लड़कियों के ऊपर अत्याचार क्यूँ होता है?...


play
user
1:05

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा तो देश से वह एक पुरुष प्रधान देश है और यह महिलाओं पर अत्याचार आज से नहीं बहुत पहले से होता रहा है जैसे देवी देवता के टाइम ही होता रहा है तो हमारे पुरानी किताबों में लिखी गई है लड़कियों के चार इसलिए होता है क्योंकि जो भी पुरुष होते हैं या फिर जो भी बड़े लोग होते हैं वह सोचते हैं यह उसका दिल नहीं जो भी हो जो सोचते हैं कि यह काम यह नहीं कर सकती और ऐसा है नहीं है कि लड़कियां काम नहीं करती लड़कियां सारे काम कर सकती है बट लोगों को समझने की जरूरत होती है और यह बात तूने कोई नहीं समझता है और उन्हें उन्हें हमेशा दबाकर रखना चाहते हैं चाहे वह घर में हो ससुराल में हो या कहीं पर भी हो उन्हें लोग तनी सा दवा के रखते हैं और लड़कियों को जब तक आत्मबल के बारे में ना सिखाया जाए आत्महत्या कैसे करना है ना शिकायत अब तक लड़की अत्याचार की शिकार होती रहेंगी क्योंकि समाज में बहुत सारे असामाजिक तत्व होते हैं जो लड़की क्यों को बहुत गंदी नजर से देखते हैं और उन्हें भला भला बुरा कहते रहते हैं

hamara toh desh se wah ek purush pradhan desh hai aur yeh mahilaon par atyachar aaj se nahi bahut pehle se hota raha hai jaise devi devta ke time hi hota raha hai toh hamare purani kitabon mein likhi gayi hai ladkiyon ke char isliye hota hai kyonki jo bhi purush hote hain ya phir jo bhi bade log hote hain wah sochte hain yeh uska dil nahi jo bhi ho jo sochte hain ki yeh kaam yeh nahi kar sakti aur aisa hai nahi hai ki ladkiyan kaam nahi karti ladkiyan saare kaam kar sakti hai but logo ko samjhne ki zarurat hoti hai aur yeh baat tune koi nahi samajhata hai aur unhein unhein hamesha dabakar rakhna chahte hain chahe wah ghar mein ho sasural mein ho ya kahin par bhi ho unhein log tani sa dawa ke rakhte hain aur ladkiyon ko jab tak atmabal ke bare mein na sikhaya jaye atmahatya kaise karna hai na shikayat ab tak ladki atyachar ki shikaar hoti rahegi kyonki samaj mein bahut saare asamajik tatva hote hain jo ladki kyon ko bahut gandi nazar se dekhte hain aur unhein bhala bhala bura kehte rehte hain

हमारा तो देश से वह एक पुरुष प्रधान देश है और यह महिलाओं पर अत्याचार आज से नहीं बहुत पहले स

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  355
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!