अनंत कुमार हेगड़े ने संविधान बदलने की बात क्यों कही?...


user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कहां दिखे हर सरकार जो आती है वह समझते है कि उसे चैट को जो है वह उस उंर के हिसाब से जो है वह चलाना चाहिए तो ठीक है वह कौन जीता से चला सकते हैं उनको फूलने इंडिपेंडेंस है रहती है कि जो चीफ मिनिस्टर को अपने हिसाब से उसे सीट को चला सकता है वह जिससे वह समझते हैं कि उस डेट की ग्रोथ होगी लेकिन मैं कॉन्स्टिट्यूशन को चेंज करना और यह कहना कि कौन से स्टेशन में जो अभी है वह गलत है हम उसको चेंज करना चाहते हैं तो यह मैं सब समझता हूं कि बिल्कुल ही गलत बात है ऐसा नहीं सोचना चाहिए क्योंकि कॉन्स्टिट्यूशन जो है वह बहुत ही सोच समझकर बी आर अंबेडकर जी और उनकी टीम में जो है वह कष्ट किया था तो मैं नहीं समझता कि हमारे कौन से स्टेशन में कोई भी ऐसी बात है जो रोज इसको चेंज करने की जरूरत है तो वह जो चल रहा है वह से चलते रहने देना चाहिए और हमारी कॉन्स्टिट्यूशन को गलत ठहराने से जो है उससे कुछ फायदा होगा नहीं उनको और उन्होंने अगर ऐसे स्टेटमेंट दिया तो वह अपने पॉलिटिकल फायदे के लिए ही दिया

kahaan dikhe har sarkar jo aati hai vaah samajhte hai ki use chat ko jo hai vaah us unr ke hisab se jo hai vaah chalana chahiye toh theek hai vaah kaun jita se chala sakte hain unko phulne Independence hai rehti hai ki jo chief minister ko apne hisab se use seat ko chala sakta hai vaah jisse vaah samajhte hain ki us date ki growth hogi lekin main Constitution ko change karna aur yah kehna ki kaunsi station mein jo abhi hai vaah galat hai hum usko change karna chahte hain toh yah main sab samajhata hoon ki bilkul hi galat baat hai aisa nahi sochna chahiye kyonki Constitution jo hai vaah bahut hi soch samajhkar be R ambedkar ji aur unki team mein jo hai vaah kasht kiya tha toh main nahi samajhata ki hamare kaunsi station mein koi bhi aisi baat hai jo roj isko change karne ki zarurat hai toh vaah jo chal raha hai vaah se chalte rehne dena chahiye aur hamari Constitution ko galat thaharane se jo hai usse kuch fayda hoga nahi unko aur unhone agar aise statement diya toh vaah apne political fayde ke liye hi diya

कहां दिखे हर सरकार जो आती है वह समझते है कि उसे चैट को जो है वह उस उंर के हिसाब से जो है व

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Apurva D

Optimistic Coder

0:58

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैंने जो न्यूज़ पड़ी है उसके आधार पर मैं इस क्वेश्चन का आंसर देना चाहूंगी अनंत कुमार हेगड़े इन्होंने कर्नाटक के कार्यक्रम में जो भाषण दिया था उसे यह लगता है कि उनको धर्मनिरपेक्षता से कुछ प्रॉब्लम है क्योंकि उन्होंने ऐसा कहा कि हर व्यक्ति ने अपनी पहचान और जाति के आधार पर करनी चाहिए जैसे की मैं मुस्लिम हूं मैं हिंदू हूं मैं ठीक हूं ऐसा कुछ ना कि मैं धर्म निरपेक्ष हूं ऐसा कहना चाहिए तू इसी बात पर उन्होंने संविधान बदलने की बात कही है लेकिन हम अभी हाल ही में एक न्यूज़ आई है कि संसद में इसके ऊपर बहुत बड़ा हंगामा खड़ा हुआ है तो आनंद कुमार एग्रेशन इसके ऊपर माफी भी मांग ली है पर शायद उनके मन में तब यही बात थी इसलिए उन्होंने संविधान बदलने की बात कही हुई

dekhiye maine jo news padi hai uske aadhaar par main is question ka answer dena chahungi anant kumar hegde inhone karnataka ke karyakram mein jo bhashan diya tha use yah lagta hai ki unko dharmanirapekshata se kuch problem hai kyonki unhone aisa kaha ki har vyakti ne apni pehchaan aur jati ke aadhaar par karni chahiye jaise ki main muslim hoon main hindu hoon main theek hoon aisa kuch na ki main dharm nirpeksh hoon aisa kehna chahiye tu isi baat par unhone samvidhan badalne ki baat kahi hai lekin hum abhi haal hi mein ek news I hai ki sansad mein iske upar bahut bada hungama khada hua hai toh anand kumar egreshan iske upar maafi bhi maang li hai par shayad unke man mein tab yahi baat thi isliye unhone samvidhan badalne ki baat kahi hui

देखिए मैंने जो न्यूज़ पड़ी है उसके आधार पर मैं इस क्वेश्चन का आंसर देना चाहूंगी अनंत कुमार

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!