है तो यह सारी चीजें अपने हिसाब से डालना चाह रहे हैं अपने हिसाब से आज तक की तरह एक राजा होता तो यह सच है कि आज के दिन में लोकतंत्र को खतरा है बहुत-बहुत है आज लोगों को लगता है कि नहीं यह बता दो कभी उसका स्टार्टिंग में जब पूरी की जाती है ना तो सब कुछ अच्छी लगती है जब खुद पर प्रभाव पड़ने लग जाएगा ना लोगों के तब उनको समझ आएगी हां सच में लोकतंत्र खतरा है और यह सच है कि लोकतंत्र पर खतरा मंडरा रहा है पर इतना भी कमजोर नहीं कि कोई भी एकदम से उसको छोड़ दें क्योंकि हिंदुस्तान में सब मिलकर उसे खत्म नहीं हो

yah kehna seedha seedha ki modi ji ki wajah se loktantra khatre mein hai aur modi ji ki sarkar mein hare Constitution ki jo apni ek bhumika jo Constitution ki agency hai man ki jass jodi chali hai aur election commision hai rti ko modi sarkar ne kamjor kar diya ki aa gayi hai toh yah saree cheezen apne hisab se dalna chah rahe hain apne hisab se aaj tak ki tarah ek raja hota toh yah sach hai ki aaj ke din mein loktantra ko khatra hai bahut bahut hai aaj logo ko lagta hai ki nahi yah bata do kabhi uska starting mein jab puri ki jaati hai na toh sab kuch achi lagti hai jab khud par prabhav padane lag jaega na logo ke tab unko samajh aayegi haan sach mein loktantra khatra hai aur yah sach hai ki loktantra par khatra mandra raha hai par itna bhi kamjor nahi ki koi bhi ekdam se usko chod de kyonki Hindustan mein sab milkar use khatam nahi ho

यह कहना सीधा-सीधा की मोदी जी की वजह से लोकतंत्र खतरे में है और मोदी जी की सरकार में हरे कॉ

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user

munmun

Volunteer

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं मोदी की जी की वजह से जो है लोकतंत्र खतरे में नहीं है यह जो है लोगों की जो है सोच है क्योंकि कुछ लोग यह लोग मोदी जी को जो है पसंद नहीं करते इसलिए उनको लेकर जो है हमेशा नेगेटिव ही जो है सोच रखते हैं अगर अगर उनके जो है काम के प्रति जून की भावना है और लगन कि अगर मैं देखा जाए तो हमारे दे भारत देश के लिए जो है बहुत अच्छे काम करें और बहुत सारी योजनाएं जो है वह ला रहे हैं जिसे जो है भारतीय भारतीय लोगों का जो है बहुत पैसा है तो मिल पा रही है

ji nahi modi ki ji ki wajah se jo hai loktantra khatre mein nahi hai yah jo hai logo ki jo hai soch hai kyonki kuch log yah log modi ji ko jo hai pasand nahi karte isliye unko lekar jo hai hamesha Negative hi jo hai soch rakhte hain agar agar unke jo hai kaam ke prati june ki bhavna hai aur lagan ki agar main dekha jaaye toh hamare de bharat desh ke liye jo hai bahut acche kaam kare aur bahut saree yojanaye jo hai vaah la rahe hain jise jo hai bharatiya bharatiya logo ka jo hai bahut paisa hai toh mil paa rahi hai

जी नहीं मोदी की जी की वजह से जो है लोकतंत्र खतरे में नहीं है यह जो है लोगों की जो है सोच ह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  359
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!