क्या आपको लगता है कि AAP का कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है?...


user

Vikas Singh

Political Analyst

2:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या आपको लगता है कि आपका कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है लेकिन लोकतंत्र में कोई भी चुनाव लड़ सकता है किसी भी स्टेट के चुनाव लड़ सकता है आम आदमी पार्टी दिल्ली में सत्ता में है आम आदमी पार्टी ने पंजाब में चुनाव लड़ा था पंजाब में आम आदमी पार्टी की हार हुई थी अभी तक आम आदमी पार्टी किसी दूसरे स्टेट में अपना जलवा नहीं दिखा पाई है अगर कर्नाटका में आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ना चाहती है कि अच्छी बात है क्योंकि लोकतंत्र में जब कंपटीशन होगा तभी विकास का कार्य अच्छी गति से होगा अगर अच्छी नियत से अच्छी नीति से आम आदमी पार्टी कर्नाटका में चुनाव लड़ती है तो हो सकता है कि कांग्रेस पार्टी को यह पीछे छोड़ दे हो सकता है कि वहां के लोकल पार्टी को आम आदमी पार्टी पीछे छोड़ दे लेकिन मैं आपको बता देना चाहता हूं कर्नाटका में भारतीय जनता पार्टी एक ऐसी पार्टी है जो आगे भी सत्ता में आएगी क्योंकि वहां बीजेपी की बहुत जरूरत है वहां पर बीजेपी विकास का कार्य तेज गति से कर सकती है दूसरी पॉलिटिकल पार्टियां हैं इन्हें अपनी झोली भरने से मतलब है लेकिन बीजेपी का शासन कुछ अलग तरीके का है बीजेपी के नेता देश को सर्वोच्च स्थान पर रखते हैं वह अपना पूरा जीवन देश के लिए पाते हैं मैक्सिमम नेता बीजेपी के देश के लिए समर्पित होने वाले नेता है इसलिए कोई भी चुनाव लड़े लेकिन जीतेगी बीजेपी है धन्यवाद

aapka sawaal hai kya aapko lagta hai ki aapka karnataka chunav ladane ka vichar accha hai lekin loktantra me koi bhi chunav lad sakta hai kisi bhi state ke chunav lad sakta hai aam aadmi party delhi me satta me hai aam aadmi party ne punjab me chunav lada tha punjab me aam aadmi party ki haar hui thi abhi tak aam aadmi party kisi dusre state me apna jalwa nahi dikha payi hai agar karnataka me aam aadmi party chunav ladana chahti hai ki achi baat hai kyonki loktantra me jab competition hoga tabhi vikas ka karya achi gati se hoga agar achi niyat se achi niti se aam aadmi party karnataka me chunav ladati hai toh ho sakta hai ki congress party ko yah peeche chhod de ho sakta hai ki wahan ke local party ko aam aadmi party peeche chhod de lekin main aapko bata dena chahta hoon karnataka me bharatiya janta party ek aisi party hai jo aage bhi satta me aayegi kyonki wahan bjp ki bahut zarurat hai wahan par bjp vikas ka karya tez gati se kar sakti hai dusri political partyian hain inhen apni jholee bharne se matlab hai lekin bjp ka shasan kuch alag tarike ka hai bjp ke neta desh ko sarvoch sthan par rakhte hain vaah apna pura jeevan desh ke liye paate hain maximum neta bjp ke desh ke liye samarpit hone waale neta hai isliye koi bhi chunav lade lekin jitegi bjp hai dhanyavad

आपका सवाल है क्या आपको लगता है कि आपका कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है लेकिन लोकतंत्

Romanized Version
Likes  387  Dislikes    views  3715
WhatsApp_icon
22 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

2014 में जो आम आदमी पार्टी है उसमें लोक सभा के दौरान करीब करीब पूरे देश में इलेक्शन लड़ा था | और उस समय उनकी मंशा यह थी कि शायद वह एक ही बार में पूरे देश पर शासन करने लगेंगे | लेकिन जिस तरीके से इन के नेताओं की हार हुई उसके बाद से इनका मनोबल टूट गया | और फिर उन्होंने दिल्ली पर कंसंट्रेट की ओर दिल्ली में इनकी सरकार भी बनी| लेकिन अब धीरे-धीरे करके लोगों को ये समझ में आ गया है कि जो भी केजरीवाल साहब क्लेम किया करते थे गुड गवर्नेंस की, या जो भी इंप्रूवमेंट की उसमे कुछ बहुत ज्यादा दम है नहीं| और इस वजह से आने वाले समय में जैसे कि आप ने पंजाब में देखा कि इनकी काफी तीसरे नंबर पर रहे | और उसके बाद में फिर जो है वह गुजरात में तो बहुत ही बुरी हालत हुई| कई जगह पर तो उनको डबल डिजिट में नंबर मिले| और इसलिए फ़िर कर्नाटक में इनका जो लड़ने जो इनका प्रयास है, उस में भी मुझे नहीं लगता कि उनको कोई बहुत ज्यादा कामयाबी मिलने वाली है| बल्कि इनके लिए उचित ये रहेगा की ये किसी पोलिटिकल अलायन्स के साथ में इक शामिल हो| और उसके साथ मिलके कुछ लिमिटेड सीटो में से चुनाव लडें| जैसे कांग्रेस के साथ ही अपने गठबंधन बना सकते हैं और उसके साथ में कुछ सीटों पर इलेक्शन लड़ सकते हैं क्योंकि अपने दम पर अगर ये वहां पर इलेक्शन लड़ेंगे तो मुझे नहीं लगता कि उनको कोई वहां पर विजय होने की प्राप्ति होगी और इससे इनका मनोबल ही घटेगा|

2014 mein jo aam aadmi party hai usamen lok sabha ke dauran karib karib poore desh mein election lada tha | aur us samay unki mansha yeh thi ki shayad wah ek hi baar mein poore desh par shasan karne lagenge | lekin jis tarike se in ke netaon ki haar hui uske baad se inka manobal toot gaya | aur phir unhone delhi par concentrate ki oar delhi mein inki sarkar bhi bani lekin ab dhire dhire karke logon ko ye samajh mein aa gaya hai ki jo bhi kejriwal sahab claim kiya karte the good Governance ki ya jo bhi improvement ki usme kuch bahut jyada dum hai nahi aur is wajah se aane wale samay mein jaise ki aap ne punjab mein dekha ki inki kafi tisare number par rahe | aur uske baad mein phir jo hai wah gujarat mein to bahut hi buri halat hui kai jagah par to unko double digit mein number mile aur isliye fir karnataka mein inka jo ladane jo inka prayas hai us mein bhi mujhe nahi lagta ki unko koi bahut jyada kamyabi milne wali hai balki inke liye uchit ye rahega ki ye kisi political alines ke saath mein ek shamil ho aur uske saath milke kuch limited sito mein se chunav laden jaise congress ke saath hi apne gathbandhan bana sakte hain aur uske saath mein kuch seaton par election lad sakte hain kyonki apne dum par agar ye wahan par election ladenge to mujhe nahi lagta ki unko koi wahan par vijay hone ki prapti hogi aur isse inka manobal hi ghategaa

2014 में जो आम आदमी पार्टी है उसमें लोक सभा के दौरान करीब करीब पूरे देश में इलेक्शन लड़ा थ

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
play
user
0:10

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अगर कर्नाटक चुनाव में लड़की है तो बुरी तरह हारेगी उसका माता कोई जनाधार नहीं है और यह उसका विचार गलत और भ्रम बोलना है

aap agar karnataka chunav mein ladki hai toh buri tarah haaregi uska mata koi janadhar nahi hai aur yah uska vichar galat aur bharam bolna hai

आप अगर कर्नाटक चुनाव में लड़की है तो बुरी तरह हारेगी उसका माता कोई जनाधार नहीं है और यह उस

Romanized Version
Likes  75  Dislikes    views  1512
WhatsApp_icon
user

Ved prakash Mishra

Journalist Dainik jagran { Naidunia}

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आम आदमी पार्टी एक राजनीतिक पार्टी है और राजनीतिक पार्टियों का उद्देश्य चुनाव में भाग लेकर सत्ता पर कब्जा करना ही होता है आप देखेंगे कि दिल्ली के काम में आपको फिर से सफलता मिली है और जिसके बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ा हुआ है और निश्चित रूप से यह पार्टी चाहेगी वह केवल दिल्ली तक ही सीमित ना रहे उसका विस्तार जाए अन्य प्रांतों में हो और दीदी से एक राष्ट्रीय पार्टी बनकर सामने आए इसके लिए चरणबद्ध ढंग से काम करना होगा तो यह कहा जा सकता है कि कर्नाटक में चुनाव लड़ने का विचार एक अच्छा विचार है आम आदमी पार्टी का लेकिन उन्हें इस काम को करना चाहिए

aam aadmi party ek raajnitik party hai aur raajnitik partiyon ka uddeshya chunav mein bhag lekar satta par kabza karna hi hota hai aap dekhenge ki delhi ke kaam mein aapko phir se safalta mili hai aur jiske baad aam aadmi party ke karyakartaon ka utsaah badha hua hai aur nishchit roop se yah party chahegi vaah keval delhi tak hi simit na rahe uska vistaar jaaye anya praaton mein ho aur didi se ek rashtriya party bankar saamne aaye iske liye charanabddh dhang se kaam karna hoga toh yah kaha ja sakta hai ki karnataka mein chunav ladane ka vichar ek accha vichar hai aam aadmi party ka lekin unhe is kaam ko karna chahiye

आम आदमी पार्टी एक राजनीतिक पार्टी है और राजनीतिक पार्टियों का उद्देश्य चुनाव में भाग लेकर

Romanized Version
Likes  142  Dislikes    views  1076
WhatsApp_icon
user

Rakesh Kumar Chandra

BE ( Electrical )/ MBA ( Marketing) Electrical Engineer

2:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी प्रश्न है कि आपको लगता है कि आपका कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है आप आज के समय में देख रहे हो एक इमर्जिंग पार्टी के रूप में आ रही है भर्ती हुई पार्टी है आप दिल्ली जैसे प्रदेश में जहां से पूरे देश का शासन प्रशासन चलता है दिल्ली देश की धड़कन है वहां पर आपने जिस तरीके से एक जीत हासिल की है इससे यह स्पष्ट साबित होता है कि वास्तव में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के द्वारा वास्तव में वहां की दिल्ली की जनता का दिल जीता है उन्होंने वास्तव में काम किया है और यही कारण है कि उनको इतनी बहुमत से दोबारा मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला है तो जाहिर सी बात है कि जब हम किसी को एक लंबे समय तक उनके कार्यों को देखते हैं उनकी राष्ट्रपति लगाव और जनता के प्रति उनका जो रुझान है और जनता का उसके प्रति रुझान है जनता का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रति जो रुझान है यह देखने से यह स्पष्ट होता है कि वास्तव में आप ही कच्ची पार्टी हो सकती है आपकी शासन-प्रशासन की प्रतीक है तू अगर कोई भी पार्टी कहीं पर भी जिस तरीके से इलेक्शन लड़ने चाहती है और लड़ रही है तो इसमें कोई बुराई नहीं है क्योंकि हर व्यक्ति अपना भाग्य आजमाना चाहता है तो यदि आप का नाटक में चुनाव लड़ने के लिए आ रही है तो आपके लिए शुभ संकेत है यह तो कर्नाटक की भौगोलिक राजनीतिक और वहां की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि तय करेगी कि कौन वहां का विजेता होगा और किस प्रकार से आप का नाटक में सफल हो पाएगी या नहीं हो पाएगी यह तो वहां की परिस्थिति और वहां की जो सामरिक स्थिति होगी पारिस्थितिक और सामरिक स्थिति इस बात को तय करेगी कि क्या अब चुनाव जीतेगी या नहीं तो आपको अपना भाग्य सुनाने में कोई बुराई नहीं है आपका निर्णय है उसे कर्नाटक में जाकर इलेक्शन लड़ना चाहिए धन्यवाद

vicky prashna hai ki aapko lagta hai ki aapka karnataka chunav ladane ka vichar accha hai aap aaj ke samay me dekh rahe ho ek emerging party ke roop me aa rahi hai bharti hui party hai aap delhi jaise pradesh me jaha se poore desh ka shasan prashasan chalta hai delhi desh ki dhadkan hai wahan par aapne jis tarike se ek jeet hasil ki hai isse yah spasht saabit hota hai ki vaastav me delhi ke mukhyamantri arvind kejriwal ji ke dwara vaastav me wahan ki delhi ki janta ka dil jita hai unhone vaastav me kaam kiya hai aur yahi karan hai ki unko itni bahumat se dobara mukhyamantri banne ka mauka mila hai toh jaahir si baat hai ki jab hum kisi ko ek lambe samay tak unke karyo ko dekhte hain unki rashtrapati lagav aur janta ke prati unka jo rujhan hai aur janta ka uske prati rujhan hai janta ka mukhyamantri arvind kejriwal ke prati jo rujhan hai yah dekhne se yah spasht hota hai ki vaastav me aap hi kachhi party ho sakti hai aapki shasan prashasan ki prateek hai tu agar koi bhi party kahin par bhi jis tarike se election ladane chahti hai aur lad rahi hai toh isme koi burayi nahi hai kyonki har vyakti apna bhagya ajamana chahta hai toh yadi aap ka natak me chunav ladane ke liye aa rahi hai toh aapke liye shubha sanket hai yah toh karnataka ki bhaugolik raajnitik aur wahan ki etihasik prishthbhumi tay karegi ki kaun wahan ka vijeta hoga aur kis prakar se aap ka natak me safal ho payegi ya nahi ho payegi yah toh wahan ki paristhiti aur wahan ki jo samarik sthiti hogi paristhitik aur samarik sthiti is baat ko tay karegi ki kya ab chunav jitegi ya nahi toh aapko apna bhagya sunaane me koi burayi nahi hai aapka nirnay hai use karnataka me jaakar election ladana chahiye dhanyavad

विकी प्रश्न है कि आपको लगता है कि आपका कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है आप आज के समय

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  463
WhatsApp_icon
user

Rahul Agrawal

Career Counsellor

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डीके आम आदमी पार्टी का कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार कैसा है कैसा नहीं यह तो समय बताएगा और साथ ही साथ इलेक्शन में आम आदमी पार्टी का जो फॉर्म इन से कितनी सीटें हुई जीते हैं कितने वोट सुने मिलते हैं वह पता चले कि पॉलीटिकल पार्टी का लक्ष्य होता है विस्तार करना तो आम आदमी पार्टी की शुरुआत दिल्ली से हुई दिल्ली की राजनीति से उन्होंने शुरुआत की धीरे-धीरे वह हरियाणा में गए फिर धीरे-धीरे भारत के अन्य राज्यों में भी अपने पैर पसारने की कोशिश कर रहे हैं इस लिहाज से अगर देखा जाए तो बिल्कुल सही है क्योंकि राजनीति में हमेशा अल्टरनेटिव चाहिए आप कब तक बीजेपी और कांग्रेस के पीछे भागते रहेंगे आपको भी एक तीसरा मोर्चा चाहिए ना क्योंकि बीजेपी कांग्रेस की तरह ही मजबूत हो तो लोकतंत्र सही मायने में तभी सक्सेसफुल हो पाएगा जब बहुत सारी पार्टी होंगी और बहुत सारे अच्छे अच्छे नेता लीडर निकल के आएंगे तो इस लिहाज से अच्छा डिसीजन है

DK aam aadmi party ka karnataka chunav ladane ka vichar kaisa hai kaisa nahi yah toh samay batayega aur saath hi saath election mein aam aadmi party ka jo form in se kitni seaten hui jeete hain kitne vote sune milte hain vaah pata chale ki political party ka lakshya hota hai vistaar karna toh aam aadmi party ki shuruaat delhi se hui delhi ki raajneeti se unhone shuruaat ki dhire dhire vaah haryana mein gaye phir dhire dhire bharat ke anya rajyon mein bhi apne pair pasarane ki koshish kar rahe hain is lihaj se agar dekha jaaye toh bilkul sahi hai kyonki raajneeti mein hamesha Alternative chahiye aap kab tak bjp aur congress ke peeche bhagte rahenge aapko bhi ek teesra morcha chahiye na kyonki bjp congress ki tarah hi mazboot ho toh loktantra sahi maayne mein tabhi successful ho payega jab bahut saree party hongi aur bahut saare acche acche neta leader nikal ke aayenge toh is lihaj se accha decision hai

डीके आम आदमी पार्टी का कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार कैसा है कैसा नहीं यह तो समय बताएगा और

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  901
WhatsApp_icon
user

Kr Wahid Ali

Journalist

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां कोई भी पार्टी की चुनाव लड़ सकती है और जहां तक तो आम आदमी पार्टी का सवाल है तो आम आदमी पार्टी का एक मैसेज प्रदेश में अच्छा गया है कि उसने विकास की राजनीति की है और वह सही भी है कहीं ना कहीं से अब तक जो कि सभी धर्म जाति के लोगों ने वोट दे वोट दे वोट करा है और वोट जो हमको मिला है वह सुख विकास की राजनीति पर मिला है इसमें कोई शक नहीं है तो उसको करंट क्या सभी राज्यों में चुनाव होते हैं विधानसभा चुनाव होते हैं तो उसमें उनको अपनी किस्मत आजमानी चाहिए

haan koi bhi party ki chunav lad sakti hai aur jahan tak toh aam aadmi party ka sawaal hai toh aam aadmi party ka ek massage pradesh mein accha gaya hai ki usne vikas ki raajneeti ki hai aur vaah sahi bhi hai kahin na kahin se ab tak jo ki sabhi dharam jati ke logo ne vote de vote de vote kara hai aur vote jo hamko mila hai vaah sukh vikas ki raajneeti par mila hai isme koi shak nahi hai toh usko current kya sabhi rajyon mein chunav hote hain vidhan sabha chunav hote hain toh usme unko apni kismat ajamani chahiye

हां कोई भी पार्टी की चुनाव लड़ सकती है और जहां तक तो आम आदमी पार्टी का सवाल है तो आम आदमी

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  434
WhatsApp_icon
user

Raj Shah

Aspiring engineer

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे तो बिल्कुल नहीं लग रहा कि हम आदमी पार्टी कर्नाटका में चुनाव लड़ेगी जिस तरह जिस दिल्ली में अभी अभी संतुलन नहीं बना पा रही है वह बिल्कुल हार जाए

mujhe to bilkul nahi lag raha ki hum aadmi party karnataka mein chunav ladegi jis tarah jis delhi mein abhi abhi santulan nahi bana pa rahi hai wah bilkul haar jaye

मुझे तो बिल्कुल नहीं लग रहा कि हम आदमी पार्टी कर्नाटका में चुनाव लड़ेगी जिस तरह जिस दिल्ली

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
user

Himanshu Sharma

Journalist

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आम आदमी पार्टी दिल्ली के बाद देश के अलग-अलग राज्यों में अपनी जमीन तलाश रही है आम आदमी पार्टी द्वारा अकेले कर्नाटक में नहीं बल्कि राजस्थान हरियाणा पंजाब सहित देश के सभी राज्यों में चुनाव लड़ने की योजना तैयार की गई है बात करें आम आदमी पार्टी के फैसले की तो जरूर उनका फैसला सही है क्योंकि राजनीति में सभी अपना विस्तार चाहते हैं अब उसमें कितनी सफलता मिलती है यह देखने की बात होगी

aam aadmi party delhi ke baad desh ke alag alag rajyo me apni jameen talash rahi hai aam aadmi party dwara akele karnataka me nahi balki rajasthan haryana punjab sahit desh ke sabhi rajyo me chunav ladane ki yojana taiyar ki gayi hai baat kare aam aadmi party ke faisle ki toh zaroor unka faisla sahi hai kyonki raajneeti me sabhi apna vistaar chahte hain ab usme kitni safalta milti hai yah dekhne ki baat hogi

आम आदमी पार्टी दिल्ली के बाद देश के अलग-अलग राज्यों में अपनी जमीन तलाश रही है आम आदमी पार्

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  47
WhatsApp_icon
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मुझे नहीं लगता कि आम आदमी पार्टी आप को यह भी कहो कर्नाटक का चुनाव में लड़ने लड़ने का विचार अच्छा है क्योंकि ओल्ड लेडी बिकनी स्टाइलिश नहीं है जितना Star Plus थे वह सब कुछ चला गया है दिल्ली में उनकी सरकार थी बटा अभी उतना सामान नहीं रहा है उनका तो एक झुमका मीन सेंटर दा जो उनका हाथ थाम के सरकार का जो दिल्ली से बना था अगर वह एक बार स्टाइलिश होता तो शायद विचार कर सकते थे कि कहीं और भी लड़े क्योंकि एवं की कई सारे राज्यों में उनकी हार हुई है उनकी ऑलरेडी एंड कर्नाटक में वापस इलेक्शन करना चली आई चली वेस्ट ऑफ टाइम एंड मनी बस स्टैंड उन्हें वह कौन सी ट्रेड गाना चाहिए झाबुआ लेडीज स्टाइलिश हैजा लोगों का अच्छे से जानते हैं जहां लोगों का विश्वास मत जीता था तो अगर वह एक बार वह वह सब एक बार Star Plus वापस हो जाए उसके बाद उन्हें कहीं और राज्य में कहीं और स्ट्रीट में लड़ने का विचार करना चाहिए

nahi mujhe nahi lagta ki aam aadmi party aap ko yeh bhi kaho karnataka ka chunav mein ladane ladane ka vichar accha hai kyonki old lady bikini stylish nahi hai jitna Star Plus the wah sab kuch chala gaya hai delhi mein unki sarkar thi bata abhi utana saamaan nahi raha hai unka to ek jhumka mean center da jo unka hath tham ke sarkar ka jo delhi se bana tha agar wah ek baar stylish hota to shayad vichar kar sakte the ki kahin aur bhi lade kyonki evam ki kai sare rajyo mein unki haar hui hai unki already end karnataka mein wapas election karna chali eye chali west of time end money bus stand unhen wah kaun si trade gaana chahiye jhabua ladies stylish haija logon ka acche se jante hain jahan logon ka vishwas mat jeeta tha to agar wah ek baar wah wah sab ek baar Star Plus wapas ho jaye uske baad unhen kahin aur rajya mein kahin aur street mein ladane ka vichar karna chahiye

नहीं मुझे नहीं लगता कि आम आदमी पार्टी आप को यह भी कहो कर्नाटक का चुनाव में लड़ने लड़ने का

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  15
WhatsApp_icon
user

Sa Sha

Journalist since 1986

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी समझ में इसमें कोई बुराई नहीं है तो अच्छी बात है चुनाव में जीत जरूरी नहीं जीना तो हर हाल में किसी एक को ही होता है चुनाव में जनता के पास ज्यादा से ज्यादा विकल्प होने चाहिए इसे चुनाव में एक तरफ प्रत्याशियों को अच्छी टक्कर मिलती है तो दूसरी तरफ राजनीति के मजे में खिलाड़ियों के लिए जीत बहुत आसान नहीं रह जाते होने के कारण मतदाताओं को कांग्रेस और भाजपा के बीच में किसी एक को चुनना पड़ता है जबकि दोनों ही पार्टी से जनता का भरोसा उठ चुका है या एक सच्चाई है यही वजह है कि गुजरात में देखने में आया कि कुल मतदाता का 1.8 प्रतिशत वोट नोटा को मिला या नहीं नोटा का बटन 5:30 लाख से भी ज्यादा मतदाता होने तक आया तो मेरे ख्याल से कर्नाटक भी चुनाव लड़ना आम आदमी के लिए एक अच्छी ही बात होगी

meri samajh mein isme koi burayi nahi hai to acchi baat hai chunav mein jeet zaroori nahi jeena to har haal mein kisi ek ko hi hota hai chunav mein janta ke paas jyada se jyada vikalp hone chahiye ise chunav mein ek taraf pratyashiyon ko acchi takkar milti hai to dusri taraf rajneeti ke maje mein khiladiyon ke liye jeet bahut aasan nahi rah jaate hone ke kaaran matdataon ko congress aur bhajpa ke beech mein kisi ek ko chunana padata hai jabki dono hi party se janta ka bharosa uth chuka hai ya ek sacchai hai yahi wajah hai ki gujarat mein dekhne mein aaya ki kul matdata ka 1.8 pratishat vote NOTA ko mila ya nahi NOTA ka button 5:30 lakh se bhi jyada matdata hone tak aaya to mere khayal se karnataka bhi chunav ladana aam aadmi ke liye ek acchi hi baat hogi

मेरी समझ में इसमें कोई बुराई नहीं है तो अच्छी बात है चुनाव में जीत जरूरी नहीं जीना तो हर ह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  16
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से आम आदमी पार्टी का कर्नाटक में चुनाव लड़ने का विचार बहुत ज्यादा अच्छा ही है l आम आदमी पार्टी का कोई नाम तो है नहीं इस टाइम पर कर्नाटका के अंदर जितना हम जानते हैं l पर वह सारे के सारे सोशल एक्टिविस्ट और जितने भी लोगों की सेम तरह की सोच है, वह उन लोगों को अपनी तरफ बुला रही है और उन्हें अपनी पार्टी ज्वाइन करने के लिए कह रही है l तो काफी एक "संजय" नाम की बहुत बड़ी सोशल एक्टिविस्ट है उन्होंने भी पार्टी जॉइन करी है आम आदमी ,आम आदमी पार्टी और ऐसी ही काफी लोग आम आदमी पार्टी में आ रहे हैं l हाँ, इनके पास कुछ बड़ा चेहरा नहीं है और इन्होंने रेड्डी, मिस्टर रेड्डी को भी बोला है कि वह उनकी पार्टी अगर वापस ज्वॉइन करना चाहते हैं, तो यह उस चीज के लिए तैयार है l तो मेरे हिसाब से हाँ लोगों को एक और ऑप्शन मिलेगा उनके सामने चूज़ करने के लिए और वह एक बेहतर चूज़ - चूज़ कर पाएंगे एक बेहतर पार्टी को ही चूज़ करेंगे और इसलिए मेरे को ऐसा लगता है की कोई आम आदमी पार्टी का, कर्नाटक में चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है l

mere hisab se aam aadmi party ka karnataka mein chunav ladane ka vichar bahut jyada accha hi hai l aam aadmi party ka koi naam to hai nahi is time par karnataka ke andar jitna hum jante hain l par wah sare ke sare social activist aur jitne bhi logon ki same tarah ki soch hai wah un logon ko apni taraf bula rahi hai aur unhen apni party join karne ke liye keh rahi hai l to kafi ek sanjay naam ki bahut badi social activist hai unhone bhi party join kari hai aam aadmi aam aadmi party aur aisi hi kafi log aam aadmi party mein aa rahe hain l haan inke paas kuch bada chehra nahi hai aur inhone reddy mister reddy ko bhi bola hai ki wah unki party agar wapas join karna chahte hain to yeh us cheez ke liye taiyaar hai l to mere hisab se haan logon ko ek aur option milega unke samane choose karne ke liye aur wah ek behtar choose - choose kar paenge ek behtar party ko hi choose karenge aur isliye mere ko aisa lagta hai ki koi aam aadmi party ka karnataka mein chunav ladane ka vichar accha hai l

मेरे हिसाब से आम आदमी पार्टी का कर्नाटक में चुनाव लड़ने का विचार बहुत ज्यादा अच्छा ही है l

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  32
WhatsApp_icon
user

Pandit Prem

शायर, पुस्तक संपादक

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल अच्छा है जिस तरह से आम आदमी पार्टी यानी आप कार्य कर रही है और जिस तरह से उसके लोग हैं उसमें जैसे अरविंद केजरीवाल मनीष सिसोदिया जैसे लोग ईमानदारी से काम कर रहे हैं ऐसे लोगों को पूरे देश में फैला चाहिए और इनका निर्णय कोई गलत नहीं है धीरे-धीरे ही सही शुरु शुरु में तो देखी लोग सपोर्ट नहीं करते हैं लेकिन फिर भी बहुत अच्छा सपोर्ट है इनका पहली बारी जिन जिन राज्यों में जा रहे हैं इनके समर्थक बड़ी संख्या में बढ़ते जा रहे हैं धन्यवाद

bilkul accha hai jis tarah se aam aadmi party yani aap karya kar rahi hai aur jis tarah se uske log hain usmein jaise arvind kejriwal manish sisodiya jaise log imaandaari se kaam kar rahe hain aise logon ko poore desh mein faila chahiye aur inka nirnay koi galat nahi hai dhire dhire hi sahi shuru shuru mein toh dekhi log support nahi karte hain lekin phir bhi bahut accha support hai inka pehli baari jin jin rajyon mein ja rahe hain inke samarthak badi sankhya mein badhte ja rahe hain dhanyavad

बिल्कुल अच्छा है जिस तरह से आम आदमी पार्टी यानी आप कार्य कर रही है और जिस तरह से उसके लोग

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  634
WhatsApp_icon
user

Bari khan

Practicing journalist

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दशहरा है अगर आप कुछ अच्छा करते हो किसी देश के लिए तो बहुत अच्छी बात है और आप आम आदमी पार्टी जिस तरह से काम कर रही है दिल्ली में अब दिल्ली में जा कर देखिए मेरे ख्याल से अगर वह लड़ते हैं कर्नाटक में तो एक स्ट्रेटेजी के लिए आंसर ही रहेगा कि अभी उनका ऐसा कोई नेटवर्क है नहीं है इसका कोई ठिकाना नहीं है और उन्होंने प्रचार के लिए क्या रखा है वह लोगों तक अपनी बात कैसे पहुंचा रहे हैं वह सारी चीजों से फर्क पड़ता है अगर इस सब की तैयारी कर रखी है आम आदमी पार्टी में इस में कोई बुराई नहीं है वह जाएं और बिल्कुल चुनाव भी लड़ा और मैं कहता हूं जीते भी और अच्छा काम भी करें तो जो इंसान अच्छा काम कर रहा है अपने देश के लिए तरक्की के लिए आगे बढ़ा रहा है तो बिल्कुल उसको मैं सपोर्ट करुंगा और उनको अगर ऐसा कुछ है तो बिल्कुल होने चुनाव लड़ना चाहिए

dussehra hai agar aap kuch accha karte ho kisi desh ke liye to bahut acchi baat hai aur aap aam aadmi party jis tarah se kaam kar rahi hai delhi mein ab delhi mein ja kar dekhie mere khayal se agar wah ladtey hain karnataka mein to ek strategy ke liye answer hi rahega ki abhi unka aisa koi network hai nahi hai iska koi thikana nahi hai aur unhone prachar ke liye kya rakha hai wah logon tak apni baat kaise pahuncha rahe hain wah saree chijon se fark padata hai agar is sab ki taiyari kar rakhi hai aam aadmi party mein is mein koi burayi nahi hai wah jayen aur bilkul chunav bhi lada aur main kahata hoon jeete bhi aur accha kaam bhi karen to jo insaan accha kaam kar raha hai apne desh ke liye tarakki ke liye aage badha raha hai to bilkul usko main support karunga aur unko agar aisa kuch hai to bilkul hone chunav ladana chahiye

दशहरा है अगर आप कुछ अच्छा करते हो किसी देश के लिए तो बहुत अच्छी बात है और आप आम आदमी पार्ट

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
user

Shekhar Malani

Engineer, Listener, Parent

0:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आम आदमी पार्टी को दिल्ली में ही अपना कॉन्संट्रेशन रखना चाहिए

aam aadmi party ko delhi mein hi apna kansantreshan rakhna chahiye

आम आदमी पार्टी को दिल्ली में ही अपना कॉन्संट्रेशन रखना चाहिए

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  28
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आम आदमी पार्टी का कर्नाटक में चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है जबकि 2013 के इलेक्शन में पार्टी ने उतना अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है लेकिन फिर भी पार्टी को छोड़ना नहीं चाहिए जो नहीं चांस मिला है कितनी ज्यादा कंपटीशन सहेंगे इलेक्शन में उतनी ही ज्यादा जनता यह निश्चय कर पाएगी कौन सी पार्टी उनके लिए क्या काम करेगी और कौन से नहीं किसी गुजरात के इलेक्शन में देखा गया कि यहां पर कंपटीशन से बीजेपी और कांग्रेस के बीच में था जबकि कांग्रेस ने बहुत ही अच्छा ट्रेक्टर दिया बीजेपी को फिर फिर भी 30 साल के बाद को गुजरात में अभी भी बीजेपी की सरकार है लेकिन कर्नाटक में इस पर आम आदमी पार्टी पर शिक्षा को अपना एक अच्छा माध्यम बना रही इलेक्शन लड़ने का जो कि बहुत अच्छी बात है और वहां पर शिक्षा की मान्यता भी बहुत ज्यादा है तो इससे आम आदमी पार्टी को हो सकता है जनता का सपोर्ट बहुत अच्छा मिले अघोर साधना मिले यह तो इलेक्शन के इलेक्शन होने के बाद उनके परिणाम आने के बाद ही पता चलेगा लेकिन आम आदमी पार्टी का जोर यह कर्नाटक में चुनाव लड़ने का विचार है वह काफी अच्छा है

ji haan aam aadmi party ka karnataka mein chunav ladane ka vichar accha hai jabki 2013 ke election mein party ne utana accha pradarshan nahi kiya hai lekin phir bhi party ko chodna nahi chahiye jo nahi chance mila hai kitni jyada competition sahenge election mein utani hi jyada janta yeh nishchay kar payegi kaun si party unke liye kya kaam karegi aur kaun se nahi kisi gujarat ke election mein dekha gaya ki yahan par competition se bjp aur congress ke beech mein tha jabki congress ne bahut hi accha tractor diya bjp ko phir phir bhi 30 saal ke baad ko gujarat mein abhi bhi bjp ki sarkar hai lekin karnataka mein is par aam aadmi party par shiksha ko apna ek accha maadhyam bana rahi election ladane ka jo ki bahut acchi baat hai aur wahan par shiksha ki manyata bhi bahut jyada hai to isse aam aadmi party ko ho sakta hai janta ka support bahut accha mile aghor sadhna mile yeh to election ke election hone ke baad unke parinam aane ke baad hi pata chalega lekin aam aadmi party ka jor yeh karnataka mein chunav ladane ka vichar hai wah kafi accha hai

जी हां आम आदमी पार्टी का कर्नाटक में चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है जबकि 2013 के इलेक्शन मे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
user
0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव में आप पार्टी के बेहतर प्रदर्शन के बाद केजरीवाल एवं उनके सहयोगियों का मनोबल एवं उत्साह में काफी परिवर्तन हुआ है जो कि दिल्ली में बुनियादी सुविधाओं को लोग चुनाव लड़ता ना कि राष्ट्रीय मुद्दे को लेकर दिल्ली में स्वास्थ्य चिकित्सा एवं शिक्षा तथा पेयजल को मुख्य मुद्दा मानते हुए केजरीवाल जी ने चुनाव ना एक बेहतर प्रदर्शन किया है इसके बाद कर्नाटक चुनाव में भी केजरीवाल फौजियों ने हाथ में चमार चाहती हैं और निश्चित तौर पर कर्नाटक में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकते वह तो रोने भी राष्ट्रीय मुद्दे से हटकर स्थानीय मुद्दे पर ध्यान केंद्रित करना होगा

delhi mein hue vidhan sabha chunav mein aap party ke behtar pradarshan ke baad kejriwal evam unke sahyogiyon ka manobal evam utsaah mein kafi parivartan hua hai jo ki delhi mein buniyaadi suvidhaon ko log chunav ladata na ki rashtriya mudde ko lekar delhi mein swasthya chikitsa evam shiksha tatha paijaal ko mukhya mudda maante hue kejriwal ji ne chunav na ek behtar pradarshan kiya hai iske baad karnataka chunav mein bhi kejriwal faujiyon ne hath mein chamaar chahti hain aur nishchit taur par karnataka mein bhi accha pradarshan kar sakte vaah toh rone bhi rashtriya mudde se hatakar sthaniye mudde par dhyan kendrit karna hoga

दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव में आप पार्टी के बेहतर प्रदर्शन के बाद केजरीवाल एवं उनके सहय

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  223
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता कि आपका कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है क्योंकि कर्नाटक में आपका कोई जनादेश नहीं उनके पास कोई जनाधार नहीं है तो वह सिर्फ एक्सपोर्ट कटिंग पार्टी बंद करेगी मतलब का मतलब है कि वह एकदम स्ट्रांग पार्टी बनकर नहीं हो पाएगी वह सिर्फ वोट काटने का काम करेगी

mujhe nahi lagta ki aapka karnataka chunav ladane ka vichar accha hai kyonki karnataka mein aapka koi janaadesh nahi unke paas koi janadhar nahi hai toh vaah sirf export cutting party band karegi matlab ka matlab hai ki vaah ekdam strong party bankar nahi ho payegi vaah sirf vote katne ka kaam karegi

मुझे नहीं लगता कि आपका कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है क्योंकि कर्नाटक में आपका कोई

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो आप पार्टी आम आदमी पार्टी कर्नाटक में चुनाव लड़ेगी यह बहुत ही एक अच्छा प्रयास है बहुत अच्छा फैसला है इसका रीजन यह है कि मौजूदा स्थिति में गुजरात चुनाव के नतीजे के बाद पता चलता है कि जो जनता है वह बीजेपी के फैसलों से उतनी सहमत नहीं है उतनी कुछ नहीं है वरना इतनी कम सीटें नहीं मिलती कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार जो वहां पर सज्जनता उनके बहुत अच्छा काम नहीं हुआ है कर्नाटक में तो कुछ नहीं है दूसरी चीज कांग्रेस तो एक ऐसी पार्टी है जिस पर जनता का भरोसा उठ गया है और गुजरात में भी इतनी सीटें मिली मिली क्योंकि यह विकल्प के तौर पर नहीं देख रही थी वर्ना जीत जाते अगर विकल बाकी लगता जनता को कांग्रेस पार्टी का पोषक जीत सकती थी और क्योंकि बीजेपी से सहमत नहीं थे इसलिए उन्हें तीन सीटें मिली कुल मिलाकर दोनों पार्टियों भेजो पार्टी वह इस समय पूरी तरीके से जनता में अपनी पैठ बनाने में नाकाम है तो एक विदेशी पार्टी अभी आ जाती है तो वह बहुत ही अच्छा प्रयास कर सकती है और प्रयास जीत नहीं सकती है तो कम से कम जो वोट बांटने का काम है वह बहुत अच्छा करेगी चुनाव बहुत ज्यादा टक्कर का हो जाएगा और अच्छा हो जाए

likhe jo aap party aam aadmi party karnataka mein chunav ladegi yeh bahut hi ek accha prayas hai bahut accha faisla hai iska reason yeh hai ki maujuda sthiti mein gujarat chunav ke natheeje ke baad pata chalta hai ki jo janta hai wah bjp ke faisalon se utani sahmat nahi hai utani kuch nahi hai varana itni kum seaten nahi milti karnataka mein congress ki sarkar jo wahan par sajjanta unke bahut accha kaam nahi hua hai karnataka mein to kuch nahi hai dusri cheez congress to ek aisi party hai jis par janta ka bharosa uth gaya hai aur gujarat mein bhi itni seaten mili mili kyonki yeh vikalp ke taur par nahi dekh rahi thi verna jeet jaate agar vikal baki lagta janta ko congress party ka poshak jeet sakti thi aur kyonki bjp se sahmat nahi the isliye unhen teen seaten mili kul milakar dono partiyon bhejo party wah is samay puri tarike se janta mein apni paith banane mein nakam hai to ek videshi party abhi aa jati hai to wah bahut hi accha prayas kar sakti hai aur prayas jeet nahi sakti hai to kum se kum jo vote bantane ka kaam hai wah bahut accha karegi chunav bahut jyada takkar ka ho jayega aur accha ho jaye

लिखे जो आप पार्टी आम आदमी पार्टी कर्नाटक में चुनाव लड़ेगी यह बहुत ही एक अच्छा प्रयास है बह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है आम आदमी पार्टी को सबसे ज्यादा कर कहीं फोकस करने की जरूरत है तो वहां जानकी वह सरकार है मैं जी हां मैं दिल्ली की बात कर रहा हूं अगर आम आदमी पार्टी को कुछ करना है तो दिल्ली में अभी इतनी जल्दी-जल्दी इलेक्शन नारे राजस्थान से गुजरात में भी सोचा था लक्ष्मण ने का हाल है कि बाद में उन्होंने उस बात को मना कर दिया कि गुजरात में इलेक्शन नहीं लड़ेंगे अदर स्टेट में भी उन्होंने सोचा कलेक्शन करने का तो मुझे लगता है कि सबसे अच्छा कामुक दिल्ली के अंदर करके दिखाएं ताकि लोगों में उनके लिए एक अच्छी इमेज जाए और लोगों को उनके काम देखें हां दिल्ली में इतना अच्छा काम हुआ है तो हम जरूर अरविंद केजरीवाल अगर हमारे प्रदेश में आग लगते हैं तो हम उनको वोट देंगे जब इस तरह की छवि अरविंद केजरीवाल जी की बन जाएगी तो मुझे लगता है बहुत ज्यादा फायदा आम आदमी पार्टी को और केजरीवाल जी को भी होगा

lekin mujhe lagta hai aam aadmi party ko sabse jyada kar kahin focus karne ki zaroorat hai to wahan janki wah sarkar hai main ji haan main delhi ki baat kar raha hoon agar aam aadmi party ko kuch karna hai to delhi mein abhi itni jaldi jaldi election nare rajasthan se gujarat mein bhi socha tha laxman ne ka haal hai ki baad mein unhone us baat ko mana kar diya ki gujarat mein election nahi ladenge other state mein bhi unhone socha collection karne ka to mujhe lagta hai ki sabse accha kaamuk delhi ke andar karke dikhaen taki logon mein unke liye ek acchi image jaye aur logon ko unke kaam dekhen haan delhi mein itna accha kaam hua hai to hum jarur arvind kejriwal agar hamare pradesh mein aag lagte hain to hum unko vote denge jab is tarah ki chawi arvind kejriwal ji ki ban jayegi to mujhe lagta hai bahut jyada fayda aam aadmi party ko aur kejriwal ji ko bhi hoga

लेकिन मुझे लगता है आम आदमी पार्टी को सबसे ज्यादा कर कहीं फोकस करने की जरूरत है तो वहां जान

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK मैं मानती हूं कि गुजरात में हिमाचल प्रदेश में वह कोई जादू नहीं दिखे पाए आम आदमी पार्टी कोई करिश्मा नहीं दिखा पाए और हमें यह भी मानती हूं कि कर्नाटक चुनाव को लड़ने के लिए उनके पास कोई ऐसा विशेष चेहरा नहीं है जो कर्नाटका की जनता है उसे रिप्रजेंट कर सके मैं फिर भी चाहूंगी कि आम आदमी पार्टी एक बहुत अच्छा डिसीजन है कि आप सब जानते हैं कि दिल्ली में भी जब चुनाव हुआ था जब आम आदमी पार्टी सत्ता में आई थी तब उनके अध्यक्ष तो बहुत बड़ी पार्टियां थी पर लोगों ने फिर भी उन बड़ी और Star Plus पार्टी को ना सुनकर आम आदमी पार्टी तो एकदम नहीं थी उन्हें सुना तो हो सकता है कर्नाटक के जो जनता है वह भी अपनी रूलिंग पार्टी या फिर जो पोजीशन में हैं उन से परेशान हो चुकी है और उन्हें कोई चीज चाहिए हो सकता है कि आम आदमी पार्टी का एक सीजन सच में उनके लिए काफी अच्छा शुरू हो आम आदमी पार्टी पर चींटी नहीं भी जो थोड़े कमी चांस दे बस स्टैंड अगर वह लोग नहीं जीत पाए तो इटली कर्नाटक में वह एक अपनी एक रिकग्निशन जरूर बना पाएंगे लोग उनके बारे में जान पाएंगे उनके काम के बारे में जान पाएंगे और अगर इस चुनाव में नहीं तू शायद अगले चुनाव में या उसके अगले चुनाव में कहीं ना कहीं यह जो इनका आज का डिसीजन होगा क्या पता वह रंग दिखा जाए और क्या पता को पार्टी आज नहीं तो कल पापा में आ जाए तो हम इस बारे में यह नहीं कह सकते कि यह इनका डिसीजन सही नहीं है मेरे हिसाब से तो इटली से यह चुनाव लड़ने का डिसीजन एकदम सही है आम आदमी पत्रिका कर्नाटका में

PK main maanati hoon ki gujarat mein himachal pradesh mein wah koi jadu nahi dikhe paye aam aadmi party koi karishma nahi dikha paye aur hume yeh bhi maanati hoon ki karnataka chunav ko ladane ke liye unke paas koi aisa vishesh chehra nahi hai jo karnataka ki janta hai use riprajent kar sake main phir bhi chahungi ki aam aadmi party ek bahut accha decision hai ki aap sab jante hain ki delhi mein bhi jab chunav hua tha jab aam aadmi party satta mein eye thi tab unke adhyaksh to bahut badi partyian thi par logon ne phir bhi un badi aur Star Plus party ko na sunkar aam aadmi party to ekdam nahi thi unhen suna to ho sakta hai karnataka ke jo janta hai wah bhi apni ruling party ya phir jo position mein hain un se pareshan ho chuki hai aur unhen koi cheez chahiye ho sakta hai ki aam aadmi party ka ek season sach mein unke liye kafi accha shuru ho aam aadmi party par chinti nahi bhi jo thode kami chance de bus stand agar wah log nahi jeet paye to italy karnataka mein wah ek apni ek rikagnishan jarur bana paenge log unke baare mein jaan paenge unke kaam ke baare mein jaan paenge aur agar is chunav mein nahi tu shayad agle chunav mein ya uske agle chunav mein kahin na kahin yeh jo inka aaj ka decision hoga kya pata wah rang dikha jaye aur kya pata ko party aaj nahi to kal papa mein aa jaye to hum is baare mein yeh nahi keh sakte ki yeh inka decision sahi nahi hai mere hisab se to italy se yeh chunav ladane ka decision ekdam sahi hai aam aadmi patrika karnataka mein

PK मैं मानती हूं कि गुजरात में हिमाचल प्रदेश में वह कोई जादू नहीं दिखे पाए आम आदमी पार्टी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  12
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मुझे नहीं लगता आम आदमी पार्टी का कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है क्योंकि अब हम दिल्ली को छोड़कर गुजरात पंजाब गोवा के संरक्षण की बात करें तो तीनों ही राज्य के असेंबली इलेक्शन में आम आदमी पार्टी को करारी हार मिली है 2014 के लोकसभा चुनाव में भी हम आम आदमी पार्टी ने 28 सिटी कर्नाटक से लड़ी थी 22828 सिटी बुरी तरह से हार चुकी थी और जिस प्रकार से कांग्रेस और जीडीएस मजबूत दिख रही है कर्नाटक में तुमसे एक बात साफ है कि आम आदमी पार्टी का कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा नहीं है हां वह दावा कर रहे हैं कि वह कर्नाटक चुनाव जीतेंगे परंतु समय बताएगा कि वह जीत पाएगी या नहीं

nahi mujhe nahi lagta aam aadmi party ka karnataka chunav ladane ka vichar accha hai kyonki ab hum delhi ko chodkar gujarat punjab goa ke sanrakshan ki baat karen to teenon hi rajya ke assembly election mein aam aadmi party ko keruari haar mili hai 2014 ke lok sabha chunav mein bhi hum aam aadmi party ne 28 city karnataka se ladi thi 22828 city buri tarah se haar chuki thi aur jis prakar se congress aur GDS mazboot dikh rahi hai karnataka mein tumse ek baat saaf hai ki aam aadmi party ka karnataka chunav ladane ka vichar accha nahi hai haan wah daawa kar rahe hain ki wah karnataka chunav jitenge parantu samay batayega ki wah jeet payegi ya nahi

नहीं मुझे नहीं लगता आम आदमी पार्टी का कर्नाटक चुनाव लड़ने का विचार अच्छा है क्योंकि अब हम

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  16
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!