यूआईडीएआई ने द ट्रिब्यून, रिपोर्टर रचित खैरा के खिलाफ आधार डेटा भंग होने की कहानी के लिए प्राथमिकी दर्ज की, क्या सरकार सही काम कर रही है?...


play
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:26

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए सबसे पहले तुम्हें बता दो कि रचित खैरानी रोड रचना कहना नाम की रिपोर्ट के खिलाफ FIR दर्ज करवाई गई है डिप्टी डायरेक्टर है जो यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी कि यूआईडीएआई के उन्होंने FIR दर्ज करवाई है ट्रिब्यून के कुछ रिपोर्टों इसके खिलाफ जन्मे रचना खैरा अनिल कुमार सुनील कुमार और राज शामिल है अभी दो-तीन दिन पहले ही ट्रिब्यून ने एक न्यूज शादी थी की ₹500 देखकर आपको WhatsApp पर आधार की सारी डिटेल्स निकलवा सकते हैं और उसी के खिलाफ जॉइन कम पर उन्होंने यह FIR दर्ज करवाई है और यह प्यार के अंदर सेक्शन 40 शायरी की सेटिंग के लिए 420 सेटिंग के लिए 468 चौधरी के लिए और 471 यूजिंग जानवर यूरिन कल्चर इन वन ऑफिस डॉक्यूमेंट के नाम पर यह रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है लेकिन मुझे लगता है बिल्कुल गलत है एक रिपोर्टर का काम है सच्चाई को सामने लेकर आना उनके सच सामने लाने पर उनके खिलाफ FIR दर्ज कराई जा रही है या उन्हें धमकाया जा रहा है तो वह बिल्कुल गलत है और जो हमारे फ्रीडम ऑफ राइट एंड फ्रीडम ऑफ स्पीच है जब उसके खिलाफ है तो ऐसा नहीं होना चाहिए

dekhiye sabse pehle tumhe bata do ki rachit khairani road rachna kehna naam ki report ke khilaf FIR darj karwai gayi hai deputy director hai jo Unique aidentifikeshan authority of india yani ki UIDAI ke unhone FIR darj karwai hai tribune ke kuch riporton iske khilaf janme rachna khaira anil kumar sunil kumar aur raj shaamil hai abhi do teen din pehle hi tribune ne ek news shadi thi ki Rs dekhkar aapko WhatsApp par aadhaar ki saree details nikalava sakte hain aur usi ke khilaf join kam par unhone yah FIR darj karwai hai aur yah pyar ke andar section 40 shaayari ki setting ke liye 420 setting ke liye 468 choudhary ke liye aur 471 using janwar urine culture in van office document ke naam par yah report darj karwai gayi hai lekin mujhe lagta hai bilkul galat hai ek reporter ka kaam hai sacchai ko saamne lekar aana unke sach saamne lane par unke khilaf FIR darj karai ja rahi hai ya unhe dhamkaya ja raha hai toh vaah bilkul galat hai aur jo hamare freedom of right and freedom of speech hai jab uske khilaf hai toh aisa nahi hona chahiye

देखिए सबसे पहले तुम्हें बता दो कि रचित खैरानी रोड रचना कहना नाम की रिपोर्ट के खिलाफ FIR दर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  143
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!