मैं अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत परेशान हूं| मुझे क्या करना चाहिए?...


user
0:35
Play

Likes  155  Dislikes    views  1776
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Durga Charan Pandey

Ph.D (शिक्षाविद)

4:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं अपने ऑफिस की परिस्थिति से परेशान हूं मुझे क्या करना चाहिए पहली बात तो यह है कि आपने प्रश्न पूछा इसके लिए आपको धन्यवाद मैं डॉक्टर दुर्गाचरण पांडे आपको यह लगता है कि आप अपने ऑफिस की परिस्थिति से परेशान हैं जबकि मुझे क्या लगता है कि आपको ऑफिस की परिस्थिति से परेशान नहीं है आप ऑफिस की परिस्थिति के विरुद्ध अपनी प्रतिक्रिया से परेशान हैं हमारी परेशानी हमारे सुख हमारे दुख बाहर से नहीं आते हमारे प्रतिक्रियाओं से जन्मते हैं ऑफिस में जो परिस्थिति हो दरियापुर से परेशान है यकीन मानिए आप जहां भी जाते होंगे वहां से परेशानी लाते हो इसलिए की परेशानियां बाहर से नहीं आ रही है आपकी प्रतिक्रिया के परिणाम है परेशानियां तो मैं आपसे यह कहना चाहूंगा कि यदि वास्तव में आप ऑफिस के परिस्थिति से परेशान हैं तो आप इस बिल्कुल मत बदलिए क्योंकि आप जहां भी जाएंगे वहां आपको यही अनुभव मिलने वाला है एक काम करिए अपनी प्रतिक्रिया बतलाइए पहली बात तो आप आराम से लेट जाएं और लेट करके अपने ऑफिस को ध्यान से देखें कल्पना में और मन ही मन दोरायकी मेरा आपकी बहुत प्यारा ऑफिस आ गए सभी लोग बहुत प्यारे हैं और कल्पना करेगी जब मैं जाता हूं तो सारे मुझे सम्मान करते हैं करके देखें आप जो चाहते आप जाते आपका बहुत आपको प्रेम से बोलता है दर्द में प्रयोग करिए और साथ में शादी करेगी वह भी सबसे प्रेम से बात करता हूं मैं जलाता नहीं किसी काम को मैं बहुत प्रेम से लेता हूं प्रेम से करता हूं इस तरह से आपकी परिस्थिति वही रहेगी लेकिन आप की स्थिति बदल जाएगी परिस्थिति वही सब कुछ बदल जाए इसलिए मैं आपसे कह रहा हूं कि आप ऑफिस में छोरे परेशान ना रहे आप अपने मानसिक दशा को बदलिए पर इस प्रतिक्रिया को बदलिए आपको जब आपके बुलाते हैं आप सोचते हुए कि आज फिर से कुछ बड़ा काम काम आएगा फिर से यह मुझे काटेगा कोई आपका दोस्त मित्र आपको चलाता होगा अब जा काम करते होंगे वहां पर आपके जो लोग होंगे हां ऐसा होता है लेकिन आपको इस परिस्थिति में अपने पति को चेंज करना है और मैं जो ऑपरेशन किया हूं दिया हूं उसको अधूरा है आप बोले कि मैं शांत हो रहा हूं शांत हो रहा हूं को देखें और देखे जो आप चार है वह हो रहा है सब कुछ वहां पर आपके साथ आप खुश हैं आप करके देखिए तो आप मुझे फोन कर सकते हैं 8340 26505 यह मेरा नंबर हुआ मैं आपका और सहयोग करना चाहता हूं और यकीन मानिए जल्दी आपकी परिस्थितियां बदल जाएगी

main apne office ki paristhiti se pareshan hoon mujhe kya karna chahiye pehli baat toh yah hai ki aapne prashna poocha iske liye aapko dhanyavad main doctor durgacharan pandey aapko yah lagta hai ki aap apne office ki paristhiti se pareshan hain jabki mujhe kya lagta hai ki aapko office ki paristhiti se pareshan nahi hai aap office ki paristhiti ke viruddh apni pratikriya se pareshan hain hamari pareshani hamare sukh hamare dukh bahar se nahi aate hamare pratikriyaon se janmate hain office me jo paristhiti ho dariyapur se pareshan hai yakin maniye aap jaha bhi jaate honge wahan se pareshani laate ho isliye ki pareshaniya bahar se nahi aa rahi hai aapki pratikriya ke parinam hai pareshaniya toh main aapse yah kehna chahunga ki yadi vaastav me aap office ke paristhiti se pareshan hain toh aap is bilkul mat badaliye kyonki aap jaha bhi jaenge wahan aapko yahi anubhav milne vala hai ek kaam kariye apni pratikriya batlaiye pehli baat toh aap aaram se late jayen aur late karke apne office ko dhyan se dekhen kalpana me aur man hi man dorayaki mera aapki bahut pyara office aa gaye sabhi log bahut pyare hain aur kalpana karegi jab main jata hoon toh saare mujhe sammaan karte hain karke dekhen aap jo chahte aap jaate aapka bahut aapko prem se bolta hai dard me prayog kariye aur saath me shaadi karegi vaah bhi sabse prem se baat karta hoon main jalata nahi kisi kaam ko main bahut prem se leta hoon prem se karta hoon is tarah se aapki paristhiti wahi rahegi lekin aap ki sthiti badal jayegi paristhiti wahi sab kuch badal jaaye isliye main aapse keh raha hoon ki aap office me chhoray pareshan na rahe aap apne mansik dasha ko badaliye par is pratikriya ko badaliye aapko jab aapke bulate hain aap sochte hue ki aaj phir se kuch bada kaam kaam aayega phir se yah mujhe katega koi aapka dost mitra aapko chalata hoga ab ja kaam karte honge wahan par aapke jo log honge haan aisa hota hai lekin aapko is paristhiti me apne pati ko change karna hai aur main jo operation kiya hoon diya hoon usko adhura hai aap bole ki main shaant ho raha hoon shaant ho raha hoon ko dekhen aur dekhe jo aap char hai vaah ho raha hai sab kuch wahan par aapke saath aap khush hain aap karke dekhiye toh aap mujhe phone kar sakte hain 8340 26505 yah mera number hua main aapka aur sahyog karna chahta hoon aur yakin maniye jaldi aapki paristhiyaann badal jayegi

मैं अपने ऑफिस की परिस्थिति से परेशान हूं मुझे क्या करना चाहिए पहली बात तो यह है कि आपने प्

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  456
WhatsApp_icon
user
2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका किस सन में अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत परेशान हूं मुझे क्या करना चाहिए लिखे का विवाह ऐसा है काफी ऐसे कैसे आते हैं कई बार ऐसा होता है कि आपके ऑफिस में काम खोलो रोती है आपका आपके स्टाफ के साथ में अच्छे से स्टाफ के साथ आपका अच्छा व्यवहार नहीं होता है या फिर जो मैनेजमेंट टीम के साथ प्रॉब्लम होती है या कुछ भी है आपके आपका जो ऊपर से आपसे अपनी जॉब से संतुष्ट नहीं होते तो काफी है सृजन सोते हैं जिसके विषय आपको परिस्थितियों चीज नहीं होती है तो जो भी प्रॉब्लम आ रही है आपके साथ में तो आपको अपनी को मैनेजमेंट इन उसको सीखना चाहिए अपने स्टाफ के साथ अच्छा फ्रेंडशिप वाला व्यवहार रखना चाहिए जो भी बात है उसको आपको क्लीयरली क्लियर कान्हा जी के लिए लिए आप कौन-कौन से करना सीख ले लिया उनको बोल देना चाहिए अगर कंट्रीज कंटीन्यूअसली ऐसी प्रॉब्लम मारी कंटिन्यूज लिए आप अगर अपनी जॉब से संतुष्ट नहीं है तो आप अपनी जॉब को भी चेंज कर सकते हैं अगर आपको अपने आप अपने आप को सुबह आर मेडा नहीं पा रहे अपने आपको इन परिस्थितियों में डाल नहीं पा रहे हैं तो आप अपनी जो भी चेंज कर सकते हैं तो इसके लिए आपको ज्यादा आफ थे फ्लाइज होने की आवश्यकता नहीं आपको या तो आप उसको अपने अपने अनुसार आपस में ढल चाहिए या आपने जो पोस्ट आपके साथ में सरकार की मैनेजमेंट टीम अगर आपकी बात मान ली है उनसे आप विचार विमर्श करने पर बैठकर फिर बेकरारी है तो वह लास्ट ऑप्शन आपके पास है आप अपनी फोटो चेंज कर सकते हैं जैसे कि आपको एक नया इंवॉल्वमेंट मिल सके नए आपको जो मिल के लेंगे जो लोग हैं उनके साथ अपने आप को डाल सकते

namaskar aapka kis san me apne office ki paristhitiyon se bahut pareshan hoon mujhe kya karna chahiye likhe ka vivah aisa hai kaafi aise kaise aate hain kai baar aisa hota hai ki aapke office me kaam kholo roti hai aapka aapke staff ke saath me acche se staff ke saath aapka accha vyavhar nahi hota hai ya phir jo management team ke saath problem hoti hai ya kuch bhi hai aapke aapka jo upar se aapse apni job se santusht nahi hote toh kaafi hai srijan sote hain jiske vishay aapko paristhitiyon cheez nahi hoti hai toh jo bhi problem aa rahi hai aapke saath me toh aapko apni ko management in usko sikhna chahiye apne staff ke saath accha friendship vala vyavhar rakhna chahiye jo bhi baat hai usko aapko kliyarali clear kanha ji ke liye liye aap kaun kaun se karna seekh le liya unko bol dena chahiye agar countries kantinyuasali aisi problem mari continues liye aap agar apni job se santusht nahi hai toh aap apni job ko bhi change kar sakte hain agar aapko apne aap apne aap ko subah R meda nahi paa rahe apne aapko in paristhitiyon me daal nahi paa rahe hain toh aap apni jo bhi change kar sakte hain toh iske liye aapko zyada of the flies hone ki avashyakta nahi aapko ya toh aap usko apne apne anusaar aapas me dhal chahiye ya aapne jo post aapke saath me sarkar ki management team agar aapki baat maan li hai unse aap vichar vimarsh karne par baithkar phir bekrari hai toh vaah last option aapke paas hai aap apni photo change kar sakte hain jaise ki aapko ek naya invalwament mil sake naye aapko jo mil ke lenge jo log hain unke saath apne aap ko daal sakte

नमस्कार आपका किस सन में अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत परेशान हूं मुझे क्या करना चाहिए

Romanized Version
Likes  78  Dislikes    views  915
WhatsApp_icon
user

Vinita Rastogi

Career Counsellor / Life Coach

0:58
Play

Likes  2  Dislikes    views  102
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:17
Play

Likes  120  Dislikes    views  2133
WhatsApp_icon
user

Shaikh Gayas

Fitness Trainer

1:24
Play

Likes  96  Dislikes    views  2178
WhatsApp_icon
user

Raja Bhaiya Gandhi

Brain Enhance Workshop & Career Counselling

10:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उपाय बहुत सारे हैं एक लंबा डिस्कशन अगर आप से हो तो परिस्थितियों को पहले समझा जाए और फिर उत्तर निकाले जाए लेकिन इस चैनल पर यहां पर उतना संभव नहीं तो कुछ बातें ध्यान में ला देना चाहता हूं कि आप इस की परिस्थितियां आपके अनुकूल नहीं हो रही हैं तो पहली बार एक आत्म चिंतन आप करें आत्म अवलोकन आप करें कि मैं ऑफिस वह पैसा दे काम आपके अनुकूल है अंतःकरण में संतुष्टि है और अगर है तो किस चीज की संतुष्टि है क्या कार्य की संतुष्टि है जिस कार्य को आप कर रहे हो वह कार्य आपको कंफर्ट महसूस कराता है दूसरा या पैसे की संतुष्टि या असंतुष्ट है पैसा पर्याप्त मिल रहा है इसकी संतुष्टि है इस कारण आप ऑफिस में जा रहे हैं या उसकी कहीं ना कहीं और संतुष्टि है कि पैसा कब मिल रहा है आपको और चाहिए तो पहले अंदर क्या आज संतुष्टि चल रही है उधर क्या परेशानी चल रही है पहले अपनी अंदर की परेशानी अपने अंदर की मजबूरियां की किस कारण से आपको ऑफिस में कंटिन्यू बने हुए हो क्या डर है उन सब का अवलोकन करें आप मुझसे व्यक्तिगत रूप से संपर्क कर सकते हैं तो मैं आपके ब्रेन के न्यूरॉन अपनी मशीन द्वारा स्कैन कर सकता हूं जैसा कि मैंने हजारों लोगों का पिछले 5 सालों में किया है और हम पता लगा सकते हैं कि आप की क्षमताएं क्या-क्या है आपकी कैपेसिटी क्या है आप सबसे बेहतरीन काम कौन सा कर सकते हैं तो यह तो एक अलग प्रोसेस हो जाएगी जब आप संपर्क करेंगे तब की बात है अब बात कर रहे हैं कि अभी हम में क्या करना चाहिए आपका प्रश्न है कि मुझे क्या करना चाहिए तो पहला उत्तर मैंने आपको दिया कि पहले तो आत्मा ब्रोकन करें अब परिस्थितियों को कैसी भी परिस्थितियां हूं कुछ भी हो आप उन्हें ठीक करना चाहते हैं अगर तो उपाय तो मैं भी यहां से देख सकता हूं आपको लेकिन वह उपाय उतना काम कर होगा या नहीं मैं नहीं कह सकता क्योंकि मैंने आप की परिस्थितियों को विस्तार से नहीं जाना है फिर भी एक घटना आपके ध्यान में ला देता हूं एक बार एक व्यक्ति ने मुझसे सही कहा तो उससे लंबी चर्चा के दौरान पता चला कि उसका जो ऑफिस का मैनेजर है वह भी अभी बदला गया है और उस मैनेजर से उसका ना जाने क्यों 36 का आंकड़ा हो गया है वैसे तो वह सभी को बहुत ज्यादा टॉर्चर करता है परंतु मुझे पर अति उसकी कृपा है और ज्यादा से ज्यादा टॉर्चर मुझे ही करता है सर्वाधिक टॉर्चर मुझे ही करता है मैं क्या करूं तो मैंने उसे प्रयोग दिया कि ऐसा करो उस मैनेजर से एक फॉर तो मांग लो या उसकी फोटो खींच लो और उसे घर पर ले जाओ और अपने तकिए पर चिपका दो और शाम को जब घर पहुंचा तो 10 जूते उस तकिए पर उसके चेहरे पर खींचकर मारो पूरे क्रोध से मारो सुबह ऑफिस निकलने से पहले 5 जूते कसके उसे मारो और जब जिस दिन में ज्यादा क्रोध करे उस दिन दो जूते और अतिरिक्त मार कर आओ घर पर जाकर उसे मारो प्रयोग बेवकूफी जैसा था उसे भी बिल्कुल बेवकूफी वाला लगा लेकिन मेरे प्रयोग अक्सर थोड़े से ऐसे होते हैं मैंने कहा कि करना है वस्तु में उसकी मेरे पर श्रद्धा रही होगी जैसा भी उसने प्रयोग करा प्रयोग करने की कुछ 3 दिन बाद उसने मुझे फीडबैक दिया कि अब वह बड़ा खुश रहने लगा है अब उसे कोई टेंशन नहीं होती मानसिक तनाव नहीं होता बॉस अभी भी खडूस है मैंने क्या तुम लगे रहो ठीक गुरुजी और जब जब मुझे गुस्सा आता है तो मैं दो जूते हो एक्स्ट्रा मार देता हूं मैंने बहुत बढ़िया करीब करीब 15 दिन बाद मैनेजर ने उसकी खुशी पकड़ ली पकड़ तो पहले ही ली होगी और 15 दिन बाद उसने उसको पकड़ लिया और उसने कहा एक बात बताओ पहले तुम बड़े चिड़चिड़ा रहते थे मुध मरना रहता था आजकल तुम जब भी मेरे केबिन में आते हो बढ़ा मुस्कुरा कर आते हो बढ़ा हंस के आते हो बड़े अच्छे से आते हो और तुम्हें दिन भर में चाहे कुछ भी कर लो तुम गुस्सा जरा फन नहीं आती तुम दिन भर खुश खुश दिखते हो मुझे क्या बात है और आजकल मैं तुम पर ज्यादा ही ग्रोथ कर रहा हूं क्योंकि तुम्हारी खुशी मुझसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं हो रही मुझे समझ नहीं आ रहा कि क्या बात है और आज तुम्हें बताना पड़ेगा वरना मैं तो नौकरी से निकाल दूंगा उसने क्या वह एक गुरुजी के पास में गया था उन्होंने प्रयोग बताया बस वह मैं करता हूं उसके कारण खुश रहता हूं उन्हें बताओ उन्हें के बता दूंगा तो भी आप निकाल दोगे नहीं बताऊंगा तो भी निकाल दोगे इससे तो बता ही देता हूं उसने बता दिया मैंने यार बहुत बहुत होगा फिर उसने उस दिन से उसे परेशान करना छोड़ दिया बात यह है कि हमारी मानसिक परिस्थितियां कैसी हैं जैसे कि एक मजबूत शरीर ताकतवर शरीर छोटी-मोटी बीमारियों को जेल जाता है और कमजोर शरीर हल्की सी बीमारी को भी सहन नहीं कर पाता ऐसे ही हमारा मानसिक स्थिति हमारी मस्तिष्क की मजबूती कितनी हम कितना प्रेशर जेल पर है वह डिपेंड करता है कि अगर हमारी मस्तिष्क की मजबूती अच्छी नहीं है तो उसे मजबूत करना मस्तिष्क को ताकतवर बनाना जरूरी है अब इसके लिए बहुत सारे प्रयोग दिया जा सकते हैं एक और दूसरा प्रयोग है जो अक्सर में सब लोगों को देता हूं लेकिन वह आफ्टर काउंसलिंग होता है उसकी परिस्थितियों को विश्लेषण करने के बाद फिर भी मैं आपको इस चैनल के द्वारा दे दे आप आज से जब ऑफिस जाएं अब जब लोग डाउन के बाद जब ऑफिस खुले और आप से आना शुरू करें तो अभी वर्तमान में जब आप घर पर हैं तो 1 लंबी लिस्ट बनाएं एक लंबी लिस्ट बनाएं उसमें सारी पॉजिटिव बातें आपके ऑफिस की हर एक एंप्लॉय की सारी पॉजिटिव बातें लिखें और हर एक एंप्लॉय ने जब जब जो जो भी आपके लिए हेल्प यू करा था अच्छा करा था उन सबको नोट डाउन करें प्रॉपर नोट डाउन करें और क्योंकि अभी छुट्टी के दिन चल रहे हैं तो उन सभी कर्मचारियों को प्रतिदिन एक या दो कर्मचारियों को कॉल करके उन सारी अच्छी बातों के लिए जो उन्होंने की थी आपके प्रति उसका वापस उल्लेख करते हुए उनको धन्यवाद दें उन सबको दे इस छुट्टी का फायदा उठाएं सबको धन्यवाद दें बातें करें खूब सारी अच्छी सी और उनकी सारी अच्छी बातों को लाइक करें और उनसे कोई शिकायत कुछ भी ना करें शिकायतों को भूल जाए अच्छी बातों को याद करें अच्छा सोचेंगे किस-किस ने क्या-क्या करा आपके ऑफिस का क्या क्या आपको अच्छा लगता है क्या चीजें वहां पर अच्छी हैं पर सोचना शुरू करें और प्रत्येक दिन आप ऑफिस के ऑफिस जाने से आपको क्या क्या बेनिफिट होता है क्या-क्या लाभ होता है जैसे आपको तनखा मिलती है उससे आपको क्या क्या लाभ होता है इस तरह की बहुत सारी बातें जो मैं विस्तार से अलग से भी बता सकता हूं आप कमेंट करेंगे मुझसे संपर्क करेंगे तो वह सारी बातें लिख लिख ले और उनमें से चार या पांच बातें अभी रोज प्रतिदिन रात को सोने से पहले आपको बोलना है अगले जब तक ऑफिस खुलता है तब तक 14 दिन आपको पर्याप्त समय बहुत अच्छा किए जैसे कि मुझे इतनी तनखा मिलती है यह मेरे लिए बहुत अच्छी बात है ऑफिस अगर दूर है तो उसके क्या फायदे हैं अगर ऑफिस पास है तो उसके क्या फायदे क्या-क्या फायदे हैं आपको हैं और ऑफिस आपको क्यों पसंद है क्यों यह नौकरी पसंद है क्यों किन कारणों से जूस जॉब पसंद है वह सारी बातें सोने से पहले आपको दो रानी है बोलनी है यह सबकॉन्शियस माइंड में जाएंगी और 15 दिन बाद आप परिणाम देखोगे कि अद्भुत आएंगे और यह परिणाम सिर्फ ऐसा नहीं है कि आपको अच्छा महसूस होने लगेगा माहौल भी परिस्थितियां भी अच्छी बनने लगेंगी और दूसरे सारे कर्मचारी भी आपसे अच्छा ही व्यवहार करने वाले को आप गारंटीड समझ लो हजार लोगों पर से ज्यादा पर में यह प्रयोग कर चुका हूं जिस सफल रहा है ठीक है इसके अलावा मैं आपको एक किताब का नाम देता हूं उसकी ऑडियो भी आती है उसकी वीडियो भी है और चेतन मन की शक्ति अवचेतन मन की शक्ति छुट्टी के दौरान इसे पढ़ ले या वसूलने धन्यवाद

upay bahut saare hain ek lamba discussion agar aap se ho toh paristhitiyon ko pehle samjha jaaye aur phir uttar nikale jaaye lekin is channel par yahan par utana sambhav nahi toh kuch batein dhyan me la dena chahta hoon ki aap is ki paristhiyaann aapke anukul nahi ho rahi hain toh pehli baar ek aatm chintan aap kare aatm avalokan aap kare ki main office vaah paisa de kaam aapke anukul hai antahkaran me santushti hai aur agar hai toh kis cheez ki santushti hai kya karya ki santushti hai jis karya ko aap kar rahe ho vaah karya aapko comfort mehsus karata hai doosra ya paise ki santushti ya asantusht hai paisa paryapt mil raha hai iski santushti hai is karan aap office me ja rahe hain ya uski kahin na kahin aur santushti hai ki paisa kab mil raha hai aapko aur chahiye toh pehle andar kya aaj santushti chal rahi hai udhar kya pareshani chal rahi hai pehle apni andar ki pareshani apne andar ki majabooriyan ki kis karan se aapko office me continue bane hue ho kya dar hai un sab ka avalokan kare aap mujhse vyaktigat roop se sampark kar sakte hain toh main aapke brain ke nueron apni machine dwara scan kar sakta hoon jaisa ki maine hazaro logo ka pichle 5 salon me kiya hai aur hum pata laga sakte hain ki aap ki kshamataen kya kya hai aapki capacity kya hai aap sabse behtareen kaam kaun sa kar sakte hain toh yah toh ek alag process ho jayegi jab aap sampark karenge tab ki baat hai ab baat kar rahe hain ki abhi hum me kya karna chahiye aapka prashna hai ki mujhe kya karna chahiye toh pehla uttar maine aapko diya ki pehle toh aatma broken kare ab paristhitiyon ko kaisi bhi paristhiyaann hoon kuch bhi ho aap unhe theek karna chahte hain agar toh upay toh main bhi yahan se dekh sakta hoon aapko lekin vaah upay utana kaam kar hoga ya nahi main nahi keh sakta kyonki maine aap ki paristhitiyon ko vistaar se nahi jana hai phir bhi ek ghatna aapke dhyan me la deta hoon ek baar ek vyakti ne mujhse sahi kaha toh usse lambi charcha ke dauran pata chala ki uska jo office ka manager hai vaah bhi abhi badla gaya hai aur us manager se uska na jaane kyon 36 ka akanda ho gaya hai waise toh vaah sabhi ko bahut zyada torture karta hai parantu mujhe par ati uski kripa hai aur zyada se zyada torture mujhe hi karta hai sarvadhik torture mujhe hi karta hai main kya karu toh maine use prayog diya ki aisa karo us manager se ek for toh maang lo ya uski photo khinch lo aur use ghar par le jao aur apne takiye par chipaka do aur shaam ko jab ghar pohcha toh 10 joote us takiye par uske chehre par khichkar maaro poore krodh se maaro subah office nikalne se pehle 5 joote keske use maaro aur jab jis din me zyada krodh kare us din do joote aur atirikt maar kar aao ghar par jaakar use maaro prayog bewakoofi jaisa tha use bhi bilkul bewakoofi vala laga lekin mere prayog aksar thode se aise hote hain maine kaha ki karna hai vastu me uski mere par shraddha rahi hogi jaisa bhi usne prayog kara prayog karne ki kuch 3 din baad usne mujhe feedback diya ki ab vaah bada khush rehne laga hai ab use koi tension nahi hoti mansik tanaav nahi hota boss abhi bhi khadus hai maine kya tum lage raho theek guruji aur jab jab mujhe gussa aata hai toh main do joote ho extra maar deta hoon maine bahut badhiya kareeb kareeb 15 din baad manager ne uski khushi pakad li pakad toh pehle hi li hogi aur 15 din baad usne usko pakad liya aur usne kaha ek baat batao pehle tum bade chidchida rehte the mudh marna rehta tha aajkal tum jab bhi mere cabin me aate ho badha muskura kar aate ho badha hans ke aate ho bade acche se aate ho aur tumhe din bhar me chahen kuch bhi kar lo tum gussa zara phan nahi aati tum din bhar khush khush dikhte ho mujhe kya baat hai aur aajkal main tum par zyada hi growth kar raha hoon kyonki tumhari khushi mujhse bilkul bardaasht nahi ho rahi mujhe samajh nahi aa raha ki kya baat hai aur aaj tumhe batana padega varna main toh naukri se nikaal dunga usne kya vaah ek guruji ke paas me gaya tha unhone prayog bataya bus vaah main karta hoon uske karan khush rehta hoon unhe batao unhe ke bata dunga toh bhi aap nikaal doge nahi bataunga toh bhi nikaal doge isse toh bata hi deta hoon usne bata diya maine yaar bahut bahut hoga phir usne us din se use pareshan karna chhod diya baat yah hai ki hamari mansik paristhiyaann kaisi hain jaise ki ek majboot sharir takatwar sharir choti moti bimariyon ko jail jata hai aur kamjor sharir halki si bimari ko bhi sahan nahi kar pata aise hi hamara mansik sthiti hamari mastishk ki majbuti kitni hum kitna pressure jail par hai vaah depend karta hai ki agar hamari mastishk ki majbuti achi nahi hai toh use majboot karna mastishk ko takatwar banana zaroori hai ab iske liye bahut saare prayog diya ja sakte hain ek aur doosra prayog hai jo aksar me sab logo ko deta hoon lekin vaah after kaunsaling hota hai uski paristhitiyon ko vishleshan karne ke baad phir bhi main aapko is channel ke dwara de de aap aaj se jab office jayen ab jab log down ke baad jab office khule aur aap se aana shuru kare toh abhi vartaman me jab aap ghar par hain toh 1 lambi list banaye ek lambi list banaye usme saari positive batein aapke office ki har ek employee ki saari positive batein likhen aur har ek employee ne jab jab jo jo bhi aapke liye help you kara tha accha kara tha un sabko note down kare proper note down kare aur kyonki abhi chhutti ke din chal rahe hain toh un sabhi karmachariyon ko pratidin ek ya do karmachariyon ko call karke un saari achi baaton ke liye jo unhone ki thi aapke prati uska wapas ullekh karte hue unko dhanyavad de un sabko de is chhutti ka fayda uthaye sabko dhanyavad de batein kare khoob saari achi si aur unki saari achi baaton ko like kare aur unse koi shikayat kuch bhi na kare shikayaton ko bhool jaaye achi baaton ko yaad kare accha sochenge kis kis ne kya kya kara aapke office ka kya kya aapko accha lagta hai kya cheezen wahan par achi hain par sochna shuru kare aur pratyek din aap office ke office jaane se aapko kya kya benefit hota hai kya kya labh hota hai jaise aapko tankha milti hai usse aapko kya kya labh hota hai is tarah ki bahut saari batein jo main vistaar se alag se bhi bata sakta hoon aap comment karenge mujhse sampark karenge toh vaah saari batein likh likh le aur unmen se char ya paanch batein abhi roj pratidin raat ko sone se pehle aapko bolna hai agle jab tak office khulta hai tab tak 14 din aapko paryapt samay bahut accha kiye jaise ki mujhe itni tankha milti hai yah mere liye bahut achi baat hai office agar dur hai toh uske kya fayde hain agar office paas hai toh uske kya fayde kya kya fayde hain aapko hain aur office aapko kyon pasand hai kyon yah naukri pasand hai kyon kin karanon se juice job pasand hai vaah saari batein sone se pehle aapko do rani hai bolani hai yah subconscious mind me jayegi aur 15 din baad aap parinam dekhoge ki adbhut aayenge aur yah parinam sirf aisa nahi hai ki aapko accha mehsus hone lagega maahaul bhi paristhiyaann bhi achi banne lagengi aur dusre saare karmchari bhi aapse accha hi vyavhar karne waale ko aap guaranteed samajh lo hazaar logo par se zyada par me yah prayog kar chuka hoon jis safal raha hai theek hai iske alava main aapko ek kitab ka naam deta hoon uski audio bhi aati hai uski video bhi hai aur chetan man ki shakti avachetan man ki shakti chhutti ke dauran ise padh le ya vasoolne dhanyavad

उपाय बहुत सारे हैं एक लंबा डिस्कशन अगर आप से हो तो परिस्थितियों को पहले समझा जाए और फिर उत

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  67
WhatsApp_icon
user

Gurudev Jyotish Kendra, Call-09334552913

Online Astrologer & Palmist, Gemstones Advice, Astrology Solution/Remedies

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो नमस्कार मैं ऑनलाइन आज तुझे बोल रहा हूं मेरा काम है ऑनलाइन ज्योतिष परामर्श देना आपके लाइफ में कोई भी समस्या को भी परेशानी हो कोई भी कंफ्यूजन या कोई भी दुविधा हो गया किसी प्रकार का कोई मार्गदर्शन चाहते हैं किसी प्रकार का कोई एडवाइस चाहती तो आप मुझे कॉल कर सकते हैं मैं आपकी जन्म पत्रिका या फिर आपके हस्त रेखा को देख करके आपको बताऊंगा कि किस कारण से ऐसी परेशानी हो रही है उसका उपाय क्या है आपका सवाल है कि ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत परेशान है तो ऑफिस में इतना डिस्टरबेंस क्यों है क्यों इतनी डीपीएस हो रहे हैं क्यों इतनी टेंशन में रहते हैं इसका पता तो आपके कुंडली देखने के बाद ही पता चलेगा चलेगा कि कौन सा दोष है कहां कमी है कौन सा ग्रहण पेपर है अर्जेंट में पर टाइम कैसा चल रहा है उत्तर प्रदेश में किस निगेटिव क्रिकेट चल रहा हूं टाइम टेबल में नहीं हो लगते बस में नहीं होता कुछ न कुछ तो बात जरूर निकलेगा जो भी बातें निकलेगी उसका ज्योतिषी उपाय आपको बताया जाएगा उसे आपकी परेशानी बहुत हद तक कम हो जाएगी और अप्लाई फॉर स्मूथ हो जाएगा इसलिए आप मुझे कॉल कीजिए मेरा नंबर है 99342 52913 यह मेरा व्हाट्सएप नंबर दो नंबर भी है इसी नंबर पर आप सारा डिटेल मुझे बताएं मेरे वेबसाइट भी चेक कीजिए डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट माय गुड लक डॉट इन मैं प्रोफेशनल एस्ट्रोजन हूं मुझसे कभी ज्योतिष परामर्श लेते हैं मुझसे कोई भी ज्योतिष परामर्श लेते हैं तब को मिलाकर स्टेशन की ₹500 पे करना पड़ेगा

hello namaskar main online aaj tujhe bol raha hoon mera kaam hai online jyotish paramarsh dena aapke life mein koi bhi samasya ko bhi pareshani ho koi bhi confusion ya koi bhi duvidha ho gaya kisi prakar ka koi margdarshan chahte hain kisi prakar ka koi advice chahti toh aap mujhe call kar sakte hain main aapki janam patrika ya phir aapke hast rekha ko dekh karke aapko bataunga ki kis karan se aisi pareshani ho rahi hai uska upay kya hai aapka sawaal hai ki office ki paristhitiyon se bahut pareshan hai toh office mein itna distarabens kyon hai kyon itni DPS ho rahe hain kyon itni tension mein rehte hain iska pata toh aapke kundali dekhne ke baad hi pata chalega chalega ki kaun sa dosh hai kahaan kami hai kaun sa grahan paper hai urgent mein par time kaisa chal raha hai uttar pradesh mein kis negative cricket chal raha hoon time table mein nahi ho lagte bus mein nahi hota kuch na kuch toh baat zaroor niklega jo bhi batein nikalegi uska jyotishi upay aapko bataya jaega use aapki pareshani bahut had tak kam ho jayegi aur apply for smooth ho jaega isliye aap mujhe call kijiye mera number hai 99342 52913 yah mera whatsapp number do number bhi hai isi number par aap saara detail mujhe bataye mere website bhi check kijiye w w w w dot my good luck dot in main professional estrogen hoon mujhse kabhi jyotish paramarsh lete hain mujhse koi bhi jyotish paramarsh lete hain tab ko milakar station ki Rs pe karna padega

हेलो नमस्कार मैं ऑनलाइन आज तुझे बोल रहा हूं मेरा काम है ऑनलाइन ज्योतिष परामर्श देना आपके ल

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

आचार्य प्रशांत

IIT-IIM Alumnus, Ex Civil Services Officer, Mystic

8:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बुधवार 7 साल बच्चे के जन्म के बारे में बात को बिलोरा बलिदान सिंह लोढ़ा से कुछ हासिल नहीं हो रहा होता तो वहां तो रोज रोज सुबह को लौट कर पहुंच क्यों जाते हैं रोज सुबह चले जाते हो ना नौकरी करनी क्यों चले जाते हो कुछ तो हासिल हो ही रहा होगा अब तो फिर भी थोड़ी सुख से बात होती है मानसिक बात आदत से ज्यादा स्कूल जो चीज बिल्कुल भौतिक पदार्थ की हो से मानसिक क्यों बता रहे हो आदत की जो बात कर रहे हो रोटी वहीं से आती है ना उसे आदत के कारण थोड़ी पहुंच जाते हो नौकरी करने रोटी बोटी सब वही चलाते हो कि जब भी वहीं से मिलती है बजाय इसके कि तुम तलाश करो नौकरी और तुम्हारे बंधे बंधाए दैनिक ढर्रे के आगे क्या है सबसे पहले तो तुम्हें यह साफ साफ पता होना चाहिए कि तुम्हें तुम्हारे रोजमर्रा के घर में क्या चीज रखे हुए सुधरा अकारण नहीं है उधर रहा फिर से चली आ रही आदत नहीं है उससे तुमको बहुत है सुधा फूल लाभ हो रहे हैं कारणों की शुरुआत में रहता है जो बेवजह कुछ करता नहीं समझते तुम कहते हो इस कारण यह कर रहा हूं जो तुम कर रहे हो उसका मुनाफा तुम्हें किसी दूसरी चीज में लिख रहा है हम कहीं भी जाते हैं थोड़ी पहुंच जाते हो तुम एक कदम भी बेवजह थोड़ी उठाते हो हो सकता है कई बार तुम्हें कारण स्पष्ट न हो लेकिन जो कुछ भी करते हो किसी फायदे के लिए ही करते हो फायदा ही कारण सर्वप्रथम तो यह देखो कितने फायदे की फिराक में अपनी दिनचर्या में बंधे हुए हो इतने अलमस्त क्या बे पर वहां तुम नहीं हो कि तुम्हें कहीं कुछ भी ना मिल रहा हो फिर भी तुम करे जाओ बिल्कुल कुछ नहीं मिलता फिर भी कर जाए ऐसा या तो पागलों के साथ होता है फकीरों के साथ तुम पागल हो तुम फकीरों तुम तो बुद्धि पर आश्रित जीवन बिताते हो जितना तुम्हारी अकल की और तर्क की पकड़ में आता है उसी को तुम सच मान लेते हो दुर्गा भेज दफ्तर जा रहे हो और बता रहे हो और घर में भी वही चक्की चल रही है ठीक ही चल रहा एक से ही रिश्ते नाते समय का एक सही उपयोग या फिर देखना होगा अगर ही किस चीज के हो मांग क्या रहे हो लागत क्या है अगर तुमने ध्यान पूर्वक अपनी स्थिति को समझाएं हेलो मासी अपने आपको मत दो हम कहीं जाते हैं रोज 2 घंटे बिताते हैं और पाते कुछ भी नहीं क्या मांगते हुए क्या चाहते हुए कहां पहुंच गए गीत है जिंदगी की तलाश में हम मौत के कितने पास आ गए पहले तो बात ना जिंदगी और तलाश की हो रही है कि तलाश कुछ और रहे थे लेकिन हमारी तलाश में ध्यान तिथि कहीं और गए अभी नहीं होने का मतलब होता है किसी बाहर वाले ने तुमको दे बस कर दिया और पकड़ने का अर्थ होता है कि साहब हमारी ही कामना है स्वेच्छा से हम ही ने पकड़ा पकड़ कर बोलो कि बने हुए हैं यह तो बात की बात नहीं जितने भी चीज हमें तुम को लगता है कि तुम बंधे हुए अगर करोगे तो यही पाओगे कि बंधन नहीं है कामना है तुमने ही पकड़ रखा है अगर बेटी भी है तो ऐसी बेटी है डीसी ने ही पकड़ रखा है क्या करूं

budhavar 7 saal bacche ke janam ke bare mein baat ko bilora balidaan Singh lodha se kuch hasil nahi ho raha hota toh wahan toh roj roj subah ko lot kar pohch kyon jaate hai roj subah chale jaate ho na naukri karni kyon chale jaate ho kuch toh hasil ho hi raha hoga ab toh phir bhi thodi sukh se baat hoti hai mansik baat aadat se zyada school jo cheez bilkul bhautik padarth ki ho se mansik kyon bata rahe ho aadat ki jo baat kar rahe ho roti wahi se aati hai na use aadat ke karan thodi pohch jaate ho naukri karne roti boti sab wahi chalte ho ki jab bhi wahi se milti hai bajay iske ki tum talash karo naukri aur tumhare bandhe bandhaye dainik dharre ke aage kya hai sabse pehle toh tumhe yah saaf saaf pata hona chahiye ki tumhe tumhare rozmarra ke ghar mein kya cheez rakhe hue sudhra akaran nahi hai udhar raha phir se chali aa rahi aadat nahi hai usse tumko bahut hai sudha fool labh ho rahe hai karanon ki shuruat mein rehta hai jo bewajah kuch karta nahi samajhte tum kehte ho is karan yah kar raha hoon jo tum kar rahe ho uska munafa tumhe kisi dusri cheez mein likh raha hai hum kahin bhi jaate hai thodi pohch jaate ho tum ek kadam bhi bewajah thodi uthate ho ho sakta hai kai baar tumhe karan spasht na ho lekin jo kuch bhi karte ho kisi fayde ke liye hi karte ho fayda hi karan sarvapratham toh yah dekho kitne fayde ki firak mein apni dincharya mein bandhe hue ho itne alamast kya be par wahan tum nahi ho ki tumhe kahin kuch bhi na mil raha ho phir bhi tum kare jao bilkul kuch nahi milta phir bhi kar jaaye aisa ya toh paagalon ke saath hota hai fakiron ke saath tum Pagal ho tum fakiron tum toh buddhi par aashrit jeevan Bitate ho jitna tumhari akal ki aur tark ki pakad mein aata hai usi ko tum sach maan lete ho durga bhej daftaar ja rahe ho aur bata rahe ho aur ghar mein bhi wahi chakki chal rahi hai theek hi chal raha ek se hi rishte naate samay ka ek sahi upyog ya phir dekhna hoga agar hi kis cheez ke ho maang kya rahe ho laagat kya hai agar tumne dhyan purvak apni sthiti ko samjhayen hello maasi apne aapko mat do hum kahin jaate hai roj 2 ghante Bitate hai aur paate kuch bhi nahi kya mangate hue kya chahte hue kahaan pohch gaye geet hai zindagi ki talash mein hum maut ke kitne paas aa gaye pehle toh baat na zindagi aur talash ki ho rahi hai ki talash kuch aur rahe the lekin hamari talash mein dhyan tithi kahin aur gaye abhi nahi hone ka matlab hota hai kisi bahar waale ne tumko de bus kar diya aur pakadane ka arth hota hai ki saheb hamari hi kamna hai swachcha se hum hi ne pakada pakad kar bolo ki bane hue hai yah toh baat ki baat nahi jitne bhi cheez hamein tum ko lagta hai ki tum bandhe hue agar karoge toh yahi paoge ki bandhan nahi hai kamna hai tumne hi pakad rakha hai agar beti bhi hai toh aisi beti hai dc ne hi pakad rakha hai kya karun

बुधवार 7 साल बच्चे के जन्म के बारे में बात को बिलोरा बलिदान सिंह लोढ़ा से कुछ हासिल नहीं ह

Romanized Version
Likes  133  Dislikes    views  4795
WhatsApp_icon
play
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

200 ऑफिस में 23 तरीके की परिस्थितियां हो सकती है पहली परिस्थिति है कि कंपनी का स्टेटस हियर डामाडोल है वहीं पर कुछ काम चल रही है तो वह खाली आपकी प्रॉब्लम नहीं हुई वह सब की होगी दूसरा खाली अगर आपकी प्रॉब्लम है तो उसको कैसे किया जाए उस पर को कैसे मैनेज किया जाए अब आपकी प्रॉब्लम 2 तरीके की हो सकती बड़ी सिंपल पहले तो यह कि वह ऐसी सिचुएशन जिसमें आप कुछ कर सकते हैं तो आपको तो वह करना चाहिए जो आप कर सकते हैं आप देख लीजिए बेस्ट ऑप्शन क्या है और आपको कीजिए दूसरा यह कि आपको लगता है कि नहीं मैंने पूरा सोच लिया मैं कुछ नहीं कर सकता तो ऐसे में आप चुपचाप बैठ कर अपना काम कीजिए मन लगाकर काम कीजिए बल्कि और उत्साह से काम कीजिए मैं तो यही सलाह दूंगा अभी की प्रॉब्लम जंगली कहां होती है प्रॉब्लम है इसलिए होती है ऑफिस में कि मैं किसी की एक्सपेक्टेशन अमीटर नहीं कर पा रहा ध्यान से सोचेगा यही होता है ना आप कोई भी डिपार्टमेंट वाली जो चाहे वही चारों मैं वही रिक्रूटमेंट के टारगेट नहीं कर पा रहे वह फाइनेंस चाहे वो एडमिनिस्ट्रेटिव चाय योर बिजनेस ऑपरेशन जो चाहे वह क्वॉलिटी कुछ भी चीज जो कहीं पर भी ऐसा होता है कि मैं अपने टारगेट नहीं कर पा रहा और बड़ा कॉमन और सिम बंद होता है कि मैं अपने सेल्स के टारगेट नहीं कर पा रहा मैं अपनी रेवेन्यू नहीं भी मीट कर पा रहा हूं अभी किया मछली बेच दिया को डेली बेसिस पर तो आपको देखना है कि मुझे उसमें क्या करना है आप अपने रिसोर्सेस पर अपने स्केल पर अपनी टीम पर अपनी लाइन इन पर ध्यान दीजिए ताकि वह आप अचीव कर सके दूसरी प्रॉब्लम हो सकती है कि भाई आपका बॉस हमेशा आपसे नाराज रहता है तो आप यह देखिए कि क्या हमेशा ही वह नाराज रहता है क्या आप गलती करते हैं तो वह नाराज होते हैं वह जिंदगी ऐसे ही है जो भी सीनरी हो आप डाटा के साथ जाइए बॉस के साथ बैठी है बात कीजिए समझ गए उसको शॉट आउट कीजिए अगर कुछ पॉइंट आपको लिखने हैं और लगता है कि आप को चेंज करने अपने अंदर आप नोट कर के आ जाइए आपको शंकर ने नहीं चाहिए आप बात करिए

200 office mein 23 tarike ki paristhiyaann ho sakti hai pehli paristithi hai ki company ka status hear damadol hai wahi par kuch kaam chal rahi hai toh wah khaali aapki problem nahi hui wah sab ki hogi doosra khaali agar aapki problem hai toh usko kaise kiya jaye us par ko kaise manage kiya jaye ab aapki problem 2 tarike ki ho sakti baadi simple pehle toh yeh ki wah aisi situation jisme aap kuch kar sakte hai toh aapko toh wah karna chahiye jo aap kar sakte hai aap dekh lijiye best option kya hai aur aapko kijiye doosra yeh ki aapko lagta hai ki nahi maine pura soch liya main kuch nahi kar sakta toh aise mein aap chupchap baith kar apna kaam kijiye man lagakar kaam kijiye balki aur utsaah se kaam kijiye main toh yahi salah dunga abhi ki problem jungli kahaan hoti hai problem hai isliye hoti hai office mein ki main kisi ki expectation ammeter nahi kar pa raha dhyan se sochega yahi hota hai na aap koi bhi department wali jo chahe wahi charo main wahi recruitment ke target nahi kar pa rahe wah finance chahe vo administrative chai your business operation jo chahe wah quality kuch bhi cheez jo kahin par bhi aisa hota hai ki main apne target nahi kar pa raha aur bada common aur sim band hota hai ki main apne sales ke target nahi kar pa raha main apni revenue nahi bhi meat kar pa raha hoon abhi kiya machli bech diya ko daily basis par toh aapko dekhna hai ki mujhe usme kya karna hai aap apne resources par apne scale par apni team par apni line in par dhyan dijiye taki wah aap achieve kar sake dusri problem ho sakti hai ki bhai aapka boss hamesha aapse naraz rehta hai toh aap yeh dekhie ki kya hamesha hi wah naraz rehta hai kya aap galti karte hai toh wah naraz hote hai wah zindagi aise hi hai jo bhi scenery ho aap data ke saath jaiye boss ke saath baithi hai baat kijiye samajh gaye usko shot out kijiye agar kuch point aapko likhne hai aur lagta hai ki aap ko change karne apne andar aap note kar ke aa jaiye aapko shankar ne nahi chahiye aap baat kariye

200 ऑफिस में 23 तरीके की परिस्थितियां हो सकती है पहली परिस्थिति है कि कंपनी का स्टेटस हियर

Romanized Version
Likes  493  Dislikes    views  7051
WhatsApp_icon
user

Ruchi Garg

Counsellor and Psychologist(Gold MEDALIST)

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए ऑफिस में उतार-चढ़ाव आते ही रहते हैं लेकिन एक बात बहुत जरूरी है समझना कि अपना कॉन्फिडेंस यूज मत करिए दूसरा अगर आप ऑफिस में कोई बहुत परेशान कर रहा है या फिर समझ कर काम समझने में दिक्कत आ रही है तो आप ही भी कर सकते हैं कि अगर अभी अभी नौकरी लगी है तो थोड़ा संयम रखें क्योंकि जब नौकरी नहीं होती है तो दिक्कतें परेशानियां आती ही है लेकिन अगर आपको काफी टाइम हो गया है कुछ 6 महीने 8 महीने हो गए हैं फिर भी आप को आप बहुत परेशान है ऑफिस में तो आप दूसरी नौकरी ढूंढना शुरू कर दीजिए और जैसे ही दूसरी नौकरी मिल जाए आप इस नौकरी को छोड़ दीजिए आपको दो तीन चीजें का काम कर सकते हैं जैसे आप मॉर्निंग में मेडिटेशन करके फिर ऑफिस जाइए उससे जो है आपका माइंड फ्रेश हो जाएगा आप सैटरडे संडे को अपने दोस्तों के साथ जरूर बताइए उसे यह होगा कि आप अपनी परेशानियां अपने दोस्तों के साथ डिस कस कर सकेंगे इसके अलावा जो है आप और कुछ और कुछ अच्छा करना चाहते हैं अपनी लाइफ में तो आप सॉफ्ट स्किल ट्रेनिंग भी ले सकते हैं वह भी आपको हेल्प करेगी अपनी जॉब के प्रॉब्लम्स को शॉट आउट करने में

dekhie office mein utar chadhav aate hi rehte hai lekin ek baat bahut zaroori hai samajhna ki apna confidence use mat kariye doosra agar aap office mein koi bahut pareshan kar raha hai ya phir samajh kar kaam samjhne mein dikkat aa rahi hai toh aap hi bhi kar sakte hai ki agar abhi abhi naukri lagi hai toh thoda sanyam rakhen kyonki jab naukri nahi hoti hai toh dikkaten pareshaniya aati hi hai lekin agar aapko kaafi time ho gaya hai kuch 6 mahine 8 mahine ho gaye hai phir bhi aap ko aap bahut pareshan hai office mein toh aap dusri naukri dhundhana shuru kar dijiye aur jaise hi dusri naukri mil jaye aap is naukri ko chod dijiye aapko do teen cheezen ka kaam kar sakte hai jaise aap morning mein meditation karke phir office jaiye usse jo hai aapka mind fresh ho jayega aap saturday sunday ko apne doston ke saath zaroor bataiye use yeh hoga ki aap apni pareshaniya apne doston ke saath dis kas kar sakenge iske alava jo hai aap aur kuch aur kuch accha karna chahte hai apni life mein toh aap soft skill training bhi le sakte hai wah bhi aapko help karegi apni job ke problem ko shot out karne mein

देखिए ऑफिस में उतार-चढ़ाव आते ही रहते हैं लेकिन एक बात बहुत जरूरी है समझना कि अपना कॉन्फिड

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  9177
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि मैं अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत परेशान हूं मुझे क्या करना चाहिए कुछ नहीं अब आपको जॉब करनी है अगर आपको लगता है तो थोड़ा खिलाफ हुई है उनके लेकिन बाद में वह आपको परेशान करें ठीक है उससे अच्छा की जो चलता है चलने दीजिए जहां आपको ठीक नहीं लगता है वह आप उनसे बोलिए ठीक है अगर आपको जॉब खोने का डर नहीं है तब बिंदास बोल इनको यह चीज गलत है और यह चीज सही है ठीक है और वह अगर जॉब से निकाल देने की धमकी देता है तो बोल देना कि निकाल दो कोई बात नहीं हम कोई और जॉब कर लेंगे लेकिन आपको ऑलरेडी जॉब करनी है ठीक है पैसों की जरूरत है जॉब करनी है तो फिर आपको बिना बोले अपना सिर्फ चुपचाप अपना काम कर लो ना यार वहां से निकल जाना है किसी और के काम में दखलंदाजी नहीं करनी है जिसको जो करना है वह करें आप अपने काम में नियम के अनुसार चलिए ठीक है तो सब अच्छा रहेगा बाकी हर चीज के बारे में पूछने जाओगे कब परेशान हो जाओगे ठीक है आपका दिन शुभ हो टेक केयर बाय शुभ दीपावली और हर जगह एचएमएसओ जॉब हो हर जगह एंप्लॉय का यही हाल है या प्राइवेट

aapka prashna hai ki main apne office ki paristhitiyon se bahut pareshan hoon mujhe kya karna chahiye kuch nahi ab aapko job karni hai agar aapko lagta hai toh thoda khilaf hui hai unke lekin baad mein vaah aapko pareshan kare theek hai usse accha ki jo chalta hai chalne dijiye jaha aapko theek nahi lagta hai vaah aap unse bolie theek hai agar aapko job khone ka dar nahi hai tab bindas bol inko yah cheez galat hai aur yah cheez sahi hai theek hai aur vaah agar job se nikaal dene ki dhamki deta hai toh bol dena ki nikaal do koi baat nahi hum koi aur job kar lenge lekin aapko already job karni hai theek hai paison ki zarurat hai job karni hai toh phir aapko bina bole apna sirf chupchap apna kaam kar lo na yaar wahan se nikal jana hai kisi aur ke kaam mein dakhalandaji nahi karni hai jisko jo karna hai vaah kare aap apne kaam mein niyam ke anusaar chaliye theek hai toh sab accha rahega baki har cheez ke bare mein poochne jaoge kab pareshan ho jaoge theek hai aapka din shubha ho take care bye shubha deepawali aur har jagah HMSO job ho har jagah employee ka yahi haal hai ya private

आपका प्रश्न है कि मैं अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत परेशान हूं मुझे क्या करना चाहिए कु

Romanized Version
Likes  351  Dislikes    views  4383
WhatsApp_icon
user

Ashok Clinic

Sexologist

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी ऑफिस की परिस्थितियों से आप बहुत परेशान हैं इसका मतलब हमारे ही गड़बड़ है हम कहीं सारी दुनिया हमारे हिसाब से जिए हमारे हिसाब से बैठे-बैठे हमारे हिसाब से जिए हमारे हिसाब से खाए पिए ऐसा कभी नहीं हो सकता हर आदमी का अपना-अपना लाइट चाहिए होता है और दूसरों की परवाह ना करें अपनी कमियां ढूंढ खुश रहे हर हाल में तभी गुजारा है नमस्कार

ji office ki paristhitiyon se aap bahut pareshan hai iska matlab hamare hi gadbad hai hum kahin saree duniya hamare hisab se jiye hamare hisab se baithe baithe hamare hisab se jiye hamare hisab se khaye pa aisa kabhi nahi ho sakta har aadmi ka apna apna light chahiye hota hai aur dusro ki parvaah na karein apni kamiyan dhundh khush rahe har haal mein tabhi gujara hai namaskar

जी ऑफिस की परिस्थितियों से आप बहुत परेशान हैं इसका मतलब हमारे ही गड़बड़ है हम कहीं सारी दु

Romanized Version
Likes  401  Dislikes    views  4964
WhatsApp_icon
user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता है कि आपको सबसे पहले यह समझना चाहिए कि ऑफिस की परिस्थितियां ऑफिस में है और ऑफिस की परेशानियां भी ऑफिस में ही रहनी चाहिए तो अगर आप घर पर आकर भी ऑफिस की परेशानियों से परेशान है तो इसका मतलब यह निकलता है कि आपको स्वयं के ऊपर काम करना चाहिए कि आप अपने आप को शांत कैसे रखते हैं जब आप अपने दिमाग को शांत खुश रखोगे तो आप अपनी परेशानियों को नहीं परिस्थितियों को और ज्यादा अच्छी तरीके से सॉल्व कर पाओगे

mujhe aisa lagta hai ki aapko sabse pehle yeh samajhna chahiye ki office ki paristhiyaann office mein hai aur office ki pareshaniya bhi office mein hi rehni chahiye toh agar aap ghar par aakar bhi office ki pareshaniyo se pareshan hai toh iska matlab yeh nikalta hai ki aapko swayam ke upar kaam karna chahiye ki aap apne aap ko shaant kaise rakhte hai jab aap apne dimag ko shaant khush rakhoge toh aap apni pareshaniyo ko nahi paristhitiyon ko aur zyada acchi tarike se solve kar paoge

मुझे ऐसा लगता है कि आपको सबसे पहले यह समझना चाहिए कि ऑफिस की परिस्थितियां ऑफिस में है और ऑ

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  5062
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे जैसे आपने पूछा है कि आपके ऑफिस की परिस्थितियां आपके अनुकूल नहीं है आप उससे बहुत परेशान हैं तो इसके लिए आपको बताना चाहूंगा कि कभी भी कि हर इंसान के लिए उसके ऑफिस कि परिस्थितियां अनुकूल नहीं रहती है कभी प्रतिकूल भी होती है काफी अनुकूल होती है कभी ज्यादा कभी कम अप सन्डाउन तो लगे ही रहते हैं आपको उसमें ही ताजमहल बनाना पड़ता है आप उससे ज्यादा बाजार परेशान ना होइए आप उस में तालमेल बनाने की कोशिश करिए और जैसे ही आपस में तालमेल बनाना सीख लेंगे आपको यह सारी चीजें छोटी लगने लगे मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

dekhe jaise aapne puchha hai ki aapke office ki paristhiyaann aapke anukul nahi hai aap usse bahut pareshan hain toh iske liye aapko batana chahunga ki kabhi bhi ki har insaan ke liye uske office ki paristhiyaann anukul nahi rehti hai kabhi pratikul bhi hoti hai kaafi anukul hoti hai kabhi zyada kabhi kam up sandaun toh lage hi rehte hain aapko usme hi tajmahal banana padta hai aap usse zyada bazaar pareshan na hoeye aap us mein talmel banane ki koshish kariye aur jaise hi aapas mein talmel banana seekh lenge aapko yeh saree cheezen choti lagne lage meri subhkamnaayain aapke saath hain dhanyavad

देखे जैसे आपने पूछा है कि आपके ऑफिस की परिस्थितियां आपके अनुकूल नहीं है आप उससे बहुत परेशा

Romanized Version
Likes  104  Dislikes    views  5270
WhatsApp_icon
user

Greeshma Nataraj

Psychology Counseling, Life Coach, NLP, Cognitive Behavioral Therapist, Motivational Speaker, Handwriting Signature Analyst.

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पोस्टिंग आई वुड लाइक टू नो द आरटीओ ऑफिस में क्या परेशानियां हैं दूसरी चीज में यह कहूंगी अगर आपको किसी चीज को परेशानी है कि कि आप देखोगे तो आपको उसमें नेगेटिविटी ही दिखेगी आप उसको एक चारण समझेगा कि आप उसमें कामयाब हो सकते हो एक्सेप्ट दर्स अटेस्ट एक्सेप्टेड एस ए चैलेंज एंड सी द आपको कोई परेशानी नहीं होगी और एक किसी सब्सटेंस ने यह कहा है अगर परेशानी है आपके पास सॉल्यूशन है तो भी हैप्पी अगर आपके पास सॉल्यूशन नहीं है देने से भी हैप्पी अगर प्रॉब्लम है तो सलूशन जरूर रहेंगी लेकिन यह फाइंड आउट कीजिए की प्रॉब्लम क्या है किस वजह से है यह जो दिक्कत है आपकी लाइफ में आ रही है काम के क्या काम करते समय वह किसकी वजह से आ रही है एंड भागने की कोशिश मत कीजिए समस्याओं को हल मिल सकता है अगर आप शांति से बैठ कर सोचोगे ध्यान दोगे शो ऑल द बेस्ट फॉर यू इन योर फ्यूचर एंड प्लीज टू वर्क आउट ऑन योर प्रॉब्लम्स रात दिन रोते हुए

posting I would like to no the rto office mein kya pareshaniya hai dusri cheez mein yeh kahungi agar aapko kisi cheez ko pareshani hai ki ki aap dekhoge toh aapko usme negativity hi dikhegi aap usko ek charan samjhega ki aap usme kamyab ho sakte ho except dars attestation accepted s a challenge end si the aapko koi pareshani nahi hogi aur ek kisi sabsatens ne yeh kaha hai agar pareshani hai aapke paas solution hai toh bhi happy agar aapke paas solution nahi hai dene se bhi happy agar problem hai toh salution zaroor rahegi lekin yeh find out kijiye ki problem kya hai kis wajah se hai yeh jo dikkat hai aapki life mein aa rahi hai kaam ke kya kaam karte samay wah kiski wajah se aa rahi hai end bhagne ki koshish mat kijiye samasyaon ko hal mil sakta hai agar aap shanti se baith kar sochoge dhyan doge show all the best for you in your future end please to work out on your problem raat din rote hue

पोस्टिंग आई वुड लाइक टू नो द आरटीओ ऑफिस में क्या परेशानियां हैं दूसरी चीज में यह कहूंगी अग

Romanized Version
Likes  267  Dislikes    views  3291
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपने ऑफिस के परिस्थिति से बहुत ही परेशान हैं तो आपको क्या करना चाहिए देखो यार अगर आप कहीं भी जॉब कर रहे हो या कहीं भी पढ़ाई कर रहे हो या कहीं भी काम कर रहे हो वहां की परिस्थिति ऐसे ही होती है हमें दूर से कंपनी दिखाई देती है अभी टाटा कंपनी यह बंदा टाटा कंपनी में जॉब करता है अब कंपनी में अब जाएंगे अंदर ना आपको स्थिति पता चलेगी कितना पॉलिटिक्स होता है कितनी राजनीति होती है चाहे प्राइवेट सेक्टर हो या गवर्नमेंट सेक्टर हो सब जगह यही सब होता है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है परिस्थिति अगर खराब है तो क्या आप से क्या मतलब आप अपना काम करते रहिए अगर आप से कोई नाराज है आप अच्छा काम करते हैं तो हो सकता है बहुत सारे लोग आप से दुखी हूं तो दुखी होने दीजिए कोई दिक्कत नहीं है आपकी पोजीशन बढ़ती जाएगी और उनकी नाराजगी खत्म होती जाएगी एवं कोई अच्छा काम करते हैं ना तो बहुत सारे लोग हमसे नाराज होते हैं दुखी होते हैं हमारी फैमिली मेंबर हम से परेशान होते हैं लेकिन जब एक दिन हमारी पोजीशन अच्छी हो जाती है ना तो सारे लोग आकर नतमस्तक हो जाते हैं तो आप अपना कर्म करते रहिए अगर कुछ भ्रष्टाचार भ्रष्टाचारी लेवल का कार्य हो रहा है तो उसके खिलाफ आवाज भी उठाई है किसी के साथ गलत हो रहा है नाइंसाफी हो रही है तो आप आवाज उठाइए आवाज उठाने वाला बनी है पूरा देश हमारा गलत विचार के ऊपर आवाज उठाएगा तभी हमारा देश आगे बढ़ेगा तभी हमारे देश की स्थिति अच्छी होगी धन्यवाद

aap apne office ke paristithi se bahut hi pareshan hain toh aapko kya karna chahiye dekho yaar agar aap kahin bhi job kar rahe ho ya kahin bhi padhai kar rahe ho ya kahin bhi kaam kar rahe ho wahan ki paristithi aise hi hoti hai humein dur se company dikhai deti hai abhi tata company yeh banda tata company mein job karta hai ab company mein ab jaenge andar na aapko sthiti pata chalegi kitna politics hota hai kitni rajneeti hoti hai chahe private sector ho ya government sector ho sab jagah yahi sab hota hai toh aapko ghabrane ki zarurat nahi hai paristithi agar kharab hai toh kya aap se kya matlab aap apna kaam karte rahiye agar aap se koi naraz hai aap accha kaam karte hain toh ho sakta hai bahut saare log aap se dukhi hoon toh dukhi hone dijiye koi dikkat nahi hai aapki position badhti jayegi aur unki narajgi khatam hoti jayegi evam koi accha kaam karte hain na toh bahut saare log humse naraz hote hain dukhi hote hain hamari family member hum se pareshan hote hain lekin jab ek din hamari position acchi ho jati hai na toh saare log aakar natamastak ho jaate hain toh aap apna karm karte rahiye agar kuch bhrashtachar bhrashtachaari level ka karya ho raha hai toh uske khilaf awaaz bhi uthayi hai kisi ke saath galat ho raha hai nainsaafi ho rahi hai toh aap awaaz uthaie awaaz uthane vala bani hai pura desh hamara galat vichar ke upar awaaz uthayega tabhi hamara desh aage badhega tabhi hamare desh ki sthiti acchi hogi dhanyavad

आप अपने ऑफिस के परिस्थिति से बहुत ही परेशान हैं तो आपको क्या करना चाहिए देखो यार अगर आप कह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  370
WhatsApp_icon
user

Jyoti Arya

Www.soulsymphony.in

3:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आपका सवाल पर हूं जिसमें आप पूछ रहे हैं कि ऑफिस के परिस्थितियों से आप परेशान है और आपको क्या करना चाहिए तो मुझे ऐसा लगता है कि शायद ऑफिस का इन्वायरमेंट अच्छा नहीं है बहुत पॉजिटिव नहीं है नेगेटिविटी आपको कंफर्ट फील नहीं होता है तो आप सबसे पहला काम यह करें कि किसी भी तरीके की कोशिश से दूर रहे ऑफिस में जाने अनजाने कुछ ऐसी बातें काम करती हैं आपको नहीं पता कि आपके पीठ पीछे कोई आपके लिए क्या कह रहा है या कैसे विचार आपके लिए बना रहा है तो बेहतर है कि कौशिक से दूर रहें आप से बोल गए जोक सुनाइए सुनाइए खाली समय में ब्रेक कीजिए पास 10 मिनट का बातें कीजिए जरूरी है रिलेशनशिप करने के लिए ऑफिस में लेकर सेट करना ठीक नहीं है बहुत देखा गया है कि घोषित करने की वजह से बात कहीं से कहीं पहुंचाती है और एनवायरनमेंट बहुत खराब हो जाता है टॉक्सिक हो जाता है तो गॉसिपिंग से बच गए और खुद कंट्रीब्यूट की घोषणा की थी कि मैं उस टॉक्सिक लोगों से दूर रहे हैं वह लोग जो बहुत सिस्टम की कंप्लेंट करते हैं बहुत ही कंप्लेंट करते हैं साले जी के बारे में रोते हैं उन लोगों से जरा डिस्टेंस बना के रखे सबकी जिंदगी अलग अलग है और उससे हमें अपनी जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए खुद ही की जिंदगी पर खुद ही काम करना है इस कंप्लेंट एटीट्यूड से सिर्फ और सिर्फ डिमोटिवेटेड फील करेंगे और सिस्टम के लिए अपने खेत रेड आएगा सेटिंग कम जो लोग कंप्लेंट करते हैं हर वक्त सिस्टम की बुराई करते हैं एक्शन क्रिएट हो जाता है तो उन लोगों से अगर आप दूर रहेंगे तो ऑफिस कि आपका दिन खुद ब खुद दिन की क्वालिटी अच्छी हो जाएगी आपको अच्छा लगेगा दिन व्यतीत करना और किसी चीज और जवाब टॉक्सिक लोगों से दूर रहेंगे तो नाचो रे लोगों के पॉजिटिव ग्रुप ऑफ पीपल जो आपके ऑफिस में है उनके नजदीक हो जाएंगे और जो लोग पॉजिटिविटी रेडिएट करते हैं उनके साथ रहने की कोशिश कीजिए ताकि आप मोटिवेटेड रहे और खुद में ऐसी क्वालिटी कि आप खुद पॉजिटिव रहे और उन्हीं लोगों का प्लाट करें जो पॉजिटिविटी रहती है अत करते हैं दूसरा आप ही कर सकते हैं कि सुबह ऑफिस जाने से पहले अपने आपको स्मार्ट सेट में लेकर आए कि मैं एक ऐसी जगह पर जा रहा हूं जहां मैं काम करने जा रहा हूं और मेरा फोकस सिर्फ काम पर है और इधर उधर की किसी भी तरीके की बात पर मुझे आज ध्यान नहीं देना है बहुत स्ट्रॉन्ग हो इमोशनली फिजिकली मेंटली हर तरीके से बहुत स्ट्रांग हूं और मैं हर सिचुएशन को का सामना कर सकता हूं या करती हूं उसके साथ घर से बाहर कदम रखे मुस्कुराइए ऑफिस में जाइए सबसे मुस्कुराते हुए बात कीजिए जिम्मेदारी को जिम्मेदारी समझकर पूरा कीजिए कर पाएंगे और हथेली बेसेस डेफिनेटली आपको अपनी लाइफ में अपने दिन में फर्क लगेगा और परिस्थितियां बदल ना हमारे हाथ में है सिर्फ जरूरत है

agar aapka sawal par hoon jisme aap puch rahe hain ki office ke paristhitiyon se aap pareshan hai aur aapko kya karna chahiye toh mujhe aisa lagta hai ki shayad office ka environment accha nahi hai bahut positive nahi hai negativity aapko confort feel nahi hota hai toh aap sabse pehla kaam yeh karein ki kisi bhi tarike ki koshish se dur rahe office mein jaane anjane kuch aisi batein kaam karti hain aapko nahi pata ki aapke peeth peeche koi aapke liye kya keh raha hai ya kaise vichar aapke liye bana raha hai toh behtar hai ki kaushik se dur rahen aap se bol gaye joke suniye suniye khaali samay mein break kijiye paas 10 minute ka batein kijiye zaroori hai Relationship karne ke liye office mein lekar set karna theek nahi hai bahut dekha gaya hai ki ghoshit karne ki wajah se baat kahin se kahin pohchti hai aur environment bahut kharab ho jata hai toxic ho jata hai toh gossiping se bach gaye aur khud countribute ki ghoshana ki thi ki main us toxic logo se dur rahe hain wah log jo bahut system ki complaint karte hain bahut hi complaint karte hain saale ji ke bare mein rote hain un logo se jara distance bana ke rakhe sabaki zindagi alag alag hai aur usse humein apni zindagi ko behtar banane ke liye khud hi ki zindagi par khud hi kaam karna hai is complaint attitude se sirf aur sirf demotivated feel karenge aur system ke liye apne khet red aaega setting kam jo log complaint karte hain har waqt system ki burayi karte hain action create ho jata hai toh un logo se agar aap dur rahenge toh office ki aapka din khud b khud din ki quality acchi ho jayegi aapko accha lagega din vyatit karna aur kisi cheez aur jawab toxic logo se dur rahenge toh naacho ray logo ke positive group of pipal jo aapke office mein hai unke nazdeek ho jaenge aur jo log positivity rediet karte hain unke saath rehne ki koshish kijiye taki aap motivated rahe aur khud mein aisi quality ki aap khud positive rahe aur unhi logo ka plot karein jo positivity rehti hai at karte hain doosra aap hi kar sakte hain ki subah office jaane se pehle apne aapko smart set mein lekar aaye ki main ek aisi jagah par ja raha hoon jaha main kaam karne ja raha hoon aur mera focus sirf kaam par hai aur idhar udhar ki kisi bhi tarike ki baat par mujhe aaj dhyan nahi dena hai bahut Strong ho emotionally physically mentally har tarike se bahut strong hoon aur main har situation ko ka samana kar sakta hoon ya karti hoon uske saath ghar se bahar kadam rakhe muskuraiye office mein jaiye sabse muskurate hue baat kijiye jimmedari ko jimmedari samajhkar pura kijiye kar payenge aur hatheli bases definetli aapko apni life mein apne din mein fark lagega aur paristhiyaann badal na hamare hath mein hai sirf zarurat hai

अगर आपका सवाल पर हूं जिसमें आप पूछ रहे हैं कि ऑफिस के परिस्थितियों से आप परेशान है और आपको

Romanized Version
Likes  157  Dislikes    views  2228
WhatsApp_icon
user

M S Aditya Pandit

Entrepreneur | Politician

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपने ऑफिस के किन परिस्थितियों से परेशान पहले तो क्लियर हो जाए तो बेहतर है किस चीज से आप परेशान है जैसे किसी का लेप से परेशान है बहुत से परेशान है सैलरी के लिए परेशान है इन फीमेल के लिए परेशान है आपको जो जिसमें आपका कैलेंडर क्षेत्र में नहीं है तो किस चीज से परेशानी पहले उसे समझ फिर कहना मैसेज कीजिए कि ऐसा क्यों हो रहे और उस सलूशन खोजने का कोशिश कीजिएगा मिल जाता है तो बेहतर है नहीं मिलता तो जो है उस में खुश रहना सीखें उसी में डेवलप कीजिए अपने आप देखें अब खुश रहना सीख जाएंगे अर्जेस्ट करना साजिश कभी-कभी करना होता है हम सोचा कि नहीं कंपनी अगर मैं भी किसी कंपनी में हूं अगर वह कंपनी मुझे मालूम है कि ₹10 लगा तो ₹100 में ₹10 नहीं लगाती तो उसके पीछे होता है कि हो सकता कंपनी का पेंसिल से कंपनी को डिवेलप करने का सेल्फ सेटिस्फेक्शन तो आएगा ही और कंपनी को भी कुछ अच्छा नहीं है जितना है उतने में ही समाधान निकालो उतरे में कोशिश करो कि कंपनी को सर बाइक करें आपको सेटिस्फेक्शन होगा कंपनी का होगा जो है पहले उसको समझे अपने आप मिल जाएगा

aap apne office ke kin paristhitiyon se pareshan pehle toh clear ho jaye toh behtar hai kis cheez se aap pareshan hai jaise kisi ka lep se pareshan hai bahut se pareshan hai salary ke liye pareshan hai in female ke liye pareshan hai aapko jo jisme aapka calendar kshetra mein nahi hai toh kis cheez se pareshani pehle use samajh phir kehna massage kijiye ki aisa kyon ho rahe aur us salution khojne ka koshish kijiyega mil jata hai toh behtar hai nahi milta toh jo hai us mein khush rehna sikhe usi mein develop kijiye apne aap dekhen ab khush rehna seekh jaenge arjest karna sajish kabhi kabhi karna hota hai hum socha ki nahi company agar main bhi kisi company mein hoon agar wah company mujhe maloom hai ki Rs laga toh Rs mein Rs nahi lagati toh uske peeche hota hai ki ho sakta company ka pencil se company ko develop karne ka self satisfaction toh aaega hi aur company ko bhi kuch accha nahi hai jitna hai utne mein hi samadhan nikalo utare mein koshish karo ki company ko sar bike karein aapko satisfaction hoga company ka hoga jo hai pehle usko samjhe apne aap mil jayega

आप अपने ऑफिस के किन परिस्थितियों से परेशान पहले तो क्लियर हो जाए तो बेहतर है किस चीज से आप

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  2082
WhatsApp_icon
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरे साथी आप अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत ज्यादा ही परेशान हैं बहुत ज्यादा चिंतित हैं आपसे एक सवाल पूछता हूं कि जब तक ऑफिस की परिस्थितियां ऑफिस के दीजंस कारण नहीं हमको मालूम चलते या किसी भी मोटिवेट अब तो आपको उचित सलाह नहीं दे सकता क्योंकि इन परिस्थितियों में अनुमान लगाकर उस सलाह देना गलत बात होती है आपकी ऑफिस में किस वजह से ऐसा क्या रीजन है जिसकी वजह से ऑफिस के पैसे दिया आपके अनुकूल नहीं हैं आपका बहुत सब को परेशान कर रहा है आपकी तरफ से आप का तालमेल नहीं बैठ रहा है या आपके ऊपर वर्क लोड ज्यादा है या आपका टारगेट नहीं पूरा हो पाता है या आपका जो कष्ट मस्त है जो प्लांट से उनसे रिलेशनशिप में आपको बलम हो रही है सभी साथ में या कोई अदर समस्या है जिसको लेकर के आप परेशान रहते हैं तो सबसे पहले मैं आप से रिक्वेस्ट करूंगा कि आपकी जॉब का रीजन है कृपया सरस्वती बोल रीजन हमको देखती सवाल के रूप में बता दीजिए प्लीज बता दीजिए कि यह प्रॉब्लम है जैसे द प्रॉब्लम ऑफ माय ऑफिस लाइट बंद फेसिंग इन माय डेली रूटीन एंड वर्किंग सरिया प्रति सवाल के रूप में पूछ सकते हैं मुझे बता सकते हैं तो निश्चित रूप से मैं आपको सटीक आपका बिल्कुल सही जवाब तक पहुंचा दूंगा अब पूरी तरीके से प्रीत हो जाएंगे मैं जीत हो जाएंगे आपको मिल जाएगी उम्मीद करता हूं कि आप मुझे जो मैंने ऑफिस जरूर बताइए

arre sathi aap apne office ki paristhitiyon se bahut zyada hi pareshan hain bahut zyada chintit hain aapse ek sawaal poochta hoon ki jab tak office ki paristhiyaann office ke dijans karan nahi hamko maloom chalte ya kisi bhi motivate ab toh aapko uchit salah nahi de sakta kyonki in paristhitiyon mein anumaan lagakar us salah dena galat baat hoti hai aapki office mein kis wajah se aisa kya reason hai jiski wajah se office ke paise diya aapke anukul nahi hain aapka bahut sab ko pareshan kar raha hai aapki taraf se aap ka talmel nahi baith raha hai ya aapke upar work load zyada hai ya aapka target nahi pura ho pata hai ya aapka jo kasht mast hai jo plant se unse Relationship mein aapko balam ho rahi hai sabhi saath mein ya koi other samasya hai jisko lekar ke aap pareshan rehte hain toh sabse pehle main aap se request karunga ki aapki job ka reason hai kripya saraswati bol reason hamko dekhti sawaal ke roop mein bata dijiye please bata dijiye ki yah problem hai jaise the problem of my office light band facing in my daily routine and working sariya prati sawaal ke roop mein puch sakte hain mujhe bata sakte hain toh nishchit roop se main aapko sateek aapka bilkul sahi jawab tak pohcha dunga ab puri tarike se prateet ho jaenge main jeet ho jaenge aapko mil jayegi ummid karta hoon ki aap mujhe jo maine office zaroor bataiye

अरे साथी आप अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत ज्यादा ही परेशान हैं बहुत ज्यादा चिंतित हैं

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1172
WhatsApp_icon
user

En Rajendra Kumar Joshi

Life Coach, Motivator

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपनी ऑफिस किस प्रकार से स्थितियां है और आप क्यों परेशान हैं इसलिए मैं यह बताना चाहूंगा आप चैट नहीं करता है तो आपको उस ऑफिस को छोड़ देते हैं तो आपको उस प्राइवेट छोड़कर दूसरी प्राइवेट इसके अलावा कुछ नहीं

apni office kis prakar se sthitiyan hai aur aap kyon pareshan hain isliye main yah bataana chahunga aap chat nahi karta hai toh aapko us office ko chod dete hain toh aapko us private chhodkar dusri private iske alava kuch nahi

अपनी ऑफिस किस प्रकार से स्थितियां है और आप क्यों परेशान हैं इसलिए मैं यह बताना चाहूंगा आप

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  329
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक मित्र जीवन में परेशानियां और जीवन में आती हैं किसी कमजोर मत समझो और जीवन में बाधाएं कठिनाइयां परेशानियां की लेकिन ऑफिस में जो परेशानी आ रही है उसके दो तीन कारण हो सकते हैं नंबर 1 या तो आपके स्वाद में कर्कश बने मधुरता कब आओगे इशरत रात में शिष्टाचार ओं की कमी है या चौथा आपका वर्क सही समय पर पूरा नहीं होता है इससे आपका बॉस आप से नाराज है मुझे बस आपसे सही सही नहीं है आपको पक्का फिश बनाने चाहिए और टाइम पर कोई ना कमी पूरा करना चाहिए टाइम पंक्ति को मधुर भाषी वन एसिस्ट बीएफ फुल बने आप को सबसे आदर के साथ बोलना चाहिए और इन्हीं परेशानियों से आप जीत सकते परेशानियों को आप अपना रास्ता निकाल सकते हैं परेशानियों पर भेजा तो आपको प्राप्त करनी होगी क्योंकि सर्विस करना है तो सब सही करके चलना चाहिए वह आपके लिए बहुत बेहतर है और सारी परेशानियों की समाप्ति होगी

ek mitra jeevan mein pareshaniya aur jeevan mein aati hai kisi kamjor mat samjho aur jeevan mein baadhayain kathinaiyaan pareshaniya ki lekin office mein jo pareshani aa rahi hai uske do teen kaaran ho sakte hai number 1 ya toh aapke swaad mein karkash bane madhurata kab aaoge ishrat raat mein shishtachar yuvaon ki kami hai ya chautha aapka work sahi samay par pura nahi hota hai isse aapka boss aap se naraz hai mujhe bus aapse sahi sahi nahi hai aapko pakka fish banane chahiye aur time par koi na kami pura karna chahiye time pankti ko madhur bhashi van esist bf full bane aap ko sabse aadar ke saath bolna chahiye aur inhin pareshaniyo se aap jeet sakte pareshaniyo ko aap apna rasta nikaal sakte hai pareshaniyo par bheja toh aapko prapt karni hogi kyonki service karna hai toh sab sahi karke chalna chahiye wah aapke liye bahut behtar hai aur saree pareshaniyo ki samapti hogi

एक मित्र जीवन में परेशानियां और जीवन में आती हैं किसी कमजोर मत समझो और जीवन में बाधाएं कठि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  20
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शशि फीलिंग आती है क्या ऑफिस की परिस्थितियों से परेशान नहीं हूं जो लोग ऑफिस में आपको परेशान करते हैं समस्या उत्पन्न करें आप उनसे बात करके इस प्रॉब्लम को दूर करने की कोशिश करें या ऑफिस के जो लोग आपको डिस्टर्ब कर रहे हो मुझसे बात करके उस प्रॉब्लम को दूर करें नहीं तो यह प्रेशर नहीं आपके लिए बहुत बड़ी परेशानी बन जाएगी तेरी आंखों की समस्या बढ़ती जाएगी जटिल हो जाएगी और आप आकर में आ जाएगी इसलिए सरकार से बचें प्रेशर से बचने और उसे दूर करने का प्रयास करें जल्द से जल्द से अब दूर करें और समस्या को सही समय पर निपटा निपटा दें

shashi feeling aati hai kya office ki paristhitiyon se pareshan nahi hoon jo log office mein aapko pareshan karte hain samasya utpann kare aap unse baat karke is problem ko dur karne ki koshish kare ya office ke jo log aapko disturb kar rahe ho mujhse baat karke us problem ko dur kare nahi toh yah pressure nahi aapke liye bahut badi pareshani ban jayegi teri aankho ki samasya badhti jayegi jatil ho jayegi aur aap aakar mein aa jayegi isliye sarkar se bache pressure se bachne aur use dur karne ka prayas kare jald se jald se ab dur kare aur samasya ko sahi samay par nipta nipta dein

शशि फीलिंग आती है क्या ऑफिस की परिस्थितियों से परेशान नहीं हूं जो लोग ऑफिस में आपको परेशान

Romanized Version
Likes  216  Dislikes    views  1405
WhatsApp_icon
user
3:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा अपना मानना है कि आपकी ऑफिस की परिस्थिति से अगर आप परेशान हैं तो आप यह भी तो देखिए कि यह परेशानी क्या तुम्हारी खुद के कार्यों के कारण हैं खुद के सूट के कारण है क्योंकि कई बार मुद्दा यह है कि घर में भी परिस्थिति खराब होती हैं हम रिश्तेदारी में भी परिस्थिति खराब होती है वैसी ऑफिस में भी परिस्थिति खराब होती है लेकिन आप अपने अच्छे स्वभाव कड़ी मेहनत और लगन और अपने विनम्रता से ऑफिस की परिस्थिति से आपको अपने आपको सामंजस्य बैठाना चाहिए वैसे ही बता दो कि परेशानी जो होती है वह परिस्थितियों से ज्यादा मन की होती है हम मन से चूसते हैं 2 मिनट तक हम किसी चीज को सोचते हैं उसको सोच कर परेशान हो जाते हैं कोई आकर कुछ अच्छी चीज बता देता है हम तुरंत खुश हो जाते हैं तो यह जो परिस्थिति है ऑफिस कि आप उसके कारण परेशान नहीं हैं आप अपने सोच के कारण परेशान है या तो आपको लगता है कि आप जिस योग्यता को रखते हैं वह उस योग्यता वाले स्थान पर आप पहुंच नहीं पाए हैं आपकी इच्छाएं कुछ और हैं और आप पहुंच कहीं और गए हैं तो ऐसी स्थिति में आप केवल रोजगार के लिए ही आप आप जा रहे हैं आपको अपने आप सोच को बदलना होगा या तो आप अपने मेहनत से आप अपनी लगन से अपनी योग्यता को बढ़ाइए अब आपको कोई दूसरी ऑफिस मिलेगी नहीं तो आप अपनी सोच को बदलिए और मेरा तो अपना मानना है मैं सोशल साइकोलॉजी का प्रोफेशन हूं कि किसी भी व्यक्ति को कोई दूसरा व्यक्ति या परिस्थिति परेशान नहीं कर सकता व्यक्ति कई परेशानी जो होती है वह केवल मानसिक होती है क्योंकि आप देखेंगे कुछ लोग कुछ दिन तक परेशान करते हैं थे उसके बाद वो खुश होने लगते हैं परिस्थितियां नहीं बदलती वह मानसिक स्थिति को अपनी बदल डालता है या उस ऑफिस में जहां आप काम करते हैं उस परिस्थिति के अनुकूल आप अपने आपको डालिए फिर देखेंगे कि आप हर चीज में इंजॉय कर सकते हैं काम में भी इंजॉय है आप तो हर्षाली जो आपकी है वह केवल मानसिक है आपको मैं एक सलाह जरूर दूंगा आप दिन में कम से कम 10 मिनट आधान प्रिया जिसको मेडिटेशन करते हैं वह कीजिए और सोचिए कि आप बहुत पसंद है आप बहुत पसंद है अब मैं आपसे बार-बार के लिए कि आप बहुत खुश हैं आप देखेंगे कि आपके जीवन में इससे बहुत ही शानदार परिवर्तन आएगा

mera apna manana hai ki aapki office ki paristhiti se agar aap pareshan hain toh aap yah bhi toh dekhiye ki yah pareshani kya tumhari khud ke karyo ke karan hain khud ke suit ke karan hai kyonki kai baar mudda yah hai ki ghar me bhi paristhiti kharab hoti hain hum rishtedaari me bhi paristhiti kharab hoti hai vaisi office me bhi paristhiti kharab hoti hai lekin aap apne acche swabhav kadi mehnat aur lagan aur apne vinamrata se office ki paristhiti se aapko apne aapko samanjasya baithana chahiye waise hi bata do ki pareshani jo hoti hai vaah paristhitiyon se zyada man ki hoti hai hum man se chuste hain 2 minute tak hum kisi cheez ko sochte hain usko soch kar pareshan ho jaate hain koi aakar kuch achi cheez bata deta hai hum turant khush ho jaate hain toh yah jo paristhiti hai office ki aap uske karan pareshan nahi hain aap apne soch ke karan pareshan hai ya toh aapko lagta hai ki aap jis yogyata ko rakhte hain vaah us yogyata waale sthan par aap pohch nahi paye hain aapki ichhaen kuch aur hain aur aap pohch kahin aur gaye hain toh aisi sthiti me aap keval rojgar ke liye hi aap aap ja rahe hain aapko apne aap soch ko badalna hoga ya toh aap apne mehnat se aap apni lagan se apni yogyata ko badhaiye ab aapko koi dusri office milegi nahi toh aap apni soch ko badaliye aur mera toh apna manana hai main social psychology ka profession hoon ki kisi bhi vyakti ko koi doosra vyakti ya paristhiti pareshan nahi kar sakta vyakti kai pareshani jo hoti hai vaah keval mansik hoti hai kyonki aap dekhenge kuch log kuch din tak pareshan karte hain the uske baad vo khush hone lagte hain paristhiyaann nahi badalti vaah mansik sthiti ko apni badal dalta hai ya us office me jaha aap kaam karte hain us paristhiti ke anukul aap apne aapko daaliye phir dekhenge ki aap har cheez me enjoy kar sakte hain kaam me bhi enjoy hai aap toh harshali jo aapki hai vaah keval mansik hai aapko main ek salah zaroor dunga aap din me kam se kam 10 minute adhan priya jisko meditation karte hain vaah kijiye aur sochiye ki aap bahut pasand hai aap bahut pasand hai ab main aapse baar baar ke liye ki aap bahut khush hain aap dekhenge ki aapke jeevan me isse bahut hi shandar parivartan aayega

मेरा अपना मानना है कि आपकी ऑफिस की परिस्थिति से अगर आप परेशान हैं तो आप यह भी तो देखिए

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मैं अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत परेशान हूं मुझे क्या करना चाहिए परेशानी का कारण आप है या ऑफिस का कोई एंप्लॉय या आपकी कंपनी इनका अच्छे से निर्धारण कर लीजिए अगर आप है तो आप के कारण परेशानी क्यों है या आपका कोई शहर कर्मचारी है सहकर्मी है उसके एटिट्यूड में क्या प्रॉब्लम है यह आपका जो फ्रेंड है उसके संज्ञान में लाना चाहिए या कंपनी की जो नीति है आप उनसे परेशान है आपको जो रिपोर्ट करते हैं आप उनसे आप चर्चा कर सकते हैं संवाद और संप्रेषण अगर आप मिलन पर करेंगे आप इस प्रस्तुत से बाहर आ जाएंगे ऐसा कोई न कोई यह परिस्थितियां बनी रहेगी और बिगड़ भी सकते हैं

aapka prashna hai main apne office ki paristhitiyon se bahut pareshan hoon mujhe kya karna chahiye pareshani ka karan aap hai ya office ka koi employee ya aapki company inka acche se nirdharan kar lijiye agar aap hai toh aap ke karan pareshani kyon hai ya aapka koi shehar karmchari hai sahakarmi hai uske etityud me kya problem hai yah aapka jo friend hai uske sangyaan me lana chahiye ya company ki jo niti hai aap unse pareshan hai aapko jo report karte hain aap unse aap charcha kar sakte hain samvaad aur sampreshan agar aap milan par karenge aap is prastut se bahar aa jaenge aisa koi na koi yah paristhiyaann bani rahegi aur bigad bhi sakte hain

आपका प्रश्न है मैं अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत परेशान हूं मुझे क्या करना चाहिए परेशा

Romanized Version
Likes  216  Dislikes    views  2099
WhatsApp_icon
user

Aniel K Kumar Imprints

NLP Master Life Coach, Motivational Speaker

3:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं अनिल के कुमार इंप्रिंट अनिमास्टर लाइफ को आज आपके साथ जुड़ा हूं और आपका सवाल है कि आप अपने ऑफिस की परिस्थितियों से बहुत परेशान हैं और आपको क्या करना चाहिए यदि आप अपने ऑफिस के परिस्थितियों से परेशान हैं तो पहले तो आपको कानून ने उनके क्यों परेशान हैं क्या आप काम नहीं कर रहे इसलिए आपके सामने पर ऐसी बनी हुई है क्या आप अपनी ड्यूटी पूरी तरह प्रॉपर कर पा रहे हैं इनको एक बार एक दूसरे से देखिए आपके लिए ही खराब है या सबके लिए ही खराब हो पहले यह देखिए अगर उस ऑफिस में सबके लिए ही खराब है अब ऑफिस चेंज करने की कैपेबिलिटी करते हैं तो ऑफिस चेंज कर लीजिए वहां से दूसरी जगह ज्वाइन कीजिए जो को छोड़कर और यदि ऐसा ऑफिस है कि आप उसमें से जॉब नहीं छोड़ सकते तो आप वह फॉर इंटरव्यू हम बोलते हैं कि आप जो जिसने वह माहौल खराब कर रखा है जिसकी वजह से वह माहौल खराब है आप उनको इग्नोर करना शुरु कीजिए और बहुत से आगरा पोस्ट है जिससे जिस ने माहौल खराब कर रखा है या फिर से आप को खराब करने वाला लग रहा है बहुत या जो भी आपका थोड़ी है वह आपको खराब तो आपको 1 पॉइंट की बहुत भयंकर जरूरत है अर्जेंट जरूरत है क्या चाह रहे हैं और आप क्या कर रहे हैं एक चीज को दोनों अलग-अलग दिशा में खींच रहे होते हैं वह अलग दिशा में खींच रहा होता है रिप्लाई अलग दिशा में खींच रहा होता है तो यह सब माहौल ऑफिस में बन जाता है उसके लिए बस क्यों लग रहा है उसको तो इस तरह से यदि आप उसके पॉइंट ऑफ एक्सरसाइज करते हैं और उनको समझते हैं तो आप अपने प्रिय ऑफिस की परिस्थितियों को दोबारा कंट्रोल कर पाएंगे और अपने प्रति सभी को प्रेरित कर पाएंगे जो आपकी रिस्पेक्ट और अपने काम के प्रति आपको डेडीकेशन रखना होगा और अपने आप पर विश्वास करना हो क्या पेस्ट कर सकते हैं और जो उनके रूलाए ऑफिस के जरूर कॉल करना होगा यदि आप हमको फॉलो करने में असमर्थ है तू कहीं ना कहीं त्रुटि आपके पास है और रिजल्ट तो आप को देना ही होगा अपने आप से पूछिए कि आपका पूरे दिन क्या है यदि आप अच्छा काम कर रहे हैं आप स्किल्ड हैं आप सारी चीजें रख रहे हैं और फिर आपका सारे रूल रेगुलेशन करने के बावजूद भाई ऑफिस पांडू एक्सरसाइज से अपने ऑफिस का इमोशनल स्थिति को बेहतर बना सकते हैं ज्यादा डिटेल में जाने के लिए अब हमारी वेबसाइट पर जाकर के हमारे लाइव सेमिनार ज्वाइन कर सकते हैं जिससे आपके जीवन में एक नहीं खुशहाली नहीं सक्षम था और नहीं खेल पाएंगे जय हिंद जय भारत

namaskar main anil ke kumar imprint animastar life ko aaj aapke saath juda hoon aur aapka sawaal hai ki aap apne office ki paristhitiyon se bahut pareshan hain aur aapko kya karna chahiye yadi aap apne office ke paristhitiyon se pareshan hain toh pehle toh aapko kanoon ne unke kyon pareshan hain kya aap kaam nahi kar rahe isliye aapke saamne par aisi bani hui hai kya aap apni duty puri tarah proper kar paa rahe hain inko ek baar ek dusre se dekhiye aapke liye hi kharab hai ya sabke liye hi kharab ho pehle yah dekhiye agar us office me sabke liye hi kharab hai ab office change karne ki capability karte hain toh office change kar lijiye wahan se dusri jagah join kijiye jo ko chhodkar aur yadi aisa office hai ki aap usme se job nahi chhod sakte toh aap vaah for interview hum bolte hain ki aap jo jisne vaah maahaul kharab kar rakha hai jiski wajah se vaah maahaul kharab hai aap unko ignore karna shuru kijiye aur bahut se agra post hai jisse jis ne maahaul kharab kar rakha hai ya phir se aap ko kharab karne vala lag raha hai bahut ya jo bhi aapka thodi hai vaah aapko kharab toh aapko 1 point ki bahut bhayankar zarurat hai urgent zarurat hai kya chah rahe hain aur aap kya kar rahe hain ek cheez ko dono alag alag disha me khinch rahe hote hain vaah alag disha me khinch raha hota hai reply alag disha me khinch raha hota hai toh yah sab maahaul office me ban jata hai uske liye bus kyon lag raha hai usko toh is tarah se yadi aap uske point of exercise karte hain aur unko samajhte hain toh aap apne priya office ki paristhitiyon ko dobara control kar payenge aur apne prati sabhi ko prerit kar payenge jo aapki respect aur apne kaam ke prati aapko dedikeshan rakhna hoga aur apne aap par vishwas karna ho kya paste kar sakte hain aur jo unke rulaye office ke zaroor call karna hoga yadi aap hamko follow karne me asamarth hai tu kahin na kahin truti aapke paas hai aur result toh aap ko dena hi hoga apne aap se puchiye ki aapka poore din kya hai yadi aap accha kaam kar rahe hain aap Skilled hain aap saari cheezen rakh rahe hain aur phir aapka saare rule regulation karne ke bawajud bhai office pandu exercise se apne office ka emotional sthiti ko behtar bana sakte hain zyada detail me jaane ke liye ab hamari website par jaakar ke hamare live seminar join kar sakte hain jisse aapke jeevan me ek nahi khushahali nahi saksham tha aur nahi khel payenge jai hind jai bharat

नमस्कार मैं अनिल के कुमार इंप्रिंट अनिमास्टर लाइफ को आज आपके साथ जुड़ा हूं और आपका सवाल है

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  489
WhatsApp_icon
user

Krishna Singh

Motivational Speaker

2:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं अपने ऑफिस की परिस्थिति से बहुत परेशान है मुझे क्या करना चाहिए देखिए परिस्थिति जो है उसको अगर विजय प्राप्त करना है तो वह हमारी 100 की स्थिति से होगी परिस्थिति पर विजय प्राप्त करने के लिए स्थिति अच्छी होनी चाहिए यदि किसी तरह से है मान लो बाहर आपको जाना है और बर्बर बरसात हो रही है अब बाहर की परिस्थिति है ना पर एक खराब है तो आपको क्या करना पड़ेगा अंब्रेला लेकर जाना पड़ेगा इसी तरह से कॉर्पोरेट जगत में सारी चीजें होती रहती हैं आप एक जगह से एस्केप होने की कोशिश करेंगे दूसरी जगह भी वही पाएंगे आप अपने शौक के मन की स्थिति को सशक्त बनाइए सशक्त कैसे बनाएंगे मेडिटेशन करके क्या करेंगे रोज सवेरे शाम 15:00 मिनट इसी भाषा में रहे अपने सत्य स्वरूप को पहचानिए मैं एक आत्मा हूं जो यह शरीर यूज कर रही हूं मैं इस कॉस्ट इन को यूज करती हूं और आत्मा में असीम शक्तियां होती है माइक शांत चित्त शक्तिशाली आनंद स्वरूपा कोशिश को महसूस करें यह जो शरीर है उसको चलाने वाली में एक अलग सकता हूं और जब यह सुबह शाम आप करेंगे तो आप पाएंगे कि आपके अंदर शक्ति आ रही है और वह शक्ति आप उस जगत में यूज कर सकते हैं उसी शक्ति को आप पावर टू एडजस्ट पावर टू कॉर्पोरेट पावर टो टॉलरेट किसी भी प्रकार से यूज कर सकते हैं तो जब तक आप सच्चे से शक्तिशाली नहीं होंगे अपनी 100 की स्थिति नहीं बनाएंगे योगाभ्यास द्वारा प्रभु चिंतन द्वारा अच्छी किताबें पढ़ना अच्छे संघ में रहना मेडिटेशंस में सर्वोपरि है उसका कोई काट नहीं है आपको बैठने अब आपके इर्द-गिर्द करके कोई सेंटर्स वगैरह हैं जो मेडिटेशन सिखाते मैं हठयोग की बात नहीं करा शरीर की मानसिक मेरे ख्याल से इर्द-गिर्द आप जहां होंगे वहां जरूर कोई ना कोई होगा यह ब्रम्हाकुमारी इसका सेंटर है वह आप जाइए उनको कहिए कि मुझे 7 दिन का कोर्स करना है और फिर मुझे मेडिटेशन सिखाइए सात दिवसीय कोर्स के उपरांत आपको वह जो लोग योगाभ्यास दिखाएंगे वह घर पर बैठकर भी कर सकते हैं और धीरे-धीरे आप पाएंगे कि आप शक्तिशाली हो रहे हैं आपके संकल्पों में जाना रही है व्यर्थ की बातें निरर्थक बातें अनावश्यक बातें आप स्वता ही सोचना छोड़ देंगे और जो उचित है उसको काफी इफेक्टिवली करने लग जाएंगे लेकिन हर चीज के लिए कुछ करना पड़ता है तो आप ढूंढिए पाइए और आगे बढ़िए

main apne office ki paristhiti se bahut pareshan hai mujhe kya karna chahiye dekhiye paristhiti jo hai usko agar vijay prapt karna hai toh vaah hamari 100 ki sthiti se hogi paristhiti par vijay prapt karne ke liye sthiti achi honi chahiye yadi kisi tarah se hai maan lo bahar aapko jana hai aur barbar barsat ho rahi hai ab bahar ki paristhiti hai na par ek kharab hai toh aapko kya karna padega umbrella lekar jana padega isi tarah se corporate jagat me saari cheezen hoti rehti hain aap ek jagah se escape hone ki koshish karenge dusri jagah bhi wahi payenge aap apne shauk ke man ki sthiti ko sashakt banaiye sashakt kaise banayenge meditation karke kya karenge roj savere shaam 15 00 minute isi bhasha me rahe apne satya swaroop ko pehchaniye main ek aatma hoon jo yah sharir use kar rahi hoon main is cost in ko use karti hoon aur aatma me asim shaktiyan hoti hai mike shaant chitt shaktishali anand swarupa koshish ko mehsus kare yah jo sharir hai usko chalane wali me ek alag sakta hoon aur jab yah subah shaam aap karenge toh aap payenge ki aapke andar shakti aa rahi hai aur vaah shakti aap us jagat me use kar sakte hain usi shakti ko aap power to adjust power to corporate power toe tolerate kisi bhi prakar se use kar sakte hain toh jab tak aap sacche se shaktishali nahi honge apni 100 ki sthiti nahi banayenge yogabhayas dwara prabhu chintan dwara achi kitaben padhna acche sangh me rehna mediteshans me sarvopari hai uska koi kaat nahi hai aapko baithne ab aapke ird gird karke koi centres vagera hain jo meditation sikhaate main hathyog ki baat nahi kara sharir ki mansik mere khayal se ird gird aap jaha honge wahan zaroor koi na koi hoga yah bramhakumari iska center hai vaah aap jaiye unko kahiye ki mujhe 7 din ka course karna hai aur phir mujhe meditation sikhaiye saat divasiya course ke uprant aapko vaah jo log yogabhayas dikhayenge vaah ghar par baithkar bhi kar sakte hain aur dhire dhire aap payenge ki aap shaktishali ho rahe hain aapke sankalpon me jana rahi hai vyarth ki batein nirarthak batein anavashyak batein aap swata hi sochna chhod denge aur jo uchit hai usko kaafi effectively karne lag jaenge lekin har cheez ke liye kuch karna padta hai toh aap dhundhiye paiye aur aage badhiye

मैं अपने ऑफिस की परिस्थिति से बहुत परेशान है मुझे क्या करना चाहिए देखिए परिस्थिति जो है उ

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  569
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप बोल रही है कि आप बोल रही है कि मैं अपने ऑफिस के पास इस ओर से बहुत परेशान हूं मुझे क्या करना चाहिए तो आप सबसे पहले ज्यादा घबराइए मत कि इतने सारे प्रॉब्लम क्रिएट हो रहे हैं तो क्या करें यह कर ले और सबसे पहले आप अपने प्रॉब्लम का फेस करो अच्छा तुझसे नहीं तो उसका एक सलूशन निकालो क्या उसे कैसे सलूशन चुटकियों में निकाल सकते हैं सबसे पहले आप सभी से निकालेंगे खुद आपको रास्ता मिल जाएगा और अब कोई पता चल जाएगा कि मुझे करना क्या है हां एक और बात बोलेंगे की तेजी चलती है क्या काम शैतान का होता है तो आप थोड़ा सोच समझकर विचार करके करिएगा मुझे पूरा यकीन है धन्यवाद

aap bol rahi hai ki aap bol rahi hai ki main apne office ke paas is aur se bahut pareshan hoon mujhe kya karna chahiye toh aap sabse pehle zyada ghabraaiye mat ki itne saare problem create ho rahe hain toh kya karein yeh kar le aur sabse pehle aap apne problem ka face karo accha tujhse nahi toh uska ek salution nikalo kya use kaise salution chutkiyon mein nikaal sakte hain sabse pehle aap sabhi se nikalenge khud aapko rasta mil jayega aur ab koi pata chal jayega ki mujhe karna kya hai haan ek aur baat bolenge ki teji chalti hai kya kaam shaitaan ka hota hai toh aap thoda soch samajhkar vichar karke kariega mujhe pura yakin hai dhanyavad

आप बोल रही है कि आप बोल रही है कि मैं अपने ऑफिस के पास इस ओर से बहुत परेशान हूं मुझे क्या

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  366
WhatsApp_icon
user

Amit Kumar

Motivational Spiker,youtube Kriyeter,professional Advisers (For Carrier Network Marketing , Fitness, Health) And Blogger

2:57
Play

Likes  14  Dislikes    views  475
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप अपने ऑफिस में परेशान रहते हैं और आपको काम करने में मन नहीं लग रहा है हमेशा आपका मन विचलित राधा तो आप उस ऑफिस को छोड़ दें अगर प्राइवेट जॉब कर रहे हैं तो आप ऑफिस तो छोड़ दे नहीं तो सरकारी जॉब कर रहे हैं बड़े अधिकारी से कंप्लेन करें कंप्लेन नहीं सुना जाए तो आप कोर्ट में केस कर दें ताकि आपको सही न्याय मिल सके धन्यवाद

agar aap apne office me pareshan rehte hain aur aapko kaam karne me man nahi lag raha hai hamesha aapka man vichalit radha toh aap us office ko chhod de agar private job kar rahe hain toh aap office toh chhod de nahi toh sarkari job kar rahe hain bade adhikari se complain kare complain nahi suna jaaye toh aap court me case kar de taki aapko sahi nyay mil sake dhanyavad

अगर आप अपने ऑफिस में परेशान रहते हैं और आपको काम करने में मन नहीं लग रहा है हमेशा आपका मन

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
नाराज क्यों हो आप जरा मुस्कुराइए ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!